GLIBS
27-06-2020
एसओ सिविल अधिकारी को दी गई विदाई, नवपदस्थ के.सुरेश ने सम्हाली कमान

कोरबा। कुसमुण्डा परियोजना में लगभग दो वर्षों से स्टाफ ऑफिसर सिविल के पद पर कार्यरत एस. थंगराज को शनिवार को विदाई दी गई। बीते दिनों उनका तबादला बिलासपुर संभागीय कार्यालय किया गया। उन्ही के चेम्बर में सम्पन्न हुए इस कार्यक्रम में नवपदस्थ स्टाफ ऑफीसर सिविल के.सुरेश ने पुष्प गुच्छ देकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। अल्प अवधि के इस विदाई कार्यक्रम में परियोजना के मुख्य प्रबंधक सिविल राजेन्द्र सहारे, सीएसआर से केएन भारद्वाज, प्रोजेक्ट मैनेजर मनोज कुमार, डिप्टी मैनेजर आरके वर्मा, इंजीनियर सीएल साहू,एके कश्यप,एनके सिंह, एसडी चिन्तनवीस, पीके पोकाले, पीसी गुप्ता, एस.चौधरी सहित सिविल विभाग के कर्मचारी उपस्थित रहे।

 

29-05-2020
फ्लू और सर्दी-खांसी के लक्षण वाले मरीजों को पृथक् से चिन्हांकित कर किया जाएगा उपचार

धमतरी। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कार्यभार ग्रहण करने के दूसरे दिन शुक्रवार को डीसीएच (बठेना) अस्पताल तथा जिला चिकित्सालय के समीप तैयार किए गए डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर आवश्यक दिशानिर्देश दिए। सबसे पहले उन्होंने डीसीएच में स्थापित किए कोविड केयर सेंटर का जायजा लिया, जहां पर पूर्व में की गई व्यवस्थाओं पर संतुष्टि जाहिर की। साथ ही उन्होंने जिला अस्पताल में आने वाले फ्लू, सर्दी-खांसी जैसे सामान्य लक्षण वाले मरीजों का पृथक् से चिन्हांकन कर उनका उपचार करने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए।कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने यह निर्देशित किया कि मुख्यमार्ग से कोविड सेंटर तक पहुंच मार्ग की बेरिकेटिंग कर रास्ता बंद किया जाए, जिससे कि अनावश्यक आवाजाही न हो। इसी तरह यहां भर्ती रहने वाले मरीजों को आपूर्ति की जाने वाली आवश्यक दवाइयां, पानी और भोजन आदि की व्यवस्था वार्ड के भीतर ही हों, जिससे कि वहां ड्यूटीरत चिकित्सा स्टाफ बाहर के लोगों से जहां तक संभव हो, सम्पर्क में आने ना पाएं। कलेक्टर ने सेंट्रल माॅनीटरिंग के माध्यम से मरीजों को सेवाएं उपलब्ध कराने के भी निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. डीके तुर्रे को दिए। इसके अलावा 60 बिस्तरयुक्त मेल एवं फीमेल वार्ड में सैनिटाइजिंग का कार्य सतत् करने तथा वहां पर रखी गई वस्तुओं से यथासंभव सीधे सम्पर्क में नहीं आने के प्रयास करने पर बल दिया। इसके बाद वे जिला अस्पताल गए, जहां पर एकलव्य छात्रावास के रिक्त भवन में बनाए जा रहे केयर सेंटर का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने यहां पर चल रहे निर्माण कार्यों को आगामी दस दिनों के भीतर पूर्ण करने के निर्देश कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा को दिए। उक्त सेंटर में ऐसे मरीजों को रखने के निर्देश दिए, जो कोरोना संक्रमित है तथा कोविड सेंटर में दाखिल किए जाने के उपरांत स्वस्थ हो जाएंगे अथवा जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई हो, उन्हें कुछ दिन तक एकलव्य छात्रावास भवन स्थित सेंटर में चिकित्सकीय निगरानी में रखे जाएंगे। इन मरीजों के लिए ड्यूटीरत स्टाफ के लिए उसी परिसर में ही आवासीय सुविधाएं विकसित करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। इसके अलावा क्रमवार जरूरी सुविधाएं आगामी दस दिनों में मुहैया कराने के लिए कहा। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि कोविड-19 वायरस से डरने के बजाय सकारात्मक सोच के साथ प्रशासनिक तैयारियां सुनिश्चित करें, जिससे कि इसे लेकर लोगों में जागरूकता आए। इस अवसर पर जिला पंचायत की सीईओ नम्रता गांधी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. डीके तुर्रे, सिविल सर्जन डाॅ.मूर्ति, एसडीएम धमतरी मनीष मिश्रा, नगर निगम के कमिश्नर आशीष टिकरिहा उपस्थित थे।

 

29-05-2020
कोरोना से बचाव और सुरक्षा पहली प्राथमिकता: जयप्रकाश मौर्य

धमतरी। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने पदभार ग्रहण करने के दूसरे दिन शुक्रवार को सभी जिला स्तरीय अधिकारियों और ब्लॉक स्तर पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत वगैरह की वीडियो काॅन्फ्रसिंग के जरिए बैठक ली। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आहूत बैठक में कलेक्टर ने सभी अधिकारियों का औपचारिक परिचय लेते हुए अपना परिचय भी दिया। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात में उनकी प्राथमिकता कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा के उपाय और बचाव होगा। सभी को अनावश्यक भीड़-भाड़ वाले स्थान में जाने से बचने, ऐसे स्थानों में मास्क का अनिवार्य उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग तथा नियमित रूप से हाथों की धुलाई पर जोर दिया। उन्होंने कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के  लिए सामुदायिक सर्वेलेंस पर जोर दिया। इसके लिए 60 साल से ज्यादा उम्र के लोग जिन्हें,  ब्लड प्रेशर, शुगर, कार्डियो इत्यादि सम्बन्धी समस्या है, गर्भवती महिलाएं, 0-5, 05-10 साल तक की उम्र के बच्चे तथा ऐसे 60 साल से कम उम्र के लोग, जिन्हें कोई गंभीर बीमारी है, उनका सर्वे जिले में किया जाएगा तथा उनका डेटा बेस तैयार कर ऑनलाइन किया जाएगा। इसके बाद यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उन्हें सर्दी खांसी, बुखार तो नहीं हो रहा ? यदि उन्हें सर्दी, खांसी, बुखार हो तो उनका उचित उपचार किया जाएगा।इसके साथ ही जिले में सभी नगरीय निकायों और जनपदों में भी अगले एक साल के लिए ऐसे लोगों पर निगाह रखी जाएगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में एएनएम, मितानिन, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अथवा सचिव का नाम और मोबाइल नंबर सार्वजनिक स्थानों में चस्पा किया जाएगा, ताकि किसी भी व्यक्ति को सर्दी, खांसी होने पर तुरंत उक्त शासकीय कर्मी से संपर्क करे और आवश्यकता अनुसार दवाइयां खाए। इसी तरह नगरीय निकायों में यह जिम्मेदारी आयुक्त नगरपालिक निगम और मुख्य नगर पालिका अधिकारियों का अमला निभाएगा।बैठक में कलेक्टर ने साफ तौर पर कहा कि शहरी क्षेत्रों के सार्वजनिक स्थानों में नगरीय निकाय का अमला नियमित रूप से लाऊड स्पीकर के जरिए लोगों को इस महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क का उपयोग, सेनीटाईजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग के लिए सूचित करता रहे। उन्होंने सर्दी खांसी के मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था करने यथासंभव दूरभाष से सलाह देने और दवाइयों की घर पहुंच सेवा पर जोर दिया। इसके अलावा कंटेनमेंट जोन के एक किलोमीटर की परिधि में आवश्यक सुविधा जैसे गैस एजेंसी, मेडिकल दुकान, किराना दुकान सुबह 7 से दोपहर 12 बजे तक खोलने की छूट रहेगी, किन्तु वहां के रहवासियों को अनिवार्यतः घर से इन सामानों के लिए जाते वक्त मास्क का उपयोग करना होगा। उन्होंने घोषित कंटेनमेंट जोन पर सम्बन्धित अधिकारियों को सतत निगाह रखने के निर्देश दिए कि क्षेत्रवासी नियमों का कड़ाई से पालन करें। साथ ही उक्त क्षेत्र में यदि कोई बैंक का एटीएम है, तो लोगों की सुविधा के लिए उसे खोला जाए मगर उन्हें सचेत किया जाए कि एटीएम मशीन का उपयोग करने से पहले वे हाथों को जरूर सेनिटाइज करें। बैठक में वनमण्डलाधिकारी अमिताभ बाजपेयी, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

 

29-05-2020
नवपदस्थ कलेक्टर टीके वर्मा ने किया पदभार ग्रहण

राजनांदगांव। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर टीके वर्मा ने शुक्रवार को संयुक्त जिला कार्यालय में पदभार ग्रहण किया। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि मैं पहले भी अतिरिक्त कलेक्टर, निगम आयुक्त आदि पदों पर यहां कार्य कर चुका हूँ तथा पहले की तरह आगे भी मीडिया का सहयोग मिलता रहेगा।

28-05-2020
नवपदस्थ कलेक्टर एल्मा ने सम्हाला कार्यभार

मुंगेली। मुंगेली जिले मे नवपदस्थ कलेक्टर पदुम सिंह एल्मा गुरुवार को कार्यभार सम्हाला। नवपदस्थ कलेक्टर एल्मा 2010 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी है। इसके पूर्व एल्मा नारायणपुर जिले के कलेक्टर थे। अपर कलेक्टर राजेश नशीने और मुंगेली अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व चित्रकांत चार्ली ठाकुर ने पुष्प भेंट कर नवपदस्थ कलेक्टर एल्मा का स्वागत किया। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर डाॅ.आराध्या कमार भी मौजूद थी।

 

28-05-2020
नवपदस्थ कलेक्टर दीपक सोनी ने संभाला कार्यभार

दंतेवाड़ा। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर दीपक सोनी ने 28 मई को पूर्वान्ह में कार्यभार ग्रहण कर लिया। वर्ष 2011 बैच के  भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी दीपक सोनी इसके पूर्व कलेक्टर सूरजपुर, सीईओ जिला पंचायत रायपुर, सीईओ जिला पंचायत जशपुर, सीईओ जिला पंचायत नारायणपुर जैसे महत्वपूर्ण पदों का दायित्व निर्वहन कर चुके हैं। नवपदस्थ कलेक्टर सोनी ने कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात कलेक्टोरेट के विभिन्न शाखाओं तथा अन्य कार्यालयों का अवलोकन किया। वहीं जिले के विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों से परिचय प्राप्त कर उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। इस दौरान एसडीएम दंतेवाड़ा लिंगराज सिदार, एसडीएम बड़ेबचेली प्रकाश भारद्वाज, डिप्टी कलेक्टर आस्था राजपूत, डिप्टी कलेक्टर गुडुलाल जगत एवं मनोज बंजारे, सीएमएचओ डॉ.एसपी शाण्डिल्य, सिविल सर्जन डॉ.एमके नायक और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

26-03-2020
नवपदस्थ एसपी ने ली प्रेसवार्ता, कहा - कोरोना के संक्रमण को रोकना पहली प्राथमिकता

कोरबा। जिले के नवपदस्थ एसपी अभिषेक मीणा ने पदभार संभालते ही ली प्रेसवार्ता ली। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बारी बारी से उनके द्वारा पत्रकारों से बातचीत की गई। कोरोना के प्रभाव को देखते हुए एसपी ने जिले के निजी सयंत्रों पर पुलिस की कड़ी नजर रहने की बात कही है। उन्होंने कहा कि कोरबा के जिन लोगों ने वीजा की मांग की है, उनके दस्तावेजों और जरुरी जानकारी को खंगाला जाएगा। प्रदेश में जिस तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 6 हो गई है, उसे गंभीरता से लेते हुए एसपी ने कहा कि एहतियात के तौर पर जिले में भी संदिग्धों की खोजबीन करेंगे। इतना ही नहीं धारा 144 के पालन को लेकर जरुरी सतर्कत बरती जाएगी।

29-08-2019
पत्रकारों ने नवपदस्थ एसडीएम टण्डन का स्वागत कर सौंपा ज्ञापन

सारंगढ़। सारंगढ़ में नवपदस्थ एसडीएम श्रवण कुमार टण्डन का अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति सारंगढ़ इकाई अध्यक्ष नरेश चौहान, उपाध्यक्ष दिनेश जोल्हे, सचिव सन्तोष चौहान, महासचिव चंद्रिका भास्कर, प्रकाश जांगड़े, सलाहकार अनिल गोपाल आदि ने स्वागत किया और ज्ञापन सौंपकर बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सारंगढ़ की स्थिति दयनीय है। मरीजों को   सही इलाज नहीं मिल पा रहा है। मरीजों को फटी, दाग-धब्बे लगी चादर दी जाती है। मरीजों के खाने में भी भारी लापरवाही बरती जा रही है।  मरीजों के परिजनों के लिए रहने के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं है। पत्रकारों ने बताया कि अस्पताल की बुरी व्यवस्था से खण्ड चिकित्सा अधिकारी को कई बार अवगत कराया जा चुका है फिर भी वे ध्यान नहीं दे रहे हैं। एसडीएम ने जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही है।

धीरज बरेठ की रिपोर्ट 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804