GLIBS
02-04-2020
कोरोना की जांच क्यों नहीं चाहते कुछ लोग? क्यों जांच टीम पर हमले हो रहे? कश्मीर की पत्थरबाजी इंदौर कैसे पहुंची?

रायपुर/इंदौर। कोरोना की जांच के लिए इंदौर के एक इलाके में गई टीम पर वहां के लोगों ने पथराव किया। जांच टीम को जान बचाकर भागना पड़ा। अकेले इंदौर की यह बात नहीं है। देश में दो और इलाकों में जांच टीम पर हमले हुए हैं उनमें से एक हैदराबाद भी शामिल है। इंदौर और हैदराबाद जैसे विकसित शहर में इस तरह की दकियानूसी घटना होना अच्छे संकेत नहीं है। फिर इंदौर में जिस तरह से जांच टीम पर पथराव हुआ लोगों ने उन पर पत्थर बरसाए और छतों से भी जो पत्थर बरसे वह एक मानसिकता का सबूत है। इस तरह की पत्थरबाजी सिर्फ कश्मीर में और दिल्ली में देखने को मिलती थी। वह इंदौर तक पहुंच गई यह चिंता का विषय है।

आखिर दिक्कत क्या है उस इलाके के लोगों को कोरोना की जांच कराने में? जांच टीम कुछ लोगों का सैंपल लेने गई थी लेकिन उन्हें जान बचाकर वापस भागना पड़ा। इस तरह की हरकत अगर कुछ और जगह होगी तो कैसे देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ पाएगा? कैसे जांच टीम सैंपल लेने जा पाएगी कैसे कोरोना के संक्रमण को रोकने में कामयाबी मिलेगी? जांच टीम को पथराव कर भगा देना तो इस बात का ही सबूत है कि वे लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग नहीं कर रहे हैं और वे नहीं चाहते कि कोरोना की जांच हो। उस पर नियंत्रण लगे या उसका संक्रमण रुके। ऐसे लोगों को देश प्रेमी तो कतई नहीं माना जा सकता। हां उन पर देश के साथ गद्दारी का शक़ जरूर होता है। ऐसे लोगों के खिलाफ तत्काल देशद्रोह का मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की जानी चाहिए ताकि पथराव की बीमारी और दूसरे शहरों में न पहुंचे।
 

01-04-2020
40 लीटर महुआ शराब के साथ 6 गिरफ्तार, सभी के खिलाफ 34(2) की कार्रवाई

महासमुन्द। पिथौरा पुलिस थाना प्राभारी कमला पुसाम ने एसडीओपी पुपलेश पात्रे के मार्गदर्शन में बुधवार को अलग-अलग मामलों में 40 लीटर महुआ शराब बरामद कर गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34 (2) की कार्रवाई कर सभी को रिमाण्ड में जेल भेज दिया है। पिथौरा पुलिस से प्राप्त जानकारी अनुसार ग्राम कोकोभाटा में धर्म सिंह धु्रव 39 साल, रमेश गिरी 39 साल ठाकुर दिया में अवैध रूप से महुआ शराब की बिक्री कर रहे थे। इनके पास से पिथौरा पुलिस ने 10 लीटर महुआ शराब बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसके अलावा पिथौरा पुलिस ने ग्राम खुसीपाली में आरोपी दूतो बरिहा 58 साल, बूढे राम 41 साल, आरोपी अशोक भोई 24 साल के पास से 20 लीटर शराब किया। इसके अलावा कोमल पटेल 23 साल के पास से पुलिस ने 10 लीटर महुआ शराब बरामद किया है। गिरफ्तार सभी 6 आरोपियों के पास पिथौरा पुलिस ने 40 लीटर महुआ शराब बरामद कर सभी के खिलाफ 34 (2) की कार्रवाई कर पुलिस रिमाण्ड में जेल भेज दिया है।

01-04-2020
शराब बेचते युवक गिरफ्तार

रायपुर। शहर के तेलीबांधा थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर वीआइपी रोड में शराब बेचते एक युवक को गिरफ्तार किया है। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी दुर्नेश लिन्हारे मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले के रामपाली थाना क्षेत्र का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी के झोले में तीन बोतल अंग्रेजी शराब और पांच सौ रुपये जब्त किए हैं।

31-03-2020
नशीली कफ सीरप बेचने वाले युवक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

रामानुजगंज। थाना प्रभारी सनवाल अमित सिंह बघेल के नेतृत्व में थाना सनवाल की टीम के द्वारा ग्राम कुरलूडीह में धाम के पास शमसाद अंसारी,जो नशीली कफ सीरप कोरेक्स गांव के नवयुवकों को बिक्री करता था को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 5 स्ट्रिप प्रतिबंधित कफ सिरप तथा बिक्री कर उपयोग की जा चुकी 10 स्ट्रिप खाली शीशी एवं बिक्री कर प्राप्त नकदी रकम 400 रुपए जब्त किया। युवक को एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही की गई। 

 

30-03-2020
VIDEO: नक्सल सहयोगी राजनांदगांव से गिरफ्तार

राजनांदगांव। विगत दिनों नक्सलियों को पैसे, सामान व राशन मुहैय्या कराने वाले ठेकेदार को कांकेर पुलिस ने गिरफ्तार किया था साथ ही कई महत्वपूर्ण सामग्री भी बरामद की थी, जिसमे वाहन, नक्सलियों की वर्दी, राशन आदि था। सूत्रों के अनुसार नक्सलियों को साजो सामान उपलब्ध कराने वालों में राजनांदगांव का एक बड़ा पेटी ठेकेदार सम्मिलित बताया जा रहा है।सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार पेटी ठेकेदार एक बड़ी कंस्ट्रक्शन फर्म का मालिक है व पिछले लंबे समय से धुर नक्सली इलाको में बेधड़क रोड अथवा अन्य कार्य कर रहा है, जिससे यह साफ समझा जा सकता है कि किस तरह उसे नक्सलियों का समर्थन प्राप्त है, सूत्र बताते हैं कि वह समय समय पर नक्सलियों को फंडिंग, राशन व अन्य ज़रूरत की सामग्री उपलब्ध कराता आया है।पुलिस को जब तापस नामक व्यक्ति जो कि नक्सलियों का मददगार है के बारे में पता चला तो कांकेर में घेराबंदी करते हुए उसे पकड़ लिया गया, उससे पूछताछ करने पर पता लगा कि राजनांदगांव का एक ठेकेदार इसके पीछे है जो कि नक्सलियों की मदद करता है।

तापस की निशानदेही पर कांकेर पुलिस ने कल राजनांदगांव में दबिश दी और उक्त मामले में राजनांदगांव से दयाशंकर नामक व्यक्ति को कमला कॉलेज के सामने स्तिथ निवास से गिरफ्तार कर पूछताछ के लिए कांकेर ले गयी।अब सूत्रों के अनुसार दयाशंकर नक्सलियों का एक बड़ा मददगार था और राजनांदगांव में रहते हुए वह कांकेर, सुकमा, नारायणपुर, औंधी, मानपुर,  मोहला आदि नक्सल क्षेत्रो में धड़ल्ले से ठेकेदारी कर रहा था। दयाशंकर एक ऐसा व्यक्ति है जो बता सकता है कि राजनांदगांव में और कौन-कौन ऐसे ठेकेदार हैं जो नक्सलियों की मदद करते आये हैं। सूत्रों बताते हैं कि दयाशंकर तो एक छोटी मछली था जो नक्सलियों और बड़े ठेकेदारों के बीच सामंजस्य बैठता था नक्सलियों को जब रुपयों की जरूरत होती थी तो वह ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के जरिये पैसे भेजता था, गौरतलब है दयाशंकर से सख्ती से पूछताछ होने पर और भी बड़े मगरमच्छों के नाम सामने आ सकते हैं।

24-03-2020
बच्ची की बीमारी का बहाना झूठ निकला, हवाखोरी करने निकला युवक अब जेल की हवा खा रहा

रायपुर। राजधानी में पुलिस सख्त होती नजर आ रही है। बीते दिन बैरन बाजार कुंदरापारा  में घर से बाहर घूमने निकले युवक को जब पुलिस ने पकड़ा तब उसने बच्ची के अस्पताल में भर्ती होने का बहाना किया। लेकिन पुलिस उसके बात की पुष्टि करने के लिए जब अस्पताल पहुंची तो दिनेश की बात झूठ निकली, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। प्रशासन की सख्ती और बढ़ने के आसार हैं।

23-03-2020
दहेज प्रताड़ना मामले में 4 के खिलाफ जुर्म दर्ज,पति,सास और ससुर गिरफ्तार

कुरूद। पुलिस ने एक नवविवाहिता की शिकायत पर पति सहित तीन लोगो के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपी पति, सास और ससुर को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बोरिदखुर्द की रहने वाली चित्राणी साहू की शादी 4 मई 2017 को बगौद निवासी खामेश साहू के साथ हुई थी। शादी के तीन महीने बाद ही पति,सास और ससुर दहेज की बात को लेकर आये दिन उसे प्रताड़ित करने लगे। साथ ही कम दहेज लाने की बात को लेकर पति मारपीट भी करता था। नवविवाहिता ने इसकी शिकायत कुरूद थाना में 6 मई 2019 को की। इस पर पुलिस ने पति खमेश साहू,सास अमरीका बाई,ससुर दानीराम साहू और जेठ के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कर जांच कर रही थी। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने पति सास और ससुर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया हैं। वही जेठ अभी फरार है,जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।

23-03-2020
VIDEO: चोरी के मामले में शिवरीनारायण पुलिस ने किया 3 लोगों को गिरफ्तार

जांजगीर चाम्पा। जिले के शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के राहौद मे एक ज्वेलर्स में चोरी मामले में पुलिस ने 3 आरोपी को गिरफ्तार किया है। वही 1 आरोपी को पुलिस अभिरक्षा में रख पूछताछ जारी है,जिससे कई और खुलासे होने के आसार है। पुलिस के मुताबिक प्रार्थी संजय कुमार सोनी ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी दुकान महामाया ज्वेर्ल्स राहोद में 15-16 मार्च की दरम्यानी रात किसी अज्ञात चोरों सोने-चांदी के जेवरात कुल कीमती 5,80,000 एवं नगदी 20000 रूपए, कुल जुमला 6,00,000 रुपए की चोरी कर ले गए। चोरी का मामला थाना शिवरीनारायण में पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना पतासाजी कर मुखबिर सूचना के बाद आरोपी प्रकाश टण्डन और एक नाबालिग आरोपी के साथ चोरी का सामान खरीदने वाले आरोपी विनोद कुमार सराफ को  गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के पास से लगभग 4 किलो 800 ग्राम कीमती 4,00,000 रूपए, चोरी में प्रयुक्त दोपहिया वाहन जब्त किया। प्रकरण के एक और आरोपी दीपक टण्डन को पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर पूछताछ की जा रही है। वही तीनो आरोपियों को न्यायिक रिमांड में भेज दिया गया है।

 

 

22-03-2020
2 लाख की अफीम के साथ युवक गि​रफ्तार

रायपुर। शहर के बीरनगरक थाना पुलिस ने वीरसावरकर नगर हीरापुर में एक युवक 310 ग्राम अफीम के साथ पकड़ा है। कबीरनगर थाना प्रभारी एलपी जायसवाल के अनुसार मुखबिर से मिली सूचना पर वीरसावरकर नगर, हीरापुर निवासी आरोपी हरप्रीत सिंह उर्फ बब्बू को बाइक सीजी 04 एमजेड 1086 में जाते हुए पकड़ा गया है। उसकी तलाशी करने पर प्लास्टिक में बंधा हुआ 310 ग्राम अफीम बरामद हुआ जो कि दो लाख रुपए का बताया जा रहा है। आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 18 के तहत कार्रवाई की गई।

21-03-2020
पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले आरोपी पति को पुलिस ने 2 साल बाद किया गिरफ्तार

भिलाई। शराब पीकर अपनी पत्नी के साथ मारपीट कर उसको आत्महत्या के लिए प्रेरित करने वाले पति को पुलिस ने दो साल बाद गिरफ्तार किया। आरोपी पति के खिलाफ पुलिस ने धारा 306 के तहत जुर्म दर्ज किया है। छावनी पुलिस ने बताया कि आदर्श नगर कैम्प 1 निवासी रेशम चौधरी उर्फ रष्मि का विवाह सन 2012 में हरिशंकर चौधरी के साथ हुआ था। 26 जून 2018 को हरिशंकर शराब पीकर अपने घर पहुंचा और रश्मि के साथ मारपीट करने लगा। पति पत्नी का विवाद इतना बढ़ गया कि घटना की रात 2 बजे रश्मि ने अपने शरीर पर मिट्टी तेल उडेलकर आग लगा ली। जिसे गंभीर अवस्था में उपचार के लिए जिला अस्पताल में भेजा गया। जहां उपचार के बाद 30 जून को उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया और घटना के बाद से पति हरिशंकर फरार हो गया।

पुलिस आरोपी पति की गिरफ्तारी के लिए खोजबीन करती रही, लेकिन उसके नहीं पकड़े जाने के बाद तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने 29 सितंबर 2018 को पकड़ने के लिए 3000 रूपए का इनाम रखा था। आरोपी हरिशंकर चौधरी को पकडने के लिए सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर ने टीम बनाई थी। टीम मे उप निरीक्षक केपी सिदार, सउनि राजेश पाण्डेय, अजय सिंह, प्रधान आरक्षक पारस सिन्हा, चेतन साहू, आरक्षक अरविंद मिश्रा, अखिलेश मिश्रा, अजीत यादव, सत्येन्द्र मढरिया, अनिल सिंह को शामिल किया गया। मुखबिर से टीम कोे सूचना मिली थी कि आरोपी हरिशंकर चौधरी अपने निवास एक दो घंटे के लिए आत है। जिस पर पुलिस ने रायपुर इण्डस्ट्रीयल एरिया मे पतासाजी की, जहां से पता चला कि आरोपी कुम्हारी स्थित केडिया  डिस्टलरी में प्राइवेट काम करता है। पुलिस ने उसे तुरंत गिरफ्तार किया और पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि वह अपनी पत्नी को प्रताड़ित करता था और आत्महत्या करने के लिए अपनी पत्नी को उकसाया था।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804