GLIBS
20-11-2020
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री को लगाया गया कोवैक्सीन का पहला टीका, शुरू हुआ तीसरे चरण का ट्रायल

चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना की देसी वैक्सीन 'कोवैक्सीन' के तीसरे चरण का परीक्षण शुक्रवार को शुरू हुआ। सबसे पहला टीका हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को अंबाला कैंट के नागरिक अस्पताल में लगाया गया। पीजीआई रोहतक की टीम की निगरानी में ही मंत्री विज को वैक्सीन का टीका लगाया गया। इसके बाद आधे घंटे तक उन्हें निगरानी में रखा गया। भले ही इस दौरान मंत्री विज के चेहरे पर मुस्कुराहट थी लेकिन डॉक्टरों की सांसें अटकी हुई थीं। 
इससे पहले रोहतक पीजीआई की टीम ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खून का नमूना लिया। सफल ट्रायल के बाद मंत्री विज ने जीत का निशान दिखाया और सीधे चंडीगढ़ स्थित अपने कार्यालय के लिए रवाना हो गए। मंत्री ने खुद आराम की जगह कार्यालय जाकर काम करने की इच्छा जताई। इस पर डॉक्टरों की टीम ने उन्हें अनुमति दी। दें कि हरियाणा में कोवैक्सीन के टीके के परीक्षण की जिम्मेदारी पं.भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के पीजीआईएमएस को सौंपी गई है। टीम में कोविड-19 के स्टेट नोडल अधिकारी डॉ.ध्रुव चौधरी, रिसर्च की प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर डॉ.सविता वर्मा, को-इन्वेस्टिगेटर डॉ.रमेश वर्मा, नर्सिंग स्टाफ व एलटी स्टाफ मौजूद रहे। कोवैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल पीजीआईएमएस रोहतक, हैदराबाद व गोवा में शुरू हुआ।

इसके तहत तीनों संस्थानों में 200-200 वालंटियर्स को शुक्रवार से वैक्सीन की डोज दी जाएगी। यह डोज छह-छह एमजी की होगी। पहली डोज के 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी और 48 दिन बाद उनके शरीर में एंटीबॉडी की जांच की जाएगी। सही परिणाम मिलने पर देशभर में चिह्नित 21 संस्थानों में कुल 25,800 वालंटियरों को यह डोज दी जाएगी। यह जानकारी बुधवार को पीजीआई के कुलपति डॉ. ओपी कालरा ने दी। उन्होंने बताया कि कोवैक्सीन के खतरे काफी कम हैं। अभी तक की रिसर्च में एक दो वालंटियर को हल्का बुखार व टीके के स्थान पर दर्द जैसी समस्या आई है। हमारे सभी वालंटियर स्वस्थ हैं और अभी तक किसी को कोरोना होने की रिपोर्ट भी नहीं है।कुलपति ने बताया कि फरवरी के बाद वैक्सीन बाजार में आ सकती है। फिलहाल भारत बॉयोटैक कंपनी इस वैक्सीन पर शोध करवा रही है। शोध में सफल होने पर आईसीएमआर की ओर से वैक्सीन निर्माण का काम संबंधित कंपनी को दिया जाएगा। उसके बाद बाजार में वैक्सीन उपलब्ध होगी। 

 

12-11-2020
स्वास्थ्य विभाग को मिली 20 नई एम्बुलेंस, स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने गुरुवार को अपने निवास कार्यालय से 20 नई एम्बुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। आपात स्थिति में मरीजों एवं घायलों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए ये एम्बुलेंस विभिन्न जिलों में भेजे जाएंगे। इन्हें मिलाकर अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा 300 नई एम्बुलेंस के जरिए आपात चिकित्सा सुविधाओं तक जरूरतमंदों को पहुंचाया जा सकेगा। स्वास्थ्य विभाग के 108-संजीवनी एक्सप्रेस सेवा के संचालन के लिए राज्य शासन और जय अम्बे इमरजेंसी सर्विसेस के बीच प्रदेश भर में 300 एम्बुलेंस के संचालन के लिए एमओयू किया गया था। आज 20 नई एम्बुलेंस की शुरूआत के बाद अब सभी 300 एम्बुलेंस आपात स्थिति में मरीजों एवं घायलों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए विभाग को मिल गई हैं। इनमें 29 एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट सिस्टम (ALSS) की सुविधा वाले एम्बुलेंस भी शामिल हैं। एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट सिस्टम एम्बुलेंस आपातकालीन दवाईयों के साथ ही वेंटिलेटर, डि-फ्रेबिकेटर और इनफ्यूजन पंप की सुविधा से लैस हैं।

12-11-2020
मंत्री सिंहदेव ने प्रदेशवासियों को दी धनतेरस की शुभकामनाएं, ट्वीट कर अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता

रायपुर। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रदेशवासियों को धनतेरस की शुभकामनाएं दी है। सिंहदेव ने ट्वीट कर सभी के जीवन में सुख, समृद्धि और वैभव की कामना की है। इस दौरान मंत्री ने भारत में मंदी मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को घेरा है। मंत्री टीएस सिंहदेव ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए लिखा कि धनतेरस के दिन भारत में मंदी की खबर आई है जो कि बहुत दुःखद है। क्या भाजपा सरकार इसका संज्ञान लेकर हमारी अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए कोई कदम उठाएगी या सिर्फ उनके नेता भाषणवीर बनकर बहाने बनाते रहेंगे? ज्ञातव्य है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार मंदी के मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से सवाल किए। वहीं संकट के दौर से निकलने के कई सुझाव भी दिए हैं। वहीं आज प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ट्वीट कर केंद्र सरकार से सवाल किया है।

05-11-2020
6 नवंबर को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री लेंगे कोविड समीक्षा बैठक, टीएस सिंहदेव होंगे शामिल

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव 6 नवंबर को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से छत्तीसगढ़ में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए बैठक में शामिल होंगे। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन शाम चार बजे वीडियो कांफ्रेंस से बैठक लेंगे। वे प्रदेश में कोरोना नियंत्रण की स्थिति की समीक्षा के साथ कोविड से निपटने के लिए उपयुक्त व्यवहार अपनाने पर भी चर्चा करेंगे। केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी बैठक में शामिल होंगे।

 

01-11-2020
विधायक के संपर्क में आने से स्वास्थ्य मंत्री हुए सेल्फ क्वारेंटाइन,ट्वीट कर दी जानकारी

रायपुर। प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। आमजनता, कोरोना वारियर्स सहित कई लोग बड़ी संख्या में संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। रविवार को जानकारी सामने आई है कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने स्वयं को क्वारेंटाइन कर लिया है। मंत्री सिंहदेव ने ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि भटगांव विधायक पारसनाथ राजवाड़े की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 29 अक्टूबर को मरवाही यात्रा के दौरान मंत्री टीएस सिंहदेव उनके संपर्क में आए थे। इस कारण मंत्री टीएस सिंहदेव ने एहतियातन खुद को क्वारेंटाइन किया है। उन्होंने अपील की है कि जो भी विधायक पारसनाथ राजवाड़े के संपर्क में आए हैं वे चिकित्सकीय सलाह जरूर लें।

30-10-2020
तुर्की में महसूस किए गए भूकंप के तेज झटके, रिएक्टर स्केल पर तीव्रता 7.0, कई भवन ध्वस्त, 100 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली। तुर्की और ग्रीस में शुक्रवार को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। यूनाईटेड स्टेट जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) के मुताबिक, पश्चिमी इजमिर प्रांत के तट से करीब 17 किमी दूर रिएक्टर स्केल पर 7.0 की तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिपोर्ट्स के मुताबिक, तुर्की के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि इजमिर में भूकंप से चार लोगों की मौत हुई है। भूकंप की तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि कई भवन जमींदोज हो गये। भवनों के जमींदोज होने से 100 से ज्यादा लोग घायल हो गये हैं। बताया जा रहा है कि भूंकप का केंद्र एजियन सागर में करीब 16.5 किलोमीटर नीचे था। रिएक्टर स्केल पर तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि पूर्वी यूनान के प्रायद्वीपों में भी भूंकप के झटके महसूस किये गये। वहीं, राजधानी एथेंस में लोगों ने भूकंप के झटके महसूस करने के बाद अपने-अपने घरों से बाहर निकल आये।

23-10-2020
स्वास्थ्य मंत्री के ट्वीट का शाहरूख खान ने दिया जवाब,कोरोना से जारी जंग के लिए छत्तीसगढ़ को दी शुभकामनाएं

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ के कोरोना योद्धाओं के लिए पीपीई किट प्रदान करने के लिए बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता शाहरूख खान और उनकी संस्था मीर फाउंडेशन के प्रति आभार व्यक्त किया है। स्वास्थ्य मंत्री ने ट्विटर पर शाहरूख खान को धन्यवाद देते हुए कहा कि मैं हमारे फ्रंटलाइन योद्धाओं की सुरक्षा के लिए पीपीई किट प्रदान करने के लिए आपके और आपकी संस्था के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं। उन्होंने मीर फाउंडेशन से जोड़ने और इस मदद के लिए पहल करने के लिए अभिनेत्री व सामाजिक कार्यकर्ता राजश्री देशपाण्डेय को भी धन्यवाद दिया है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है कि आप लोगों की उदारता ने अनेक लोगों को हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करने वाले नायकों को सुरक्षित रखने में सहायता के लिए प्रेरित किया है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए शाहरूख खान ने जवाब दिया है। शाहरूख खान ने कहा है कि हम सभी अपने भाइयों और बहनों को इस कठिन समय से उबारने के लिए जो भी संभव हो, करने की कोशिश कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए आप लोगों के प्रयासों के लिए भी मैं अपनी शुभकामनाएं देता हूं। उल्लेखनीय है कि  शाहरूख खान की संस्था मीर फाउंडेशन ने छत्तीसगढ़ के कोरोना योद्धाओं के लिए दो हजार पीपीई किट प्रदान किए हैं।

18-10-2020
राजधानी पुलिस ने शनिवार देर रात चलाया विशेष अभियान, सीएम हाउस सहित 80 स्थानों पर पहुंची 10 टीमें

रायपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के आदेश अनुसार 17-18 अक्टूबर की दरमियानी रात 10 टीमों ने 80 स्थानों पर सुरक्षा व्यवस्था की जांच की। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर लखन पटेल व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण तारकेश्वर पटेल के निर्देशन में उप पुलिस अधीक्षक लाइन मणिशंकर चंद्रा के नेतृत्व में 10 टीम जांच के लिए पहुंची। रक्षित केंद्र रायपुर से रक्षित निरीक्षक चंद्रप्रकाश तिवारी, सूबेदार अभिजीत भदौरिया,सूबेदार गोविंद वर्मा और अन्य अधिकारी टीम में शामिल थे। टीमों ने जिले के विभिन्न स्थानों मुख्यमंत्री निवास,गृह मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री आदि के निवास पर सुरक्षा व्यवस्था को परखा। साथ ही विभिन्न शासकीय बैंकों,महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों इत्यादि 80 स्थानों में लगे लगभग 250 सुरक्षा गार्डों को चेक किया। चेकिंग के दौरान संत्री की पोजीशन और गार्ड ऑफ फायर , गॉड स्टैंड टू और हथियारों के  सुरक्षित रखे जाने से संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए। साथ ही सतर्कता पूर्वक और ईमानदारी पूर्वक ड्यूटी करने, ड्यूटी के दौरान नशा का सेवन नहीं करने, समय पर ड्यूटी पर उपस्थित होने संबंधित आवश्यक निर्देश भी दिए गए। इसके अतिरिक्त डीजीपी के स्पंदन अभियान के तहत सभी कर्मचारियों से किसी भी व्यक्तिगत या अन्य समस्या होने पर तत्काल सूचित करने और निराकरण करने के लिए संबंधित सक्षम अधिकारी को सूचित करने का आश्वासन दिया गया। राजधानी में इस तरह के अभियान आगामी समय में भी लगातार जारी रहेगा।

16-10-2020
Video : स्वास्थ्य मंत्री ने त्यौहारों पर विशेष ध्यान रखने किया निवेदन,कहा-कोरोना अभी भी हमारे बीच

रायपुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने एक वीडियो संदेश के जरिए छत्तीसगढ़ वासियों से निवेदन किया है। उन्होंने कहा है कि त्यौहारों का मौसम आ गया है। नवरात्रि दुर्गा पूजा, दशहरा और फिर दीपावली आने वाली है। नई फसल कट कर आएगी तो गांवों में उसके भी त्यौहार होते हैं। ऐसे में हमें अधिक सतर्कता रखनी है। उन्होंने निवेदन किया है कि कोरोना अभी भी हमारे बीच में है। प्रदेश में रोजाना बड़ी संख्या में मरीजों की पहचान हो रही है। त्यौहारों के समय दो गज की दूरी और चेहरे पर मास्क हो जरूरी। इन बातों को ध्यान में रखकर घरों में खुशियां मनाइए। बाहर यदि जाना पड़े तो किसी भी स्थिति में बगैर मास्क के नहीं जाएं। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने इस निवेदन के साथ आगामी सभी त्यौहारों के लिए प्रदेशवाासियों को शुभकामनाएं दी है।

 

07-10-2020
एमसीआई ने मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर को 100 सीट के एडमिशन के लिए दी अनुमति

अंबिकापुर। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के नेतृत्व में मेडिकल कॉलेज टीम की मेहनत रंग लाई है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज को 100 सीट के नए एडमिशन की अनुमति दे दी। सरगुजा जिले के लिए मेडिकल के क्षेत्र में यह एक बड़ी उपलब्धि है। पांचवे सत्र की अनुमति प्राप्त करने के लिए मेडिकल कॉलेज की टीम ने युद्ध स्तर पर मेहनत किया था। एमसीआई द्वारा दिए गए सभी गाइडलाइन का समय रहते मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने सभी कमियों को टीम वर्क के साथ पूरा किया। तब जाकर एमसीआई ने पांचवे सत्र की मान्यता अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज को दी है। आपको बता दें कि अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज को पहली मान्यता वर्ष 2016 में मिली थी। वही 2017 में एमसीआई ने मेडिकल कॉलेज को जीरो ईयर घोषित कर दिया था।

इसके बाद मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने एक बार फिर मेहनत की जिस वजह से एमसीआई ने 2018 में नए एडमिशन की अनुमति दी थी। भवन और फैकल्टीज की कमी के चलते 2019 में एक बार फिर एमसीआई ने जीरो ईयर घोषित कर दिया था। इसके बाद प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री  ने खुद मोर्चा संभाला और उनके नेतृत्व में मेडिकल कॉलेज की टीम समय रहते सभी कमियों को कोरोना काल के बीच पूर्ण करने में सफलता हासिल की। इसके फलस्वरूप  इस वर्ष एमसीआई ने मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर को 100 सीट के एडमिशन के लिए मान्यता दे दी है।

 

22-09-2020
स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने किया राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ

रायपुर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस से राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का राज्य स्तरीय शुभारंभ किया। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़े सभी जिलों के स्वास्थ्य अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के बावजूद प्रदेश में विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों को गंभीरतापूर्वक संचालित किया जा रहा है। इसके लिए मैं स्वास्थ्य विभाग के पूरे अमले को बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम के तहत 23 से 30 सितंबर तक प्रदेश के करीब एक करोड़ 14 लाख बच्चों और किशोरों को कृमिनाशक दवा खिलाई जाएगी। विगत फरवरी माह में भी इस कार्यक्रम के अंतर्गत 94 लाख बच्चों को कृमिमुक्त किया गया था। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने रायपुर के सिविल लाइन स्थित चिप्स कार्यालय में बच्चों को कृमिनाशक दवा खिलाकर राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी.पिल्ले, स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक नीरज बंसोड़, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ.प्रियंका शुक्ला और नोडल अधिकारी डॉ.अमर सिंह ठाकुर भी मौजूद थे।

सिंहदेव ने कार्यक्रम में बताया कि कोरोना संक्रमण के खतरों को देखते हुए पूरी सावधानी बरतते हुए मितानिनें एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर एक से 19 वर्ष तक के बच्चों व किशोरों को कृमिनाशक दवा खिलाएंगी। मितानिनों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को इसके लिए कोविड-19 के उपायों से बचने और निर्धारित प्रोटोकॉल के पालन के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने सभी पालकों से अपील की है कि वे अपनी संतानों के उत्तम स्वास्थ्य के लिए बच्चों को दवाई का सेवन अवश्य करवाएं। डिवर्मिंग कार्यक्रम के दौरान टीम को अपना पूरा सहयोग और समर्थन प्रदान करें। नियमित डिवर्मिंग बच्चों और किशोरों में कृमि के संक्रमण को समाप्त कर उनके बेहतर शारीरिक और संज्ञानात्मक विकास में सहायक है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम हर वर्ष दो बार विश्व स्वास्थ्य संगठन, राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र और एविडेंस एक्शन के तकनीकी सहयोग से संचालित किया जाता है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804