GLIBS
05-07-2020
राहील रउफी व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज, युवती का आरोप राजनीतिक पहुंच के कारण नहीं हो रही गिरफ्तारी 

रायपुर। प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी के ओएसडी रहे राहील रउफी सहित उनके भाइयों पर पुलिस ने छेड़खानी समेत अन्य कई गंभीर धाराओं में अपराध पंजीबद्ध किया है। मामला मुजगहन थाना क्षेत्र अंतर्गत बोरियाकला का है। इंटीरियर डिज़ाइनर की छात्रा अपनी मां और परिचितों के साथ राहील रउफी के भाई नेहाल के निवास पर पारिवारिक विवाद सुलझाने पहुँची थी। उसी दौरान बात बिगड़ गई और नेहाल के छोटे भाई फरहान सहित राहील रउफी ने युवती समेत उसकी माता को अश्लील गाली-गलौज करते हुए उसके कपड़े फाड़ दिए और मारपीट करते हुए कमरे में बंद कर दिया।

इसके बाद बेइज़्ज़त करने की नियत से युवती का हाथ पकड़ अश्लीलता की। इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री जोगी के ओएसडी रहे राहिल रौफी ने युवती व उसकी माता को बीच रोड तक जाकर गाली देते हुए गला काट कर जान से मारने की धमकी दी। घटना की शिकायत मुजगहन थाना पुलिस से की गई है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 354 ,354 (क ),506,294,323,34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। युवती ने आरोप लगाया है की आरोपियों की राजनैतिक पहुंच के कारण अब तक पुलिस ने उसकी गिरफ़्तारी नहीं की है। युवती ने कहा की न्याय नहीं मिलने पर मामले की शिकायत प्रदेश की राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित गृहमंत्री को करेगी।

04-07-2020
ठेला हटाने को लेकर विवाद, एक महिला सहित 4 आरोपी गिरफ्तार

राजनांदगांव। ठेला हटाने पर विवाद का मामला सामने आया। इसमें पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। ग्राम करमतरा थाना लालबाग निवासी लीलाराम साहू ने शनिवार को रिपोर्ट लिखाई की वह अपनी दुकान पहुँचा तो किसून साहू अपनी पत्नी व दो लड़कों के साथ पहुँचा और ठेला हटाने को लेकर विवाद करने लगा। फिर उसने हथौड़ी से उसके सिर पर वार किया। इस पर थाना प्रभारी प्रशिक्षु उप पुलिस अधीक्षक मयंक रणसिंह ने तत्काल पुलिस पार्टी भेज कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। न्यायालय ने सभी को रिमांड पर भेजा गया है।

 

04-07-2020
Video: एक करोड़ रुपए कमाने के चक्कर में की थी कैश वाहन चालक की हत्या, आठ टीमों की मेहनत के बाद पकड़े गए आरोपी

रायगढ़।14.50 लाख लूट कर फरार हुए दो अंतरराज्यीय गैंगस्टर को 10 घंटे के भीतर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।पुलिस को मिली इस सफलता के पीछे आठ टीमों की मेहनत के अलावा सघन नाकाबंदी के साथ घर-घर पता लगाना है। जिसके कारण गैंगस्टर जिले से भाग नहीं पाए और लूट की रकम व हथियारों के साथ धरे गए। जिले के कमांडर एसपी संतोष सिंह की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। अपराधियों को पकड़ने के लिए रणनीति तैयार कर जगह-जगह नाकाबंदी और डोर टू डोर चेकिंग करवाकर उन्होंने 10 घंटों के भीतर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। 

एक करोड़ रूपए कमाने का था लालच :
वारदात में शामिल आरोपी का नाम सुधीर कुमार सिंह (23) पिता झूलन राय और पिन्टु वर्मा (18) है। दोनों आरोपी मुख्य रूप से बिहार के हैं। वर्तमान में आरोपी सुधीर रायगढ़ में ही रहता है। वह कैश वैन को देखता था तो उसे लूटकर 1 करोड़ रूपए कमाना चाहता था। इसलिए उसने कैश वाहन को लूटने की सोची। उसने इस योजना को अपने गांव बिहार के खम्हौरी जाकर अपने साथी पिन्टु वर्मा को बताई। 15 दिनों तक की इलाके की रेकी लूट की प्लानिंग सुन साथी आरोपी पिंटू राजी हो गया। इसके बाद दोनों ने वैन लूटने के लिए 2 पिस्टल, 2 देसी कट्टा, 3 मैगजीन में 26 राउंड, 2 जिंदा कारतूस और 2 बटन चाकू की व्यवस्था की। रायगढ़ आने के बाद आरोपियों ने 15 दिनों तक रेकी की। 4 दिनों तक कैश वैन की पड़ताल की।

गाड़ी का नंबर प्लेट बदला :
आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के लिए पूरी प्लानिंग की हुई थी। लूट में जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया है वह एचएफ डीलक्स वाहन है, जिसका नंबर CG13 Y/16135 है। आरोपियों ने इसका नंबर प्लेट निकालकर गाड़ी में बगैर नंबर की प्लेट लगाई हुई थी। लूट के वारदात की सूचना के बाद बिलासपुर रेंज आई.जी. दिपांशु काबरा और एसपी रायगढ़ संतोष कुमार सिंह ने पहले पूरे जिले को सील कर 50 नाकेबंदी पाइंट बनाई। रातभर वाहनों एवं आने-जाने वालों की सघन तलाशी अभियान चलाया गया। इसी बीच DSB शाखा में पदस्थ एक आरक्षक को मुखबिर से सूचना मिली कि दो संदिग्ध केराझर में देखे गए हैं। तब केराझर एवं पास के दो गांवों को पुलिस की टीमें टारगेट कर आर्म्स लिये हुये 50 जवान की टीम गांव को कार्डन किये, कुछ जवान CSP अविनाश सिंह ठाकुर के साथ बीपी जैकेट हथियार लैस होकर एक-एक कर घरों की तलाशी ले रहे थे। गांववालों द्वारा पुलिस पार्टी के भरपूर सहयोग किया जा रहा था। तभी पुलिसपार्टी को एक कमरे अंदर दो संदिग्ध मिले, जिसमें एक युवक ने पुलिसपार्टी पर पिस्टल तान दिया। जान जोखिम में डाल पुलिसवालों ने झूमाझटकी कर हथियार पकड़े युवक को पटककर उससे हथियार छीनकर दोनों को हिरासत में ले लिया।

04-07-2020
रायगढ़ कैश वैन लूट के आरोपी गिरफ्तार, पुलिस जल्द करेगी खुलासा

रायगढ़। रायगढ़ में कैश वैन के ड्राइवर और गार्ड को गोली मारकर लूट के दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले का खुलासा पुलिस जल्द करेगी। बता दें कि शुक्रवार दोपहर जिले के किरोड़ीमल चौक पर दो नकाबपोशों ने कैश वैन के ड्राइवर को गोली मारी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं गोली लगने से गार्ड भी गंभीर रूप से घायल हुआ है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने लूट की रकम भी आरोपियों से बरामद कर ली है। आईजी और एसपी मामले की मॉनिटरिंग खुद कर रहे थे।

03-07-2020
Video: नक्सलियों का सहयोगी वरुण जैन गिरफ्तार, राजनांदगांव पुलिस ने बागनदी से पकड़ा

राजनांदगांव। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में काम करने के लिए ठेकेदारों द्वारा नक्सलियों को सहयोग करने का मामला कुछ माह पहले सामने आया था। इसमें कांकेर सहित राजनांदगांव के ठेकेदारों के नाम आये थे। जिसके बाद कांकेर पुलिस ने एक अभियान चलाते हुए लगभग 1 दर्जन से अधिक नक्सली सहयोगियों को गिरफ्तार किया था। नक्सलियों को सहयोग करने में राजनांदगांव के भी कुछ लोग शामिल थे । इसी कड़ी मे राजनांदगांव पुलिस ने नक्सलियों को सहयोग करने के लिए बड़े ठेकेदार वरुण जैन जो फरार चल रहा था को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वरुण जैन के ऊपर आरोप था कि वह नक्सलियों को आर्थिक मदद करता है। वह नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में ठेकेदारी का काम करता  जाता है और काम में किसी भी प्रकार की दिक्कत नही होती है। वरुण जैन को कांकेर पुलिस काफी दिनों से तलाश कर रही थी और इससे पहले भी उनके निवास पर दो से तीन बार दबिश दे चुकी थी लेकिन वरुण जैन फरार चल रहा था , बताया जा रहा है कि वरुण जैन यूपी के रहने वाला है और  यहां से फरार होकर यूपी चला गया था।

जिसकी तलाश की जा रही थी पुलिस को सूचना मिली थी कि वरुण जैन बागनदी में कहीं रुका हुआ है जिस पर राजनांदगांव पुलिस ने दबिश दी और वरुण जैन को गिरफ्तार कर राजनांदगांव लाया गया है।इस संबंध में सीएसपी मणिशंकर चंद्रा का कहना है कि वरुण जैन काफी दिनों से फरार चल रहा था। जिसकी तलाश की जा रही थी। आज गिरफ्तार किया गया है और उन्हें कांकेर पुलिस को सुपुर्द किया जाएगा वरुण जैन के ऊपर आरोप है कि वे नक्सलियों को सहयोग करते थे।वहीं वरुण जैन की पत्नी पारुल जैन का कहना है कि मेरे पति पूरी तरह से निर्दोष हैं उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है और हम पुलिस से अपील करते हैं कि वह निष्पक्षता से जांच करें क्योंकि वरुण जैन पूरी तरह से निर्दोष है। इसलिए हम आज आत्मसमर्पण करने पुलिस के समक्ष आए हैं।

01-07-2020
Video: मुख्यमंत्री का पुतला दहन करने पर भाजयुमो नेता गिरफ्तार, पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप

रायगढ़। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन करने के मामले में रायगढ़ पुलिस ने भाजयुमो नेताओं को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी को भाजपा ने पुलिस की एकतरफा कार्रवाई बताया है। पार्टी कार्यकर्ताओं ने नेता के साथ थाने में ही धरना दे दिया। मुख्यमंत्री का पुतला दहन करने पर रायगढ़ पुलिस ने भाजयुमो नेता सूरज शर्मा सहित अन्य कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि सूरज शर्मा ने धारा 144 लागू होने के बाद भी बिना अनुमति के पुतला दहन किया। जिले में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर किसी भी तरह के आयोजन की प्रशासनिक अनुमति लेना अनिवार्य है, परन्तु भाजयुमो ने मुख्यमंत्री का पुतला दहन कार्यक्रम की कोई भी जानकारी जिला प्रशासन को नहीं दी थी। इस पर पुलिस ने यह कार्यवाही की है। इधर भाजपाई पुलिस के इस तर्क से संतुष्ट नहीं हैं।

सूरज शर्मा सहित अन्य की गिरफ्तारी की खबर मिलते ही भारतीय जनता पार्टी के खेमे में पुलिस के खिलाफ आक्रोश फुट पड़ा और भाजपा जिलाध्यक्ष उमेश अग्रवाल अपने साथियों के साथ कोतवाली पहुंच गए जहां सभी कार्यकर्ताओं के साथ वह धरने पर बैठ गए। भाजपा नेताओं का कहना था कि पुलिस भाजपा कार्यकर्ताओं पर एकतरफा कार्यवाही कर रही है। कांग्रेसियों द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ जब प्रदर्शन किया जाता है। तब पुलिस धारा 144 का हवाला देकर कांग्रेसियों पर कार्यवाही क्यों नहीं करती। पुलिस ने गिरफ्तार कार्यकर्ताओं को आईपीसी की धारा 188 व 151 के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय भेज दिया है।

30-06-2020
Video: तेंदुए की खाल बेचते ओडिसा का तस्कर गिरफ्तार, पानी में जहर देकर मारा था तेंदुआ

गरियाबंद। जिला पुलिस ने मंगलवार को फिर एक बड़ी कार्रवाई करते हुए तेंदुआ की खाल बरामद की है। पुलिस ने इस मामले में एक अन्तर्राजीय तस्कर को गिरफ्तार किया है। आरोपी ओडिसा का रहने वाला बताया जा रहा है,जो तेंदुए की खाल को बेचने की फिराक में था। पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी बुदूराम गोंड ओडिसा के रायघर जिले के विजयपुर गांव का निवासी है, आरोपी गरियाबंद जिले के शोभा थाना अंतर्गत शुक्लाभाटा बाघनाला के पास तेंदुए की खाल को बेचने की फिराक में था। जैसे ही पुलिस को मुखबिर से इसकी सूचना मिली तो शोभा थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक टीम गठित कर मौके पर भेजा गया।

आरोपी की जब तलाशी ली गई तो उसकी मोटरसाइकिल की डिक्की से तेंदुआ की खाल बरामद हुई। आरोपी से जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया और बताया कि वह इसे बेचने की फिराक में था। आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया है कि खाल नर तेंदुआ की है, जिसकी सिर से पूंछ तक लंबाई 82 इंच, सिर से पैर तक की ऊंचाई 47 इंच, पूंछ की लंबाई 35 इंच, शरीर की मध्य भाग की चौड़ाई 17 इंच, सिर के पास की चौड़ाई 10 इंच है, चारों पैर में 1-1 नाखून लगा हुआ है। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसने तेंदुआ को पानी में जहर देकर शिकार किया है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी के खिलाफ वन्य प्राणी अधिनियम के तहत कार्रवाई कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है।

पुलिस विभाग द्वारा पिछले कुछ दिनों से वन्य प्राणियों से जुड़े अपराधियों के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है। बीते एक एक महीने के अंदर पुलिस विभाग की यह तीसरी बड़ी कार्रवाई है। इससे पहले भी सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में एक तेंदुए की खाल बरामद की जा चुकी है। बीते सप्ताह ही कुल्हाड़ीघाट थाना क्षेत्र से पैंगोलिन की तस्करी करते आरोपी को गिरफ्तार किया था और आज फिर पुलिस ने एक अन्तर्राजीय तेंदुआ खाल तस्कर को गिरफ्तार किया है। पुलिस विभाग इसे एक बड़ी कामयाबी मान रही है।

29-06-2020
Video: बड़े पैमाने पर चल रहा था गोरखधंधा, एक लाख 75 हजार के नकली नोट के साथ 4 गिरफ्तार

महासमुन्द। वर्षों से नकली नोट का कारोबार कर रहे अंतरराज्यीय गिरोह को जिला पुलिस ने गिरफ्तार कर आरोपियों से लाखों रुपए के नकली नोट बरामद कर लिया है। इस कारोबार को वर्षों से करने वाले मास्टर माइंड को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से एक लाख 75 हजार रुपए के नकली नोट के अलावा, नोट छापने में इस्तेमाल किये जाने वाला कलर प्रिंटर, मोबाइल, स्कूटी और पुलिस को डराने के लिए पास में रखे चिडिय़ा मारने वाली बंदूक के साथ पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिला पुलिस की कार्रवाई से रायपुर रेंज के आईजी ने जिला पुलिस की प्रशंसा करते हुए इनाम की बात कही है।पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने स्थानीय कंट्रोल रूम में प्रेस को जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिल रही थी कि कुछ अंतराज्यीय नकली नोट बनाने वाले गिरोह के लोग जिले में नकली नोट खपा रहे है।

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर जाल बिछाते हुए ग्राहक बन कर बसना क्षेत्र के आरोपियों से सम्पर्क साधा और नकली नोट खरीदने का झांसा देकर आरोपियों से सौदा तय किया और कल 28 जून को पुलिस ने बसना थाना क्षेत्र के ग्राम भंवरपुर रोड़ पर डील करने के लिए बुलाया लेकिन आरोपियों को पुलिस के होने का अंदेशा होने पर नोट की डिलिंग का स्थान बदल कर पुलिस को चकमा देने के लिहाज से बसना क्षेत्र के धानापाली के बुलाया। ग्राहक बने पुलिस ने धानापाली के आसपास अपने पुलिस को शादी वर्दी में लगा दिया और उक्त स्थान पर पहुंचा जहां पुलिस ने दो संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उक्त आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने अपना नाम जयंत यादव 36 साल टेमरी थाना सांकरा निवासी बताया, दूसरा व्यक्ति ने अपना नाम बेसीकेशन प्रधान उड़ीसा निवासी होने की जानकारी दी।

पुलिस ने उक्त दोनों व्यक्तियों के पास से 75 सौ रुपए के नकली नोट बरामद किया। पुलिस ने गिरफ्तार दोनों आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने जानकारी दी कि उड़ीसा निवासी सतपथी साहू द्वारा उन्हें नोट खपाने के लिए दिया जाता है। पुलिस ने गरिफ्तार आरोपियों के निशानदेही पर एक टीम उड़ीसा के लिए रवाना किया और सतपथी साहू के घर पहुंच कर पुलिस ने पूछताछ की तो पुलिस को डराने के लिए सतपथी साहू ने अपने घर में रखे चिडिया मारने की बंदूक निकाल कर पुलिस के सीने में टिका दिया, पुलिस ने आरोपी को वही पर दबोच लिया और उसके साथ उसके पाटर्नर प्रदीप धुर्वा को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके घर से नोट छापने के लिए इस्तेमाल किये जा रहे कलर प्रिंटर, कागज बरामद कर आरोपियों को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने  चारों आरोपियों के खिलाफ धारा 489क,ग,घ,ड़ 34 भादवि, दर्ज कर जेल भेज दिया है।

 

28-06-2020
जेल प्रहरी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज

कोरबा। कटघोरा उप जेल के रिश्वत कांड में निलंबित चल रहे पूर्व जेल प्रहरी पर कटघोरा थाना क्षेत्र की एक युवती ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। युवती ने अपनी रिपोर्ट में बयान दिया है कि उक्त आरोपी अक्सर उसके घर घुस जाया करता था और एक दिन मौका पाकर आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। युवती की रिपोर्ट पर कटघोरा पुलिस ने आरोपी जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार के खिलाफ अपराध कायम कर लिया है। मामला कटघोरा उप जेल में निलंबित चल रहे जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार से जुड़ा हुआ है। यह निलंबित जेल प्रहरी पूर्व में रिश्वत कांड के कारण चर्चा में आया था।

पिछले साल ही दिसंबर में आरोपी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की घूस मांगी थी। तब उसे एसीबी की टीम द्वारा दस हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था और सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। फिलहाल आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार जमानत पर बाहर हैं। युवती ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहा करती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपी ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे दिया। युवती ने हिम्मत कर अपने साथ हुई इस घटना की जानकारी कटघोरा थाने पहुंच कर दी और फिर कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376,450 के तहत अपराध कायम कर लिया है। इसके साथ ही कटघोरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने अपना अभियान तेज कर दिया है।

27-06-2020
16 पाव अवैध देशी मदिरा जब्त

रायपुर। अवैध शराब के साथ एक युवक को विधानसभा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर 16 पाव देशी मदिरा जब्त किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर की सूचना पर ग्राम पचपेडा नरहदा मार्ग पर छोला में अवैध शराब लेकर जा रहे लक्ष्मण गायकवाड आयु 35 वर्ष को पुलिस ने रोककर झोले की तलाश लिया तो उसमें 16 पौवा देशी मंदिरा मसाला सील बंद हालत में प्रत्येक शीशियों पर 180—180 कुल मात्रा 2.880 बल्क लीटर कीमती 16 सौ रूपये को जब्त किया। आरोपी को धारा नोटिस दिया,जो मदिरा रखने परिवहन करने संबंधी कोई दस्तावेज प्रस्तुत नही किया कि आरोपी द्वारा अवैध रूप से मंदिरा परिवहन करना पाये जाने से  उसके विरूद्ध अपराध धारा 34(ए) आबकारी एक्ट की कार्यवाही कर आरोपी को जमानत मुचलका पर रिहा किया गया।

 

27-06-2020
हाईटेक स्टाइल में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 4 गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी में हाईटेक स्टाइल में आधा दर्जन चोरियों की वारदात को अंजाम देने वाले एक गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। गिरोह के चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी के सात लाख के सामान बरामद किया गया है। आरोपी चोरी के दौरान वॉकी-टॉकी का इस्तेमाल किया करते थे। रायपुर में हो रहे लगातार चोरी की घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ एच शेख द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध पंकज चंद्रा एवं नगर पुलिस अधीक्षक उरला अभिषेक माहेश्वरी को अज्ञात आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तारी के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर उक्त राजपत्रित अधिकारियों द्वारा मौके पर जाकर घटना स्थल का निरीक्षण किया गया एवं कार्य योजना तैयार कर सायबर सेल एवं थानों से पृथक-पृथक टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण किया जाकर घटना के संबंध में विभिन्न थाना क्षेत्रों के प्रार्थीगण तथा आसपास के लोगों से घटना के संबंध में विस्तृत पूछताछ किया गया।

नकबजनी व चोरी के पुराने एवं हाल ही में जेल से रिहा हुए व्यक्तियों के संबंध में भी जानकारियां एकत्र की जाकर घटना स्थल के आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का अवलोकन करने के साथ-साथ तकनीकी विश्लेषण कर अज्ञात आरोपियों को चिन्हांकित करने के प्रयास किये जा रहे थे। सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के अवलोकन से आरोपियों के आने जाने वाले रास्तों का पता चला जिस पर टीम ने उस स्थान के आसपास के इलाकों में रहने वाले पुराने नकबजन एवं अपने मुखबिरों से संपर्क स्थापित किया। इसी दौरान टीम को जानकारी प्राप्त हुई कि शाहिल कौशालय जो हिमालयन हाईट्स में ही निवास करता है तथा रायपुर शहर में अपने दोस्तों के साथ मिलकर किराये का घर लिया हुआ है, जिसका हुलिया फूटेज से प्राप्त फोटो से मैच कर रहा था।  टीम द्वारा शाहिल कौशालय को पकड़ेर चोरी के संबंध में पूछताछ करने पर बार-बार अपना बयान बदल रहा था एवं किसी भी प्रकार की घटना में अपनी संलिप्तता नहीं होना बताकर लगातार टीम को गुमराह करने का प्रयास कर रहा था।

जिस पर टीम द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी ने अपने अन्य 3 साथियों के साथ मिलकर रायपुर शहर के विभिन्न थाना क्षेत्रों (राजेन्द्र नगर, पुरानी बस्ती, मुजगहन) में चोरी करना स्वीकार किया गया। टीम द्वारा आरोपियों की निशानदेही पर चोरी की सोने चांदी के जेवरात, 2 नग लेपटॉप, एलईडी टीव्ही, इलेक्ट्रानिक सामान, घरेलु सामाग्री, वॉकीटॉकी एवं घटना में प्रयुक्त 1 नग एक्टिवा एवं 1 नग बुलेट मोटर सायकल जुमला कीमती 7 लाख रुपये बरामद किया गया है। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है। गिरफ्तार आरोपियों में शाहिल कौशालय निवासी एच.आई.जी. 107 ब्लॉक नं.4 हिमालयन हाईट तेलीबांधा थाना, सचिन टण्डन निवासी कृष्णपुरी देवपुरी कुर्सी फैक्ट्री के पास देवपुरी थाना टिकरापारा, शुभम सेन निवासी गली नं.8 महात्मा गांधी नगर पेट्रोल पंप के पास अमलीडीह थाना न्यू राजेन्द्र नगर एवं रोहित मुखर्जी निवासी ढेबर सिटी भांठागांव थाना पुरानी बस्ती शामिल है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804