GLIBS
17-04-2021
प्रत्येक गांव में 20-20 वाॅलिंटियर्स नियुक्त कर टीकाकरण के लिए प्रेरित व प्रोत्साहित करें : कलेक्टर

धमतरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने शनिवार को नगरी क्षेत्र का दौरा करके कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने कोविड केयर सेंटर, टीकाकरण केन्द्र तथा ग्राम बेलरगांव व सांकरा में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर का दौरा कर अधिकारियों को दिशानिर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने प्रत्येक ग्राम में 20-20 वाॅलिंटियर्स नियुक्त कर टीकाकरण के प्रति जागरूकता लाने व ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर ने सबसे पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (मातृ-शिशु स्वास्थ्य केन्द्र) में स्थापित कोविड टीकाकरण केन्द्र का निरीक्षण किया, जहां पर टीका लगवाने आए लोगों से मिलकर उनसे चर्चा की। उन्होंने वैक्सिनेशन के लिए आए लोगों से कहा कि यह टीका तभी प्रभावी होगा जब उसके दोनों डोज लगाए जाएंगे, इसलिए कोविड के दोनों टीके लगाना अनिवार्य है।

साथ ही घर जाकर अपने परिजनों, पड़ोसियों व ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने की भी बात कलेक्टर ने कही। इसके बाद वहां स्थापित डाटा सेंटर में जाकर डाटा एंट्री की जानकारी ली तथा टीकाकरण कर रहीं स्टाफ नर्स को कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए खुद को सुरक्षित रखकर अपनी ड्यूटी करने की बात कही। साथ ही प्रत्येक दिन के औसतन वैक्सिनेशन की भी जानकारी कलेक्टर ने ली। उसके पश्चात् पुराने अस्पताल भवन में स्थित कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया, जहां पर उन्होंने मौजूद स्टाफ, ऑक्सीजनयुक्त बेड की संख्या आदि के बारे में पूछा बीएमओ डाॅ.ठाकुर ने बताया कि कोविड सेंटर में सेंट्रल सप्लाई वाले छह बेड हैं तथा ऑक्सीजन काॅन्संट्रेटर है, इसके लिए छह अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर है जो कि पर्याप्त है, इस प्रकार यहां पर कुल 42 आक्सीजनेटेड बेड उपलब्ध हैं। उन्होंने यह भी बताया कि आज 11 कोविड मरीज रिकवर होकर डिस्चार्ज हुए हैं। इसके उपरांत नगरी के बरगद चैक स्थित 250 सीटर आदिवासी कन्या छात्रावास में स्थापित किए गए कोविड केयर सेंटर का कलेक्टर ने औचक निरीक्षण कर वहां सेवा दे रहे स्टाफ को मरीजों के कक्ष में जाने से पहले पीपीई किट अनिवार्य रूप से पहनने के लिए कहा। साथ ही एसडीएम नगरी जितेन्द्र कुर्रे को द्विआयामी संचार पद्धति (टू वे कम्युनिकेशन सिस्टम) तैयार करने के लिए निर्देशित किया जिससे मरीज और स्टाफ के बीच सीधी व प्रत्यक्ष बातचीत हो सके।


इसके उपरांत वापस सीएचसी नगरी आकर स्वास्थ्य विभाग, राजस्व, पुलिस तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अनुभाग व ब्लाॅक स्तर के अधिकारियों की बैठक लेकर लाॅकडाउन के दौरान शासन के आदेशों का अक्षरशः पालन करने संबंधी व आगे की रणनीति पर चर्चा की। उन्होंने यह भी कहा कि प्रत्येक ग्राम में 20-20 युवकों का समूह तैयार कर उन्हें वाॅलिंटियर्स बनाकर टीकाकरण के लिए लोगों को जागरूक करने व कोविड के लाक्षणिक मरीजों की पहचान कर संबंधित मैदानी अमले को सूचित करने का काम करेंगे। साथ ही उनके द्वारा ग्रामीणों को मास्क पहनने, बार-बार साबुन से हाथ धोने व एक-दूसरे से पर्याप्त बनाए रखने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। इसके अलावा विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक व धार्मिक संगठनों के सहयोग से लोगों को प्रोत्साहित करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। वाॅलिंटियर्स नियुक्ति का काम अगले 7 दिनों के भीतर पूर्ण करने के लिए कलेक्टर ने निर्देशित किया। इस अवसर पर उपस्थित जिला पंचायत के सीईओ मयंक चतुर्वेदी ने भी नगरी ब्लाॅक में वैक्सिनेशन व रिकवरी दर की प्रशंसा करते हुए आगे भी बेहतर ढंग से कार्य करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।


इसके बाद कलेक्टर ने विकासखण्ड के ग्राम बेलरगांव व सांकरा में स्थापित आइसोलेशन सेंटर व वैक्सिनेशन सेंटर का आकस्मिक दौरा कर स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों व ग्रामीणों से चर्चा कर धनात्मक मरीजों को अनिवार्य रूप से आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कराने कहा जिससे मरीज के सम्पर्क के दायरे को न्यूनतम किया जा सके व अन्य लोगों को संक्रमण की चपेट में आने से बचाया जा सके। तदुपरांत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सांकरा में स्थित टीकाकरण केन्द्र का दौरा कर अब तक के टीकाकरण की प्रगति की जानकारी ली। केन्द्र प्रभारी ने बताया कि लक्ष्य के विरूद्ध अभी लगभग 200 लोगों का वैक्सिनेशन किया जाना शेष है, जिस पर कलेक्टर ने अगले तीन दिनों के भीतर शत-प्रतिशत पात्र लोगों का टीकाकरण पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने ब्लाॅक के इन दोनों बड़े ग्रामों में कोविड के संक्रमण को रोकने के लिए विशेष रूप से रणनीति तैयार कर कार्य करने के निर्देश स्वास्थ्य, पंचायत एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर एसडीएम, एसडीओ पुलिस, बीएमओ, तहसीलदार, बीपीएम सहित पंचायत विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

 

17-04-2021
निशक्त सचिन ने चिलचिलाती धूप में लगवाया टीका,कहा- टीकाकरण से ही बच सकती है जान

धमतरी। वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से बचने के लिए शासन द्वारा व्यापक टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है तथा जिले में रोजाना हजारों की संख्या में लोग टीकाकरण करा रहे हैं। कोविड के टीकाकरण को लेकर लोगों में भ्रांतियां भी फैली हुई हैं। जागरूकता के अभाव में कुछ लोग वैक्सिनेशन के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। वहीं आज एक ऐसा प्रेरक प्रसंग सामने आया,जो लोगों में टीकाकरण को लेकर काफी प्रेरक व ज्वलंत मिसाल साबित होगा। धमतरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत बरारी निवासी सचिन नागवंशी पैरों से निःशक्त होते हुए भी अप्रैल माह की चिलचिलाती धूप में खुद टीका लगवाने टीकाकरण केन्द्र तक आए। बता दें कि 34 वर्षीय युवक सचिन दोनों पैरों से निशक्त हैं तथा वह वर्तमान में जनपद पंचायत धमतरी में कम्प्यूटर ऑपरेटर के तौर पर सेवारत हैं। सचिन ने बताया कि जन्म से ही वे पैरों से दिव्यांग हैं, लेकिन वह खुद को बेबस या लाचार न बनाकर स्नातक तक की पढ़ाई की और अपनी योग्यता के बूते जनपद पंचायत में कम्प्यूटर ऑपरेटर के तौर पर पदस्थ हैं। पूछे जाने पर सचिन ने कहा कि कोरोना वायरस आज महामारी का रूप ले चुका है और सिर्फ टीकाकरण से ही लोगों की जान बचाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि लोगों को अफवाहों पर ध्यान देने के बजाय टीकाकरण कराना चाहिए, जिससे उनकी और उनके परिवारजनों की जिंदगी बच सकती है। साथ ही घर से बाहर जाने पर मास्क लगाने, सैनिटाइजर का उपयोग करने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने से काफी हद तक इसके संक्रमण से बचा जा सकता है। लोगों की जागरूकता से ही कोरोना का परास्त किया जा सकता है।

16-04-2021
2 लाख 3 हजार से अधिक लोगों को लगी कोविड वैक्सीन,ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए केन्द्रों पर पहुंच रहे लोग

कोरबा। जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं उसे फैलने से रोकने के लिए 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकारण तेजी से जारी है। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना का टीका लगवाने के लिए 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग बड़ी संख्या में टीकाकरण केन्द्रों तक पहुंच रहे हैं। जिले में अब तक दो लाख 03 हजार 402 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा चुकी है। टीकाकरण केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित करने प्रतिदिन वैक्सीनेशन वैन रायपुर भण्डार गृह भेजी गई है। रायपुर से कोरबा जिले के लिए लगभग 20 हजार से अधिक टीके की डोज जिले को मिलने की संभावना है। कोविड टीकाकरण केन्द्रों पर लोगों को टीका लगाने के बाद काउंसिलिंग भी की जा रही है।
शहरी क्षेत्रों में लगी अब तक सबसे अधिक वैक्सीन, ग्रामीण क्षेत्रोें में पाली पहले स्थान पर -.. कोरोना टीकाकरण सघन अभियान के दौरान अभी तक कटघोरा और कोरबा के शहरी इलाकों में सबसे अधिक वैक्सीेनेशन हुआ है। इन इलाकों में अब तक 45 हजार 705 लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीका लगाया जा चुका है। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के मामलें में पाली विकासखण्ड पहले स्थान पर है जहां अब तक 37 हजार 493 लोगों को वैक्सीनेट किया जा चुका है। दूसरे स्थान पर कटघोरा विकासखण्ड है जहां 30 हजार 677 लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है। करतला विकासखण्ड में 30 हजार 597 लोगों को, कोरबा विकासखण्ड के ग्रामीण इलाकों में 29 हजार 179 लोगों को और पोड़ी-उपरोड़ा विकासखण्ड में 29 हजार 751 लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया जा चुका है। कोविड टीकाकरण के लिए 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों को किसी भी प्रकार की बीमारी संबंधी दस्तावेज या सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य नहीं है। कोई भी व्यक्ति शासकीय या निजी टीकाकरण केन्द्र में पंजीयन आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र, पासबुक, ड्राईविंग लायसेंस जैसे फोटो आईडी या शासकीय अभिलेख और अन्य दस्तावेजों के आधार पर अपना टीकाकरण करा सकता है। इसके साथ ही टीकाकरण कराने वाले व्यक्ति को टीकाकरण केन्द्र में अपना मोबाईल नम्बर भी बताना होगा। कलेक्टर किरण कौशल द्वारा प्रतिदिन जिले में कोरोना वैक्सीनेशन और वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर लगातार समीक्षा की जा रही है। कलेक्टर ने वैक्सीन खत्म होने से पहले अगले दिनों के लिए वैक्सीन की डिमांड राज्य कार्यालय को भेजने और आबंटित वैक्सीन को सुरक्षित तथा सभी मानकों का पालन करते हुए जिले के टीकाकरण केन्द्रों तक समय पर पहुंचाने के पूरे इंतजाम किए गए हैं। जिले के सभी टीकाकरण केन्द्रों में प्रशिक्षित स्वास्थ कर्मियो द्वारा टीकाकरण किया जा रहा है। टीकाकरण के पश्चात् आधा घंटा हितग्राही को निगरानी कक्ष मेें बैठाया जाता है।

 

13-04-2021
हाउसिंग बोर्ड सेक्टर 5 शिव मंदिर के पास लगया गया निशुल्क कोविड टीकाकरण शिविर

रायपुर। कोविड 19 के रोकथाम के लिए मंगलवार को हाउसिंग बोर्ड सेक्टर 5 शिव मंदिर के पास कोविड टीकाकरण शिविर लगाया गया है। सुबह 10 बजे से शिविर की शुरुआत हुई है। शाम 5 बजे तक टीकाकरण किया जाएगा। नगर निगम कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार हाउसिंग बोर्ड सेक्टर 5 शिव मंदिर के पास सड्डू , कचना स्वास्थ्य केंद्र, आमासिवनी स्वास्थ्य केंद्र, लाभाण्डी स्वास्थ्य केंद्र और आश्रय स्थल मोवा में 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों का निशुल्क टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। लोगों से आधार कार्ड या वोटर आईडी के साथ लाकर टीकाकरण कराने की अपील की गई है।

12-04-2021
सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, कहा-उम्र की बजाय जरूरत के हिसाब से हो टीकाकरण, गरीब को दे 6 हजार रुपए

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि उम्र की बजाय जरूरत के हिसाब से टीकाकरण का विस्तार किया जाए। राज्यों में संक्रमण की स्थिति के मुताबिक टीके उपलब्ध कराए जाएं। दूसरी कंपनियों के टीकों को आपात स्थिति में उपयोग की अनुमति प्रदान की जाए। उन्होंने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में यह भी कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे सख्त कदमों के मद्देनजर गरीबों को छह हजार रुपये की मासिक मदद मुहैया कराई जाए। उन्होंने कहा कि संक्रमण की स्थिति को देखते हुए नाइट कर्फ्यू जैसे सख्त कदम उठाए जा रहे हैं और ऐसे में गरीब एवं कमजोर तबके के लोगों को छह हजार रुपये की मासिक आर्थिक मदद दी जाए। सोनिया गांधी ने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ डिजिटल बैठक का हवाला देते हुए पत्र में कहा, 'टीका एक बड़ी उम्मीद है। दुख की बात है कि ज्यादातर राज्यों में तीन से पांच दिन का ही टीका बचा हुआ है। ऐसे में हमें टीके को यहां बनाने की गति तेज करने के साथ ही अन्य कंपनियों के टीके को आपात स्थिति में उपयोग की अविलंब मंजूरी देने की जरूरत है।' उन्होंने यह भी कहा कि उम्र की बजाय जरूरत के मुताबिक टीके की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए तथा राज्यों को भी संक्रमण की स्थिति और आगे के अनुमान के आधार पर ही टीके उपलब्ध कराये जाएं। कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री से यह आग्रह भी किया कि कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए सभी जरूरी चिकित्सा उपकरणों, दवाओं और संबंधित बुनियादी ढांचे को जीएसटी से मुक्त किया जाए।

 

12-04-2021
हर नागरिक को टीकाकरण का अधिकार मिलना चाहिए: सुबोध हरितवाल

रायपुर। देश और प्रदेश में हर दिन रिकॉर्ड मरीज मिले रहे हैं। इस बीच हर वर्ग को टीकाकरण में शामिल किए जाने की भी मांग उठने लगी है। युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने आज भी सोशल मीडिया के जरिए देश के हर नागरिक को टीकाकरण का अधिकारी मिलने की बात कही है। सुबोध ने कहा कि कोरोना वायरस का दूसरी लहर खतरनाक है। सभी आयु वर्ग को प्रभावित कर रहा है। ऐसे संकट के समय में देश के हर नागरिक को टीकाकरण का अधिकार मिलना चाहिए। बता दें कि युवा कांग्रेस के रा​ष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीकाकरण में शामिल करने की अपील कर चुके हैं। वहीं आज वीडियो जारी एक बार फिर अपनी बात केंद्र सरकार तक पहुंचाई है।

11-04-2021
दुनिया भर में तेजी से टीकाकरण करने वाले देशों की सूची में भारत शीर्ष पर

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी देते हुए कहा कि भारत दुनिया भर में सबसे तेजी से टीकाकरण करने वाले देशों की सूची में सबसे ऊपर है। भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेज 10 करोड़ टीकाकरण सिर्फ 85वें दिन में ही पूरा कर लिया। जबकि इतना टीका लगाने के लिए अमेरिका को 89 दिन और चीन को 102 दिन लगे थे।

10-04-2021
निगम कर रहा है सामाजिकजनों से समन्वय बनाकर टीकाकरण, अग्रवाल समाज के सहयोग से लगाया गया कोविड टीका

भिलाई । निगम द्वारा सामाजिक जनों एवं अन्य से समन्वय बनाकर कोविड का टीका लगाया जा रहा है। आज न्यू खुर्सीपार के अग्रसेन भवन में अग्रवाल समाज के अलावा अन्य लोगों को कोविड का टीका लगाया गया। अग्रसेन भवन में 100 लोगों ने टीका लगवाया। इस दौरान जोन आयुक्त अमिताभ शर्मा एवं सहायक अभियंता अखिलेश चंद्राकर मौजूद रहे। वार्ड क्रमांक 32 न्यू खुर्सीपार में निगम एवं अग्रवाल समाज के द्वारा अग्रसेन भवन में टीकाकरण लगाने के लिए कैंप लगाया गया, जहां 45 वर्ष एवं अधिक उम्र के लोग टीका लगवाने पहुंचे थे। आज 53 केंद्रों में 2594 लोगों ने कोविड का टीका लगवाया।

 

09-04-2021
जिले में नहीं लगेगा लाॅकडाउन, कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन पर प्रशासन की पैनी नजर : कलेक्टर

कोरबा। कलेक्टर किरण कौशल ने कहा है कि जिले में कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन पर प्रशासन की पैनी नजर है। प्रतिदिन जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक मेें स्थितियों की समीक्षा की जा रही है। जिले में अभी कोरोना संक्रमण की स्थिति प्रशासन के नियंत्रण में है। कोरोना से लड़ाई के लिए संसाधनों को तेजी से विकसित और तैयार करने पर काम किया जा रहा है। जिले में कोरोना टीकाकरण को तेज करने के साथ-साथ संक्रमितों के इलाज के लिए सुविधाएं बढ़ाने पर प्रशासन पूरी गंभीरता से काम कर रहा है। कौशल ने बताया कि पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण का औसत 225 से 250 प्रतिदिन के बीच है जो अण्डर कंट्रोल है। परिस्थितियां अभी प्रशासन के नियंत्रण में है। इसीलिए पूर्ण लाॅकडाउन का निर्णय नहीं लेते हुए बाजार खुलने के समय में तीन घंटे की कटौती की गई है। आगामी दिनों में कोरोना संक्रमण को देखते हुए लाॅकडाउन पर निर्णय लिया जाएगा।

08-04-2021
कोरोना से मुक्ति के लिए टीकाकरण को एक मज़बूत हथियार बनाने की ज़रूरत: भाजपा

रायपुर/बिलासपुर। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक के नेतृत्व में भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने बिलासपुर कलेक्टर सारांश मित्तर से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने ज़िले में बेहतर चिकित्सा सुविधा के लिये सुझाव दिए। प्रतिनिधिमंडल में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अमर अग्रवाल, प्रदेश महामंत्री भूपेन्द्र सवन्नी, विधायक रजनीश सिंह, जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने सुझाव देते हुए कहा कि कोरोना मुक्ति के लिये टीकाकरण को एक मज़बूत हथियार बनाने की ज़रूरत है। ज़िले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में एक कोविड अस्थायी अस्पताल अलग से बनाने के लिए आवश्यक पहल की जानी चाहिये। साथ ही इस समय कोविड से लड़ने के लिये एक दिशा में मज़बूत इरादे से साथ कार्य करने की ज़रूरत है। कोरोना के बढ़ते मामलों पर अंकुश लाने के लिये जनमानस को भी आगे आना होगा। प्रतिनिधिमंडल ने इस बात पर भी बल दिया है कि हमें कोविड नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिये। हर मोर्चे पर कोविड से लड़ने के लिये एक टोल फ्री नंबर बनाया जाना चाहिये और अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या की जानकारी ऑनलाइन मिले इस पर विचार किया जाना चाहिये। इसके साथ ही होम आइसोलेशन के दौरान चिकित्सकों की टीम निरतंर मरीजों की निगरानी करे। निजी अस्पतालों में उपचार के लिए बेहतर व्यवस्था के साथ ही उपचार की दर भी निर्धारित होनी चाहिये। अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई जानी चाहिये। चर्चा के दौरान कलेक्टर मित्तर में सारे सुझावों पर गंभीरता से कार्य करने का भरोसा दिया है।

 

08-04-2021
प्रधानमंत्री की बैठक में शामिल हुए भूपेश बघेल, एक सप्ताह की वैक्सीन एडवांस में उपलब्ध कराने किया आग्रह

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में कोविड-19 संक्रमण से उत्पन्न परिस्थितियों और टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा के लिए गुरुवार को वर्चुअल बैठक में शामिल हुए। केन्द्र सरकार से छत्तीसगढ़ राज्य की भौगोलिक परिस्थिति को देखते हुए छत्तीसगढ़ को एक सप्ताह की जरूरत का वैक्सीन एडवांस में उपलब्ध कराने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इससे दूरस्थ क्षेत्रों के जिलों में वैक्सिनेशन में आसानी होगी। मुख्यमंत्री बघेल ने कोरोना के उपचार में उपयोग की जाने वाली दवाइयों और उपकरणों पर जीएसटी की दर कम करने का आग्रह भी किया। उन्होंने कहा कि इससे इलाज के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों पर कम आर्थिक भार पड़ेगा। मुख्यमंत्री बघेल ने केन्द्र सरकार से राज्य की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए रेमडेसीवीर इंजेक्शन और आॅक्सीजन सिलेण्डर्स की सतत आपूर्ति करने, प्रदेश में 4 वायरोलॉजी लैब और एक बीएसएल-4 लैब की स्थापना और1000 बिस्तरों के आईसीयू के इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए सहायता उपलब्ध कराने का भी आग्रह किया। 

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में टीकाकरण की स्थिति की जानकारी देते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ में 87 प्रतिशत हेल्थ केयर वर्करों, 84 प्रतिशत फ्रंटलाईन वर्कर और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 43 प्रतिशत लोगों को टीके की प्रथम डोज दी जा चुकी है। राज्य में 7 अप्रैल तक 33 लाख 61 हजार वैक्सीन डोज दी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि राज्य में टेस्टिंग क्षमता विशेषकर आरटीपीसीआर और ट्रू नॉट टेस्ट की क्षमता बढ़ाने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। माह फरवरी में दैनिक औसत टेस्टिंग 21 हजार 142 थी, जो मार्च में बढ़कर 30 हजार 501 और अप्रैल में बढ़कर 39 हजार हो गई है। छत्तीसगढ़ में प्रति 10 लाख पर 2 लाख 4 हजार 420 टेस्ट किए जा रहे हैं, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर प्रति 10 लाख पर एक लाख 89 हजार 664 टेस्ट किए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ में प्रतिदिन 10 लाख आबादी पर 1435 टेस्ट किए जा रहे हैं, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिदिन 10 लाख आबादी पर 929 है। 

उन्होंने बताया कि राज्य में अक्टूबर 2020 में आरटीपीसीआर जांच का प्रतिशत 26 प्रतिशत था, जो अप्रैल 2021 में बढ़कर लगभग 40 प्रतिशत हो गया है। राज्य में वर्तमान में 7 शासकीय लैब तथा 5 निजी लैब में आरटीपीसीआर जांच की सुविधा उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त राज्य में 4 नई शासकीय आरटीपीसीआर लैब महासमुंद, कांकेर, कोरबा और कोरिया में स्थापित की जा रही हैं। इसके साथ ही 31 शासकीय लैब तथा 5 निजी लैब में ट्रू नॉट जांच की सुविधा उपलब्ध हैं।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बचाव के उपायों की जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमित मरीज चिकित्सकों से जल्द इलाज कराएं इसके लिए शासकीय अमले के अलावा राज्य के सभी सामाजिक संगठनों के माध्यम से प्रयास किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त मरीजों की शीघ्र पहचान के लिए एक्टिव सर्विलेंस पर भी जोर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 207 कंटेनमेंट जोन घोषित किये गए हैं। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर एक्टिव सर्विलेंस और टेस्टिंग की जा रही है। सार्वजनिक स्थलों में मास्क न पहनने की स्थिति में 500 रुपए के जुमार्ने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए ट्रांसमिशन की चेन तोड़ने के लिए रायपुर, दुर्ग, बेमेतरा जिले में लॉकडाउन भी लगाया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने रायपुर स्थित निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से इस बैठक में शामिल हुए। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्ले, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी, संचालक स्वास्थ्य नीरज बंसोड़ और संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. प्रियंका शुक्ला उपस्थित थीं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804