GLIBS
30-06-2020
प्राकृतिक आपदा से पीड़ितों को 12 लाख रुपए की आर्थिक सहायता

रायपुर। राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से प्राकृतिक आपदा पीड़ित लोगों को आर्थिक सहायता दी जा रही है। जिला कलेक्टरों के माध्यम से राजस्व पुस्तक परिपत्र आरबीसी (6-4) के तहत आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जाती है। बस्तर कलेक्टर ने जिले की जगदलपुर तहसील के ग्राम बिरलापाल के लछनदई की मृत्यु सांप काटने से होने पर उनके पुत्र धनसिंह नाग को, ग्राम छोटेबोदन के सदन की मृत्यु पानी में डूबने से होने पर उनकी पत्नी पार्वती बाई को और ग्राम साड़गुड़ निवासी बालमती की मृत्यु सांप के काटने से होने पर पिता कुरसोराम को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत प्रदान की है।

 

28-04-2020
कोविड पीड़ितों की मदद के लिए आगे आया महिला एवं बाल विकास विभाग,दी सहयोग राशि

दुर्ग। कोविड आपदा की संकट की घड़ी में दानदाता मदद के लिए आगे आ रहे हैं। मंगलवार को इस संबंध में विशेष पहल महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने की। उन्होंने चालीस हजार रुपए की राशि जिला प्रशासन के कोविड रिलीफ फंड में जमा कराई। साथ ही लगभग अस्सी हजार रुपए मूल्य की राशन सामग्री भी जरूरतमंदों के लिए उपलब्ध कराई। विभाग की मंत्री अनिला भेड़िया ने जरूरतमंदों के लिए यह राशन निगम प्रशासन को उपलब्ध कराया। इस मौके पर अनिला भेड़िया ने कहा कि मुझे खुशी है कि महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने आपदा पीड़ितों के साथ खड़ा होने का यह गौरवपूर्ण काम किया है। अनिला भेड़िया ने कहा कि लॉक डाउन की अवधि के दौरान विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने कड़ी मेहनत की। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर गईं। इस अवधि का रेडी टू ईट फूड घर घर जाकर हितग्राहियों को दिया।उल्लेखनीय है कि पूर्व में विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने एक दिन की वेतन राशि मुख्यमंत्री आपदा कोष में सौंपा था,जो डेढ़ लाख रुपए की सहयोग राशि थी। आज 41 हजार रुपए का चेक जिला प्रशासन के कोविड रिलीफ फंड में सौंपा।

इसके साथ ही जरूरतमंदों के लिए 700 लंच पैकेट, 15 क्विंटल चावल, 2.5 क्विंटल आटा, 1 क्विंटल दाल तथा 70 लीटर तेल भी सौंपा गया। इस मौके पर विधायक अरुण वोरा ने खुशी जताते हुए कहा कि यह बहुत हर्ष की बात है कि कोविड आपदा की इस घड़ी में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने लॉक डाउन की अवधि के दौरान कोरोना संक्रमण को थामने के लिए लोगों को जागरूक करने की दिशा में भी बड़ा काम किया है। पूरी विपदा में दुर्ग शहर के लोगों ने मुक्त हस्त से दान दिया है, जो सराहनीय है। महापौर धीरज बाकलीवाल ने कहा कि आपदा के इस वक्त जो इतने सारे लोग मदद के लिए आगे आए हैं उससे आपदा से निपटने का हमारा साहस मजबूत होता है। इस मौके पर जिला कार्यक्रम अधिकारी विपिन जैन, जिला परियोजना अधिकारी सहित विभागीय अमला उपस्थित था।

 

23-03-2020
कोरोना वायरस  देश में 425 लोग संक्रमित, महाराष्ट्र में पीड़ितों की संख्या 89 पहुंची

नई दिल्ली। दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। भारत में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 425 हो गई है। इस महामारी की चपेट में आने से अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में एक दिन में 50 से अधिक नए मरीज मिले है। दिल्ली, राजस्थान, बिहार, पंजाब, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस की वजह से 31 मार्च तक लॉकडाउन है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 16 जिलों को भी 25 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या 89 पहुंच गई है। बता दें कि देश में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज महाराष्ट्र में ही हैं। यहां चार शहरों मुंबई, पुणे, नागपुर और पिंपरी-चिंचवाड़ में लॉकडाउन कर दिया गया है।

13-08-2019
प्रियंका गांधी सोनभद्र कांड पीड़ितों से मिलने पहुंचीं , वाराणसी में हुआ जोरदार स्वागत 

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र नरसंहार कांड पीड़ितों से मंगलवार को मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रॉ के वाराणसी पहुंचने पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया।
श्रीमती वाड्रॉ अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बाबतपुर के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंचने पर पूर्व स्थानीय विधायक अजय राय समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता ने उनका जोरदार स्वागत किया। उनके पहुंचते ही उत्साहित कार्यकर्ताओं ने स्वागत में नारे लगाये। पुष्प गुच्छ भेंटकर स्वागत किया। 
राष्ट्रीय नेता की गाड़ी के काफिले के साथ अनेक स्थानीय नेता एवं कार्यकर्ता उनके साथ सोनभद्र के उभ्भा गांव की ओर रवाना हो गए, जहां जमीन विवाद को लेकर दस आदिवासियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। अनेक लोग घायल हो गए थे, जिनका इलाज करीब एक माह बाद भी चल रहा है। हवाई अड्डे से सोनभद्र के रास्ते में जगह-जगह सड़क किनारे खड़े कार्यकर्ताओं ने हाथ हिलाकर एवं नारे लगाकर अभिनंदन किया। 
श्री राय ने बताया कि राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार ने 19 जुलाई को श्रीमती वाड्रॉ को सोनभद्र नरसंहार पीड़ितों से जाने जबरन रोक दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस की राष्ट्रीय नेता को करीब 26 घंटे तक मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया था। प्रशासन ने श्रीमती वाड्रॉ को सोनभद्र के उभ्भा गांव में घटना स्थल पर जाने से रोक दिया था। अगले दिन 20 जुलाई को कुछ पीड़ित परिवार के सदस्यों ने गेस्ट हाउस में कांग्रेस नेता ने मुलाकत की थी। इसी दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार के लोगों से गांव आकर मुलाकात का वादा किया था। अपने वादे को निभाने श्रीमती वाड्रॉ आयी हैं। 
श्रीमती वाड्रा ने 19 जुलाई को यहां काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती सोनभद्र नरसंहार कांड में घायल लोगों से मुलाकात की थी। घायलों की हालचाल जानने के बाद वह घटना स्थल जा रही थीं। रास्ते में वाराणसी-सोनभद्र सीमा के पास नारायणपुर में पुलिस ने उन्होंने रोक दिया था। प्रशासन ने उन्हें सोनभद्र में निषेधाज्ञा लागू होने के कारण रोका था, जिससे नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी नेता के साथ चुनार गेस्ट हाउस पर करीब 26 घंटे तक धरना-प्रदर्शन किया था।
गौरतलब है कि सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर तीन महिलाओं समेत दस आदिवासियों की अंधाधुंध गोलीबारी कर हत्या कर दी गई थी। इस निर्मम घटना में 24 से अधिक लोग घायल हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में वहां के ग्राम प्रधान प्रज्ञदत्त समेत अनेक लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। मुख्य आरोपी प्रज्ञदत्त समेत अनेक आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जो न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं।

26-07-2019
पीडि़तों को उचित न्याय दिलाना महिला आयोग की प्राथमिकता : मंत्री अनिला भेड़िया

रायपुर। महिला एवं बाल विकास मंत्री एवं छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष अनिला भेडिय़ा ने आज दुर्ग जिले में महिला आयोग को प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई करते हुए कहा कि महिला आयोग, महिलाओं की हितों की रक्षा कर, उन्हें आत्म-सम्मान के साथ जीवनयापन करने का अवसर प्रदान करता है। राज्य महिला आयोग पीडि़त एवं जरूरतमंद महिला को प्राथमिकता के साथ उचित न्याय दिलाने के लिए कार्य कर रहा है। महिला आयोग के समक्ष जो भी प्रकरण आते हैं उसके हर पहलुओं की जांच कर न्याय दिलाने की दिशा में भरसक प्रयास किया जाता है। भेंडिय़ा ने कहा कि महिला आयोग को प्राप्त ऐसे प्रकरण जिसमें न्यायालयीन प्रक्रिया की जरूरत होती है वहां पीडि़त महिला को विधिक सेवा प्राधिकरण से नि:शुल्क अधिवक्ता भी मुहैया कराया जाता है। मंत्री भेडिय़ा ने दुर्ग जिले से प्राप्त प्रकरणों की पक्षकारों की मौजूदगी में सुनवाई की। उन्होंने दोनों पक्षकारों की बातों को गंभीरतापूर्वक सुना। आयोग ने घरेलू हिंसा, कार्यस्थल पर यौन उत्पीडऩ, दहेज प्रतिषेध अधिनियम, सम्पत्ति विवाद, शारीरिक-मानसिक प्रताडऩा, मारपीट से संबंधित प्राप्त प्रकरणों पर सुनवाई की। सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों को अपनी पूरी बात रखने का अवसर दिया गया। सुनवाई के दौरान आयोग की सदस्य ममता साहू,  खिलेश्वरी किरण सहित आयोग के अधिकारियों ने पक्षकारों की बातों को गंभीरता से सुना। इस अवसर पर पुलिस एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

 

 

23-07-2019
पीडि़तों को मुआवजा बांटने फिर सोनभद्र जाएंगी प्रियंका गांधी

नई दिल्ली। प्रियंका गांधी एक बार फिर सोनभद्र जा रही हैं। प्रियंका की हिरासत और धरने के बाद बैकफुट पर आई राज्य सरकार को घेरने के लिए प्रियंका गांधी ने सोनभद्र नरसंहार के पीडि़त परिवारों को कांग्रेस पार्टी की तरफ से 10-10 लाख के मुआवजे का ऐलान किया था। अब प्रियंका गांधी खुद इन परिवारों को मुआवजे की धनराशि का चेक सौंपना चाहती हैं, जिसके लिए आने वाले दो-तीन दिनों के भीतर दोबारा उनके सोनभद्र दौरे की तैयारी की जा रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता बता रहे हैं कि प्रियंका गांधी के सोनभद्र दौरे की तारीख का ऐलान कभी भी हो सकता है। प्रियंका गांधी सोनभद्र मामले पर शुरुआत से ही सरकार को घेरती रही हैं। प्रियंका के मुआवजे के ऐलान के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सोनभद्र नरसंहार के पीडि़तों से मिले थे।  

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804