GLIBS
30-12-2020
बाल श्रमिकों पर रखें नजर,नियोक्ताओं पर करें कड़ी कार्रवाई, कलेक्टर ने दिये निर्देश

दुर्ग। जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक में कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने अधिकारियों से बाल श्रमिकों, बच्चों द्वारा की जाने वाली भिक्षावृत्ति एवं चाइल्ड ट्रैफिकिंग पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि लेबर डिपार्टमेंट एवं महिला बाल विकास विभाग की टीम इस बात पर नजर रखे। उन्होंने कहा कि मानिटरिंग किसी विशेष समय पर नहीं अपितु रैंडम होनी चाहिए। सुबह के वक्त और देर शाम को भी दुकानों में एवं अन्य व्यावसायिक स्थलों में इसकी जाँच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बाल श्रमिक पाये जाने पर संबंधित संस्थान पर कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि इसी तरह से बाल भिक्षावृत्ति पर भी नजर रखने की जरूरत है। इनके अभिभावकों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी  विपिन जैन ने बताया कि बाल भिक्षावृत्ति पर लगातार नजर रखी जा रही है। टीम अलग .अलग समय पर व्यस्ततम चौराहों पर जाती है। नियमानुसार कार्रवाई की जाती है। कलेक्टर ने कहा कि चाइल्ड ट्रैफिकिंग को रोकने पंचायतों के रिकार्ड का अवलोकन भी जरूरी है। समय समय पर पंचायतों की ओर से आई जानकारी को देखते रहें और स्थिति की मानिटरिंग करते रहें।

संप्रेक्षण गृह की आवश्यकताओं के संबंध में भी विस्तार से चर्चा बैठक में हुई। यहाँ अतिरिक्त पानी की उपलब्धता के लिए अमृत मिशन से व्यवस्था करने के निर्देश दिये गए। सखी सेंटर में आने वाले आवेदनों एवं इनके निराकरण के बारे में भी कलेक्टर ने जानकारी ली। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि चैदह सौ से अधिक आवेदनों का निराकरण यहाँ किया गया। कलेक्टर ने कहा कि बच्चों की जरूरतों के संबंध में जिस तरह से भी बेहतर करने के लिए फीडबैक आते हैं। उनसे अवगत कराया जाए ताकि इस संबंध में व्यवस्था की जा सके। यहाँ आने वाले नये बच्चों के शाम को ही कोविड टेस्ट हो सके, इस संबंध में भी कलेक्टर ने निर्देश दिये। बैठक में नगर निगम कमिश्नर  ऋतुराज रघुवंशी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

28-11-2020
पिछले साल हुआ था पुष्पवाटिका का जीर्णोद्धार, स्थिति फिर खराब, कलेक्टर ने एसडीएम को दिये जांच के निर्देश

दुर्ग। धमधा ब्लाक के दौरे के दौरान कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने विभिन्न अधोसंरचनाओं की स्थिति का अवलोकन भी किया। वे यहां पुष्पवाटिका भी पहुंचे। यहां साफसफाई की स्थिति अच्छी नहीं थी और झूले जैसे साजोंसामान भी खराब हो रहे थे। इस पर कलेक्टर ने इसे ठीक कराने के निर्देश दिए गए। बताया गया कि पिछले साल ही पुष्पवाटिका का जीर्णोद्धार हुआ था। मौके पर मौजूद इंजीनियर ने बताया कि चूंकि जीर्णोद्धार के कार्य के काफी समय बाद इसका लोकार्पण हुआ था। इसलिए मेंटेनेंस की जरूरत है। इस पर कलेक्टर ने नाराजगी जताई और एसडीएम  बृजेश  क्षत्रिय को जांच के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पुष्पवाटिका को बेहतर करें। नियमित रूप से माली के माध्यम से पौधों की छंटाई कराएं। बच्चों के प्ले जोन को बेहतर करें। पैबर ब्लाक लगा दें एवं रंगरोगन भी करा दें।कलेक्टर ने धमधा नगरीय निकाय में गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन पर नाराजगी जताई।

उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता की योजना है। इसमें तकनीकी गुणवत्ता सहित सभी पक्षों का ध्यान रखना है। शासन के सभी निर्देशों का भलीभांति  पालन करना है। उन्होंने धमधा सीएमओ को एक हफ्ते के भीतर स्थिति सुधारने के निर्देश दिए।कलेक्टर ने जामुल नगरीय निकाय में गोधन  न्याय योजना के क्रियान्वयन पर संतुष्टि जताई। उन्होंने वर्मी कंपोस्ट देखा और इसकी तकनीकी गुणवत्ता से संतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से मानिटरिंग और बेहतर व्यवस्था बनाये रखने की जरूरत है ताकि अधिकाधिक लोगों को गोधन न्याय योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने यहां स्वसहायता समूहों द्वारा किये जा रहे कार्यों का निरीक्षण भी किया। उन्होंने  कहा कि आजीविकामूलक गतिविधियों को निरंतर बढ़ाना जरूरी है। इसके लिए निरंतर कार्य किये जाने की जरूरत है।

 

19-10-2020
कलेक्टर ने कहा, स्वसहायता समूहों के बनाए उत्पादों का हो प्रचार प्रसार, मिले बेहतर मार्केट

दुर्ग। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने जिला पंचायत अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि बीते दिनों उन्होंने स्वसहायता समूहों के उत्पाद देखें हैं। यह उत्पाद काफी आकर्षक हैं और इस नाते कुछ समूहों ने विदेशों में भी उत्पाद भेजे हैं। यह बहुत अच्छा संदेश है इसे आगे ले जाना चाहिए। लोग कहीं भी हों, उन्हें  हमारे डिजाइनर उत्पाद मिल पाएं, इसलिए कार्य करें। इसके लिए अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसे ई-मार्केट पर भी फोकस करें ताकि बहुत बड़ा डिजिटल मार्केट भी ये कैप्चर कर पाएं। कलेक्टर ने कहा कि इनकी डिजाइनिंग बहुत अच्छी है इसमें विशेषज्ञों की मदद से और भी निखार लाएं। गुणवत्ता और बेहतर करने की कोशिश हो, उत्पादों की रेंज बढ़ाएं। उन्होंने कहा कि दीपावली को लेकर विशेष तौर पर फोकस करें। स्थानीय उत्पादों के प्रमोशन के लिए यह शानदार मौका है। इस समय डिमांड काफी होगी, अभी से इसके लिए कार्य करें। किसी भी तरह की मदद की जरूरत है तो उन्हें उपलब्ध कराएं। जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक ने बताया कि इसके लिए बाजार से एनआरएलएम की टीम जुड़ी हुई है।

जहां जहां से मांग सृजित हो सकती है वहां संपर्क किया गया है और इसे समूहों के माध्यम से सप्लाई किया जाएगा। समूहों के पास काफी काम आ रहा है। उन्होंने बताया कि समूहों को बाजार उपलब्ध कराने के लिए विशेष पहल की जा रही है। कलेक्टर ने कहा कि एनआरएलएम योजना का दायरा काफी विस्तृत होता है। इसके माध्यम से बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन हो सकता है और नवाचार को बढ़ावा दिया जा सकता है। कलेक्टर ने बैठक में मनरेगा की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जून तक के काम चिन्हांकित कर रख लें। अधिकाधिक लोग 100 दिन का लक्ष्य प्राप्त करें, यह कोशिश हो। कार्य काफी गुणवत्तापूर्वक हों, यह भी देख लें। उन्होंने कहा कि नरवा योजनाओं के माध्यम से भूमिगत जल का स्तर काफी बढ़ेगा। यह काफी अहम प्रोजेक्ट्स हैं और इस दिशा में विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि नरवा के लिए चिन्हांकित स्थलों में विशेषज्ञों के निर्देश के अनुरूप निर्माण हो, यह सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने पंद्रहवें वित्त की राशि से हो रहे कार्यों की जानकारी भी ली। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि इस राशि के माध्यम से पेयजल एवं बुनियादी संरचना आदि के कार्य कराए जा रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविकामूलक गतिविधियों को बढ़ावा देना सबसे अहम है। इस दृष्टि से विशेष काम होना चाहिए।

 

11-09-2020
कलेक्टर ने किया सेंट्रल जेल का निरीक्षण, देखी कोविड संक्रमण को रोकने की तैयारी

दुर्ग। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे शुक्रवार को सेंट्रल जेल पहुंचे। यहां पर उन्होंने कोविड संक्रमण की स्थिति और इससे निपटने जेल प्रशासन द्वारा की गई तैयारियां देखीं। जेल अधीक्षक योगेश क्षत्री ने बताया कि जेल हास्पिटल में कोविड पेशेंट के लिए आइसोलेशन वार्ड रखा गया है। यहां इलाज की पूरी सुविधा के साथ आक्सीजन सिलेंडर आदि व्यवस्था भी है। उन्होंने बताया कि जेल परिसर में सैनिटाइजेशन का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। कोविड संक्रमण को नियंत्रित करने की दिशा में सभी संभव उपाय जेल प्रशासन द्वारा किये गए हैं। कलेक्टर ने कहा कि लगातार इस संबंध में मानिटरिंग करते रहे और कोविड प्रोटोकाल के मुताबिक इसी तरह से सजगता के साथ कार्य होता रहे।

 

29-08-2020
कलेक्टर पहुंचे गौठान, वर्मी टैंकों के काम शुरू नहीं होने पर भड़के,कहा- कल से काम शुरू कराएं

दुर्ग। पाटन ब्लाक के दौरे पर पहुंचे कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने ग्राम भोथली और मगरघटा के गौठानों का निरीक्षण किया। ग्राम भोथली में वर्मी टैंक बनवाने में हो रही देरी पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता की योजना है। इसके माध्यम से पशुपालकों से गोबर क्रय करना है। इसका वर्मी कंपोस्ट बनाना है इससे गौठान समितियों को एवं स्वसहायता समूहों की महिलाओं को लाभ होगा। सभी गौठानों में इसके लिए गोबर का काफी मात्रा में क्रय किया जा रहा है। इसके लिए अभी उपलब्ध वर्मी टैंक पर्याप्त नहीं होंगे। इसके लिए निर्देशित किया गया है कि नाडेप टैंक का इस्तेमाल भी वर्मी के लिए किया जाएगा। साथ ही नये टैंक भी बनवाये जाएंगे। इसके बावजूद कुछ सचिवों द्वारा इसमें रुचि नहीं ली जा रही है।

जहां अभी तक नये टैंकों का काम शुरू नहीं हो पाया है वहां कल से ही नये टैंकों का काम शुरू कराएं। कलेक्टर ने जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों से समस्याएं भी पूछी।  उन्होंने खारून नदी के किनारे वाले गांवों में बाढ़ की स्थिति का निरीक्षण भी किया। गौठानों के दौरे के दौरान जिला पंचायत सीईओ  सच्चिदानंद आलोक एवं एसडीएम  विनय पोयाम एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।कलेक्टर ने पाटन नगर पंचायत में हो रहे कार्यों की समीक्षा भी की। उन्होंने नकटा जलाशय स्थित अन्य महत्वपूर्ण तालाबों में हो रहे कार्यों की प्रगति की जानकारी ली। साथ ही पाटन नगर में आरंभ किये गए महत्वपूर्ण निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि नये निर्माण कार्यों के साथ ही प्लांटेशन का दायरा बढ़ाना भी प्राथमिकता का कार्य है।

 

14-08-2020
संभागायुक्त ने शासन की फ्लैगशिप योजनाओं का प्रमुखता से क्रियान्वयन करने दिए निर्देश

दुर्ग। संभागायुक्त  टीसी महावर ने पाटन ब्लाक का सघन निरीक्षण किया। यहां उन्होंने राजस्व, कृषि, शिक्षा एवं अन्य विकास योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ली और इस संबंध में विस्तृत निर्देश अधिकारियों को दिए। इस दौरान कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे भी मौजूद रहे।  महावर ने अधिकारियों को कहा कि मुख्य सचिव ने बीते दिनों वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से गोधन विकास योजना, गिरदावरी एवं शासन की सभी फ्लैगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में विस्तृत निर्देश दिए थे। इन पर युद्धस्तर पर कार्रवाई जमीनी अमले द्वारा की जानी है। कलेक्टर ने उन्हें जिले में इस संबंध में अब तक की गई कार्रवाई की विस्तार से जानकारी दी।गिरदावरी कार्य देखने पहुंचे खुड़मुड़ी- ग्राम खुड़मुड़ी में गिरदावरी का कार्य चल रहा था। वहां पर संभागायुक्त ने स्वयं गिरदावरी कार्य होते देखा।

उन्होंने राजस्व अमले को कहा कि गिरदावरी का कार्य गंभीरता से करें। वहां पटवारी द्वारा की जा रही गिरदावरी की जांच भी उन्होंने की। उन्होंने कहा कि टाइमटेबल के मुताबिक गिरदावरी का कार्य कराएं। उन्होंने कहा कि सारी एन्ट्री समय पर पूरी करा लें। संभागायुक्त ने कहा कि गिरदावरी का कार्य बेहतर तरीके से होने से रिकार्ड काफी अच्छा रहता है जिससे राजस्व के कार्यों में आसानी होती है और किसानों के हितों के संबंध में निर्णय लेने में आसानी होती है।संभागायुक्त ने ग्राम सिकोला में गौठान का निरीक्षण किया। यहां के गौठान समिति के सदस्यों ने बताया कि पूर्व में यहां से  133 किलोग्राम वर्मी कंपोस्ट बेचा जा चुका है। संभागायुक्त ने रोज के गोबर खरीदी की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि ग्रामीण तेजी से गोबर विक्रय कर रहे हैं। इसके मुताबिक वर्मी कंपोस्ट भी सुनिश्चित करा लें। उन्होंने पहाटियों से भी बातचीत की। उन्होंने कहा कि गौठान समिति जितना सक्रिय होंगी, उतना ही बेहतर गौठान का संचालन हो सकेगा और ग्रामीण विकास का जरिया खुलेगा।

 

 

29-07-2020
चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कालेज हास्पिटल पहुंचे कलेक्टर, कोविड केयर सेंटर की देखी व्यवस्था

दुर्ग। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कंचादुर स्थित चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कालेज हास्पिटल पहुंचकर यहां कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था देखी। यहां शीघ्र ही कोविड मरीजों को रखा जाएगा। यहां पर कलेक्टर ने इमरजेंसी की स्थिति में आक्सीजन सपोर्ट एवं अन्य आवश्यक मेडिकल उपकरणों की व्यवस्था देखी। इसके अतिरिक्त पीपीई किट एवं अन्य कोविड संक्रमण से बचाने वाली सामग्री तथा दवाओं की स्थिति की जानकारी भी ली। कलेक्टर ने यहां ड्यूटी करने वाले स्टाफ के रहने की व्यवस्था भी देखी। साथ ही मरीजों के भोजन के लिए की गई व्यवस्था एवं स्टाफ के भोजन के लिए की गई व्यवस्था की जानकारी ली।

वे सभी वार्डों में गये। वहां  टायलेट की स्थिति, वेंटीलेशन की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सभी वार्डों में बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। यहां नियुक्त किए गए हेल्थ स्टाफ से भी कलेक्टर ने बातचीत की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. गंभीर सिंह ठाकुर से इनका शेड्यूल लिया। कलेक्टर ने पूरे अस्पताल में पर्याप्त संख्या में सफाई कर्मियों को रखने के निर्देश दिए। इस दौरान भिलाई नगर निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी भी थे। वे इस कोविड केयर सेंटर के नोडल अधिकारी भी हैं। उन्होंने निगम अमले को चिन्हांकित स्थलों पर कैमरे लगाने, कोविड मरीजों की सुविधा के लिए इमरजेंसी अलार्मिंग सिस्टम आदि के लिए निर्देशित किया। सीएमएचओ ने बताया कि पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। ड्यूटी आफिसर नियुक्त कर दिये गए हैं। स्टाफ के प्रशिक्षण का कार्य पूरा हो गया है। पूरी व्यवस्था पर लगातार मानिटरिंग की जा रही है।

 

23-07-2020
बीएसएफ जवानों के लिए तैयार किए जा रहे आइसोलेशन सेंटर का कलेक्टर ने किया निरीक्षण

दुर्ग। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बीएसएफ जवानों के लिए तैयार किये जा रहे आइसोलेशन सेंटर का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक यहां सारी तैयारियां की गई हैं। इस संबंध में कलेक्टर डाॅ.भुरे की बीएसएफ के डीआईजी परदीप कत्याल से चर्चा हुई थी। यहां बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित करने के संबंधी एवं आइसोलेशन सेंटर के प्रोटोकाल के मुताबिक सभी तैयारियां करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए थे। आज कलेक्टर ने परिसर का निरीक्षण किया। उल्लेखनीय है कि बीएसएफ के अधिकारियों के साथ जिला प्रशासन समन्वय के साथ कोविड संक्रमण रोकने की दिशा में लगातार काम कर रहा है। पिछली बैठक के पश्चात विज्ञान केंद्र को भी बीएसएफ जवानों के क्वारंटीन सेंटर के रूप में चिन्हांकित किया गया था। जवानों की संख्या के मुताबिक पर्याप्त संख्या में टायलेट रहें, इसके लिए कलेक्टर ने बायोटायलेट भी क्वारंटीन सेंटर में रखवाने के निर्देश दिए थे।

 

09-12-2019
जिले में अब तक 47.88 करोड़ रूपए की धान खरीदी, कृषक अफवाहों पर न दें ध्यान: कलेक्टर

मुंगेली। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कहा है कि खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 के लिए समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी 1 दिसम्बर से की जा रही है। धान खरीदी का कार्य आगामी 15 फरवरी तक होगा। उन्होंने कहा कि पंजीकृत किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल की धान की खरीदी की जा रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों द्वारा अफवाह फैलायी जा रही है कि राज्य शासन द्वारा एक एकड़ में 15 क्विंटल की जगह कम धान की खरीदी की जा रही है, जो भ्रामक है। उन्होने कृषकों को इस तरह की भ्रामक और अफवाहों पर ध्यान न देने की बात कही। उन्होंने कहा कि पंजीकृत किसानों से धान खरीदी का कार्य राज्य शासन का सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल धान की खरीदी की जा रही है। जिले में 43 समितियों के 89 उपार्जन केंद्रों के माध्यम से अब तक 47 करोड़ 88 लाख रूपए की 26 हजार 288 मैट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि जिले में धान खरीदी का कार्य युद्ध स्तर पर हो रहा है। धान खरीदी के लिए किसानों को टोकन जारी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समितियों में धान विक्रय के लिए आने वाले किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जायेगी। उन्होंने किसानों से समितियों में साफ-सुथरा धान लाने की भी समझाइश दी।

 

15-10-2019
20 अक्टूबर से चार दिवसीय राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता

मुंगेली। राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में खेलकूद की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए जिले में चार दिवसीय राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का आयोजन 20 अक्टूबर से किया जा रहा है। यह प्रतियोगिता 23 अक्टूबर तक चलेगी। इस प्रतियोगिता में आर्म रेसलिंग, बेसबाल, कराते, सिलम्बम खेल का आयोजन किया जाएगा। खेल में 14 से 19 वर्ष आयु वर्ग के प्रतियोगी खिलाड़ी भाग ले सकेंगे। जिले में आयोजित राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में प्रदेश के 12 जोन के 1 हजार 884 बालक-बालिकाएं भाग लेंगे। कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को दायित्व सौंपे है। उन्होंने जिले के पुलिस अधीक्षक को आवास एवं खेल मैदानों पर सुरक्षा व्यवस्था, मुंगेली अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी को आवास एवं खेल मैदान, विश्राम गृह कक्ष की व्यवस्था, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता को खेल मैदान का समतलीकरण, जिला खाद्य अधिकारी को खाद्य व्यवस्था, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को आवास स्थलों एवं खेल मैदानों पर चिकित्सा व्यवस्था और नगर पालिका मुंगेली के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को आवास एवं खेल मैदानों की साफ-सफाई, पेयजल और लाइट व्यवस्था, जिला परिवहन अधिकारी को वाहन व्यवस्था, जनसंपर्क विभाग के सहायक संचालक को प्रचार-प्रसार और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता को फ्लेगपोल की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी दी है। इसके अलावा उन्होने राजीव गांधी शिक्षा मिशन मुंगेली, जेसीज पब्लिक स्कूल मुंगेली, सेंट जेवियर्स स्कूल मुंगेली, बीआरसाव शासकीय बहु.उ.मा. विद्यालय मुंगेली, रेम्बो मेमोरियल स्कूल मुंगेली, एसएलएस एकेडमिक मुंगेली और विवेकानंद विद्यापीठ स्कूल मुंगेली को भी आवास व्यवस्था, खेल मैदान एवं वाहन की व्यवस्था की जिम्मेदारी दी है। उन्होने संबंधित अधिकारियों को दी गई जिम्मेदारियों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

09-08-2019
11 अगस्त को मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी का पहला प्रसारण 

मुंगेली। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी का प्रथम प्रसारण छत्तीसगढ़ के सभी आकाशवाणी केंद्रों से रविवार 11 अगस्त सुबह 10.30 से 10.55 बजे तक होगा। इसका प्रसारण एफएम रेडियो एवं क्षेत्रिय समाचार चैनलों में भी होगा। इस संबंध में कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने समस्त एसडीएम, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को आवश्यक व्यवस्था के लिए निर्देश दिए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804