GLIBS
16-02-2020
24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रम्प पत्नी के साथ देखने जाएंगे ताजमहल

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पत्नी लेडी मेलानिया ट्रम्प के साथ 24 फरवरी को ताजमहल देखने जाएंगे। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पत्नी लेडी मेलानिया ट्रम्प आगरा में लगभग तीन घंटे रहेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्रम्प के आगरा दौरा के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ समीक्षा की। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के अलावा उनकी यात्रा को यादगार बनाने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि ट्रम्प दंपति अहमदाबाद भी जाएंगे। इसलिए गुजरात सरकार के अधिकारियों ने भी पीएम के साथ इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में भाग लिया। पीएम पहले ही एक ट्वीट में कह चुके हैं कि भारत उनका गर्मजोशी से स्वागत करेगा और उनकी यात्रा भारत अमेरिका संबंधों को मजबूत करने में एक लंबा रास्ता तय करेगी। उन्होंने कहा था कि बहुत खुशी हुई कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पत्नी लेडी मेलानिया ट्रम्प 24-25 फरवरी को भारत का दौरा करेंगे। भारत हमारे सम्मानित अतिथियों का एक यादगार स्वागत करेगा। 

 

11-02-2020
डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी के साथ करेंगे भारत यात्रा, दोनों देशों की रणनीतिक साझेदारी होगी मजबूत

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 और 25 फरवरी को भारत की यात्रा पर होंगे। पत्नी मेलानिया ट्रंप के साथ होगी। व्हाइट हाउस की ओर से किए गए ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी दी गई है। व्हाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया भारत के पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने जाएंगे। यह यात्रा अमेरिका-भारत की रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करेगी। साथ ही अमेरिकी और भारतीय लोगों के बीच मजबूत और स्थायी संबंधों को बढ़ावा देगी। ट्रंप भारत की राजधानी नई दिल्ली और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात की यात्रा करेंगे। इस दौरान वह अहमदाबाद जाएंगे, इस शहर की महात्मा गांधी के जीवन और भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के नेतृत्व में महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

बता दें कि ट्रंप अधिकतर समय राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में बिताने के साथ ताजमहल का दीदार करने आगरा भी जा सकते हैं। इसके अलावा वे अहमदाबाद में हाउडी मोदी जैसे एक कार्यक्रम को भी संबोधित कर सकते हैं। इस दौरान दोनों देशों के बीच चल रहा व्यापार गतिरोध थमने की संभावना है दोनों पक्ष इस दौरे की तैयारियों में जुटे हुए हैं। 

09-02-2020
19 फरवरी को राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक, हो सकती है मंदिर निर्माण की तिथि की घोषणा

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण तथा उसकी देखरेख के लिए बनाए गए ट्रस्ट 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' की पहली बैठक 19 फरवरी को दिल्ली में बुलाई गई है। जानकारी के मुताबिक, बैठक में ट्रस्ट के अध्यक्ष, महामंत्री और कोषाध्यक्ष का चुनाव किए जाने की योजना है। सूत्रों के मुताबिक, ट्रस्ट के दिल्ली ऑफिस में यह बैठक शाम को पांच बजे रखी गई है। बैठक में दो अतिरिक्त सदस्यों का चुनाव भी किया जा सकता है। इसके अलावा राम मंदिर निर्माण कब से शुरू करना है, इसे लेकर भी ट्रस्ट की बैठक में घोषणा की जा सकती है। सूत्रों की मानें तो आगामी रामनवमी (2 अप्रैल) या अक्षय तृतीया (26 अप्रैल) से राम मंदिर का निर्माण शुरू करने पर सहमति बन सकती है।

बता दें कि इसी महीने केन्द्र सरकार ने अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट बनाने के लिए मंजूरी दी थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में इसकी घोषणा करते हुए कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार, सरकार ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के गठन का प्रस्ताव पारित किया है। उन्होंने बताया था कि यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की तीर्थस्थली पर भव्य और दिव्य राम मंदिर के निर्माण और उससे संबंधित विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा। गौरतलब है कि 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट में कुल 15 सदस्यों को शामिल किया गया है। 

 

08-02-2020
श्रीलंका के प्रधानमंत्री का राष्ट्रपति भवन में हुआ औपचारिक स्वागत, नरेंद्र मोदी रहे उपस्थित

नई दिल्ली। शनिवार को श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। इस समारोह में पीएम नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहे। भारत और श्रीलंका के आपसी रिश्तें को और मजबूती देने के लिए श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भारत के दौरे पर आए हैं। महिंदा का यह दौरा चार दिन के लिए होगा, जिसमें वे सेना रक्षा, समुद्री सुरक्षा सहयोग के साथ-साथ अन्य कई क्षेत्रों को लेकर बात करेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक महिंदा भारत के वाराणसी, बौधगया, सारनाथ और तिरूपति जैसी कई धार्मिक स्थलों पर भी जाएंगे। उनकी मुलाकात भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ होगी जिनसे वे कुछ खास मुद्दों पर बातें करेंगे। पीएम मोदी के बुलावे पर महिंदा राजपक्षे भारत आए हैं। गौरतलब है कि राजपक्षे की सरकार के दक्षिणी तमिल के मंत्री दोग्लास देवांदा और केंद्रीय चाय बागान जिले से अर्मुगम थोंडमान भी 10 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल होने वाले हैं। राजपक्षे ने बताया कि नवंबर में नई दिल्ली की यात्रा के समय पीएम मोदी ने उनके भाई गोतबाया को 450 मिलियन के कर्ज देने की बात कही थी अब वे इस मामले पर मोदी से अंतिम रूप की उम्मीद कर रहे हैं। दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की होने वाली बैठक में विशेषतौर पर समुद्री सुरक्षा सहयोग पर वार्ता होगी। राजपक्षे के अनुसार इस क्षेत्र को काफी बढ़ावा दिया जाएगा। 

 

06-02-2020
संसद में नरेंद्र मोदी लगातार 100 मिनट तक बोले,सीएए-एनआरसी से लेकर पं.नेहरू तक का हुआ जिक्र  

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने धन्यवाद प्रस्ताव पर लोकसभा में गुरुवार को भाषण दिया। वे करीब 100 मिनट तक लगातार बोले। मोदी अपने भाषण के दौरान सीएए,एनआरसी और बजट समेत सभी मुद्दों पर अपनी राय रखी। मोदी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की चिट्ठी का भी जिक्र किया। भाषण में उन्होंने कहा कि देश ने देख लिया है कि दल के लिए कौन है और देश के लिए कौन है। जब बात निकली है तो दूर तक जानी चाहिए। किसी को प्रधानमंत्री बनना था,इसलिए हिंदुस्तान में लकीर खींची गई और हिंदुस्तान का बंटवारा कर दिया गया।

उन्होंने कहा कि 5 नवंबर 1950 को इसी संसद में पं. नेहरू ने कहा था कि इसमें कोई संदेह नहीं हैं कि जो प्रभावित लोग भारत में बसने के लिए आए हैं, ये नागरिकता मिलने के अधिकारी हैं और अगर इसके लिए कानून अनुकूल नहीं हैं तो कानून में बदलाव किया जाना चाहिए। इतने दशकों के बाद भी पाकिस्तान की सोच नहीं बदली है,वहां आज भी अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहे हैं। इसका ताजा उदाहरण ननकाना साहिब में देखने को मिला। ये केवल हिंदू और सिखों के साथ नहीं बल्कि वहां जो अन्य अल्पसंख्यक हैं, उनके साथ भी यही हो रहा है।

कांग्रेस से सवाल पूछते हुए उन्होंने कहा,' पं. नेहरू इनते बड़े विचारक थे, फिर उन्होंने उस समय वहां के अल्पसंख्यकों की जगह, वहां के सारे नागरिक को समझौते में शामिल क्यों नहीं किया? जो बात हम आज बता रहे हैं, वही बात नेहरू की भी थी। क्या पंडित नेहरू कम्युनल थे?' नागरिकता कानून पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस की दिक्कत ये हैं कि वो बाते करती है, झूठे वादे करती है और दशकों तक उन वादों को टालती रहती है। आज हमारी सरकार अपने राष्ट्र निर्माताओं की भावनाओं पर चलते हुए फैसले ले रही है तो इनकों दिक्कत हो रही है। मैं फिर से इस सदन के माध्यम से बड़ी जिम्मेदारी के साथ स्पष्ट कहना चाहता हूं कि सीएए से हिंदुस्तान के किसी भी नागरिक पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला। चाहे वो मुस्लिम हो, हिंदू हो, सिख हो या अन्य किसी धर्म को मानने वाला हो।

 

26-01-2020
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजपथ पर फहराया तिरंगा

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजपथ पर 71वें गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस मौके पर उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई। इस अवसर पर ब्राजील के राष्ट्रपति जे बोलसनारो उपस्थित थे। समारोह में उपराष्ट्रपति एम.वैंकेया नायडू,पीएम नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत, आर्मी चीफ एमएम नरवणे, नेवी चीफ एडमिरल करमबीर सिंह और एयरफोर्स चीफ आरकेएस भदौरिया मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गणतंत्र दिवस के मौके पर नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचे और जवानों को श्रद्धांजलि दी।

 

22-01-2020
भाजपा ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची, नरेंद्र मोदी समेत कई बड़े नेताओं के नाम शामिल

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है। इस सूची में दिल्ली के नए सांसदों के नाम शामिल हैं। इसके अलावा लिस्ट में सनी देओल और हेमा मालिनी का भी नाम शामिल है। पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी स्टार प्रचारकों की लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। इनके अलावा इस सूची में दिल्ली से सांसद हंसराज हंस, गौतम गंभीर, रविकिशन, भोजपुरी फिल्म स्टार दिनेश लाल यादव, निरहुआ के नाम शामिल हैं।  

8 फरवरी को मतदान

बता दें कि दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतों की गणना के बाद नतीजे आएंगे। नामांकन के बाद अब उम्मीदवारों का प्रचार अभियान जोरों पर है। जगह-जगह रोड शो निकाले जा रहे हैं। आप जहां बिजली पानी मुफ्त जैसे अपने कामों को गिनाकर वोट मांग रही है, वहीं भाजपा का जोर अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने के केंद्र के फैसले को भुनाने पर है। इसके अलावा नागरिकता कानून मुद्दा भी उसकी लिस्ट में शामिल है। वहीं कांग्रेस आप-भाजपा की लड़ाई को मुद्दा बनाकर चुनाव मैदान में है।

04-12-2019
सूडान में भयानक धमाके ने ले ली 18 भारतीयों की जान, मोदी ने जताया शोक

खारतूम। अफ्रीकी देश सूडान की राजधानी खारतूम की एक फैक्ट्री में एक भीषण हादसा हुआ। यहां पर फैक्ट्री में एलपीजी टैंकर में धमाका हुआ। इसमें 23 लोगों की मौत हो गई। इसमें 18 भारतीय शामिल हैं। हादसे में दर्जनों लोग घायल हुए हैं। ये हादसा मंगलवार को हुआ लेकिन हादसे की पुष्टि भारतीय दूतावास ने बुधवार को की। इस फैक्ट्री में करीब 50 भारतीय काम करते हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उत्तरी खारतूम में  इस चीनी मिट्टी फैक्ट्री में हुए धमाके के बाद आसमान में काला धुआं छा गया। ये धमाका काफी शक्तिशाली था। धमाके के बाद कंपाउंड में खड़ी कारों में भी आग लग गई। सरकारी आंकड़ों के अनुसार कुल 23 लोगों की मौत हुई है और 130 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। प्राथमिक जांच रिपोर्ट में सामने आया है कि फैक्ट्री में हादसे वाली जगह पर सुरक्षा के उपकरण और उपाय नहीं किए गए थे। साथ ही आग पकडऩे वाले मैटेरियल का भंडारण उचित तरीके से नहीं किया गया था। यही कारण था जब ब्लास्ट हुआ तो उस मैटेरियल ने भी आग पकड़ ली। सरकार ने जांच शुरू कर दी है। पीएम नरेंद्र मोदी ने सूडान में हुए धमाके के बाद ट्वीट किया है कि सूडान के चीनी मिट्टी के कारखाने में हुए विस्फोट को लेकर बहुत दुखी हूं, जहां कई भारतीय मजदूर मारे गए और कुछ घायल भी हो गए हैं। मेरी सांत्वना उनके बहादुर परिवारों के साथ जबकि घायलों के साथ मेरी दुआएं हैं। दूतावास ने हादसे में घायल और लापता भारतीयों की लिस्ट जारी की है। घायल और लापता लोगों में ज्यादातर यूपी, बिहार, हरियाणा, राजस्थान, तमिलनाडु, दिल्ली और गुजरात से हैं।

30-11-2019
प्रधानमंत्री से मिले जापान के मंत्री, आज होगी ‘टू प्लस टू वार्ता’

नई दिल्ली। भारत और जापान के बीच शनिवार को होने वाली ‘टू प्लस टू वार्ता’ का मुख्य फोकस हिंद प्रशांत क्षेत्र समेत सामरिक रूप से अहम जल क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर होगा। अधिकारियों के मुताबिक, भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर करेंगे, जबकि जापान की ओर से विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोटेगी और रक्षामंत्री तारो कोनो वार्ता में हिस्सा लेंगे। वार्ता में शामिल होने के लिए विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोटेगी शनिवार सुबह दिल्ली पहुंच चुके हैं। विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा, भारत और जापान के बीच होने वाली ‘टू प्लस टू बैठक’ से दोनों पक्ष रक्षा व सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने पर चर्चा करेंगे। भारत और जापान एशियाई क्षेत्र में शांति, समृद्धि व प्रगति के साझा उद्देशअय को पाने के लिए हिंद प्रशांत क्षेत्र में स्थिति तथा भारत की ‘एक्ट ईस्ट नीति’ एवं जापान की ‘फ्री एंड ओपन इंडो-पैसेफिक विजन’ के तहत अपने अपने प्रयासों विचारों का आदान प्रदान करेंगे। गौरतलब है कि बीते साल पीएम नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने 13वें शिखर सम्मेलन के दौरान बीच द्विपक्षीय सुरक्षा व रक्षा सहयोग को मजबूती देने, विशेष सामरिक व वैश्विक भागीदारी में मजबूती लाने के उद्देश्य से नई व्यवस्था शुरू करने का फैसला किया था।

प्रधानमंत्री मोदी से मिले जापान के मंत्री

जापानी विदेश मामलों के मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी और जापानी रक्षा मंत्री तारो कोनो ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

15-10-2019
मोदी की कांग्रेसियों को ललकार, राष्ट्रहित में लिए गए फैसलों को मत करो विरोध 

दादरी। हरियाणा के चरखी दादारी में पीएम नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा में हवा का रुख साफ-साफ पता चल रहा है कि जनता ने बीजेपी को दोबारा सेवा का मौका देने का फैसला कर लिया है। इस दौरान पीएम ने कहा कि इस बार दो दिवाली मनेगी, एक दीये वाली और एक कमल वाली। इस दौरान उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का भी जिक्र किया। पीएम ने कहा, जब चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मुझे बताया कि उन्होंने दंगल फिल्म देखी है तो मुझे हरियाणा की बेटियों पर गर्व हुआ। पीएम मोदी ने कांग्रेस नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि आप मुझे चाहे जो भी कह लें, बैंकॉक-थाईलैंड से गालियां भी इंपोर्ट करनी हैं तो कर लीजिए, लेकिन राष्ट्रहित में लिए गए फैसलों को विरोध मत कीजिए और हिंदुस्तान की पीठ में छुरा मत घोंपिए। दादरी रैली में पीएम मोदी ने कहा, हिंदुस्तान और हरियाणा के किसानों के हक का पानी 70 साल से पाकिस्‍तान जा रहा है। यह पानी अब आपका मोदी रोकेगा और आपके घर तक लाएगा। इस पानी पर हिंदुस्तान का हक है और इसे रोकने की दिशा में काम किया जा रहा है। जल्द ही पाकिस्तान जा रहा हमारे नदियों का पानी किसानों को मिलेगा।

14-10-2019
राहुल गांधी का कटाक्ष : युवाओं को बेवकूफ बनाकर सरकार नहीं चला सकते

चंडीगढ़।  हरियाणा विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए सोमवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी यहां के नूंह विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे। राहुल ने अपनी सभा में सीएम खट्टर और पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी अंबानी-अडानी के लाउडस्पीकर हैं और दिनभर उन्हीं की बात करते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि देश में जो बेरोजगारी है और जो अर्थव्यवस्था की हालत है, आप देखना कि 6 महीने बाद यहां क्या होता है। देश में युवाओं को ज्यादा वक्त तक बेवकूफ   बनाकर सरकार नहीं चला सकता। आप 6 महीने एक साल सरकार चला सकते हो, लेकिन एक दिन सच्चाई बाहर आएगी। फिर देखना क्या होता है देश में और क्या होता है नरेंद्र मोदी का? कांग्रेस नेता ने कहा कि इस देश में अलग-अलग जाति और धर्म के लोग रहते हैं। यहां अमीर लोग गरीब लोग सभी एक साथ रहते हैं और इन सभी को हम हिंदुस्तान कहते हैं। कांग्रेस सबकी पार्टी है और हमारा काम लोगों को जोडऩे का है। बीजेपी और आरएसएस का काम जो पहले अंग्रेज करते थे देश को तोडऩे का काम और देश में एक दूसरे को लड़ाने का काम है। नोटबंदी और जीएसटी पर कटाक्ष करते हुए राहुल ने कहा कि पहले नोटबंदी ने देश में सबको लाइन में लगा दिया। उस लाइन में अनिल अंबानी और अडानी को देखा था क्या आपने? उस दौरान काले धन का कोई आदमी लाइन में नहीं लगा। उसके बाद गब्बर सिंह टैक्स आया। यहां कोई है जो कह सके कि जीएसटी से मुझे फायदा हुआ। छोटे दुकानदार, मिडिल साइज बिजनस सब खत्म हो गए क्योंकि उनका बिजनस मोदी अपने 15-20 दोस्तों को देना चाहते हैं।

अगर आप देशभक्त हैं तो आप बताओ कि हिंदुस्तान की पब्लिक सेक्टर की कंपनियां हैं उन्हें आप अपने अरबपति मित्रों को क्यों बेच रहे हो? राहुल ने आगे कहा कि ये लोग चाहते हैं कि आपका ध्यान सच्चे मुद्दों से हटकर अलग-अलग मुद्दों पर जाता रहे। बस आप सच्चाई पर सवाल ना पूछे। इनके मीडिया के मित्र हैं जिनका ठेका लगा हुआ है। आपने टीवी पर कभी देखा है कि भारत में बेरोजगारी है? क्योंकि ये लोग और इनके मालिक नहीं चाहते कि आपको पता चले कि नरेंद्र मोदी ने आपका पैसा लूटा है। राहुल ने कहा कि राफेल मामले में एयरफोर्स के लोगों ने साफ  कहा कि नरेंद्र मोदी ने कॉन्ट्रैक्ट बदलवाया। एयरफोर्स का डॉक्यूमेंट था, लेकिन ये मीडिया में नहीं आया क्योंकि सच्चाई आपको नहीं दिखानी है। आपको सिर्फ  झूठ दिखाना है, कभी चांद के बारे में और कभी राफेल के सामने पूजा होगी और कॉर्बेट में मूवी बनेगी। लेकिन नरेंद्र मोदी ये नहीं कहेंगे कि 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा मैंने तोड़ा। नूंह की इस रैली के दौरान राहुल ने लोगों से किसानों की कर्जमाफी और अर्थव्यवस्था की हालत पर भी चर्चा की और हरियाणा में अपनी सरकार बनवाने के लिए कांग्रेस को वोट करने के लिए भी कहा।

13-10-2019
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव : पीएम मोदी ने दी विपक्ष को चुनौती, धारा 370 पर स्पष्ट करें रूख

जलगांव। पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से 370 हटाने का विरोध कर रहे दलों को खुली चुनौती देते हुए कहा कि अगर विरोध करने वालों में हिम्मत है तो वे अपना रूख स्पष्ट करें। पीएम मोदी ने ऐसे दलों से अपने चुनावी घोषणा पत्रों में धारा 370 वापस लाने का ऐलान करने की मांग की। महाराष्ट्र के जलगांव में पीएम नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जनसभाएं तो लोकसभा चुनाव के दौरान भी बहुत हुई हैं, लेकिन जलगांव की जो ये जनसभा है वो अद्भुत है। 4 महीने पहले आपने एक समर्थ और सशक्त नए भारत के निर्माण के लिए वोट दिया था। आपने एक ऐसे भारत के लिए जनादेश दिया था, जो विश्व में अपने स्वाभाविक स्थान को हासिल करे।

इस दौरान पीएम ने विरोधियों पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि आप बीते कुछ महीनों में कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं के बयान देख लीजिए। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को लेकर जो देश सोचता है, उससे एकदम उल्टा इनकी सोच है। इन दलों की भूमिका भारत की कम बल्कि पडोसी देश जो बोलता हैं, उनके साथ इनका तालमेल नजर आता है। पीएम मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाने के फैसले पर भी अपना पक्ष रखा। पीएम ने कहा, 5 अगस्त को आपकी भावना के अनुरूप भाजपा-एनडीए सरकार ने एक अभूतपूर्व फैसला किया। पीएम मोदी ने अपने भाषण में यह भी कहा कि जम्मू कश्मीर और लद्दाख सिर्फ जमीन का एक टुकड़ा नहीं है, वो मां भारती का शीश है, वहां का कण-कण भारत की शक्ति को मजबूत करता है।

आज मैं विरोधियों को चुनौती देता हूं कि आपमें अगर हिम्मत है तो इस चुनाव में भी और आने वाले चुनावों में भी अपने चुनावी घोषणा पत्र में ये ऐलान करें कि हम अनुच्छेद 370 को वापस लाएंगे। 5 अगस्त के निर्णय को हम बदल देंगे। पीएम नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से 370 हटाने का विरोध कर रहे दलों को खुली चुनौती देते हुए कहा कि अगर विरोध करने वालों में हिम्मत है तो वे अपना रूख स्पष्ट करें। पीएम मोदी ने ऐसे दलों से अपने चुनावी घोषणा पत्रों में धारा 370 वापस लाने का ऐलान करने की मांग की। मोदी ने कहा, 'कान खोलकर हमारे विरोधी सुन लें, अगर आपमें हिम्मत है तो इस चुनाव में और आने वाले चुनावों में भी घोषणा पत्र में ऐलान करें कि धारा 370 वापस लाएंगे। 5 अगस्त के निर्णय को हम बदल देंगे। पीएम मोदी की आज की यह पहली रैली है, इसके बाद वो सकोली में एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804