GLIBS
22-05-2020
भूपेश बघेल ने 146 विकासखंडों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से दिए 10-10 लाख रुपए

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए 14 करोड़ 60 लाख रुपए दिया है। मुख्यमंत्री सहायता कोष से प्रदेश के सभी 146 विकासखंडों को 10-10 लाख रुपए की राशि प्रदान की गई है। इस राशि से स्वास्थ्य विभाग की शासकीय अधोसंरचना को मजबूत किया जाएगा। जीवनदीप समितियों के माध्यम से इस राशि का उपयोग किया जा सकेगा। प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण की प्रसार की संभावना को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ किया जाएगा।मुख्यमंत्री सहायता कोष से स्वीकृति आदेश मुख्यमंत्री सचिवालय मंत्रालय महानदी भवन से जारी किया गया है। आदेशानुसार कुल स्वीकृत राशि में से रायपुर, धमतरी, बेमेतरा, कबीरधाम, दंतेवाड़ा, बीजापुर और बिलासपुर जिले के चार-चार विकासखंडों के लिए 40-40 लाख रुपए स्वीकृत किया गया है।

इसी प्रकार गरियाबंद, महासमुंद, बालोद, कोंडागांव, कोरबा और कोरिया जिले के लिए 50-50 लाख रुपए, बलौदाबाजार भाटापारा, बलरामपुर-रामानुजगंज और सूरजपुर जिले के लिए 60-60 लाख रुपए, दुर्ग, सुकमा, मुंगेली और गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के लिए 30-30 लाख रुपए, राजनांदगांव जांजगीर-चांपा और रायगढ़ जिले के लिए 90-90 लाख रुपए, बस्तर, कांकेर और सरगुजा जिले के लिए 70-70 लाख रुपए, नारायणपुर जिले के लिए 20 लाख रुपए और जशपुर जिले के लिए 80 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है।

30-03-2020
अधिक दाम पर सामान बेचने वालों पर कार्यवाही के लिए टीम गठित

गरियाबंद। अधिक दाम पर जरूरी सामग्री बेचने की शिकायतों को देखते हुए जिला प्रशासन ने जिला, नगर पंचायत स्तर तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए टीम का गठन किया है। यह टीम लोगों को जरूरी चीजों की उपलब्धता तथा अधिक मूल्य पर सामान बेचने वालों के खिलाफ कार्यवाही करेगी। कलेक्टर श्याम धावडे ने गरियाबंद जिले के लोगों के लिए आवश्यक वस्तुओं के पर्याप्त उपलब्धता एवं अधिकतम खुदरा मूल्य के भीतर आम जनता को उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए कोविड-19 लॉजिस्टिक फैसिलि टेशन टीम का गठन किया है। यह सुनिश्चित करेगी कि जरूरत के सामान लोगों को बिना किसी परेशानी उपलब्ध हो सके और अधिकतम मूल्य भी वृद्धि ना हो। यदि कोई व्यक्ति अधिकतम खुदरा मूल्य से अधिक कीमत पर खाद्य सामग्री का विक्रय करे तो उसके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।

आम जनता आवश्यक सेवाओं को उपलब्ध कराने हेतु जारी इस आदेश में गठित टीम तीन स्तर पर बनाई गई है। जिला स्तरीय टीम जो पूरे जिले में कार्य देखेगी। नगर पंचायत तथा पालिका स्तर की टीम जो नगरीय क्षेत्र में कार्य देखेगी तथा तहसील स्तरीय टीम जो बाकी गांवों के कार्य देखेगी। गरियाबंद नगर पालिका परिषद के लिए गठित की गई टीम में सहायक खाद्य अधिकारी भुनेश्वर चेलक, मुख्य नगरपालिका अधिकारी संध्या वर्मा तथा उप अभियंता हरीश माझी पालिका क्षेत्र में लोगों को आवश्यक वस्तु की उपलब्धता तथा मूल्यों पर नियंत्रण का कार्य देखेंगे। इसी तरह गरियाबंद के ग्रामीण इलाकों के लिए तहसीलदार राकेश साहू के साथ राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी कार्य देखेंगे।

 

27-03-2020
लॉक डाउन को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के युवकों ने दिखाई सख्ती,बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर लगाया प्रतिबंध

कांकेर। कोरोना वाईरस को लेकर देश में लॉक डाउन है,जिसका जनता को कड़ाई से पालन कराने कोई कोर कसर जिला प्रशासन द्वारा नहीं छोड़ा रहा है। इसके तहत जिला पुलिस एवं प्रशासनिक अमला सख्त नजर आ रहा तो वहीं आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी गांव के युवक गंभीर नजर आ रहे। इसको लेकर कोदागांव में कोई भी बाहरी व्यक्ति प्रवेश न करे चार स्थानों में नाकेबंदी की गई।

इसका लोगों को कड़ाई से पालन करने की समझाइश भी दी जा रही है। युवकों द्वारा बताया गया कि गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश करने पर पूरी तरह पाबंदी है। इमरजेंसी में ही गांव के व्यक्ति समय सीमा पर जाकर वापस आ रहे हैं। आने जाने वालों को सेनेटाइजर व हेण्डवाश का भी इस्तेमाल कराया जा रहा है। इस सराहनीय पहल को कोदागांव के जागरूक नवयुवक उप सरपंच बलराम घरत, हेमराज साहू, कुलेश्वर साहू, शैलेन्द्र पटेल, पुष्पेन्द्र साहू, नरेश तुलावी, डिकेश्वर भुआर्य, कौशल गवर्णा,बीरेंद्र रजक, मुकेश साहू,पवन उईके, नारद तेता की महत्वपूर्ण भूमिका है।
————————

 

24-03-2020
कोरोना वायरस से बचाव को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं ने उठाया बीड़ा

 गरियाबंद। कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने के लिए पूरे देश एकजुट हैं। गरियाबंद जिले के ग्राम मालगांव में युवाओं ने राशि एकत्रित कर गली,मोहल्ले के प्रत्येक वार्डों में ब्लीचिंग पाउडर और डेटॉल का छिड़काव करवा रहे हैं। लोगों को समझाइश व जागरूक किया जा रहा है की जब तक कोरोना वायरस का संक्रमण पूरी तरह से हमारे देश से खत्म ना हो जाए और जब तक शासन प्रशासन का आदेश माने। गांव के युवा गांव के सभी वर्गों के लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से कैसे बचा जाए। घर की साफ सफाई कैसे रखे हैं,लोगों से मिलने से बचे, हमेशा हाथ धोए आदि बातों को ग्रामीणों को बता रहे हैं। युवाओं की एकजुटता को देखकर लोगों ने तारीफ कर रहे हैं। 

 

27-02-2020
दंतेवाड़ा में पुलिस कैंप की स्थापना पर अगली सुनवाई जल्द

रायपुर। बिलासपुर हाईकोर्ट की खंडपीठ ने बीते दिन दंतेवाड़ा के ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस कैंप की स्थापना के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन व जस्टिस पीपी साहू ने अंतिम सुनवाई करने का निर्देश जारी कर दिया है। बता दें कि पोट्टाली निवासी नंदे मांडवी ने जनहित याचिका दायर कर कहा है कि दंतेवाड़ा के पोट्टाली, गुरगु व अन्य जगह पुलिस कैंप खोला जा रहा है। इसके खिलाफ उन्होंने जनहित याचिका दायर की है। 

 

 

18-02-2020
मॉर्निग वॉक पर निकले शिक्षक पर भालू ने किया हमला

कांकेर। शहर से सटे ग्रामीण क्षेत्रों में भालुओं की आमद बढ़ने से लोगों में दहशत व्याप्त है। शहर की गलियों समेत सुबह मार्निंगवाक पर निकलने वालों पर खतरा मंडरा रहा है। वहीं नगर पालिका द्वारा शहर की गलियों की लाइटों को समय से पूर्व ही बंद कर दी जा रही है, जिसके कारण भी लोगों को परेशानी हो रही है। राजापारा वार्ड में भी यह नजारा देखने को मिला भालू राजापारा वार्ड की गलियों की ओर घूमता दिखा। केन्द्रीय विद्यालय के शिक्षक दिनेश कौशिक पर भालू ने हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि वह रोजाना सुबह मॉर्निग वॉक पर निकलते है। मंगलवार की सुबह जब भ्रमण करते हुए सिंगारभाट रोड पर पहुंचे तो सामने से एक भालू ने हमला कर दिया। इसमें शिक्षक घालय हो गए। शिक्षक ने बाहादुरी दिखाते हुए भालू पर पत्थर एवं डंडे से भालू का सामना किया। तब भालू वहां से भाग निकला। यह कोई पहला मामला नहीं है जो इस तरह की घटना हुई हो।

 

02-02-2020
ईसाई समुदाय की तीर्थयात्रा में शामिल हुए अमरजीत भगत

रायपुर। संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत मैनपाट विकासखंड के ग्राम पथरई में आयोजित ईसाई समाज की 8वीं तीर्थयात्रा में शामिल हुए। यह तीर्थयात्रा ईसाई समुदाय के भगवान बालक यीशु की प्रार्थना में निकाली जाती है। इस साल तकरीबन 15000 पदयात्री इस यात्रा में शामिल हुए। विगत 8 वर्षों से ये तीर्थयात्रा पथरई में आयोजित हो रही है। इससे पहले तीर्थयात्री बनारस के समीप मुगलसराय जाकर अपना तीर्थ पूरा किया करते थे। यहां मंत्री भगत ने सभी तीर्थयात्रियों को संबोधित करते हुए कहा कि जल्द ही यहां शेड, लोहे की कुर्सियों व पीने के पानी की उत्तम व स्थायी व्यवस्था की जाएगी। भगत ने इस बार हो रहे आयोजन में बैठने व टेंट आदि की सुविधा के  लिए संस्कृति विभाग की तरफ से 1 लाख रुपये देने की घोषणा भी की। साथ ही उन्होंने तीर्थ स्थल के आस पास चल रही खदानों पर भी जल्द से जल्द रोक लगवाने के लिए  तीर्थयात्रियों व तीर्थस्थल की समिति को आश्वस्त किया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के वनांचलों व आदिवासी क्षेत्रों के मंत्री अमरजीत भगत ने कई कदम उठाए हैं। यहाँ की संस्कृति के संरक्षण के अलावा कुपोषण मुक्ति के लिए सरकार ने चना, गुड़ देने की शुरूआत की है। खाद्य मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के उत्थान से आरंभ कर छत्तीसगढ़ सरकार प्रदेश के समग्र विकास की तरफ बढ़ रही है।

 

01-02-2020
जिला स्तरीय डीडब्लूएसएम समिति गठित

कोरिया। कलेक्टर डोमन सिंह ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के घरों में पाईप लाईन के माध्यम जल उपलब्ध कराने के लिए जिला स्तरीय डीडब्लूएसएम समिति का गठन किया गया। समिति के अध्यक्ष स्वयं कलेक्टर होंगे। समिति में कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी सदस्य सचिव और मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, वनमण्डाधिकारी बैकुण्ठपुर, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी, कार्यपालन अभियंता जल संसाधन, उपसंचालक कृषि तथा जिला जनसंपर्क अधिकारी समिति के सदस्य है। 

 

29-11-2019
कार्रवाई का खौफ दिखाकर पीयूसी बनाने किया जा रहा मजबूर  

रायगढ़। रायगढ़ जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के लोग इन दिनों चलित पीयूसी वैन से परेशान हैं। चलित पीयूसी वैन द्वारा पूरे जिले में प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र जारी किया जाता है जिसकी मानीटरिंग परिवहन विभाग द्वारा की जाती है। रायगढ़ में भी स्थाई प्रदूषण जांच केंद्र के साथ ही चलित वैन के माध्यम से पीयूसी बनाए जाते हैं लेकिन इन दिनों पीयूसी चलित वाहन द्वारा सड़क पर लोगों को रोका जा रहा है और उन्हें कार्रवाई का भय दिखाकर पीयूसी बनाने मजबूर किया जा रहा है। जिला परिवहन अधिकारी का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को रोककर उसे पीयूसी बनाने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है। हां व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह वाहन के साथ समस्त जरूरी दस्तावेज रखे। ऐसा नहीं होने पर सम्बन्धित विभाग द्वारा कार्रवाई की जाती है। किसी को कार्रवाई का भय दिखाना उचित नही है। जब उन्हें बताया गया कि सड़क पर अचानक वाहन रुकवाकर चलित पीयूसी वैन द्वारा पीयूसी  बनवाने कहा जा रहा है तो उन्होंने इसकी जांच व उचित कार्रवाई करने की बात कही। जिला परिवहन अधिकारी ने जिले के ग्रामीणों से अपील की है कि इस तरह से यदि उन्हें किसी चलित पीयूसी वैन द्वारा परेशान किया जाता है तो वे इसकी शिकायत जिला परिवहन कार्यालय में आकर कर सकते हैं।  

 

25-09-2019
अघोषित बिजली कटौती से उपभोक्ता परेशान

लखनपुर। लगातार सप्ताहभर से नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की लचर व्यवस्था एवं अघोषित कटौती से उपभोक्ता काफी परेशान हैं। जहां एक तरफ बारिश का मौसम ऊपर से बिजली की आंखमिचौली खासा परेशानी बढ़ाये हुए हैं। आए दिन नगर लखनपुर में बिजली बंद होने के कारण आम उपभोक्ताओं को अंधेरे में बसर करना पड़ता है वहीं बिजली से चलने वाले कारोबार भी ठप हो जाते हैं। बिजली नही होने से वार्डों में पीने के पानी सहित कई सारी दिक्कतों का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। विद्युत कार्यालय लखनपुर से अन्यत्र जाने के पश्चात अब विद्युत संबंधी समस्यायों का निराकरण नहीं हो पाना एक बड़ी परेशानी का सबब बनता जा रहा है। लोगों ने विद्युत से जुड़ी परेशानियों को लेकर जल्द से जल्द व्यवस्था सुधार की मांग की है। 

 

19-09-2019
मितानिन कार्यकर्ताओं ने किया स्वास्थ्य पंचायत सम्मेलन का आयोजन

सूरजपुर। ग्रामीण क्षेत्रों की मूलभूत समस्याओं को लेकर आशा (मितानिन) कार्यकर्ताओं ने स्वास्थ्य पंचायत सम्मेलन का आयोजन सूरजपुर के स्टेडियम ग्राउंड में किया। यहां जिला स्वास्थ्य अधिकारी को स्वास्थ्य संबंंधी समस्याओं से अवगत कराया गया। मितानिनों ने अपनी अन्य समस्याओं के लिए रैली निकाली और डिप्टी क्लेक्टर व प्रेमनगर विधायक खेलसाय सिंह को ज्ञापन सौंपा। विधायक और डिप्टी कलेक्टर ने जल्द निराकरण करने की बात मितानिन कार्यकर्ताओं ने कही। आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि सम्मेलन में विकासखण्ड के सरपंच, पंच, आम नागरिक उपस्थित हुए।

12-09-2019
बच्चों को सप्ताह में दो दिन उबले अण्डे देने अधिकारियों को मिली जिम्मेदारी

बीजापुर। बीजापुर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में भारत सरकार द्वारा बीजापुर जिले के भैरमगढ़ विकासखण्ड में मध्याह्न भोजन योजनांन्तर्गत संचालित प्राथमिक एवं अपर प्राथमिक शालाओंं के बच्चों को मध्याह्न भोजन के अलावा सप्ताह में दो दिन उबले अण्डे देने का निर्णय लिया गया है। बीजापुर जिले के आदिवासी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में मध्याह्न भोजन के साथ बच्चों को पौष्टिक पदार्थ दिए जाने का निर्णय केन्द्र सरकार का है। बच्चों के स्वास्थ्य में सकारात्मक प्रभाव पड़े एवं मध्याह्न भोजन योजना के प्रति बच्चों की रुचि बढ़े तथा इससे शाला स्तर पर लाभान्वित बच्चों की संख्या भी बढ़े, इस  उद्देश्य से यह नवाचार योजना प्रारंभ की गई है। जिला शिक्षा अधिकारी कृष्ण कुमार उद्देश ने इस योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण के लिए जिला स्तर पर प्रमुख अधिकारी सहायक संचालक मध्याह्न भोजन, मध्याह्न  भोजन नोडल अधिकारी तथा विकासखण्ड स्तर पर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, बीआरसी, सीएसी, तथा शाला स्तर पर प्रधान अध्यापक, मध्याह्न भोजन प्रभारी एवं शाला के अन्य शिक्षकों को दायित्व सौंपा है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804