GLIBS
30-06-2020
ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार बुजुर्ग की मौत, एक घायल

आरंग। ग्राम पारागांव में सोमवार की दोपहर 3 बजे निसदा मोड़ के पास हुए सड़क हादसे में एक बुजुर्ग की मौत हो गई। इस घटना के बारे में आरंग थाना प्रभारी एल.डी. दीवान ने बताया कि ग्राम निसदा के रहने वाले चंदूलाल साहू और भगवानी निषाद घर के लिए सामान खरीदने के लिए मोटर सायकल क्रमांक CG 06 GA 4159 से आरंग आए हुए थे। इसके बाद वे अपने गांव निसदा वापस जा रहे थे कि पारागांव में निसदा मोड़ हाइवे पर मुड़ते समय इट से लदे हुए तेज रफ्तार ट्रैक्टर ने बाइक को अपने चपेट में ले लिया और सड़क किनारे अनियंत्रित होकर पलट गया। घटना के बाद टैक्टर चालक मौके से फरार हो गया।

हादसे में बाइक के पीछे बैठे बुजुर्ग चंदूलाल के सिर का हिस्सा हाइवे में बिखर गया। मौके पर ही उनकी मौत हो गई और बाइक चालक भगवानी निषाद गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के बाद घायल को तत्काल आरंग के सरकारी हॉस्पिटल लाया गया जहां उनका इलाज चल रहा है। मृतक के बेटे के रिपोर्ट पर आरंग पुलिस ने घटना में फरार आरोपी ट्रैक्टर चालक के खिलाफ आईपीसी की धारा 279, 304(A) और 337 के तहत अपराध दर्जकर उसकी तलाश कर रही है और मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।

16-04-2020
नशीली दवाईयों के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, ग्राहक की कर रहे थे तलाश

कोरबा। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए जिले मे धारा 144 लागू है। लॉक डाउन की स्थिती में शराब दुकाने भी बंद है। सूचनाएं मिल रही थी कि कुछ नशे के आदी लोग नशा करने के लिए शराब नहीं मिलने पर नशीली दवाईयों का सेवन कर रहे है। इसके संबंध में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने नशीली दवाओं के तस्करों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देशित किया गया है। निर्देशों के परिपालन में कोतवाली पुलिस ने उक्त सूचना को मुखबीर के माध्यम से पुख्ता किया। पुलिस को मुखबिर स्व सूचना मिली कि दो युवक मोटर सायकल में एक बैग रखे हुए है, जिसमें बड़ी मात्रा में नशीली दवाएं है वे ग्राहक तलाश रहे हैं।

सूचना पर तत्काल वैधानिक कार्यवाही करते हुए पुलिस टीम ने मौके पर छापामार कार्रवाई की। दो युवक मोटर सायकल हीरो होण्डा स्प्लेण्डर प्लस क्रमांक सीजी 12 एन 2026 में मिले, जिनके पास एक बैग बरामद हुआ। आरोपियों से पूछताछ करने पर अपना नाम पता नरेन्द्र भारिया गोपालपुर भाठापारा थाना दरीं कोरबा, कोमल राठौर (लाटा) थाना दरीं कोरबा बताया तथा यह भी बताया कि नशीली  दवाईयाँ ये लोग जांजगीर जिले से लाते है। जिसे कोरबा, दरी, बालको व आसपास के क्षेत्र में खपाते हैं। वैधानिक कार्यवाही करते हुए बैग की तलाशी लिए जाने पर बैग में मनोत्तेजक दवाई के 8 डिब्बे जिनमें कुल 1816 कैप्सूल थे। आरोपियों के कब्जे से बरामद किए गए। जो आरोपियों द्वारा नशीली दवाईयों के संबंध में कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने पर आरोपियों के खिलाफ धारा 22 बी एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में ले लिया गया है।

13-11-2019
पुलिस ने अंतरराज्यी गिरोह से पकड़ा लाखों के नशीली दवाइयों का जखीरा

सूरजपुर। सूरजपुर पुलिस नशीली दवाईयों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही कर रही है, जिसके तहत् सूरजपुर पुलिस टीम के द्वारा 25 लाख कीमत के नशीली दवाई, 1 बाइक सहित 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। सूरजपुर जिले में पदस्थापना के बाद से ही पुलिस अधीक्षक सूरजपुर राजेश कुकरेजा ने नशीली दवाईयों के धंधे में लिप्त राज्यी एवं अंतरराज्यी लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने के लिए थाना-चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया था। इसी तारतम्य में गत् 11 नवम्बर को बसदेई पुलिस को सूचना मिली थी कि माड़ा मध्यप्रदेश से पटना जिला कोरिया निवासी गंगा प्रसाद साहू अपने 2 साथी राजेन्द्र गोड़ एवं पारस गोंड़ के साथ मोटर सायकल क्रमांक सीजी 16 सीबी 6310 में अवैध रूप से नशीली दवाईयां लेकर आ रहे हैं। पुलिस टीम ने ग्राम कुसमुसी के पास घेराबंदी की। 4 घंटे के लम्बे इंतजार के बाद ओड़गी की ओर से एक मोटर सायकल आते दिखी, जिसे रूकवाने पर मोटर सायकल के चालक ने वाहन को तेज गति से चलाकर भागने लगे, जिसे पुलिस टीम ने पीछा कर घेराबंदी कर पकड़ा।

वाहन में सवार तीनों से नाम पता पूछने पर अपना-अपना नाम 1. गंगा प्रसाद साहू पिता उदय भान साहू उम्र 36 वर्ष ग्राम रनई, थाना पटना, जिला कोरिया 2. राजेन्द्र गोंड़ पिता कामेष्वर सिंह उम्र 27 वर्ष निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया 3. पारस गोंड़ पिता जगदीश गोंड़ उम्र 22 वर्ष निवासी ग्राम चम्पाझर, थाना पटना जिला कोरिया को होना बताए। तलाशी लिए जाने पर तीनों के कब्जे से एक जूट के बोरा में ओनरेक्स कफ सिरप 95 नग, एविल इंजेक्शन 136 नग, सिंप्लेक्स सी प्लस कैप्सूल 1728 नग, पाइवोन स्पास प्लस कैप्सूल 1536 नग, अल्प्राजोलम टेबलेट 600 नग, स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 144 नग एवं रेक्सोजैसिक इंजेक्शन 40 नग जप्त कर तीनों व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया।

नशीली दवाईयां के संबंध में आरोपियों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा उक्त नशीली दवाईयों को माड़ा मध्यप्रदेश के शिवम मेडिकल के संचालक मिथलेश शाह से खरीदना बताया और यह भी बताया कि मेडिकल संचालक मिथलेश शाह भारी मात्रा में अवैध नशीली दवाईयों का भण्डारण अपने मेडिकल स्टोर में करके रखता है,जिससे कई बार नशीली दवाईयां खरीदकर उसे जिला कोरिया के पटना तथा आसपास के क्षेत्रों में नशेड़ी प्रवृत्ति के लोगों को ऊंची कीमत पर बेचते थे। नशे की सामग्री दूसरे राज्य से लाकर क्षेत्र में खपाने, युवा वर्ग को इसकी लत में बचाने तथा इस कारोबार को जड़ से उखाड़ फेंकने की मुहिम के तहत् पुलिस अधीक्षक ने जिले की पुलिस टीम को कार्यवाही के लिए माड़ा मध्यप्रदेश भेजने की रणनीति बनाई और टीम को दिगर राज्य भेजने के लिए पुलिस सरगुजा आईजी से अनुमति प्राप्त किया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में एसआई अजहरूद्दीन, चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह सहित अन्य पुलिस कर्मचारियों की टीम गठित कर तत्काल माड़ा मध्यप्रदेश रवाना कर जिले की पुलिस टीम को सहयोग प्रदान करने के लिए सिंगरौली मध्यप्रदेश के पुलिस अधीक्षक अभिजीत सिंह रंजन से दूरभाष पर चर्चा की। सूरजपुर की पुलिस टीम माड़ा जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश पहुंची और थाना प्रभारी माड़ा अभिमन्यु द्विवेदी की टीम के साथ माड़ा स्थित शिवम मेडिकल स्टोर पहुंचकर रेड कार्यवाही की गई। पुलिस ने मेडिकल संचालक मिथलेश शाह एवं उसके कर्मचारी बोलबम शाह के कब्जे से अल्प्रोकेन टेबलेट 30 हजार 2 सौ नग, सिंटलेक्स सी प्लस कैप्सूल 11 हजार 2 सौ नग, ट्रीडोल 50 कैप्सूल 3 हजार 3 सौ नग, लेबोरेट इंजेक्शन 40 नग स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 4 हजार 7 सौ 52 नग, एविल इंजेक्शन 750 नग जप्त की गई।

पुलिस के द्वारा दोनों स्थानों से जप्त की गई नशीली दवाईयों की बाजारू कीमत करीब 25 लाख रूपये है। मामले में पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत् कार्यवाही करते हुए पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। भारी मात्रा में जब्त की गई नशीली दवाईयों के संबंध में आरोपी मिथलेश शाह से पूछताछ की गई,जो उसने बताया कि नशीली दवाईयों को कम कीमत पर बड़े शहरों सागर, कटनी व रीवां से लाकर अपने मेडिकल स्टोर में बेचने के लिए रखता था और ज्यादा पैसा कमाने के नियत से अवैध नशीली दवाई को छत्तीसगढ़ के छोटे व्यापारियों को ही ऊंचे दर पर बिक्री कर लाभ अर्जित करता था। मेडिकल स्टोर संचालक अब तक केवल छत्तीसगढ़ के व्यापारियों को ही अवैध नशीली दवाईयों को बिक्री करता था साथ ही वह मेडिकल स्टोर की आड़ में नशे का कारोबार कर पुलिस से बचता रहा। जिसकी सूचना पुलिस अधीक्षक को मिलने पर उन्होंने पहली बार दिगर राज्य पुलिस टीम को भेजने की योजना बनाई। मध्यप्रदेश के माड़ा कस्बे में सूरजपुर पुलिस के द्वारा अवैध नशीली दवाईयां पर कार्यवाही करते देख अन्य मेडिकल स्टोर संचालकों में खलबली मची हुई है तथा वहां के आमजनों के द्वारा दूसरे राज्य से आकर कार्यवाही करता देख सूरजपुर पुलिस की प्रशंसा की गई।

इन नशीली दवाओं को पुलिस ने किया जब्त                  

पुलिस ने 22660 नग कैप्सूल, 30800 नग टेबलेट, 966 नग इंजेक्शन एवं 95 नग कफ सिरप कुल 54 हजार 5 सौ 21 नग नशीली दवाईयां जप्त किया है जिनमें ओनरेक्स कफ सिरप 95 नग, एविल इंजेक्शन 886 नग, रेक्सोजैसिक इंजेक्शन 40 नग, लेबोरेट इंजेक्शन 40 नग, ट्रीडोल 50 कैप्सूल 3300 नग, सिंप्लेक्स सी प्लस कैप्सूल 12928 नग, पाइवोन स्पास प्लस कैप्सूल 1536 नग, स्पास ट्रानकन प्लस कैप्सूल 4896 नग, अल्प्राजोलम टेबलेट 600 नग एवं अल्प्रोकेन टेबलेट 30200 नग है,जिसकी बाजारू कीमत करीब 25 लाख रूपये है।

मेडिकल स्टोर संचालक के द्वारा जिन बड़े शहरों के संस्थानों से नशीली दवाईयों को लाया जाता है उन संस्थानों के विरूद्व पृथक से उचित कार्यवाही की जाएगी। पुलिस ने इन नशीली दवा कंपनी के विरूद्व उचित कार्यवाही व नियंत्रण के लिए राज्य एवं केन्द्र सरकार को पत्राचार किया जा रहा है कि इनके वितरण में पर्याप्त नियंत्रण रखी जावे, प्रतिबंधित दवा शहरी दुकानों में भेजे जाने के बाद वह छोटे-छोटे कस्बे के दुकानों में चली जाती है। आपको बता दें कि यह पहला मामला है कि सूरजपुर की पुलिस मध्यप्रदेश में जाकर नशे के कारोबार करने वाले मेडिकल स्टोर में रेड़ कार्यवाही कर भारी मात्रा में नशीली दवाईयों को बरामद किया है। उक्त कार्यवाही में एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में हुई जिसमें एसआई अजहरूद्दीन, चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, हंसराम कनेडिया, आरक्षक अमरेन्द्र दुबे, जितेन्द्र पटेल, देवदत्त दुबे, महेन्द्र प्रताप सिंह, प्रदीप साहू, महेन्द्र यादव, थामस मिंज, जयप्रकाष सिंह, रामनारायण सोनवानी, राकेश बंजारे, मोहन रजक, प्रदीप जायसवाल, महिला नगर सैनिक रीमा गुप्ता सक्रिय रहे।

11-10-2019
शरारती तत्वों का आतंक, दो बाइक को किया आग के हवाले

 

रायपुर। राजधानी में शरारती तत्वों ने घर के बाहर खड़ी 2 मोटर सायकल को आग लगा दी। इसके कारण दोनों मोटरसाइकिल बुरी तरह से जल गई। घटना की रिपोर्ट खमतराई थाने में दर्ज की गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सन्यासीपारा खमतराई निवासी शरद बाबू ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि प्रार्थी 8 अक्टूबर को मोटर सायकल डिसकवर सीजी 04 सी एक्स 3416 एवं होण्डा ड्रीम युगा क्रमांक सीजी 04 एच क्यू 3396 को रात 11 बजे घर के पास रोड किनारे खड़ी 2 बाइक को चैन से बांधकर घर के अंदर आ गया। इसके बाद दोनों मोटर सायकल में डेढ़ बजे आग लगने की सूचना पड़ोसी रघु मोहन ने दी। घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज की गई है। पुलिस ने जांच में पाया कि शरद बाबू की मोटरसाइकिल डिस्कवर व होंडा ड्रीम युगा को किसी ने जानबुझकर लगा दिया। इसके चलते प्रार्थी को करीब 50 हजार रुपये का नुकसान हुआ। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 435 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804