GLIBS
27-03-2020
प्रशासन हुआ सख्त, अनावश्यक रूप से घूमने पर वाहन होंगे जब्त

कांकेर। दूसरे राज्य व देश से जिले के शहर अथवा ग्रामीण क्षेत्र से आए हुए लोगों की अब खोजी दल द्वारा घर-घर जाकर पहचान की जाएगी और उन्हें होम आइसोलेशन में रहने की समझाईश भी दी जाएगी। इस दल को यदि यह जानकारी मिली कि कोई व्यक्ति दूसरे देश या राज्य से आये हुए हैं और  इसकी सूचना उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को नहीं दिया है तो उनके विरूद्ध पहले पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी और उसके बाद होम आइसोलेशन में रखा जाएगा। कलेक्टर केएल चौहान एवं पुलिस अधीक्षक एमआर अहीरे ने ऐसे लोगों से अपील की है कि यदि वे अन्यत्र राज्य अथवा देश से कांकेर जिला पहुंचे हैं तो उसकी सूचना तत्काल स्वास्थ्य विभाग को दिया जावे। कलेक्टर केएल चौहान एवं पुलिस अधीक्षक एमआर अहीरे की उपस्थिति में सिविल सर्जन कार्यालय में जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक आयोजित की गई,जिसमें स्थिति की समीक्षा की गई और लोगों को अनावश्यक रूप से बाहर नहीं घूमने की अपील की गई। अनावश्यक रूप से बाहर घूमते पाये जाने पर उनके वाहनों को जब्त करने की चेतावनी भी दी गई है।
समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे को निर्देशित करते हुए कहा कि वे प्रतिदिन जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से बात कर स्थिति की समीक्षा करें तथा ग्राम पंचायत सचिवों को सतर्क रहने के निर्देश दें। इस अवसर पर अपर कलेक्टर सीएल मार्कण्डेय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जेएल उईके, सिविल सर्जन डॉ.आरसी ठाकुर, डॉ.डीके रामटेके, डीपीएम डॉ.निशा मौर्य, आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त विवेक दलेला, एसडीएम कांकेर उमा शंकर बंदे, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग सीएस मिश्रा, जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पाण्डेय सहित जिला चिकित्सालय के कर्मचारी मौजूद थे। 

 

26-03-2020
सोशल डिस्टेंसिंग

धमतरी। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए बुधवार 25 मार्च से जिले में लॉक डाउन प्रभावशील है। इसी तारतम्य में कलेक्टर रजत बंसल ने आज गुरुवार को शहर की विभिन्न दुकानों का औचक निरीक्षण किया। इसी दौरान एक किराने की दुकान में ग्राहकों की अधिक भीड़ तथा "सोशल डिस्टेंसिंग" के निर्देशों का पालन नहीं किया जाना पाया गया। इस पर कलेक्टर ने दुकानदार के विरुद्ध 1000 रुपए का अर्थदंड आरोपित किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही भविष्य में शासन के निर्देशों का कड़ाई से पालन नहीं किए जाने पर सख्ती से दंडात्मक कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि निर्धारित अवधि में खुली दुकानों में ग्राहकों के मध्य एक मीटर से अधिक दूरी बनाए रखने के लिए चूना मार्किंग कराए जाने के लिए निर्देशित किया गया था, जिसमें उक्त गोले के भीतर रहकर ही ग्राहकों को राशन प्रदाय करने के निर्देश प्रसारित किए गए थे। इसके बावजूद उक्त दुकानदार के द्वारा बेतरतीब भीड़ को राशन सामानों का विक्रय किया जा रहा था,जिसे संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर ने तत्काल जुर्माना करने के निर्देश दिए। विदित हो कि आम जनता को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता के लिए घर से बाहर निकलना ना पड़े, इसके लिए नगर निगम के आयुक्त को घर पहुंच सेवा प्रदाय करने के लिए निर्देशित किया गया है,जिसके तहत घर पहुंच सेवाएं निगम अमले के द्वारा प्रदाय की जा रही है। इसके बाद भी कुछ दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करना पाया गया,जिसे गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने उक्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

होम कोरंटाइन में जाकर हालचाल पूछा
इसके पहले कलेक्टर ने शहर के कुछ वार्डों में होम कोरैंटाइन में चिन्हाकित लोगों से घर पर जाकर गृहभेंट की तथा उनका हालचाल पूछा और किसी भी दशा में घर से बाहर नहीं जाने की हिदायत दी। साथ ही उन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम और प्रशासनिक अधिकारियों से सहयोग करने की बात भी कही। इस अवसर पर जिला पंचायत की सीईओ नम्रता गांधी,नगर निगम के आयुक्त आशीष कुमार टिकरिहा भी उपस्थित थे।

 

25-03-2020
जरुरतमंद श्रमिकों को दी जाएगी तात्कालिक सहायता, हेल्पलाइन नंबर जारी

रायपुर। राज्य शासन ने कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न समस्याओं को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के पंजीकृत श्रमिकों और कर्मकारों को तात्कालिक सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया है। कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित कर संकटग्रस्त और जरुरतमंद श्रमिकों के समस्याओं के तत्काल और 24 घंटे के भीतर समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश सभी कलेक्टरों को जारी कर दिये गए हैं। राज्य शासन के श्रम विभाग ने इसके लिए राज्य स्तर पर हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। संकट में फंसे अथवा जरूरतमंद पंजीकृत श्रमिक और कर्मकार हेल्प हेल्पलाइन नंबर - 9109849992 और 0771 2443809 पर संपर्क कर सकते हैं। श्रम विभाग के सचिव सोनमणि बोरा ने कलेक्टरों को भेजे गए पत्र में यह भी कहा गया है कि संकट की स्थिति अथवा जरुरतमंद श्रमिकों के प्रकरणों के निराकरण के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित की जाए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कलेक्टर द्वारा नामित नोडल अधिकारी और श्रम विभाग के सहायक श्रम आयुक्त, श्रम पदाधिकारी, सदस्य, सचिव समिति के सदस्य होंगे। समिति द्वारा प्रकरणवार सहायता एवं आवश्यकताओं का आकलन करते हुए तत्काल अथवा 24 घंटे के भीतर निर्णय कर कार्यवाही की जाएगी। इन प्रकरणों के व्यय की पूर्ति के लिए श्रम विभाग की ओर से जिलों को पृथक से आवंटन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा जिले में भी जिला कलेक्टर द्वारा जिला हेल्पलाइन नंबर जारी कर इसके लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए।

25-03-2020
 कोविड-19 की पहचान और रोकथाम के लिए प्रदेश में एक्टिव सर्विलांस

रायपुर। सामुदायिक स्तर पर कोविड-19 का प्रसार रोकने स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रदेश भर में एक्टिव सर्विलांस की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम विदेश प्रवास से लौटने के बाद होम-क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों के घरों के आसपास के क्षेत्रों में सर्वे कर लोगों से जानकारियां जुटाएगी। इससे शुरूआती दौर में ही बीमारी की पहचान कर इलाज और आइसोलेशन किया जा सकेगा। स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक नीरज बंसोड़ ने आज वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए सभी जिलों के जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और स्वास्थ्य अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक नीरज बंसोड़ ने बताया कि होम-क्वारेंटाइन में रह रहे विदेश प्रवास से लौटे सभी व्यक्तियों के आसपास के 50 घरों में स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों की टीम बनाकर सर्वे कराया जाएगा। सर्वे में घर के सभी सदस्यों के स्वास्थ्य, पुरानी बीमारी, पिछले 15 दिनों की आवाजाही और इस दौरान मिले लोगों के बारे में पूछताछ की जाएगी। विभाग की ओर से सर्वे के लिए सभी जिले के सर्विलांस अधिकारी को प्रशिक्षित किया जाएगा। सर्विलांस अधिकारियों की ओर से सर्वे टीमों के प्रशिक्षण के बाद सर्वे का काम तुरंत शुरू किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के ओएसडी प्रभात मलिक और संचालक, महामारी नियंत्रण डॉ. आर.आर. साहनी ने भी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में एक्टिव सर्विलांस के लिए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

24-03-2020
सांसद की अध्यक्षता में होने वाली बैठक स्थगित

कांकेर। लोकसभा क्षेत्र कांकेर के सांसद मोहन मण्डावी की अध्यक्षता में 28 मार्च को 11 बजे जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित होने वाले जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशा की बैठक को नोवल कोरोना वायरस से संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण को ध्यान में रखते हुए आगामी तिथि तक स्थगित कर दिया गया है।

 

19-03-2020
सर्व ब्राम्हण समाज ने आयोजित किया क्षेत्रीय होली मिलन समारोह

रायपुर। अमलेश्वर महादेव घाट परिक्षेत्र सर्व ब्राम्हण समाज का परिक्षेत्र स्तरीय सामाजिक सम्मेलन व होली मिलन का आयोजन तिवारी मैरिज पैलेस में दो सत्रों में संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत सदस्य मोरध्वज साहू उपस्थित थे। प्रथम सत्र में भगवान परशुराम की पूजा अर्चना से प्रारंभ सम्मेलन की अध्यक्षता प्रांताध्यक्ष ललित मिश्रा ने कि। विशेष अतिथि के रूप में सरपंच नंदनी पठारी, सरपंच मिथिलेश चौबे, पंच हिमांशु शर्मा, धनेश यादव व धर्मेंद्र साहू थे। उक्त ज़न प्रतिनिधियों का ज़न सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। सम्मान पश्चात समाज हित में उपस्थित विप्रजनों के विचार पश्चात निष्कर्ष के रूप में पारित प्रस्ताव में अमलेश्वर में भवन के लिए जमीन की मांग को उपस्थित ज़न प्रतिनिधियों ने सहर्ष स्वीकर कर लिया व जल्द आबंटित करने की घोषणा की।

-महादेव घाट परिक्षेत्र अध्यक्ष मोहित शर्मा, महिला अध्यक्ष रत्ना शर्मा, कार्यक्रम संयोजन गणेश शर्मा, पी. आर. टी. कॉलोनी अध्यक्ष दीलीप तिवारी, कार्यकारी अध्यक्ष गोपाल शर्मा, भूपेंद्र मिश्रा, प्रदेश पदाधिकारी-संगठन सचिव पं. ऋषि तिवारी, गिरीश दुबे, राहुल राज शर्मा, नीतीश शुक्ला, रमेश ठाकुर, नारायण शर्मा, जवाहरलाल शर्मा, विकास ठाकुर, पं. कमलेश मिश्रा ने अपने विचार व्यक्त किए।

द्वितीय सत्र में मोहित शर्मा ग्रुप ने नगाड़ा की धुन पर फागगीत की रंगारंग प्रस्तुति दी। फाग की लय व नगाड़े की धुन में थिरकते विप्रज़न ने जमकर फूलो की होली खेली व एक दूसरे से गले मिलकर बधाई दी। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नंदनी शर्मा, मनोज शर्मा, मिहिर शर्मा, यामिनी शर्मा, पूर्णिमा पांडेय, अंजनी शर्मा, दीपक मिश्रा, वैजयंती चतुर्वेदी, हेमंत शर्मा, विजय लक्ष्मी दीवान, संतोष शर्मा, आनंद तिवारी, शशिकांत द्विवेदी, परमानंद मिश्रा, अमय  तिवारी, शारदा मिश्रा, मनीषा मिश्रा, कल्पना शर्मा, मनोहर झा, इंदु मिश्रा, सरिता शर्मा, ममता तिवारी, माधुरी शर्मा, कुलेश्वर मिश्रा सहित काफी मात्रा में विप्र जन उपस्थित थे।

 

05-03-2020
फसल नुकसान देखने खेतों तक पहुंची जिपं सदस्य

गरियाबंद। लगातार हो रही बारिश के चलते इन दिनों किसान काफी परेशान हैं। बेमौसम बारिश ने किसानों की स्थिति बदतर कर दी है। खेतों मे स्थिति फसल बरबाद हो गई है। बीते दिनों सड़कड़ा खट्टी क्षेत्र के किसान इन समस्याओं को लेकर जिला पंचायत क्रमांक 5 के सदस्य लक्ष्मी साहू से भेंट कर उन्हें फसल क्षति मुआवजा की मांग की। इस पर लक्ष्मी साहू तत्काल किसानों के साथ उनके क्षेत्रों का भ्रमण कर वास्तविक स्थिति का आकलन किया। लगातार बारिश के चलते किसानों का चना व अन्य फसल को काफी नुकसान हुआ है। इसे देखने के बाद उन्होंने तत्काल कृषि विस्तार अधिकारी एवं पटवारी को बुलवाया और उन्हें फसल नुकसान की स्थिति से अवगत करवाकर इस संबंध में प्रकरण बनवाने का निर्देश दिया। एडीओ ने उन्हें आश्वस्त किया कि वे जल्द ही किसानों की हुई फसल क्षति का आकलन कर जिला कार्यालय तक अपनी रिपोर्ट देंगे। इस अवसर पर प्रमुख रूप से तिजऊ दीवान, जीवन दिवान, ऐजाय निर्मलकर, चूड़ामणि साहू, तिजऊ निषाद व अन्य ग्रामीण खेतों की स्थिति बताने जुटे रहे।

इस संबंध में जिला पंचायत सदस्य ने प्रतिनिधि से चर्चा करते हुए कहा कि निश्चित रूप से पांडुका छुरा क्षेत्र में किसानों को काफी नुकसान हुआ है क्योंकि पांडुका छुरा और फिंगेश्वर क्षेत्र प्रमुख रूप से दो फसली जमीन है सिंचाई के संसाधनों के चलते किसान काफी उम्मीद और भरोसा से फसल उगाते हैं और जब फसल खड़ी हो तैयार हो ऐसी स्थिति में अगर बेमौसम बारिश हो जाए तो किसानों की खडी फसल को काफी नुकसान पहुंचता है। आज इन क्षेत्रों में घूमने से एहसास हो रहा है वे जल्द ही जिलाधीश से भेंट कर इसमें राहत की मांग करेंगे।

 

04-03-2020
सीईओ चंद्राकर के संवेदनशील कार्य से भावुक हुए संविदाकर्मी

बीजापुर। डोंडी जिला बालोद की महात्मा गांधी नरेगा शाखा की संविदाकर्मी तकनीकी सहायक रीना केराम की सोमवार को सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। बता दें कि विधवा माँ की एक मात्र सहारा थी रीना, परिवार की माली हालत ठीक नहीं था। दुर्घटना होने पर संविदाकर्मियों को ना ही शासन की तरफ से कोई आकस्मिक निधि प्रदान करने का प्रावधान है। सूत्रों की माने तो रीना के परिवार के पास अंतिम समय में कफन लेने के भी पैसे नहीं थे। जैसे ही सोशल मीडिया के माध्यम से दिवंगत रीना के परिवार की आर्थिक स्थिति की जानकारी सीईओ जिला पंचायत बीजापुर पोषण लाल चंद्राकर को मिली उन्होंने दिवंगत परिवार को आर्थिक सहायता के रूप में दस हजार रुपये उनके खाते में ट्रांसफर किए। जिला सीईओ के इस संवेदनशील कदम का जिला पंचायत के सभी अधिकारी कर्मचारियों ​की ओर से धन्यवाद दिया गया। जिला पंचायत में कार्यरत संविदा अधिकारी और कर्मचारी ने इस पहल से भावुक हो गए।

03-03-2020
शराब पीकर मतदान करने आए मतदाताओं के लिए बने सख्त कानून : सौरभ निर्वाणी

रायपुर। सेंटर फॉर सोशल लर्निंग के सह संथापक डॉ.सौरभ निर्वाणी ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर निष्पक्ष और अधिक पारदर्शी चुनाव कराने के लिए सुझाव दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह शराब पीकर वाहन चलाते हुए पाए जाने पर वाहन चालक पर आर्थिक जुर्माना और कारावास का प्रावधान है उसी तरह शराब पीकर मतदान करने आए मतदाता पर भारी आर्थिक जुर्माना या मतदान करने पर अगले 6 साल के लिए प्रतिबंधित करने का प्रावधान होना चहिए। डॉ.निर्वाणी ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र में लिखा कि उनकी टीम ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में प्रदेश के ग्रामीण अंचलों के चुनाव का अध्ययन किया। इसके निष्कर्ष चौकाने वाले हैं उनकी टीम ने महिला, पुरुष, बुजुर्ग और युवा मतदाताओं से बातचीत कर सर्वे के सैंपल तैयार किए है। डॉ.निर्वाणी ने पत्र में लिखा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान 97 फीसदी प्रत्याशी इस चुनाव में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य या जिला पंचायत के उम्मीदवार चुनाव जीतने के लिए मतदाताओं तक सही समय में शराब पहुंच जाए और बट जाए को लेकर ही चिंतित रहते थे। इनकी शराब सही समय गांवों में पहुंच कर बट जाए वो अपनी जीत को लेकर आश्वस्त रहते थे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गांव में औसतन 4 से 6 लाख रुपए के मूल्य का शराब मतदान के दिनांक के सप्ताह में खपत हुई है।

 

24-02-2020
भांटो-मामा बाद में क्षेत्र की जनता का काम हो पहले : कवासी लखमा

महासमुन्द। महासमुन्द जिला पंचायत चुनाव के बाद आज नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित जनपद पंचायत के सदस्यों ने शपथ ग्रहण कर कार्यभार ग्रहण किया। जिला पंचायत के शपथ ग्रहण समारोह में छत्तीसगढ़ के वाणिज्य एवं आबकारी व जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, राज्य सभा की सांसद छाया वर्मा के साथ जिले के तीन विधायक विनोद चन्द्राकर, द्वारिकाधीश यादव, किस्मतलाल नंद, कांग्रेस जिलाध्यक्ष आलोक चन्द्राकर सहित अन्य कांग्रेसी कार्यकर्ता जिले भर से उपस्थित थे। शपथ ग्रहण के पश्चायत जिले के प्रभारी मंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव लडऩे वाला कोई ना कोई पार्टी का होता है लेकिन चुनाव जितने के बाद वह सभी का होता है, क्योंकि जनता प्रत्याशियों को अपने क्षेत्र के विकास के लिए अपने मतों से उसे जीताता है। इसलिए चुनाव जितने के बाद भांटो-मामा बाद में क्षेत्र की जनता का काम पहले होना चाहिए। लखमा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का एक ही उद्देश्य है कि विकास अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे तभी उसे विकास माना जाएगा।

लखमा से ग्लिब्स ने सवाल किया कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार को 14 माह हो जाने के बाद भी विकास कार्य आज तक जिला, जनपथ क्षेत्र में शुरू नहीं हो सका है। राज्य सरकार ने विकास कार्य के लिए स्वीकृत राशि वापस मंगा ली है। क्या अब कांग्रेस के प्रत्याशी की जीत होने के बाद विकास का काम क्षेत्र में शुरू हो सकेगा। इसके जवाब में कवासी लखमा ने कहा कि पूरे जिले में नहीं पूरे प्रदेश में छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल ने विकास कार्य कराने की ठान ली है और यह विकास का काम जल्द के कामों की शुरूआत जल्द प्रारंभ होगी। लखमा से ग्लिब्स ने दूसरा सवाल किया कि पूरे जिले में लगातार आवास,शौचालय,सडक़, भवन की शिकायत मिली रही है, जिसमें भारी तादाद में अनियमिता हुई है,मूलभूत की राशि भी जनपद जिला में नाममात्र की पहुंची है,जिसमें में भी बंदर बाट हुई है। क्या अब इन अनियमिताओं की जांच होगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी। इस सवाल के जवाब में कवासी लखमा ने कहा कि जो कि शिकायत तो मिली है और यह भी मिली है कि कुछ लोग 14 वित्त और मूलभूत की राशि निकालकर चुनाव में खर्च कर दिये है इसकी जांच होगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थि छाया वर्मा ने सभी नव निर्वाचित पदाधिकारियों से कहा कि जनपद जिले का विकास तभी संभव है जब आप अधिकारियों से ताल मेल बिठाकर क्षेत्र के विकास के लिए काम करेंगे। प्रत्याशी को अपने क्षेत्र के विकास के लगातार प्रयास करते रहने चाहिए। छाया वर्मा ने आगे कहा कि महात्मा गांधी ने पंचायती राज की परिकल्पना की थी,जिसे स्व.राजीव गांधी ने पूरा किया और जिला,जनपद और पंच, सरपंच को गांव-गांव तक विकास कराने के लिए पावर दिया। नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष उषा पटेल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आशीर्वाद और क्षेत्र के विधायकों के सहयोग से मैं जिला पंचायत अध्यक्ष बनी हूं। जिले में विकास कार्य में पहली प्राथमिकता पानी की होगी। इसके अलावा प्रदेश सरकारी की योजनाओं को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का मेरा प्रयास होगा। आज मैंने पदभार ग्रहण किया है आगे जिले के विकास के लिए जिला पंचायत सीईओ से चर्चा कर क्षेत्र में विकास कार्य की शुरआत की जायेगी। शपथ ग्रहण के दौरान क्षेत्र के जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण पटेल के अलावा जिला पंचायत सदस्य जुगनू चन्द्राकर, अलका चन्द्राकर, सीमा देवानंद निर्मलकर सहित अन्य जिला पंचायत सदस्य, जिला कलेक्टर सुनील जैन, जिला पंचायत सीईओ रवि मित्तल, अनुविभागीय अधिकारी श्री चन्द्रवंशी सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी और नागरिक उपस्थित थे।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804