GLIBS
02-08-2020
राज्यपाल बहन को मुख्यमंत्री भाई की चिट्ठी : आपका संरक्षण हमारा सौभाग्य

रायपुर। प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्यपाल अनुसुईया उइके की ओर से रक्षाबंधन पर्व पर भेजी गई राखी मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा है कि रक्षाबंधन और भुजलिया पर्व के अवसर पर आपने मुझे स्नेह, आर्शीवाद तथा राखी भेजकर जो विश्वास व्यक्त किया है, वह मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता तथा सम्मान का विषय है। बघेल ने बहन उइके को रक्षाबंधन पर्व की परंपरा अनुरूप भाई की तरफ से शुभकामनाओं सहित उन्हें नगद राशि और साड़ी उपहार में भेजी है। मुख्यमंत्री बघेल ने बहन उइके को लिखे पत्र में कहा है कि रक्षाबंधन का यह पर्व हमारे पारिवारिक संबंधों को नए शिखर पर पहुंचाने का माध्यम बना है। आपका संरक्षण मेरे और राज्य के लिए सौभाग्य का विषय है। मुख्यमंत्री के रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन करने, कोरोना महामारी से निपटने और प्रदेश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाने के लिए आपने मेरा जो उत्साहवर्धन किया है, उसके लिए मैं सदैव आपका आभारी रहूूंगा।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि यह पावन पर्व हमारी महान संस्कृति के गरिमामय उत्कर्ष का प्रतीक भी है, जो बहनों के प्रति भाईयों के संकल्पों को सुदृढ़ बनाता है। आपने उत्तरदायित्वों के प्रति सजग करते हुए मुझे जो शुभकामनाएं प्रेषित की है, उसके लिए मैं कृतज्ञता व्यक्त करता हूं तथा आपको विश्वास दिलाता हूं कि आपकी भावनाओं के अनुरूप अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह पूरी निष्ठा तथा परिश्रम से करूंगा।

23-07-2020
Video: सरोज पांडे को मोदी सहित केंद्रीय मंत्रियों को भी रक्षासूत्र भेजना चाहिए: राजेंद्र साहू

दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री व राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय की चिट्ठी पर राजनीति गरमा गई है। सरोज पांडेय ने मुख्यमंत्री को पत्र के साथ रक्षासूत्र भी भेजा है। सरोज ने पत्र में कहा है कि शराब बंदी का फैसला लेकर रक्षाबंधन का उपहार दें। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री राजेंद्र साहू ने जवाबी हमला करते हुए कहा है कि सरोज पांडेय को प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा नेताओं को भी पत्र के साथ रक्षासूत्र भेजना चाहिए। राजेंद्र ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार को बने हुए सिर्फ 18 माह हुए हैं। इतनी कम अवधि में प्रदेश में लगभग सौ दुकानें बंद करने का फैसला लेने के साथ ही चरणबद्ध तरीके से शराब दुकानें बंद करने का ऐलान कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पूरे प्रदेश की बहनों को यह उपहार पहले ही देना शुरू कर चुके हैं। राजेंद्र ने सरोज पांडेय से अनुरोध करते हुए कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित केंद्रीय मंत्रियों, भाजपा के प्रमुख नेताओं को भी चिट्ठी लिखें और रक्षा सूत्र भेजें।

सरोज अपनी चिट्ठी में पीएम व भाजपा नेताओं को 2014 व 2019 के चुनावी वायदों की याद दिलाकर इन्हें पूरा करने का उपहार मांगे। राजेंद्र ने कहा कि सरोज को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उपहार मिलेगा तो हरेक व्यक्ति के खाते में 15 लाख रुपए आएंगे। हर साल 2 करोड़ लोगों को रोजगार मिलेगा। किसानों की आय दोगुनी होगी। महंगाई कम करने के साथ ही पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस की कीमतों में कमी होगी। 20 लाख करोड़ के पैकेज का हिस्सा देश के हर व्यक्ति तक पहुंचेगा। सरोज को प्रधानमंत्री व भाजपा नेताओं से राखी का उपहार मिलेगा तो पूरे देश में खुशहाली आएगी। सरोज को यह काम जरूर करना चाहिए। राजेंद्र साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने सिर्फ 18 महीने के कार्यकाल में 36 में से आधे से ज्यादा वादे पूरे कर दिए हैं। मोदी सरकार को 6 साल से ज्यादा समय हो गया है। बहनों को उन्हें पत्र लिखकर वादे याद दिलाना जरूरी है,क्योंकि महंगाई की मार का उनपर सबसे ज्यादा असर होता है।  

 

06-04-2020
भूपेश बघेल की चिट्ठी पर केन्द्र सरकार ने मनरेगा के लिए जारी किए 685.29 करोड़ रूपए

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत लंबित मजदूरी भुगतान और आगामी तीन माह की मजदूरी के लिए शीघ्र राशि जारी करने का नुरोध किया था। केन्द्र सरकार ने इस पर कार्यवाही करते हुए 685.29 करोड़ रूपए जारी कर दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसके लिए प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। इस राशि में से 404 करोड़ रूपए मजदूरी भुगतान के लिए दिया गया है। साथ ही सामग्री एवं प्रशासनिक मद में व्यय के लिए भारत सरकार द्वारा 281.28 करोड़ रूपए जारी किए गए हैं। इस मद में 88.13 करोड़ रूपए का राज्यांश मिलाकर कुल 773.42 करोड़ रूपए मनरेगा कार्यों मे व्यय किए जाएंगे।


पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भारत सरकार से पत्राचार कर वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए मनरेगा कार्यों के लिए राशि जल्द जारी करने की मांग की गई थी। उनकी पहल पर केंद्र सरकार द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में मजदूरी, सामग्री और प्रशासनिक व्यय के लिए यह राशि जारी कर दी गई है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में मजदूरी भुगतान की पहली किस्त के रूप में 934.70 करोड़ स्वीकृत किए गए हैं। इनमें से 404.01 करोड़ रूपए राज्य को प्राप्त हो गया है।

 

25-11-2019
रायपुर से 1 लाख 47 हजार 3 सौ पत्र राजीव भवन में किए गए जमा

रायपुर। प्रधानमंत्री के नाम किसानों की चिट्ठी लगातार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में जमा की जा रही है। इसी कड़ी में आज शहर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा रायपुर शहर के 12 ब्लाकों एवं 70 वार्डों से 1 लाख 47 हजार 3 सौ चिट्ठी राजीव भवन में जमा की गई। महापौर प्रमोद दुबे, शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे, पंकज शर्मा के नेतृत्म में कांग्रेस भवन गांधी मैदान से किसानों की चिट्ठी सिर में ढोहकर कांग्रेसी राजीव भवन पहुंचे और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गिरीश देवांगन को चिट्ठी सौंपी। इनमें प्रधानमंत्री के नाम किसानों, व्यापारियों,नौकरी पेशा एवं आमजनों की चिट्ठी है। प्रधानमंत्री से प्रार्थना की गई है कि धान के बोनस पर लगाये गये प्रतिबंध को तत्काल हटाने का निर्देश जारी करें। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता बंशी कन्नौजे ने बताया कि चिट्ठी सौंपने वाले में राजेश चौबे, पीयूष कोसरे, सद्धाम सोलंकी, ब्लाक अध्यक्ष सुमित दास, अरुण जंघेल, सुनिता शर्मा, प्रशांत ठेंगडी, दाउलाल साहू, कामरान अंसारी, माधव साहूु, अशोक ठाकुर, नवीन चंद्राकर, सहदेव व्यवहार, सुनील भुवाल, शब्बीर खान, दीपक चौबे, सितेन्द्र ठाकुर, पार्वती कोरी, बालेश्वर सोना, फारूक असरफी, आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

13-08-2019
दुकानदार ने लिखी चिट्ठी और कर ली आत्महत्या

महासमुन्द। बागबाहरा ब्लॉक के ग्राम बोइरगांव में एक दुकानदार हनीफ खान 55 वर्ष ने आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या करने से पहले हनीफ खान ने एक सुसाइड नोट लिखा है, जिसे पुलिस ने मृतक के पास से बरामद मामले की जांच कर रही है। सुसाइड नोट में लेने देने की बात लिखा है। बताया जा रहा है कि मृतक ने ब्याज में कुछ लोगों से रुपए उधार लिया था, जिसकी उगाही के लिए लोग उसे परेशान कर रहे थे और उनके द्वारा लगातार फोन में धमकी के अलावा हनीफ खान को सरेआम बेइज्जत किया जा रहा था। इससे तंग आकर कल उसने आत्महत्या कर ली है। प्राप्त जानकारी अनुसार हनीफ खान परसों रविवार की सुबह अपने घर से निकला था, जो देर तक घर नहीं पहुंचा। परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। इसी दौरान परिजनों को जानकारी मिली की हनीफ खान ने स्कूल के पेड़ किनारे फांसी लगा ली है। खबर सुनकर परिजन घटना स्थल पहुंचे। मामले की जानकारी कोमाखान पुलिस को मिली और पुलिस भी घटना स्थल पहुंची। कोमाखान पुलिस को मृतक के जेब से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने लिखा है कि कोमाखान के किराना निक्की जैन ने 26 हजार के बदले 40 हजार लेने के बाद भी और पांच से छह हजार रुपए की मांग करता है। निक्की जैन रुपए नहीं देने पर उसकी मोटर साइकिल की चाबी निकलकर ले गया है और कहा है कि जब रुपए देगा तब मोटर साइकिल की चाबी वापस करूंगा। हनीफ खान ने अपने सुसाइड नोट में आगे लिखा है कि अनेक बार मिन्नत करने के बाद भी वह उसे परेशान करना नहीं छोड़ रहा है। लगातार निक्की जैन के द्वारा उसे बेइज्जत किया जाता रहा है। इसके अलावा हनीफ ने अपने सुसाइड नोट में खरियार रोड़ के कपड़ा व्यवसायी का उल्लेख करते हुए लिखा है कि अमरदीप छाबड़ा लगातार उसे रुपए लौटाने के नाम पर गाली गलौच कर रहा है। उधार लिये रूपए नहीं लौटाने पर आधी रात को फोन करता है और पुलिस में रिपोर्ट लिखा कर थाने में बंद करवाने की धमकी देता है। लगातार मुझे इन दोनों व्यक्तियों द्वारा परेशान किया जा रहा है, जिसकी वजह से मैं रात में सो नहीं पा रह हूं और मेरा जीना हराम हो गया है। बागबाहरा एसडीओपी लितेश सिंग ने कहा कि मामले की जांच चल रही है। सोसाइड नोट में दो लोगों का नाम तो लिखा लेकिन अभी परिजनों का बयान नहीं हो पाया है। परिजनों के बयान के बाद ही मामले में आगे कार्रवाई की जायेगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804