GLIBS
16-03-2020
अब कांकेरवासी भी ले सकेंगे छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का मज़ा, गार्डन में बनेगा गढ़कलेवा

कांकेर। जिला मुख्यालय कांकेर के नया बस स्टैण्ड के सामने स्थित गार्डन में गढ़कलेवा की स्थापना की जाएगी, जहां पर लोगों को छत्तीसगढ़ी व्यंजन का आनंद उठाने का मौका मिलेगा। जिले के कलेक्टर केएल चौहान ने सोमवार को अधिकारियों के साथ गढ़कलेवा संचालित करने के लिए उपयुक्त स्थल का चयन करने के लिए शहर के विभिन्न स्थलों जैसे-घड़ी चौक,डंडिया तालाब के पास चौपाटी स्थल और नया बस स्टैण्ड के सामने स्थित गार्डन का अवलोकन करने के बाद गढ़कलेवा संचालन के लिए नया बस स्टैण्ड के गार्डन का चयन किया गया। निरीक्षण के दौरान कांकेर के एसडीएम उमाशंकर बंदे,आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त विवेक दलेला, मुख्य चिकित्सा एव स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जेएल उईके,महिला एवं बाल विकास अधिकारी सीएस मिश्रा, आकांक्षी जिला फेलो अंकित पिंगले एवं नेहा सिंह भी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि गढ़कलेवा में छत्तीसगढ़ी व्यंजन जैसे, दाल-भात,रोटी,सब्जी,चिला रोटी,ठेठरी, खुर्मी,फरा,अरसा,लडडू,रखिया बरी,कोंहड़ा बरी,मुरई बरी,उड़द दाल,मूंग दाल और साबूदाना के पापड़,मसाला युक्त मिर्ची,बिजौरी, लाइ बरी सहित मड़िया पेज एवं अन्य छत्तीसगढ़ी व्यंजन उपलब्ध होंगे।

 

07-02-2020
राजधानी में कृषि मेला 23 से, छत्तीसगढ़ी व्यंजन होंगे मुख्य आकर्षण

रायपुर। राजधानी में 23 से 25 फरवरी तक कृषि मेले का आयोजन किया जाएगा। तीन दिवसीय चलने वाला यह मेला राजधानी के तुलसी बाराडेरा स्थित फल सब्जी उपमंडी प्रांगण में होगा। इस मेले में किसानों के सामानों और छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के स्टॉल लगाए जाएंगे। इस तीन दिवसीय आयोजन में शामिल होने वाले लोग इन व्यंजनों का आनंद उठा सकेंगे। दर्शनी के स्टॉल आम नागरिकों और किसानों के लिए सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुले रहेंगे। बता दें कि प्रदेश में कई तरह के उद्यानिकी और कृषि फसलों का उत्पादन प्रचुर मात्रा में हो रहा है। खरीफ फसलों में मुख्य रूप से धान, मक्का, अरहर, उड़द, सोयाबीन की खेती की जाती है। रबी फसलों में मुख्य रूप से इमली, चिरौंजी, महुआ के बीज और लाख जैसे कई तरह के औषधीय गुणों से युक्त वनोपज का उत्पादन हो रहा है।

07-01-2020
फिल्म सिटी और नीति बनाने के काम में तेजी लाएं: भगत

रायपुर। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने अधिकारियों की बैठक में संस्कृति विभाग के कामकाज की समीक्षा की। मंत्री भगत ने कहा कि वे प्रत्येक माह विभाग के काम-काज की समीक्षा करेंगे। अमरजीत भगत ने अधिकारियों से कहा कि छत्तीसगढ़ी भाषा, संस्कृति और परम्परा को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ में फिल्म सिटी बनाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि फिल्म सिटी और फिल्म नीति बनाने के काम में तेजी लाएं। साथ ही छत्तीसगढ़ी फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उसके सहयोगी संस्थान जैसे कला केन्द्र, संगीत स्कूल, अभिनय, वादन,गायन, लाइटिंग, साउंड आदि की ट्रेनिंग की सुविधाएं भी यहां होनी चाहिए ताकि कलाकारों को प्रदेश से बाहर प्रशिक्षण के लिए न जाना पड़े। अमरजीत भगत ने पुरखौती मुक्तांगन में विद्युतीकरण का काम क्रेडा से कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुरखौती मुक्तांगन में विद्युतीकरण शीघ्र किया जाए। साथ ही जो निर्माण कार्य किया जाना उसे भी तत्काल शुरू करें। उन्होंने कलाकारों को शेष भुगतान को शीघ्र कराने के निर्देश दिए। मंत्री भगत ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों सहित मंत्रालय एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों में गढ़ कलेवा शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने गढ़ कलेवा खुलवाने के काम को जल्दी से जल्दी कराने के निर्देश दिए। अमरजीत भगत ने कहा कि गढ़ कलेवा खुल जाने से प्रदेश के गांवों से आने वाले लोगों को कम पैसे में स्वादिष्ट छत्तीसगढ़ी व्यंजन उपलब्ध हो सकेगा। 

 

15-11-2019
युवा महोत्सव के आयोजन को लेकर एसडीएम ने ली बैठक

कोरिया। युवा महोत्सव विकास खण्ड बैकुंठपुर में आयोजित किए जाने के लिए आवश्यक बैठक एसडीएम बैकुंठ पुर के द्वारा आयोजित की गई। बैठक में महाविद्यालय के प्राचार्य, विद्यालयों के प्राचार्य, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी, एन एस एस प्रभारी, शैक्षिक समन्वयक, नेहरू युवा केन्द्र, आईसेक्ट प्रभारी आदि शामिल हुए। बैठक में एसडीएम ने कहा कि आयोजन को भव्य बनाने हेतु अधिक से अधिक युवाओं को अवसर मिले, यह हम सभी का प्रयास होना चाहिए। इसके कोटवार के माध्यम से मुनादी कराया जाएगा। सभी महाविद्यालय के युवा भाग ले यह जिम्मेदारी संबंधित प्राचार्य की होगी। शैक्षिक समन्वयक अपने क्षेत्र के प्राचार्य गणों को आयोजन की जानकारी देकर युवा महोत्सव में शामिल होने की जानकारी प्रदान करेंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के स्टाल भी लगाए जाएंगे। उद्दानिकी विभाग द्वारा विद्यालयों को पौधे भी वितरित किए जाएंगे। कार्यक्रम में शामिल होने वाले युवाओ को 20 नवंबर को सुबह 10 बजे तक पंजीयन कराने का अवसर दिए जाने के निर्देश भी एसडीएम द्वारा दिए गए।ज्ञात हो कि विकास खण्ड स्तर पर चयनित प्रतिभागियों को जिला स्तर पर 12 दिसम्बर को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा।जिले स्तर पर चयनित प्रतिभागियों को राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में भाग लेने का अवसर मिलेगा।

19-10-2019
मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने ख़रीदे दीये

रायपुर। छत्तीसगढ़ माटिकला बोर्ड द्वारा दीपावली के अवसर पर डिजाइनर दीये, थाली कटोरी का प्रदर्शनी लगाई गई। शहर ज़िला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया की प्रदर्शनी में रायपुर के गौठानों के गोबर से निर्मित दीये रायपुर बिहार के स्वसहायता समूह द्वारा निर्मित छत्तीसगढ़ी व्यंजन की प्रदर्शनी लगाई गई थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने भी मिट्टी के दीये ख़रीदे। यह प्रदर्शनी तेलीबांधा तालाब के किनारे मरीन ड्राइव में लगी थी।

 

19-10-2019
भूपेश बघेल ने खरीदे दीये, गोबर के दीयों से रोशन होगा मुख्यमंत्री निवास

रायपुर। इस दीवाली गौठान के गोबर के दीयों से रोशन होगा मुख्यमंत्री निवास। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को बस्तर प्रवास से लौटने के बाद दीपावली की खरीदी करने सीधे राजधानी रायपुर के तेलीबांधा तालाब पहुंचे। यहां परिक्रमा पथ पर छत्तीसगढ़ माटीकला बोर्ड, छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड, छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन-बिहान और देवभोग के स्टॉल लगाए गए हैं। इन स्टॉलों में छत्तीसगढ़ के कुम्हारों, हस्तशिल्पियों, स्व सहायता समूह की महिलाओं एवं अन्य कारीगरों द्वारा बनाये गए दीये, सजावट की वस्तुएं, उपहार, छत्तीसगढ़ी व्यंजन सहित अन्य सामग्रियां प्रदर्शन और विक्रय के लिए रखी गयी हैं। बिहान के स्टॉल में महिला समूहों द्वारा गौठानों के गोबर से बनाए गए दीये और अन्य सजावटी वस्तुएं खरीददारी के लिए उपलब्ध हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने यहां पहुंचकर दीपावली के लिए मिट्टी और गौठानों के गोबर से बने दीये, देवभोग द्वारा उत्पादित मिठाइयां तथा दूध से बनी अन्य सामग्री, महिला समूहों द्वारा तैयार छत्तीसगढ़ी व्यंजन के साथ अन्य वस्तुओं की खरीदी की। उन्होंने महिला समूहों और कारीगरों से सामग्रियों के निर्माण के सबंध में जानकारी भी ली और उनका उत्साहवर्धन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर पाटन के कुम्हारों द्वारा निर्मित 5 हजार दीये भी उपस्थित लोगों को वितरित किये।


     

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से दीपावली सहित अन्य त्यौहारों के समय में छत्तीसगढ़ के कुम्हारों, हस्तशिल्पियों, बुनकरों एवं अन्य कारीगरों द्वारा बनाये गए दीये, वस्त्र, सजावट की वस्तुएं, उपहार एवं अन्य सामग्री की अधिकाधिक खरीदी करने की अपील की है। लोगों के इस छोटे से प्रयास से इन छोटे-छोटे कामों में लगे राज्य के लाखों लोगों के जीवन में खुशियां आ सकेंगी। इस अवसर पर रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, विधायक कुलदीप जुनेजा, कलेक्टर रायपुर डॉ. एस भारतीदासन, जिला पंचायत के सीईओ डॉ गौरव कुमार सिंह सहित बड़ी संख्या में शहरवासी उपस्थित थे।

09-09-2019
खाद्य मंत्री भगत ने किया नवीन राशनकार्ड का वितरण

रायपुर। खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत आज कोरिया जिले के चिरमिरी स्थित मंगल भवन में आयोजित राशनकार्ड वितरण में शामिल हुए। इस मौके पर उन्होंने हितग्राहियों को नवीन राशन कार्ड प्रदान किया। भगत ने बरतुंगा चिरमिरी में अर्जुन देव के पुराने शिलालेखों की देखरेख और संरक्षण के लिए 15 लाख रुपए स्वीकृत करने की घोषणा की। उन्होंने राजधानी रायपुर के घासीदास संग्रहालय में संचालित गढ़कलेवा के तर्ज पर चिरमिरी में भी गढ़कलेवा शुरू किया जाएगा जहां पर क्षेत्र के लोग छत्तीसगढ़ी व्यंजन का स्वाद ले सकेंगे।  भगत ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में नई-नई जनकल्याणकारी योजनाएं शुरू की गई हैं । प्रदेश में बीपीएल के साथ-साथ एपीएल के परिवारों को भी चावल देने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए सभी को नवीन राशनकार्ड बनाकर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सभी को समान रूप से विकास का अवसर मिलेगा। भगत ने अधिकारियों को सभी हितग्राहियों को समय सीमा में राशनकार्ड वितरण करने के निर्देश दिए। कार्यक्रम को सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक गुलाब कमरो, मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल, नगर पालिक निगम चिरमिरी के महापौर के. डोमरू रेड्डी ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष कलावती मरकाम सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि और नागरिक मौजूद थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804