GLIBS
19-11-2020
पूर्व आबकारी अधिकारी समुद्र सिंह गिरफ्तार, निजी अस्पताल में कराया गया भर्ती

रायपुर। पूर्व आबकारी अधिकारी समुद्रराम सिंह को ईओडब्ल्यू और एसीबी ने गिरफ्तार किया है। फरार चल रहे पूर्व आबकारी अधिकारी पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। ईओडब्ल्यू और एसीबी ने बोरियाकला स्थित निवास से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के लिए दोनों एजेंसियों की टीमों ने अलग-अलग जगह छापा मारा। आखिरकार घर से गिरफ्तार करने में टीम को सफलता मिली। पकड़ में आने के बाद समुद्र सिंह ने तबीयत खराब होने की बात कही। इस पर उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य में सुधार होते ही आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी। पूर्व अधिकारी पर आबकारी विभाग में करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप है। मामले की जांच शुरु होने के बाद समुद्र सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। करीब डेढ़ साल से फरार चल रहे थे। इसक बाद से खोजबीन जारी थी। रायपुर के साथ ही मध्यप्रदेश में भी कई ठिकानों पर छापेमारी की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया 

07-10-2020
छत्तीसगढ़ में 1 लाख से अधिक मरीजों ने दी कोरोना को मात,अब प्रदेश की रिकवरी दर 78 प्रतिशत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। राज्य शासन की ओर से संचालित कोविड अस्पतालों, कोविड केयर सेंटर्स, निजी अस्पतालों और होम आइसोलेशन में इलाज के बाद स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 1 लाख से अधिक हो गई है। प्रदेश में अब तक 1 लाख 551 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। इनमें विभिन्न अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में ठीक हुए 57 हजार 998 और होम आइसोलेशन में उपचार के बाद स्वस्थ हुए 42 हजार 553 मरीज शामिल हैं। कोरोना की जंग जीतने वाले मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण अब प्रदेश की रिकवरी दर 78 प्रतिशत हो गई है। मृत्यु दर 0.86 प्रतिशत है। कोविड-19 से होने वाली मौतों का राष्ट्रीय औसत 1.55 प्रतिशत और रिकवरी दर 85 प्रतिशत है।

प्रदेश में सर्वाधिक रायपुर जिले में 25 हजार 853 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। दुर्ग में दस हजार 199, बिलासपुर में 7673, राजनांदगांव में 7152, रायगढ़ में 6213, जांजगीर-चांपा में 4328, बलौदाबाजार-भाटापारा में 3221, बस्तर में 2743, कोरबा में 2688, धमतरी में 2545, सरगुजा में 2240, महासमुंद में 2196, दंतेवाड़ा में 2150, बालोद में 2109 और कबीरधाम में 2057 मरीज कोरोना से स्वस्थ हुए हैं।कांकेर जिले में 1823, बीजापुर में 1758, सुकमा में 1619, सूरजपुर में 1555, कोरिया में 1444, गरियाबंद में 1421, मुंगेली में 1376, बेमेतरा में 1368, कोंडागांव में 1231, नारायणपुर में 1226, जशपुर में 971, बलरामपुर-रामानुजगंज में 949 तथा गोरेला-पेंड्रा-मरवाही में 302 लोगों ने कोरोना पर विजय प्राप्त की है। प्रदेश में वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या 27 हजार 238 है।

03-10-2020
जिले में आज मिले 68 कोरोना पॉजिटिव, 110 हुए डिस्चार्ज

धमतरी। जिले में शनिवार को 68 संक्रमित मरीजों के मिलने के साथ ही दो लोगों की कोरोना वायरस के चलते मौत हुई है। राहत की खबर है कि 110 लोग स्वस्थ हुए है। आज शनिवार को मिले संक्रमितों में से धमतरी ग्रामीण से 12, कुरूद ब्लाक से 12, नगरी से 1, धमतरी शहर से 33 और मगरलोड से 7 संक्रमित मिले है। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.डीके तुर्रे ने बताया कि धमतरी जिले में आज 68 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। वही दो लोगों की मृत्यु हुई है,रायपुर के एक निजी अस्पताल में जिनका इलाज किया जा रहा था। दोनों ही मरीजों को अन्य बीमारी और कोरोना संक्रमण के चलते मृत्यु हुई है। आज मृत व्यक्तियों में से एक कंडेल का निवासी था वही दूसरा मरीज भरदा मागरलोड का रहने वाला था। जिले में अब तक मृतकों की संख्या 42 हो गयी है।

धमतरी शहर
धमतरी शहर से 36 संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है, जिसमें सोरीद से 6,सिविल लाइन से 4, जालमपुर से 1, आमापारा 2, रेस्ट हाउस से 1, रामपुर वार्ड से 1, सुभाष नगर से 1, मैत्री विहार कॉलोनी से 1, साल्हेवारपारा से 1,दर्री से 1 ,हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से 1 , लाल बगीचा से 2, रामसागर पारा से 1, आमातालाब रोड से 1, बनिया पारा से 1, सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड से 1 व 7 अन्य जगहों से संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है।

धमतरी ग्रामीण
गुजरा ब्लॉक की बीएमओ डॉ.वंदना व्यास ने बताया कि आज ब्लॉक से 12 संक्रमित मरीज मिले है। इसमें भानपुरी से 3, राँवा से 1 , खपरी से 1, सहराडबरी से 1 , पिपरछेड़ी से 1, पोटियाडीह 1, रुद्री से 1, पंचवटी कॉलोनी से 1, मुजगहन से 1 व 1 अन्य जगह से संक्रमित मरीज मिले है।
जिले में अब तक मिले कुल संक्रमितों की संख्या 2690 हो चुकी है,जिसमें से एक्टिव केस की संख्या 712 है। धमतरी कोविड-19 अस्पताल में 22 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। वही 110 लोगो को स्वस्थ्य होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है,कुल 1936 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

 

25-09-2020
जिले में आज मिले 89 कोरोना संक्रमित, 3 की मौत, 106 हुए डिस्चार्ज

धमतरी। कोरोना वायरस संक्रमण ने शुक्रवार को जिले से 3 लोगों की मौत हो गई है। शुक्रवार को मिले संक्रमितों में से गुजरा से 13, कुरूद ब्लाक से 42, नगरी से 10, धमतरी शहर से 24 और मगरलोड से कोई भी संक्रमित नहीं मिले है। जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ डीके तुर्रे ने बताया कि आज 3 लोगों की मौत हो गई है। इसमें से गंगरेल का एक 27 साल का युवक,जो कि एक्सीडेंट होने के कारण रायपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था, उनके कोरोना टेस्ट करने पर रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। दूसरी मौत बनियापारा के 57 वर्षीय महिला की हुई है। इनका उपचार कोविड 19हॉस्पिटल चल रहा था। वहीं तीसरी मौत कुरुद के संजय नगर की 68 वर्षीय बुजुर्ग महिला की है। इनका उपचार रायपुर के एक निजी हॉस्पिटल में चल रहा था। दोनों महिला मृतक अन्य बीमारियों से ग्रसित थी। वहीं आज धमतरी शहर से 24 मरीज की पहचान हुई है,जिसमें महिमा सागर वार्ड से 1, मैत्री विहार कॉलोनी से 1, गुजराती कॉलोनी से 3, अमलतास पुरम से 3, टिकरापारा से 1,सोरीद से 3,गोकुलपुर वार्ड से 1, महंत घासीदास वार्ड से 1, शीतलापारा वार्ड से 1, अरिहंत कॉलोनी से 1, दानी टोला वार्ड से 1, हाउसिंग बोर्ड से 1, जालमपुरा वार्ड से 1, सुभाष नगर से 1, मराठापारा से 1, जेल लाइन बठेना पारा से 1, मैत्री विहार कॉलोनी से 1, जोधापुर वार्ड से 1 संक्रमित मरीज मिले हैं।


कुरुद
बीएमओ यू.एस नवरत्न ने बताया कि आज 42 नए संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। इसमें कुरुद से 12, अटनग से 1, नारी से 1, गुदगुदा से 3, रखी से 3,करगा से 1, गातापर से 2, चरोटा से 8, भेंडरा से 2, बांगोली से 1, पचपेड़ी से 2, भेंडरवानी से 3, ईर्रा से 1, सेमरा बी से 2 संक्रमित मरीज मिले हैं। सभी संक्रमित मरीजों की होम आइसोलेशन और भर्ती प्रक्रिया जा रही है।
जिले में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 2017 हो चुकी है,जिसमें एक्टिव केस की संख्या 825 है। धमतरी कोविड-19 अस्पताल में 29 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। वही 106 लोगों को स्वस्थ्य होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। अब तक कुल 1160 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

 

24-09-2020
नर्सिंग होम संचालक डॉक्टर की कोरोना से मौत

धमतरी। कोरोना संक्रमण से डॉ. आर एस ठाकुर की मौत हो गई है। बता दें कि ओजस्वी नर्सिंग होम के संचालक डॉ. आर एस ठाकुर का उपचार रायपुर के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। कुछ दिनों पूर्व वह कोरोना की चपेट में आ गए थे और अन्य बीमारियों के कारण गुरूवार को  उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। वे स्वास्थ्य विभाग में भानुप्रतापपुर, कांकेर और धमतरी में भी सेवा दे चुके हैं। उनके निधन से जिले में शोक की लहर है।

23-09-2020
अन्य बीमारियों से ग्रसित कोरोना मरीज की मौत, निजी अस्पताल में चल रहा था इलाज

कोरबा। कटघोरा विकासखंड अंतर्गत बांकीमोंगरा के शांति नगर निवासी 52 वर्षीय एसईसीएल कर्मी की मौत हो गई। एसईसीएल कर्मी ढेलवाडीह भूमिगत खदान में कार्यरत था। बीते दिनों बीमारी की वजह से राजधानी रायपुर के निजी अस्पताल में भर्ती था। मृतक पिछले कई महीनों से हर्निया और पेट संबंधी अन्य बीमारियों से ग्रसित था। कुछ दिनों पहले उसकी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। रायपुर जिला स्वास्थ्य विभाग ने मृतक के शव को कोरबा भेजने की तैयारी पूरी कर ली है। मृतक का अंतिम संस्कार प्रशासन की निगरानी और स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में बांकीमोंगरा क्षेत्र में किया जाएगा। इसकी पुष्टि कटघोरा बीएमओ ने की है। 

 

22-09-2020
स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों से कहा, कोविड-19 के मरीजों के इलाज लिए 24 घंटे रखे ऑक्सीजन

रायपुर। कोविड-19 के मरीजों की सुविधा के लिए निजी अस्पतालों में कुल संचालित बिस्तरों कोविड एवं नॉन-कोविड सहित में से 50 प्रतिशत बिस्तरों में ऑक्सीजन की 24x7 उपलब्धता कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।
स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा इस संबंध में सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। जारी निर्देश में कहा गया है कि विभिन्न जिलों में निजी चिकित्सालयों में कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए चिन्हांकित अस्पतालों के कुल संचालित बिस्तरों कोविड एवं नॉन-कोविड सहित में से 50 प्रतिशत बिस्तरों को आवश्यकतानुसार आरक्षित कर इन बिस्तरों का उपयोग कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिए किया जा सकेगा।  इस संबंध में निजी चिकित्सालयों के संचालकों को अवगत कराने और आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग ने दिए हैं।

 

17-09-2020
Breaking : निजी अस्पतालों और लैब में कोरोना जांच की पात्रता के संबंध में नए निर्देश जारी

रायपुर। कोविड-19 की समय पर जांच हो जाने से मरीज के स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है। राज्य शासन ने इसे ध्यान में रखकर निजी चिकित्सालयों और निजी लैब में आरटीपीसीआर/टूनाट/एंटीजन जांच की पात्रता के संबंध में नए निर्देश निर्धारित किए हैं। इसके अनुसार एंटीजन जांच सभी निजी चिकित्सालय और सभी निजी लैब, जो नेशनल एक्रेटिशेन बोर्ड ऑफ हॉस्पिटल एंड हेल्थ केयर एनएबीएल से मान्यता प्राप्त हों, कर सकते हैं। इसके अलावा ऐसे नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत रजिस्टर्ड संस्थाएं भी यह टेस्ट करने के लिए पात्र हैं।

टूनाट टेस्ट के लिए एनएबीएल मान्यता और नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत मान्यता होनी चाहिए। आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए आईसीएमआर की ओर से मान्यता, एनएबीएल से रीयल टाइम आरटीपीसीआर के लिए मान्यता और नर्सिंग होम एक्ट छत्तीसगढ़ के तहत मान्यता प्राप्त संस्थाएं इसके लिए पात्र हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में 16 सितंबर को निर्देश जारी किए हैं। इसके मुताबिक उपरोक्त योग्यता होने पर इच्छुक निजी चिकित्सालय/लैब, जांच की अनुमति के लिए संबंधित जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को आवेदन कर सकते हैं।

15-09-2020
राज्य के सभी जिला अस्पतालों और 38 निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों का इलाज जारी

रायपुर। कोविड मरीजों की सुविधा के लिए राज्य के सभी 29 जिला अस्पतालों, डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय ,कोविड केयर सेंटर में उनके उपचार और देख भाल की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा राज्य के 38 निजी अस्पतालों को भी कोविड मरीजों के उपचार करने की स्वीकृति दी गई है जिसमें रायपुर के 20 ,बिलासपुर और दुर्ग के सात-सात, रायगढ़ के दो , राजनांदगांव और धमतरी का एक-एक निजी अस्पताल शामिल है। इसके अलावा कोविड 19 के लक्षण रहित एवं कम लक्षण वाले मरीजों के लिए 186 सरकारी कोविड केयर सेंटर निशुल्क खोले गए हैैैं। साथ ही 14 निजी चिकित्सालयों ने पेड आइसोलेशन सेंटर भी खोले हैं। राज्य के निम्नलिखित निजी चिकित्सालायों के द्वारा कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को भर्ती कर उपचार प्रदान किया जा रहा है।
 
राज्य के निम्नलिखित निजी चिकित्सालायों के द्वारा कोविड-19 से संक्रमित लक्षण रहित एवं माइल्ड लक्षण वाले मरीजों को पेड आइसोलेशन सेंटर (हॉटल/अन्य भवन) भर्ती कर उपचार प्रदान किया जा रहा है। ज्ञात हो कि प्रदेश में मेकाहारा के अलावा कुल 29 कोविड अस्पताल और 186 कोविड केयर सेंटर है । इन अस्पतालों में 3551 बेड और कोविड केयर सेंटर में 25560 बेड उपलब्ध हैं। इसके अलाावा 560 से अधिक आक्सीजन युक्त बेड भी उपलब्ध हैं।


 
 

14-09-2020
चार्टर्ड एकाउंटेंट्स रायपुर शाखा की कोरोना सेवा इकाई लोगों तक पहुंचाएगी मदद, सुपर 30 की इकाई की घोषणा 

रायपुर। इंस्टीटूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की मध्य भारत की क्षेत्रीय समिति की रायपुर शाखा ने शहर एवं प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए एक सेवा की पहल में एक प्रयास करते हुए कोविड हेल्पडेस्क की टीम बनाने का काम किया है। शाखा के अध्यक्ष CA किशोर बरडिया एवं सचिव CA रवि ग्वालानी ने बताया कि जिस प्रकार से मामले शहर में बढ़ रहे हैं और लोगों को यह समझ नहीं आ रहा कि वो हॉस्पिटल में जाएं या घर पर ही होम आइसोलेशन में रहे उसके लिए पेशेंट्स को एक उचित मार्गदर्शन की अत्यन्त अवश्यकयता आ गयी है। बढ़ते मामलों ने सरकारी अस्पताल से लेकर निजी अस्पतालों में बेड की एकाएक मांग बढ़ा दी है। जिस प्रकार सरकारी तंत्र अपना काम कर रहा है उसी प्रकार icai की रायपुर शाखा ने सरकार की एवं अपने सदस्यों के साथ साथ उनके परिवार एवं शहर में रह रहे सभी रहवासियों के लिए एक टीम गठित करने की घोषणा की है।

टीम का उद्देश्य यह रहेगा कि जिसको भी ज़रूरत पड़ेगी वो व्यक्ति इस टीम की मदद लेकर एम्बुलेंस की बुकिंग करवा सकेगा। वो जिस भी वार्ड या मोहल्ले में रहते हैं वहां कौनसा डॉक्टर उन्हें परामर्श देगा उससे उनका कनेक्शन करवा सकेगा, उसे कौनसी दवाई चाहिए और अगर वो नहीं मिल पा रही है तो यह टीम उसे दवाई दिलवाने में मदद करेगी। आज बहुत ज़्यादा आवश्यकता ऑक्सीजन सिलिंडर की पड़ रही है तो इस टीम के माध्यम से ऑक्सीजन सिलिंडर पेशेंट्स तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा, आज लगभग सारे अस्पताल में बेड्स खाली ही नहीं है और कब कौनसा बेड खाली होगा यह जानकारी भी यह टीम अस्पतालों से लेकर ज़रूरतमंदों को बताने का प्रयास करेगी। इस श्रृंखला में शाखा ने एक सेमिनार आयोजित किया जिसमें अमित चिमनानी ने सदस्यों को कोविड से संबंधित बहुत सारी बातों की जानकारी दी एवं डॉ शुचि जोहरी ने वर्तमान स्तिथि में कोविड से किस तरह लड़ा जाए और उन्होंने यह भी बताया कि जैसे ही आपको प्रथम में लक्षण दिखाई दे रहे हैं आप तुरंत ही खुदको आइसोलेट कीजिये और समय समय पर अपना ऑक्सीजन लेवल पल्स ऑक्सिमिटर से नापते रहिए, वर्तमान में 9ft की दूरी दूसरों से बनाए रखना बहुत ज़रूरी है। जिनकी उम्र 55 वर्ष से अधिक है वो लोग हाई रिस्क में हैं और जो लोग 55 वर्ष से कम उम्र में हैं और उन्हें अगर कोई गंभीर बीमारी है तो वो व्यक्ति भी हाई रिस्क में हैं। उन्होंने अपील की सभी सदस्यों से की जब तक ज़रूरत न हो घर पर ही रहें एवं बाहर न निकलें।

रायपुर शाखा ने अपने सभी सदस्यों से अपील की है कि सारे सदस्य आने वाले 7 से 15 दिन अपने दफ्तर बंद रखें एवं जितना हो सके घर से ही काम करें और सभी स्टाफ को भी घर से काम करने के लिए कहे। कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित शशिकांत चंद्राकर, राजेश दोषी, संजय खरे, राहुल मिश्रा, निखिलेश बेगानी, आरके सिंघानिया, ओपी सिंघानिया, नरेश नाहर, रमनदीप सिंह भाटिया, विजय मालू, आरके अग्रवाल, राजेश राठी, प्रतीक बेरीवाल, मदन उपाध्याय, पदम शुक्ला, दीपक अग्रवाल, सहर्ष गुप्ता, करन गुप्ता, ब्रिन्देश सारदा, जयेश बोथरा, जितेंद्र खनूजा, आदि उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804