GLIBS
19-10-2020
रमन सिंह ने मुख्यमंत्री को रावण की संज्ञा देकर प्रदेश की जनता का अपमान किया : कांग्रेस

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की ओर से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के संबंध में दिए बयान की कांग्रेस ने निंदा की है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि सत्ता हाथ से जाने के बाद लगता है कि रमन सिंह अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं। रमन सिंह जैसा नेता जो तीन बार मुख्यमंत्री रहे हैं, वे राजनैतिक विरोध की भाषा की मर्यादा भूल बैठे हैं। रमन सिंह ने मुख्यमंत्री के लिए रावण की संज्ञा देकर छत्तीसगढ़ की पौने तीन करोड़ जनसंख्या का अपमान किया है। रावण राक्षसों का शासक था। भूपेश बघेल को अपना शासक छत्तीसगढ़ की जनता ने तीन चौथाई बहुमत के साथ चुना है। रमन सिंह ने राज्य के मतदाताओं, नागरिकों, गरीबों, किसानों सभी का अपमान किया है। रमन सिंह छत्तीसगढ़ की जनता से माफी मांगे। शुक्ला ने कहा है कि रमन सिंह को राम राज और रावण राज का बुनियादी फर्क ही नहीं मालूम है। रावण राज में महिला उत्पीड़न और भ्रष्टाचार का बोलबाला था, जो छत्तीसगढ़ में 15 सालों तक रमन राज में दिखा था।

इसके राज में सरकारी कन्या आश्रमों में 6 से 14 साल की मासूम बच्चियों के साथ महिनों दुराचार की घटनाएं होती रही हो, जिनके राज में 15 साल तक छत्तीसगढ़ में महिलाओं के साथ हर दिन तीन दुराचार की घटनाएं होती रही हो, जिनके राज में चंद पैसों के लिए महिलाओं के गर्भाशय निकाल लिए जाते हो, जिनके राज में नसबंदी जैसे सामान्य ऑपरेशन के कारण 17 माताओं की जाने चली गई हो, जिनके राज में छत्तीसगढ़ की 27,000 से अधिक बेटियां लापता हो गई हो, ऐसा राज चला चुके रमन सिंह के लिए रावण आदर्श किरदार ही होगा। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में पिछले 22 महिनों से श्रीराम के आदर्शों का राज चल रहा। किसान कर्जा मुक्त हो गए, किसानों को उनकी उपज की भरपूर कीमत 2500 रुपए मिल रही है। आम आदमी के बिजली के दाम आधे हो गए, गरीब, आम आदमी खुश हैं। युवाओं को सरकारी नौकरी के द्वार खोले गए हैं। आम आदमी का सशक्तिकरण हो रहा, राज्य से बेरोजगारी घट रही व्यापार फल फूल रहा, कोरोना जैसी महामारी में भी जनता की सेवा सरकार का मूल ध्येय है। राम राज का मूलमंत्र यही तो था,सर्वजन हिताय  सर्वजन सुखाय कांग्रेस की सरकार हर वर्ग के लिए काम कर रही जो रमन सिंह को नहीं भा रहा है।

 

17-10-2020
अमित ने कहा- न्यायपालिका और जनता की अदालत पर पूरा भरोसा,हमेशा की तरह जोगी परिवार के साथ न्याय होगा

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के अध्यक्ष अमित जोगी ने जाति प्रमाण और मरवाही उपचुनाव के लिए नामांकन निरस्त होने पर बयान जारी किया है। उन्होंने ट्वीट कर भी कहा है कि शुक्रवार को रातों-रात उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति ने उनका प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया। इसकी खबर उन्हें छोड़ बाकी सबको थी। अमित ने कहा है कि उन्होंने रिपोर्ट पढ़ने के लिए समय मांगा,वो भी नहीं दिया गया। अमित ने जारी अपने बयान में कहा है कि सबसे बड़ी जनता की अदालत है। मुझे न्याय वहीं मिलेगा। देश, विधि और संविधान से चलता है, बदलापुर और जोगेरिया से नहीं। वो सोचते हैं कि कुश्ती अकेले लड़ेंगे और खुद ही जीतेंगे। जनता को इतना बेबस और बेवकूफ नहीं समझना चाहिए। चलो सरकार ने माना तो कि "जोगी को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है"।

अमित जोगी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री के इशारे पर मेरा नामांकन खारिज कराना स्वर्गीय अजीत जोगी और मरवाही की जनता का अपमान है। अपनी पूरी ताकत झोंक देने के बाद बस यही वो हथकंडा था, जिससे मुख्यमंत्री चुनाव में दिख रही अपनी निश्चित पराजय को टाल सकते थे।  सरकार भय में है। स्व. अजीत जोगी के जीते जी लगातार उनका अपमान किया, उसके बाद उनके परिवार को राजनीतिक रूप से खत्म करने की साजिश चल रही है,लेकिन जिसके सिर के ऊपर गरीबों का हाथ होता है, वो कभी अनाथ नहीं हो सकता। अमित ने कहा है कि हमारा मरवाही की जनता से आत्मिक और परिवारिक रिश्ता था, है और रहेगा। जोगी मरवाही और मरवाही जोगी के दिल में बसता है। दोनों को एक दूसरे से अलग करना असंभव है। जिंदगी की आखिरी सांस तक जोगी परिवार मरवाही की जनता की सेवा करते रहेंगे। हम कानून की लड़ाई लड़ेंगे और अपना सम्मान व अधिकार प्राप्त करेंगे। मुझे न्यायपालिका और जनता की अदालत पर पूरा भरोसा है कि हमेशा की तरह जोगी परिवार के साथ न्याय होगा।

07-10-2020
हर मोर्चे पर असफल प्रदेश सरकार केवल भ्रम फैलाव अभियान में लगी है: धरमलाल कौशिक

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भाजपा की ओर से आयोजित प्रदेशव्यापी धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में बिल्हा में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि किसानों को लेकर कांग्रेस ने जो वचन दिया था है उसे पूरा करने में असफल है। जब जनता को गंगा जल लेकर वादा निभाने का वचन दिया था तो निभाना भी आपको ही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में किसानों से लेकर सभी वर्ग में प्रदेश सरकार के कुनितियों को लेकर आक्रोशित है। किसान अन्याय से किसान बेहद परेशान और दुखी है। किसान की भूमि की रकबा कम करने बोनस,बीज,खाद नही मिलने से चिंतित है। प्रदेश सरकार की किसान विरोधी नीतियों के चलते किसान आत्महत्या को विवश है।

उन्होंने कहा कि हर मोर्चे पर असफल सरकार केवल भ्रम फैलाव अभियान में लगी है। प्रदेश सरकार के दो साल पूरे हो रहे लेकिन एक भी जनहित का कोई भी काम कही भी नहीं दिखता है। यह सरकार भटकाव और छलावा की नीतियों पर काम कर रही है। जिसे प्रदेश की जनता  भतिभांति समझ रही है। धरना में कृष्ण कुमार कौशिक, बृजभूषण वर्मा, दिनेश पांडेय ,सोमेश तिवारी, पेंगन वर्मा, बलराम देवांगन, कोमल ठाकुर, वंदना जेन्डे, संजय सिंह, श्यामलाल बंजारे, सतीश शर्मा, विष्णु बिन्दल सहित पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारी शामिल हुए।

22-09-2020
साइबर अपराध की रोकथाम के लिए फ्लैक्स के माध्यम से जनता को किया जा रहा जागरूक

कोरबा। जिले में बढ़ते साइबर अपराधों को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक मीणा द्वारा साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए आम जनता को जागरूक करने के उद्देश्य से जागरूकता अभियान चलाने के लिए निर्देशित किया गया है।  इसी क्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर के मार्गदर्शन एवं उप पुलिस अधीक्षक रामगोपाल करियारे के नेतृत्व में चौकी प्रभारी रजगामार मयंक मिश्रा व स्टाफ द्वारा क्षेत्र की जनता को साइबर अपराध का शिकार होने से बचाने के उद्देश्य से चौकी क्षेत्रान्तर्गत सभी ग्रामो में साइबर अपराधों के तरीके एवं उनसे बचाव के उपाय बताने के उद्देश्य से फ्लैक्स तैयार कर लगवाए गए है।विदित हो कि वर्तमान में वित्तीय लेनदेन और वस्तुओं का विनिमय आनलाइन के माध्यम से बहुतायत में होने के कारण आम जनता के साथ बैंकिंग फ्रॉड, मोबाइल फ्रॉड, एटीएम फ्रॉड, सॉफ्टवेर व ऐप डाउनलोड में ठगी, आनलाइन शेयर मार्केट से सम्बन्धित ठगी, फेस बुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सअप, ईमेल, प्ले स्टोर डाउन लोडिंग आदि के माध्यम से ठगी साइबर अपराधियों द्वारा ग्राहकों को प्रलोभन देकर किया जा रहा है।

अतः चौकी क्षेत्र में इसके लिए विभिन्न माध्यमों से जागरूकता सन्देश दिया गया है।उक्त सावधानियों को ध्यान में रखते हुए 1.नौकरी लगाने के नाम पर, 2. बैंक एकाउंट की के वायसी अपडेट करने के नाम पर 3.लॉटरी लगने के नाम पर, 4.ऑनलाइन लोन स्वीकृत करने के नाम पर, 5.ऑनलाइन पार्सल बुकिंग के नाम पर, 6.सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर आम जनता के साथ हो रही धोखाधड़ी के संबंध में जागरूक करने का प्रयास किया गया है।साथ ही आम जनता से अपील की गई है कि सायबर अपराधियों द्वारा दिये जा रहे आकर्षक/लुभावने झांसों में न फसते हुए मेहनत से कमाई गयी धनराशि को अपने पास सुरक्षित रखे और किसी भी प्रकार की स्वयं या अन्य पर ठगी होने पर शीघ्र ही "साइबर संगवारी" के रूप में कार्य करते हुई थाना,चौकी और पुलिस सहायता केंद्र को सूचित करें ताकि तत्परता से कार्यवाही कर अपराधियों पर अंकुश लगाई जा सके।यह जागरूकता अभियान चौकी रजगामार स्टाफ, साइबर सेल कोरबा से प्रशांत सिंह, डेमन ओग्रे  व साइबर टीम एवं ग्राम पंचायतो के विशेष सामूहिक प्रयास से चलाया जा रहा है।

 

09-09-2020
छत्तीसगढ़ में महानगरों की तर्ज पर होगा सीरो सर्वे,10 जिलों में 16 से और शेष में 20 सितंबर से लिए जाएंगे सैंपल

रायपुर। छत्तीसगढ़ की जनता में कोविड -19 के लिए हर्ड इम्यूनिटी की स्थिति का पता लगाने अब महानगरों की तर्ज पर सर्वे किया जाएगा। आईसीएमआर/आरएमआरसी ओडिशा और छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग की ओर से सीरो सर्वेलेंस कराया जाएगा। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि रायपुर सहित कुल 10 जिलों में 16 सितंबर से यह सर्वे कराया जाएगा। रायपुर में 16 सितंबर से 18 सितंबर तक जिले के 2 ब्लॉक रायपुर और तिल्दा क्षेत्र से ब्लड सैम्पल लिए जाएंगे। हर जिले से 500 सैॅपल लिए जाएंगे। इसमें हाई रिस्क ग्रुप जैस कम प्रतिरोधक क्षमता वाले टीबी और एचआईवी पीड़ित व्यक्ति,कंटेनमेंट जोन,स्वास्थ्य कर्मी,सुरक्षाकर्मी,पुलिस, सुरक्षा बल,पत्रकार,ग्रामीण,जनजाति,औद्योगिक कर्मी,वाहन चालक ,बैंक और डाककर्मी,उडडयनकर्मी,जेल में बंद कैदी,वृद्धाश्रम ,अनाथाश्रम,दुकानें, छात्रावाास आदि से कुल 260 सैंपल लिए जाएंगे। जिले के चयनित 6 क्लस्टर से 240 सैंपल लिए जाएंगे। इन सैपल में एन्टीबॉडी इम्यूनोग्लोबुलि जी और एम की जांच की जाएगाी। सीरो सर्वे प्रति 10 लाख जनसंख्या में कोविड 19 से संक्रमित मरीजों के आधार पर किया जा रहा है। रायपुर जिले  के अलावा बिलासपुर,कोरबा, मुंगेली, जशपुर,जांजगीर चांपा, बलरामपुर,बलौदाबाजार,राजनांदगांव और दुर्ग जिले में सर्वे किया जाएगा। शेष 9 जिलों में 20 सितंबर से सैंपल लिए जाएंगे।

 

07-09-2020
मुख्यमंत्री ने कहा- जनभागीदारी से छत्तीसगढ़ बनेगा शत-प्रतिशत साक्षर

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 8 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस की पूर्व संध्या जनता को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने अपने बधाई संदेश में कहा है कि,8 सितंबर का दिन अक्षरों की अलख जगाने, अक्षर ज्ञान की महत्ता बताने का दिन है। अक्षर ज्ञान के प्रकाश से अपने और समाज के जीवन में चेतना, सुख और समृद्धि की रोशनी फैलाने का दिन है। मुख्यमंत्री बघेल ने आव्हान किया है कि, प्रदेश को शत-प्रतिशत साक्षर बनाने के लिए हम सब अपना योगदान देने का संकल्प लें। सभी का योगदान प्रदेश के सुनहरे भविष्य का मार्ग प्रशस्त करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि, वास्तव में अक्षर ज्ञान वह पहला द्वार है, जहां से ज्ञान के अनंत रास्ते खुलते हैं। साक्षरता से शिक्षा और शिक्षा से विकास का सीधा संबंध है। आज का दिन प्रदेश में साक्षरता के वर्तमान सोपान पर गर्व करने का है, तो शेष लक्ष्य प्राप्त करने के लिए संकल्प लेने का भी है। उन्होंने कहा है कि, शत प्रतिशत साक्षरता की दिशा में आगे बढ़ने के लिए व्यक्तिगत रूचि और सामूहिक प्रयासों की बड़ी आवश्यकता है। व्यापक जनभागीदारी से लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

 

25-08-2020
लोककर्म प्रभारी ने जोन आयुक्तों से कहा, जल प्रदाय के लिए डिस्ट्रीब्यूशन पाइपलाइन का कार्य जल्द पूरा करें

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न विकास कार्यों एवं जनता से जुड़े हुए प्रमुख मुद्दों के विषय में समस्त जोन क्षेत्र की जोनवार समीक्षा महापौर के निर्देश पर एमआईसी सदस्य एवं लोककर्म प्रभारी नीरज पाल ने महापौर कक्ष में ली। इस दौरान उपायुक्त तरुण पाल लहरें उपस्थित रहे। बैठक 11:30 बजे से प्रारंभ हुई,जिसमें अलग-अलग जोन की बारी-बारी से समीक्षा की गई। समीक्षा में निगम के द्वारा तैयार किए गए विभिन्न प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। आकाशगंगा में व्यवस्थित पार्किंग बनाने के संबंध में जोन आयुक्त को जल्द कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। पाल ने समस्त जोन आयुक्तों को कहा कि अप्रारंभ कार्यों को शीघ्र प्रारंभ करें, अनावश्यक कार्यों को लंबित न रखें तथा ऐसे कार्य जो काफी लंबे समय से प्रगति पर हैं उन्हें पर्सनली मॉनिटरिंग कर पूर्ण कराएं, शासन स्तर से निगम भिलाई के विकास कार्यों के लिए स्वीकृत हुए निर्माण कार्यों को निविदा प्रक्रिया मे लाकर निर्माण कार्य प्रारंभ करावे, बीएसपी प्रबंधन को अनापत्ति के लिए प्रेषित किए गए कार्यों की सूची की भी जानकारी प्राप्त की, उन्होंने कहा कि जिन कार्यों का भूमिपूजन किया जाना है उन्हें शीघ्रता से करावे तथा जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं उन्हें जनता को सौंपने में देरी ना करें और जल्द ही लोकार्पण कराएं, छोटे-बड़े महत्वपूर्ण विकास कार्यों मे प्रगति लाने के निर्देश दिए गए हैं!

सफाई के संबंध में जोन आयुक्तों को कहा कि गली मोहल्लों की नालों की सफाई, चौक चौराहों की सफाई, सड़कों की सफाई, डोर टू डोर कलेक्शन नियमित रूप से करावे साथ ही जल प्रदाय के लिए डिस्ट्रीब्यूशन पाइपलाइन का कार्य जल्द ही पूर्ण करें कोई भी क्षेत्र इससे वंचित ना हो इसका भी ध्यान रखें! जोन के अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा करते हुए मौसमी बीमारी से बचाव के रोकथाम, सफाई व्यवस्था, निर्माण एवं विकास कार्य के बारे में जानकारी ली और उपस्थित अधिकारियों को कहा कि सफाई से संबंधित सारे कार्य समय पर हो। बैठक में जोन आयुक्त सुनील अग्रहरी, पूजा पिल्ले, अमिताभ शर्मा एवं महेंद्र पाठक, कार्यपालन अभियंता संजय शर्मा, टीके रणदिवे, संजय बागड़े, डीके वर्मा, सहायक अभियंता सुनील दुबे, सुनील जैन, कुलदीप गुप्ता, अखिलेश चंद्राकर एवं अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

 

22-08-2020
टीएस सिंहदेव ने अत्याधुनिक कैथलैब का किया ई-लोकार्पण,सोमवार से शुरू होगा उपचार

रायपुर। डॉ.भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय स्थित एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट के ई-लोकार्पण के साथ ही हृदय रोगियों का उपचार सोमवार से एसीआई में प्रारंभ हो जाएगा। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने प्रदेश के अत्याधुनिक और सर्वसुविधायुक्त नवस्थापित कैथलैब के साथ एडवांस कार्डियक इंस्टीट्यूट को राज्य की जनता को समर्पित किया।स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने एसीआई की टीम को बधाई देते हुए कहा कि नवस्थापित कैथलैब के शुरू हो जाने से हृदय रोगियों के उपचार में और अधिक सहूलियत हो जाएगी। अत्याधुनिक मशीनों के कारण दिल से जुड़ी एंजियोग्राफी,एंजियोप्लास्टी,इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी अध्ययन पहले की अपेक्षा तेजी से की जा सकेगी। इससे दिल के मरीजों को काफी फायदा होगा। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना काल में डॉक्टरों समेत समस्त चिकित्सकीय स्टॉफ को पूरी सावधानी और सतर्कता से ड्यूटी करने को कहा।

ताकि स्वास्थ्य अमले को संक्रमण से अधिक से अधिक बचाया जा सके। उन्होंने चिकित्सकीय अमले से कहा कि कोरोना से जारी संघर्ष में खुद की सुरक्षा पर ध्यान देना अति आवश्यक है।अंबेडकर अस्पताल के टेलीमेडिसीन हाल में हुए ई-लोकार्पण कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा विभाग रेणु पिल्लई,चिकित्सा महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ.विष्णु दत्त, अंबेडकर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.विनित जैन,एसीआई के कार्डियोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ.स्मित श्रीवास्तव,कार्डियोथोरेसिक एवं वैस्कुलर सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ.केके साहू मौजूद थे।लगभग साढ़े तीन करोड़ की लागत से अत्याधुनिक कैथलैब मशीन का इंस्टालेशन एसीआई में किया गया है।

कैथलैब मशीन के साथ यहां लगभग सात करोड़ की कीमतों वाली इंट्रा ऑर्टिक बैलून पम्प, रेडियो फ्रीक्वेंसी एबिलेशन, इंट्रा कार्डियक इकोकॉर्डिग्राीफ, इंट्रावैस्कुलर अल्ट्रासाउंड फ्रैक्शन फ्लो रिजर्व एवं इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी स्टडीज जैसे एडवांस तकनीक वाली अन्य मशीनों का इंस्टालेशन भी किया गया है। इनमें से इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी (ईपी), आरएफए यानी रेडियोफ्रीक्वेंसी एबिलेशन मशीन,आईसीई यानी इंट्रा कार्डियक इकोकॉर्डियोग्राफी मशीन को मिलाकर पूरे भारत का तीसरा शासकीय ईपी लैब स्थापित किया गया है। एसीआई को चिकित्सा नैदानिक उपकरणों के संचालन के लिए भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा नियामक परिषद से विकिरण सुरक्षा का लाइसेंस मिल चुका है। ई-लोकार्पण के दौरान डॉ.मानिक चटर्जी, डॉ.ओपी सुंदरानी, डॉ. निशांत चंदेल, डॉ.अल्ताफ युसुफ मीर और डॉ.जोगेश दासवानी उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804