GLIBS
16-09-2020
कमिश्नर ने कलेक्टरों से कहा- मिल रही कई शिकायतें,इलाज के नाम पर अधिक वसूली होने पर पीड़ित परिवार को राशि वापस दिलाएं 

रायपुर। कमिश्नर रायपुर जीआर चुरेंद्र ने संभाग के सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिखकर सुझाव दिया है। उन्होंने कहा है कि, जिला, विकासखंड और अन्य स्तर पर जो भी निजी अस्पताल संचालित है, उनसे सेवा भावना के साथ इलाज का न्यूनतम चार्ज लिए जाने के लिए प्रेरित करें। समुचित कार्यवाही करें, जिससे आम जनता व कोविड बीमारी से पीड़ित परिवारों को राहत मिले। कमिश्नर ने अपने पत्र में ध्यान आकर्षित करते हुए लिखा है कि, जनता व प्रतिनिधियों की ओर से यह शिकायत आ रही है कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान निजी अस्पतालों में भी मरीजों का इलाज हो रहा है,लेकिन कोविड टेस्ट के नाम पर विभिन्न बीमारियों से ग्रस्त मरीजों के त्वरित इलाज में विलंब हो रहा,इससे कई बार गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों का निधन भी हो जाता है। निजी अस्पताल संचालकों की ओर से समुचित प्रशासनिक नियंत्रण के अभाव में विभिन्न प्रकार के बीमारियों और कोविड के इलाज के नाम पर बड़ी राशि वसूलने की  शिकायत भी आ रही है।

कमिश्नर ने पत्र में कहा है कि, जिले के अंतर्गत जिन निजी अस्पतालों में कोविड -19 के मरीजों को उपचार करने की सुविधा दी गई है, ऐसे सभी अस्पतालों का सूचीकरण, उनकी ओर से मरीजों के किए जा रहे उपचार या लिए जा रहे उपचार राशि की जानकारी प्रतिदिन लेने की व्यवस्था बनाई जाए। मरीजों के परिवार से भी संपर्क कर इसकी पुष्टि की जाए। यदि कोविड 19 के बीमारी के इलाज के नाम पर अधिक राशि का वसूली की जानकारी प्राप्त होती है, तो वह राशि मरीज के परिवार को वापस कराई जाए। कश्मिर ने कहा है कि, सेवानिवृत्त हो चुके पेंशनधारी ,वरिष्ठ नागरिकों को भी सस्ता - सुलभ इलाज निजी या शासकीय अस्पतालों से कराए जाने की व्यवस्था करें। इसके लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में निजी अस्पताल के संचालकों की प्रथम बैठक भी आयोजित करने को कहा है। इससे औचित्यपूर्ण दर पर निजी अस्पतालों से मरीजों की उपचार की व्यवस्था बनाई जाए। कमिश्नर ने कहा है कि, इसके लिए बनाई गई व्यवस्था को क्रियान्वित करने के दृष्टि से जिले स्तर पर एक टीम गठित किया जए, जिसका अध्यक्ष अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी या मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को रखा जाए। उन्होंने कहा है कि, यह समिति समय -समय पर निजी अस्पतालों में मरीजों के उपचार गतिविधियों का आकलन करने निरीक्षण करेंगें, साथ ही निजी अस्पतालों के संचालकों की आवश्यकतानुसार मासिक बैठक लेकर समीक्षा करेंगें। मरीजों का औचित्यपूर्ण दर पर इलाज की व्यवस्था बनाएंगे। इसी तरह की समिति विकासखंड मुख्यालय या अन्य नगरीय क्षेत्र के लिए भी गठित कराकर कार्य कराने के निर्देश दिए हैं। पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

13-09-2020
एंटिजेन टेस्ट पॉजिटिव आने पर अन्य तरीकों से जांच के बजाए इलाज तत्काल शुरू करना आवश्यक : डॉ. सुंदरानी

रायपुर। कोविड 19 बीमारी चूंकि नई बीमारी है इसलिए इसके बारे में आम जनता में अनेक भ्रांतियां भी हैं। डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति अस्पताल के चिकित्सक डॉ. सुंदरानी का कहना है कि, कोरोना का पता लगाने के लिए किए जाने वाला टेस्ट रैपिड एंटिजेन यदि पॉजिटिव आता है तो मरीजों को दोबारा आरटीपीसीआर या ट्रू नाट टेस्ट नहीं कराना चाहिए। उस टेस्ट का रिजल्ट आने का इंतजार करने में समय नहीं गंवाना चाहिए, बल्कि कोरोना का इलाज तत्काल चिकित्सक की देखरेख में शुरू करना चाहिए। इससे मरीज के स्वस्थ होने की संभावना भी बढ़ेगी और अनावश्यक संसाधन भी खर्च नहीं होगा। उसके स्थान पर किसी गंभीर मरीज का टेस्ट हो जाएगा। उनका कहना है कि, जब रैपिड टेस्ट का रिजल्ट निगेटिव आता है और फिर भी यदि मरीज में कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं तो ही आरटीपीसीआर कराना चाहिए। यह भी अत्यंत आवश्यक है कि, टेस्ट कराने के बाद से रिजल्ट आते तक लोगों को घर पर ही रहना चाहिए। दूसरों से और घर के अन्य सदस्यों से भी मेल-जोल नहीं रखना चाहिए। तभी हम सब इस बीमारी के संक्रमण से बचे रहेंगे।

07-09-2020
कोरोना वारियर्स व आम जनता के उत्तम इलाज की हो व्यवस्था,अस्पताल प्रबंधन मरीजों को भटकने ना दें : वोरा

दुर्ग। जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए शहर विधायक अरुण वोरा ने सीएमएचओ गंभीर सिंह ठाकुर से विस्तार से चर्चा कर शहर में कोरोना वारियर्स एवं आम जनता के लिए शासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। सीएमएचओ ने बताया कि वर्तमान में दुर्ग जिले में चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज मचांदुर एवं शंकराचार्य मेडिकल कालेज जुनवानी में शासन द्वारा निःशुल्क इलाज की व्यवस्था कराई गई है व बिना लक्षण के मरीजों को निःशुल्क दवाइयों एवं डॉक्टरी मार्गदर्शन के साथ होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जा रही है।

साथ ही जिला अस्पताल दुर्ग, शासकीय अस्पताल सुपेला सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी कोरोना जांच की व्यवस्था की गई है। विधायक वोरा ने कहा कि कोविड पॉजिटिव मरीजों को लगातार अपनी सेवाएं दे रहे कोरोना वारियर्स एवं आम जनता को इलाज के लिए भटकाव की स्थिति नहीं निर्मित होनी चाहिए। सभी का बेहतर इलाज सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों से भी एक बार पुनः घरों पर रहने व खुद को सुरक्षित रखने की अपील की। गौरतलब है कि विधायक वोरा पहले लॉक डाउन से ही शहर में आम जनता की स्वास्थ्य सुविधाओं एवं राशन की उपलब्धता सुनिश्चित करने जुटे हुए हैं साथ ही विधानसभा में भी नगर निगम द्वारा कोरोना रोकथाम के लिए किए जा रहे कार्यों से संबंधित प्रश्न लगाया था जिसमें बताया गया कि निगम द्वारा टेक्नोस एग्रीकल्चर मशीन, सीकर मशीन एवं सोडियम ह्यपोक्लोराइड क्रय कर लगातार सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है।

 

07-09-2020
काढ़ा वितरण शुरू, बता रहे इस्तेमाल के तरीके भी, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने मुख्यमंत्री ने दिए थे निर्देश

दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीते दिनों आम जनता में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने काढे के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए निशुल्क काढ़ा वितरण के निर्देश अधिकारियों को दिए थे। इसके अनुपालन में दुर्ग जिले में काढ़ा वितरण का कार्यक्रम आरंभ हो गया है। काढा वितरण के लिए शिविर लगाए जा रहे हैं। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बताया कि इस संबंध में सभी निगम अधिकारियों एवं आयुष विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। चिन्हांकित स्थानों पर शिविर लगाने आरंभ कर दिए गए हैं। नगर निगम भिलाई चरौदा में आज पदुम नगर के पास लगाए गए काढ़ा वितरण शिविर में बड़ी संख्या में नागरिकों ने हिस्सा लिया। काढा लेने आए राजेश श्याम कर ने बताया कि कोविड से बचाव के लिए हम लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। मास्क लगा रहे हैं। व्यर्थ लोगों से मिलने जुलने को से बच रहे हैं। इसके साथ ही गर्म पानी का उपयोग कर रहे हैं।

अब चूंकि काढ़ा वितरण कार्य  जिला प्रशासन ने आरंभ कर दिया है इसलिए अब काढे को भी दिनचर्या में शामिल करेंगे।  राजेश ने बताया कि वह हमेशा से आयुर्वेदिक औषधियां लेते रहे हैं। आयुर्वेदिक औषधियों से लंबे समय के लिए प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। कोविड से बचने में प्रतिरोधक क्षमता की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे में हमारे परंपरागत आयुर्वेद को अपनाकर हम लोग गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं या उनकी मारक क्षमता को कम कर सकते हैं। शिविर में आई निर्मला साहू ने बताया कि वह अपने पूरे परिवार के लिए काढ़ा ले जा रही हैं। इससे पहले उन्होंने काढ़ा रायपुर से मंगवाया था, अब स्थानीय रूप से से ही यह काढ़ा मिल रहा है। शिविर में मौजूद नगर निगम आयुक्त कीर्तिमान राठौर ने बताया कि अभी तक ढाई सौ नागरिकों को काढे का वितरण किया जा चुका है। हर दिन इस शिविर से लगभग 500 नागरिकों को काढ़े का वितरण किया जाएगा। काढे के वितरण के साथ ही आयुष विभाग द्वारा अन्य सावधानियों के संबंध में भी नागरिकों को जागरूक किया जा रहा है। इस संबंध में नागरिकों को पांपलेट भी वितरित किए जा रहे हैं। शिविर में मौजूद जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉक्टर केके शर्मा ने बताया कि इस काढ़े में सोंठ, तुलसी, त्रिकुट जैसे तत्व हैं,जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में काफी उपयोगी होते हैं। आयुर्वेद में रोग टालने की दिशा में काम होता है। ऐसे तत्व जो शरीर को निरोगी रखते हैं। उनकी आपूर्ति जड़ी बूटी के सेवन के माध्यम से कराई जाती है।

 

10-08-2020
विकास कार्यो के लिए प्रस्ताव और योजना बनाकर प्रस्तुत करें : महापौर

दुर्ग। नगर पालिक निगम दुर्ग सीमा क्षेत्र के समस्त वार्डो के प्रमुख सड़कों का जल्द संधारण होगा। इसके साथ ही निगम सीमा के सभी मुक्तिधाम को सर्व सुविधा युक्त बनाया जाएगा। शहर सौदर्यीकरण की दिशा में प्रमुख मार्गो के बड़े पेड़ों में पेटिंग कराने के साथ आम जनता के मार्निंग और इवनिंग वाक के लिए वार्डो में स्थित उद्यानों को जनता की सुविधा अनुसार संधारण के कार्य कराये जाएगें। राजेन्द्र पार्क और दादा-दादी, नाना-नानी पार्क के बीच रिक्त स्थल को विकसित कर चवाट, गुपचुप, व अन्य खाद्य पदार्थ के अनुसार चैपाटी के रुप में विकसित किया जावेगा। महापौर धीरज बाकलीवाल द्वारा आज लोक कर्म विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर शहर के अंदर और वार्डो में रुके तथा अप्रारंभ कार्यो को पूरा करने के अलावा उपरोक्त प्रकार के विकास कार्यो का प्रस्ताव और योजना एक सप्ताह के अंदर बनाकर प्रस्तुत करने निर्देश दिये। बैठक में लोककर्म प्रभारी अब्दुल गनी, शिक्षा प्रभारी मनदीप सिंह भाटिया, विद्युत यांत्रिकी प्रभारी भोला महोबिया, कार्यपालन अभियंता सुशील कुमार बाबर, राजेश पाण्डेय, सहा0 अभियंता जितेन्द्र समैया, तथा उपअभियंतागण व अन्य उपस्थित थे।  

 
उल्लेखनीय है कि शहर विकास की दिशा में  विधायक अरुण वोरा द्वारा शहर का भ्रमण कर निरंतर कार्यो को प्रारंभ कर शहर सौदर्यीकरण एवं आम जनता की सुविधा के अनुसार कार्यो को पूरा करने निर्देशित किया गया है । इस संबंध में महापौर श्री बाकलीवाल ने निगम अधिकारियों की बैठक लेकर कहा कि कोरोना संक्रमण काल चल रहा है। इस संकट की घड़ी में अब शासन ने प्रदेश को अनलाॅकडाउन कर दिया है। इस परिस्थिति को देखते हुये अब हमें शहर सौदर्यीकरण और विकास के कार्यो को प्रारंभ कर देना चाहिए। उन्होनें कहा अमृत मिशन योजना के पाइप लाइन विस्तार कार्य से शहर के वार्डो की सड़कें खराब हो गई है। उन्होनें कहा जिनके भी वार्डो में अमृत मिशन का कार्य पूरा हो गया है वहाॅ की गड्ढों को भरा जावे। जहाॅ-जहाॅ सड़कों में गड्ढे हो गये हैं डस्ट, मुरुम गिट्टी से भर कर समतल करें।


उन्होनें कहा जिन वार्डो में भी विकास कार्य रुका हुआ है प्रारंभ नहीं हुआ है वहाॅ भूमिपूजन करना है। उसकी सूची बनाकर प्रस्तुत करें ताकि विकास कार्यो को जल्द से जल्द प्रारंभ किया जा सके और आम नागरिकों को उसकी सुविधा दी जा सके। उन्होनें कहा विकास कार्यो के तहत् शिवनाथ मुक्तिधाम, हरनाबांधा मुक्तिधाम, सिविल लाईन मुक्तिधाम, रायपुर नाका मुक्तिधाम, शक्ति नगर मुक्तिधाम जिनके-जिनके वार्ड में आता है वहाॅ पहुॅच मार्ग का संधारण के अलावा पर्याप्त प्रकाश और पानी की सुविधा के लिए प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें । उन्होनें कहा शहर के सभी मुख्य मार्गो के किनारे-किनारे पेड़ लगे हुये है उसकी कटाई-छंटाई कराकर रंग-रोगन कराया जावे। उन्होनें बैठक में अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा शहर के वार्डो में सार्वजनिक शौचालय निर्मित हैं। उन सभी शौचालयों का संधारण कार्य करायें। बहुत से वार्डो के शौचालयों में समस्या की शिकायत मुझे मिल रही है।


उन्होनें निगम अधिकारियों को निर्देशित कर कहा आपके प्रभार के वार्डो में खेल प्रतिभाओं के लिए ओपन खेल मैदान का निर्माण, इंग्लिश मिडिया स्कूल के लिए  प्रस्ताव बनाने निर्देश दिये। उन्होनें सभी अधिकारियों से कहा सभी अपने-अपने वार्डो में विकास कार्यो को कराये जाने, भूमिपूजन, तालाबों का संधारण, शौचालयों का संधारण, एवं अन्य विकास कार्यो की सूची एक सप्ताह में प्रस्तुत करने निर्देश दिये। बैठक में सहायक अभियंता राजू पोद्दार, उपअभियंता राजकिशोर पालिया, गिरीश दीवान, प्रकाशचंद थवानी, आरके जैन, भीमराव, विनोद मांझी, अर्पणा सेलारे मिश्रा, आसमा डहरिया,भारती ठाकुर सहित अन्य उपस्थित थे।

 

 

09-08-2020
न्याय दिलाने की विरासत से जुड़ी है राजीव गांधी किसान न्याय योजना : भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल रेडियो वार्ता लोकवाणी की 9वीं कड़ी के माध्यम से आम जनता से रूबरू हुए। उन्होंने 9 अगस्त को अगस्त क्रांति दिवस और विश्व आदिवासी दिवस का विशेषरूप से उल्लेख करते हुए इनके महत्व की चर्चा की। बघेल ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने आज के ही दिन वर्ष 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन शुरू करने की घोषणा की और करो या मरो का नारा दिया। यह घटना भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का निर्णायक मोड़ साबित हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका मानना है कि हमारी आजादी की लड़ाई का हर दौर न्याय की लड़ाई का दौर था। भारत की आजादी ने न सिर्फ भारतीयों की जीवन में न्याय की शुरूआत की, बल्कि दुनिया के कई देशों में लोकतंत्र की स्थापना और जन-जन के न्याय का रास्ता बनाया। भारत माता को फिरंगियों की गुलामी से मुक्त कराना ही न्याय की दिशा में सबसे बड़ी सोच और सबसे बड़ा प्रयास था। दुनिया ने देखा है कि किस प्रकार हमारा संविधान समाज के हर समुदाय को न्याय देने का आधार बना। आम जनता को समानता के अधिकार, अवसर और गरिमापूर्ण जीवन उपलब्ध कराने के सिद्धांत के आधार पर अन्याय की जंजीरों से मुक्ति दिलाई गई।

हमारी न्याय दिलाने की विरासत से जुड़ी है राजीव गांधी किसान न्याय योजना :

बघेल ने कहा कि राजीव गांधी कहा करते थे, यदि किसान कमजोर हो जायेगा तो देश अपनी आत्मनिर्भरता खो देगा। किसानों के मजबूत होने से ही देश की स्वतंत्रता भी मजबूत होती है। इस तरह से देखिए तो एक बार फिर स्वतंत्रता, स्वावलंबन और न्याय के बीच एक सीधा रिश्ता बनता है। निश्चित तौर पर यह एक बड़ी योजना है, जिसके माध्यम से धान, मक्का और गन्ना के 21 लाख से अधिक किसानों को 5700 करोड़ रुपए का भुगतान उनके बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से किया जाना है। हमने तय किया 5700 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान 4 किस्तों में करेंगे जिसकी पहली किस्त 1500 करोड़ रुपए 21 मई को किसानों की खाते में डाल दी गई है। 20 अगस्त को राजीव जी के जन्म दिन के अवसर पर दूसरी किस्त की राशि भी किसानों के खाते में डाल दी जायेगी। इस तरह राजीव गांधी किसान न्याय योजना हमारी न्याय दिलाने की विरासत से सीधी तौर पर जुड़ जाती है। उन्होंने कहा कि हमने भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की घोषणा की है ताकि ऐसे ग्रामीण परिवारों को भी कोई निश्चित, नियमित आय हो सके, जिनके पास खेती के लिए अपनी जमीन नहीं है।

किसानों को अन्याय से बचाने राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुरूआत :

मुख्यमंत्री ने रेडियोवार्ता में कहा कि पहले साल धान के किसानों को 2500 रुपए प्रति क्ंिवटल का दाम देने के बाद जब दूसरा साल आया तो एक बड़ी बाधा सामने आ गई। हमने करीब 83 लाख मीट्रिक टन धान खरीद कर एक नया कीर्तिमान बनाया, इन किसानों को 2500 रुपए की दर से भुगतान किया जाना था लेकिन केन्द्र सरकार ने इस प्रक्रिया पर रोक लगा दी। ऊपर से यह कहा गया कि यदि हमने केन्द्र की ओर से घोषित समर्थन मूल्य से अधिक दर दी तो सेन्ट्रल पूल के लिए खरीदी बंद कर दी जायेगी। इस तरह फिर एक बार हमारे किसान अन्याय की चपेट में आ जाते। ऐसी समस्या के निदान के लिए हमने राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू करने की घोषणा की। हमारी मंशा थी कि किसानों को कर्ज से नहीं लादा जाये बल्कि उनकी जेब में नगद राशि डाली जाए। इस तरह समग्र परिस्थितियों पर विचार करते हुए हमने सिर्फ धान ही नहीं बल्कि मक्का और गन्ना के किसानों को भी बेहतर दाम दिलाने की बड़ी सोच के साथ राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू की।

05-08-2020
भाजपा कार्यकर्ताओं ने लगाया भगवा ध्वज, घरों में दीप प्रज्वलित करने का किया आह्वान

जांजगीर-चांपा। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जांजगीर में भगवा ध्वज लगाया और उसका वितरण किया। साथ ही आम जनता से राम जन्मभूमि में मंदिर के शिलान्यास के पश्चात अपने अपने घरों में दीप प्रज्वलित करने का भी आह्वान किया। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने बताया कि राम मंदिर के भूमिपूजन के बाद मुख्य चौक चौराहों में आतिशबाजी की गई और भगवा ध्वज लहराया ।

 

27-06-2020
केंद्र सरकार के फैसलों से आम जनता की आर्थिक स्थिति चरमराई : वोरा

दुर्ग। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार 21 वें दिन बढ़ोतरी के खिलाफ आज विधायक अरूण वोरा और महापौर धीरज बाकलीवाल के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने साइकिल चलाकर विरोध जताया। वोरा समेत कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। वोरा ने कहा कि लॉकडाउन और आर्थिक मंदी के दौर में बढ़ती महंगाई के बावजूद केंद्र सरकार जनता को लूटने का काम कर रही है। रोज पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाने से जनता त्रस्त है। विरोध में विधायक अरुण वोरा व महापौर धीरज बाकलीवाल ने वाहनों का बहिष्कार कर साइकिल से ही जनसमस्याओं का जायजा लिया। पटेल चौक स्थित पेट्रोल पम्प के पास जनता के बीच मूल्य वृद्धि को लेकर नाराजगी जताई। वोरा ने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी तब भाजपा के लोग बैलगाड़ी लेकर प्रदर्शन करते थे और केंद्र में सरकार बनने पर 35 रुपए लीटर में पेट्रोल बेचने का दावा किया करते थे।  अब लगातार बढ़ती महंगाई पर भाजपा ने चुप्पी साध ली है। महापौर धीरज बाकलीवाल ने डीजल का दाम पेट्रोल से ज्यादा होने पर केंद्र सरकार को कोसते हुए कहा कि यह मोदी सरकार की सुनियोजित लूट है। क्रूड ऑयल के गिरते दामों के बाद भी हमारे देश में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में उछाल समझ के बाहर है। इस दौरान शहर कांग्रेस अध्यक्ष गया पटेल, अनीता तिवारी, पार्षद अब्दुल गनी,राजकुमार पाली, जमुना साहू, नंदू महोबिया, नासिर खोखर, आयुष शर्मा, देव सिन्हा सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।

 

25-06-2020
छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों के विरोध में किया प्रदर्शन

रायपुर। छग युवा कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचन्द्र कोको पाढ़ी के नेतृत्व में गुरुवार को बूढ़ातालाब धरना स्थल पर लगातार बढ़ रहे पेट्रोल डीजल के दामों का विरोध किया। सांकेतिक तौर पर वाहनों को रस्सी से खींचकर और दो पहिया वाहनों का बोर्ड लगाकर विरोध जताया।प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने कहा कि पेट्रोल डीजल की वृद्धि सीधा आम जनता की जेब पर हमला है। यह एक तरह की सुनियोजित लूट है, जो मोदी सरकार वर्षों से कर रही है। क्रूड आयल की कीमतों में लगातार गिरावट के बावजूद हमारे देश मे तेल के दाम बढ़ते जा रहे हैं,जो चिन्ताजनक है। कोको पाढ़ी ने कहा कि युवा कांग्रेस छात्रों और युवाओ का नेतृत्व करती है, तो हमारा दायित्व बनता है कि उनके जेब पर डाका डालने वाली योजनाओं का हम विरोध करें। उन्होंने कहा कि दाम वृद्धि से आमजनता के रोजमर्रा के समान भी महंगे हो जाते हैं, जो अंतिम व्यक्ति की आर्थिक स्थिति पर सीधा प्रहार है।

राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने कहा कि पीसीसी और भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास के निर्देश पर प्रदेश भर में जिला/विधानसभा स्तर पर विरोध किया गया। प्रदेशभर में युवा कांग्रेस के ने पूरे दम के साथ सांकेतिक प्रदर्शन कर अपना विरोध दर्ज करवाया।रायपुर में प्रदर्शन के दौरान प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी, राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रवक्ता सुबोध हरितवाल, राष्ट्रीय सचिव मिलिंद गौतम, सज्मन बाघ, अशरफ हुसैन, जिला अध्यक्ष आकाशदीप शर्मा, स्वप्निल मिश्रा, आशुतोष मिश्रा (गोलू),अभिजीत तिवारी,  तबरेज , कन्हैया , विक्रांत शिर्के , अमिताभ , नवाज खान , मनोज पांडे, विरजु बर्मन , शिवदीप , बबलू , अनिल कोसरे , अमनदीप सिंह , चंद्रकांत , इकलाख , बिस्सो, अर्जुन सिंह, विशाल कुकरेजा, आशीष चंद्राकर , मोहन साहू, प्रशांत बंसोड़, आशुतोष माहवार, सुयश शर्मा, यश दुबे, अनुराग ठाकुर, आयुष दीवान, आशीष ठाकुर सहित युवा कांग्रेस से अन्य मौजूद थे।

25-06-2020
कलेक्टर ने शुरू की नई पहल

रायपुर/दंतेवाड़ा। जिला प्रशासन ने आज नए पहल "संवाद-पहल प्रेरणा" की शुरुआत की, जिसके अंतर्गत आम जनता को जिले के कलेक्टर दीपक सोनी के साथ एक दिन व्यतीत करने का मौका प्रदान किया जाएगा। “संवाद-पहल प्रेरणा की” के जरिए आम जनता प्रशासन को करीब से जान पाएगी तथा उनके लिए किए जाने वाले योजनाओं की जानकारी भी ले पाएगी। संवाद का मुख्य उद्देश्य प्रशासन की गतिविधियों को एक बाहरी नजरिये से समझने की कोशिश है। आम जनता अपने हितों के लिए प्रशासन को स्वयं बता पाएगी। आज “संवाद-पहल प्रेरणा की” में धनराज डेगल का चयन हुआ। लेखक डेगल, जवाहर नवोदय विद्यालय दंतेवाड़ा के विद्यार्थी रह चुके हैं। वे आदिवासी गाँव तुमनार के रहने वाले हैं। इनके पिता पेशे से वकील हैं और मां एक अध्यापिका। धनराज ने 18 वर्ष की आयु में अपनी पहली उपन्यास ‘यू नेवर बिलीव माय स्टोरी’ लिखी और जून 2019 में प्रकाशित किया। फिर दिसम्बर 2019 में इन्होंने अपनी दूसरी उपन्यास ‘फेरी ईन ब्लैक फ्रॉक’ प्रकाशित करी। एक लेखक होने के अलावा, ये कानून का अध्ययन, नया रायपुर के कलिंगा विश्वविद्यालय से कर रहे हैं और साथ ही अपने तीसरे उपन्यास पर लेखन जारी है।

‘यू नेवर बिलीव माय स्टोरी’ उपन्यास कॉलेज के एक छात्र यश के जीवन के त्रासदी के बारे में है, उसे लगता है कि वह जीवन के सारे सुखों का हकदार है मगर जीवन के अपनी ही योजनाएं हैं। ‘फेयरी इन ब्लैक फ्रॉक’ उपन्यास कर्म एवं कपट में किए गए कार्यों के इर्द-गिर्द है। जिंदगी कैसे गुत्थियों को सुलझाती है, यह इस उपन्यास में बहुत ही रोमांचक तरीके से पेश किया गया है । “संवाद-पहल प्रेरणा की” के तहत धनराज डेगल ने कलेक्टर दंतेवाड़ा के साथ पूरा दिन व्यतीत किया तथा सरकारी काम-काज को समझा एवं जिले के प्रगति के लिए अपने सुझाव दिए। ऊर्जा विभाग, कृषि विभाग, उद्यान विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, श्रम विभाग आदि का दौरा किया एवं उनके कार्य शैली को देखा। धनराज ने कहा की उनकी जिंदगी शिक्षा के वजह से बदली है और वे भी जिले में शिक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों को लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं। उन्होंने जिले में वापस आए श्रमिकों के लिए भी रोजगार के और अवसर बनाने के लिए सुझाव दिए।

07-06-2020
वाम पार्टियों ने केन्द्र सरकार को बताया मजदूर विरोधी, 16 जून को मनाएंगे विरोध दिवस

रायपुर। वाम पार्टियों ने मोदी सरकार पर मजदूर और गरीब विरोधी होने का आरोप लगाया है। 16 जून को सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ गरीबों और प्रवासी मजदूरों की समस्याओं को केंद्र में रखकर छत्तीसगढ़ की पांच वामपंथी पार्टियां विरोध दिवस मनाएगी। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के संजय पराते ने बताया कि अनियोजित लॉक डाउन के कारण इस देश के गरीबों के सामने जो रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ है, उसको हल करने में मोदी सरकार पूरी तरह विफल रही है। 15 करोड़ अतिरिक्त लोग बेरोजगार हो गए हैं, बड़ी तेजी से भुखमरी बढ़ रही है और प्रवासी मजदूर किसी सरकारी सहायता के बिना आज भी पैदल अपने गांवों की ओर लौटने के लिए मजबूर हैं। इतने संकट में भी आम जनता की आजीविका की रक्षा तथा उसे सामाजिक-आर्थिक सुरक्षा देने के लिए कदम उठाने के बजाय मोदी सरकार कारपोरेट हितों की रक्षा के लिए ही प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2019-20 की जीडीपी 4 प्रतिशत रहने से स्पष्ट है कि देश की अर्थव्यवस्था को ध्वस्त करने में मोदी सरकार की कॉपोर्रेटपरस्त और जनविरोधी नीतियों की बहुत बड़ी भूमिका है। राजस्व संग्रहण में 2.3 लाख करोड़ रुपयों की कमी आई है और अब इसका पूरा भार आम जनता पर डाला जा रहा है। राज्यों से बिना विचार-विमर्श किये जिस तरीके से तालाबंदी की गई, उसमें लॉक-डाऊन के बुनियादी सिद्धांतों का पालन ही नहीं किया गया। नतीजा यह कि उससे न तो देश में कोरोना महामारी पर काबू पाया जा सका है और न ही आम जनता को राहत देने के कोई कदम उठाये गए हैं। आम जनता बेकारी, भुखमरी और कंगाली की कगार पर पहुंच चुकी है।वाम नेताओं ने कहा कि आज अर्थव्यवस्था जिस मंदी में फंस चुकी है, उससे निकलने का एकमात्र रास्ता यह है कि आम जनता के हाथों में नगद राशि पहुंचाई जाए तथा उसके स्वास्थ्य और भोजन की आवश्यकताएं पूरी की जाए, ताकि उसकी क्रय शक्ति में वृद्धि हो और बाजार में मांग पैदा हो। उसे राहत के रूप में "कर्ज नहीं, कैश चाहिए"।पराते ने कहा कि प्रदेश की सभी वामपंथी पार्टियां, उनके कार्यकर्ता और समर्थक इन ज्वलंत मांगों पर आम जनता को लामबंद करेंगे और 16 जून को फिजिकल डिस्टेंसिंग व कोविड-19 के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन होगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804