GLIBS
27-04-2020
शेयर बाजार में रौनक, बढ़त के साथ बदं हुए सेंसेक्स और निफ्टी, निवेशकों में उत्साह

मुंबई। रिजर्व बैंक द्वारा म्यूचुअल फंड कंपनियों के लिए 50,000 करोड़ रुपये के नकदी समर्थन की घोषणा से सोमवार को वित्तीय कंपनियों के शयेरों की लिवाली का अच्छा समर्थन मिला और बीएसई सेंसेक्स 416 अंक की बढ़त के साथ बंद हुआ।
केंद्रीय बैंक की इस घोषणा से वित्तीय शेयरों के प्रति आकर्षण बढ़ने के साथ-साथ सकारात्मक वैश्विक रुख से भी निवेशकों का मनोबल बढ़ा हुआ था। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिन में कारोबार के दौरान एक समय 700 अंक तक के लाभ में था। हालांकि, बाद में उसका लाभ कुछ सिमटा। अंत में सेंसेक्स 415.86 अंक या 1.33 प्रतिशत की बढ़त के साथ 31,743.08 अंक पर बंद हुआ। एक समय यह दिन के उच्चस्तर 32,103 अंक तक गया था। इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 127.90 अंक या 1.40 प्रतिशत की बढ़त के साथ 9,282.30 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 शेयरों में 25 लाभ में रहे।कारोबारियों ने कहा कि भारतीय शेयर बाजारों के लिए नए सप्ताह की शुरुआत अन्य एशियाई बाजारों की तरह सकारात्मक रुख के साथ हुई। वैश्विक स्तर पर केंद्रीय बैंकों से और मौद्रिक उपायों की उम्मीद की जा रही है। बैंक आफ जापान द्वारा कोरोना वायरस के झटके से निपटने को अपने प्रोत्साहन को बढ़ाने से यहां बाजार की धारणा को बल मिला। व्यापक रूप से बाजार को रिजर्व बैंक द्वारा म्यूचुअल फंड कंपनियों के लिए 50 हजार करोड़ रुपये की विशेष नकदी सुविधा की घोषणा से समर्थन मिला।माना जा रहा है कि इससे म्यूचुअल फंड कंपनियों के नकदी संकट को दूर करने में मदद मिलेगी। हालांकि, कारोबार के अंतिम घंटे में मुनाफावसूली का सिलसिला चलने से बाजार का लाभ कुछ सिमट गया।  शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार भी बढ़त में थे। ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 4.03 प्रतिशत टूटकर 23.81 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। 

21-04-2020
सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फिर मनरेगा कार्य की शुरुआत, ग्रामीणों में दिखा उत्साह

कांकेर। लॉकडाउन के कारण जहां ग्रामीणों के आय के सभी साधन बन्द हो गये है, वहीं महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना(मनरेगा) के कार्य शुरू होने से ग्रामीण मजदूरों को राहत मिली है तथा उनकी अर्थव्यवस्था एवं जिन्दगी पटरी पर लौटी है। जिले में लॉकडाउन में ढील होने के बाद से मनरेगा के कार्यो में तेजी आई है।  मनरेगा कार्य में सोशल डिस्टेसिंग का पालन किया जा रहा है तथा मास्क का उपयोग किया जा रहा है। कांकेर जिले के 357 ग्राम पंचायतों के 454 ग्रामों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्य संचालित हो रहे है।

मनरेगा के कार्यों में मजदूरी दर 176 रूपये से बढ़कर 190 रूपये होने से ग्रामीण मजदूरों का उत्साह भी बढ़ा है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे ने बताया कि पिछले वर्ष 2019-20 में अप्रैल माह में जहं 26 हजार मजदूर कार्यरत थे, वहीं इस वर्ष लॉकडाउन होने के बावजूद 43 हजार 299 मजदूर कार्यरत हैं। जिले में मनरेगा के तहत् वर्तमान में जल संरक्षण, जल संर्वधन, गौठान एवं चारागाह, नरूवा, व्यक्तिगत डबरी निर्माण, तालाब गहरीकरण, नये तालाबों का निर्माण, कुंआ निर्माण आदि कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर स्वीकृत किये जा रहे हैं।

17-04-2020
फिजिकल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन के साथ मनरेगा कार्य का ग्रामीणों में उत्साह

दुर्ग। ग्राम मुरमुंडा का सुबह सुबह का दृश्य, नाली गहरीकरण के लिए मनरेगा श्रमिक जुट गए हैं। सभी ने अपने मुंह को मास्क से ढंका है। रोजगार सहायक सभी से पूछते हैं। अब कौन सा जरूरी काम करना है। सभी ने कहा कि हाथों को धोना है। फिर सभी को सैनिटाइज किया गया। ग्रामीणों ने उत्साह से कहा कि देखो हम कोरोना से बचाव के उपाय भी कर रहे हैं और काम भी शुरू करा दिया है। मुरमुंडा की तरह ही अनेक ग्राम पंचायतों में उत्साह से मनरेगा का काम हो रहा है। नंदवाय में जहां भूमि सुधार कार्य हो रहा है। वहां भी ऐसा ही दृश्य है। नंदवाय के ग्रामीणों ने बताया कि मनरेगा के माध्यम से उन्हें भुगतान तो होगा ही, गांव में भूमि सुधार का कार्य भी होगा। भूमि सुधार से भूमि की उत्पादकता बढ़ेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीते दिनों सभी अधिकारियों को ग्रामीण विकास की योजनाओं में तेजी लाने तथा अगले कुछ महीनों में मनरेगा सहित अन्य कार्यों को युद्धस्तर पर करने के निर्देश दिए थे। इसके अनुपालन में सभी ग्राम पंचायतों को निर्देशित किया गया है कि स्वीकृत कार्यों को अविलंब प्रारंभ करें, साथ ही नये कार्यों का चिन्हांकन करें। ग्राम मुरमंडा में काम में लगे ग्रामीणों ने कहा कि हमें संक्रमण से बचाने के लिए हाथ धोने की सुविधा प्रशासन दे रहा है। जिला पंचायत सीईओ कुंदन कुमार ने भी बीते दिनों बैठक लेकर मनरेगा के श्रमिकों की संख्या बढ़ाने तथा नये कार्यों के चिन्हांकन के निर्देश अधिकारियों को दिए थे। अभी 21 हजार से अधिक श्रमिक अभी मनरेगा के 21561 श्रमिक जिले में काम कर रहे हैं। यह 207 ग्राम पंचायतों में 1136 कार्यों में लगे हुए हैं। ग्राम पंचायतों को नये कार्यों का चिन्हांकन करने कहा गया है। चिन्हांकित किए गए कार्यों में जलसंरक्षण से संबंधित कार्य सबसे अहम हैं। इसके साथ ही भूमि सुधार से संबंधित कार्य भी किया जा रहा है। जलसंरक्षण इसी संबंध में बनाई गई नरवा, गरुवा, घुरूवा, बाड़ी योजना के अहम हिस्से हैं।

 

01-04-2020
कोरोना से लड़ने ग्रामीणों में दिखा उत्साह, राशन लेने भीड़ नहीं पर सोशल डिस्टेंसिंग में नजर आए लोग

कांकेर। शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर राशन सामग्रियों का वितरण शुरू हो गया है। वहीं कोरोना महामारी के चलते गांव-गांव में इसकी जगकरुकता देखने को मिल रही है, जिसमें लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के तहत गोला बनाकर बारी-बारी से राशन वितरित किए जा रहे है। ग्राम पंचायत बाबूदबेना में भी एकता स्वयं सहायता समूह शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर ऐसी ही व्यवस्था की गई है, जिससे लोगों को बारी-बारी से राशन सामग्री भी मिल जाएगी व भीड़ भी एकत्रित नहीं होगी। इस सबंध में ग्राम के सरपंच माखन कांगे ने बताया कि हालहि में जो शासन-प्रशासन की ओर से दिशा निर्देश दिए गए है, उसको ध्यान में रखते हुए ऐसी व्यवस्था की गई है। साथ ही ग्राम पंचायत बाबूदबेना में ग्रामीणों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसको लेकर भी पंचायत के समस्त पंचगण जूटे हुए है कि संकट के समय में लोगों को शासन की ओर से दिए जा रहे सुविधाओं को पहुंचाया जा सके।

23-03-2020
शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री बनने पर  भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह : कौशिक

रायपुऱ। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भाजपा नेता शिवराज चौहान के चौथी बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कुशल संगठक हैं। उनके चौथी बार मुख्यमंत्री बनने पर देश और प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं। उनके नेतृत्व में फिर एक बार  मध्यप्रदेश विकास की नई राह पर अग्रसर होगा। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि नवनिर्वाचित मुख्ममंत्री चौहान का छत्तीसगढ़ से आत्मीय लगाव रहा है। वो हमेशा पार्टी के हर वर्ग से सीधा जुड़े रहे हैं। इसका लाभ संगठन और समाज के हर वर्ग को होगा।

08-02-2020
राजधानी में दिखा मतदान के लिए उत्साह, यूएस से छुट्टी लेकर वोट देने पहुंचा प्रणव

नई दिल्ली। दिल्ली की जनता में वोटिंग को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिल रहा है। लोग सुबह से ही वोट डालने के लिए घरों से निकलकर लम्बी-लम्बी लाइनो में लगे है। इस बार जो पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं में भी उत्साह देखने को मिला। इन्हीं में आए हैं प्रणव भट्ट जो हरी नगर विधानसभा सीट पर वोट डालने अपने परिवार के साथ पहुंचे। प्रणव 22 साल के हैं, दिल्ली में अपनी पढ़ाई पूरी करके यूएस चले गए, लेकिन सिर्फ वोट डालने के लिए यूएस से छुट्टी लेकर वापस लौटे हैं। प्रणव ने बताया कि मतदान करने को लेकर बहुत ही उत्सुक हैं। प्रणव ने बताया कि हम दूर बैठे लोग अपने देश को तरक्की करते देखना चाहते हैं और ऐसी सरकार चाहते हैं जो दिल्ली को विश्व स्तर की राजधानी बना दे। इसके लिए हम वोट डालने आए हैं। हम उम्मीद करते हैं कि नई सरकार दिल्ली को बदल देगी। उन्होंने कहा कि वोट डालने की फीलिंग बहुत बड़ी होती है। उसके लिए हम कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि उनके दोस्त भी वोट डालने गए। वहीं प्रणव की मां ने बताया कि वह अपने बेटे के वोट डालने पर बहुत खुश है।

19-01-2020
जल-जीवन-हरियाली और शराबबंदी के लिए बनी सबसे बड़ी मानव श्रृंखला

नई दिल्ली। बिहार में रविवार को जल-जीवन-हरियाली और शराबबंदी के पक्ष में और दहेजप्रथा व बाल विवाह के खिलाफ में 16, 443 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाई गई। मुख्य कार्यक्रम का आयोजन पटना के गांधी मैदान में किया गया। मानव श्रृंखला को लेकर पटना समेत पूरे बिहार में जबरदस्त उत्साह दिखा। मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर, आरा, छपरा जैसे शहरों से लेकर गांव-गांव तक लोग सड़क पर खड़े होकर मानव श्रृंखला का हिस्सा बने। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और अन्य मंत्री पटना के गांधी मैदान पहुंचे। सीएम नीतीश कुमार का यह फ्लैगशिप कार्यक्रम जलवायु परिवर्तन और बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराइयों से लड़ने के लिए चलाया गया है। यहां नीतीश मानव श्रृंखला में खड़े हुए। उनके बाएं जल पुरुष के नाम से प्रसिद्ध राजेंद्र सिंह और दाएं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी खड़े हुए। पूरे कार्यक्रम की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कराई गई, जिसके लिए 15 हेलिकॉप्टरों पर फोटोग्राफर और वीडियोग्राफर तैनात किए गए थे। जो मानव शृंखला को अपने कैमरे में कैद कर रहे थे। इसके अलावा बाइक सवार वीडियोग्राफर ने भी वीडियो बनाया गया। गांव से लेकर शहर तक हर एक किलोमीटर पर एक वीडियोग्राफर को तैनात किया गया था।

पूरी दुनिया ने देखा पर्यावरण संरक्षण के लिए बिहार का मत: सीएम नीतीश

मानव शृंखला के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मानव शृंखला के जरिए पूरी दुनिया ने बिहार के मत को देखा है। लोगों ने जिस तरह इसका समर्थन किया है इससे मुझे बड़ी खुशी हुई। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के संरक्षण के लिए हमने जो काम किया है उसे लोगों का पूरा साथ मिला। पर्यावरण की स्थिति दिनों दिन खराब होती जा रही है। सीएम ने कहा कि अगर हम अभी सावधान नहीं हुई तो आने वाली पीढ़ी को भयंकर नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बिहार में जो स्थिति बन रही है। इस बात को लेकर कई महीने तक चर्चा की। बिहार विधानसभा और विधान परिषद के सभी सदस्यों को एक साथ बैठक के लिए आमंत्रित किया गया था। नीतीश ने कहा कि इस बैठक में जो बातें हुई उसके आधार पर जल-जीवन-हरियाली अभियान की शुरुआत की। जल और हरियाली के बीच जीवन है। जल है और हरियाली है तभी जीवन सुरक्षित है। यह अभियान हम निरंतर चलाएंगे।

12-01-2020
जब मुख्यमंत्री और राज्यपाल की टीम में हो गई रस्साकशी...

रायपुर। युवा महोत्सव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्यपाल अनुसुईया उइके के बीच रस्साकशी के खेल ने सबको चौंका दिया। पारम्परिक खेलों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य मुख्यमंत्री और राज्यपाल के बीच रस्साकशी के खेल में जोर आजमाईश हुई। रस्साकशी में कौन किस पर भारी पड़ा यह मायने नहीं रखता। रस्साकशी में मुख्यमंत्री और राज्यपाल की टीम में जोर आजमाईश प्रदेश में परम्परागत खेलों को बढ़ावा देने के लिए थी। रस्साकशी प्रतियोगिता में इस जोर आजमाईश में युवाओं का उत्साह देखते ही बन रहा था। राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में शामिल होकर युवाओं का उत्साहवर्धन किया।

12-01-2020
राजधानी में युवा महोत्सव का आगाज, राज्यपाल करेंगी उद्घाटन

रायपुर। राजधानी रायपुर के साईंस कालेज मैदान में आज 12 जनवरी से युवा महोत्सव की शुरुआत हो रही है। युवाओं में आयोजन को लेकर अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिल रहा है। प्रदेश के सभी जिलों से आये है कलाकार। दोपहर 12 बजे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अध्यक्षता में राज्यपाल अनसुइया उकई युवा महोत्सव का शुभारंभ करेंगी।

 

11-11-2019
कांग्रेस 14 नवंबर को मनाएगी पं. जवाहर लाल नेहरू की जयंती

रायपुर। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नहेरू की जयंती को बाल-दिवस के रूप में 14 नवंबर को पूरे उल्लास एवं उत्साह के साथ कांग्रेस द्वारा संगठन के हर स्तर पर समारोहपूर्वक मनाया जायेगा। शैलेश नितिन त्रिवेदी,महामंत्री एवं अध्यक्ष संचार विभाग,छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि इस अवसर पर प्रार्थना सभाएं, पं. नेहरू  की मूर्ति/चित्र पर मार्ल्यापण/पुष्पांजली अर्पित कर, संगोष्ठी गरीब मरीजों में फलों का वितरण एवं शालाओं में बच्चों को मिठाई वितरण आदि कार्यक्रम किया जायेगा। कार्यक्रमों में सांसद, पूर्व सांसद, पूर्व प्रत्याशी, विधायक, पूर्व विधायक, प्रत्याशी, मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ-विभाग के पदाधिकारियों, कार्यकतार्ओं, नगरीय-निकाय, त्रि-स्तरीय पंचायत राज के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों सहित सक्रिय वरिष्ठ कांग्रेसजन भाग लेंगे।

07-11-2019
भूपेश बघेल ने दी देवउठनी एकादशी की बधाई और शुभकामनाएं

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को देवउठनी एकादशी की बधाई और शुभकामनाएं दी है। बघेल ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि देवउठनी एकादशी को छत्तीसगढ़ में बहुत उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। देवउठनी एकादशी को देव उत्थान एकादशी, तुलसी विवाह, देवप्रबोधिनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन देव चार महीने सोने के बाद जागते हैं। इस दिन धूमधाम से भगवान शालीग्राम का तुलसी से विवाह किया जाता है। यह दिन शुभ और मंगलकारी माना गया है। हिन्दुओं में इसी दिन से सारे मांगलिक कार्यों की शुरूआत की जाती है। बघेल ने प्रार्थना की है कि एकादशी का त्यौहार सबके जीवन में शुभता और समृद्धि लेकर आए।  

22-09-2019
प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में शामिल हुए सीएम भूपेश बघेल, कहा- प्रदेश में नहीं मंदी का असर

रायपुर। राजधानी के प्रेस क्लब में रविवार को प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में सीएम भूपेश बघेल शामिल हुए। कार्यक्रम में सीएम बघेल ने कहा कि हमने जो वादे चुनाव के दौरान किए थे उन्हें पूरा करने में लगे है। आज देश में मंदी का दौर है वही छत्तीसगढ़ में इसको हमने रोकने का भरपूर प्रयास भी किया है। शिक्षित बेरोजगारी की दर में छत्तीसगढ़ में कमी आई है। जब देश आर्थिक मंदी से गुजर रहा है तब छत्तीसगढ़ में इसका असर बहुत कम है। आंकड़े बताते है की मंदी का असर छत्तीसगढ़ में नहीं के बराबर है। सीएम बघेल ने कहा कि हमने 2500 क्विंटल की दर से धान की खरीदी की उससे किसान की जेब में सीधे पैसा गया, जिससे उसे फायदा हुआ। सीएम भूपेश बघेल ने कार्यक्रम में पत्रकारों के सवालों के उत्तर दिए। अध्यक्ष दामू अंबाडारे ने सीएम बघेल को वरिष्ठ पत्रकारों के लिए शासन की ओर से दी जाने वाली सम्मान राशि बढ़ाए जाने पर धन्यवाद दिया और पत्रकारों की अन्य मांगों से अवगत कराया। कार्यक्रम में रायपुर उत्तर विधायक कुलदीप जुनेजा, रायपुर प. विधायक विकास उपाध्याय, महापौर प्रमोद दुबे, प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष अनिल पुसदकर सहित अन्य पदाधिकारी और बड़ी संख्या में पत्रकार उपस्थित थे।

 

गांधी जयंती से प्रारंभ किया जाएगा सुपोषण अभियान
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ और पर्यावरण को नया जीवन देने के लिए सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा और बारी के संवर्धन के कार्य किए जा रहे है। आज प्रदेश में कुपोषण एक बड़ी समस्या है इसके निजात के लिए प्रदेश के दूरस्थ और वनांचल क्षेत्रों में सुपोषण अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान को महात्मा गांधी की जयंती आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में प्रारंभ किया जाएगा। इसी तरह प्रदेश के दूरस्थ और वनांचल क्षेत्रों में लोगों तक सुगम स्वास्थ्य सेवाओं की प्रदायगी के लिए मुख्यमंत्री हॉट बाजार क्लिनिक योजना प्रारंभ की गई जिसका परिणाम यह हुआ कि इन क्षेत्रों के स्वास्थ्य केन्द्रों से दुगना ओपीडी हॉट बाजार क्लिनिक में आ रही है। लोग बाजार करने के साथ अपनी स्वास्थ्य जांच कराकर दवाएं आसानी से प्राप्त कर रहे है। सीएम बघेल ने कहा कि इस योजना को आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में लागू करने के साथ ही शहरी इलाकों के स्लम क्षेत्रों में भी प्रारंभ किया जाएगा ताकि झुग्गी बस्तियों में रहने वालों का स्वास्थ्य बेहतर हो सके। सार्वभौम पीडीएस के जरिए बीपीएल परिवारों के अलावा अब एपीएल परिवारों के भी राशन कार्ड बनाने का काम किया जा रहा है। एपीएल परिवारों को 10 रूपए प्रति किलों की दर से चावल प्रदान किया जाएगा। बीपीएल परिवारों के जब तक नए कार्ड नही बन जाते तब तक उन्हें पुराने कार्ड पर ही राशन मिलता रहेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारों के लिए राज्य सरकार ने सम्मान निधि को 5 हजार रूपए से बढ़ाकर 10 हजार रूपए कर दिया है। अधिमान्यता को राज्य और जिला से बढ़ाकर अब ब्लाक तक कर दिया गया है। इसके अलावा पत्रकारों के लिए चिकित्सा सुविधा के तहत अधिकत्तम सीमा 50 हजार से बढ़ाकर 2 लाख रूपए कर दिया गया है। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने के लिए न्यायाधीश की अध्यक्षता में गठित कमेटी द्वारा इस दिशा में कार्य किया जा रहा है।  

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804