GLIBS
29-11-2020
पीडीएस के खाली बारदाना जमा नहीं करने पर शासकीय उचित मूल्य की दुकान निलंबित

कवर्धा। संचालनालय, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग नवा रायपुर द्वारा जारी निर्देश के अनुसार समस्त शासकीय उचित मूल्य की दुकानों को माह जून 2020 से नवम्बर 2020 तक प्रदाय समस्त बारदानों को जिला विपणन संघ में जमा किया जाना था। उक्त कार्य में लापरवाही बरतने एवं निर्देशो का अनुपालन नही किये जाने के कारण कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा के निर्देशानुसार कवर्धा अनुभागीय अधिकारी (रा.) ने 3 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर निलंबन की कार्यवाही की।

कवर्धा अनुविभाग के शासकीय उचित मूल्य की दुकान बिपतरा, शासकीय उचित मूल्य की दुकान मिरमिट्टी, शामिल है। इसके अलावा बोड़ला अनुभाग अंतर्गत 2 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों को भी बारदाना जमा नही करने के कारण निलंबन की कार्यवाही की जा रही है। खाद्य अधिकारी ने बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान खरीदी के लिए बारदानों की समुचित उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए उक्त कार्यवाही की गई है। कलेक्टर शर्मा के निर्देशानुसार बारदानों के अवैध भण्डारण एवं क्रय-विक्रय को भी प्रतिबंधित किया गया है।

 

28-11-2020
तीन स्तरीय आंदोलन को सफल बनाने के लिए कमल वर्मा ने किया जनसंपर्क

रायपुर।  छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक कमल वर्मा  ने शनिवार को नवा रायपुर स्थित विभागाध्यक्ष कार्यालय इंद्रावती भवन, लोकनिर्माण विभाग, सिंचाई विभाग, जीएसटी विभाग सहित अनेकों विभाग में प्रस्तावित तीन स्तरीय आंदोलन को सफल बनाने जनसंपर्क किया। जनसंपर्क के दौरान संचालनालय विभागाध्यक्ष शासकीय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रामसागर कौशले, कार्यकारी अध्यक्ष संतोष वर्मा, महासचिव सत्येन्द्र देवांगन, उपाध्यक्ष आर एन पटेल, आलोक वशिष्ठ, देवाशीष दास, आशीष सिंह ठाकुर, अमित पाटिल, ज्ञानीराम परसे, योगेश निषाद,  सुभाष श्रीवास्तव, जयमंगल पटेल, जय साहू, हेमंत साहू, नरेन्द्र सोनकर, रामदयाल केवट, संयुक्त कर्मचारी संघ से कार्य.अध्यक्ष अमोद श्रीवास्तव, सुरेश ढीढी, अनियमित कर्मचारी संघ संयोजक अनिल देवांगन, विभागाध्यक्ष संघ से रफ़ीक़ मोहम्मद, राकेश सागर, जय मंगल, इब्राहिम कुरेशी, गुरमीत सिंह, दिलीप चतुर्वेदी, दिनेश तिवारी, सलीम खान, सोहन लाल डड़सेना, दिलीप छत, हेमलाल देवांगन, रामनरेश कुशवाहा, मोह. हदीम खान, सहित विभिन्न संगठन के कर्मचारी नेता मौजूद थे। कर्मचारियों ने एक स्वर में इस आंदोलन को ऐतिहासिक बनानें संकल्प लिए।

 

22-11-2020
राज्य हज कमेटी के अध्यक्ष ने नवा रायपुर पहुंचकर हज हाऊस स्थल का लिया जायजा

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य हल कमेटी के अध्यक्ष मोहम्मद असलम खान ने रविवार को नवा रायपुर में बनने वाले हज हाऊस स्थल का निरीक्षण किया। मौके पर उपस्थित लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से हज हाऊस निर्माण के संबंध में विस्तार से चर्चा करते हुए उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस अवसर पर राज्य हज कमेटी के सचिव  साजिद मेमन, लोक निर्माण विभाग के अधिकारी और अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 

 

19-11-2020
नवा रायपुर में बन रहे सीएम हाउस को देखने पहुंचे भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरूवार को नवा रायपुर के सेक्टर-24 का भ्रमण कर वहां निर्माणाधीन मुख्यमंत्री निवास की प्रगति की जानकारी अधिकारियों से ली। इस अवसर पर वनमंत्री मोहम्मद अकबर, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, खाद्यमंत्री अमरजीत भगत सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

 

09-11-2020
रबी फसलों की सिंचाई के लिए 2 लाख 16 हजार 924  हेक्टेयर में होगाी जलापूर्ति

 रायपुर। कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे की अध्यक्षता में सोमवार को नवा रायपुर स्थित शिवनाथ भवन में राज्य स्तरीय जल उपयोगिता समिति की बैठक हुई। इसमें आगामी रबी सीजन में राज्य के सिंचाई बांधों एवं जलाशयों से 2 लाख 16 हजार 924 हेक्टेयर में जलापूर्ति का लक्ष्य को पूरा करने के लिए विचार-विमर्श किया गया। जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को इस लक्ष्य के पूर्ति के लिए एक्शन प्लान तैयार करने तथा संबंधित इलाकों के किसानों को इसकी जानकारी देने को कहा ताकि किसान रबी फसल के लिए बीज, खाद के इंतजाम के साथ ही अन्य आवश्यक तैयारी कर सके। बैठक में मंत्री रविन्द्र चौबे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संसदीय सचिव द्वारिकाधीश, विधायक दलेश्वर साहू, ननकीराम कंवर, इंदु बंजारे,अनिता शर्मा सहित अन्य विधायकगणों से भी रबी सीजन में फसलों की सिंचाई के लिए जलापूर्ति के संबंध में चर्चा की और उनके सुझावों को कार्ययोजना में शामिल करने के निर्देश दिए। मंत्री चौबे ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को नहर लाइनिंग के कामों को तेजी से पूरा कराने के साथ अभनपुर स्थित लिफ्ट एरीगेशन सिस्टम के पम्पों की मरम्मत कराए जाने के निर्देश दिए।

  9 वृहद सिंचाई परियोजना से होगी जलापूर्ति

बैठक में जानकारी दी गई कि इस साल रबी सीजन में राज्य की 9 वृहद सिंचाई परियोजना के माध्यम से 1 लाख 62 हजार 786, 36 मध्यम सिंचाई परियोजनाओं से 23 हजार 95 तथा 1641 लघु सिंचाई परियोजनाओं से 31 हजार 43 इस प्रकार कुल 2 लाख 16 हजार 924 हेक्टेयर में जलापूर्ति की जाएगी। महानदी परियोजना से 34 हजार हेक्टेयर, महानदी गोदावरी कछार परियोजना से 21 हजार हेक्टेयर, हसदेव बांगो परियोजना से 1 लाख 20 हजार 137 हेक्टेयर, हसदेव कछार परियोजना से 20 हजार 385 तथा हसदेव गंगा कछार परियोजना से 21 हजार 343 हेक्टेयर में रबी फसलों के लिए जलापूर्ति की योजना है। बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि बीते वर्ष रबी सीजन में रबी फसलों की सिंचाई के लिए 1 लाख 38 हजार 689 हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसमें इस वर्ष 78 हजार 235 हेक्टेयर की बढ़ोत्तरी कर 2 लाख 16 हजार 924 हेक्टेयर निर्धारित किया गया है। गौरतलब है कि राज्य में बीते वर्षा मौसम में बेहतर बारिश होने की वजह से राज्य के अधिकांश बांध एवं जलाशय लबालब हो गए हैं। खरीफ फसलों की सिंचाई के लिए जलापूर्ति के बाद भी अभी भी राज्य के सिंचाई बांधों एवं जलाशयों में औसतन 82.86 प्रतिशत जल भराव है। इससे रबी सीजन में सिंचाई के लिए जलापूर्ति सहजता से हो सकेगी।बैठक में संसदीय सचिव शकुंतला साहू, वरिष्ठ विधायक धनेन्द्र साहू, अपर मुख्य सचिव वित्त एवं जल संसाधन अमिताभ जैन, सचिव जल संसाधन अविनाश चम्पावत सहित जल संसाधन विभाग के प्रमुख अभियंता, मुख्य अभियंता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

06-11-2020
डॉ. अशोक होता ने एसआईओ का पदभार संभाला

रायपुर। नवा रायपुर महानदी मंत्रालय भवन स्थित छत्तीसगढ़ राज्य सूचना विज्ञान केंद्र में नवपदस्थ राज्य सूचना अधिकारी डॉ. अशोक होता ने 4 नवंबर को अपना पदभार ग्रहण किया। डॉ. होता इससे पूर्व एनआईसी ओड़िसा में उप महानिदेशक के पद पर पदस्थ थे।

02-09-2020
इंद्रावती भवन में एक और कर्मचारी की कोरोना से मौत, संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर इंद्रावती भवन में जंगी प्रदर्शन

रायपुर। नवा रायपुर विभागाध्यक्ष कार्यालय इंद्रावती भवन के विभिन्न विभागों में लगातार बढ़ रहे  संक्रमण को देखते हुए भवन में भय एवं सन्नाटा छाया हुआ है। शासन के आदेश के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा तीन दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया था। भवन में लगभग 5 हजार अधिकारी - कर्मचारी कार्यरत है। इसमें से केवल 227 कर्मचारियों का ही कोरोना जांच कराया गया है, जिसमें लगभग 75 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसे देखकर मंत्रालय एवं इंद्रावती भवन में हड़कंप मचा हुआ है। आज संचालनालय नगर निवेश में कार्यरत एक कर्मचारी की मौत हो गई। इस तरह अब तक इंद्रवती भवन में तीन कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। 

संयुक्त मोर्चा ने कलेक्टर के आदेश दिनांक 20/8 की कंडिका 6 का हवाला देते हुए कोराेना चैन को तोड़ने के लिए कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए 14 दिन इंद्रावती भवन रखने की लिखित सूचना सचिव सामान्य प्रशासन विभाग को दी है। मोर्चा के पदाधिकारी संक्रमितों की संख्या सहित विस्तृत जानकारी राखी थाना, नवा रायपुर एवं पुलिस अधीक्षक रायपुर को भी दी है। शासन द्वारा भवन के कर्मचारियों की समस्या को गंभीरता से नहीं लेने के कारण शासकीय सेवकों में काफी असंतोष एवं आक्रोश है। संयुक्त मोर्चा ने कल दोपहर एक बजे इंद्रावती भवन में जंगी प्रदर्शन करने जोरदार तैयारी की है। इंद्रावती भवन के समर्थन में प्रदेश भर के कई कर्मचारी सामने आ गए है। आज दिनभर सोशल मीडिया में इंद्रावती को लेकर आम लोग प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे। सरकार ने आज आनन - फानन में इंद्रावती भवन की समस्याओं के निराकरण हेतु डॉ सी आर प्रसन्ना को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिए।प्रदेश भर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों से मिल रहे समर्थन से मोर्चा के पदाधिकारी उत्साहित हैै। मोर्चा के पदाधिकारी इस समस्या को लेकर आर पार की लड़ाई के मूड में है। मोर्चा के पदाधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था का कमान भी अपने हाथ में ले लिया है। मंत्रालय की भांति इंद्रावती भवन में भी आने वाले समय में सुरक्षा व्यवस्था देखने को मिलेगा।

कलेक्टर रायपुर से एक प्रतिनिधिमंडल ने भेंटकर इंद्रावती भवन को कंटेनमेंट जोन घोषित करने ज्ञापन भी सौंप चुके है। कलेक्टर से मोर्चा के पदाधिकारियों ने संपर्क करने के लिए प्रयास किए लेकिन कलेक्टर ने कॉल रिसीव नहीं किया। संयुक्त मोर्चा की ओर से जारी बयान में छत्तीसगढ़ राजपत्रित अधिकारी संघ के प्रांताध्यक्ष कमल वर्मा, छत्तीसगढ़ विभागाध्यक्ष कर्मचारी संघ के  अध्यक्ष डॉ.जितेंद्र सिंह ठाकुर, सी.एल. शर्मा,नंदलाल चौधरी ,अमोद श्रीवास्तव ,संतोष वर्मा, सत्येन्द्र देवांगन, पुरूषोत्तम पमनानी,आलोक वशिष्ट, सुरेश ढीढी, सलीम खान, अनिल देवांगन, जयंत यादव आदि शामिल है।

29-08-2020
मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने नवा रायपुर में निर्माणाधीन आवासीय परिसरों का किया निरीक्षण

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने शनिवार को नवा रायपुर में नए विधानसभा भवन के भूमिपूजन समारोह के बाद सेक्टर-24 का भ्रमण किया। यहां निर्माणाधीन राजभवन, मुख्यमंत्री निवास, मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों के आवासीय परिसरों की प्रगति की जानकारी ली। मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने इसके बाद विधायकों के आवास के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण भी किया।

इस दौरान गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, खाद्यमंत्री अमरजीत भगत अनेक विधायक छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, नवा रायपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अंकित आनंद भी उपस्थित थे।

 

29-08-2020
नया विधानसभा भवन 51 एकड़ में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा,जानिए यहां दिल्ली जैसा क्या-क्या होगा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने शनिवार को नवा रायपुर में छत्तीसगढ़ विधानसभा के नए भवन के निर्माण के लिए बटन दबाकर शिलापट का अनावरण किया। कार्यक्रम में सांसद सोनिया गांधी,सांसद राहुल गांधी और मोतीलाल वोरा की वर्चुअल उपस्थिति रही। लोकनिर्माण एवं गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि, छत्तीसगढ़ विधानसभा का भवन महानदी भवन और इंद्रावती भवन के बीच पिछले हिस्से में रिक्त भूमि पर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि, इसकी रूपरेखा दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के सामने स्थित नार्थ एवेन्यू और साउथ एवेन्यू जैसी रखी गई है। नए विधानसभा भवन के सामने राजपथ जैसा मार्ग बनेगा,जिसके जरिए महानदी और इंद्रावती भवन से पैदल भी विधानसभा पहुंचा जा सकेगा। छत्तीसगढ़ विधानसभा के बनने वाले नए भवन में छत्तीसगढ़ की गौरवशाली और समृद्ध संस्कृति और परंपरा की झलक देखने को मिलेगी। यह भवन अत्याधुनिक सुविधाओं और संचार तकनीकी से सुसज्जित होगा। विधानसभा भवन में अत्याधुनिक लाइब्रेरी और आडिटोरियम का भी निर्माण किया जाएगा।

नवीन विधानसभा भवन का निर्माण महानदी और इन्द्रावती भवन के मध्य के पीछे  करीब 270 करोड़ की लागत से 51 एकड़ भूमि पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, नवीन भवन 52 हजार 497 वर्ग मीटर में होगा। भवन में करीब 200 विधायकों की बैठक क्षमता के अनुरूप सदन का निर्माण और अध्यक्षीय दीर्घा, अधिकारी दीर्घा, प्रतिष्ठित दर्शक दीर्घा, पत्रकार दीर्घा व दर्शक दीर्घा का निर्माण किया जाएगा। विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री और मंत्रियों, नेता प्रतिपक्ष व उपाध्यक्ष और मुख्य सचिव, विधानसभा के प्रमुख सचिव, सचिव व अन्य सचिव के लिए कक्ष, मीटिंग हॉल, स्टाफ कक्षों का निर्माण किया जाएगा। नवीन भवन में विभिन्न समिति कक्षों का निर्माण, पुस्तकालय, एलोपैथिक, होम्योपैथिक और आयुर्वेदिक औषधालय, पोस्ट आफिस, रेलवे रिजर्वेशन काउंटर, बैंक के लिए भी कक्षों का निर्माण होगा। विधानसभा के चारों ओर सड़क निर्माण, वृक्षारोपण सहित सौन्दर्यीकरण का कार्य किया जाएगा।

 

29-08-2020
भूपेश बघेल ने कहा-नवा रायपुर को आबाद करने किए जा रहें चौतरफा उपाय,विधानसभा भवन का निर्माण जल्द पूरा होगा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नए विधानसभा भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में अपने उद्बोधन की शुरुआत छत्तीसगढ़ महतारी और भारत माता के जयकारे से की। उन्होंने कहा कि, नवा रायपुर अटल नगर आबाद हो, इसके लिए छत्तीसगढ़ सरकार चौतरफा उपाय कर रही है। मंत्रिमंडल के सहयोगियों और अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए आवास बनाने की शुरुआत बीते वर्ष की जा चुकी है। कोरोना संक्रमण की वजह से काम में थोड़ा विलंब हुआ। उन्होंने कहा कि, संसदीय सचिवों को नवा रायपुर में ही आवास आवंटित किए गए हैं। मुख्यसचिव नवा रायपुर में निवास करने लगे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि,आगामी वर्षों में यहां राज्यपाल, मंत्री और शासन-प्रशासन से जुड़े सभी लोग रहने लगेंगे। सुविधाएं बढ़ेंगी। इस नए शहर को बसाने की सभी अड़चनें दूर हो जाएंगी। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा हमारी यह कोशिश रहेगी कि, विधानसभा का नया भवन जल्दी बनकर तैयार हो जाए।

हम सब छत्तीसगढ़ की पौने तीन करोड़ जनता और छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा के लिए यहां बैठेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधानसभा भवन के शिलान्यास कार्यक्रम में सांसद सोनिया गांधी और राहुल गांधी की वर्चुअल उपस्थिति के लिए धन्यवाद दिया। कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी, ग्रामीण विकास एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास अनिला भेंड़िया, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत सहित संसदीय सचिव, विधायक, अनेक जनप्रतिनिधि, निगम मंडलों के अध्यक्ष, मुख्य सचिव आरपी. मंडल, विधानसभा के प्रमुख सचिव चंद्रशेखर गंगराड़े, अपर मुख्य सचिव वित्त  अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, लोक निर्माण विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804