GLIBS
23-10-2019
ताम्रध्वज साहू ने पुलिस एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की ली बैठक

महासमुन्द। गृह, जेल, लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बुधवार जिला पंचायत के सभाकक्ष में गृह विभाग सहित लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों की संयुक्त रूप से बैठक ली। गृहमंत्री साहू ने पुलिस विभाग के अधिकारियों से कहा कि आम नागरिकों को आसानी से पुलिस प्रशासन का सहयोग मिले इसके लिए जिले के पुलिस चौकी एवं थानों का परिसीमन करें। उन्होंने कहा कि जिन पुलिस चौकी का थाना के लिए उन्नयन किया जाना है, उसकी सूची उपलब्ध कराए। इसके अलावा जहां नये थाने खोले जाने है, उनके भी प्रस्ताव प्रस्तुत करें। उन्होंने जिले में हो रहे अपराधों जैसे गांजा, अवैध शराब, नशा, सट्टा, को कम करने के लिए कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर, खल्लारी विधायक द्वारिकाधीश यादव एवं सरायपाली विधायक किस्मतलाल नन्द विशेष रूप से उपस्थित थे। गृहमंत्री साहू ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि जिस थानों के अंतर्गत जुआ, सट्टा सहित नशा एवं अन्य अपराध अधिक होने की सूचना मिलेगी, वहां के संबंधित थाना प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। थाना प्रभारी अपने क्षेत्रों में नशें पर प्रतिबंध लगाने के लिए कार्रवाई करें। उन्होंने पुलिस वालों के कार्यों की अधिकता को देखते हुए उनके शारीरिक एवं मानसिक तनाव को दूर करने तथा सेहत को ध्यान में रखकर उन्हें योगा एवं तनाव प्रबंधन के कोर्स कराने के लिए कहा, ताकि उनके मानसिक तनाव दूर हो सके। साथ ही पुलिस परिवार के महिलाओं तथा बच्चों के पढ़ाई-लिखाई, स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखें। महिलाओं के स्व-सहायता समूह बनाकर सिलाई-कढ़ाई, बुनाई इत्यादि का प्रशिक्षण भी दिलाया जाए। शहर में यातायात कन्ट्रोल के लिए यातायात पुलिस वालो के लिए चौक-चौराहों पर शेड निर्माण करे, जिससे की वे सुरक्षित रहकर ड्यूटी कर सके। उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए पुलिस आवास की व्यवस्था के लिए नये आवास निर्माण हेतु प्रस्ताव बनाकर देने को कहा है। इसके अलावा मरम्मत योग्य पुराने आवासों का मरम्मत करने के निर्देश दिए है। पुलिस विभाग के कर्मचारियों के कल्याण के लिए विकासखण्डों में पुलिस पेट्रोल पम्प खोलने के लिए जगह का चिन्हांकन करें। थानों में महिलाओं के दहेज, टोनही, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजातियों पर किए गए अत्याचार के संबंध में शिकायत के आने पर उनकी अच्छी तरह से तस्दीक करें, फिर कार्रवाई करें।

बैठक मे गृहमंत्री साहू ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले में प्राथमिकता के अनुरूप सड़कों के गड्ढे भराव का कार्य कराए। सड़क मरम्मत के कार्य प्रारंभ कराए तथा नये सड़क एवं पुल-पुलियों के लिए प्रस्ताव बनाकर शीघ्र प्रेषित करें, ताकि उन्हें बजट में शामिल कर स्वीकृति दी जा सके। उन्होंने विभाग के अधिकारियों से कहा कि जिन सड़कों का मरम्मत या नये सड़क निर्माण कार्य करने की कार्रवाई की जा रही है, उनकी जानकारी संबंधित विधायकों को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराए। जिले में हो रही सड़क दुर्घटनाओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारी ऐसे ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन कर दुर्घटना रोकने के लिए ठोस उपाय करें। इस संबंध में लोक निर्माण के अधिकारियों ने बताया कि सड़कों के गड्ढे भराने का कार्य कराए जा रहे है, तथा मरम्मत के कार्य भी हो रहे है। इस अवसर पर कलेक्टर सुनील कुमार जैन, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. रवि मित्तल, लोक निर्माण विभाग रायपुर के अधीक्षण अभियंता एम.एल.उइके सहित पुलिस एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारीगण  उपस्थित थे। 

14-09-2019
मुझे वीआईपी सुविधा नहीं, माफी चाहिए : विधायक विनोद चन्द्राकर

महासमुन्द। महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर पर महिला कर्मचारी का आरोप लगाने वाले एयर इंडिया के कर्मचारी शनिवार दोपहर 12 बजे पहुंच कर उन्होंने वीआईपी मेहमान बनाने का ऑफर लेकर पहुंचे थे। लेकिन विधायक ने एयर इंडिया के इस वीआईपी ऑफर को अस्वीकार करते हुए, दो टूक कहा कि जैसे एयर इंडिया ने मुझे अपमानित किया है उसकी तरह वह माफी मांग ले फिर कोई बात नहीं। मुझे ना तो एयर इंडिया का वीआईपी सुविधा चाहिए ना ही मुझे इसकी दरकार है। गौरतलब है कि 7 सितम्बर को महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर अपने साथियों के साथ बाबाधाम एयर इंडिया की विमान से जाने एयरपोर्ट रायपुर पहुंचे थे। एयर इंडिया के एक महिला कर्मचारी ने विधायक को रोक लिया और कहा कि आप निर्धारित समय से पहुंचे नहीं है इसलिए आप ये सफर नहीं कर सकेंगे। विधायक और महिला कर्मचारी के बीच इसी बात को लेकर कुछ बातचीत हो गई। मामला मीडिया तक पहुंचा और एयर इंडिया के अधिकारियों द्वारा यह बात कही गई थी कि महासमुन्द विधायक विनोद चन्द्राकर एयरपोर्ट देर से पहुंचे थे इसलिए एयर इंडिया की महिला कर्मचारी ने उन्हें रोक दिया इस बात को लेकर विधायक नाराज हुए और महिला कर्मचारी के साथ र्दुव्यवहार किया यहां तक की महिला कर्मचारी का मोबाइल विधायक ने छीन लिया था। मीडिया ने जब विधायक चन्द्राकर से पूछा तो उन्होंने मामले को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि मैंने नहीं एयर इंडिया की महिला कर्मचारी ने मुझसे र्दुव्यवहार कर मुझे अपमानित किया है साथ ही विधायक ने कहा कि मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं। एयर इंडिया अपने सीसीटीवी फूटेज की जांच करा ले दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। मीडिया में समाचार छपने से पहले ही विधायक चन्द्राकर ने मामले की शिकायत एयर इंडिया के चीफ ऑफ आथोरिर्टी से शिकायत की थी। एयर इंडिया के दो अधिकारी शनिवार विधायक निवास पहुंच थे और उन्होंने विधायक विनोद चन्द्राकर को ऑफर देते हुए कहा कि आपके साथ, जो हुआ है वह उसकी रिपोर्ट सीसीटी हमने अपने ऊपर के अधिकारियों को भेंज दी है। आप मामले को यहीं समाप्त कर दीजिए। एयर इंडिया आपको अपना वीआईपी सुविधा देगा और आपकी टिकट की कीमत भी लौटा दी जायेगी। मीडिया ने जब एयर इंडिया के कर्मचारियों से मामले में पूछताछ की तो उन्होंने मीडिया को कहा कि हम किसी तरह से मीडिया को बयान नहीं दे सकते हैं हमने अपनी रिपोर्ट अपने उच्च अधिकारियों को भेज दी है। उच्चाधिकारियों के ही कहने पर हम विधायक से मिलने आये हैं। विधायक विनोद चन्द्राकर ने एयर इंडिया के कर्मचारियों को मीडिया के सामने कहा है कि एयर इडिया मामले में माफी मांगे। वरना मैं मानहानि का दावा ठोकने तैयार हूं। आप अपने उच्चाधिकारियों को इस बात की जानकारी दे दें।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804