GLIBS
15-05-2021
16 मई को भूपेश बघेल अरपा उत्थान एवं तट संवर्धन कार्य का करेंगे शिलान्यास

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 16 मई को बिलासपुर में 93 करोड़ 70 लाख रुपए की लागत के अरपा उत्थान एवं तट संवर्धन कार्य का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री निवास कार्यालय रायपुर में सुबह 12 बजे यह वर्चुअल कार्यक्रम होगा। बिलासपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम की अध्यक्षता गृहमंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू करेंगे। विशिष्ट अतिथि के तौर पर नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के मंत्री डॉ.शिवकुमार डहरिया वर्चुअल रूप से जुड़ेंगे। बिलासपुर में जल संसाधन विभाग के प्रार्थना सभा कक्ष में आयोजित कार्यक्रम में अतिथि के रूप में सांसद अरूण साव, संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह, महापौर रामशरण यादव, विधायक शैलेश पांडेय, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान, निगम के सभापति शेख नजीरूद्दीन और अटल श्रीवास्तव मौजूद रहेंगे। इस कार्यक्रम में अरपा तट संवर्धन पर एक वीडियो का प्रस्तुतिकरण भी किया जाएगा।

 

09-05-2021
Video: बम ब्लास्ट की घटना को अंजाम देने के बाद माओवादियों ने लगाए बैनर, सड़क निर्माण कार्य को रोकने की चेतावनी

कांकेर। निर्माणाधीन सड़क पर बम ब्लास्ट के दूसरे दिन माओवादियों ने उसी सड़क पर पेड़ों में बैनर बांधकर सड़क निर्माण कार्य का विरोध किया है। नक्सलियों ने जल्द सड़क के निर्माण कार्य को बंद करने अन्यथा गाड़ियों को आग के हवाले करने की चेतावनी दी है। बता दें कि जिला मुख्यालय से करीब 20 किमी कि दूरी पर आमाबेड़ा जाने मार्ग के उसेली और तुमसनार के बीच में शनिवार को नक्सलियों ने एक पुल के पास बम ब्लास्ट किया था। इसके बाद रविवार को बैनर पोस्टर के माध्यम से नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम देने का कारण आमाबेड़ा से कांकेर पहुंच मार्ग में सड़क निर्माण का कार्य को बताया है। वहीं जोरों पर चल रहे निर्माण कार्य को तत्काल बंद करने की बात कही है। माओवादियों ने पोस्टर में लिखा है कि यदि इसके बाद भी कार्य चालू करने पर उनके सभी गाड़ियों को आग के हवाले करने का और ठेकेदार को सजा देंगे। घटना की जिम्मेदारी कूएमारी एरिया कमेटी सीपीआई (माओवादी) की ओर से बैनर जारी किया गया है।

07-05-2021
कोरोना से बचाव के लिए वार्ड में शुरू हुआ सैनिटाइजेशन का कार्य

कोरबा। मोंगरा बस्ती में सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का कार्य शुरू हुआ। उल्लेखनीय है कि मोंगरा वार्ड में संक्रमण के काफी केस सामने आए है और महामारी ने वार्ड के कई लोगों की जान भी ले ली है इस बात की गंभीरता को देखते हुए वार्ड पार्षद ने वार्ड का दौरा कर पाया था कि वार्ड में सफाई नहीं हो रहा है और सैनिटाइजेशन का कार्य भी नहीं चल रहा है, जिससे संक्रमण के साथ अन्य बीमारियों के भी फैलने का खतरा बढ़ रहा था। इसकी शिकायत महापौर के साथ सफाई विभाग के अधिकारियों से की गई। शिकायत के बाद वार्ड में सफाई के साथ सैनिटाइजेशन का कार्य शुरू किया गया है। पार्षद राजकुमारी कंवर वार्ड में घूम कर सैनिटाइजेशन का काम अपनी देखरेख में करा रहीं है। उन्होंने वार्डवासियों को लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए घर में रहने की अपील भी की।

 

07-05-2021
इन वार्डों में आज शाम नहीं खुलेंगे नल

रायपुर। बैरन बाजार पानी टंकी के खराब मुख्य पानी सप्लाई वाल्व को बदलने के कार्य के कारण शुक्रवार को वार्ड 57 के सम्पूर्ण क्षेत्र, वार्ड 44, 45, 46, 47 के कुछ क्षेत्रों में संध्याकालीन जलआपूर्ति प्रभावित रहेगी। नगर पालिक निगम रायपुर के जोन क्रमांक 4 के जोन कमिश्नर लोकेश चंद्रवंशी ने  जानकारी देते हुए बताया कि रायपुर नगर पालिक निगम के जोन क्रमांक 4 के क्षेत्र के अंतर्गत स्थित बैरन बाजार पानी टंकी के खराब मुख्य पानी सप्लाई वाल्व को बदले जाने के आवश्यक कार्य के दौरान पानी टंकी में जल का भराव नहीं हो पाने के कारण से आज बैरन बाजार टंकी से सम्बंधित नगर निगम रायपुर के पंडित भगवती चरण शुक्ल वार्ड क्रमांक 57 के सम्पूर्ण वार्ड क्षेत्र सहित नगर निगम रायपुर के तहत सिविल लाइन वार्ड क्रमांक 47, ब्राम्हणपारा वार्ड क्रमांक 44, मौलाना अब्दुल रऊफ वार्ड क्रमांक 46 और स्वामी विवेकानंद सदर बाजार वार्ड क्रमांक 45 के कुछ क्षेत्रों में संध्याकालीन जलआपूर्ति प्रभावित रहेगी। असुविधा को लेकर खेद व्यक्त करते हुए नगर पालिक निगम के जोन 4 के जोन कमिश्नर चंद्रवंशी ने बताया कि खराब वाल्व को बदलने के कार्य के उपरांत अगले दिवस से बैरन बाजार पानी टंकी से पूरी तरह सामान्य रूप से जलआपूर्ति प्रारम्भ कर दी जाएगी।

05-05-2021
छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से दिया जा रहा सुरक्षा कवच, आदिवासी क्षेत्रों में भी दिख रही जागरुकता

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। ग्रामीणों में भी टीकाकरण को लेकर खासा उत्साह है। अनेक ग्राम पंचायतों में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को टीके के प्रथम डोज का शतप्रतिशत लक्ष्य हासिल किया जा चुका है। प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों के साथ साथ पहाड़ी कोरवा, बिरहोर जैसी अत्यंत पिछड़ी जन जातियों में भी टीकाकरण को लेकर जागरुकता देखी जा रही है। ग्रामीणों को कोविड-19 के विरूद्ध सुरक्षा कवच देने पंच-सरपंच समेत सभी पंचायत प्रतिनिधि और ग्रास रूट कार्यकर्ता पूरे समर्पण भाव से जुटे हुए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वयं प्रतिदिन वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए मितानिन, स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले सहित विभिन्न विभागों के फ्रंट लाइन वर्कस से सीधे रूबरू होकर कोविड-19 महामारी की रोकथाम और टीकाकरण कार्य की समीक्षा कर रहे है। 

धरमजयगढ़ में मैदानी कार्यकतार्ओं के संकल्प से शत-प्रतिशत टीकाकरण :

वर्तमान में जब पूरा विश्व कोरोना महामारी की दूसरी लहर से पीड़ित है इससे गांव में रहने वाले लोग भी अछूते नहीं है। बात करें रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ विकासखंड की तो यहां लगभग 1 हजार एक्टिव केस होने के बावजूद कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण के प्रथम डोज का लक्ष्य के विरूद्ध 154 ग्राम पंचायतों में शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।  टीकाकरण पर विभिन्न प्रकार की भ्रांतियां को दूर करते हुए स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों के सहयोग से लोगों को एकत्रित कर देर रात तक टीकाकरण का कार्य कर रहे हैं। 

पहाड़ी कोरवा, बिरहोर लोग भी करा रहे टीकाकरण :

धरमजयगढ़ के पहाड़ी क्षेत्रों में बसे विशेष पिछड़ी जनजाति के पहाड़ी कोरवा एवं बिरहोर समुदाय में भी टीकाकरण के लिए विशेष उत्साह देखा जा रहा है। विकासखंड के कुम्हीचुआं खलबोरा, कीदा जैसे गांवों में निवास करने वाले बिरहोर समुदाय के लोगों ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं मितानिन के परामर्श से उत्साहित होकर टीकाकरण कराया। साथ ही छापकछार, छुपीपहाड़, बरघाट जैसे अति कठितनम क्षेत्रों में निवास करने वाले पहाड़ी कोरवाओं में भी टीकाकरण को लेकर उत्साह देखा जा रहा है।

चाल्हा ग्राम अन्य गांवों के लिए बना प्रेरणा स्त्रोत : 

धरमजयगढ़ से 35 किलोमीटर दूर पहाड़ों के बीच एक छोटा सा गांव चाल्हा जहां सरपंच एवं सचिव के अथक परिश्रम एवं सकल्प से गांव के सभी 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण किया गया है। चाल्हा गांव आज अन्य गांवों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बन गया है। 

खुद कैंसर से पीड़ित संतोष ने पेश की सेवा की मिसाल :

धरमजयगढ़ उप स्वास्थ्य केन्द्र पाराघाटी में पदस्थ स्वास्थ्य कार्यकर्ता संतोष घोष पिछले 3-4 वर्षों से कैंसर जैसे गंभीर बीमारी से पीड़ित है। फिर भी अपनी जान की परवाह न करते हुए अपने उप स्वास्थ्य केन्द्र के अंतर्गत 450 से अधिक 45 वर्ष के अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण कराया। साथ ही प्रतिदिन लक्षणात्मक लोगों का एंटीजन से जांच भी कर रहे हैं। समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रमों का संपादन कर रहे हैं।

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही की विभिन्न ग्राम पंचायतों में शत प्रतिशत लोगों का टीकाकरण :

प्रदेश के नवगठित जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में 45 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों के टीकाकरण के कुल लक्ष्य का 76.84 प्रतिशत हासिल कर लिया गया है। जिले की विभिन्न ग्राम पंचायतों में प्रथम टीकाकरण शत प्रतिशत किया जा चुका है। इसमें अमरपुर, बगरार, बंसीताल, बरवासन, चचेर्डी, चिचगोहना, परासी सहित करीब 50 ग्राम पंचायतों  ने यह उपलब्धि हासिल कर ली है।

महासमुंद के 210 ग्राम पंचायतो में 94 प्रतिशत लोगों को लगा पहला डोज :

टीकाकरण अभियान के तहत महासमुंद जिले की 210 ग्राम पंचायतों में 45 वर्ष  उम्र से अधिक 93.84 प्रतिशत लोगों को कोविड-19 से सुरक्षा के लिए वैक्सीन की प्रथम डोज लग चुकी है। जिले में कुल लक्षित 73 हजार 913 व्यक्तियों के विरूद्ध 69 हजार 359 लोगों को यह वैक्सीन लगायी जा चुकी है। 

कांकेर की 127 ग्राम पंचायतों में शतप्रतिशत लोगों का टीकाकरण :

कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान के तहत प्रदेश के कांकेर जिले की 127 ग्राम पंचायतों में 45 से अधिक उम्र के शतप्रतिशत लोगों को टीकाकरण की प्रथम डोज लगायी जा चुकी है। 

राजनांदगांव की 428 ग्राम पंचायतों में 90 प्रतिशत से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन :

प्रदेश के राजनांदगांव जिले में टीकाकरण अभियान के तहत 813 ग्राम पंचायतों में से 428 ग्राम पंचायतों में 90 प्रतिशत से अधिक लोगों को टीकाकरण की प्रथम डोज लगायी जा चुकी है।

03-05-2021
Video: नर्सिंग छात्रों को स्टॉफ नर्स के पद पर नियुक्त कर समान कार्य समान वेतन का भुगतान करे सरकार:प्रदीप साहू

रायपुर। अजित जोगी युवा मोर्चा ने कोरोना संक्रमण से बचाव और नर्सिंग छात्रों के पक्ष में राज्य सरकार से 5 सूत्रीय मांग की है। प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने बयान जारी कर बताया कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव के रोकथाम के लिए सरकार ने लॉकडाउन किया है। वही सरकार की ओर से नर्सिंग के छात्रों के साथ अन्याय किया जा रहा है। चिकित्सा शिक्षा छत्तीसगढ़ शासन और संचालनालय चिकित्सा शिक्षा की ओर से 10 अप्रैल को आदेश जारी कर नर्सिंग के छात्रों से कोविड-19 में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अधीनस्थ विभिन्न संस्थानों में मुफ्त में सेवा लेना सुनिश्चित किया गया है। यदि चिकित्सा के क्षेत्र में नर्सों की कमी हो रही है तो शासन नई स्टाफ नर्सों की ऑनलाइन भर्ती कर इस कमी को दूर कर सकती है। बावजूद इसके नर्सिंग की छात्रों को मौत के मुंह मे धकेलना निंदनीय है। नर्सिंग की छात्रों को सेवा लेना सुनिश्चित तो कर दिया गया है लेकिन वेतन भुगतान का कहीं कोई जिक्र नहीं है। यदि छात्रों से समान कार्य लिया जाता है तो समान वेतन का भी भुगतान किया जाना सुनिश्चित किया जाए। नर्सिंग के सभी छात्र जो बाहर रहकर अपनी पढ़ाई कर रहे थे। प्रदेश के लॉकडाउन में वे सभी अपने अपने घर आकर खुद को सुरक्षित कर रखे हैं।

वापस उन छात्रों का विभिन्न संस्थानों में जाकर वह निवास ढूंढ कर रहना और उनके खाने रहने की व्यवस्था के बिना उनका गुजारा कैसे सम्भव है। शासन की ओर से  छात्रों पर सेवा लेने का आदेश तो थोंप दिया गया है लेकिन आर्थिक तंगी में छात्र खुद के खर्चे से संस्थानों में सेवा देने में असमर्थ है। प्रदीप साहू ने मांग की है कि छग शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों को स्टॉफ नर्स के समान कार्य पर समान वेतन का भुगतान करना सुनिश्चित करें। साथ ही सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों का सर्वप्रथम स्वास्थ्य बीमा कराना सुनिश्चित किया जाना चाहिए। शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों को कोविड-19 से संक्रमित होने पर निशुल्क उच्च चिकित्सा का प्रबंध करना सुनिश्चित करे। सेवा करने वाले नर्सिंग छात्रों को कोविड-19 से सुरक्षित रखने वाले सम्पूर्ण सुरक्षात्मक उपकरण प्रदान करना सुनिश्चित करे और यह कि शासन सेवा प्रदान करने वाले नर्सिंग छात्रों का रहने (रूम) खाने की उचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।

26-04-2021
कार्य में लापरवाही बरतने पर 3 कर्मचारियों की वेतनवृद्धि रोकने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल ने विकासखंड करतला पहुंचकर आइसोलेशन सेंटर और कंटेनमेंट जोन चिकनीपाली का आकस्मिक निरीक्षण किया। कलेक्टर ने करतला में बने आइसोलेशन सेंटर में रह रहे कोरोना मरीजों से भी बात की और उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछा। कलेक्टर ने करतला विकासखंड मुख्यालय में कोरोना संक्रमितों की मदद और इलाज संबंधी विभिन्न सुविधाओं की जानकारी तथा परेशानियों के निराकरण के लिए बनाये गये कंट्रोल रूम का भी आकस्मिक निरीक्षण किया। किरण कौशल ने इस दौरान कंट्रोल रूम में उपस्थित कर्मचारियों से दिन भर की गतिविधियो आने वाले फोन काॅल्स, पूछे जाने वाले प्रश्नों और कोरोना संक्रमितों की समस्याओं आदि के विषय में जानकारी ली। उन्होंने होम आइसोलेशन माॅनिटरिंग सेल में निर्धारित समय में ड्यूटी से अनुपस्थित पाये जाने पर तीन आश्रम अधीक्षकों की एक-एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने सभी आश्रम अधीक्षकों और अधीक्षिकाओं को नियत समय पर उपस्थित रहकर विकासखंड में होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों की सतत् निगरानी करने, दवाई, आक्सीमीटर, थर्मामीटर की उपलब्धता और डाक्टरों द्वारा नियमित फालोअप करने आदि की जानकारी लेने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने प्री मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास रामपुर के अधीक्षक  आनंद कुमार सोनी, आदिवासी बालक छात्रावास बेहरचुवां के अधीक्षक ईश्वर सूर्यवंशी और आदिवासी बालक छात्रावास बीरतराई के अधीक्षक विवेक शर्मा के कार्य में लापरवाही बरतने पर एक-एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश सहायक आयुक्त को दिए।

 

20-04-2021
कोरोना प्रबंधन कार्य में लापरवाही, 6 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस, वेतन मे होगी कटौती

रायपुर। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रायपुर डॉ.एस.भारतीदासन ने कोरोना प्रबंधन कार्य में उपस्थित नहीं होने और सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन नहीं करने पर जिले के 6 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस दिया है। कलेक्टर ने अपने नोटिस में कहा है कि उसके अनुपस्थिति से कोविड-19 आपदा प्रबंधन कार्य में गंभीर बाधा उत्पन्न हुई है। उन्होंने  नोटिस देते हुए इन अधिकारियों को सौंपे गए कार्य स्थलों पर तत्काल अपनी उपस्थिति देने के निर्देश दिए हैं साथ ही 3 दिन के भीतर नोटिस का संतोषजनक उत्तर  को भी देने को कहा है, अन्यथा उनके विरुद्ध कर्तव्य से अनुपस्थिति की अवधि का वेतन काटने के साथ-साथ उनके विरुद्ध छत्तीसगढ़ सिविल सेवा नियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम और  एऐपेडेमिक डिसीजेज एक्ट के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई  की जाएगी। कलेक्टर ने सीटीसी गवेल सहायक अभियंता छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन रायपुर, मनोज कुमार चंद्राकर उप अभियंता छत्तीसगढ़ राज्य कृषि विपणन बोर्ड आंचलिक कार्यालय रायपुर, जयंत कुमार दास सहायक अभियंता उप संचालक जल मौसम विज्ञान संभाग क्रमांक 4 रायपुर,  जे पाल उप अभियंता कार्यपालन अभियंता मजप द्वितीय चरण कार्य संभाग रायपुर, शाहरुख अली उप अभियंता कार्यपालन अभियंता छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल संभाग क्रमांक 1 रायपुर और बलुसियुस केरकेटटा उप अभियंता नगर तथा ग्राम निवेश रायपुर को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। नोटिस में कहा गया है कि की जाने वाली कार्यवाही के लिए वे स्वयं स्वयं उत्तरदायी होगें।

 

20-04-2021
कोरोनो से बचाव के लिए संजीवनी बूटी की तरह कार्य करेगा वैक्सीन: विजय मोटवानी 

धमतरी। 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के प्रत्येक लोगों के टीकाकरण किए जाने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत भारतीय जनता युवा मोर्चा ने किया है। मोर्चा के जिलाध्यक्ष विजय मोटवानी ने कहा कि जिस तेज गति से कोविड-19 संक्रमण आम जनमानस के जनजीवन में दुष्प्रभाव डाल रहा है। ऐसे में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सकों से गहन मंत्रणा करने के बाद 18 वर्ष से अधिक के लोगों को टीकाकरण किए जाने का निर्णय  संक्रमण से बचाने के लिए संजीवनी बूटी के रूप में कार्य करेगा। उन्होंने आम जनमानस से टीकाकरण केंद्र पहुंचकर टीका लगाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि युवा मोर्चा के कार्यकर्ता पूरे जिले में टीकाकरण के लिए आम जनमानस को प्रेरित करते हुए केंद्र तक पहुंचाने में मदद कर रहे हैं।  गौरतलब है कि प्रदेश नेतृत्व के आव्हान पर विजय मोटवानी ने बीते दिनों जिला स्तर पर कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के सहायतार्थ एक 13 सदस्यीय टीम का गठन कर पूरे जिले में समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाने के दृष्टिकोण को व्यापक कार्य भी किया है। ऑनलाइन हेल्पडेस्क के माध्यम से युवा मोर्चा की टीम लगातार प्रतिदिन पीड़ितों की सहायता कर रही है। इस काम में पुलिस प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के मुखिया डाॅ. डी.के. तुरे  तथा डॉक्टर्स की टीम का भरपूर सहयोग मिल रहा है। मंगलवार को युवामोर्चा के साथी वैक्सीन सेंटर पहुंचे। इसमें जिला महामंत्री अविनाश दुबे, जय हिन्दूजा, कैलाश सोनकर, पुष्कर यादव, देवेश अग्रवाल, गोविंद सिंग ढिल्लन, गोपाल साहू एवं सूरज शर्मा उपस्थित थे।

20-04-2021
रंजना साहू पहुंची क्षेत्र के विभिन्न वैक्सीनेशन सेंटर, कहा- टीकाकरण कार्य में शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी

धमतरी। विधायक रंजना साहू ने क्षेत्र के विभिन्न वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण किया। साथ ही मेडिकल टीम व लोगों से प्राप्त जानकारी के आधार पर कई आवश्यक निर्देश दिए। रंजना साहू ने सर्वप्रथम खरेंगा स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर निरीक्षण किए एवं शासन के निर्देशानुसार 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को टीका लगाने के लिए आगे आने की बात कही। वहीं देवपुर वैक्सीन सेंटर में टीका लगा रहे ग्रामवासी से चर्चा कर जानकारी ली। इसमें लोगों ने वैक्सीनेशन कार्य को संतोषप्रद बताया। विधायक ने प्रभारी चिकित्सक, डाटा ऑपरेटर सहित टीका लगाने का कार्य करने वाले से टीकाकरण संबंधित संपूर्ण जानकारी की पूछताछ कर किसी प्रकार की असुविधा होने पर जानकारी प्रदान करने की बात कही। साथ ही आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि अधिक से अधिक लोगों का जल्द टीकाकरण किया जाए। क्योंकि पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर शुरू हो गई है, जो एक विकराल रूप लेकर अत्यधिक नुकसानप्रद साबित हो रही है, जिन लोगों को प्रथम कोरोना वायरस वैक्सीनेशन टीका लग गया है, उसे अब दूसरा टीका समय पर दिया जाना चाहिए। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उसके बाद ग्राम कोलियारी एवं सारंगपुरी वैक्सीनेशन सेंटर पहुंच कर कार्यकर्ताओं से मिलकर रंजना साहू ने कहा कि आप सभी अपने निज ग्राम पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करें और टीका केंद्र लेकर आएं। उन्होंने स्वास्थ विभाग के अधिकारी, कर्मचारी के साथ कोविड 19 वैक्सीनेशन की टीकाकरण की जानकारी ली। साथ ही टीकाकरण करा रहे लोगों से टीका संबंधी चर्चा कर अपने आसपास के रहने वालों को जागरूकता का परिचय देते हुए उन्हें भी टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने कहा। वैक्सीनेशन के लिए आने वाले सभी लाभांतुको को निर्भीक होकर वैक्सीन लेने की अपील की। अनुविभागीय अधिकारी ने टीकाकरण केंद्र में नियुक्त कर्मियों को लक्ष्य के अनुरूप 45 वर्षों के ऊपर के व्यक्तियों को शत-प्रतिशत वैक्सीन सुनिश्चित करने सहित आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान जनपद उपाध्यक्ष अवनेंद्र साहू, छत्तीसगढ़ विपणन संघ के अध्यक्ष दयाराम साहू, सांसद प्रतिनिधि उमेश साहू, जनपद सदस्य गोपाल साहू, हीरा सोनकर, निरंजन साहू सहित तहसीलदार, जनपद पंचायत कार्यपालन अधिकारी, स्वास्थ्य कर्मचारी, सरपंच, सचिव, मितानिन आदि उपस्थित थे।

09-04-2021
बिलासपुर-रायगढ़ के बीच तीसरी रेलवे लाइन का कार्य जारी, देर से रवाना होंगी गाड़ियां

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-रायगढ़ के बीच तीसरी रेलवे लाइन का विद्युतीकरण कार्य किया जाएगा। इसके कारण अनेक गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहेगा। यह नॉन इंटरलोकिंग का कार्य 8 से 13 अप्रैल तक ,( 6 दिन तक) किया जाएगा। इसके कारण कुछ यात्री गाड़ियों का परिचालन प्रभावित रहेगा। 

देरी से रवाना होने वाली गाड़ियां :

7 से 12 अप्रैल तक (6 दिन तक) गाडी संख्या 08477 पुरी-योगनगरी स्पेशल ट्रेन पुरी से 2 घंटे देरी रवाना की जाएगी ।

8 और 10 अप्रैल को (2 दिन) गाड़ी संख्या 02222 हावड़ा-मुंबई स्पेशल ट्रेन को हावड़ा 1 घंटे 15 मिनिट देरी रवाना की जाएगी।

10 अप्रैल को कुर्ला से छूटने वाली 02101 कुर्ला-हावड़ा स्पेशल ट्रेन को नागपुर और बिलासपुर के बीच 45 मिनिट नियत्रित किया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804