GLIBS
25-03-2021
महाविद्यालय के छ़ात्र भम्र में, परीक्षाओं पर निर्णय ले सरकार : अभाविप

रायपुर। कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के कारण एक बार फिर प्रदेश के विश्वविद्यालयों में परीक्षाएं प्रभावित होती दिखाई दें रही है। इसके कारण प्रदेश का समूचा विद्यार्थी वर्ग असमंजस की स्थिति में है। अभाविप के प्रदेश मन्त्री शुभम जायसवाल ने कहा कि ऐसे में सरकार का यह दायित्व बनता है कि त्वरित रूप से विश्वविद्यालय परीक्षाओं के बारे में उचित निर्णय कर विद्यार्थियों के मन में उत्पन्न हो रहे भ्रम को दूर करे। अभाविप का यह मत है कि राज्य शासन एवं विश्वविद्यालय प्रबंधन स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय समेस्टर के विद्यार्थियों के लिए वैकल्पिक मूल्यांकन से परीक्षा आयोजित कराई जाए। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के आंकलन के पश्चात ही कुछ समय अंतराल बाद स्नातक एवं स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों की परीक्षा के लिए भी यथोचित निर्णय लिया जाए।

 

20-03-2021
भाजयुमो मंडल पखांजूर ने महाविद्यालय परिसरों में चलाया हस्ताक्षर अभियान

पखांजूर। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में हो रहे घोटाले एवं युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ को लेकर राज्यपाल के नाम 10 सूत्रीय माँगो को लेकर भाजयुमो प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर कांकेर जिले के पखांजूर मंडल में स्थित महाविद्यालय परिसरों में भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा हस्ताक्षर अभियान आयोजन किया गया। इसमें शिक्षित युवा बेरोजगार एवं महाविद्याल के छात्रों छात्राएं बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस मौके पर भाजयुमो के असीम राय, प्रितपाल सिंह, भाजयुमो प्रभारी शंकर सरकार, निमाई बिस्वास, स्वपन तरफदार, शिवानंद मंडल, अमित मंडल, राहुल राय, रोशन बढ़ाई, देवा सरकार, विक्रम बाला, असित व्यापारी, मिथुन गाइन सहित भाजपा युवामोर्चा कार्यकर्या एवं छात्रा छात्राएं उपस्थित थीं।

 

19-03-2021
प्रभारी सचिव ने किया आंगनबाड़ी, स्कूल, महाविद्यालय,गौठान और तहसील कार्यालय का निरीक्षण

जांजगीर-चांपा। जिले के प्रभारी सचिव धनंजय देवांगन ने कुलीपोटा के आंगनबाड़ी केंद्र, नया बाराद्वार के तहसील कार्यालय, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला नया बारद्वार, आत्मानंद  इंग्लिश मीडियम उत्कृष्ट स्कूल सक्ती,क्रांति कुमार महाविद्यालय जेठा,शासकीय आईटीआई नंदेली भाठा सक्ती, ग्राम पंचायत हरदा के आदर्श गौठान का निरीक्षण किया।   निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों से कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। देवांगन ने आंगनबाड़ी केंद्र के निरीक्षण के दौरान उपस्थिति पंजी,  गर्भवती  शिशुवती महिलाओं के पंजीयन, पंजीकृत छोटे बच्चों के पंजीयन व उपस्थिति,  सूखा राशन वितरण, टीकाकरण आदि की जानकारी ली। उन्होंने राज्य सरकार की महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की प्राथमिकता के साथ क्रियान्वयन के निर्देश भी दिए।

प्रभारी सचिव ने तहसील कार्यालय,विद्यालय भवन,आंगनबाड़ी केंद्र का निरीक्षण कर उपस्थिति पंजी का अवलोकन किया। भवन परिसर की स्वच्छता और सौंदर्यीकरण के संबंध में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कार्यालय भवनों के निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रसाधन कक्ष की स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने कहा। उन्होंने भवन मरम्मत के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। देवांगन ने क्रांति कुमार महाविद्यालय जेेठा में विद्यार्थियों से चर्चा कर अध्यापन गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। प्रभारी सचिव  ने आईटीआई के प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि अपनी कौशल दक्षता पर विशेष ध्यान दें। देवांगन ने ग्राम पंचायत हरदा के आदर्श गौठान से जुड़े स्व सहायता समूह के सदस्यों से चर्चा की। समिति के पदाधिकारियों को व्यवसायिक अभिरुचि के साथ काम करने और व्यवसाय के विस्तार के लिए प्रेरित किया ताकि समूह की आमदनी बढ़ सके। गौठान में उपलब्ध कराए गये  संसाधनों के संरक्षण व देखरेख  संबंध में उन्होंने आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।  स्व सहायता समूह को सब्जी भाजी के उत्पादन के लिए उद्यानिकी विभाग का सहयोग लेने को कहा। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ गजेंद्र सिंह ठाकुर,एसडीएम भास्कर मरकाम सहित संबंधित विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

 

17-03-2021
जैसी शिक्षा, वैसी परीक्षा की मांग पर एनएसयूआई ने विभिन्न महाविद्यालय में सौंपा ज्ञापन

 

धमतरी। कोरोना के वैश्विक महामारी को देखते हुए पूरे प्रदेश में आधा से ज्यादा समय ऑनलाइन कक्षा से पढ़ाई हुई। एनएसयूआई ने जैसी शिक्षा वैसी परीक्षा की मांग के लिए जिले के प्रमुख महाविद्यालयों के प्राचार्य को कुलपति के नाम ज्ञापन सौंपा। एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने कहा कि छात्र-छात्राओं के भविष्य को मद्देनजर विवि प्रबंधन को जल्द से जल्द छात्र हित में फैसला लेना चाहिए। पीजी कॉलेज धमतरी में प्रीतम सिन्हा के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। गर्ल्स कॉलेज धमतरी, पीजी कॉलेज नगरी, आमदी महाविद्यालय, पीजी कॉलेज भखारा,पीजी कॉलेज कुरुद ,एनएसयूआई पीजी कॉलेज मगरलोड में ज्ञापन सौंपा। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष राजा देवांगन के नेतृत्व में विभिन्न कॉलेजों में ज्ञापन सौंपा गया। 

 

01-03-2021
महाविद्यालय में एलएलबी कक्षा शुरू करने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कांकेर। बस्तर के प्रवेश द्वारा में स्थित शहीद गैंद सिंह शासकीय महाविद्यालय जैसाकर्रा, चारामा  बस्तर संभाग के सबसे शिक्षित आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में सन् 1989 से संचालित नगर का एकमात्र महाविद्यालय है। यहां वर्तमान में लगभग 1500 नियमित व 2500 से अधिक छात्र-छात्राएं परीक्षार्थी के रूप में सम्मिलत होते हैं । शहीद गैंदसिंह शासकीय महाविद्यालय जैसाकर्रा, चारामा में वर्तमान में स्नातक/स्नातकोत्तर की बी.ए, बी.एस.सी., बी.कॉम, एम.ए., एम.एम.सी., एम.कॉम. की कक्षाएं संचालित है। महाविद्यालय में एल.एल.बी. कक्षा एवं पाठ्यक्रम न होने पर यहां के छात्र-छात्राओं को कांकेर, जगदलपुर, धमतरी, रायपुर, भिलाई व बिलासपुर तक जाने की आवश्यकता पड़ती है। इससे आर्थिक तथा मानसिक परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है।

आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण गरीब वर्ग के छात्र-छात्राओं को कानून की शिक्षा से दूर होना पड़ता है। शहीद गैंद सिंह शासकीय महाविद्यालय जैसाकर्रा, चारामा में एल.एल.बी. कक्षा एवं पाठ्यक्रम प्रारंभ होने से चारामा क्षेत्र के छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिलेगा। लंबे समय से क्षेत्रवासियों व छात्र-छात्राओं द्वारा एल.एल.बी. की कक्षा एवं पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की मांग की जा रही है। शहीद गैंद सिंह शासकीय महाविद्यालय जैसाकर्रा, चारामा में एल.एल.बी. की कक्षा एवं पाठ्यक्रम प्रारंभ करने छत्तीसगढ़ पिछड़ा वर्ग कल्याण संघ जिला उ.ब. कांकेर के जिला अध्यक्ष द्वारा मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री के नाम कलेक्टर कांकेर को ज्ञापन सौंपकर जल्द एल.एल.बी. की कक्षा एवं पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की मांग की गई है।

 

 

26-02-2021
Video: महाविद्यालय की परीक्षाएं ऑनलाइन कराने के लिए एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन

दुर्ग।एनएसयूआई शहर अध्यक्ष हितेश सिन्हा के नेतृत्व में जिलाधीश के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इसमें मांग की गई कि 2020 एवं 21 की महाविद्यालय परीक्षाएं ऑनलाइन कराई जाए। इस बारे में जानकारी देते हुए दुर्ग शहर अध्यक्ष हितेश सिन्हा ने बताया कि वैश्विक महामारी अभी समाप्त नहीं हुई है। कोरोना वायरस से देश में संक्रमित लोगों की संख्या काफी बढ़ गई थी। जो छत्तीसगढ़ से संक्रमित लोगों की संख्या में काफी गिरावट गिरावट आई है। जो कि इस बार महाविद्यालयों की कक्षाएं ज्यादातर ऑनलाइन लगी है।

इस ऑनलाइन कक्षा में ग्रामीण क्षेत्रों से अधिकांश छात्र आते हैं। इनके पास कई चीजों का अभाव रहा था। जैसे में उन्होंने पूर्ण रूप से परीक्षा के लिए तैयारी नहीं करा पाई है। ऐसे में ऑफलाइन परीक्षा आयोजन मुश्किल है तथा इसके लिए छात्र तैयार नहीं है। इसमें हम सभी कॉलेजों के स्टूडेंट्स यहां मिलकर मांग करते हैं कि परीक्षाएं ऑनलाइन कराई जाएं तो ज्यादा बेहतर रहेगा और छात्र छात्राओं को परीक्षा केंद्रों से दूर रखा जाए और पूर्व वर्ष की भांति इस सत्र में भी सभी कक्षाओं का परीक्षा ऑनलाइन आयोजित किया जाए।

 

17-02-2021
जोगी छात्र संगठन के घेराव का हुआ असर, सुयश नर्सिंग महाविद्यालय छात्रों की फीस हुई माफ

रायपुर। नर्सिंग छात्राओं की फीस माफी वाली मांग को लेकर अजीत जोगी छात्र संगठन द्वारा किये गए घेराव का असर हुआ है। सुयश कॉलेज प्रबंधन छात्रों से डेवलपमेंट फीस, लैब फीस, लाइब्रेरी फीस, ट्रांसपोर्टेशन फीस के नाम से अलग पैसे वसूल कर रहा था। इसके विरोध में सुयश कॉलेज के छात्रों ने अजीत जोगी छात्र संगठन प्रदेश अध्यक्ष रवि चंद्रवंशी, अजीत जोगी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू के नेतृत्व में मंगलवार को आयुष विश्वविद्यालय का घेराव किया था। जहाँ युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू एव रवि चंद्रवंसी ने आयुष विश्वविद्यालय के डीएमई आरके सिंह को ज्ञापन सौंपना चाहा तो डीएमई ने मना कर दिया। इससे वहाँ उपस्थित छात्रों और प्रदर्शनकारियों ने ज्ञापन की प्रति को फाड़कर अपना विरोध दर्ज कराया। जोगी कांग्रेस की आक्रामकता को देख आयुष विश्वविद्यालय ने डॉक्टरों की 2 सदस्यीय टीम गठित कर उन्हें जांच के लिए सुयश नर्सिंग कॉलेज भेजा। जाँच के बाद कॉलेज प्रबंधन ने जितना भी एक्स्ट्रा फीस था सबको माफ करने की घोषणा की। कॉलेज प्रबंधन के इस फैसले के बाद छात्र खुशी से झूम उठे और अजीत जोगी छात्र संगठन एवं अजीत जोगी युवा मोर्चा को धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

10-02-2021
मुख्यमंत्री ने कहा-31 मार्च से पहले किसानों को मिलेगी चौथी किश्त, अरपा महोत्सव में किए बड़े ऐलान

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को अरपा महोत्सव के समापन समारोह में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि अरपा महोत्सव से गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले की नई पहचान बनेगी। जिले की स्थापना के प्रथम वर्षगांठ पर अरपा महोत्सव में मुख्यमंत्री ने डॉ. भंवरसिंह पोर्ते की स्मृति में स्थापित महाविद्यालय और स्कूल में प्रतिमा लगाए जाने की घोषणा की। उन्होंने राजीव गांधी न्याय योजना की चौथी किस्त किसानों के खाते में 31 मार्च से पहले जमा करने की बात कही। मुख्यमंत्री बघेल ने जिलेवासियों को 20 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास कर सौगात भी दी। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट काल में किसानों को राहत देने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत किसानों को चार किश्तों में 5750 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा रहा है। इस योजना की तीन किश्ते दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि वन अधिकार अधिनियम के तहत 13 दिसंबर 2005 तक काबिज और तीन पीढ़ियों से निवासरत वनवासियों और परंपरागत निवासियों को व्यक्तिगत और सामुदायिक वनाधिकार पट्टा देने का काम किया जा रहा है। सामुदायिक वन अधिकार के तहत जंगलों की रखवाली और लघुवनोपज के स्वामित्व का अधिकार देने के काम प्रथमिकता से किए जाए। इस कार्य में किसी प्रकार की कोताही नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरूदेव रविन्द्र नाथ टैगोर पेंड्रा में अपनी पत्नी के इलाज के लिए डेढ़ साल रूके थे। नि:संदेह उनकी रचनाओं पर यहां के प्राकृतिक वातावरण का असर पड़ा होगा। उन्होंने यहां के जनजीवन पर आधारित रचनाएं की होंगी। उन रचनाओं को ढूंढ कर महोत्सव में पाठ किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता के पुरोधा पंडित माधवराव सप्रे की स्मृति को चिरस्थाई बनाए रखने के लिए आज यहां उनके नाम पर 50 लाख रुपए की लागत से प्रेस क्लब भवन का शिलान्यास हुआ है। उद्यानिकी कॉलेज स्व. बिसाहू दास महंत के नाम पर शुरू करने की घोषणा पहले ही की जा चुकी है। जिले के विकास को गति देने के लिए पिछले प्रवास के दौरान भी अनेक कार्यों का शुभारंभ किया गया। मुख्यमंत्री बघेल ने पंडित माधवराव सप्रे के 100 वर्ष पुराने लेखों के संग्रह की पुस्तिका का विमोचन किया। जिले के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को सम्मानित किया।

समारोह में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, राजस्व और गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, संसदीय सचिव रश्मि आशीष सिंह, विधायक सर्व डॉ. केके.ध्रुव, शैलेष पाण्डेय और मोहित केरकेट्टा, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा सहित पंचायती राज और नगरीय संस्थाओं के जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में आम नागरिक उपस्थित थे।

19-01-2021
भूपेश बघेल 20 जनवरी को रायपुर, बालोद व राजनांदगांव जिले के कार्यक्रमों में शामिल होंगे

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 20 जनवरी को रायपुर, बालोद और राजनांदगांव जिले में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री बघेल सुबह 11.30 बजे अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय रायपुर सहित 5 उद्यानिकी महाविद्यालयों साजा (बेमेतरा जिला), अर्जुन्दा (बालोद जिला), धमतरी, जशपुर और लोरमी (मुंगेली जिला) और नवीन कृषि विज्ञान केन्द्र कोण्डागांव का शुभारंभ करेंगे। बघेल इस अवसर पर प्रदेश के कृषि महाविद्यालयों, कृषि विज्ञान केन्द्रों और नवीन कृषि महाविद्यालयों में 109 करोड़ 77 लाख रुपए की लागत के अधोसंरचना विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री इनमें से 46 करोड़ 67 लाख रुपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण और 63 करोड़ 10 लाख रुपए की लागत के कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास करेंगे।

इन कार्यों में कृषि महाविद्यालयों के भवन, बालक-बालिका छात्रावास, अनुसंधान केन्द्र, हाइटेक नर्सरी, सीड प्रोसेसिंग भवन, हैचरी, कृषि विज्ञान केन्द्रों में प्रशासनिक भवन और कृषक छात्रावास निर्माण के कार्य शामिल हैं। बघेल इस अवसर पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किए गए डिजिटल कृषि पंचांग और कृषि दर्शिका-2021 का विमोचन भी करेंगे। सीएम बघेल रायपुर से दोपहर 1.15 बजे हेलीकॉप्टर से रवाना होकर 1.40 बजे बालोद जिले के डौंडी विकासखण्ड स्थित ग्राम ठेमाबुजुर्ग पहुंचेंगे और वहां गैंदसिंह शहादत दिवस तथा अखिल भारतीय हल्बा-हल्बी आदिवासी समाज महासभा के कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री 3.25 बजे हेलीकॉप्टर से राजनांदगांव जिले के छुरिया विकासखण्ड के ग्राम गोडलवाही पहुंचेंगे और वहां अखिल भारतीय हल्बा-हल्बी आदिवासी समाज महासभा के कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे शाम 5.15 बजे रायपुर लौटेंगे।

22-10-2020
कॉलेजों में अब छात्र 29 अक्टूबर तक ले सकेंगे प्रवेश, सरकार ने आगे बढ़ाई प्रवेश की अंतिम तिथि

रायपुर। राज्य शासन ने कॉलेजों में प्रवेश की तिथि में बड़ा बदलाव किया है। कॉलेजों में प्रवेश की तिथि को 22 अक्टूबर से बढ़ा कर 29 अक्टूबर कर दिया है। प्रदेश के विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति की अनुमति से महाविद्यालयों में छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया जाएगा। राज्य शासन ने कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति के कारण छात्रों के भलाई के लिए यह निर्णय लिया है। इस संबंध में मंत्रालय से आदेश जारी किया है। बता दें कि कॉलेजों में प्रवेश की तिथि 29 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई है। उच्च शिक्षा विभाग के सचिव धनंजय देवांगन ने 9 अक्टूबर को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और विद्यालयों के प्राचार्यों से कॉलेजों में प्रवेश, ऑनलाइन क्लास, परीक्षा परिणाम के संबंध में बातचीत के दौरान विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने कॉलेजों में शत प्रतिशत सीटों में प्रवेश हो सके। इसके लिए प्रवेश के लिए निर्धारित तिथि 22 अक्टूबर से बढ़ाकर 30 अक्टूबर तक करने के भी राय दिए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804