GLIBS
04-08-2020
विधायक छन्नी साहू ने राजनांदगांव एसपी को बांधा रक्षा सूत्र, लिया सुरक्षा का वादा

राजनांदगांव। खुज्जी विधायक छन्नी चंदू साहू ने राजनांदगांव एसपी को रक्षा सूत्र बांधकर सुरक्षा का वादा लिया। उन्होंने सुबह से राजनांदगांव पहुंचकर एसपी, सीएसपी सहित जिले के आला अधिकारियों को राखी बांधकर महिलाओं की सुरक्षा का वादा लिया। छन्नी साहू ने अपने घर के गार्ड सहित जिले के जनप्रतिनिधियों को भी रक्षासूत्र बांधा। छन्नी साहू ने कोरोना से बचने लोगों को सुरक्षा के लिए कहा कि समय के बाद घर से न निकलें घर में रहे सुरक्षित रहें, कोरोना से लडने का यही एक मात्र रास्ता है।

03-08-2020
एनएसयूआई की छात्राओं ने पुलिसकर्मियों को बांधी राखी

भिलाई। रक्षाबंधन पर जिला एनएसयूआई के अध्यक्ष आदित्य सिंह के निर्देश पर तथा जिला महासचिव संदीप साव के नेतृत्व में एनएसयूआई की छात्रा विंग ने भिलाई के छावनी थाना एवं वैशाली नगर थाना में कोरोना काल में लोगों की सुरक्षा में लगे पुलिस के जवानों को राखी बांधी। एनएसयूआई की बहनें ने पुलिस कर्मचारियों को राखी बांधकर मिठाई खिलाकर मुंह मीठा किया। कार्यक्रम में कामना सिन्हा, पुष्पा पटेल, लीली मांझी,रश्मी सिन्हा के साथ पलाश लीमेश,नवदीप सिंह,कृतेश साहू,समीर निम्बालकर,राहुल देशमुख,मेघराज खन्ना,यश सिंह आदि उपस्थित थे।

 

03-08-2020
मुख्यमंत्री को छाया वर्मा, डॉ. किरणमयी नायक और करुणा शुक्ला ने बांधी राखी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सोमवार को उनके निवास कार्यालय में राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक और पूर्व सांसद करुणा शुक्ला ने राखी बांधी। उन्होंने मुख्यमंत्री के दीघार्यु, स्वस्थ और यशस्वी जीवन की कामना की। मुख्यमंत्री बघेल ने भी उन्हें रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी। उन्होंने परम्परा अनुरूप भेंट स्वरूप साड़ी और उपहार दिए।

 

03-08-2020
पुलिस ने कोविड-19 अस्पताल में बांटे मास्क, राखी और मिठाई

दुर्ग। पुलिस अपने सामाजिक सरोकार के दायित्वों का समय समय पर बखूबी निर्वहन करती रहती है। इसी का ताजा उदाहरण सोमवार को देखने को मिला। दुर्ग पुलिस ने रक्षाबंधन पर महामारी से लड़ रहे योद्धाओं के लिए राखी,मास्क और मिठाई देकर उनका मनोबल बढ़ाया। दुर्ग पुलिस ने भिलाई के शंकराचार्य कोविड-19 अस्पताल में करोना योद्धाओं के साथ राखी का त्यौहार मनाया। उन्हें राखी,मास्क और मिठाई भेंट स्वरूप वितरण किया। कार्यक्रम में दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भूरे और एसपी प्रशांत ठाकुर विशेष रूप से मौजूद थे। उन्होंने कोरोना से लड़ने वाले इन योद्धाओं का मनोबल बढ़ाते हुए समाज में कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करते रहने की अपील की। एसपी प्रशांत ठाकुर ने कहा कि संकट के इस दौर में जिला पुलिस इस महामारी से लड़ रहे योद्धाओं के साथ खड़ी हैं। वही कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर भूरे ने जिला पुलिस के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि निश्चित ही इस आयोजन से समाज में सकारात्मक संदेश जाएगा। 

 

03-08-2020
सूनी न रहे भाईयों की कलाई,कोविड अस्पताल में मरीजों को मिली बहनें,सिस्टरों ने राखी बांधकर मनाया रक्षाबंधन

कोरबा। जिले में संचालित विशेष कोविड अस्पताल में रक्षाबंधन पर माहौल उस वक्त भावुक हो गया,जब अस्पताल में कोरोना मरीजों की देखभाल करने वाली महिला मेडिकल स्टाफ पीपीटी पहन कर हाथों में राखी,मिठाई की थाली सजाकर अचानक वार्ड में पहुंची। सभी नर्सों ने अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कलाइयों पर रक्षा सूत्र बांधे और मिठाई खिलाकर मुंह मीठा कराया तथा उनके जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से कामना की। कोरबा कोविड अस्पताल में भर्ती 44 मरीजों की कलाइयों पर आज नर्सों ने राखी बांधकर रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया।सिस्टर ज्योति,सिस्टर अंजली,सिस्टर ममता,सिस्टर यामिनी,सिस्टर ग्लोरिया और सिस्टर महारानी ने अस्पताल में मौजूद सभी कोरोना मरीजों को रक्षाबंधन पर बहनों की कमी महसूस नहीं होने दी। अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कोरबा जांजगीर-चांपा और गोरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के 44 मरीज अस्पताल प्रबंधन की इस भावनात्मक पहल पर भावुक हो गए। इस दौरान अस्पताल के इंचार्ज डॉक्टर प्रिंस जैन भी मौजूद रहे। कोविड अस्पताल के मेडिकल स्टाफ ने बताया कि सभी ने अस्पताल में भर्ती मरीजों से बातचीत के दौरान ही इस रक्षाबंधन पर अपने घर नहीं जा पाने और बहनों से राखियां नहीं बंधवा पाने के दर्द को पहले ही भाँप लिया था। मरीजों की भावनाओं और इस पर्व पर बहनों को बहुत मिस करने की बात जानकर कॉविड अस्पताल के इंचार्ज डॉ.प्रिंस जैन ने अस्पताल में ही रक्षाबंधन मनाकर भर्ती मरीजों को कोरोना के इस संक्रमण काल में सरप्राइज देने की योजना बनाई।
रक्षा बंधन के एक दिन पहले ही अस्पताल के मेडिकल स्टाफ ने की तैयारियां शुरू कर दी थी। सिस्टर ग्लोरिया, सिस्टर ज्योति ने बताया कि कल शाम को ही सभी मरीजों के लिए राखियां और मिठाइयां आदि अस्पताल पहुंच गई थी और सुबह जब डॉक्टर मरीजों की जांच के लिए राउंड पर थे, तब वे सभी पीपीई किट पहनकर थालियों में राखियाँ और मिठाई सजाकर वार्ड में पहुंची। उन्हें देखकर मरीजों के चेहरे पर खुशी और आंखों में भावुकता का पानी आ गया। सभी ने खुशी -खुशी अपनी कलाइयां आगे कर नर्सों से राखियां बँधवाई, अपनी बहनों को याद किया और रक्षाबंधन पर बहनों के साथ घर पर होने वाली नोक-झोंक के किस्से सुनाए।

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही,जांजगीर चांपा और कोरबा जिले के 44 मरीजों ने इस पहल पर बताया कि रक्षाबंधन के दिन अस्पताल में हाथों की कलाइयां राखियों से भरी होने पर उन्हें बहुत मानसिक संतोष मिला है। कोरोना पॉजिटिव होने के कारण इस अस्पताल में भर्ती मरीजों को वैसे भी घर परिवार की याद सता रही है, रक्षाबंधन जैसे पर्व पर वे अपनी बहनों को बहुत मिस कर रहे थे। मरीजों का कहना है कि अस्पताल की नर्सों ने इस त्यौहार को कोरोना महामारी दौर में भी यादगार बना दिया है, हमें आज कोरोना वारियर्स के रूप में बहादुर बहनें मिली है। मरीज़ों ने भावुक होकर कहा कि कोविड अस्पताल में घर जैसा माहौल है और शायद इसी कारण इस अस्पताल से कोई भी मरीज अभी तक मौत के गाल में नहीं समाया है, सभी मरीज जल्दी जल्दी ठीक होकर वापस लौट रहे हैं। कोविड अस्पताल में इलाज करने वाली नर्सों ने बताया कि वे भी अपनी ड्यूटी के कारण रक्षा बंधन पर भाइयों को राखी बांधने घर नहीं जा पा रही हैं। साल भर के त्यौहार पर घर ना जा पाना और भाइयों को राखी नहीं बांध पाने का मलाल उनके भी मन में था,परंतु फिर डॉ.प्रिंस जैन के आइडिया ने सभी को खुश कर दिया। उन्होंने बताया की आज मरीज और मेडिकल स्टाफ ने मिलकर रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया है तो ना किसी भाई की कलाई सुनी है, ना किसी बहन को इस त्योहार पर भाई की कमी महसूस हो रही है। इस बारे में डॉक्टर प्रिंस जैन ने बताया कि परिवार से अलग रह कर कोरोना का उपचार करा रहे मरीजों को दवाइयों के साथ-साथ भावनात्मक और मानसिक रूप से भी इलाज की जरूरत होती है ।रक्षाबंधन मनाने का यह अवसर मरीज़ों की इस जरूरत को पूरा करता है इससे यहां के सभी मरीजों के चेहरे के चेहरे खिल गए हैं।

 

03-08-2020
भाई की कलाई रह गई सूनी, राखी बांधने जा रही बहन की सड़क हादसे में मौत

लखनउ। रक्षाबंधन त्यौहार की खुशियां मातम में बदल गई। भाई को राखी बांधने जा रहीं बहन की सड़क हादसे में मौत हो गई और भाई की कलाई सूनी रह रही। दरअसल रंगौली गांव में रहने वाली लालती देवी(50) रक्षाबंधन पर भाई को राखी बांधने के लिए बाजार के पास स्थित पेट्रोल पंप के सामने खड़े होकर वाहन कर इंतजार कर रही थी। इस बीच तेज रफ्तार ट्रेलर ने लालती देवी को जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में महिला की मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणों ने टक्कर मारकर भाग रहे चालक को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। पुलिस ने मृतक के परिवार को घटना की जानकारी देकर आगे की कार्रवाई में जुट गई।

 

 

02-08-2020
Breaking: रायपुर में कल राखी और मिठाई बेचने की छूट 2 घंटे बढ़ी, संशोधित आदेश जारी 

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने सोमवार को मिठाई और राखी बेचने की छूट को 2 घंटे बढ़ा दिया है। पूर्व में जारी आदेश में तय समय को संशोधित किया गया है। अब राखी और मिठाई की दुकानें अगस्त को सुबह 6:00 से 12:00 तक खुली रहेंगी। इस दौरान कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए फेस मास्क के उपयोग के साथ-साथ सोशल और  फिजिकल डिस्टेंसिंग को सभी को ध्यान में रखना आवश्यक होगा।

02-08-2020
दुकानें बंद होने के कारण बहने भाईयों का मुंह मीठा कराएंगी अपने हाथ से बनी मिठाइयों से

रायपुर। राखी का मौका हो और मिठाई की बात न हो, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। इस दिन कई तरह के पकवान बनाये जाते हैं। खासतौर पर मिठाइयां बाजारों से मंगाई जाती है। लेकिन इस बार कोरोना के कारण बाजार बंद है। इस बार बहने कोरोना वायरस की वजह से मिठाई की दुकानों से नहीं बल्कि भाई का मुंह मीठा करने के लिए घर पर ही कुछ ट्राई करना पसंद करेंगे। इस तरह घर पर बना सकते हैं बेसन की बर्फी ,काजू की बर्फी ,मूंगफली की मिठाई।

बेसन की बर्फी
सबसे पहले एक प्लेट ले, उसपर बटर पेपर डाल दें और उसके ऊपर थोड़ा सा घी का लपे लगा दें। अब गैस पर पैन रखे और उसमें चीनी डालकर थोड़ा सा पानी डाल दे, और उसे 5 मिनट तक पकाये। अब गैस पर दूसरी कढ़ाई रखे और उसमें घी डालकर गरम करें। फिर उसमें बेसन को डाल दें और उसे धीमी आंच पर 5-7 मिनट तक भुने। फिर प्लेट में निकल कर उसमें इलाइची पाउडर को डाल दे। फिर उसमें चाशनी को उसे मिलाये। जब चाशनी अच्छे से मिल जाये तो गैस को बंद कर दें। फिर उसके ऊपर पिस्ता को डाल दें, उसे कुछ देर ठंडा होने के लिए छोड़ दे। जब बर्फी हल्की गरम ही रहे तो उसे पीस में काट लें और बेसन की बर्फी बन कर तैयार है।

काजू की बर्फी बनाने की विधि
सबसे पहले काजू  को पीसकर और दूध को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। पेस्ट में चीनी डालें, हल्की आंच पर पकाएं। जब चीनी घुल जाए, तो मिक्सचर को एक बार उबाल लें। मीडियम आंच पर मिक्सचर को चलाते रहे। जब मिक्सचर पैन का किनारा छोड़ने लगे और गुंथे हुए आटे की तरह हो जाए तो इसे आंच से उतार लें। घी लगे बर्तन पर निकालें। करीब ¼ और 1/8 मोटे पीस में जमाने के लिए रख दें। ऊपर से चांदी का वर्क लगाएं। ठंडा होने के लिए रख दें। डायमंड शेप में काटकर सर्व करें।

मूंगफली की मिठाई
सबसे पहले कड़ाही में मूंगफली डालकर गरम कर लें। अब इसके छिलके उतार दें और मिक्सी में पीस लें। छलनी की सहायता से छान लें।
अब कड़ाही में पानी और चीनी डाल कर एक तार की चाशनी बना लें। अब इसमें पीसी मूंगफली डालकर 5 मिनट तक पकायें। थोड़ा सा मिश्रण निकाल लें। बाकी में दूध में रंग मिला कर डाल कर 2 मिनट तक पका लें। अब जो मिश्रण निकाला हैं उसमें काजू और बादाम पीस कर मिला लें। अब एक बटर पेपर पर फैला दें इसके ऊपर ड्राई फ्रूट वाला मिश्रण फैला दें। अब इसको रोल कर फ्रिज में 20 मिनट के लिए रख दे। अब बटर पेपर निकाल कर चाँदी का वर्क लगा दें। अब निकाल कर इसको टुकड़ों में काट दे।

02-08-2020
रक्षाबंधन के दिन खुलेंगी राखी और मिठाइयों की दुकान

अम्बिकापुर। जिले में रक्षाबंधन के त्यौहार पर 3 अगस्त को 1 दिन के लिए प्रातः 6 से सुबह 10 बजे तक राखी एवं मिठाई की दुकानें खुली रहेगी। इस दौरान ग्राहक और दुकानदारों को फेस मास्क के उपयोग तथा सोशल/फिजिकल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखने का आदेश जिला कलेक्टर ने जारी किया है। यह आदेश नगर पालिक निगम क्षेत्र अम्बिकापुर एवं नगर पंचायत क्षेत्र लखनपुर के लिए लागू होगा। पूर्व में प्रसारित कार्यालयीन आदेशों की शेष कंडिकाएं यथावत् लागू रहेंगे।

02-08-2020
लॉक डाउन में खुली मिठाई दुकानें और सजी रही राखियां, नियमों की उड़ी धज्जियां

रायपुर। शहर में लॉक डाउन का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है। कई स्थानों पर राखी और मिठाई की दुकानें खुली हुई है। बता दें कि जिला प्रशासन की ओर से लगातार 4 दिन तक सुबह 6 बजे से 10 बजे तक खरीदारी के लिए छूट दी गई थी। बावजूद इसके ​रविवार को राखी और मिठाई की दुकान खोलकर ताबड़तोड़ भीड़ एकत्रित करना कहीं न कहीं जिला प्रशासन की बड़ी चूक है।

01-08-2020
जशपुर में रविवार को कंटेंमेंट जोन छोड़कर राखी मिठाई व कपड़ा दुकान खोलने की अनुमति दी कलेक्टर ने

रायपुर/जशपुरनगर। कोरोना वायरस संक्रमण की सुरक्षा को देखते हुए और त्यौहार के मद्देनजर कलेक्टर महादेव कावरे ने लोगों की सुविधा के लिए जिले में बनेे कंटेनमेंट जोन को छोड़कर कपड़ा, राखी,मिठाई सहित अन्य दुकानों को रविवार को खोलने की अनुमति दी है। दुकानें 2 अगस्त को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक खोली जाएगी। उन्होंने कहा कि पत्थलगांव 2 अगस्त से कंटेनमेट जोन से बाहर होगा है। बाकी दिन भी सुबह 6 से शाम 6 बजे दुकानें संचालित होगी। दुकानदारों और ग्राहकों को सोशल डिस्टेंसिग का पालन और मास्क लगाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि नियम का उल्लघंन करने वाले पर महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाएगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804