GLIBS
27-01-2020
अनावश्यक कारणों से चेन पुलिंग करने पर रेलवे अधिनियम की धारा 141 के तहत होगी कार्रवाई

रायपुर। यात्रियों को ट्रेनों में किसी भी आपातकालीन या गंभीर स्थिति में ट्रेन को नियंत्रित करने के लिए अलार्म चेन लगाई गई है। परंतु प्राय: देखने में आता है कि कुछ यात्री इसका दुरुपयोग करते हैं अनावश्यक क्षेत्रों में एवं जिन स्टेशनों पर ठहराव नहीं दिया गया है वहां गाड़ी रोकने के लिए चेन पुलिंग करते हैं। तेज गति से चल रही ट्रेनों में चेन पुलिंग के कारण हादसा भी हो सकता है। अनावश्यक ट्रेन के ठहराव के कारण लोकोमोटिव में फ्यूल की खपत भी बढ़ जाती है। इससे फ्यूल की बर्बादी होती है ट्रेन में एक चेन पुलिंग के कारण हजारों सह यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है एवं अपने आवश्यक कार्यों से अपने गंतव्य स्थल तक पहुंचने में विलंब होता है। बेवजह चेन पुलिंग मामलों में रेलवे एक्ट की धारा 141 के तहत 1000 रुपये जुर्माना या एक साल की कैद अथवा दोनों का प्रावधान है। रेलवे मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया जाता हैं।

रायपुर रेल मंडल ने चेन पुलिंग के अंतर्गत वर्ष 2018 में लगभग 883 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर 3,04,005 रुपये जुर्माना वसूला है। इसी प्रकार विगत वर्ष 2019 के दौरान 837 मामलों से 2,56,565 रुपये रुपये जुर्माना वसूला है। इस वर्ष जनवरी-2020 में अब तक 44 मामले आये है यह अधिकांश रेलवे स्टेशन रायपुर, दुर्ग, भिलाई, भिलाई नगर, भिलाई पावर हाउस में दर्ज किये गये है । चेन पुलिंग घटनाओं की रोकथाम के लिए वाणिज्य विभाग एवं रेलवे सुरक्षा बल के समन्वय से विशेष अभियान चलाया जाता है।

 

27-01-2020
नाबालिग सहित गिरोह करता था रैकी, देते थे चोरी की वारदात को अंजाम, फंसे पुलिस के जाल में

कवर्धा। डाॅ.लाल उमेद सिंह, पुलिस अधीक्षक के मार्गनिर्देशन एवं अनिल कुमार सोनी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कबीरधाम द्वारा कवर्धा शहर में विगत कई माह से हो रही सुने मकान में चोरी के मामलो को गंभीरता से लेते हुए उक्त मामलो की समीक्षा की जाकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार सोनी के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। इसमें अज्ञात आरोपियों की पतासाजी के लिए थाना कवर्धा एवं तकनीकी शाखा की टीम गठित की गई। उक्त टीम द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा प्राप्त निर्देशानुसार अलग-अलग कार्य विभाजन कर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी करने लगे तथा टीम द्वारा जिन-जिन स्थानों से चोरी के वारदात हुई है। उन क्षेत्रों में लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज का विश्लेषण उपरांत कुछ संदिग्ध व्यक्तियों की चलचित्र दिखाई देने पर टीम द्वारा उक्त संदिग्ध व्यक्तियों की पतासाजी करने का प्रयास किया गया। पूर्व में चोरी की घटनाओं मे संलिप्त व्यक्तियों से पुछताछ की गई। इसी दौरान टीम को विश्वनीय सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई कि नाबालिग बालक के द्वारा अत्यधिक रकम खर्च की जा रही है। इस आधार पर नाबालिग बालक से पूछताछ करने पर अपने अन्य साथियों के साथ कवर्धा शहर के अलग-अलग स्थानों पर चोरी करना स्वीकार किया। उसके पास से चोरी के मामले के नगदी रकम बरामद किया गया। नाबालिग बालक द्वारा अपने अन्य साथियों का नाम पता बताने पर उसके निशानदेही पर उनके अन्य साथियों से भी पूछताछ करने पर अपना नाम सुरवीर देवार, राज देवार एवं एक अन्य बालक का होना बताया। जिन सभी ने कवर्धा शहर के विभिन्न क्षेत्रों रामनगर, गंगानगर, आजाद चैक, गायत्री मंदिर के पीछे, प्रोफेसर काॅलोनी, घोठिया रोड में चोरी करना स्वीकार किए। आरोपियों से चोरी के बचे हुए नगदी रकम एवं सोने चांदी के जेवर बरामद किया। गिरफ्तार आरोपियों से शहर में हुई अन्य चोरियो के संबंध में पूछताछ करने पर नगदी रकम एवं जेवर के अतिरिक्त एलईडी टीवी एवं अन्य साम्रगियों को जब्त किया गया। आरोपियों के विरूद्ध थाना कवर्धा मे निम्नांकित अपराध पंजीबद्ध किया गया। वही आरोपियो से कुल 8,33,850 रूपये रकम, एवं सोना के जेवर कुल ग्राम 357 ग्राम कुल 14,28,000 रूपये एवं चांदी के जेवर कुल 356 ग्राम कुल 17,500 रूपये बरामद कुल जुमला करीबन् 23 लाख रूपये बरामद किया गया। 

 

27-01-2020
किडनैपिंग के आरोपी ने मीडिया से कहा, गलती से हुआ प्रवीण सोमानी का अपहरण

रायपुर। कारोबारी प्रवीण सोमानी अपहरण कांड में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने अपराध में शामिल 3 आरोपियों को उड़ीसा के गंजाम से गिरफ्तार कर लाई है। रायपुर एसएसपी आरिफ शेख आरोपियों को मीडिया के सामने लेकर आए। मीडिया से मुखातिब आरोपियों में से एक शिशिर स्वायीन (24) निवासी गंजाम ने कहा कि प्रवीण सोमानी की जगह किसी और का अपहरण किया जाना था। प्रवीण सोमानी का अपहरण गलती से हो गया। पुलिस के लगातार दबाव में कारोबारी को छोड़कर भागना पड़ा।

रायपुर एसएसपी आरिफ शेख ने कहा कि प्रवीण सोमानी अपहरण मामले में पुलिस दो आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। कारोबारी को उत्तर प्रदेश से छुड़ाकर लाने की कार्रवाई के दौरान रायपुर पुलिस ने प्रत्येक स्थानों पर एक सूचना तंत्र विकसित किया था। पुलिस को अपहरण में शामिल आरोपियों के उड़ीसा में होने की सूचना मिली। रायपुर पुलिस की एक टीम उड़ीसा के गंजाम में कैम्प कर आरोपियों की तलाश करने लगी। गंजाम से उन्होंने तीन आरोपियों शिशिर स्वायीन, तूफान गोंड और प्रदीप भूयान को गिरफ्तार किया। 

आरिफ शेख ने कहा कि गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उनके गिरोह का सरगना पप्पू चौधरी है। सूरत जेल में तीनों पप्पू चौधरी के सम्पर्क में आए थे। नवम्बर 2019 को पप्पू चौधरी ने उनके अन्य साथी मुन्ना नाहक के माध्यम से सम्पर्क किया। इसके बाद दो बार उड़ीसा और 1 बार पटना बिहार में मुलाकात हुई। योजना के अनुसार सभी 3 जनवरी को रायपुर पहुंच गए थे। पप्पू चौधरी अपने साथ दो गाड़ियां और अन्य साथियों को लेकर आया था। आरोपियों के रूकने की व्यवस्था पप्पू चौधरी के रिश्तेदार अनिल चौधरी ने की थी। 8 जनवरी को वारदात के बाद सभी उत्तरप्रदेश के लिए रवाना हो गए थे। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि लगातार बढ़ते दबाव और अलग अलग राज्यों में उनसे संबंधित लोगों और उनके घरों में की जा रही छापेमार कार्रवाई से वे काफी दबाव में आ गए। इसके बाद उसे फैजाबाद के पास छोड़कर भाग गए। 

 

27-01-2020
सिटी बस चालक की लापरवाही, युवक का सिर कुचला, आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। रेलवे स्टेशन में सिटी बस चालक ने खरोरा से पंडरी जा रहे युवक को बस की चपेट में ले लिया। ज्ञातव्य है कि सिटी बस चालक ने ब्रेक नही लगाया था जिससे बस अपने आप आगे बढ़ गई और युवक का सिर कुचलकर आगे बढ़ गई। युवक की मौके पर ही मौत हो गई । घटना के बाद स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया व सिटी बस चालक को पकड़ लिया। मौके पर GRP थाना प्रभारी सहित आला अधिकारी घटनास्थल पहुँचे। जीआरपी थाना से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी सिटी बस चालक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ लापरवाहीपूर्वक गाड़ी चलाने आईपीसी की धारा 279 व गैर इरादतन हत्या 304A के तहत अपराध पंजीबध्द किया गया है। मृतक की पहचान फ़िलहाल नहीं हो पाई, उसके जेब से एक बस का टिकट बरामद हुआ है जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

25-01-2020
दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार, शादी का झांसा देकर किया था दैहिक शोषण

धमतरी। पुलिस को एक और कामयाबी मिली जब दुष्कर्म का एक और आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा। मामला सिटी कोतवाली में 23 जनवरी को दर्ज किया गया था। जब प्रार्थिया ने लिखित आवेदन प्रस्तुत कर रिपोर्ट दर्ज कराई कि आरोपी शुभम साहू ने प्रार्थिया युवती से प्यार करने का झांसा देकर व बहला-फुसलाकर शादी करने की बात कहकर शारीरिक संबंध बनाकर दुष्कर्म किया,जिससे वह गर्भवती हो गई। प्रार्थिया ने गर्भवती होने की जानकारी आरोपी को देकर शादी करने बोली,जिस पर आरोपी ने दवाई लाकर युवती को दिया और शादी बाद में करूंगा कहकर दवाई खिला दिया, जिससे गर्भपात होने पर उसका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। वहीं युवती के द्वारा शादी करने के लिए कहने पर आरोपी ने मना कर किसी को बताने पर वीडियो, फोटो वायरल कर बदनाम करने की धमकी देने लगा।
वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के द्वारा त्वरित कार्यवाही कर आरोपी को गिरफ्तार करने निर्देशित किया गया।

इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे एवं उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सिटी कोतवाली भावेश गौतम के द्वारा टीम तैयार कर साइबर तकनीकी शाखा के सहयोग से आरोपी के छिपने के हर संभावित स्थानों में पता तलाश कर गिरफ्तार करने के लिए रवाना किया गया। इसी दौरान तकनीकी साक्षयों एवं मुखबिर सूचना पर पतासाजी करते हुए आरोपी शुभम साहू को ग्राम छुरा जिला गरियाबंद से हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। इसके द्वारा अपराध घटित करना स्वीकार करने पर आरोपी शुभम साहू उम्र 24 वर्ष निवासी ग्राम मडेली थाना कुरुद जिला धमतरी को विधिवत गिरफ्तार कर धारा 376,315 भादवि पंजीबद्ध कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

25-01-2020
लश्कर के सात ग्राउंड वर्कर गिरफ्तार, सुरक्षाबलों ने जब्त किए भारी मात्रा में गोला-बारूद

नई दिल्ली। आतंकवाद के खिलाफ जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बांदीपोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर के सात ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया है। गणतंत्र दिवस से ठीक एक दिन पहले हुई इनकी गिरफ्तारी पुलिस के लिए काफी अहम मानी जा रही है। इनके पास से 2 पिस्टल, 6 ग्रेनेड, 2 वायरलेस सेट समेत अन्य सामग्री बरामद की गई है। बांदीपोरा के हाजिन इलाके में सेना और पुलिस ने यह कार्रवाई की। सुरक्षा एजेंसियां इनसे पूछताछ कर रही हैं। बता दें कि ओवर ग्राउंड वर्कर जिसे संक्षेप में ओजीडब्ल्यू कहा जाता है। ये आम लोगों की तरह रहकर आतंकियों के लिए काम करते हैं। किसी आतंकवादी घटना को अंजाम देने के लिए ये ओजीडब्ल्यू आतंकवादियों के लिए जमीन तैयार करते हैं। यह आतंकियों तक सुरक्षाबलों की सूचनाएं पहुंचाने के साथ ही उनके लिए हथियार, पैसा और सुरक्षित ठिकाने का बंदोबस्त करते हैं। आतंकवादियों के साथ ही ये ओजीडब्ल्यू सेना के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं हैं। सुरक्षाबलों के भारी दवाब के चलते आतंकी और उनके मददगार ओवर ग्राउंड वर्कर छिपे हुए हैं। सुरक्षाबलों ने ऐसी रणनीति बनाई है कि आम लोगों के साथ उनका संपर्क ही न होने पाए। इसके चलते पथराव की घटनाएं भी कम हुई हैं।

सुरक्षा एजेंसियों के पास मौजूद इनपुट के अनुसार, घाटी में फिलहाल 300 आतंकी सक्रिय हैं। ओजीडब्ल्यू की संख्या छह हजार से अधिक है। यह ओजीडब्ल्यू ही आतंकियों को मदद पहुंचाने के साथ घाटी में हिंसा और पत्थरबाजी को भी बढ़ावा देते हैं। इससे पहले 16 नवंबर को लश्कर के पांच ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) गिरफ्तार किए गए थे। गिरफ्तार ओजीडब्ल्यू से दो हैंड ग्रेनेड के अलावा अन्य सामग्री भी बरामद हुई। पकड़े गए ओजीडब्ल्यू इलाके में पाकिस्तान में बैठे आकाओं के इशारे पर लोगों को धमका कर आतंक फैलाते थे। वह इलाके में धमकी भरे पोस्टर लगाने के साथ-साथ इलाके में आतंकवाद की जड़ें मजबूत करने के लिए भी काम कर रहे थे।

25-01-2020
जामिया हिंसा का एक और आरोपी को एसआईटी ने किया गिरफ्तार, कोर्ट ने भेजा न्यायिक हिरासत में

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की एसआईटी ने जामिया नगर में 15 दिसंबर को हुई हिंसा के मामले में एक और आरोपी मोहम्मद फुरकान (22) को गिरफ्तार किया है। फुरकान सीसीटीवी फुटेज में हाथ में केन लिए दिखा था। गिरफ्तारी के विरोध में अमानतुल्ला खान ने समर्थकों के साथ जामिया नगर थाने में हंगामा किया था। साकेत कोर्ट की मुख्य महानगर दंडाधिकारी गुरमोहिना कौर की कोर्ट में फुरकान को शुक्रवार शाम पेश किया गया। कोर्ट ने उसे तीन दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। पुलिस ने उसका रिमांड नहीं मांगा था। एसआईटी प्रमुख डीसीपी राजेश देव ने बताया कि दिल्ली में सीएए के विरोध में हुई हिंसा में यह 102वीं गिरफ्तारी है। जगह-जगह हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस ने कुल 10 एफआईआर दर्ज की थीं। इनमें भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर समेत 102 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। मोहम्मद फुरकान इलेक्ट्रीशियन है। वह हिंसा वाले दिन माता मंदिर रोड पर एक कोठी के सीसीटीवी कैमरों में दिखा था। फुटेज में वह हाथ में प्लास्टिक की केन लिए इधर-उधर आता-जाता दिखा है। इस फुटेज से फोटो बनाकर स्थानीय लोगों से पहचान कराई गई थी। पुलिस को आशंका है कि उसके हाथ की केन में ज्वलनशील पदार्थ था और उसने बस में आग लगाई। माता मंदिर रोड पर दो बसों में आगजनी की गई थी।

बताया जा रहा है कि फुरकान को गुरूवार की शाम जामिया नगर थाने बुलवाया गया था। वहां से एसआईटी उसे गिरफ्तार करके ले गई। इसके बाद अमानतुल्ला खान समेत कुछ लोगों ने थाने में हंगामा किया। वहीं, एसआईटी के अधिकारियों का दावा है कि फुरकान को जामिया नगर मेट्रो स्टेशन के पास से ही गिरफ्तार किया गया है। डीसीपी राजेश देव ने कहा कि सबूत मिलने के बाद ही किसी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

हिंसा में शामिल नहीं था बेटा

फुरकान के पिता मो. नईम का कहना है कि उनका बेटा हिंसा में शामिल नहीं था। उसे शक के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। उनके मुताबिक, फुरकान प्रदर्शन में मौजूद जरूर था, लेकिन उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं है। बेटे से मिलने के लिए मो. नईम वकील आलमदार हुसैन नकवी के साथ चाणक्यपुरी स्थित अपराध शाखा के कार्यालय पहुंचे। वकील ने दावा किया कि एक छोटी सी बहस के कारण फुरकान को गिरफ्तार किया गया है। उसका पिछला रिकॉर्ड ठीक है।

दो एफआईआर में 16 गिरफ्तारी हुईं

दक्षिण-पूर्व जिले के जामिया नगर इलाके में सीएए के खिलाफ हुई हिंसा में एफआईआर जामिया नगर व एनएफसी थाने में दर्ज हैं। पुलिस ने जामिया नगर हिंसा मामले में 8 व एनएफसी की एफआईआर में नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया है। असद मोहम्मद को दोनों एफआईआर में गिरफ्तार किया गया है।

24-01-2020
चोरी के हैदराबादी कबूतरों के साथ ऑटो चालक गिरफ्तार

दुर्ग। चोरी के हैदराबादी कबूतरों के साथ पुलिस ने आटो चालक को पकड़ा है। जहां से उसे जेल भेजा गया। आकाश में करतब बाजी दिखाने वालें हैदराबादी कबूतरों की चोरी किए जाने के मामले का पद्मनाभपुर पुलिस द्वारा खुलासा किया गया है। इस मामले में पुलिस ने एक आटो चालक को अपनी गिरफ्त में लिया है। आरोपी कब्जें से चोरी किए गए 7 सफेद कबूतरों को बरामद किया गया है। आरोपी आटो चालक दीपक भारती ने इन कबूतरों की चोरी कसारीडीह निवासी बालकृष्ण नागेश के निवास से पिछली 20 जनवरी को चोरी किए थे। जिनकी बाजार मूल्य 10 हजार रु. बताया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी दीपक नगर क्षेत्र का निगरानी बदमाश है। आरोपी कब्जें से कबूतर बरामद कर वारदात में उपयोग लाए गए आटो क्र. सीजी-07 बीएम-4841 को भी जब्त कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस ने दफा 457, 380 का मामला दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया। 

 

24-01-2020
मध्यप्रदेश की 90 पेटी अवैध शराब के साथ दो गिरफ्तार

 

तिल्दा-नेवरा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तिथि नजदीक आते ही तिल्दा थाना क्षेत्र में अवैध शराब की खेप बड़ी मात्रा में आना शुरू हो गई है। अभी कुछ दिनों पहले ही रायपुर आबकारी विभाग की टीम ने तिल्दा से लगे ग्राम टंडवा के एक घर से हरियाणा की 40 पेटी अवैध मदिरा के साथ एक महिला आरोपी को गिरफ्तार किया था। एक बार फिर तिल्दा थाना क्षेत्र के ग्राम बहेसर के एक बाड़े से नेवरा पुलिस ने मध्यप्रदेश की 90 पेटी देशी और विदेशी मदिरा और एक पिकअप वाहन जब्त की है। साथ ही पुलिस ने दो आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है। नेवरा थाना प्रभारी शरद कुमार चंद्रा ने बताया कि मुखबिर से सुचना मिली थी कि मध्यप्रदेश की अवैध शराब पास के ही गाँव में लाकर रखी गई है, जिसके बाद उन्होंने टीम गठित की और बहेसर पहुंच कर 90 पेटी अवैध शराब के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया।

 

24-01-2020
मोबाइल चोरी करने वाले चोरों समेत तीन खरीददार गिरफ्तार

कोरबा। कोतवाली थाना क्षेत्र में मोबाइल चोरी करने वाले शातिर चोरों को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही चोरी का मोबाइल खरीदने वाले तीन अन्य लोगों को भी पकड़ने में पुलिस ने सफलता हासिल की है। कोतवाली प्रभारी दुर्गेश शर्मा ने बताया कि कुछ माह पूर्व सीतामढ़ी क्षेत्र में रहने वाले रामबालक कि मोबाइल अज्ञात चोर ने चोरी कर ली थी। चालीस हजार किमती मोबाइल की चोरी की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला पंजीबद्ध कर मामले की तहकीकात में जुटी हुई थी। इस बीच प्रभारी दुर्गेश शर्मा को साइबर सेल की टीम की ओर से पता चला कि उक्त चोरी के मोबाइल को शहर में संचालित किया जा रहा है, जिसके आधार पर पुलिस ने लक्ष्मण बनतालाब निवासी राकेश यादव को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपराध कबूल कर लिया है। 

 

24-01-2020
अवैध गांजे के साथ युवक गिरफ्तार

जांजगीर चाम्पा। जिले में थाना बाराद्वार पुलिस ने कार्रवाई देखने को मिली है, जहां पुलिस ने दबिश देकर आरोपी चूणामणि साहू के पास से 21 पैकेट अवैध गांजा के साथ गिरफ्तार कर लिया है। वहीं आरोपी को न्यायिक रिमांड में भेज दिया गया है। बता देें कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम रायपुरा का चूणामणी साहू पिता अपनी टाटा मेजिक सवार वाहन क्रमांक सीजी 11 एक्यू 9161 में अवैध मनोतेजक पदार्थ गांजा भरकर बेचने के लिए जा रहा था, जिसे पुलिस ने ग्राम रायपुरा जाकर गोपनीय तरीके से घेराबंदी कर आरोपी चूणामणी साहू को रात करीब 12 बजे अपने टाटा मेजिक में एक प्लास्टिक के बोरी के अंदर 21 पैकेटों में भरा हुआ गांजा लेकर घर से जैसे ही निकला गांव के ही श्याम देवांगन के घर के पास पहुंचा था जिसे घेरकर पकड़ लिया गया। कार्यवाही करते हुए आरोपी चुणामणी साहू को रायपुरा के कब्जे से टाटा मेजिक क्रमांक सीजी 11 एक्यू 9161 तथा उसमें लोड गांजा 20किलो 500 ग्राम कीमत 1,02,500.00 रू का जप्त कर धारा 20 बी एनडीपीएस का अपराध पाये जाने से  अपराधी, जप्ती वाहन एवं गांजा के थाने पर लाकर अपराध 29/20 धारा 20 बी एनडीपीएस एक्ट के तहत् कार्यवाही की गई आरोपी को पुलिस अभिरक्षा में लिया गया है। वहीं जप्ती गांजा के विषय में उडीसा के नये-नये लोगों द्वारा गांजा पहुचाने की बात बताया है जिनकी तलाश की जाती है। आरोपी को न्यायिक रिमाण्ड पर माननीय न्यायालय प्रस्तुत किया गया है।

 

24-01-2020
महंगी कार में घूमकर करते थे डीजल चोरी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोरिया। महंगी कारों में घूम कर डीजल चोरी करने वालों को पुलिस ने धर दबोचा है। अपराध करने के लिए महंगे वाहन का उपयोग करते थे ताकि लोग शक न कर सकें। इस पूरे मामले में जानकारी देते हुए एडिशनल एसपी डॉ पंकज शुक्ला ने बताया कि 22 जनवरी को दीपक खिरिया निवासी बिजली ने खड़गांव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। उसने बताया कि बचरा पोरी सपना ट्रेडर्स के सामने सीमेंट से लोड उसकी ट्रक खड़ी थी। उसकी डीजल टंकी का ताला तोड़कर लगभग 200 लीटर डीजल अज्ञात चोरों ने चोरी कर लिया है। जानकारी मिलते ही पुलिस कप्तान चंद्र मोहन सिंह ने थाना प्रभारी अश्वनी सिंह के नेतृत्व में एक टीम गठित की। इस दौरान पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि कुछ संदेहास्पद लोग बंजारीडांड में सफारी वाहन से आना-जाना कर रहे हैं। सूचना मिलने पर पुलिस ने पतासाजी करते हुए बंजारीडांड में राजेंद्र साहू के घर के सामने से घेराबंदी कर वाहन क्रमांक सीजी 16 सी बी 8500 पकड़ कर पूछताछ की।

इस दौरान गिरोह के सदस्य भागने लगे जिन्हें दौड़ाकर पकड़ा गया। पूछताछ पर पता चला कि गाड़ी में चोरी का डीजल रखकर आरोपी राजेंद्र साहू के पास बेचने आए थे। आरोपियों से पूछताछ करने पर उन्होंने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के पास से 200 लीटर डीजल पाइप, चाबी का गुच्छा, लोहे की रॉड और डंडा बरामद किया है। पुलिस ने आरोपी मनोज तिवारी निवासी बिजुरी, अनंत सिंह निवासी बिजुरी, विजय सिंह निवासी मनेंद्रगढ़, पप्पू सिंह निवासी लेदेरी को गिरफ्तार किया। बता दें कि आरोपी पिछले 2 वर्ष से बिजुरी, रानी उतारी, कोरबी, रतनपुर, खडगांवा, बचरा पौड़ी, बैकुंठपुर मनेंद्रगढ़, सूरजपुर, भैयाथान, प्रतापपुर, भटगांव और अंबिकापुर सहित अनेक जो पर चोरी की घटना को अंजाम दिया करते थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804