GLIBS
26-08-2020
पता पूछने के बहाने नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले दो युवक गिरफ्तार

धमतरी। नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के मामले में दो युवकों को कुरुद पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार 25 अगस्त की शाम कुरूद थाना प्रभारी गगन वाजपेई को मोबाइल से सूचना मिली कि नाबालिग बालिका का दो अज्ञात व्यक्तियों ने अपहरण कर तालाब पार ले जाकर दुष्कर्म किया। थाना प्रभारी कुरुद को परिजनों से बात करने पर पता चला कि ट्यूशन जाते समय गांव के मुख्य मार्ग में दो अज्ञात लोगों ने उससे पता पूछा एवं रास्ता बताने पर पैसा देने का लालच देकर जबरदस्ती तालाब पार ले जाकर दुष्कर्म किया। रिपोर्ट पर दो अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध धारा 363, 366, 376(क)(ख), 34 भादवि एवं 6 पाक्सो एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। पुलिस ने मामले की जांच में गांव के मुख्य मार्गों में लगे सीसीटीवी कैमरो का बारीकी से अवलोकन कर अज्ञात आरोपियों की शिनाख्त की। इसके आधार पर दो संदिग्धों को पकड़ा। इन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो युवको ने स्वीकार किया कि वह दोनो मोटरसाइकिल से कुरूद न्यायालय पेशी पर आये थे। वापस जाते समय घटना को अंजाम देना बताये। शिनाख्तगी के बाद ओंकार कुमार साहू 19 वर्ष और उमेश कुमार साहू 24 वर्ष को गिरफ्तार कर कार्यवाही की जा रही है। 

 

03-07-2020
एक साल बाद सुलझी संदिग्ध हालत में मिली लाश की गुत्थी, कलयुगी मां और उसके प्रेमी ने की थी हत्या

रायपुर/सूरजपुर। एक साल पहले संदिग्ध परिस्थितियों में मिली शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। मृतक की मां ने प्रेमी के साथ मिलकर बेटे की हत्या कर दी थी। दोनों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए शव को फांसी के फंदे पर लटकाकर आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया था। मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। सूरजपुर एसपी राजेश कुकरेजा ने बताया कि घटना दिन 25 जून 2019 को ग्राम कोटेया में प्रदीप कुशवाहा नामक युवक की संदिग्ध परिस्थियों में शव मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बावजूद पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पा रही थी। एसपी राजेश कुकरेजा ने एसडीओपी मंजुलता बाज के नेतृत्व में पुलिस की स्पेशल टीम को जांच में लगाया। जांच के दौरान सामने आए तथ्यों के आधार पर पता लगा कि गांव का पंच विजय नारायण कुशवाहा का मृतक की मां रामबाई कुशवाहा के साथ अवैध संबंध था। वह उसके घर आना-जाना भी करता था। मर्डर के बाद से ही उसका आना जाना कम हो गया है। पूछताछ में विजय नारायण इस बात से इंकार करता रहा की हत्या में उसका हाथ है, जिसकी तस्दीक लगातार पुलिस टीम द्वारा की गई।

पुलिस टीम ने विजय नारायण कुशवाहा और रामबाई कुशवाहा को अलग-अलग पूछताछ के लिए बुलाया। विरोधाभाषी बयान से पुलिस का शक गहरा गया। आखिरकार दोनों ने मृतक प्रदीप कुशवाहा की हत्या करना स्वीकार किया। कार्रवाई में एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में थाना प्रभारी झिलमिली नरेन्द्र सिंह, थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट, चौकी प्रभारी चेन्द्रा आराधना बनोदे, चौकी प्रभारी करंजी चित्रलेखा साहू, एएसआइ लवकुश राजवाड़े, गुरू प्रसाद यादव, लक्ष्मी प्रसाद गुप्ता, प्रधान आरक्षक अभिषेक पाण्डेय, संजय चौहान, आरक्षक हितेश्वर राजवाड़े, अमित कुमार सिंह, हेमंत कुमार सिंह, निलेश जायसवाल, कमलेश मानिकपुरी, रामा कुमार, राकेश सिंह, नोविन लकड़ा, भुनेश्वर पाटले, ओम प्रकाश सिंह, राजू कुमार, रजनीश पटेल, सुशील मिश्रा, संतोष जायसवाल, महिला आरक्षक प्रफुल्ला मिंज, अंजिता तिर्की सक्रिय रहे।

15-04-2020
धमतरी में सैंपल का आंकड़ा हुआ 100 के पार, जानिए क्या कहती है संदिग्ध युवती की रिपोर्ट...

धमतरी। कोरोना वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है, विदेश से आने वाले लोगों के साथ जिनमें लक्षण नजर आ रहे उनका सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा। सैंपल का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है, अब तक कुल 101 लोगों का सैंपल लिया गया। इसमे। राहत की खबर यह है कि एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। एक युवती जो पंजाब से आई है, उसे कोरोना संदिग्ध माना जा रहा था, शहर में युवती को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। उसके संबंध में सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे का कहना है कि युवती को कोरोना नहीं है, वह जागरूकता दिखाते हुए खुद जांच के लिए पहुंची थी, सभी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। एक व्यक्ति के संबंध में जमाती होने की अफवाह उड़ा दी गई थी, उसकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आने के बाद परिवार वालों को सौंप दिया गया है। स्वास्थ विभाग कोरोना के मामलों को पूरी गम्भीरता से लेकर कार्यवाही कर रहा है।

12-04-2020
रास्ता भटकर 10 लोग पहुंचे जिले में, स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पुलिस सभी को ले गई अपने साथ

राजनांदगांव। जिले में शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात करीब 1:30 बजे 10 संदिग्ध पकड़े गए। बता दें ​कि 10 संदिग्ध लोगों के दिखने पर स्थानीय लोगों ने तुरंत ही 112 को फोन किया। पुलिस बिना देरी किए तत्काल वहां पहुँची और सभी को अपने कब्जे में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वे एक कंपनी के प्रोडक्ट सेल करते हैं। ये सभी बलौदा बाजार और नागपुर के बताए जा रहे हैं तथा रास्ता भटक गए हैं। रास्ता भटक कर वे सभी जिले में पहुँच गए। पुलिस सभी को अपने साथ ले गई है और आगे पूछताछ जारी ​है।

10-04-2020
2 और संदिग्ध मिलने के बाद पुलिस ने फिर दिखाई सख्ती, अनावश्यक घूमने वालों पर की कार्यवाही

राजनांदगांव। घुमका थाना क्षेत्र अंतर्गत 2 संदिग्धों के मिलने के बाद से ही पुलिस और प्रशासन ने सख्ती दिखानी प्रारंभ कर दी। शुक्रवार सुबह 11 बजे से ज़िलाधीश जय प्रकाश मौर्य और पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला दल बल सहित शहर के महावीर चौक पहुंच गए। उनके साथ एस. डी.एम., अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तथा पूरा स्टाफ था। उन्होंने 7 बजे से 12 बजे तक लॉक डाउन खुले रहने के दौरान बिना किसी जरूरी काम के घूमने वालों पर कार्यवाही करते हुए गाड़ियों की जब्ती की।

शहर में सभी निवसियों को आगाह किया गया है कि जब तक कोई जरूरी काम न हो तब तक सभी लोग घर पर ही रहें, अति आवश्यक होता है तो सिर्फ एक ही व्यक्ति घर से बाहर निकले। अनावश्यक शहर में न घूमे लॉक डाउन में छूट जरूरी काम के लिए है घूमने के लिए नहीं। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात गजेंद्र सिंह ने इस तरह की कार्यवाही को आम नागरिकों की सुरक्षा के लिए बताया। इस दौरान कुछ लोगों को उठक बैठक लगवाकर शपथ भी दिलाई गई कि बिना जरूरी काम के न तो हम घर से निकलेंगे न ही घर वालों को निकलने देंगे।

19-03-2020
लखनऊ में मिले दो नए कोरोना वायरस संक्रमित

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। वहीं लखनऊ में गुरुवार को कोरोना वायरस से संक्रमित दो और मरीजों की पुष्टि हुई है। इन दो नए मरीजों के सामने आने से उत्तर प्रदेश में मरीजों की संख्या बढ़कर 19 हो गई है। गरुवार सुबह इन दोनों लोगों की रिपोर्ट आई थी, जिसमें दोनों पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज में लगी डॉक्टर्स की टीम के दो सदस्यों में कोरोना से संक्रमण के लक्षण मिले हैं। इस टीम के सभी सदस्यों को फिलहाल चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। वहीं संदिग्ध दोनों चिकित्सकों को आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराया गया है।

 

05-03-2020
कोरोना के खिलाफ मुस्तैद रहे राज्य सरकार : विक्रम उसेंडी

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने प्रदेश की राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमित संदिग्ध मिलने को चिंताजनक बताया है। हालाँकि अभी मरीज की जाँच रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी। उसेंडी ने कहा कि कोरोना का संक्रमण चिंता का विषय जरूर है लेकिन इसे लेकर अकारण घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने किसी भी तरह की अफवाहों से बचने की अपील की। उसेंडी ने कहा कि इस बीमारी से निपटने की तैयारियों का जायजा लेते समय प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री समेत सभी मंत्री व संबंधित अधिकारी भी मास्क समेत दीगर तमाम सुरक्षात्मक उपायों का संजीदगी से पालन करें। उसेंडी ने भरोसा जताया कि प्रदेश की राजधानी में मिले संदिग्ध संक्रमित मरीज की रिपोर्ट निगेटिव ही आएगी और प्रदेश सरकार इस संक्रमण से बचाव के तमाम उपाय करेगी। उन्होंने कामना की है कि समूची दुनिया इस संकट से शीघ्र पार पा लेगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष उसेंडी ने कहा कि प्रदेश में अभी कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई पॉजीटिव मामला सामने नहीं आया है, फिर भी प्रदेश सरकार को इस बीमारी की रोकथाम के लिहाज से वैसी ही मुस्तैदी दिखानी चाहिए, जैसी अन्य प्रदेशों की सरकारें दिखा रही हैं। लोगों को इस बीमारी के अनावश्यक खौफ से उबारने और इस बीमारी से बचाव के पर्याप्त उपायों से अवगत कराने में प्रदेश सरकार और सरकारी मशीनरी प्रभावी भूमिका निभाएं, यह बेहद जरूरी है।

 

18-01-2020
एसईसीएल के कर्मचारी का शव लटका मिला फंदे पर, पुलिस जुटी जांच में

कोरबा। बीती रात एसईसीएल राजगामार कोयला खदान में कार्यरत कर्मचारी संतोष कुमार द्विवेदी ने अज्ञात कारणों से अपने घर मे फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। इस मामले की सूचना पर राजगामार पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच कर रही है।प्राप्त जानकारी के अनुसार संतोष कुमार द्विवेदी कल रात को प्रेम नगर स्थित मकान क्रमांक एम 77 में सोने गया हुआ था। आज सुबह पड़ोसियों ने उसे फांसी पर लटका हुआ देखा तो इस मामले की सूचना राजगामा पुलिस चौकी को दी गई। इसके आधार पर पुलिस ने विवेचना शुरू कर दी है। बताया जाता है कि मृतक घर पर अकेले ही था और और उसके परिजन बिलासपुर शादी में शामिल होने गए हुए थे। इस घटना की सूचना परिजनों को भी दी जा चुकी है। मृतक की आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। फिलहाल इस मामले को संदिग्ध मानकर पुलिस जांच कर रही है।

 

24-05-2019
गेस्ट हाउस और भोजनालय में पुलिस का छापा, संदिग्ध अवस्था में मिले कई जोड़े

 

नवापारा-राजिम। रायपुर पुलिस ने शुक्रवार दोपहर उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद नगर के लक्ष्मी नारायण भोजनालय और आनंद गेस्ट हाउस में  दबिश दी । दोनों ही रेस्ट हाउस में 7 जोड़े महिला-पुरुष और 1 युवती बंद कमरे में संदिग्ध तरीके से मिले। पुलिस सभी जोड़ों और दोनों ही रेस्ट हाउस संचालकों को लेकर थाने आई। थाने में लगभग 3 घंटे की गहन पूछताछ और साक्ष्य देखने के बाद 2 जोड़े पति-पत्नी निकले, जबकि एक युवती का अपने निजी कार्य से रुकना प्रमाणित होने पर दोनों जोड़ों और युवती को बिना कार्यवाही के जाने दिया गया। शेष 4 जोड़े महिला-पुरुष और युवक-युवती प्रेमी निकले। इन जोड़ों के परिजनों को फोन कर थाने बुलाया गया और वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए पूरी तरह परिजन होने की पुष्टि होने के बाद उन्हें जाने दिया जबकि चारों पुरुषों और दोनों लाज संचालकों के विरुद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करते हुए एसडीएम अभनपुर के न्यायालय में पेश किया गया । एसडीएम के अभनपुर में मौजूद नहीं रहने के कारण आरोपियों को रायपुर ले जाया गया। बता दें कि 
रायपुर पुलिस की स्पेशल टीम के एएसआई राजेंद्र पाण्डेय अपने 7 मातहतों संचित शर्मा, रोहित कुमार, शुभम यादव आदि के साथ दोपहर 1 बजे अलग-अलग भागों में बंटकर एक ही समय स्टेट बैंक के सामने स्थित लक्ष्मीनारायण लाज और पोस्ट ऑफिस के बाजू स्थित आनंद गेस्ट हाउस में घुसे। लक्ष्मीनारायण लाज से 3 जोड़े और 1 सिंगल युवती जबकि आनंद गेस्ट हाउस से 4 जोड़े महिला-पुरुष बंद कमरों के पीछे मिले। पकड़े गए लोगों में रायपुर, धमतरी सहित गरियाबंद जिले के तरीघाट, कुंडेल गांव के लोग शामिल हैं। थाना प्रभारी अमित तिवारी ने इस कार्यवाही की पुष्टि करते हुए बताया कि बलिराम पिता पुनाराम सोनकर (36) आमापारा राजिम, उमेश्वर पिता भागीरथी साहू (38) मुजगहन थाना कुरूद धमतरी, योगेश पिता रामा साय (24) मैनेजर आनन्द गेस्ट हाउस, मनीष उर्फ बबलू पिता गोपाल वैष्णव (31) खम्हारडीह पंडरी रायपुर, दुबेलाल पिता धनसिंह साहू (25) कौन्दकेरा राजिम, हरिशंकर पिता स्व- प्रभुलाल देवांगन (31) संचालक लक्ष्मीनारायण लाज के विरुद्ध धारा 151 के तहत कार्यवाही की गई है ।   

22-04-2019
साध्वी प्रज्ञा के मामले में आयोग की कार्यप्रणाली संदिग्ध : मायावती

लखनऊ। भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के मामले में चुनाव आयोग के रूख पर संदेह जताते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने कहा कि संवैधानिक संस्था की कार्यप्रणाली लोकतंत्र के लिये चिंता का विषय है। सुश्री मायावती ने ट्वीट किया भोपाल से बीजेपी प्रत्याशी और मालेगांव ब्लास्ट आरोपी साध्वी प्रज्ञा का दावा है कि वे ‘धर्मयुद्ध’ लड़ रही हैं। यही है बीजेपी/आरएसएस का असली चेहरा जो लगातार बेनकाब हो रहा है। लेकिन आयोग केवल नोटिसें ही क्यों जारी कर रहा है तथा बीजेपी रत्न प्रज्ञा का नामांकन क्यों नहीं रद्द कर रहा है। उन्होने फिर लिखा मीडिया की जबर्दस्त आलोचनाओं के बावजूद चुनाव आयोग अगर जनसंतोष के मुताबिक निष्पक्षता से काम नहीं कर रहा है तो यह देश के लोकतंत्र के लिए बड़ी चिन्ता की बात है। इस गिरावट के लिए असली जिम्मेदार कोई और नहीं बल्कि बीजेपी व पीएम मोदी हैं जो गंभीर चुनावी आरोपों से घिरे हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस ने अपने दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को भोपाल लोकसभा से टिकट दिया है जहां उनका मुकाबला भाजपा की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से है। हाल ही में प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह से अपनी चुनावी लड़ाई को धर्मयुद्ध करार दिया था।

 

15-04-2019
एक लाख से अधिक संदिग्ध लेन-देन पर चुनाव आयोग की नजर

रायपुर। लोकसभा चुनाव में मतदाताओं को धनबल से रिझाने को लेकर चुनाव आयोग निगरानी रख रहा है। इसके लिए एक लाख रुपए से अधिक हर संदिग्ध लेन-देन की जानकारी आयोग ने सभी बैंकों से मांगी है। भारत निर्वाचन आयोग के व्यय प्रेक्षकों ने इस संबंध में सोमवार को जिला कलेक्टोरेट स्थित रेडक्रास भवन में जिले के 66 बैंकों के अधिकारियों की बैठक ली।

    व्यय प्रेक्षकद्वय कुमार अजीत और जाधवर विवेकानंद राजेंद्र ने बैंक अधिकारियों से कहा कि वे दो तरह से मानीटरिंग करें। पहला एक लाख से 10 लाख रुपए और दूसरा 10 लाख रुपए से अधिक रकम के लेन-देन का रिकार्ड चेक करें, यदि इन दोनों तरह के लेन-देन में किसी तरह का संदेह होता है तो तत्काल जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष के दूरभाष क्रमांक 0771-2435444 पर सूचित करें। इसमें नगद लेन-देन के साथ मनी ट्रांसफर, आरटीजीएस, अकाउंट ट्रांसफर सहित सभी तरह के रिकार्ड की निगरानी की जानी है। व्यय प्रेक्षक कुमार अजीत ने बैंक अधिकारियों से कहा कि चुनाव आचार संहिता लगने के बाद से किसी बैंक ने एक भी संदिग्ध लेन-देन की जानकारी नहीं पकड़ी है, सभी अपनी रिपोर्ट निरंक भेज रहे हैं। ऐसा संभव नहीं है कि एक लाख से अधिक लेन-देन नहीं हो रहे हों। इसकी जानकारी प्रतिदिन सुबह भेजी जानी है। यदि बैंक को इसमें कुछ संदिग्ध लगता है तो उसकी तत्काल सूचना देनी है। उन्होंने कहा कि 14 मार्च से आज तक हुए लेन देन की जानकारी शाम तक उपलब्ध कराई जाए तथा मंगलवार सुबह से 24 अप्रैल में तक रिपोर्ट रोजाना सुबह आयोग को भेजा जाना सुनिश्चित करें। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव पाण्डेय, एलबीएम प्रवेश चौहान सहित 66 बैंकों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

10-12-2018
जशपुर स्ट्रांग रूम के पास आज दो संदिग्धों को फिर पकड़ा कांग्रेसियों ने

जशपुर। मतगणना से ठीक 12 घंटे पहले एक बार फिर जशपुर स्ट्रांग रुम में संदिग्धों की चहलकदमी को लेकर कांग्रेसियों ने हल्ला मचाना शुरू कर दिया है। इस बार कांग्रेसियों ने रायपुर से आए दो युवकों को लेकर सवाल उठाया है। दोनों युवक अपने को टेंट वर्कर बताकर स्ट्रांग रूम के अंदर व आसपास घूम रहे थे। इनपर कांग्रेसियों की नजर पड़ी और उन्होंने दोनों युवकों पर ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए संदेह व्यक्त किया है। बता दें कि  जशपुर स्ट्रांग रूम में मतगणना की तैयारी की जा रही है।

कांग्रेसी स्ट्रांग रूम के बाहर पहरेदारी में लगे हुए हैं। पिछले दो दिनों से स्ट्रांग रूम के आसपास दो युवक घूम रहे हैं जिनके पास महंगे मोबाइल हैं। इसके अलावा मोबाइल, लैपटॉप, साउंड सिस्टम व अन्य बनावटी बातें कर रहे हैं जिसके कारण कांग्रेसियों का संदेह और भी बढ़ गया है। युवक अपना नाम आशु साहू व हार्दिक राठौर बता रहे हैं जो ईवीएम व टेंट के काम से रायपुर से आए हैं और जिला निर्वाचन शाखा द्वारा उन्हें आई कार्ड भी जारी किया गया है।  कांग्रेसियों ने दोनों को जशपुर से बाहर भेजने की मांग की है।

जिला निर्वाचन शाखा में मामले की शिकायत की गई है। फिलहाल कांग्रेसी स्ट्रांग रूम के बाहर डटे हुए हैं। इस पूरे मामले में कार्रवाई को लेकर जिला प्रशासनन का पक्ष जानने की कोशिश की गई लेकिन किसी अधिकारी ने इसका जवाब नहीं दिया।   

Advertise, Call Now - +91 76111 07804