GLIBS
21-02-2020
'फेसबुक फॉलोअर' पर डोनाल्ड ट्रंप बोले, भारत की जनसंख्या अधिक होने से मोदी को बढ़त

नई दिल्ली। फेसबुक फॉलोअर को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि नरेंद्र मोदी को भारत की जनसंख्या अधिक होने का फायदा मिल रहा है। उन्होंने 'फेसबुक फॉलोअर' पर लोकप्रियता के मामले में कहा था कि वह नंबर वन पर हैं और दूसरा नंबर में प्रधानमंत्री मोदी है। दरअसल अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फेसबुक फॉलोइंग का हवाला देते हुए गुरुवार को कहा कि 1.5 अरब भारतीय लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जनसंख्या की वजह से फेसबुक पर बढ़त हासिल है। हालांकि आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार भारत की आबादी 1.3 अरब है।

बता दें कि पीएम मोदी के 4 करोड़ 40 लाख फॉलोअर्स हैं, जबकि ट्रंप के दो करोड़ 70 लाख फॉलोअर्स हैं। भारत की आबादी करीब 130 करोड़ है, जबकि अमेरिका की कुल जनसंख्या 32 करोड़ 50 लाख है। ट्रंप ने पहले दावा किया था कि फेसबुक पर फॉलोअर्स के मामले में मोदी दूसरे स्थान पर हैं और वह खुद पहले स्थान पर हैं, इसकी जानकारी फेसबुक के कार्यकारी अध्यक्ष मार्क जुकरबर्ग ने उन्हें सीधे तौर पर दी है। ट्रंप ने लास वेगास में होप फॉर प्रिजनर्स ग्रेजुएशन सेरमनी संबोधन में कहा कि मैं अगले सप्ताह भारत जा रहा हूं और हम लोग बात कर रहे हैं। आप जानते हैं, उनके पास 1.5 अरब लोग हैं। प्रधानमंत्री मोदी फेसबुक पर दूसरे स्थान पर हैं। आप सोचिए। क्या आपको पता है कि पहले नंबर पर कौन है? ट्रंप। क्या आप विश्वास करेंगे? नंबर वन। मुझे पता चला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फेसबुक पर चार करोड़ 40 लाख लोग फॉलो करते हैं, वहीं ट्रंप को दो करोड़ 70 लाख लोग फॉलो करते हैं जबकि अमेरिका की कुल जनसंख्या 32 करोड़ 50 लाख है। अपने संबोधन में ट्रंप ने कहा कि उन्हें हाल ही में जुकरबर्ग ने फेसबुक पर नंबर वन (पहले स्थान) पर रहने की बधाई दी थी।

 

20-02-2020
कमलनाथ ने उठाए सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल, मोदी पर साधा निशाना

भोपाल। 2016 में सीमा पार आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर से सवाल उठाए हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा,‘कहते हैं मैंने सर्जिकल स्ट्राइक की, कौन सी सर्जिकल स्ट्राइक की?’कमलनाथ ने कहा कि देश में जब इंदिरा गांधी की सरकार थी तो पाकिस्तान के 90000 जवानों से सरेंडर करवाया गया था, लेकिन ये उसकी बात नहीं करेंगे।
गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रोजगार के मुद्दे पर भी प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा,'आजकल मोदी जी क्या-क्या बात करते हैं, हमारे देश के युवाओं के बारे में बात नही करेंगे, रोज़गार, किसान के साथ न्याय हो इसके बारे में बात नहीं करेंगे। वो कहते थे कि 2 करोड़ युवाओं को हर साल रोज़गार मिलेगा। मोदी जी 2 करोड़ छोड़िए, 2 लाख का नाम बात दीजिए।'

 

 

15-02-2020
पुनिया के बयान का विरोध करना भाजपा का अधिकार,अगर गोडसे को बुरा मानते हैं तो पहले मुर्दाबाद का नारा तो लगाएं : शैलेश

रायपुर। छत्तीसगढ़ में गांधी-गोडसे पर लंबे समय तक चली जुबानी सियासत और बयानबाजी के बाद अब गोडसे-मोदी पर बयानबाजी तुल पकड़ते नजर आ रही है। कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुुनिया की ओर से प्रधानमंत्री मोदी की तुलना गोडसे से करने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने इसे कांग्रेस की विकृत मानसिकता का परिचायक बताया था। अब पीएल पुनिया के बयान का बचाव और भाजपा के बयान पर पलटवार करने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री व अध्यक्ष संचार विभाग शैलेश नितिन त्रिवेदी सामने आए हैं। त्रिवेदी ने कहा है कि पीएल पुनिया के बयान पर आपत्ति करने से पहले भाजपा नेता बताएं कि वे गोडसे को बुरा मानते हैं या प्रधानमंत्री मोदी को ?
त्रिवेदी ने कहा कि पीएल पुनिया के बयान को भाजपा नेता अभद्र मानते हैं तो विरोध करें, यह उनका अधिकार है। अगर गोडसे को बुरा मानते हैं तो भाजपा के नेता पहले गोडसे मुदार्बाद का नारा लगाएं। रायपुर की पत्रकारवार्ता में प्रधानमंत्री मोदी की गोडसे से तुलना करते हुए पीएल पुनिया ने तो एक दृष्टांत मात्र दिया था। भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा और साक्षी महाराज जैसे नेता गोडसे को देशभक्त कहते हैं। फिर भाजपा नेताओं को पीएल पुनिया के गोडसे और प्रधानमंत्री मोदी के संबंध में दृष्टांत देने पर आपत्ति क्यों है?

इसी तरह त्रिवेदी ने कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को धमकी दिए जाने की कड़ी निंदा की है।  त्रिवेदी ने कहा कि जयवीर शेरगिल को इमेल भेजकर हत्या और परिवारजनों के साथ दुष्कर्म जैसी ओछी धमकी दी गई। करंट लगाने और गोली मारने की विचारधारा के लोगों ने अब हत्या और दुष्कर्म की धमकियां देना शुरू कर दिया है। जयवीर शेरगिल ने पुलवामा के शहीदों के परिवारजनों के साथ न्याय की बात उठाई है। 14 फरवरी को एआईसीसी के मुख्यालय में पत्रकारवार्ता कर पुलवामा मामले में मोदी सरकार के दोहरे चरित्र को उजागर करते हुए सवाल खड़े किए जो धमकी देने वालों को नागवार गुजरा है।

 

 

13-02-2020
मोदी-गोडसे तुलना पर भाजपा का पलटवार, कहा- राहुल गांधी का अनुसरण करते हैं पुनिया

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने प्रधानमंत्री मोदी और गोडसे की तुलना वाले बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि यह कांग्रेस के मानसिक दिवालियापन का विषय है। एक ओर राहुल गांधी कहते हैं कि प्रधानमंत्री को डंडे से पीटा जाएगा। उन्हीं का अनुसरण करते हुए पीएल पुनिया ने बयान दिया है। वरिष्ठ नेता होने के कारण पीएल पुनिया से इस प्रकार के बयान की अपेक्षा नहीं थी। उन्होंने प्रधानमंत्री की गोडसे से तुलना की है,जिसकी भाजपा कड़े शब्दों में निंदा करती है। 

संजय श्रीवास्तव ने कहा कि पुनिया ने आगे कहा था कि गोडसे ने महात्मा गांधी को प्रणाम कर गोली मारी और मोदी पहली बार संसद जाते हैं तो सीढ़ियों को प्रणाम कर अंदर जाते हैं।  भारतीयों की परम्परा रही है कि काम की शुरुआत प्रणाम करके करते हैं। चाहे हम पूजा स्थल पर जाएं या कार्यस्थल पर पूजा करके जाते हैं। यह शायद कांग्रेस के संस्कार में नहीं है। श्रीवास्तव ने कहा कि दूसरा विषय जो उन्होंने जोड़ा कि गोडसे ने गांधी को प्रणाम कर गोली मारी, इस हिसाब से क्या पीएल पुनिया यह कहना चाहते हैं कि हर एक वो भारतीय जो अपने बुजुर्गों या माता पिता को प्रणाम करता है। आज से बड़े बुजुर्ग यह समझें कि आने वाले दिनों में उनको प्रणाम करने वाला क्या गोली मारेगा। 

 

21-01-2020
नागरिकता कानून से भाजपा का विभाजनकारी चेहरा उजागर : मोहन मरकाम

रायपुर। विभाजनकारी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को भारत के संविधान, गरीबों, अनुसूचित जनजाति, आदिवासियों एवं अल्पसंख्यकों पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सीधा हमला किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह भारत की लगातार गिरती अर्थव्यवस्था, बेकाबू हो रही बेरोजगारी और उसके चलते युवाओं द्वारा की जा रही आत्महत्याओं, खाने पीने की चीजों की बढ़ती कीमतों, महंगे होते पेट्रोल-डीजल और निरंतर बढ़ती महंगाई, अनियंत्रित कृषि संकट जैसी अपनी सरकार की विफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए ह्यफूट डालो, शासन करोह्ण के एजेंडे के तहत सीएए का दुरुपयोग कर रहे हैं।

कांग्रेस पार्टी हिंदू, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन, पारसी, मुस्लिम सहित सभी लोगों को उनकी राष्ट्रीयता, मूल देश, निवास स्थान, धर्म एवं जाति के भेदभाव के बिना हर किसी को भारत की नागरिकता दिए जाने के अवसर की मांग करती है। भाजपा सरकार का दोहरा चाल, चरित्र, चेहरा एवं विभाजनकारी चेहरा काले नागरिकता कानून से उजागर हो चुका है। मरकाम ने कहा है कि विकास और अच्छे दिन के नाम पर वोट लेने वाली भारतीय जनता पार्टी अर्थव्यवस्था सहित सभी मोर्चो पर अपनी नाकामी को छुपाने धर्म को धर्म से, भाई को भाई से लड़ाने में लगी है। मोदी सरकार के नागरिकता के काले कानून के खिलाफ यह किसी एक धर्म की लड़ाई नहीं बल्कि भारतीयता को जीवित रखने की लड़ाई है। यह लोकतंत्र बनाम हिटलरशाही की लड़ाई है। राष्ट्रीयता बनाम सांप्रदायिकता की लड़ाई है। गांधी बनाम गोडसे की लड़ाई है।

 

17-01-2020
सक्रिय नहीं हुए तो जनता राजनीति से ओझल कर देगी : भूपेश बघेल

रायपुर। राजनीति में प्रतिस्पर्धा बढ़ चुकी है,जहां आप नजर से ओझल हुए जनता आपको राजनीति से ओझल कर देती है। उक्त बातें मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने राजधानी में आयोजित नगरीय निकाय में चुनकर आए जनप्रतिनिधियों के सम्मान समारोह में कही। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पार्टी में जीत का श्रेय आप सभी को जाता है। जीत जितनी बड़ी है अपेक्षा भी अधिक है तो जिम्मेदारी भी बड़ी है। छत्तीसगढ़ का कांग्रेस ने सभी नगर निगम जीतकर रिकॉर्ड बनाया है। आपके लिए जरूरी है सभी के लिए काम करना है। सक्रियता बनाए रखना है। जितनी सक्रियता से काम करेंगे पार्टी के लिए अच्छा होगा। किसी गरीब के आंसू पोछने का काम करते है तो उसकी दुआ मिलती है। आपका जैसा आचरण होगा पार्टी की छवि वैसी होगी। उन्होंने कहा कि एक तरफ छत्तीसगढ़ में सरकार लोगों को जोड़ने का काम कर रही है,वैसे ही दिल्ली में बैठी सरकार तोड़ने की बात कर रही है। 5 साल प्रधानमंत्री मोदी का रहा जिसमें नोटबन्दी से परेशान किया गया।  बीते कुछ महीने से अमित शाह का दौर था, जिसमे 370, सीएए, एनआरसी, से लोगों को परेशान किया जा रहा है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि एक साल पूर्व प्रदेश की 68 विधानसभा सीटों को जीतकर हमने छत्तीसगढ़ में इतिहास रचा है।

जनमत का सम्मान करना है। महात्मा गांधी के वैष्णव जन तो तेने कहिए जो पीर पराई जाने, बाबा गुरु घासीदास के मनखे मनखे एक समान का ध्यान करते हुए काम करना है। ताकि 5 साल बाद फिर चुनाव हो तो आप जीत कर आए। पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि सभी से आग्रह है प्रदेश और नगरीय निकायों में हमारी सरकार बनी है। जनता ने हमारी सरकार बनाई है हमे उनकी सेवा करनी है। हम मात्र 5 साल के लिए सरकार में नहीं बैठे हैं। 15 से 20 साल हमे सरकार चलानी है। जिन्हें टिकट नही मिली उन्हें शिकायत होगी जिसे हम दूर करने का प्रयास करेंगे। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि बहुत से पार्षद पहली बार जीतकर आए हैं कई पार्षद ऐसे हैं जो लागातार जीत दर्ज कर रहे हैं। अपने साथ काम करने वालों से और जनता से जुड़कर रहेंगे तो आगे भी जीत दर्ज करेंगें। अपने लिए काम करने वालों को पहचानिये और नए नए चाचा, मामा से बचकर रहिए। बता दें कि छत्तीसगढ़ के नगरीय निकायों में कांग्रेस पक्ष के सभी निर्वाचित पदाधिकारियों और पार्षदों का सम्मान समारोह राजधानी के इंडोर स्टेडियम में हुआ।  प्रदेश में कांग्रेस के साढ़े बारह सौ से अधिक पार्षद, दस महापौर, दस सभापति, 48 नगर पालिका में 38 नगर पालिका अध्यक्ष, 103 में 63 नगर पंचायत अध्यक्ष जीत कर आए हैं। नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधि जो कांग्रेस से जीत के आये है, उन सभी निर्वाचित जनप्रतिनिधयों का सम्मान हुआ। कार्यक्रम में  छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, मंत्री टीएस सिंहदेव, मंत्री रविंद्र चौबे, मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कवासी लखमा, अमर जीत भगत, उमेश पटेल सहित अन्य प्रतिनिधि मौजूद रहे।

07-12-2019
झारखंड विधानसभा चुनाव : 20 सीटों पर शुरू हुआ दूसरे चरण का मतदान, ये दिग्गज है मैदान में...

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के तहत 20 सीटों पर शनिवार को मतदान शुरू हो गया। चुनाव आयोग ने स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पर्याप्त सुरक्षा बलों और मतदानकर्मियों की तैनाती की है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर मतदाताओं से अनुरोध किया कि वह ज्यादा से ज्यादा संख्या में आकर मतदान करें और लोकतंत्र को मजबूत बनाने में मदद करें। उन्होंने ट्वीट किया कि झारखंड विधानसभा चुनाव में आज दूसरे दौर का मतदान है। सभी मतदाताओं से मेरा आग्रह है कि वे अधिक से अधिक संख्या में मतदान कर लोकतंत्र के इस उत्सव को सफल बनाएं। चुनाव आयोग के अनुसार, जमशेदपुर पूर्व और जमशेदपुर पश्चिम सीटों पर सुबह 7 से शाम 5 बजे तक जबकि अन्य सीटों पर सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक वोट डाले जा सकेंगे। 20 सीटों में से 16 अनुसूचित जनजाति और एक सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।
 
पुलिस के अनुसार, सात जिलों में फैली इन सीटों के लिए केंद्रीय बलों समेत 42000 सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। 48,25,038 मतदाता 260 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद करेंगे। इस चरण में प्रमुख उम्मीदवारों में राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास, भाजपा से बगावत कर निर्दलीय खड़े सरयू राय, विधानसभा अध्यक्ष दिनेश ओरांव, सरकार में मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ, एजेएसयू नेता रामचंद्र साही, पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप कुमार बालमाचू, जदयू अध्यक्ष सलखान मुर्मू, जेवीएम-पी बंधु टिर्की शामिल हैं। राज्य में पांच चरणों में चुनाव कराए जा रहे हैं। चुनाव परिणाम 23 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

25-11-2019
झारखंड में गरजेंगे मोदी, आज से शुरू होगा चुनावी अभियान

नई दिल्ली। झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा जी-जान से जुट गई है। प्रधानमंत्री मोदी सोमवार को राज्य में अपने चुनावी अभियान का आगाज करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी 25 नवंबर को गुमला जाएंगे। वह पलामू में 11 बजकर 30 मिनट पर और गुमला में दोपहर एक बजकर 25 मिनट पर चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। भाजपा के झारखंड चुनाव के प्रभारी ओम माथुर ने इस बात की पुष्टि की। इस रैली में आसपास की पांच विधानसभा सीटों के लोगों के पहुंचने की उम्मीद है। माथुर ने बताया कि प्रधानमंत्री की 25 नवंबर की गुमला की चुनावी सभा की तैयारियों पर वह स्वयं नजर रख रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री अपनी गुमला रैली से राज्य में प्रथम चरण में 13 सीटों के लिए होने वाले चुनावों में गुमला, विशुनपुर, लोहरदगा, सिसई समेत कम से कम पांच विधानसभा क्षेत्रों के भाजपा उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार करेंगे। प्रधानमंत्री की झारखंड विधानसभा चुनावों के लिए यह पहली चुनावी रैली होगी। राज्य में 30 नवंबर को प्रथम चरण का मतदान है और 20 दिसंबर तक यहां पांच चरणों में चुनाव होंगे जबकि मतगणना का काम 23 दिसंबर को होगा।

07-11-2019
कांग्रेस की दिल्ली कूच की तैयारियां जोरों पर, कंट्रोल रूम से प्रदेशभर में किया जा रहा संपर्क

रायपुर। धान के समर्थन मूल्य को लेकर कांग्रेस की दिल्ली कूच की तैयारियां जोरों पर है। कांग्रेस ने लक्ष्य निर्धारित किया है कि 20 लाख से अधिक किसानों के हस्ताक्षरित पत्र लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता व कार्यकर्ता हजारों की संख्या में सड़क मार्ग से दिल्ली रवाना होंगे। किसानों के पत्र को प्रधानमंत्री मोदी को सौंपा जाएगा। प्रदेश कांग्रेस का कन्ट्रोल रूम सभी ब्लाकों, जिलाध्यक्षों, विधायकों और पदाधिकारियों से सतत संपर्क करके उनसे तैयारियों की जानकारियां ले रहा है। प्रदेश भर में कांग्रेसी गांव-गांव में घूमकर किसानों से हस्ताक्षर करवा रहे है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन विधायकों और पदाधिकारियों से चर्चा कर तैयारियों का जायजा ले रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री महेन्द्र छाबड़ा कन्ट्रोल रूम की टीम के साथ हर ब्लाकों पर बारीकी से नजर जमाए हुए हैं। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा बताए कि उसे किसानों को धान की कीमत 2500 रुपए देने में क्या परेशानी है? केन्द्र घोषित समर्थन मूल्य 1815 रुपए ही दे, शेष राशि तो राज्य सरकार अपने संसाधनों से देना चाहती है। इसमें भी केन्द्र की भाजपा सरकार का अडंग़ा यह साबित करता है कि भाजपा किसान विरोधी है। जब राज्य में भाजपा की सरकार थी तब 2100 रुपए का सर्मथन मूल्य और 300 रुपए बोनस देने का वायदा कर नहीं दिया, अब जब सरकार में नहीं है तो कांग्रेस सरकार को 2500 रुपए में देने का विरोध कर रही है। 

 

06-11-2019
भाजपा 2500 रुपए किसानों को देने में बाधा न डाले : कांग्रेस

रायपुर। रमन सिंह के धान खरीदी के ट्विटों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं सचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि कोई भी राजनीतिक पार्टी जब घोषणापत्र तैयार करती है तो वह विपक्षी पार्टियों से पूछ कर तय नहीं करती है। रमन सिंह यह बताए कि जब 2013 में उन्होंने छत्तीसगढ़ के किसानों से 300 रुपए बोनस का वादा किया था, तो क्या उस समय केंद्र की यूपीए सरकार से पूछ कर किया था? न पूछने के बाद भी मनमोहन सिंह की सरकार ने बिना भेदभाव के ना केवल रमन सिंह को अनुमति दी थी बल्कि केंद्रीय पूल के लिये चावल भी खरीदा था। 2014 में मोदी सरकार ने किसान को धान के समर्थन मूल्य के अतिरिक्त बोनस दिये जाने पर रोक लगाई। मोदी सरकार ने किसान विरोधी नियम बनाएं। फिर चुनाव को देखते हुये रमन सिंह सरकार को बोनस देने की अनुमति दी गयी, फिर अब क्या भाजपा की जगह कांग्रेस सरकार बदल जाने से परिस्थितियां बदल गई? त्रिवेदी ने कहा है कि अब रमन सिंह और भाजपा का किसान विरोधी चेहरा अब बेनकाब हो चुका है। एक ओर तो देश के प्रधानमंत्री 2022 तक अन्नदाताओं की आय दुगुनी करने की बाते करते हैं एवं लागत से डेढ़ गुना दाम देने की घोषणा करते हैं। वहीं दूसरी ओर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी का किसान विरोधी चेहरा बेनकाब हो गया है। भाजपा 2500 रुपए किसानों को देने में बाधा न डाले। भाजपाई को 2500 रुपए में आपत्ति हो तो केंद्र सरकार द्वारा घोषित प्रति  क्विंटल 1815 रुपए का दाम लेने की घोषणा करें।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह और भाजपा नेता यह बताएं कि वे छत्तीसगढ़ के किसान को 2500 रुपए प्रति क्विंटल धान के समर्थन मूल्य देने के खिलाफ क्यों हैं? केंद्रीय पूल के तहत चावल खरीदना केंद्र सरकार का कर्तव्य है और संघीय व्यवस्था के तहत राज्य और राज्य के किसानों का अधिकार भी। केन्द्र जब छत्तीसगढ़ का कोयला खरीदने को तैयार है, छत्तीसगढ़ का बाक्साइट और लौहअयस्क खरीदने तैयार है। छत्तीसगढ़ का बिजली खरीदने को तैयार है, फिर केन्द्रीय पूल में छत्तीसगढ़ का चावल खरीदने से पीछे क्यों हट रही है? 2500 रुपए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी से प्रदेश में व्यापार बढ़ा है। आर्थिकमंदी के दुष्प्रभाव से छत्तीसगढ़ का व्यापार उद्योग बचा रहा है। भारतीय जनता पार्टी किसानों और छत्तीसगढ़ के हितो के खिलाफ  क्यों है? क्या रमन सिंह और भाजपा नेताओं और खासकर सांसदों का व्यक्तिगत अहंकार किसानों की समस्या से बढ़कर है?

06-11-2019
किसानों का धान नहीं लेने पर प्रदेश में की जाएगी आर्थिक नाकेबंदी : मोहन मरकाम

रायपुर। धान खरीदी बोनस के मुद्दे पर छतीसगढ़ किसान कांग्रेस ने बुधवार को प्रदेशस्तरीय बैठक राजीव भवन में आयोजित  की। बैठक को प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मोहन मरकाम, प्रदेश महामंत्री गिरीश देवांगन, संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी और मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार विनोद वर्मा ने संबोधित किया। मोहन मरकाम ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को छतीसगढ़ के कोयला, बॉक्साइट, आयरनओर, सीमेंट, बिजली, पानी, वनोपज से तो प्यार है परंतु छतीसगढ़ के मेहनतकश किसानों के खून-पसीने से उपजी धान  फसल को लेने से इंकार है। अगर प्रधानमंत्री ने छतीसगढ़ के किसानों की मेहनत का सम्मान नहीं किया तो मजबूरन सभी छत्तीसगढिय़ों को आर्थिक नाकेबंदी के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

विनोद वर्मा ने कहा कि 2013 में भाजपा की रमन सरकार ने किससे पूछकर बोनस दिया था? और तब तो मनमोहन सिंह सरकार ने उसके धान को सेंट्रल पुल में लेने से मना नहीं किया था। गिरीश देवांगन ने कहा कि हमर किसनहा मुख्यमंत्री प्रदेश के हर पंजीकृत किसान का धान 2500 रुपए में ही लेंगे। जिन भाजपा वालों को बोनस से दर्द है वो घोषणा कर दे कि वो बोनस की राशि नहीं लेंगे। शैलेश नितिन त्रिवेदी ने किसानों को अपने हक, स्वाभिमान और भविष्य की लड़ाई के लिए सभी किसानों को दिल्ली कूच करने का आह्वान किया। किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला ने कहा कि धान  बोनस की लड़ाई में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व मोहन मरकाम के नेतृत्व में छतीसगढ़ किसान कांग्रेस के 5000 किसान 500 गाडिय़ों में   दिल्ली कूच करेंगे । बैठक में रायपुर जिला अध्यक्ष सौरभ मिश्रा, प्रदेश महामंत्री सिद्धार्थ चंद्रा, अशोक द्विवेदी, कमल पटेल, नीलेश झा, विनय तिवारी, राजा सिंह, भूपेंद्र चंद्रा, शैलेश सिंह, विनय शुक्ला, नरेंद्र सोनवानी, चंद्रदेव महंत, विद्यानंद चंद्रा, राकेश वैष्णव, असलम नवाज, रामविलाश साहू, देवनाथ साहू, हरीश रहेजा सहित अन्य किसान नेता उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804