GLIBS
23-11-2019
एसएसपी ने रायपुर इंस्पेक्टर समेत 6 पुलिसकर्मियों को किया लाइन हाजिर, ये है वजह...

देहरादून। रायपुर की सोंग नदी में अवैध खनन को लेकर पुलिसकर्मियों पर गाज गिर गई। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने देर रात माल देवता पहुंचकर खनन से भरे दो डंपराें को सीज करा दिया। उन्हाेंने वायरलेस पर ही रायपुर इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसकर्मियाें को लाइन हाजिर करने का आदेश दे दिया। इनमें माल देवता पुलिस चौकी के चार सिपाही भी शामिल हैं। इस कार्रवाई के दौरान कई चालक डंपरों को छोड़कर फरार हो गए। उधर एसएसपी ने थाना प्रभारियों को चेतावनी दी कि यदि अवैध खनन में संलिप्तता मिली तो संबंधित को अपने थाने से ही जेल जाना होगा। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बीते दिनों देर रात रायपुर क्षेत्र में अवैध खनन की शिकायत पर जांच के लिए सीओ डालनवाला विवेक को भेजा था। पुलिस ने घेराबंदी कर माल देवता से ऊपर सोंग नदी के पास खनन से भरे डंपरों को रुकवा लिया। इनमें से कई चालक डंपर छोड़कर फरार हो गए।

यह जानकारी मिलते ही देर रात तीन बजे के करीब एसएसपी अरुण मोहन जोशी भी माल देवता पहुंच गए। चार वाहन चालकों ने टिहरी से जारी रवन्ने दिखाकर खनन सामग्री को सही ठहराया। दो डंपर किसी तरह के कागजात नहीं दिखा पाए, जिन्हें तत्काल सीज कर दिया गया। एसएसपी ने सीओ विवेक कुमार को वाहन चालकों द्वारा उपलब्ध कराए गए रवन्नाें की वैद्यता की जांच करने के आदेश दिए। उन्हाेंने रायपुर के इंस्पेक्टर देवेन्द्र चौहान से कड़ी नाराजगी जताई। लापरवाही बरतने के आरोप में इंस्पेक्टर चौहान, कांस्टेबल सुरेन्द्र खंतवाल, नरेश लेखपाल, राकेश डिमरी, मनमोहन असवाल, नमिता रावत को लाइन हाजिर कर दिया। माल देवता चौकी प्रभारी अरविंद चौधरी अवकाश पर होने के कारण बच गए। इस कार्रवाई से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। हरिद्वार के एसएसपी रहते समय अरुण मोहन जोशी ने अवैध खनन के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की थी। दून में भी लंबे समय बाद अवैध खनन को लेकर पुलिस के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई है।

सिपाही पर हुआ था हमला

विकासनगर के ढकरानी में अवैध खनन से भरा ट्रैक्टर पकड़ने पर सिपाही पर जानलेवा हमला हुआ था। अवैध खनन से जुडे़ लोगों ने सिपाही पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया था। बमुश्किल सिपाही की जान बच पाई थी। पुलिस ट्रैक्टर मालिक और चालक दोनों को जेल भेज चुकी है।

चार डंपराें का ओवरलोडिंग में चालान

सीओ डालनवाला विवेक कुमार ने बताया कि कार्रवाई के दौरान खनन से भरे चार डंपराें के खिलाफ ओवरलोडिंग में चालान किया गया है। जबकि दो वाहनों को सीज करने की कार्रवाई की गई है। जबकि रवन्नों की वैद्यता की जांच अभी जारी है।

17-11-2019
चरित्र शंका के चलते पति ने की पत्नी की हत्या, आरोपी हथियार सहित गिरफ्तार  

अम्बिकापुर। सीतापुर थाना अंतर्गत ग्राम झूमर पारा कतकालो में एक पति चरित्र शंका पर अपने पत्नी की टाँगी से वार कर हत्या कर दी। घटना के बाद पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार मैनपाट ब्लॉक के ग्राम डुमरपारा कतकालो निवासी शनिराम माँझी ने अपनी पत्नी मानमती माँझी की चरित्र शंका पर टाँगी मारकर हत्या कर दी। इस संबंध में थाना प्रभारी अनूप कुमार एक्का ने बताया कि पति को अपनी पत्नी के चरित्र पर शंका था। पति का कहना था कि उसकी पत्नी का गाँव के युवक के साथ अवैध संबंध है। इसको लेकर दोनों के बीच हमेशा विवाद हुआ करता था। इस संबंध में पति ने पत्नी को कई बार समझाइश भी दी। लेकिन पत्नी पर इसका कोई असर नही हुआ। घटना के दिन पति शराब के नशे में था और अवैध संबंध को लेकर अपनी पत्नी को समझा रहा था। इसी बात पर दोनों के बिच विवाद शुरू हो गया और देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ गया कि गुस्से में आकर पति ने घर मे रखा टाँगी से अपनी पत्नी पर जानलेवा हमला कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही पत्नी की दर्दनाक मौत हो गई। घटना पश्चात पुलिस ने आरोपी पति को हथियार सहित गिरफ्तार कर लिया है। 

 

12-11-2019
डंपर चालकों ने की खनिज विभाग के अधिकारियों को कुचलने की कोशिश

गरियाबंद। गरियाबंद में खनिज माफिया द्वारा विभाग के अधिकारियों पर जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। अधिकारियों को डंपर के नीचे कुचलने की कोशिश की गई।  राहत की बात ये रही कि राजिम पुलिस मौके पर पहुंच गई और टीम की जान बच गई। पुलिस को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गए। वारदात के समय खनिज विभाग के जिला अधिकारी सहित कुल चार लोग अपने निजी चारपहिया वाहन में मौजूद थे। घटना बीती रात की है। खनिज विभाग के अधिकारियों के मुताबिक ग्रामीणों की शिकायत पर वे कुटेना में अवैध रेत खनन पर कार्रवाई करने पहुंचे थे। जब वे पहुंचे तब वहां रेत खनन  शुरू नहीं हुआ था लेकिन कुछ डंपर वहां मौजूद थे जो रेत लेने के लिए आए हुए थे। विभागीय अधिकारियों ने डंपर चालकों को वहां से जाने के लिए कहा तो कई चालक चले गए मगर कुछ दूर जाकर दो चालक रुक गए। वाहन के पीछे-पीछे आ रहे अधिकारियों ने एक बार फिर इन डंपर चालकों को जाने के लिए कहा गया तो चालकों ने टीम पर ही हमला बोल दिया। चालकों ने विभाग की गाड़ी को टक्कर मारने की कोशिश की। तभी टीम ने राजिम पुलिस को फोन कर बुलाया। कुछ ही देर में पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई जिसे देखकर एक चालक अपना डंपर छोड़कर मौके से फरार हो गया, जिसे आज सुबह राजिम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। माईनिंग विभाग द्वारा मामले की शिकायत राजिम थाने में दर्ज कराई गई है। पुलिस के मुताबिक मामले में कुछ और लोगों के नाम शामिल हैं जिनकी खोजबीन की जा रही है। 

 

20-10-2019
हफ्ता नहीं देने पर युवक पर जानलेवा हमला

जगदलपुर। शहर के लागू चौक के पास ऑटो चालक से तीन युवकों ने हफ्ता वसूली के नाम पर पैसे की मांग की। जब युवक ने पैसे देने से इनकार किए तो युवक ने चाकू निकालकर हमला करने की कोशिश की। ऑटो वाले ने डंडे से बचाव करने की कोशिश की। तीनों लड़के ने उसका डंडा छीन कर पिटाई कर दी। इससे युवक के सिर नाक और आंख के पास गंभीर चोटें आई। युवक ने कोतवाली थाना पहुंचकर तीनों युवक के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने युवक को महारानी अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस इस मामले को लेकर युवकों की तलाश कर रही है।

11-10-2019
जानलेवा हमला करने वाले पांच आरोपियों को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर धर दबोचा

बलौदाबाजार। पुलिस ने जानलेवा हमला करने वाले पांच आरोपियों को 24 घंटे के अंदर धर दबोचा है। जानकारी के अनुसार 9 अक्टूबर को दोपहर करीब 2 बजे प्रार्थी प्रकाश वर्मा एवं उसका दोस्त निर्मल पटेल शराब लेने शराब दुकान रिसदा रोड बलौदाबाजार गया था। यहां पर 610 रुपए की शराब को 650 रुपए में बेचने की बात को लेकर शराब दुकान के सुपरवाइजर एवं प्रार्थी तथा उसके दोस्त के साथ झगड़ा हुआ था। झगड़ा होते देख बगल की देशी शराब दुकान के कर्मचारी एवं तीन बाहर के व्यक्ति मौके पर पहुंचकर  बांस के डंडे से जानलेवा हमला कर प्रार्थी एवं उसके दोस्त की बेरहमी से पिटाई कर दी। प्रार्थी की रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध कायम कर विवेचना में लिया था। विवेचना के दौरान प्रार्थी एवं उसके दोस्त ने 11 अक्टूबर को  लिखित आवेदन पेश किया। यह भी बताया कि घटना के सदमे के कारण उस दिन सही-सही हालात का वर्णन नहीं कर पाया था। घटना के सबंध में वीडियो भी वायरल हुआ था। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्देशित करने पर थाने से दो टीम बर्ना गई।  एक टीम का नेतृत्व करते हुए थाना प्रभारी ने आरोपीगणों के सभी संभावित स्थानों पर दबिश दी और पांच आरोपियों को राम लायक यादव पिता लखन (30) साकिन रामसागर पारा रायपुर हाल मुकाम कृष्णा नगर बलौदाबाजार, शुभाकांत स्वाई पिता श्रीधर (35) साकिन सिविल लाइन सष्टी मंदिर के पास बलौदाबाजार, जितेन्द्र भारती पिता शत्रुहन (35) साकिन खोरसी नाला पनगांव थाना बलौदाबाजार, शिवा सायर पिता भगत (2) साकिन पुरानी बस्ती टाकिज के पास बलौदाबाजार तथा  दीपक यादव पिता फिरत (19) साकिन लोहिया नगर बलौदाबाजार को धर दबोचा। पूछताछ करने पर आरोपियों ने जुर्म स्वीकार किया है। सभी आरोपियों को 11 अक्टूबर को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है। इस कार्रवाई में उप निरीक्षक मनोहर सिह कंवर, प्रधान आरक्षक समीर शुक्ला, भीम कुमार साहू, आरक्षक कमल कोसले व रूपेश कुमार साहू का विशेष योगदान रहा।

 

09-10-2019
पुराने विवाद को लेकर युवकों पर जानलेवा हमला, एक की मौत, दो घायल

कोरबा। कुसमुंडा थाना इलाके के प्रेमनगर में दो दिन पहले दुर्गापूजा पंडाल दो गुटों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई थी। लोगों के बीच-बचाव से उस दिन मामला शांत हो गया था लेकिन एक पक्ष ने दूसरे से रंजिश रख लिया। वह फिर से एकबार मारपीट की योजना बनाने लगे। दशहरा के दिन बहस करने वाले दो दर्जन से ज्यादा युवक फिर सक्रिय हुए और दूसरे पक्ष के लोगों को सबक सिखाने के मकसद से उन्हें ढूंढते रहे। इसी बीच उन्हें जानकारी मिली कि प्रेमनगर में सभी युवक एक स्कॉर्पिओ में सवार है। उन्होंने मौके पर पहुंच कर उनकी गाड़ी जबरन रुकवा लिया। स्कार्पियों में सवार तीनो ही बाहर आ पाते इससे पहले ही उनपर हमला कर दिया। गाड़ी के शीशे तोड़ दिए गए और बाहर आते ही उनपर रॉड से ताबड़तोड़ हमला शुरू कर दिया। अचानक हुए हमले में भानु खूंटे, सुनील सिंह और मृगेश कुमार को गंभीर चोटे आईं है। मारपीट के इस वारदात को अंजाम देने के बाद करीब बीस से पच्चीस की संख्या में पहुंचे हमलावर मौके से फरार हो गए। वही तीनों घायल युवकों को गंभीर हालत में विकासनगर के अस्पताल ले जाया गया, जहां कोरबा के कोसाबाड़ी स्थित निजी अस्पताल रिफर कर दिया गया। यहाँ उपचार के बाद भानू और मृगेश की हालत स्थिर है जबकि सुनील की स्थिति नाजुक बनी बनी हुई थी। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। कुसमुंडा पुलिस ने इस सम्बन्ध में सभी हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों की शिनाख्त नहीं की है। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। खुद डीएसपी मुख्यालय रामगोपाल करियारे, सीएसपी दर्री, थाना प्रभारी राकेश मिश्रा मौके पर डटे हुए है। दशहरे के मद्देनजर इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

 

15-09-2019
आपसी रंजिश में ठेकेदार पर जानलेवा हमला, अपराध दर्ज

रायपुर। उरला थाना इलाके के सतनामी पारा में ठेकेदार पर टंगिया और लाठी से जानलेवा हमला करने का मामला सामने आया है। आरोपियों ने घेरकर हमला किया और वहां से भाग गए। गंभीर हालत में लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है। बयान के आधार पर पुलिस ने मामले में अपराध कायम किया है। सतनामी पारा निवासी राजू चतुर्वेदी ने मामले में शिकायत की है। राजू लेबर ठेकेदार का काम करता है। रात का खाना खाने के बाद वह टहलने के लिए निकला। वह संतोष साहू और बलराम घृतलहरे के घर के पास पहुंचा था कि वहां पहले से आरोपी विजय, सुमित, विकास और छगन घृतलहरे लाठी, डण्डा, रॉड और टंगिया लेकर खड़े थे। राजू के पहुंचते ही आरोपियों ने हमला करना शुरु कर दिया। सिर पर ज्यादा चोट लगने से राजू वहीं बेहोश हो गया। जिसे आरोपी मरा समझकर वहां से भाग गए। आस-पड़ोस के लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने मामले में धारा 307, 34 के तहत अपराध कायम किया है।

02-09-2019
प. बंगाल में सांसद पर हमले के विरोध में बैरकपुर बंद, भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं में झड़प

कोलकाता। प.बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। ताजा घटनाक्रम सांसद अर्जुन सिंह पर जानलेवा हमले का है। भाजपा ने इसके विरोध में सोमवार को राज्य के बैरकपुर जिले में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक बंद का ऐलान किया है। बंद के दौरान भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए हैं। इस झड़प में 25 बीजेपी कार्यकर्ताओं के घायल होने की खबर है। बैरकपुर-बारासात इलाके में झड़प के बाद स्थिति कुछ तनाव में है। पुलिस के सामने दोनों पार्टियों के समर्थकों ने एक दूसरे गुट के कार्यकर्ताओं को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। बता दें कि रविवार को बीजेपी नेता अर्जुन सिंह पर हमला हुआ था। इसके विरोध में सोमवार को बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र में बीजेपी ने 12 घंटे का बंद बुलाया है।

इस मामले में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ममता सरकार पर जमकर हमला बोला। नड्डा ने कहा, "उत्तर 24 परगना जिले में भाजपा कार्यालय पर कब्जा करने का प्रयास और भाजपा सांसद अर्जुन सिंह और विधायक पवन सिंह के साथ हुई हिंसा अत्यंत निंदनीय है। ऐसे अवैध तरीकों का सहारा लेकर, टीएमसी पश्चिम बंगाल में फिर से लोकतंत्र के समय की हत्या कर रही है। गौरतलब है कि रविवार को उत्तर 24 परगना जिले के काकीनाडा इलाके में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह की गाड़ी पर कुछ लोगों और पुलिस ने कथितरूप से लाठीचार्ज कर दिया। इसमें सांसद के सिर में गंभीर चोटें आई। अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया कि बैरकपुर के पुलिस आयुक्त मनोज वर्मा ने उन्हें मारा, जिससे उनके सिर पर चोट लग गई। सिंह को बाद में इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

01-09-2019
जानलेवा हमले में पत्नी की मौके पर मौत, पति गंभीर रूप से घायल 

अंबिकापुर। दरिमा थाना क्षेत्र मे हत्या की एक बड़ी वारदात सामने आई है। आरोपी द्वारा अज्ञात कारणों से पति-पत्नी पर चाकू से जानलेवा हमला किया गया । इस घटना में पत्नी की मौके पर ही मौत हो गयी और पति गंभीर रूप से घायल हो गया। गंभीर रूप से घायल पति को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वारदात के पीछे के कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है। मिली जानकारी अनुसार रविवार की सुबह दरिमा थाना क्षेत्र के नानदमाली जूनपारा मे रहने वाले मृतिका का पति रामनाथ अपने घर से पास के ही दुकान पर कुछ सामान लेने गया था। तभी उसके घर पर जूनापारा का ही रहने वाला आरोपी जीवन मझवार घुसा और काम कर रही फुलारी बाई पर चाकू से हमला कर दिया। इस हमले के दौरान आरोपी जीवन ने फुलारी का गला रेत कर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। इतने मे रामनाथ घर लौटा तो उसने खून से लथपथ पत्नी के शव के पास जीवन को देखा तो अचानक आरोपी ने रामनाथ के ऊपर भी चाकू से हमला कर दिया।

हमले में उसने रामनाथ के सीने, हाथ और जांघ मे चाकू से कई वार किए और रामनाथ बूरी तरह लहुलुहान हो गया। चीख पुकार सुनकर आस-पास के लोग वहां पहुंचे और दरिमा थाना पुलिस को इस वारदात की सूचना दी। घटना की सुचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस की मौजूदगी मे घायल रामनाथ को इलाज के लिए अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा गया। वही पत्नी के शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए दरिमा अस्पताल भेजा गया है। पुलिस ने फिलहाल यह जानकारी नहीं दी है कि आरोपी फरार है या उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन ग्रामीणों के मुताकिब आरोपी जीवन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804