GLIBS
15-03-2020
बालों को घना, सुंदर और स्वस्थ बनाने में फायदेमंद हैं कपूर, ऐसे करें इस्तेमाल...

नई दिल्ली। कपूर का उपयोग अक्सर लोग पूजा करने के लिए करते हैं। मगर पूजा के साथ यह और भी कई चीजों के इस्तेमाल में काम आता है। इसका बालों पर लगाने से बालों से संबंधित कई समस्याओं से राहत मिलती है। कपूर में एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लामेट्री, एंटी-बैक्टीरियल गुण होने से बालों को घना,सुंदर और स्वस्थ बनाने में फायदेमंद है। इसमें किसी भी तरह का कोई केमिकल न होने से इसे यूज करने से कोई साइड इफेक्ट होने का खतरा नहीं होता है।

तो चलिए जानते है कपूर हमारे बालों के लिए कैसे बेस्ट है लेकिन उससे पहले जानते है इसे इस्तेमाल करने का तरीका...

 
कैसे करें इस्तेमाल
सबसे पहले 2-3 कपूर को पीस कर उसका पाउडर बना लें। उसके बाद अपने मनपसंद तेल को हल्का गर्म कर उसमें कपूर को मिक्स करें। तैयार मिक्सचर को अपने बालों पर हल्के हाथों से लगाएं। 5-10 मिनट तक मसाज करें। अपने बालों पर तेल को लगभग 1 घंटे या पूरी रात लगा रहने दें। सुबह बालों को माइल्ड शैंपू से धो लें।


डैंड्रफ से दिलाएं छुटकारा
बढ़ते प्रदूषण और बालों की अच्छे से केयर न करने से सबसे ज्यादा डैंड्रफ की परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐेसे में इससे छुटकारा पाने के लिए कपूर का इस्तेमाल करना बेस्ट ऑप्शन है। इसमें एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाएं जाते है। ऐसे में इसे बालों पर लगाने सक रूसी की परेशानी से राहत मिलती है।

बालों से जूं की समस्या से दिलाएं राहत
अक्सर बच्चों में कई दिनों तक सिर न धोने के कारण जुएं पड़ जाती है। ऐसे में कपूर को पिघलाकर उसमें नारियल का तेल मिक्स कर कुछ दिन लगाने से बालों में जूंए दूर होने में मदद मिलती है।


बालों का झड़ना रोके
कपूर को किसी भी तेल में मिलाकर लगाने से बालों का झड़ना बंद होता है। इसे लगाने समय हल्के हाथों से मसाज करनी चाहिए। ऐसे में हफ्ते में 2 बार या बाल धोने से पहले इसका इस्तेमाल करने से बाल घने, सुंदर, लंबा और बाउंसी होते हैं।

सिल्की व शाइनी
कपूर बालों में नेचुरली शाइन जगाने का काम करता है। कपूर को पीस कर उसमें जैतून का तेल मिलाकर लगाने से बाल सिल्की और सॉफ्ट होते हैं।

 

05-08-2019
जर्मन टैक्नोलॉजी की पैकेजिंग का उपयोग करते हुए रुफिल ने बाजार में उतारा सॉफ्ट पनीर

जयपुर। राजेंद्र और उर्सुला जोशी फूड इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड (रुफिल) ने एकदम नया और ताजा पनीर बाजार में उतारा है। अत्याधुनिक तकनीक के साथ ऑटोमेटेड प्रोसेस के साथ निर्मित रुफिल पनीर जर्मन तकनीक का इस्तेमाल करते हुए पैक किया जाता है और इस तरह यह बाजार में उपलब्ध सबसे अच्छे वैक्यूम पैक वाले पनीर में से एक है। यह तकनीक बेहतर गुणवत्ता वाले उत्पाद देने में मदद करती है और इसीलिए बाजार में उपलब्ध अन्य पैकेजिंग की तुलना में रुफिल पनीर की ताजगी और सॉफ्टनेस लंबे समय तक कायम रहती है। राजस्थान में वर्ष 2017-18 में पनीर की बिक्री 1600 मीट्रिक टन से अधिक थी। रुफिल पनीर 200 ग्राम और 1 किलो की पैकेजिंग में उपलब्ध होगा। कंपनी ने सबसे पहले अपने कप दही और मसाला छाछ के साथ वैल्यू एडेड प्रोडक्ट्स के प्रोडक्शन का काम शुरू किया। वर्तमान में रुफिल 500 एमएल और 1000 एमएल पैकिंग में दूध (फुल क्रीम, टोन्ड, डबल टोन्ड), 1 किलोग्राम की पैकेजिंग में दही, सादा छाछ, कप दही और मसाला छाछ का उत्पादन करती है। रुफिल के मैनेजिंग डायरेक्टर अभिषेक जोशी ने बताया कि डेयरी उद्योग में संगठित बाजार वर्तमान में भारत में लगभग 22 प्रतिशत है। संगठित क्षेत्र के मूल्यवर्धित उत्पादों का हिस्सा लगभग 25 प्रतिशत तक होता है, जिसमें पनीर केवल 3 प्रतिशत हिस्सेदारी रखता है। वर्तमान में खुले में बिकने वाले पनीर का बाजार बहुत बड़ा है लेकिन हम देखते हैं कि उपभोक्ता का रुझान पैक्ड पनीर की ओर बदल रहा है। विशेष रूप से पनीर जैसे प्रोडक्ट को लेकर उपभोक्ता खाद्य सुरक्षा, स्वच्छता और उत्पाद की समग्र गुणवत्ता के बारे में जागरूक हो रहे हैं। इसलिए हमारा मानना है कि रूफिल से लगातार प्रीमियम गुणवत्ता वाला पनीर वितरित करके, हम उपभोक्ताओं को खुले में बिकने वाले पनीर की अपेक्षा पैक्ड पनीर खरीदने के लिए आसानी से राजी कर पाएंगे। उन्होंने बताया कि कंपनी अपने उत्पादों, विशेष रूप से रेस्तरां और होटलों के बीच पनीर के उपयोग को बढ़ावा देने का भी प्रयास करेगी। रुफिल पनीर जयपुर, अजमेर और राजस्थान के शेखावाटी बेल्ट में उपलब्ध होगा, और अब यह 500 से अधिक रूफिल पार्टनर स्टोर्स पर उपलब्ध होगा। रुफिल पनीर की विशेष पैकेजिंग में एक लाइट बेरियर है, जो इसे दूषित होने से रोकेगा और इस तरह यह पनीर लंबे समय तक टिकाऊ होगा।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804