GLIBS
29-07-2021
स्कूलों में दसवीं और बारहवीं की क्लासेस 2 अगस्त से,जिला शिक्षा अधिकारी ने नियमों का पालन करने के दिए निर्देश

धमतरी। प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग की ऑफलाइन क्लासेस प्रारंभ करने के लिए शर्तों के आधार पर अनुमति प्रदाय की गई है। जिला शिक्षा अधिकारी डॉ.रजनी नेल्सन ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग के तहत सभी निजी एवं शासकीय विद्यालयों में 10वी एवं 12वी की क्लासेस दो अगस्त से शुरू होंगी। स्कूलों में पहली से 5वी एवं 8वी की क्लास शुरू करने के संबंध में ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित ग्राम पंचायत तथा स्कूल की पालक समिति और शहरी क्षेत्रों में संबंधित वार्ड पार्षद एवं स्कूल की पालक समिति की अनुशंसा लेनी होगी। उनकी अनुशंसा मिलने पर ही दो अगस्त से स्कूल में पढ़ाई शुरू की जा सकती हैं। मिली जानकारी के मुताबिक ऐसे जिले, जहां कोरोना की पॉजिटिविटी दर सात दिनों तक एक प्रतिशत से कम हो, वहीं यह ऑफलाइन क्लासेस लगाईं जाएंगी।

शर्तों में यह भी बताया गया कि बच्चों को स्कूल में एक दिन के अंतर पर बुलाया जाए, याने हर रोज केवल आधी संख्या में ही बच्चे बुलाए जाएं। ऐसे बच्चे जिन्हें खांसी, सर्दी, बुखार इत्यादि हो, तो उन्हें क्लास में नहीं बैठाया जाए। यह भी बताया गया है कि ऑनलाइन क्लासेस पहले की तरह संचालित की जाती रहेंगी और किसी भी विद्यार्थी के लिए स्कूल में पढ़ने के लिए उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी। केन्द्र सरकार तथा राज्य सरकार ने समय-समय पर जारी कोरोना संक्रमण से बचाव के निर्देशों का पूरी तरह पालन सुनिश्चित करने भी निर्देश दिए  हैं। इसके अलावा सभी शिक्षण संस्थाओं के कमरों की साफ-सफाई सही तरीके से करने और उक्त निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने भी जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा है।

 

10-07-2021
जिला शिक्षा अधिकारी के निरीक्षण में नदारद मिले शिक्षक, प्राचार्य सहित 15 शिक्षक और कर्मचारियों को नोटिस जारी

अम्बिकापुर। जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. संजय गुहे ने शुक्रवार को अम्बिकापुर जनपद के विभिन्न विद्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 14 शिक्षक एवं कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। अनुपस्थित शिक्षक एवं कर्मचारी सहित एक प्राचार्य को भी कर्तव्य में लापरवाही के कारण कारण बताओ सूचना जारी किया गया। जिला शिक्षा अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय करजी में दोपहर 12 बजे तक व्याख्यता एलबी एएच मंसूरी,  विकास दुबे, दिव्या दुबे, सुजाता कुशवाहा, रूही कश्यप, पूजा शर्मा, संतोष सिंह, सहायक शिक्षक एलबी विरेन्द्र कुशवाहा, सहायक ग्रेड-02 हेमनारायण सिंह, सरोज तिर्की तथा स्वीपर निर्मला नायक अनुपस्थित थे। उन्हें कारण बताओ सूचना जारी किया गया। विद्यालय पर प्रशासनिक नियंत्रण नहीं होने तथा शिक्षकों को मनमाने रवैया के लिए प्रथम दृष्टया प्राचार्य को जिम्मेदार मानते हुए संस्था के प्राचार्य आरएल कश्यप को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। शासकीय प्राथमिक शाला करजी के निरीक्षण के दौरान सहायक शिक्षक प्रतिभा सिंह अनुपस्थित पाई गई। इसी प्रकार शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय करजी में भृत्य ज्वाला मुण्डा, अनिता भगत तथा बुढ़गी बाई बिना किसी सूचना के विद्यालय से लगातार अनुपस्थित पाए गए। अनुपस्थित शिक्षक एवं कर्मचारियों को कारण बताओ सूचना जारी किया गया।

08-06-2021
शिवसेना ने की निजी स्कूलों के फीस वृद्धि पर रोक लगाने की मांग, जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

रायपुर। कोरोना महामारी के कारण आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कोरोना संकटकाल में निजी स्कूलों की ओर से शिक्षा सत्र शुरू होने से पहले फीस में वृद्धि की गई है। इससे अभिभावकों में स्कूलों और शिक्षा विभाग के प्रति रोष है। शिवसेना ने निजी स्कूल प्रबंधकों के खिलाफ आवाज उठाई है। जिला अध्यक्ष शशांक देशमुख ने कहा कि स्कूल में फीस निर्धारण प्रक्रिया में विद्यालय प्रबंधन और अभिभावकों के आपसी परामर्श से फीस निर्धारित करने का नियम है लेकिन कई स्कूलों ने अपने लोगों को समिति में नियुक्त किया गया है और कई स्कूलों ने समिति का भी गठन नहीं किया गया है। निजी स्कूलों की ओर से अभिभावकों और शिक्षा विभाग को बिना सूचना दिए 15 से 20 फीसदी तक स्कूल फीस में वृद्धि कर दी गई है। जबकि कोरोना काल में स्कूलों में गतिविधिया पूरी तरह बंद है, ऑनलाइन क्लॉस के नाम पर पिछले वर्ष भी इन निजी स्कूलों ने लूट मचाई थी। शशांक ने कहा कि हमारे प्रदेश के निजी स्कूलों में नर्सरी और पहली कक्षा की फीस ही लाखों रूपए में है, जबकि ग्रेजुएशन और इंजीनियरिंग कॉलेजो की 30 से 70 हजार तक फीस है। उन्होंने कहा कि कोरोना की द्वितीय लहर में कई परिवारों की जमा पूंजी अस्पतालों में इलाज पर खर्च हो गई है, ऐसी स्थिति में कई परिवार आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। शिवसेना रायपुर जिलाध्यक्ष शशांक देशमुख (सन्नी) के नेतृत्व में शिवसैनिकों ने जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा को निजी स्कूलों की फीस में की गई वृद्धि पर रोक लगाने की मांग पर ज्ञापन सौंपा। शिवसेना रायपुर जिला इकाई द्वारा मांग की गई कि कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए निजी स्कूलों की गई फीस वृद्धि पर तत्काल रोक लगाते हुए स्कूलों के समिति की उचित जांच कर दोषियों पर कारवाई की जाए। शिवसेना ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ज्ञापन सौंपा। इसमें प्रमुख रूप से जिला अध्यक्ष शशांक देशमुख (सन्नी), एचएन पलिवार, सूरज साहू, राहुल सोनवानी, चन्द्रकान्त वर्मा, राज वर्मा, संतोष मारकंडे, प्रकाश यादव, विक्की निर्मालकर, त्रिलोकी यादव, कैलाश साहू, मो. आकिब खान, महावीर, नेहा तिवारी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

05-04-2021
जिला शिक्षा अधिकारी और फर्मो के खिलाफ भाजपा ने एफआईआर के लिए दिया आवेदन

कोंडागांव। जिले के अंतर्गत आने वाले सभी प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक अनुदान की प्राप्त राशि में फर्जी तरीके से तीन फोटो का एक सेट बना कर व्यापक पैमाने पर फर्जीवाड़ा करने का मामला प्रकाश में आया है। सप्लायरों ने तीन फोटो का एक सेट बनाया है जिसमे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम और महामहिम राज्यपाल अनसुइया उइके के छाया चित्र लगे हैं। जिसकी बाजार में अधिकतम कीमत 300 रु है उसकी सप्लाई कर दबाव पूर्वक नगद रूप से 4900 रु की मांग की जा रही है। शिक्षक उच्च अधिकारियों के दबाव के चलते भुगतान करने को मजबूर है,लेकिन जब यह बात मीडिया में आई तो जिला शिक्षा अधिकारी ने आनन फानन में एक आदेश जारी कर दिया कि भुगतान फर्मो को ना किया जाए, अब इस मामले में देखने वाली बात यह है कि जिन-जिन विद्यालयों ने भुगतान कर दिया है उसकी भरपाई कौन करेगा? कौन है इसका जिम्मेदार? यह एक जांच का विषय है कि किसके इशारे पर यह फर्जीवाड़ा किया गया। भाजपाईयो ने इस फर्जीवाड़े को लेकर आज थाने में एफआईआर दर्ज कराने एसडीओपी पुलिस को आवेदन सौंपा जिसमे जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा और फोटो सप्लाई की हुई रायपुर की फर्म विनायक इंटरप्राइजेज और आदित्य इंटरप्राइजेस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने आवेदन दिया गया है। भाजपा मंडल अध्यक्ष रामेश्वर उसेंडी, पूर्व विधायक सेवक राम नेताम, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अनिता नेताम, किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष अंजोरी नेताम, मंडल महामंत्री नवदीप सोनी,केशकाल मंडल मीडिया प्रभारी गिरीश जोशी इस अवसर पर उपस्थित थे।

26-02-2021
दो शिक्षकों का अटैचमेंट समाप्त कर मूल स्कूल में किया गया पदस्थ, जिला शिक्षा अधिकारी ने जारी किया आदेश 

रायपुर। मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया ने अपने विधानसभा क्षेत्र आरंग के ग्राम तुलसी में संचालित हाई स्कूल में पदस्थ दो शिक्षकों के अन्यत्र अटैचमेंट पर नाराजगी जाहिर की। तत्काल उनका अटैचमेंट समाप्त कर मूल शाला में पदस्थ करने के निर्देश दिए। जिला शिक्षा अधिकारी रायपुर ने तत्काल दोनों शिक्षकों का अटैचमेंट समाप्त करने का आदेश जारी किया है। उन्हें मूल शाला में पदस्थ कर दिया गया है। मंत्री डॉ. डहरिया की इस पहल पर ग्राम तुलसी के ग्रामीणों ने मंत्री के प्रति आभार जताया है। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. डहरिया ने ग्राम तुलसी में 73 लाख की लागत से नवनिर्मित हाई स्कूल भवन का लोकार्पण किया है। इससे इस क्षेत्र के विद्यार्थियों को लाइट, पंखे के साथ नए भवन में बैठने की सुविधा मिली है। जर्जर भवन में बैठने की समस्या दूर हो गई है। इस विद्यालय में पदस्थ शिक्षक योगेश कुमार शुक्ला, व्याख्याता (एल.बी.) का अटैचमेंट हाई स्कूल डुंडा और शिक्षिका मेनका नारंग, व्याख्याता (एलबी) का अटैचमेंट सेरीखेड़ी में किया गया था। इस संबंध में शिकायत मंत्री डॉ. डहरिया के पास पहुंची। उन्होंने तत्काल इस संबंध में कार्यवाही करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा ने तत्काल  कार्यवाही कर दोनों शिक्षकों का अटैचमेंट समाप्त करते हुए मूल विद्यालय ग्राम तुलसी में पदस्थ कर दिया है। मंत्री डॉ. डहरिया ने यहां पुराने भवन से नए भवन में स्कूल संचालन करने और विद्यार्थियों की समस्याओं को दूर करने के भी निर्देश दिए हैं।

15-02-2021
जिला शिक्षा अधिकारी ने किया स्कूलों का निरीक्षण,अनुपस्थितों को जारी किया कारण बताओ नोटिस

धमतरी। जिला शिक्षा अधिकारी रजनी नेल्सन ने जिले के विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय नगरी सहित विभिन्न स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय नगरी के निरीक्षण के दौरान वहां के अभिलेखों का अवलोकन किया। साथ ही कार्य में लापरवाही बरतने पर सहायक ग्रेड-3 भरत मरकाम और दो दिनों से बिना सूचना के अनुपस्थित पाए जाने पर सहायक ग्रेड 3 शत्रुघन मरकाम को कारण बताओ नोटिस जारी किया।
इसके बाद वे हायर सेकेण्डरी स्कूल दुगली का निरीक्षण कर वहां के प्राचार्य सहित चार व्याख्याता एलबी और एक सहायक शिक्षक एलबी को कारण बताओ नोटिस जारी किया तथा एक व्याख्याता एलबी का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। दरअसल हायर सेकेण्डरी स्कूल दुगली की प्राचार्य प्रभा ठाकुर अनुपस्थित रहीं। वहीं व्याख्याता एलबी ललित कुमार सोम, जीके नाग, एके ग्वाल, भावना सोरी और सहायक शिक्षक एलबी इंद्राणी देवांगन द्वारा विद्यार्थियों को उपस्थिति दर्ज कर कक्षा संचालन नहीं किया गया। साथ ही व्याख्याता एलबी मोहन कुमार चौरसिया ने 10 फरवरी से बिना अवकाश स्वीकृति अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित रहे। इसके मद्देनजर उक्त निर्देश दिए गए।

शासकीय हाईस्कूल गुहाननाला के निरीक्षण के दौरान यहां नवमीं एवं दसवीं के विद्यार्थी अध्ययनरत पाए गए। कुछ विद्यार्थियों द्वारा मास्क नहीं लगाए जाने पर, उन्हें कोविड-19 के नियमों का पालन करने की समझाईश देते हुए मास्क लगाने की हिदायत दी गई।जिला शिक्षा अधिकारी ने 15 फरवरी को धमतरी विकासखण्ड के शासकीय हाईस्कूल कोलियारी एवं कलारतराई का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि 15 फरवरी से स्कूल संचालित करने की सूचना जिले में स्कूलों को दे दी गई थी। इसके बावजूद स्कूल संचालन के पूर्व उसकी साफ-सफाई, अन्य व्यवस्था सहित कोविड 19 के नियमों का पालन शासकीय हाईस्कूल कोलियारी में नहीं किया गया। इसके मद्देनजर प्राचार्य, शासकीय हाईस्कूल कोलियारी शिवभूषण सिंह मरकाम को कारण बताओ नोटिस जारी किया। साथ ही सौंपे गए दायित्वों में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने के कारण शासकीय हाईस्कूल कलारतराई के प्रभारी प्राचार्य नरेश कुमार साहू को एक दिन का वेतन काटने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी ने दिया।

 

23-01-2021
इंग्लिश मीडियम स्कूल के लिए डेमो व वाॅक इन इंटरव्यू 28 से

रायपुर/महासमुन्द। स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के लिए अंग्रेजी/हिन्दी माध्यम के कुल 16 पदों के लिए संविदा भर्ती किए जाने हैं। ईच्छुक पात्र आवेदकों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि दस्तावेजों का सत्यापन, डेमों एवं वाॅक इन इन्टरव्यू 28 व 30 जनवरी और  3 व 5 फरवरी 2021 को होंगे। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि 16 पदों की न्यूनतम अर्हताएं एवं आवेदन का प्रारूप के साथ ही नियम एवं शर्तों के लिए जिले की वेबसाईट www.mahasamund.gov.in पर उपलब्ध हैं, जिसका अवलोकन किया जा सकता है।

 

28-12-2020
नियमित परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा आवेदन फॉर्म भरने की तिथि 31 दिसम्बर तक

कोरिया। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि हाईस्कूल, हायर सेकेण्ड्री, व्यावसायिक परीक्षा सत्र 2020-21 के लिये नियमित परीक्षार्थियों से परीक्षा आवेदन फार्म भरवाने एवं कक्षा 9वीं के परीक्षार्थियों के पंजीयन के लिये शुल्क सहित भरवाये जाने की अंतिम तिथि कोविड-19 के संकमण को दृष्टिगत रखकर 31 दिसंबर तक वृद्धि की गई है। इसमें कक्षा 9वीं के परीक्षार्थियों का पंजीयन भी होगा। इस संबंध में उन्होंने जिले के समस्त प्राचार्यों को पत्र जारी कर कहा है कि प्राचार्य संस्थागत कक्षा 10वीं एवं कक्षा 12वीं के समस्त छात्र-छात्राओं का परीक्षा फार्म निर्धारित तिथि तक अनिवार्य रुप से भरवाने की कार्यवाही करें तथा कक्षा 9वीं के परीक्षार्थियों का पंजीयन भी अनिवार्य रुप से निर्धारित तिथि तक पूर्ण करायें।
निर्धारित तिथि तक कोई भी छात्र-छात्राएं परीक्षा फार्म भरने से वंचित न रहें। परीक्षार्थी को 06 एसाईनमेंट में से 04 एसाईनमेंट जमा करना अनिवार्य होगा, जिनका 04 एसाईनमेंट जमा होगा, वे ही परीक्षा में बैठने के लिए पात्र माने जावेंगे। जो अबतक एसाइनमेंट जमा नही कर सके हैं, वे अब भी अनिवार्य रुप से जमा करें। एसाईनमेंट के 30 प्रतिशत अंक मुख्य परीक्षा के अंकों में जुडेंगे। परीक्षार्थियों को परीक्षा फार्म भरने से वंचित होने पर संबंधित प्राचार्य व्यक्तिगत रुप से जिम्मेदार होंगे। कोविड-19 से सुरक्षात्मक उपायों को ध्यान में रखकर सभी परीक्षार्थियों का प्रायोगिक परीक्षा माह फरवरी 2021 में सम्पन्न होगा, जिसका निर्देश बोर्ड द्वारा अलग से जारी किया जावेगा। जिन विद्यालयों के द्वारा परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया गया है, उन्हें यथाशीघ्र अपनी संस्था के कक्षा 10वीं, 12वीं के परीक्षार्थियों का परीक्षा शुल्क माशिमं में 31 दिसंब 2020 तक जमा करने निर्देशित किया गया है।

15-12-2020
सुकमा में पढ़ना लिखना अभियान के क्रियान्वयन के लिए कार्यशाला सम्पन्न

रायपुर/सुकमा। पढ़ना लिखना अभियान के क्रियान्वयन के लिए कार्यशाला का आयोजन सम्पन्न हुई। कलेक्टर व कार्यकारिणी अध्यक्ष जिला साक्षरता मिशन प्राधिकरण सुकमा के दिशानिर्देशन व राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण रायपुर छग के मार्गदर्शन में कोविड-19 के नियमों को ध्यान में रखते हुए केन्द्र प्रवर्तित कार्यक्रम पढ़ना लिखना अभियान के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन और लक्ष्य प्राप्ति के लिए रिसोर्स पर्सन के ऑनलाइन प्रशिक्षिण के पश्चात् निरक्षक व चिन्हांकनकर्ता दल का एक दिवसीय प्रशिक्षण ब्लॉक मुख्यालय में विकासखंड शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में सुकमा, कोंटा, छिन्दगढ़ में सम्पन्न हुई। जिला शिक्षा अधिकारी एवं सदस्य सचिव जिला साक्षरता मिशन नेे बताया की केन्द्र प्रवर्तित ‘‘पढ़ना लिखना अभियान‘‘ के तहत जिला सुकमा को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 9000 असाक्षर जिसमें 75 प्रतिशत महिला एवं 25 प्रतिशत पुरूष वर्ग के असाक्षरों को साक्षर करने का लक्ष्य प्रदान किया हैं।

आगामी पांच वर्षों में शेष बचे हुए असाक्षरों को साक्षर किया जाना है। जिला सुकमा अंतर्गत वर्तमान में 48 ग्राम पंचायत में कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया जाना है। इसमें निरक्षर व्यक्तियों (15़आयु वर्ग) का पहचान कर कार्यक्रम के अंतर्गत आने वाले प्रत्येक लाभार्थी के आधार विवरण सहित जानकारी एकत्रित की जानी है। पूरे प्रदेश भर के सभी जिलो में 14 से 19 दिसम्बर 2020 के बीच एक साथ चयनित ग्राम पंचायत और वार्ड में असाक्षरों का चिन्हांकन कराया जाना हैं। इसी अनुक्रम में सहयोगी दलों का गठन, स्वयंसेवी शिक्षकों का चिन्हांकन, वातावरण निर्माण के लिए नारा लेखन इत्यादि कार्य की तैयारी भी की जानी है। इस कार्य के लिए स्वयं सेवी शिक्षकों को भी अभिप्रेरित किया जाना है। पढ़ना लिखना अभियान के लिए प्रशिक्षण सामग्री का निर्माण राज्य स्तर पर की जा रही है। इस अभियान के तहत् जिले के तीनों विकासखंड के असाक्षरों को आगामी 5 वर्षों में साक्षर किया जाएगा। इसी क्रम में इस वर्ष 9000 असाक्षरों को स्वयंसेवी शिक्षकों द्वारा 120 घंटे की पढ़ाई पूरी कराकर साक्षर बनाया जाएगा।

02-11-2020
जिला शिक्षा अधिकारी को हाईकोर्ट ने दिया अवमानना का नोटिस

रायपुर/बिलासपुर। ​हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी शासकीय शिक्षक को समयमान वेतनमान का लाभ नहीं देने को लेकर दायर अवमानना याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने बलौदाबाजार के जिला शिक्षा अधिकारी को अवमानना का नोटिस जारी किया है। गौरतलब है कि बलौदाबाजार जिले के रामकुमार ध्रुव शासकीय विद्यालय में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं। शासन के आदेश के बाद भी उन्हें उच्च वेतनमान नहीं मिल रहा था। इस संबंध में उन्होंने विभाग के अफसरों के समक्ष आवेदन पत्र प्रस्तुत किया।

फिर भी कोई पहल नहीं की गई। इस पर उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर की।बीते जनवरी माह में सुनवाई के बाद 60 दिनों के भीतर विभाग को मामले का निराकरण करने का आदेश दिया था। लेकिन निर्धारित समय के बाद भी विभाग ने उनके अभ्यावेदन का निराकरण नहीं किया। इस पर याचिकाकर्ता ने अपने वकील दीपाली पांडेय व अतुल पांडेय के माध्यम से अवमानना याचिका दायर कर दी। जस्टिस गौतम भादुड़ी की एकलपीठ ने मामले की प्रारंभिक सुनवाई के बाद बलौदाबजार के जिला शिक्षा अधिकारी सीएस ध्रुव को न्यायालय की अवमानना नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

19-10-2020
शासकीय कार्यालय में शराबखोरी की शिकायत, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश

कोंडागांव। शासकीय कार्यालय में देर रात तक शराब पीने का मामला सामने आया है। कुछ कर्मचारियों पर कार्यालय समय के बाद देर रात तक शासकीय कार्यालय में शराबखोरी करने की शिकायत आई थी। शराबखोरी की शिकायत पर कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। इस पर जांच करते अवैध रूप से मदिरापान करने वाले कर्मचारियों की पहचान कर उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। वरिष्ठ अधिकारी को कार्रवाई सुनिश्चित कर कलेक्टर को अवगत कराने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही मामले पर जिला शिक्षा अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई के लिए पत्र दिया गया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804