GLIBS
11-05-2021
बच्चे ना रहे शिक्षा से दूर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आडियो-वीडियो से बच्चों को करा रहे पढ़ाई

नारायणपुर। जिले में कोरोना संक्रमण के दौरान बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गृह भेंट के माध्यम से अपना कार्य संचालित कर रही है। कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू के मार्गदर्शन और महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी रविकान्त धुर्वे के दिशा-निर्देश में सजग अभियान का बेहतर क्रियान्वयन किया जा रहा है। विभाग की ओर से उपलब्ध शैक्षणिक सामग्री आडियो वीडियो से बच्चों को ज्ञान की बातें बताई जा रही है, ताकि बच्चे शिक्षा से निरंतर जुड़े रहे। सभी विकास खंड की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अपने-अपने कार्य क्षेत्र में साहस का परिचय देते हुए अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन कर रही है। गृह भेंट करके नन्हे  बच्चों के पूरक पोषण आहार, गर्भवती महिलाओं, किशोरी बालिकाओं को पूरक पोषण आहार का भी वितरण कर रही है और महिलाओं को स्वस्थता साफ-सफाई के बारे में जानकारी दी जा रही है। कार्यकर्ता अपने साथ वजन मशीन साथ लेके जाती है और पालकों की उपस्थिति में बच्चों का वजन करतीं है। साथ ही कुपोषित बच्चों को सुपोषित करने के लिए अतिरिक्त आहार के बारे में जानकारी भी देती है। टेक अवे एवं आडियो क्लिप के माध्यम से हितग्राहियों के घर-घर जाकर साफ-सफाई और कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए 18 से अधिक आयु वाले लोगों को टीकाकरण, मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंस का अनिवार्य रूप से पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। साथ ही टीकाकरण के लाभ के बारे में जानकारी दी जा रही है।

साथ ही महिलाओं बच्चों और किशोरों बालिकाओं की समस्याओं को सुना जाता है। यथा संभव निराकरण करने का सार्थक प्रयास किया जा रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बच्चों में भावी जीवन को गढ़ने के लिए तथा उनमें एक अच्छे नागरिक के गुण लाने के लिए माता-पिता एवं उनके परिवार को अपने बच्चों के साथ किस प्रकार का व्यवहार किया जाना चाहिए इसकी भी जानकारी दी जा रही है। रविकांत धुर्वे ने बताया कि सजग अभियान के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर सजग आडियो का प्रत्येक कड़ी परिवार वालों को सुनाते हैं। माता-पिता और परिवार के सदस्य उस आडियो को ध्यान से सुनते हैं और उसमें बताए गए गतिविधियां बच्चों में कराई जाती है। पालकों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आडियो से हमें बहुत सारी जानकारी प्राप्त हो रही है। हम अपने बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की ओर से बताए गए गतिविधियां को बच्चों को अनिवार्य रूप से कराएंगे।

पीयूष मंडल की रिपोर्ट

26-02-2021
भूपेश बघेल ने कहा- प्रदेश में कानून का राज, नक्सली घटनाएं कम हुई 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को सदन में कानून व्यवस्था पर कहा कि प्रदेश में कानून का राज है। हम बेहतर कानून व्यवस्था देने में सफल रहे हैं। राज्य में कानून व्यवस्था है,इसका प्रमाण यह है कि टाटा ट्रस्ट की ओर से जारी इंडिया जस्टिस रिपोर्ट 2020 में छत्तीसगढ़ की पुलिसिंग को देशभर में दूसरा स्थान मिला है। प्रदेश में नक्सली घटनाएं कम हुई है। उन्होंने सिंचाई से संबंधित विपक्ष के प्रश्नों का जवाब दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अरपा-भैंसाझर एक वृहद परियोजना हो सकती थी, लेकिन उसे मध्यम बना दिया गया। बीते दो सालों में राज्य में जल संसाधनों के बेहतर प्रबंधन से वास्तविक सिंचाई 9 लाख 68 हजार हेक्टेयर से बढ़कर 13 लाख हेक्टेयर हो गई है, जो अपने आप में कीर्तिमान है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने 15 सालों के अपने कार्यकाल में सिंचाई क्षमता बढ़ाने के लिए 18 हजार 225 करोड़ रूपए खर्च किए।

वास्तविक सिंचाई क्षमता में मात्र 16 हजार हेक्टेयर की बढ़ोत्तरी हुई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 13 साल से बंद स्कूल फिर से खुले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में छत्तीसगढ़ में शिक्षा की व्यवस्था की तारीफ नीति आयोग और प्रधानमंत्री ने भी की। राज्य के विद्यार्थियों को हर तरह के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के लिए स्वामी आत्मानंद के  नाम पर अंग्रेजी माध्यम के 52 स्कूल प्रारंभ किए गए हैं। स्वास्थ्य, शिक्षा, सुपोषण, मलेरिया उन्मूलन जैसे क्षेत्रों में उपलब्धियां हासिल हुई है। लोगों का विश्वास शासन पर बढ़ा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र से हमें 14 हजार 73 करोड़ रूपए हमारे कार्यकाल की लेनी है, जो केन्द्रीय करों में छत्तीसगढ़ का हिस्सा है। वर्ष 2004 से लेकर अब तक कुल 15 हजार 154 करोड़ रूपए लेने हैं।  भूपेश बघेल ने कहा केन्द्रीय करों में हिस्सा हमारा हक है।

22-02-2021
उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का होगा सम्मान, आवेदन 28 फरवरी तक होंगे जमा 

रायपुर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को राजधानी रायपुर में आयोजित महिला सम्मेलन में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसके लिए इच्छुक उम्मीदवार महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी से निर्धारित आवेदन का प्रारूप प्राप्त कर आगामी 28 फरवरी तक जमा कर सकते हैं। जिले से प्राप्त प्रविष्टयों से राज्य स्तर पर गठित स्क्रीनिंग समिति की ओर से पुरस्कार के लिए चयन किया जाएगा। यह सम्मान 25 वर्ष से अधिक आयु वर्ग की ऐसी महिलाओं को दिया जाएगा, जिन्होेंने साहित्य, शिक्षा, लोक कला एवं संस्कृति, महिलाओं एवं बच्चों के विकास के लिए सामाजिक सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया हो और जिससे महिलाओं एवं बच्चों के जीवन-स्तर में सुधार हुआ हो।

22-02-2021
एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने किया जिला शिक्षा कार्यालय का घेराव

रायपुर। फंड में घोटाले का आरोप लगाते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सोमवार को जिला शिक्षा कार्यालय का घेराव किया। कार्यकर्ता पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी पर एफआईआर करने की मांग पर अड़े हुए थे। विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारियों ने बताया कि शिक्षा के अधिकार के तहत ग़रीब बच्चों का एडमिशन होता है, उसके फंड में भी गड़बड़ी की गई है। आठ ऐसे ही स्कूलों के नाम पर भुगतान किया गया है, जो कई सालों से बंद है। इस संबंध में कार्रवाई के लिए आज ज्ञापन सौंप अल्टीमेटम दिया गया है। अगर एफ़आइआर दर्ज होने के बाद भी विभाग कार्रवाई नहीं करता है तो उग्र आंदोलन करेंगे।

 

20-02-2021
जल्द शुरू होगी शिक्षकों की भर्ती,शिक्षा विभाग ने संचालक को लिखा पत्र

रायपुर। प्रदेश में 14580 शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। स्कूल शिक्षा विभाग ने संचालक लोक शिक्षण संचालनालय को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। स्कूल शिक्षा विभाग के जारी आदेश के मुताबिक शिक्षकों की नियुक्तियां अभी 9वीं से 12वीं कक्षा तक के आवश्यक रिक्त पदों पर की जाएगी। पहले चरण में 9वीं, 10वीं,11वीं और 12वीं के लिए ही शिक्षकों की नियुक्ति होगी। इन पदों के लिए चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति आदेश जारी करने कहा गया है। अभ्यर्थियों को अलग-अलग नियुक्ति पत्र जारी किए जाएंगे। नियुक्त किए जाने वाले अभ्यर्थियों की वरिष्ठता व्यापमं की प्रावीण्य सूची के क्रम में होगी। नियुक्त शिक्षकों को परिवीक्षा अवधि में वेतन के संबंध में वित्त विभाग के निर्देशों का पालन अनिवार्य होगा।

17-02-2021
समाज के विकास के लिए शिक्षा जरूरी: डाॅ.चरणदस महंत

जांजगीर-चांपा। विधानसभा के अध्यक्ष डाॅ.चरणदास महंत ने बुधवार को सक्ती विकासखंड के ग्राम पंचायत जेठा में झेरिया यादव समाज के सामुदायिक भवन का लोकार्पण किया।
इस अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए डॉ.महंत ने कहा कि समाज के विकास के लिए शिक्षा जरूरी है। समाज के पदाधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि वे समाज के लोगों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाएं,जिससे समाज विकास की राह पर आगे बढ़े। डॉ.महंत ने सामाजिक कुरीतियों से भी बचने के लिए सतत प्रयास की आवश्यकता बताई। विधानसभा अध्यक्ष  ने अपने उद्बोधन में सामाजिक एकता पर जोर देते हुए कहा कि समाज के विकास के लिए एकता का जरूरी है। उन्होंने कहा कि समाज में छोटे-छोटे संगठनों कोई महत्व नहीं है। छोटे छोटे संगठन बनाकर अपने को कमजोर ना करें। डॉ.महंत ने कहा कि  राज्य सरकार द्वारा सुराजी गांव योजना के तहत सभी ग्राम पंचायतों में गौठान का निर्माण किया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि समाज के लोग गौठानों की देखरेख करें और गौठान की आर्थिक गतिविधियों से विकास कार्यों से जुड़कर रोजगार प्राप्त करें और अपना आर्थिक विकास सुनिश्चित करें ।  विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि गोधन संवर्धन में यादव समाज की पारंपरिक भूमिका महत्वपूर्ण रही है। कार्यक्रम में जैजैपुर विधायक केशव चंद्रा ने  अपने संबोधन में समाजिक बुराईयों से बचने और शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।
इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष यनीता चंद्रा,अमित राठौर,गुलजार सिंह, नगर पालिका जांजगीर-नैला के अध्यक्ष भगवानदास गढे़वाल सहित समाज के पदाधिकारी उपस्थित थे।

वन अधिकार पट्टा, स्प्रेयर यंत्र और मोटराइज्ड साइकिल का हुआ वितरण
विधानसभा अध्यक्ष डॉ.महंत ने आज सक्ती  के विश्राम गृह में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और नागरिकों से मुलाकात की। इस अवसर पर सक्ती अनुविभाग वन विभाग क्षेत्र के विभिन्न गांव के वन भूमि पर काबीज 34 वनवासियों को व्यक्तिगत वन अधिकार पट्टा का वितरण किया गया।   कृषि विभाग की योजना के तहत बैटरी चलित 10 स्प्रेयर यंत्र और समाज कल्याण विभाग की योजना के तहत दिव्यांग अनिल सारथी को मोटराइज्ड साइकल प्रदान करते हुए  हितग्राहियों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

 

12-02-2021
शिक्षा के साथ खेल जरूरी कहा- डॉ. चरणदास महंत ने,स्व बलराम सिंह ठाकुर स्मृति क्रिकेट स्पर्धा के समापन समारोह में

रायपुर। बिलासपुर जिले के तखतपुर में स्वर्गीय ठाकुर बलराम सिंह की स्मृति में जेएमपी महाविद्यालय खेल परिसर में आयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन में शामिल हुए विधानसभा के अध्यक्ष डा.चरणदास महंत। कार्यक्रम में महंत ने कहा है कि शिक्षा के साथ-साथ खेल गतिविधियों को बढ़ावा देना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि गांवों में छिपी प्रतिभाओं को सामने लाने का बढ़िया माध्यम है, स्थानीय स्तर पर आयोजित होने वाले खेल प्रतियोगिताएं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर राज्य को गौरान्वित करने की क्षमता रखते हैं। क्रिकेट स्पर्धा के समापन अवसर पर सम्बोधित करते हुए छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व व आपदा प्रबंधन मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि स्थानीय स्तर के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देना आवश्यक है। निश्चित रूप से इस आयोजन से खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा है व भविष्य में ये खिलाड़ी इससे भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। गौरतलब है कि पंचायत स्तरीय यह स्पर्धा 15 जनवरी से प्रारंभ हुई थी। इसमें 128 टीमों ने भाग लिया जिनमें से 122 पंचायत की एवं 6 नगरीय क्षेत्रों की टीमें शामिल थी।

 

05-02-2021
विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए विधायक, स्मार्ट क्लास का किया शुभारंभ, कहा- शिक्षा जीवन की सबसे बड़ी पूंजी

राजनांदगांव। डोंगरगढ़ विधायक भुनेश्वर बघेल ब्लॉक के विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। विधायक बघेल ने मालाड़बरी में महिला भवन का लोकार्पण किया व महिलाओं को रोजगार से जोड़ने की बात कही। उन्होंने विकास कार्य के लिए 5.20 लाख बब रोड व भवन के लिए 6.50 लाख की घोषणा की। इसके बाद विधायक बघेल कुवारझोरकी पहुंचे जहाँ कबीर सत्संग कार्यक्रम में शामिल हुए। उसके बाद विधायक शिकारीटोला शाकम्भरी जयंती में शामिल हुए, जहां सामाजिक भवन के लिए 6.50 लाख, बब रोड के लिए 5.20 लाख की घोषणा की। विधायक बघेल बघेरा पहुंचे, जहां ब्लॉक की पहली स्मार्ट क्लास का शुभारंभ किया। विधायक बघेल ने कहा कि शिक्षा हमारे जीवन की सबसे बड़ी पूंजी है, अच्छी शिक्षा से ही हर लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। इसके बाद विधायक बघेल जोरातरई पहंुचे जहां स्मार्ट क्लास व कब्बडी प्रतियोगिता का शुभारंभ किया तथा विकास कार्य के लिए 5 लाख बब रोड व व्यावसयिक परिसर के लिए 6 लाख की घोषणा की। विधायक बघेल मनगटा शाकम्भरी जयंती कार्यक्रम में शामिल हुए, जहाँ सामाजिक भवन के लिए 6.50 लाख की घोषणा किए। कार्यक्रम में कांग्रेस नेता कमलेश्वर वर्मा, शोभाराम बघेल, ब्लॉक अध्यक्ष रतन यादव, जनपद सभापति ओमप्रकाश साहू आदि शामिल हुए। उनके साथ जिला पंचायत सदस्य पुष्पा वर्मा सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी व सामाजिक प्रतिनिधि  उपस्थित रहे।

24-01-2021
गुहा निषाद राज जयंती में शामिल हुए मंत्री डॉ. डहरिया, कहा-शिक्षा को अपनाकर जागरूक और आगे बढ़ें समाज 

रायपुर। प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया आरंग में भक्त गुहा निषाद राज जयंती कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने समाज के लोगों के लिए नवनिर्मित मंच का उद्घाटन किया। मुख्य अतिथि डॉ. शिवकुमार डहरिया ने कहा कि प्रदेश की सरकार सभी समाज व वर्गों के विकास के लिए कार्य कर रही है। निषाद समाज भी इसमें शामिल है। मुख्यमंत्री ने न्यायधानी बिलासपुर में हवाई अड्डे का नामकरण बिलासा बाई केंवटीन के नाम पर करने की घोषणा की है। इससे समाज की पहचान बढ़ेगी। समाज की मांग पर मंत्री डॉ. डहरिया ने आरंग में एक चौक का नाम गुहा निषादराज के नाम पर करने की घोषणा की। मंत्री डॉ.डहरिया ने कहा कि समाज के लोग बहुत संघर्ष करने वाले और परोपकारी होते हैं। जो संघर्ष करने वाले होते हैं, वे सफल भी होते हैं। अपने बच्चों को शिक्षित बनाएं,उन्हें बेहतर शिक्षा से जोड़कर आगे बढ़ाएं। जागरूक बनकर समाज को विकास की राह में आगे बढ़ाएं। सरकार शिक्षा के साथ योजनाओं के माध्यम से आगे बढ़ने का अवसर प्रदान कर रही है। इन अवसरों का लाभ उठाकर एक जागरूक समाज के रूप में अपनी पहचान बना सकते हैं। आपके बच्चे अच्छे से पढ़ेंगे, डॉक्टर, इंजीनियर की नौकरी करेंगे तो आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। गरीबी दूर होगी और आप बेहतर तरीके से जीवनयापन कर पाएंगे। इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष चंदशेखर चंद्राकर, जनपद अध्यक्ष खिलेश देवांगन, पार्षद धनेश्वरी निषाद, समाज के अध्यक्ष खिलावन निषाद सहित निषाद समाज के लोग व क्षेत्र के जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804