GLIBS
14-04-2020
30 अप्रैल की जगह 3 मई तक क्यों बढ़ाया गया लॉक डाउन, जानिए वजह....

 नई दिल्ली। 21 दिनों के लॉकडाउन की अवधि आज खत्म हो गई। मगर आज राष्ट्र के नाम संबोधन में उन्होंने लॉक डाउन की अवधि को और 19 दिनों के लिए बढ़ा दिया है। हालांकि बहुत से लोग इस बात से हैरान हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने आखिर 19 दिनों का लॉक डाउन किस हिसाब से लागू किया है। ये न एक हफ्ते का है, न दो हफ्ते का और न ही महीने के खत्म होने का दिन ही है। सभी इस बात से हैरान हैं कि 30 अप्रैल के बजाए तीन मई तक लॉक डाउन क्यों बढ़ाया गया है। सरकारी सूत्रों की मानें तो तीन मई तक लॉक डाउन बढ़ाने का फैसला केंद्र सरकार का नहीं बल्कि राज्य सरकारों का है। राज्यों ने सुझाव दिया था कि लॉक डाउन को तीन मई तक के लिए बढ़ाया जाना चाहिए।

केंद्र सरकार केवल 30 अप्रैल तक लॉक डाउन को बढ़ाना चाहती थी लेकिन एक मई को मजदूर दिवस की छुट्टी है उसके बाद दो मई को शनिवार और तीन को रविवार है। ऐसे में राज्यों ने तीन दिन और लॉक डाउन बढ़ाने का प्रस्ताव दिया। बहुत से लोग तर्क दे सकते हैं कि आखिर तीन दिन में ऐसा क्या होगा जो पिछले 21 दिनों में नहीं हो पाया या फिर 16 दिनों में नहीं हो सकता है। असल में कोरोना के मामले में इसके लक्षण दिखने में सात से 14 दिनों का समय लगता है। ऐसे में यदि इन 16 दिनों में तीन दिन और जुड़ जाएंगे तो हमें 19 दिनों का समय मिल जाएगा। इससे कोरोना वायरस की तस्वीर स्पष्ट हो जाएगी।

13-04-2020
प्रधानमंत्री मोदी ने बैसाखी पर्व की देशवासियों को दी शुभकामनाएं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बैशाखी के अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए सभी के जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह के संचार की कामना की है। पीएम मोदी ने सोमवार को ट्वीट किया ​है कि “बैसाखी के पावन अवसर पर देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। नई उमंगों से जुड़ा यह त्योहार सभी के जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करे।”

27-03-2020
कम नहीं हो रहा कोरोना का कहर, 4 और बलि चढ़े, पीड़ितों का आंकड़ा भी 700 के करीब

दिल्ली/रायपुर। वैश्विक महामारी का कहर कम होता नजर नहीं आ रहा है। तमाम कोशिशों के बावजूद पीड़ितों और मृतकों की संख्या रोज बढ़ रही है। कल हुई चार मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 16 तक पहुंच गया है। पीड़ितों की संख्या भी 700 के करीब जा पहुंची है। प्रधानमंत्री मोदी के आव्हान पर देश में लॉक डाउन चल रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला कोरोना को नियंत्रित तो करता नजर आ रहा है लेकिन लोगों की लापरवाही उसका असर कम करती नजर आ रही है।

हालांकि कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ता हुआ नजर नहीं आ रहा है लेकिन फिर भी उसका संक्रमण कम होता या घटता हुआ नजर नहीं आ रहा है जो बेहद चिंता का विषय है। कुल मिलाकर देखा जाए तो अभी तक के तमाम उपाय कोरोब के संक्रमण को पूरी तरह रोकने में लगभग असफल ही साबित हुए हैं। अब उसके लिए अंतिम उपाय बचाव  ही कारगर होता नजर आ रहा है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी बार बार लोगों से सावधान रहने की बात कर रहे हैं और कोरोना बचकर रहने की बात कर रहे हैं।उनकी बातों को जनता को समझना होगा अमल में लाना होगा,तभी कोरोना पर विजय सम्भव हो पाएगी।

25-03-2020
दिल्ली में दुकानदारों को जारी होगा ई-पास,केजरीवाल ने कहा-जरूरी सामान की आपूर्ति करेगी सरकार

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 31 पहुंच गई है। देश में कोविड-19 के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना वायरस के चलते 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन के बाद दिल्ली के लोगों को जरूरी सामानों की कमी न हो इसके लिए बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपराज्यपाल ने संयुक्त प्रेसवार्ता की। केजरीवाल ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर का नंबर जारी किया है। ये नंबर है-011-23469536. इस पर आप पुलिस से आ रही दिक्कत या शिकायत के बारे में बता सकते हैं। इसके साथ ही सीएम अरविंद केजरीवाल ने ई-पास जारी करने का एलान किया। उन्होंने कहा कि हम आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वालों के लिए पास जारी करेंगे। उन लोगों को ई-पास दिए जाएंगे, जिन्हें आवश्यक सेवाओं के लिए अपनी दुकानें और कारखाने खोलने की जरूरत है। केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि आप अपने घरों में रहें। परेशान न हों,सभी जरूरत के सामानों की दुकानें बंद नहीं की जाएंगी ऐसे में दुकानों पर भीड़ न लगाएं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि घबराने की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के बाद हमने कल देखा कि लोग जरूरी सामानों की दुकानों के बाहर लाइन लगा कर खड़े हो गए। मैं दोबारा लोगों से अपील करता हूं कि घबराकर खरीदारी मत कीजिए। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि जरूरी सामान की कोई किल्लत नहीं होगी।

25-03-2020
राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को दी नवरात्रि की शुभकामनाएं

 नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को देशवासियों को हिन्दू नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए इस वर्ष की अपनी साधना को मानवता की उपासना करने वाले तथा काेरोना वायरस के फैलाव को रोकने में लगे सभी नर्स, डॉक्टर, मेडिकल स्टॉफ, पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मी के उत्तम स्वास्थ्य के लिए समर्पित की। मोदी ने ट्वीट कर कहा,“सभी देशवासियों को नववर्ष विक्रम संवत 2077 की हार्दिक शुभकामनाएं। यह नववर्ष आप सबके जीवन में समृद्धि और उत्तम स्वास्थ्य लेकर आए।” तो वहीं राष्ट्रपति कोविंद ने देशवासियों को चैत्र शुक्लादि, उगादी, गुडी पड़वा, चेती चाँद, नवरेह और साजिबु चेरोबा की बधाई देते हुए कोरोना वायरस (कोविड-19) के निर्देशों का पालन करने की अपील की है। कोविंद ने ट्वीट कर कहा,“चैत्र शुक्लादि, उगादी, गुडी पड़वा, चेती चाँद, नवरेह और साजिबु चेरोबा के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को बधाई। मेरी कामना है कि ये त्यौहार सबके जीवन में स्वास्थ्य, शांति और समृद्धि का संचार करें। साथ ही, सभी देशवासी कोविड-19 का मुकाबला करने में निर्देशों का पालन करें।”

24-03-2020
आम आदमी को भटकना न पड़े ऐसी व्यवस्था करे राज्य सरकार सुनील सोनी का अनुरोध

रायपुर। सांसद सुनील सोनी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लगाए गए 21 दिन के कम्प्लीट लॉक आउट का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि कोरोना से लड़ने के लिए उठाया गए बेहद साहसिक कदम है और इस कदम का स्वागत किया जाना बेहद जरूरी है। जनता भी उनके कदम का स्वागत कर रही है और अपने घरों में अपने को कैद करने के लिए तैयार बैठी है। इसके बावजूद आम आदमी का जो डर है वो रोज़मर्रा के लिए जरूरी चीजों की व्यवस्था का है। राज्य सरकार को चाहिए कि वह आम लोगों के लिए जरूरी चीजों की व्यवस्था तत्काल करें। और वह उसके लिए क्या-क्या उपाय कर रही है वह तत्काल बताएं। पूरा देश प्रधानमंत्री मोदी के साथ खड़ा है और छत्तीसगढ़ भी मोदी के इस कदम के साथ खड़ा है। फिर भी लोगों को 21 दिनों तक घरों में रहने पर जो होने वाली परेशानी है उस से निजात दिलाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है। सुनील सोनी ने राज्य सरकार से अनुरोध किया है कि जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति की व्यवस्था करे। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि भूपेश बघेल सरकार संकट की इस घड़ी में अपने नागरिकों को जरूरी सामान उपलब्ध कराने में कोई कसर नही छोड़ेगी।

23-03-2020
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, लॉकडाउन को गंभीरता से लें लोग

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाॅकडाउन को गंभीरता से नहीं लिए जाने पर चिंता जाहिर करते हुए सभी राज्य सरकारों से नियमों और कानूनों को सुनिश्चित कराने का सोमवार को अनुरोध किया। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, “लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आपको बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।” बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए विभिन्न राज्यों के 75 जिलों और शहरों को लॉकडाउन घोषित किया गया है। कोराेना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप को रोकने के लिए देश के विभिन्न राज्यों में सोमवार से 31 मार्च तक लॉकडाउन रहेगा। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य गतिविधियां पूरी तरह से बंद रहेंगी। पीएम मोदी ने जानलेवा कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे लोगों के प्रति धन्यवाद अदा करने वाले लोगों की सराहना करते हुए उन्हें इस चुनौती के खिलाफ लड़ने के लिए लामबंद होने को कहा है। पीएम मोदी ने गुरुवार को राष्ट्र के नाम संदेश में लोगों से रविवार को जनता कर्फ्यू में शामिल होने तथा इस वायरस से जंग लड़ रहे लोगों के प्रति धन्यवाद अदा करने के लिए शाम पांच बजे ताली या थाली बजाने (शंखनाद) का आह्वान किया था। उन्होंने लोगों द्वारा जनता कर्फ्यू और शंखनाद में बडे पैमाने पर शामिल होने और इसका समर्थन करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने टि्वट किया, “ कोरोना वायरस की लड़ाई का नेतृत्व करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को देश ने एक मन होकर धन्यवाद अर्पित किया। देशवासियों का बहुत-बहुत आभार।” उन्होंने कहा,“ये धन्यवाद का नाद है, लेकिन साथ ही एक लंबी लड़ाई में विजय की शुरुआत का भी नाद है। आइए, इसी संकल्प के साथ, इसी संयम के साथ एक लंबी लड़ाई के लिए अपने आप को बंधनों सोशल डिस्टेन्सिंग में बांध लें।”

11-03-2020
ज्योतिरादित्य सिंधिया आज होंगे बीजेपी शामिल, अमित शाह और जेपी नड्डा की मौजूदगी में लेंगे सदस्यता

नई दिल्ली।  पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह से मुलाकात के बाद कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। वहीं सिंधिया के इस्तीफे के बाद अबतक कांग्रेस के 22 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। बता दें कि सिंधिया अपने घर से निकल गए हैं। थोड़ी ही देर सिंधिया बीजेपी कार्यालय पहुंचेगें। 

कांग्रेस छोड़ने के एक दिन बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज (बुधवार को) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होंगे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री दोपहर में भाजपा की सदस्यता लेंगे। वह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा की मौजूदगी में भाजपा में शामिल होंगे। ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने कोटे से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाएगी और बाद में उन्हें केंद्र में मंत्री बनाया जा सकता है। सिंधिया ने मंगलवार को भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी। इसके बाद इन दोनों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। इन बैठकों के बाद सिंधिया ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया था। इस्तीफे में तारीख सोमवार 9 मार्च की थी।

11-03-2020
थोड़ी देर में बीजेपी में शामिल होंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया 

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार संकट में आ गई है। बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह से मुलाकात के बाद कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। वहीं सिंधिया के इस्तीफे के बाद अबतक कांग्रेस के 22 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। इस बीच कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सिंधिया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया। बता दें कि अब से कुछ देर में ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने दिल्ली आवास से निकलेंगे। वह सीधा भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर के लिए रवाना होंगे। वहीं मध्यप्रदेश कांग्रेस के नेता अब जयपुर के लिए रवाना हो रहे हैं। कांग्रेस की ओर से जयपुर में एक रिजॉर्ट बुक किया गया है, जहां सभी विधायक रुकेंगे।

 

11-03-2020
दिग्विजय ने सिंधिया के इस्तीफे पर कहा- उन्हें नहीं किया गया था दरकिनार

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में सियासी संग्राम दिलचस्प मोड़ पर है। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के कई विधायकों ने इस्तीफा दिया है। बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह से मुलाकात के बाद कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजा। कांग्रेस छोड़ने के बाद चर्चाएं शुरू हो गईं कि पार्टी सिंधिया को दरकिनार कर रही थी। इस तरह की कयासबाजी का जवाब दिग्विजय सिंह ने दिया है। 

दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि दरकिनार किए जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने कहा कि कृपया ग्वालियर चंबल संभाग से विशेष रूप से मध्यप्रदेश के किसी भी कांग्रेस नेता से पूछें तो आपको पता चलेगा कि पिछले 16 महीनों में उनकी सहमति के बिना इस क्षेत्र में कुछ भी नहीं हुआ। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।

29-02-2020
बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से बढ़ेगी क्षेत्र में विकास की रफ्तार : नरेन्द्र मोदी

चित्रकूट। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होेंने जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे इस क्षेत्र के जनजीवन को बदलने वाला सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि करीब 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला ये एक्सप्रेस-वे यहां रोजगार के कई अवसर लाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि भारत रत्न नानाजी देशमुख ने यहीं से भारत को स्वावलंबन के रास्ते पर ले जाने का व्यापक प्रयास शुरु किया था। गोस्वामी तुलसीदास ने कहा है कि चित्रकूट के घाट पर हुई संतन की भीड़। आज आपको देखकर आपके इस सेवक को कुछ-कुछ ऐसी ही अनुभूति हो रही है। चित्रकूट सिर्फ एक स्थान नहीं है,बल्कि भारत के पुरातन समाज जीवन की संकल्प स्थली और तप स्थली भी है। इस धरती ने भारतीयों में मर्यादा के नए संस्कार गढ़े हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आने वाले पांच वर्ष में देश के लगभग 15 करोड़ परिवारों तक शुद्ध पीने का पानी पहुंचाने के संकल्प के लिए काम तेजी से शुरू हो चुका है। इसमें भी प्राथमिकता आकांक्षी जिलों को दी जा रही है। सरकार ने ये भी तय किया है कि आदिवासी क्षेत्रों और चित्रकूट जैसे देश के 100 से ज्यादा 'आकांक्षी जिलों' में एफपीओएस को अधिक प्रोत्साहन दिया जाए, हर ब्लॉक में कम से कम एक एफपीओ का गठन जरूर किया जाए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804