GLIBS
18-06-2021
एडवेंचर पार्क के लिए प्रस्तावित भूमि का किया निरीक्षण कलेक्टर श्याम धावड़े ने 

कोरिया/रायपुर। कलेक्टर श्याम धावड़े ने विकासखण्ड खड़गवां के अंतर्गत ग्राम पंचायत भुकभुकी में एडवेंचर पार्क के लिए प्रस्तावित भूमि का निरीक्षण किया।  निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने एसडीएम खड़गवां पी.व्ही. खेस्स से प्रस्तावित भूमि की सम्पूर्ण जानकारी ली। साथ ही सिंचाई विभाग के अधिकारियों से यहां स्थित जलाशय की गहराई एवं सिंचाई पर चर्चा की। कलेक्टर धावड़े ने उपस्थित अधिकारियों से एडवेंचर पार्क के अनुरूप संचालित की जाने वाली गतिविधियों पर भी चर्चा की।

18-06-2021
महात्मा गांधी नरेगा की डबरी से सिंचाई सुविधा का लाभ लेकर साल भर सब्जी उत्पादन कर रहा किसान

कोरिया/रायपुर। मेहनत करने वालों के लिए राहें खुद बन जाती हैं। ग्राम पंचायत रोझी में रहने वाले किसान धर्मपाल के परिवार पर यह कहावत चरितार्थ होती है। पहले महात्मा गांधी नरेगा के अकुशल श्रम पर आश्रित धर्मपाल का परिवार अब अपने खेतों में सब्जी उत्पादन कर पूरी तरह से आजीविका के स्थाई साधन से जुड़ गया है। इनके खेतों में होने वाली सब्जी की उपज से इन्हे प्रतिमाह औसतन 12 से 13 हजार रुपए की आय होने लगी है। धर्मपाल के परिवार को रोजगार के अवसरों के लिए परेशान नहीं होना पड़ता है और साथ ही दैनिक खर्च के लिए आवश्यक धनराशि की समस्या से भी निजात मिल गई है। महात्मा गांधी नरेगा के तहत पंजीकृत इस श्रमिक परिवार को अब रोजगार की कोई चिंता नहीं है। महात्मा गांधी नरेगा के तहत बनी डबरी से अब इनकी हर समस्या आसानी से सुलझ रही है। मुस्कुराते हुए धर्मपाल बतलाते हैं कि अब कोनो चिंता नई है। डबरी के पानी ले मस्त सब्जी होवत है और केल्हारी बाजार में तुरत बिक जाथे। अपने गांव से महज पांच किलोमीटर दूर लगने वाले साप्ताहिक बाजार के अलावा ज्यादा फसल होने पर दैनिक रूप से भी यह परिवार अपनी सब्जियों को बेचकर अपना दैनिक खर्च आसानी से पूरा कर रहा है।

महात्मा गांधी नरेगा की मदद से एक पंजीकृत श्रमिक परिवार के सफलता की यह कहानी मनेन्द्रगढ़ जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत रोझी की है। यहां एक किसान परिवार के मुखिया धर्मपाल अपने बेटों उदयपाल और अजयपाल के साथ रहते हैं। इनके परिवार में कुल आठ सदस्य हैं और घर में महात्मा गांधी नरेगा के तहत इनके पास दो जाबकार्ड हैं। धर्मपाल ने बताया कि इनके पास कुल पांच एकड़ भूमि है, जिसमें यह पहले केवल धान व गेंहू की फसल लगाते थे। परंतु उपज उतनी नहीं होती थी कि साल भर का दैनिक खर्च भी निकाल सकें। खेती के बाद इनके पास कोई अन्य रोजगार का साधन नहीं होने से इनके परिवार के सभी वयस्क सदस्य महात्मा गांधी नरेगा के रोजगारमूलक कार्यों पर ही आश्रित रहते थे। ग्राम पंचायत में आयोजित ग्राम सभा से इन्हे महात्मा गांधी नरेगा के तहत बनाए जानी वाली डबरी की जानकारी होने पर इन्होंने अपने खेतों में डबरी बनाने का आवेदन ग्राम पंचायत को दिया। इनके परिवार को वित्तीय वर्ष 19-20 में ग्राम पंचायत के प्रस्ताव के आधार पर महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत निजी भूमि में डबरी निर्माण कार्य एक लाख छियासी हजार की राशि से निर्माण के लिए स्विकृत किया गया। धर्मपाल बतलाते हैं कि कार्य प्रारंभ होने से गत वर्ष लॉकडाउन के दौरान उन्हे और उनके परिवार के सदस्यों को गांव में ही रोजगार का अवसर मिल गया और इनकी स्वयं की सिंचाई की सुविधा भी तैयार हो गई।

08-06-2021
Video: फिर ग्रा​मीणों को करना पड़ेगा रोड की समस्या का सामना, सड़क बनने के महज 4 माह बाद ही जर्जर हुआ सीसी रोड

मस्तुरी। मस्तुरी जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत अपने निर्माण कार्यों के लिए हमेशा से ही सवालों में घिरा रहता है। एक बार फिर सीसी रोड का भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। मामला मस्तुरी क्षेत्र के ग्राम सुकुलकारी का है, जहां 4 माह पूर्व ही ग्राम पंचायत की ओर से बनाए गए सीसी रोड़ टूटकर उखड़ना शुरू हो गया। बता दें कि ग्राम पंचायत में रोड की समस्या कई सालों से बनी हुई थी। आम तौर पर ग्रामीणों को बरसात के समय में आवागमन में बड़ी समस्या होती थी। इसे लेकर ग्रामीणों ने लगभग साल भर पहले क्षेत्र के विधायक से सीसी रोड की मांग की थी, जो पास हो गया, जिसकी लागत राशि 5 लाख 50 हजार और लंबाई 265 मीटर सेंसन हो गया। इसे ग्राम पंचायत की ओर से बनाया गया, जो 4 माह बाद टूट कर जर्जर हो गया। मिली जानकारी के अनुसार इस भ्रष्टाचार में इंजीनियर ने सही तरीके से मॉनिटरिंग नहीं किया और बिना जाँच परख के मूल्यांकन सत्यापन कर पास कर दिया। इसकी जानकारी विभागीय अधिकारी एसडीओ आरके सिंह को देने पर पल्लाझाड़ते नजर आए और सही जानकारी देने से बचते रहे। एक बार फिर बरसात में ग्रामीणों को उसी मुसीबत का सामना करना पड़ेगा। 

दुर्गेश चंद्राकर की रिपोर्ट

 

21-05-2021
कलेक्टर ने किया ग्राम पंचायत दहदहा का दौरा, टीकाकरण के प्रति लोगों को किया जागरूक

धमतरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने शुक्रवार को कुरूद विकासखंड के ग्राम पंचायत दहदहा में ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर कोविड 19 टीकाकरण के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को कही सुनी-बातों की बजाय वास्तविकता से अवगत होने की जरूरत है और टीकाकरण ही एकमात्र उपाय है,जिसके जरिए इस महामारी से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि सर्दी, खांसी, बुखार, गले में खराश जैसे लक्षण दिखने पर तत्काल कोरोना टेस्ट कराएं, साथ ही रिपोर्ट मिलने तक खुद को सबसे अलग रखकर मितानिन किट की दवाइयों का सेवन करें। कलेक्टर ने कहा कि वैसे तो ज्यादातर लोग स्वतः आगे आकर टीका लगवा रहे हैं, लेकिन कुछ लोगों में यह भ्रांति है कि टीका लगवाने से मौतें हो रही हैं, इसे स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि लोगों को इस मिथक से बाहर आना होगा। ग्रामीणों को समझाइश देते हुए कलेक्टर ने कोविड 19 के विभिन्न पहलुओं पर जोर देते हुए कहा कि लगातार मास्क पहनें, दो गज की दूरी बनाए रखें, हाथ बार-बार अच्छी तरह से धोने अथवा सैनिटाइज करने के साथ-साथ अन्य नियमों का अक्षरशः पालन करने की जरूरत है। उन्होंने स्वास्थ्यकर्मी, सरपंच, पंच, सचिव, मितानिन , पटवारी, शिक्षक और नोडल अधिकारियों को महत्वपूर्ण कड़ी बताते हुए प्रोत्साहित कर कहा कि इस नाजुक दौर में वे बेहतर ढंग से अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं, यह सराहनीय है।

 

17-05-2021
सरपंच की जागरूकता और प्रयास से भैंसमुंडी बनी शत-प्रतिशत टीकाकरण वाली ग्राम पंचायत

धमतरी। यदि मन में कुछ कर गुजरने की दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो लाख बाधाओं के बाद भी मंजिल हासिल करने से दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती। इसकी ज्वलंत मिसाल कुरूद विकासखण्ड की ग्राम पंचायत भैंसमुण्डी में देखने को मिली, जहां 45 साल से अधिक तथा 18 साल से अधिक दोनों आयु वर्ग के शत-प्रतिशत ग्रामीणों का टीकाकरण सफलतापूर्वक पूर्ण करा लिया गया। शासन के निर्देशों का अक्षरशः पालन करते हुए जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष, ग्राम पंचायत के सरपंच, सचिव सहित मैदानी अमले ने इस नामुमकिन कार्य को मुमकिन कर दिखाया। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में जिले में कोविड-19 टीकाकरण के सफल क्रियान्वयन के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं, जहां कलेक्टर स्वयं विभिन्न ग्रामों में चैपाल लगाकर लगातार समझाइश देते रहे हैं, वहीं जिला प्रशासन के जागरूकता कार्यक्रम, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य, पंचायत विभाग के सामूहिक प्रयास से टीकाकरण के क्षेत्र में धमतरी जिला रोजाना बढ़ते ग्राफ को छूते हुए नए मुकाम हासिल कर रहा है।

इस संबंध में ग्राम भैंसमुण्डी की नोडल अधिकारी एवं सहायक संचालक कृषि जगतजननी यादव ने बताया कि कलेक्टर के मार्गदर्शन में टीकाकरण को लेकर ग्राम पंचायत भैसमुण्डी में स्थानीय युवा सरपंच त्रिलोकचंद साहू द्वारा सतत् प्रयास किए गए। उन्होंने बताया कि कलेक्टर के वीडियो क्लिप एवं ऑडियो मैसेज को ग्रामीणों को दिखा व सुनाकर टीकाकरण के महत्व को बताया गया। इसका सकारात्मक प्रभाव यह पड़ा कि ग्रामीण स्वस्फूर्त होकर वैक्सिनेशन के लिए आगे आने लगे। फलस्वरूप 45 वर्ष से अधिक तथा 18 वर्ष से अधिक, दोनों आयुवर्गों के पहले डोज का टीकाकरण ग्राम पंचायत भैंसमुण्डी में शत-प्रतिशत पूर्ण हो गया। इसकी घोषणा आज पंचायत प्रबंधन द्वारा लिखित में की गई। सरपंच त्रिलोकचंद साहू ने बताया कि गांव को इस भीषण महामारी से सुरक्षित करने के लिए यह जरूरी हो गया कि लोगों को इसके सकारात्मक पहलुओं की जानकारी दी जाए। इसी सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ते हुए उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन में तथा जनपद पंचायत उपाध्यक्ष जानसिंह यादव के सतत् सहयोग से रोजाना वीडियो-ऑडियो क्लिप दिखा-सुनाकर, ग्रामीणों से व्यक्तिगत संपर्क कर तथा पंचायत में लगातार बैठक लेकर सकारात्मक वातावरण तैयार किया। तब जाकर इसे लेकर लोगों के मन से भ्रांतियां दूर हुईं, जिसका सुखद परिणाम सामने है।


इस अप्रत्याशित उपलब्धि के लिए कलेक्टर मौर्य, जिला पंचायत के सीईओ. मयंक चतुर्वेदी ने सरपंच, सचिव सहित मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहित पूरी टीम को अपनी शुभकामनाएं दी हैं। एसडीएम कुरूद सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि इस गांव की जनसंख्या लगभग 1608 है। यहां के पात्र सभी 356 लोगों ने 45 वर्ष से अधिक का प्रथम डोज टीका लगवा लिया, वहीं 18 वर्ष के ऊपर 584 लोगों को भी टीके का पहला डोज सफलतापूर्वक लगवा लिया गया है। उन्होंने बताया कि कलेक्टर के मार्गदर्शन में जनपद पंचायत के सीईओ सत्यनारायण नायक तथा बीएमओ डाॅ. नवरत्न ने लोगों की जागरूकता को देखते हुए व्यक्तिगत तौर पर रूचि ली। इसके लिए पंचायत, स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग के मैदानी अमले ने काफी मेहनत की और अंततः युवातुर्क व जुझारू सरपंच ने यह सिद्ध कर दिया कि जागरूकता के मामले में शहरी लोगों से ग्रामीण भी किसी पहलू से कम नहीं।

 

15-05-2021
एससी/एसटी वर्ग के श्रमिकों के साथ भेदभाव ना करें मोदी सरकार : क्रांति बंजारे 

राजनांदगांव। केन्द्र सरकार की ओर से मनरेगा में एसी/एसटी वर्ग के साथ किए गए भेदभाव के विरोध में शनिवार को क्रांति बंजारे ने जिला कार्यालय राजनांदगांव के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। क्रांति बंजारे ने कहा की महात्मा गांधी नरेगा जैसी महत्वपूर्ण योजना में मोदी सरकार जातिवाद के नाम पर लोगों को आपस में  बांटने का काम कर  रही है। इस महत्वपूर्ण योजना में अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति श्रमिकों को मजदूरी भुगतान में भेदभाव कर रही है। महात्मा गांधी नरेगा योजना अंतर्गत एक ही ग्राम पंचायत में अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति वर्ग के श्रमिकों के मजदूरी भुगतान के लिए एफटिओ जारी किया गया है।

इसमें केवल अन्य वर्ग के श्रमिकों को ही भुगतान हो रहा है, लेकिन अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति वर्ग के श्रमिकों को भुगतान नहीं हो रहा है। क्रांति बंजारे ने कहा कि यह 1 अप्रैल से केंद्र सरकार के नए नियम लागू होने के कारण यह समस्या उत्पन्न हुई है। नए नियम लागू करने की केंद्र सरकार को जरूरत ही नहीं थी। नए नियम लागू करना ही था तो सभी वर्ग के श्रमिकों को एकरूपता मजदूरी भुगतान करना था। बंजारे ने कहा कि एससी एसटी वर्ग के साथ भेदभाव बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। समय आने पर इसका विरोध किया जाएगा।

11-05-2021
कोरोना पॉजिटिव की संख्या अधिक मिलने पर ग्राम पंचायत कंटेंनमेंट जोन घोषित

नारायणपुर। ग्राम कलरखा में कोरोना से एक पॉजिटिव मरीज के मृत्यु उपरांत प्रशासन पूरी तरह अलर्ट हो गया है। जिला प्रशासन को जैसे ही सूचना मिली कि मृत व्यक्ति कुछ दिन पहले वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल हुआ था। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने तुरन्त एक्टिव सर्विलांस दल को कलरखा ग्राम के लिए रवाना किया। सर्विलांस दल ने विवाह में शामिल सभी लोगों एवं उनके कांटेक्ट में आये 125 लोगो का कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें से 13 लोग कोरोना पॉजिटिव आये। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने क्षेत्र को कंटेन्मेंट घोषित करने एवं पूरी तरह से सील करने के निर्देश दिए है। कलरखा ग्राम में अधिकतर दूध उत्पाद नारायणपुर शहर में होम डिलीवरी होने के कारण उक्त होम डिलीवरी को भी प्रतिबंध किया गया है ताकि संक्रमण फैल न सके।

 

11-05-2021
बारिश के कारण जर्जर ग्राम पंचायत भवन की छत से गिरी कंक्रीट

नारायणपुर। ग्राम पंचायत केरलापाल में पंचायत भवन वर्तमान में जर्जर होने के कगार में हैं। छत की कंक्रीट गिरने लगी है और दीवारों में दरारे आने लगी है। इसके बावजूद ग्राम पंचायत प्रशासन इसकी सुध नहीं ले रहा है।
इस संबंध में ग्राम पंचायत सचिव से पूछा गया तो उन्होंने कहा इस बारे में  उच्च अधिकारी से बात चल रही है। गौरतलब की बात या है कि जिले में पिछले 2 दिनों से बारिश हो रही है। इसी के बीच पंचायत भवन के छत से कंक्रीट गिर गई। हालांकि भवन के अंदर कोई व्यक्ति ना होने के कारण  हादसा टल गया।

 

पीयूष मंडल की रिपोर्ट

 

11-05-2021
 तेज आंधी से युवक पर गिरा हाइटेंशन तार, मौके पर मौत

बलरामपुर/रायपुर। जिले के वाड्रफनगर रघुनाथनगर अंतर्गत ग्राम पंचायत गैना में विद्युत तार की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई है। गांव में शाम को अचानक आंधी तूफान आई। इसी दौरान युवक पर विद्युत तार गिर गया। इससे युवक की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार वाड्रफनगर रघुनाथनगर अंतर्गत ग्राम पंचायत गैना में शाम को अचानक मौसम का मिजाज बदल गया। तेज आंधी के साथ बारिश होने लगी। तेज हवाओं के चलते विद्युत पोल अचानक गिर गया। इसी पोल से मृतक युवक सुरेन्द्र सिंह मरकाम पिता बिरबल सिंह मरकाम के घर में लाइन आती थी। वह क्षत-विक्षत हो गई थी। युवक उसी को सही करने पहुंचा हुआ था। इसी दौरान वह करेंट की चपेट में आ गया और उसकी मौके पर मौत हो गई। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे और ट्रांसफार्मर से डीओ को उतार कर शव को अलग किया। इसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची।

 

06-05-2021
कोरोना पॉजिटिव चार युवक एम्बुलेंस आने के पहले हुए फरार, एफआईआर दर्ज

सुकमा/रायपुर। जिला मुख्यालय के तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत बुडदी के ग्राम काकड़ीआमा में कोरोना पॉजिटिव पाए गए चार युवक फरार हो गए हैं। कोविड की जांच के बाद फरार चार युवकों के विरूद्ध सुकमा जिला प्रशासन ने एफआईआर दर्ज किया है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम ककड़ीआमा के ग्रामीण मुचाकी मुड़ा को कोविड के लक्षण के संदेह पर एंटीजन किट से कोरोना जांच किया गया, जिसमें वे पॉजिटिव पाए गए। उनके संपर्क में आए लोगों का भी तत्काल कोरोना जांच किया गया। इसमें तीन अन्य व्यक्ति हिरमा मुचाकी, भीमा मूचाकी और माड़वी दोक्का पॉजिटिव पाए गए। चारों कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों को जिला अस्पताल सुकमा लाया जाना था। एंबुलेंस पहुंचने तक उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने के लिए निर्देशित किया गया था। प्रशासन के निर्देशों का उल्लंघन करते हुए वे घर से फरार हो गए। सुकमा तहसीलदार प्यारेलाल नाग ने बताया कि मुचाकी मुड़ा, हिरमा मुचाकी, भीमा मुचाकी और माड़वी दोक्का के खिलाफ कोविड नियमों का उल्लंघन करने के परिणाम स्वरूप भारतीय दंड संहिता की धारा 269, 27 के तहत एफआईआर दर्ज करवाया गया है। इनके विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804