GLIBS
19-12-2020
कार्यकर्ता सम्मेलन में महेश गागड़ा ने कांग्रेस सरकार की नाकामियों का गिनाया

बीजापुर। भारतीय जनता पार्टी जिला बीजापुर का बूथ और मण्डल स्तरीय की दो दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन, कार्यशाला तेलंगाना के ग्राम मेडारम के प्रांगण में हुआ। इसमें मुख्य वक्ता पूर्व मंत्री महेश गागड़ा,जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार,जिला उपाध्यक्ष घासीराम नाग ने पार्टी को मजबूती देने के साथ अंतिम छोर के व्यक्ति को जोड़ने तथा जनता को केंद्र की विभिन्न योजनाओं की लाभ दिलाने के साथ राज्य की कांग्रेस सरकार की नाकामी को खरी खोटी सुनाते हुए कार्यकर्ता सम्मेलन शिविर में जमकर वक्तव्य दिए।  कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री गागड़ा ने वर्तमान सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि प्रदेश की भूपेश सरकार जनता के साथ धोखा किया है। रोजगार और विकास की बात झूठ बोलकर सत्ता में आई और वादे से मुकर गई।

किसानों को धान का समर्थन मूल्य देने की बात करने वाली सरकार पिछले वर्ष का बकाया आज पर्यंत तक नही दे सकी है, सरकार का समर्थन मूल्य सिर्फ बड़े बड़े होर्डिंग्स में देखने को मिलता है धरातल पर शून्य है। सरकार की तमाम विफलता को लेक़र प्रत्येक कार्यकर्ता जनता के बीच जाकर बतायें सरकार ने धोखा किया है। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीनिवास के साथ बीजापुर जिले के समस्त पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि सहित जिले के सभी भैरमगढ़ मंडल,कुटरू मंडल,बीजापुर मंडल,उसुर मंडल, भोपालपटनम मंडल स्तरीय  पदाधिकारीगण समेत बूथ स्तरीय के 1200 से अधिक भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए। 

23-09-2020
सिर्फ दंतेवाड़ा तक नहीं पूरे प्रदेश में पीडीएस घोटाला और हेरा फेरी चल रही : महेश गागड़ा 

रायपुर। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने प्रदेश सरकार के संरक्षण में पूरे प्रदेश में पीडीएस घोटाले और हेरा फेरी का आरोप लगाया हैं। उन्होंने कहा है कि, दंतेवाड़ा के कटेकल्याण और गुड़से से पीडीएस चावल की हेरा फेरी का मामला प्रदेश सरकार की कथनी और करनी के फर्क को उजागर करता है। एक तरफ यह सरकार आदिवासियों का हितैषी होने का ढोंग करती हैं और दूसरी ओर सरकार के नाक के नीचे खुलेआम आदिवासियों के पीडीएस चावल को हड़पने का खुला खेल चल रहा हैं। उन्होंने कहा कि, कोरोना संकट के समय में आदिवासी क्षेत्र से पीडीएस चावल की हेराफेरी अफरा-तफरी की घटना का सामने आना प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर न सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं, अपितु कांग्रेस सरकार के जल जंगल जमीन की रखवाली के ढोल की पोल खोलता है। ऐसी असंवेदनशील सरकार में आदिवासियों का चावल हड़प लिया जाता हैं। यह कड़वी मगर भूपेश सरकार के कार्यपद्धति की सच्चाई हैं। 
उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार के पौने दो वर्ष के छोटे से कार्यकाल में पीडीएस चावल की हेरफेर और हड़प नीति का यह कोई पहला मामला नहीं हैं। इससे पूर्व भी जबसे कांग्रेस के हाथ में प्रदेश की बागडोर हैं। ऐसे पीडीएस चावल हड़पने के मामले लगातार सामने आते रहे हैं। दुर्भग्यपूर्ण हैं कि किसी भी मामले में यह सरकार गंभीर नहीं दिखी और न ही कोई कार्रवाई हुई। पूर्व मंत्री गागड़ा ने कहा कि कांग्रेस के नेता और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जब विपक्ष में थे तो पीडीएस के चावल के नाम पर खूब मगरमच्छ के आंसू बहाते थे। विपक्ष से सत्ता प्राप्ति करने तक भाजपा नेताओं पर झूठे और बेगुनियाद आरोप लगा राजनीतिक रोटी सेकते थे ।आज जब इनके सरकार में इन्हीं के नाक के नीचे आदिवासियों का चावल हड़पा जा रहा तब शायद सेकी हुई राजनीतिक रोटी मुंह में स्वाद दे रही होगी। इसलिए जुबां नहीं खोल रहे हैं। यह दुर्भग्यपूर्ण और निंदनीय हैं। गागड़ा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से इस विषय पर संवेदनशीलता के साथ शीघ्र कार्रवाई करने की मांग की हैं। प्रदेशभर में पीडीएस वितरण की समीक्षा कर गड़बड़ियों को दूर करने और पारदर्शिता बढ़ाने की मांग की हैं।

22-08-2020
पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने बाढ़ पीड़ित परिवारों को बांटी राहत सामग्री

बीजापुर। जिले में लगातार बारिश के चलते नदी नाले उफान पर है, वंही भारी बारिश के चलते अंदरूनी क्षेत्रो में बाढ़ जैसे हालात निर्मित हो गए हैं।  बाढ़ से प्रभाभित हुए ग्रामीणों को मदद पहुंचाने के कार्य मे पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा लगातार प्रयास में है। बाढ़ के पहले दिन से ही जिले के बाढ़ प्रभाभित क्षेत्र कोमला, तुमला, झाडीगुट्टा, मिनगाचल, मद्देड, भोपालपटनम का दौरा कर रहे है। ग्रामीणों का हाल चाल जानने के साथ जरूरत का समान भी वितरण कर रहे हैं।

कल बीजापुर के भैरमगढ़ विकासखंड के छोटे पोटेनार,जैगुर में बाढ़ से प्रभावित लोगों के मौजूद होने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा ने भैरमगढ़ विकासखंड के छोटे पोटेनार में 92 परिवार व जैगुर में 100 तथा कोमपल्ली में 5 परिवारों को राहत सामग्री बांटी। महिलाओं, बुजुर्गों व बच्चों को शर्ट, पेंट, फ्रॉक, शाल, कम्बल, साड़ी और मच्छरदानी का वितरण किया। वहीं चेरपाल कोटेर में भी कम्बल साड़ी का वितरण किया गया। छोटे पोटेनार में मूड़ा राम मण्डल अध्यक्ष कुटरू ,लालूराम पोडियामी, जितेंद्र लेकाम, सुदराम पोयम,आयतु माड़वी, बुधराम कवासी, चिन्नाराम तेलम, जैगुर में गुट्टाराम मण्डल अध्यक्ष भैरमगढ़, हरीश निषाद, बलदेव उरसा, चैतराम लेकाम उपस्थित रहे।

19-08-2020
बाढ़ पीड़ित परिवारों से मिले पूर्व मंत्री महेश गागड़ा,हरसंभव मदद का दिया भरोसा

बीजापुर। जिले 10 दिनों से लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। भारी बारिश के चलते नदी नाले उफान पर आने से बाढ़ जैसे हालात हो गए है। नदी नाले का पानी गांव में घुसने की वजह से पूरा गांव टापू में तब्दील हो गया। कई घरों को आंशिक रूप से नुकसान हुआ तो कई घर पूरी तरह से बर्बाद हो गए। कई ग्रामों के ग्रामीण बेघर और बेसहारा हो गए। जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन की रेस्क्यू टीम ग्रामीणों को रेस्क्यू कर आश्रम शालाओं में सुरक्षित पंहुचाया और हरसभंव मदद करने का भरोसा दिया।भारी बारिश की वजह से जिले के ग्राम पंचायत गुदमा के आश्रित गांव झाड़ी गुट्टा में भी भारी नुकसान हुआ था,जिसकी खबर मिलते ही पूर्व मंत्री महेश गागड़ा पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे। महेश गागड़ा बाढ़ पीड़ित जनता से रूबरू होने के साथ ग्रामीणों से हालचाल जाना। वही ग्रामीणों को दैनिक उपयोगी समान जैसे कम्बल,साड़िया, गमछे,लुंगी टीशर्ट,जींस,साल एवं बच्चों को फ्रॉक बांटा। झाडीगुट्टा बालक आश्रम पहुँच आश्रित ग्रामीणों से मुलाकात कर हरसभंव

मदद करने की बात कही। उसके बाद बाढ़ प्रभावित गांव कोमला पहुंच कर पूर्व मंत्री महेश गागड़ा,भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने बाढ़ पीड़ित परिवारों से रूबरू होने के साथ वहां भी जरूरत की सामग्री बांटा। पूर्व मंत्री ने कहा में इस दुख की घड़ी में आपके साथ खड़ा हूँ और में आपका हरसंभव मदद करूंगा। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की तूफानी दौरा के दौरान पूर्व मंत्री महेश गागड़ा तुमला पंहुचे। तुमला ग्राम में बाढ़ पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर हालचाल जाना। वहां भी भाजपा नेताओं ने दैनिक उपयोगी सामान बांटा। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने जनता को आश्वासन देते हुए कहा में भी आपके बीच का हूँ और हरसंभव मदद करने के लिए तत्पर हूं। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार,जिला महामंत्री गोपाल पवार,अरविंद पुजारी मौजूद थे।

10-08-2020
आदिवासियों के पिछड़ेपन की जिम्मेदार कांग्रेस को अनर्गल प्रलाप शोभा नहीं देता : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने कांग्रेस नेताओं के आदिवासियों के लिए बहाए जा रहे घड़ियाली आँसुओं पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि जिस कांग्रेस ने आदिवासियों को पिछड़ेपन और भुखमरी से उबरने नहीं दिया, उसे आदिवासियों के नाम पर अनर्गल प्रलाप करना शोभा नहीं देता। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय पर तानाकशी करने से पहले कांग्रेस के लोग अपना दामन झाँक लें तो उनकी करतूतें आसमान को भी रोने के लिए मजबूर कर देंगीं।गागड़ा ने कहा कि कांग्रेस के लोगों को अपने शासनकाल को नहीं भूलना चाहिए जब बस्तर से लेकर सरगुजा तक आदिवासी मूलभूत सुविधाओं रोटी, कपड़ा, मकान, बेहत शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा तक के मोहताज बनाकर रखे गए थे। अन्याय की पराकाष्ठा करने वाले कांग्रेस के सत्ताधीश आज भाजपा पर किस मुँह से आक्षेप कर रहे हैं जबकि कांग्रेस की मौजूदा प्रदेश सरकार भी आदिवासियों के साथ छल-कपट का व्यवहार कर रही है।

गागड़ा ने कहा कि आदिवासियों की धार्मिक भावनाओं के साथ हो रहे शर्मनाक खिलवाड़ तक को नहीं रोक पाने वाले कांग्रेस के नेता पहले यह बताएँ कि पिछले दो साल से आदिवासी तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस अब तक क्यों नहीं मिला? इन आदिवासी संग्राहकों के वृद्ध लोगों की पेंशन और बच्चों की छात्रवृत्ति पिछले दो साल से क्यों रोक दी गई है? तेंदूपत्ता संग्राहकों के लिए नई बीमा योजना की नौटंकी रचकर आदिवासियों को भरमाने में जुटी कांग्रेस की प्रदेश सरकार ने पहले से चल रही बीमा योजना का समय पर नवीनीकरण क्यों नहीं कराया? कांग्रेस नेता आदिवासियों के विकास के लिए भाजपा की तारीफ भले न करें पर झूठ बोलने से बेहतर यही है कि वे चुप तो रह ही सकते हैं।

 

22-07-2020
पूर्व मंत्री का आरोप, लीपापोती के प्रयासों के कारण अब बीटगार्ड को ही कार्रवाई की जद में लाने की कोशिश

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने कटघोरा के बांकीमोगरा क्षेत्र के हल्दीबाड़ी में बाँस की अवैध कटाई के हाल ही सामने आए चर्चित मामले में रेंजर और डिप्टी रेंजर को बचाने के लिए आला अफसरों की लॉबी के सक्रिय हो जाने का आरोप लगााया है। गागड़ा ने कहा कि अवैध कटाई में अधिकारियों की संलिप्तता जाहिर होने के बाद विभागीय तौर पर किए जा रहे लीपापोती के प्रयासों के कारण अब वनरक्षक (बीटगार्ड) को ही कार्रवाई की जद में लाने की कोशिशें जोर-शोर से चल रही हैं।

इससे यह आशंका बलवती हो रही है कि सचमुच दाल में कुछ-न-कुछ काला है। गागड़ा ने कहा कि अपना काम पूरे साहस और ईमानदारी से करने वाले जिस बीटगार्ड को सम्मानित व पुरस्कृत करना चाहिए था, उस पर कार्रवाई की चल रहीं कोशिशें इस बात की तस्दीक कर रही हैं कि अवैध कटाई के इस मामले के सामने आने के बाद विभाग के बड़े अधिकारियों और मंत्रियों के होश उड़े हुए हैं और अब कार्रवाई का भय दिखाकर बीटगार्ड का मुँह बंद करने की कवायद चल रही है। इस मामले में डीएफओ के बयान को हास्यास्पद बताते हुए गागड़ा ने पूछा कि 359 हरे बाँस गलती से कटने की बात कहकर डीएफओ आखिर किसे बचाने में लगी हैं, क्योंकि जो रेंजर-डिप्टी रेंजर वहाँ बाँस कटवा रहे थे, वे कह रहे हैं कि विभागीय काम के लिए बाँस कटवाए जा रहे थे। हरे बाँस गल्ती से और वह भी इतनी संख्या में कैसे कट गए?

20-07-2020
गागड़ा ने कहा - प्रदेश सरकार पता लगाए, प्रतिबंधित वन क्षेत्र में अधिकारी किसके इशारों पर अवैध कटाई कराने पहुँचे थे?

रायपुर। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने कटघोरा वनमंडल के बांकीमोंगरा हल्दीबाड़ी के रिजर्व फॉरेस्ट क्षेत्र में अवैध बाँस कटाई को लेकर वनरक्षक (बीटगार्ड) द्वारा अपने अधिकारियों रेंजर, डिप्टी रेंजर समेत 11 लोगों  के खिलाफ बनाए गए मामले को साहसपूर्ण कार्य बताकर वनरक्षक को उसके इस कार्य के लिए पुरस्कृत करने की मांग प्रदेश सरकार से की है। गागड़ा ने आरक्षित वन क्षेत्र में इस तरह की अवैध कटाई को चिंताजनक बताते हुए अवैध कटाई के इस मामले की उच्चस्तरीय और निष्पक्ष जाँच की मांग भी की है।
महेश गागड़ा ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश में वनों की सुरक्षा के लिए बनाए गए नियम-कानूनों की धज्जियाँ खुद वे अफसर सरेआम उड़ा रहे हैं, जिन पर इन कानूनों का पालन करने और कराने की जिम्मेदारी है। यह काफी गंभीर मामला है कि रेंजर ने इसमें डीएफओ को भी शामिल बताया है। इस मामले से जुड़े वायरल हुए एक वीडियो क्लिप के हवाले से बताया गया है कि जिस क्षेत्र में बाँस की अवैध कटाई का यह मामला सामने आया है, वहाँ बिना अनुमति कटाई-सफाई का काम प्रतिबंधित है, बावजूद इसके रेंजर व डिप्टी रेंजर के कहने पर यह कटाई होने की बात सामने आई है। कुछ श्रमिकों को इस काम में लगा देखकर बीटगार्ड ने यह गडबड़ी पकड़ ली।

गागड़ा ने कहा कि वनों की सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे कर रही प्रदेश सरकार अपनी नाक के नीचे विभागीय अधिकारियों की शह पर हो रही अवैध कटाई को रोक पाने में विफल साबित हो रही है, यह स्थिति शर्मनाक है। प्रदेश सरकार अब पता लगाए कि प्रतिबंधित वन क्षेत्र में अधिकारी किसके इशारों पर यह अवैध कटाई कराने पहुँचे थे? डीएफओ समेत संलिप्तता के आरोपियों पर कारगर कार्रवाई की मांग करते हुए गागड़ा ने कहा कि प्रदेश सरकार साहसिक कार्य करने वाले वनरक्षक को पुरस्कृत कर उसके और उस जैसे अन्य युवा कर्मचारियों के जज्बे व हौसले का सम्मान करे, ताकि प्रदेश की वन-संपदा को सुरक्षित रखकर छत्तीसगढ़ को पर्यावरण के संकट से मुक्त रखा जा सके।

19-07-2020
भोपालपटनम मुस्लिम समाज के अध्यक्ष अमीर खान भाजपा में शामिल

बीजापुर। जिले के भोपालपटनम मुस्लिम समाज के सदर(अध्यक्ष) अमीर खान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं पूर्व विधायक के कार्यों से प्रभावित होकर रविवार को पूर्व मंत्री महेश गागड़ा के समक्ष पार्टी के सदस्यों के बीच भाजपा पार्टी में शामिल हो गए हैं। भाजपा सदस्यों एवं गागड़ा ने उनका स्वागत किया।

19-06-2020
भोपालपटनम दौरे के बाद आवापल्ली पहुंचे महेश गागड़ा

बीजापुर। भोपालपटनम के तीन दिवसीय दौरे के बाद छत्तीसगढ़ भाजपा के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री महेश गागड़ा एवं भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार मोदी सरकार 2.0 की ऐतिहासिक उपलब्धियां एवं योजनाओं को लेकर उसूर ब्लॉक के आवापल्ली क्षेत्र पहुंचे। क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य जानकी कोरसा (पिंकी) के साथ सोशल डिस्टेंस का पालन कर आवापल्ली भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक ली। केन्द्र की मोदी सरकार 2.0 का ऐतिहासिक उपलब्धियां एवं योजनाओं को जनता तक पहुंचाने का अपील किया। जिला भाजपा नेत्री क्षेत्र की जिला पंचायत सदस्य जानकी कोरसा (पिंकी) की मौजूदगी में आवापल्ली में भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार के साथ छत्तीसगढ़ भाजपा के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री महेश गागड़ा सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए जनसंपर्क किया।

मोदी सरकार 2.0 की ऐतिहासिक उपलब्धियां एवं योजनाओं के बारे में आवापल्ली की जनता को जानकारी दी। इस जनसंपर्क अभियान के दौरान पूर्व मंत्री महेश गागड़ा एवं जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार के साथ जिला पंचायत सदस्य जानकी कोरसा (पिंकी), जिला भाजपा नेता घासी राम नाग, जिला महामंत्री गोपाल सिंह पवार, इकबाल खान, भाजपा मीडिया प्रभारी अरविंद पुजारी, पालिका पार्षद संजय गुप्ता, जनपद सदस्य प्रवीण पोंदी, आवापल्ली मंडल अध्यक्ष नीलकंठ काकेम, मंडल युवा मोर्चा के तीरथ कुमार एवं भाजपा के कार्यकर्ता गण उपस्थित रहे।

12-06-2020
महेश गागड़ा ने कहा, हाथियों की असमय मौत चिंताजनक, जाँच समिति निश्चित समय-सीमा में रिपोर्ट पेश करे

रायपुर। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने प्रदेश के सरगुजा संभाग में हाल में तीन हाथियों की मौत को लेकर सरकार और वन मंत्रालय की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। सूरजपुर और बलरामपुर इलाके में तीन दिनों के भीतर तीन हाथियों की मौत पर चिंता व्यक्त करते हुए गागड़ा ने कहा कि हाथियों की मौत किन परिस्थितियों में हुई, इसकी उच्चस्तरीय जांच की जानी चाहिए। गागड़ा ने कहा कि इस जाँच समिति को एक निश्चित समय-सीमा में अपनी रिपोर्ट पेश करने को कहा जाए क्योंकि प्रदेश सरकार ने इससे पहले जितनी भी जाँच समितियाँ और एसआईटी गठित की है, अब तक के 18 माह के कार्यकाल में एक भी मामले की जाँच रिपोर्ट सामने नहीं आई है। हाथियों की असमय मौत चिंताजनक है।गागड़ा ने कहा कि इनमें एक मादा हाथी 22 माह की गर्भवती भी थी। इस मामले की तह तक जाकर इसकी सूक्ष्म जाँच इसलिए भी जरूरी है क्योंकि प्रदेश सरकार का वन विभाग इस मामले में प्रदेश को कन्फ्यूज कर रहा है। विभागीय अधिकारी कभी इन हाथियों की मौत की वजह लीवर की तकलीफ को बता रहे हैं तो कभी प्रसव-पीड़ा को मौत का कारण बता रहे हैं, कभी वे कहते हैं कि हाथियों के मुँह से झाग निकल रहा था तो कभी वे हाथियों के आपसी द्वंद्व को मौत की वजह बता रहे हैं।गागड़ा ने कहा कि अभी हाल ही में केरल में एक गर्भवती मादा हाथी की विस्फोट के चलते हुई मौत ने पूरे देश को विचलित कर दिया था,लेकिन छत्तीसगढ़ में तीन-तीन हाथियों की मौत पर प्रदेश सरकार और उसका वन मंत्रालय न केवल चुप्पी साधे बैठा है,अपितु कन्फ्यूज करके मामले की लीपापोती के प्रयास में भी जुटा हुआ दिख रहा है।पूर्व मंत्री गागड़ा ने कहा कि प्रदेश सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि सरगुजा संभाग में तीन-तीन हाथियों की मौत किन परिस्थितियों में हुई और यदि यह हत्या का मामला है तो इस पर प्रदेश सरकार क्या कार्रवाई कर रही है? जाँच समिति में ऐसे लोग कतई न हो,जिनके इस मामले में जरा भी संलिप्त होने का अंदेशा हो अथवा इस मामले में वे अनावश्यक रुचि ले रहे हों। इस आशंका को भी जाँच के दायरे में लिया जाना चाहिए कि क्या इन हाथियों को शिकार की बदनीयती के चलते जहर दिया गया था?

 

02-06-2020
उसूर सड़क की नींव भाजपा ने रखी थी,वाहवाही लूट रही है कांग्रेस: श्रीनिवास मुदलियार

बीजपुर। भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने बताया जिले के उसूर सड़क की नींव भाजपा शासनकाल में रखी गई थी। पूर्व मंत्री महेश गागडा के प्रयास से उसूर जाने वाली पक्की सड़क निर्माण कार्य का स्वीकृति की गई तथा भाजपा शासनकाल में ही इसका कार्य प्रारंभ हो गया था। आवापल्ली से उसूर सड़क का भूमि पूजन महेश गागडा एवं तत्कालीन जिला कलेक्टर द्वारा किया गया था। श्रीनिवास ने कहा कि भाजपा शासनकाल के कार्यों को रोक लगा कर पुनः उन्हीं कार्यों को अमलीजामा पहनाने का काम कर भाजपा के विकास कार्यों को अपना बताकर कांग्रेस व विधायक वाहवाही लूटने का भरसक प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस विधायक व जिला प्रशासन से भाजपा मांग करती है कि शीघ्र ही तारलागुड़ा मार्ग का पूर्ण गुणवत्ता से डामरयुक्त सड़क का निर्माण कार्य करवाया जाए और उसूर सड़क पूर्ण गुणवत्ता से बने। 

 

27-01-2020
भाजपा ने की निर्वाचन अधिकारी से शिकायत, लगाया मतदानकर्मियों पर प्रचार का आरोप

बीजापुर। भाजपा ने जिले के मतदानकर्मियों पर कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार करने का आरोप लगाया है। वहीं एक मतदानकर्मी का कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने का ऑडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। पूर्व मंत्री महेश गागड़ा और भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने जिला निर्वाचन अधिकारी से इसकी लिखित शिकायत की है। ज़िला निर्वाचन अधिकारी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804