GLIBS
09-01-2021
चोट के कारण टेस्ट सीरीज से बाहर हुए ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा, अंगूठा फ्रैक्चर होने के कारण नहीं खेल पाएंगे मैच

नई दिल्ली। भारत व ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच के दौरान टीम के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा चोटिल हो गए। स्कैन के बाद पता चला कि जडेजा का अंगूठा फ्रैक्चर हो गया है और अब वो इस टेस्ट सीरीज में आगे नहीं खेल पाएंगे। रवींद्र जडेजा का टीम से बाहर होना भारत के लिए बहुत ही बड़ा झटका है क्योंकि उनकी वजह से टीम बेहद संतुलित नजर आती थी।  सिडनी टेस्ट मैच के तीसरे दिन रवींद्र जडेजा के बाएं हाथ के अंगूठे पर मिचेल स्टार्क की बाउंसर से चोट लगी थी। हालांकि फीजियो ने तुरंत उनका इलाज किया तो उन्होंने बल्लेबाजी की लेकिन वो बाद में दूसरी पारी में फील्डिंग के लिए मैदान पर नहीं उतरे। बीसीसीआइ के एक सूत्र ने कहा कि इस इंजरी की वजह से वो क्रिकेट से दो से तीन सप्ताह तक दूर रह सकते हैं। सूत्र के मुताबिक जडेजा इस इंजरी की वजह से ग्लब्ज नहीं पहन सकते और ना ही सही से बल्ला पकड़ सकते हैं। बता दें कि सिडनी टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारतीय युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत भी बल्लेबाजी करते हुए चोटिल हो गए थे। रिषभ को पैट कमिंस के एक बाउंसर पर कोहनी में चोट लगी थी। उनकी चोट ज्यादा गंभीर नहीं है और वो बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतर सकते हैं। स्कैन के जरिए पता लगा कि रिषभ के बाएं एल्बो में लगी चोट ज्यादा गंभीर नहीं है और वो मैच के पांचवें दिन बल्लेबाजी कर सकते हैं। 

21-07-2020
आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में बेन स्टोक्स बने विश्व के नंबर वन टेस्ट ऑलराउंडर

नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के खिलाफ मैनचेस्टर टेस्ट में इंग्लैंड की जीत के नायक रहे स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स आईसीसी टेस्ट ऑलराउंडर की रैंकिंग में  नंबर वन पर पहुंच गए हैं। स्टोक्स ने ये उपलब्धि विंडीज टेस्ट टीम के कप्तान जेसन होल्डर को पछाड़ कर हासिल की। एंड्रयू फिलंटॉफ के बाद आईसीसी टेस्ट ऑलराउंडर्स की रैंकिंग में टॉप पर पहुंचने वाले बेन स्टोक्स पहले इंग्लिश खिलाड़ी हैं। स्टोक्स ने मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर खेले गए 3 मैचों की सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में कुल 254 रन बनाने के साथ 3 विकेट भी चटकाए थे। स्टोक्स के इस हरफनमौला प्रदर्शन से इंग्लैंड ने विंडीज को 113 रन से हराकर सीरीज में 1 -1  की बराबरी कर ली है। साउथैम्पटन टेस्ट में टीम की कप्तानी करने वाले बेन स्टोक्स को मैनचेस्टर टेस्ट में मैन ऑफ द मैच चुना गया।

स्टोक्स के 497 रेटिंग अंक हो गए हैं,जो जेसन होल्डर (459) से 38 अंक अधिक हैं। टेस्ट ऑलराउंडर्स की लिस्ट में तीसरे नंबर पर भारत के रविंद्र जडेजा हैं। जडेजा के 397 रेटिंग अंक है जबकि मिचेल स्टार्क 298 और रविचंद्रन अश्विन  281 रेटिंग अंक के साथ चौथे और 5वें नंबर पर हैं। इंग्लैंड के बल्लेबाज डॉम सिब्ले को भी शतकीय पारी खेलने का फायदा रैंकिंग में मिला है। सिब्ले ने मैनचेस्टर टेस्ट की पहली पारी में 120 रन बनाए थे। वह 29 पायदान उठकर 35वें नंबर पर पहुंच गए हैं। गेंदबाजों की रैंकिंग में स्टुअर्ट ब्रॉड ने भी चार स्थान उछलकर टॉप 10 में वापसी की है।

 

20-06-2020
गौतम गंभीर ने इस ऑलराउंडर खिलाड़ी को बताया विश्व का सर्वश्रेष्ठ फील्डर, कहा- आउट फील्ड में उनके जैसा कोई नहीं

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि ऑल राउंडर रवींद्र जडेजा विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ फील्डर हैं। क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर ने जडेजा की फील्डिंग की काफी तारीफ की। गंभीर का मानना है कि जडेजा वर्तमान समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डर हैं। गंभीर ने क्रिकेट कनेक्टेड कार्यक्रम में कहा, 'मुझे लगता है कि विश्व क्रिकेट में जडेजा से बेहतर फील्डर कोई नहीं है। हो सकता है कि वो स्लिप में और गली में फील्डिंग नहीं करते हैं, लेकिन थ्रो फेंकने के मामले में उनसे बेहतर कोई नहीं है। उन्होंने कहा उनके जैसा आउट फील्ड को कोई कवर नहीं करता। आप उन्हें चाहे प्वाइंट पर रखें या कवर में, आप उन्हें हर जगह फील्डिंग करते हुए पाएंगे। रवींद्र जडेजा, शायद विश्व क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ फील्डर हैं।  गौरतलब है कि आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में भी जडेजा को कुछ ही मौके मिले थे लेकिन उन मौकों का भरपूर फायदा उठाते हुए जडेजा ने बल्लेबाजी के साथ-साथ अपनी फील्डिंग से भी दिल जीते थे। दुनिया के सबसे बेहतरीन फील्डरों में से एक रहे दक्षिण अफ्रीका के महान फील्डर जोंटी रोड्स ने इससे पहले रवींद्र जडेजा को विश्व का सर्वश्रेष्ठ फील्डर बताया था।

06-03-2020
हार्दिक पंड्या की तूफानी बल्लेबाजी, 55 गेंदों में बनाए 158 रन

नई दिल्ली। भारतीय बल्लेबाज हार्दिक पंड्या ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से तहलका मचा दिया है। ऑलराउंडर पंड्या ने डीवाई पाटिल टी-20 कप में एक और शतकीय धमाका किया है। वो भी ऐसी वैसी पारी नहीं, उन्होंने 20 छक्कों से सजी नाबाद 158 रनों की करिश्माई पारी खेली है। डीवाई पाटिल टी20 कप के सेमीफाइनल में शुक्रवार को पंड्या ने रिलायंस वन की ओर से खेलते हुए बीपीसीएल के खिलाफ महज 55 गेंदों पर नाबाद 158 रन ठोक कर तहलका मचा दिया। नवी मुंबई में हार्दिक पंड्या की इस तूफानी पारी की बदौलत रिलायंस वन टीम ने 20 ओवरों में 4 विकेट खोकर 238 रन बनाए। पंड्या ने अपनी पारी में 20 छक्के उड़ाए, जबकि उनकी पारी में 6 चौके भी रहे। पंड्या ने इस पारी के दौरान दौड़ कर 14 रन लिये, बाकी सारे रन बाउंड्री (छक्के-चौके) से बरसे। चोट से वापसी करने वाले भारतीय हरफनमौला हार्दिक पंड्या ने इससे पहले मंगलवार को 39 गेंदों में 105 रनों की आतिशी पारी के बाद पांच विकेट भी चटकाए थे। पंड्या के इस शानदार प्रदर्शन से रिलायंस वन ने डीवाई पाटिल टी20 कप में नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) की टीम को 101 रनों के बड़े अंतर से हराया था।


 

18-09-2019
ऑलराउंडर दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट को कहा अलविदा

नई दिल्ली। 2003 वर्ल्ड कप में खेले क्रिकेट खिलाड़ी दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है। ऑलराउंडर दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया। मोंगिया सौरव गांगुली की कप्तानी वाली उस भारतीय टीम का हिस्सा थे, जो  2003 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हारते हुए उपविजेता रही थी। मोंगिया ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच मई 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। वह आखिरी बार मैदान पर 2007 में पंजाब के खिलाफ उतरे थे, इसके बाद उन पर इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) में खेलने की वजह से बीसीसीआई ने बैन लगा दिया था।

मोंगिया ने सर्वश्रेष्ठ बैटिंग तकनीक न होने के बावजूद घरेलू क्रिकेट में अपने लिए काफी नाम कमाया। उन्होंने अपना इंटरनेशनल डेब्यू मार्च 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे खेलते हुए किया था। उन्होंने वनडे में अपना उच्चतम स्कोर जिम्बाब्वे के खिलाफ मार्च 2002 में गुवाहाटी में सीरीज के आखिरी मैच में 159 रन की पारी खेलते हुए बनाया था। मोंगिया ने अपने वनडे करियर में 57 मैच खेले और 27.95 की औसत से 1230 रन बनाए, जिसमें एक शतक और चार अर्धशतक शामिल हैं। लेकिन वह भारत के लिए कोई टेस्ट मैच नहीं खेले, जबकि भारत के लिए एकमात्र टी20 दिसंबर 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला। पंजाब के लिए अपने 121 प्रथम श्रेणी मैचों में मोंगिया ने 48.95 की औसत से 8028 रन बनाए, जिनमें 27 शतक और 28 अर्धशतक शामिल हैं। साथ ही मोंगिया काउंटी क्रिकेट में लैंकशर और लीसेस्टरशर के लिए भी खेले। आईसीएल बैन की वजह से मोंगिया का क्रिकेट से नाता टूट गया। आईसीएल से जुड़ने वाले ज्यादातर क्रिकेटरों को बोर्ड ने माफ कर दिया था,लेकिन मोंगिया को माफी नहीं मिल पाई। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804