GLIBS
24-05-2020
कौशिक ने कहा, प्रदेश सरकार के इरादे मजबूत नहीं, उठता जा रहा जनता का भरोसा

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले और क्वारेंटाइन सेन्टर में व्याप्त अव्यवस्था के लिए प्रदेश सरकार को जिम्मेदार बताया है। कौशिक ने कहा कि अब प्रदेशवासियों का इस सरकार से भरोसा उठने लगा है। लगता है कि अब हमें अपनी चिंता खुद ही करनी होगी। कौशिक ने कहा कि एक सप्ताह में ही प्रदेश में जिस तरह से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं, वह चिंतनीय है। प्रदेश सरकार पहले ही कोरोना की रोकथाम की तैयारी को लेकर गंभीर नहीं है। प्रदेश में बनाए गए  क्वारेंटाइन सेंटर्स में लोगों की लगातार मौतें हो रही है,जिस पर भी सवाल उठना लाजमी है। बेहतर व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग वहां से भाग भी रहे हैं।
कौशिक ने कहा कि इस विषम परिस्थिति में हम सबके साथ हैं। प्रदेश सरकार को कोरोना के मुद्दे पर और मजबूती से काम करना चाहिए लेकिन सरकार नहीं कर रही है। केन्द्र सरकार से हरसंभव सहायता भी प्रदान की जा रही है। प्रदेश सरकार को ही मजबूत इरादों के साथ और ज्यादा काम करने की जरूरत है, तभी हम जल्द कोरोना से विजय प्राप्त कर सकते हैं।

12-05-2020
उसेंडी ने कहा, जनता के साथ वादाखिलाफी करने का परिणाम प्रदेश सरकार को भुगतना होगा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को प्रदेशभर में धरना प्रदर्शन किया। प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि शराबबंदी, किसानों के कर्ज की माफी, दो साल के बकाया बोनस का भुगतान, पिछले खरीफ सत्र में खरीदे गए धान के मूल्य की अंतर राशि के तत्काल भुगतान, शराबबंदी, युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व मितानिनों के मानदेय में बढ़ोत्तरी आदि मांगों को लेकर भाजपा ने यह धरना दिया। उन्होंने कहा कि गंगाजल हाथ में लेकर किए गए वादे पूरा करने में प्रदेश की कांग्रेस सरकार पूरी तरह विफल रही है। उसेंडी ने कहा कि 18-19 मार्च से पहले टोकन कटने के बाद भी किसानों के धान खरीदी की व्यवस्था नहीं सरकार ने नहीं की। उसेंडी ने कहा कि सरकार को प्रदेश की जनता के साथ वादाखिलाफी करने का परिणाम भुगतना होगा।

 

09-05-2020
शहर में विकास कार्य शुरू होंगे तो दिहाड़ी मजदूरों की रोजी-रोटी चलेगी: वोरा

दुर्ग। विधायक अरुण वोरा ने शहर में जनता के लिए जरूरी सेवाएं देने वाले सरकारी कार्यालयों में भीड़ नियंत्रित करने काउंटर बढ़ाने पर जोर दिया है। वोरा ने कलेक्टर और निगम कमिश्नर से चर्चा करते हुए कहा कि नगर निगम में प्रॉपर्टी टैक्स, आधार अपडेट जैसी सुविधाओं के अलावा कलेक्ट्रेट, बैंकों, पोस्ट ऑफिस, बिजली ऑफिस जैसी जगहों पर भी जनसुविधा काउंटर बढ़ाया जाए। लोगों को लंबी कतार की समस्या से बचाने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने सुविधाओं का विस्तार करना जरूरी है।अरुण वोरा ने कहा कि कोरोना का संक्रमण देश भर में तेजी से फैला है। छत्तीसगढ़ में प्रशासन व आम जनता जागरूक हैं। अब शहर में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धीरे-धीरे शहर को विकास की पटरी पर लाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शहर में सड़क, नाली, पेयजल, बिजली जैसी मूलभूत जरूरतों के साथ-साथ बड़े विकास कार्यों को शुरू कराना जरूरी है।

07-05-2020
भूपेश सरकार की कोविड-19 के दौरान किए गए कार्यो को विधायक ने जनता के सामने रखा

बीजापुर। विधायक विक्रम मंडावी ने कोरोना संक्रमण कोविड-19 के प्रति राज्य सरकार की जागरूकता और उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए पूर्व अनुमान लगाकर तैयारी कर कार्य योजना बनाई।इसके कारण अन्य राज्यों के मुकाबले छत्तीसगढ़ में संक्रमण पर नियंत्रण रखने में सफल रहा।हमारी सरकार ने दूसरे राज्यो मै फंसे लोगों की हर संभव मदद की।पत्रवार्ता में विधायक ने बताया मुख्यमंत्री ने राज्य की जनता के नाम अपने संदेश में लिखा था कि राज्य के किसी को भूखा सोने नहीं देंगे। जो इस डेढ़ महीने के लॉक डाउन के दौरान धरातल पर देखने को मिला। राज्य के 56.48 गरीब परिवारों को अप्रैल-मई और जून तीन महीने का राशन निशुल्क दिया गया। वहीं बिना राशन कार्ड धारकों को 5 किलो देने का निर्णय भी लिया।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के अंतर्गत ग्रामीणों को रोजगार दिया गया। देशभर में मनरेगा कार्यो में लगे कुल मजदूरों में से करीब 24 फ़ीसदी अकेले छत्तीसगढ़ से हैं जो देश में सर्वाधिक है। प्रदेश की 9883 ग्राम पंचायतों में चल रहा है विभिन्न मनरेगा का कार्यो मे लगभग 20 लाख मजदूर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रेल मंत्री को पत्र लिखकर छत्तीसगढ़ श्रमिकों को वापस लाने के लिए ट्रेन चलाने की मांग की साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश प्राप्त होते ही राज्य सरकार ने 4 मई को रेलवे को पत्र लिखकर कहा कि राज्य सरकार श्रमिकों की वापसी में लगने वाले सारे खर्च कांग्रेस पार्टी वहन करेगी।

सेंटर फार मानीटरिंग इंडियन इकानामी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि छत्तीसगढ़ में अप्रैल माह में बेरोजगारी की दर केवल 3.4 प्रतिशत रही है जबकि इस समय देश की औसत बेरोजगारी दर 23.5 प्रतिशत रही है।प्रेस वार्ता के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडियाम,उपाध्यक्ष कमलेश कारम, जिला पंचायत सदस्य नीना रावतिया,नगर पालिका अध्यक्ष बेनहुर रावतिया,उपाध्यक्ष परुषोत्तम सल्लुर,पार्षद प्रवीण डोंगरे,कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ कांग्रेसी जयकुमार नायर,कांग्रेस के रितेश दस,मनोज अवलम,जिला कांग्रेस कमेटी के जिला महामंत्री,पार्षद एवं कांग्रेस के अन्य नेता उपस्थित थे।

01-05-2020
फेसबुक लाइव पर कलेक्टर करेंगे जनता से बात

दुर्ग। कलेक्टर और एसएसपी शुक्रवार शाम को फेसबुक लाइव के माध्यम से आम जनता से रूबरू होंगे।  कलेक्टर अंकित आनंद एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव दोनों ही एक साथ शुक्रवार शाम 7.30 बजे फेसबुक लाइव के माध्यम से दुर्ग जिले की जनता के साथ रूबरू होंगे।  जिले के लिए यह प्रथम अवसर है कि जिला एवं पुलिस प्रशासन के दोनों प्रमुख एक साथ फेसबुक पर लाइव बात करेंगे और जनता की समस्या सुनेंगे।

26-04-2020
लॉक डाउन में स्पष्ट हुआ छत्तीसगढ़ की जनता शराब से मुक्ति पाना चाहती है, अब नैतिकता दिखाए भूपेश सरकार : देवजी पटेल

रायपुर। पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने प्रदेश सरकार से शराबबंदी की मांग की है। देवजी ने वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पुन: अनुरोध किया है कि अब यह पूरी तरह स्पष्ट हो गया कि छत्तीसगढ़ की जनता शराब की गुलाम नहीं है बल्कि हर तरह से धैर्यवान है। कोरोना संक्रमणकाल के दरमियान विगत 1 माह से शराब दुकानें बंद है यह प्रदेश का सौभाग्य है कि शराब के अभाव में किसी भी प्रकार की एक भी अप्रिय घटना नहीं घटी यह सिद्ध करता है कि जनता शराब से निजात पाना चाहती है। सारी भ्रांतियां अब समाप्त हो गई है, कि शराब एकाएक बंद नहीं की जा सकती। आज मौका है परिणाम सामने हैं सरकार प्रदेश में शराब मुक्ति के लिए अधिसूचना जारी करे। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में शराब के अभिशाप से गांव गरीब सब बेहाल हैं, किसी दल विशेष की सरकार को ही जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं होगा।

परंतु यह सत्य है कि जिस मंशा से प्रदेश में शराब माफियाओं को जड़ से समाप्त करने के लिए ठेका पद्धति बंद करा कर सरकार स्वयं आंशिक नशा मुक्ति की ओर अग्रसर होने प्रयासरत रही। लेकिन ना ही शराब माफिया का सफाया हुआ न ही शराब के अवैध कारोबार का, बल्कि विगत वर्ष से यह एक अवैध व्यवसाय/कारोबार बन गया। सरकारी संचालन ने सरकार के मंशा पर पानी फेर दिया। भूपेश सरकार अपने चुनावी वादों में पूर्ण शराबबंदी का वादा की थी मगर परिणाम आज जनता के सामने है।

26-04-2020
मन की बात के जरिए पीएम मोदी ने किया देश को संबोधित, कहा - देशवासियों के जज्बे को सलाम

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लागू लॉक डाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रेडियो पर हर माह प्रसारित अपने कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए देश को संबोधित किया। मोदी ने कहा है कि कोरोना महामारी के खिलाफ पूरा देश जिस तरह एकजुट होकर पूरी ताकत से लड़ रहा है, उससे वह अत्याधिक उत्साहित हैं और देशवासियों के जज्बे को सलाम करते हैं। उन्हों ने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ चल रहे युद्ध के बीच ‘मन की बात’ कर रहे हैं। कोरोना के खिलाफ जिस तरह से देश के लोगों को उन्होंने एकजुट और पूरी ताकत के साथ लड़ते हुए देखा है, उससे वह अत्यंत उत्साहित हैं और देशवासियों के जज्बे को सलाम करते हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने की लड़ाई देश की जनता लड़ रही है और देश का हर नागरिक अपनी शक्ति के अनुसार इस लड़ाई में शामिल है। यह लड़ाई हर नागरिक और प्रशासन लड़ रहा है। देश का आम आदमी इस लड़ाई से बराबर जूझ रहा है। गली मोहल्लों मेंं यह लड़ाई लड़ी जा रही है। लोग एक दूसरे की मदद कर रहे है और पूरा देश एक साथ कोराना महामारी से जूझ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोराना के खिलाफ यदि ताली, थाली या घंटी बजी है या दीया जला है तो उसने भी लोगों को इस लड़ाई में एकजुट करने की भावना पैदा कर सबको एक साथ जोड़ा है।

कोरोना के खिलाफ जारी जंग को देखते हुए ऐसा लगता है, जैसा पूरा देश एक महायज्ञ कर रहा है। हर आदमी अपनी सामर्थ्य से इसका सामना कर रहा है। कोई किरायेदार से किराया नहीं वसूल रहा है, कोई अपनी पेंशन और जीवनभर की कमाई इस लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड में जमा कर रहा है। कोई मास्क बना रहा है तो कोई भंडारा लगा रहा है। यही उमड़ता भाव भारत की इस लड़ाई को आगे बढा रहा है और हर आदमी कोरोना को हराने में जुटा है। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि कुछ सालों से देश का हर नागरिक एक होकर ज्यादा उत्साह और जज्बे के साथ देश की सेवा करने में जुटे हैं। यह काम चाहे स्वच्छ भारत का हो या शौचालय बनाने का हो, सबने मिलकर इस काम को आगे बढ़ाया है।

25-04-2020
मेयर ने की पहल, जल्द खुलेगा बीएसपी का खुर्सीपार अस्पताल

भिलाई। भिलाई विधायक व महापौर देवेंद्र यादव ने जनता की मांग पर खुर्सीपार क्षेत्र के बीएसपी हॉस्पिटल को बंद कर दिया गया था। जिसे फिर से चालू करने के लिए महापौर देवेंद्र यादव ने बीएसपी प्रबंधन के साथ बैठक करके सार्थक चर्चा की और बीएसपी प्रबंधन से हॉस्पिटल को फिर से चालू करने के लिए कहा। जनता की मांग को देखते हुए महापौर देवेंद्र यादव की पहल पर हॉस्पिटल को एक-दो दिन के अंदर शुरू करने का बीएसपी प्रबंधन ने आश्वासन दिया है।
गौरतलब है कि कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से पूरे प्रदेश में लॉक डाउन कर दिया गया है। मेन पवार की कमी के कारण और खुर्सीपार हॉस्पिटल में मरीजों की भीड़ ना लगे इस लिए बीएसपी के खुर्सीपार स्थित हॉस्पिटल को बंद कर दिया गया। यहाँ के डॉक्टर और स्टॉफ की ड्यूटी क्वॉरेंटाइन में लगा दी गई। इस वजह से खुर्सीपार का हॉस्पिटल लॉक डाउन से बंद कर दिया गया, जिससे क्षेत्र के मरीजों को इलाज की पूरी सुविधा नहीं मिल पा रही है। बीते करीब 1 माह से महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता से रूबरू होकर उनकी समस्याओं को सुनकर उनका समाधान कर रहे है।

इसी कड़ी में कुछ दिनों पहले फेसबुक लाइफ पर खुर्सीपार क्षेत्र की जनता ने बीएसपी के हॉस्पिटल को शुरू करने की मांग की थी। जनता की मांग पर महापौर देवेंद्र यादव ने बीएसपी प्रबंधन से बैठक करके चर्चा की और हॉस्पिटल को शुरू करने के विषय पर प्रस्ताव रखा। जिस पर बीएसपी प्रबंधन ने आश्वासन दिया और आज कल में हॉस्पिटल शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद फिर पहले की तरह ही लोगों को चेकअप किया जा सकेगा। इस हॉस्पिटल में खुर्सीपार व छावनी के सभी वार्ड क्षेत्र के लोग इसी हॉस्पिटल में चेकअप कराते। यहा ओपीडी में मरीजों का चैकअप किया जाता है। बुखार,सर्दी खासी, उल्टी दस्त, आदि सामान्य बीमारी का यहा इलाज किया जाता है और कोई बड़ी बीमारी होने पर या बुखार ज्यादा होने पर मरीजों को सेक्टर 1 या सेक्टर 9 हॉस्पिटल रिफर किया जाता है। फिलहाल यह हॉस्पिटल बंद होने की वजह से लोगों अपनी सामान्य बीमारी का इलाज नहीं करा पा रहे थे। उन्हें बहुत परेशानी हो रही थी। अब परेशानी नहीं होगी।

23-04-2020
सायकल रैली निकालकर पुलिस ने जनता से की निर्देशों का पालन करने की अपील

बेमेतरा। जिला मुख्यालय में बुधवार की शाम कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर बेमेतरा पुलिस ने शहर में सायकल रैली निकालते हुए शासन के निर्देशों का कड़ाई से पालन करने नागरिकों से अपील की। पुलिस अधीक्षक दिव्यांग कुमार पटेल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल कुमार बैस के नेतृत्व में एसडीओपी बेमेतरा राजीव शर्मा, एसडीएम बेरला दुर्गेश वर्मा, प्रशिक्षु उप. पुलिस अधीक्षक तोमेश वर्मा व थाना सिटी कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राजेश मिश्रा, यातायात प्रभारी सउनि संतोष ध्रुर्वे एवं थाना सिटी कोतवाली स्टॉफ के द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर कोबिया चौक से पुराना बस स्डैण्ड, प्रताप चौक, नया बस स्टैण्ड, सदर बाजार, बाजारपारा, माता शीतला मंदिर सिंघौरी, गस्ती चौक होते हुए वापस कोबिया चौक में सायकल रैली का समापन हुआ।

पुलिस ने नोवल कोरोना वायरस से बचने के लिए सतर्कता बरतने की अपील करते हुए नागरिकों से कहा कि कोरोना वायरस विश्व में एक गंभीर बीमारी के रुप में उभर कर सामने आया है, इसलिए हमें कोरोना वायरस से सतर्क रहने के साथ-साथ अफवाहों से भी बचना है। रैली के दौरान पुलिस ने लोगों को अनावश्यक रूप से घरों से नहीं निकलने, भीड़-भाड़ वाले जगहों में जाने से बचने, समय-समय पर साबुन से हाथ धोने व सैनेटाइजर का इस्तेमाल करने, आवश्यक होने पर केवल एक ही व्यक्ति घर से मास्क लगाकर निकले व सोशल डिस्टेंसिंग में रहे तथा शासन के निर्देशों व लॉक डाउन का पूरी तरह पालन करने नागरिकों से अपील की।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804