GLIBS
20-06-2021
पिछड़ा था गामावाड़ा देवगुड़ी, विकास कार्यों से मिली सुविधाएं,गायता प्रतिनिधियों ने भेंट किया सीएम को अभिनंदन पत्र  

रायपुर। दंतेवाड़ा जिलें के गामावाड़ा देवगुड़ी के सौंदर्यीकरण और विकास के लिए वहां के गायता प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद कहते हुए उन्हें अभिनंदन-पत्र भेंट किया। जिले के विकास-कार्यों के वर्चुअल भूमिपूजन और लोकार्पण कार्यक्रम में दंतेवाड़ा से लाइव बातचीत करते हुए गायता प्रतिनिधिमंडल ने बघेल को गोंडी में लिखा वह अभिनंदन पत्र कैमरे पर दिखाया, जिसे वे साथ लेकर आए थे। उन्होंने कहा पहले हमारे गांव में बहुत अभाव था, लेकिन अब विकास हो रहा है। देवगुड़ी में डोमशेड के निर्माण के साथ-साथ पानी की भी व्यवस्था हो गई है। सुरक्षा के लिए तार फैंसिंग और स्वच्छता की दृष्टि से शौचालय का भी निर्माण किया गया है। देवगुड़ी परिसर में फलदार और छायादार वृक्षों का रोपण किया गया है। प्रतिनिधिमंडल में शामिल गायता पुजारी संतराम भास्कर ने कहा आप हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। इसके लिए हम आपका धन्यवाद कहना चाहते हैं। उन्होंने बताया अपने क्षेत्र के विकास के लिए उन्होंने गांव वालों के साथ मिलकर 07 सूत्रीय कार्यक्रम की शुरुआत की है। इसमें गंदगी मुक्त पंचायत, सुपोषित पंचायत, एनीमिया मुक्त पंचायत, मलेरिया मुक्त पंचायत, शत प्रतिशत शिक्षित पंचायत, शत प्रतिशत संस्थागत प्रसव और हमारी सांस्कृतिक धरोहरों का संरक्षण शामिल है। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को अभिनंदन पत्र के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि देवगुड़ियों के विकास और सौंदर्यीकरण की शुरुआत दंतेवाड़ा से ही हुई थी। उन्हें यह जानकर अच्छा लगा कि देवगुड़ियों का अच्छा विकास हो रहा है। इस काम को और भी आगे बढ़ाया जाएगा।

 

20-06-2021
पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य ने अपने शेष कार्यकाल का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में किया दान, सीएम ने की सराहना

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से रविवार को उनके निवास कार्यालय में राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य महेश चंद्रवंशी ने मुलाकात की। चंद्रवंशी ने पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य के रूप में अपने शेष कार्यकाल का वेतन कोरोना के रोकथाम एवं प्रबंधन के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान किए जाने का पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा। चंद्रवंशी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में कोरोना संक्रमण की रोकथाम और जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं। कोरोना से पीड़ितों के इलाज के लिए राज्य सरकार की ओर से स्वास्थ्य सुविधाओं का सुदृढ़ बनाने के लिए किए जा रहे कार्याें की चंद्रवंशी ने सराहना की। मुख्यमंत्री बघेल ने सदस्य चंद्रवंशी के इस संवेदनशील कदम की सराहना की और इसे अनुकरणीय कहा।

 

20-06-2021
इस प्रदेश के सीएम ने किया ऐलान, राज्य की योजनाओं से बाहर होंगे दो से ज्यादा बच्चे वाले दंपत्ति

गुवाहाटी/रायपुर। जनसंख्‍या नियंत्रण की दिशा में उपायों को लेकर असम के मुख्‍यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा एक बार फिर चर्चा में है। उन्होंने अपने राज्य में ऐलान किया है कि दो से ज्यादा बच्चे वाले दंपत्ति राज्य की योजनाओं से वंचित रहेंगे। पिछले महीने पदभार ग्रहण करने के बाद से ही सरमा सरकारी योजनाओं के तहत लाभ का उपयोग करने के लिए दो बच्चों के मानदंड की वकालत कर रहे हैं। उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय से गरीबी कम करने के लिए जनसंख्या नियंत्रण के वास्ते एक ‘उचित परिवार नियोजन नीति’ अपनाने का आग्रह किया था। आबादी अधिक होने से रहने की जगह कम हो जाती है और परिणामस्वरूप भूमि पर अतिक्रमण होता है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि असम में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य सरकार की चुनिंदा योजनाओं में जनसंख्या नियंत्रण मानदंडों को लागू करने का निर्णय लिया है, हालांकि ये मानदंड सभी सरकारी योजनाओं पर लागू नहीं होंगे।

उन्होंने कहा, ‘हम स्कूलों या प्रधानमंत्री आवास योजना में दो बच्चों वाले मानदंडों को लागू नहीं कर सकते लेकिन अगर हम सीएम आवास योजना शुरू करते हैं, तो इसे लागू किया जा सकता है।’ बता दें कि असम में जनसंख्या नीति पहले से ही लागू है। 2019 में पिछली भाजपा सरकार ने फैसला किया था कि दो से अधिक बच्चों वाले लोग जनवरी 2021 से सरकारी नौकरियों के लिए पात्र नहीं होंगे। यह जनसंख्या और महिला अधिकारिता नीति पर 2017 में विधानसभा की ओर से पारित एक प्रस्ताव का फॉलोअप है। सीएम ने कहा, ‘1970 के दशक में हमारे माता-पिता या दूसरे लोगों ने क्या किया इस पर बात करने का कोई तुक नहीं है। विपक्ष ऐसी अजीबोगरीब चीजें कह रहा है और हमें 70 के दशक में ले जा रहा है।’ शर्मा ने 10 जून को तीन जिलों में बेदखली के बारे में बात की थी और अल्पसंख्यक समुदाय से गरीबी को कम करने के लिए जनसंख्या नियंत्रण को लेकर शालीन परिवार नियोजन नीति अपनाने का आग्रह किया था।

16-06-2021
मां और बड़े भाई का देहांत,मुश्किल से कट रही थी युवती की जिंदगी,सीएम ने सुनी दास्तां और हुए भावुक

अम्बिकापुर। एक युवती की संघर्ष की दास्तां सुनकर मुख्यमंत्री भावुक हो गए। उच्च विश्राम गृह में आयोजित विकास कार्यों के वर्चुअल भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में अम्बिकापुर के दर्रीपारा निवासी योगिता जायसवाल से भूपेश बघेल ने बात की। योगिता ने बताया कि नगर निगम अम्बिकापुर में भृत्य की नौकरी कर परिवार का भरणपोषण करने वाली मां के देहांत के बाद बड़े भाई की भी मौत हो जाने से उनकी 12 वर्षीय पुत्री की देखभाल का जिम्मेदारी भी मुझ पर आ गई। इससे मुझ पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा। पिताजी पहले से ही परिवार से अलग रहते थे। सीमा बंधन के कारण मां के स्थान पर अनुकम्पा नियुक्ति भी नहीं मिल रही थी। रोजगार का कोई जरिया नहीं होने से बड़े कठिन दौर से जिंदगी गुजर रही थी। राज्य शासन की ओर से अनुकम्पा नियुक्ति में 10 प्रतिशत की सीमा बंधन समाप्त करने से अब नगर निगम में सहायक ग्रेड 3 के पद पर नियुक्ति मिलने से राहत मिली है। इस संघर्षपूर्ण एवं मार्मिक बातों को सुनकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भावुक हो गए। उन्होंने योगिता से कहा कि आपने कठिन दौर का सामना किया है लेकिन अब नौकरी मिल जाने से बहुत हद तक राहत मिल गई होगी। अपने वर्चुअल संवाद में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार की कोशिश है कि नियमो का सरलीकरण कर लोगों को राहत और लाभ पहुंचाई जाए। इसी क्रम में हमने अनुकम्पा नियुक्ति में नियम शिथिल किया है। इसी प्रकार अब अपने जमीन पर पेड़ लगाने के बाद काटने के लिए अनुमति के लिए किसी दफ्तर का चक्कर लगाने की जरूरत नही है। इस दौरान स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय ब्रम्हपारा के विद्यार्थी प्रकृति मलतियार ने भी मुख्यमंत्री से संवाद कर स्कूल में उपलब्ध संसाधन, सुविधाएं और वातावरण के बारे में बताई। मुख्यमंत्री ने प्रकृति की फर्राटेदार अंग्रेजी वार्ता की तारीफ की और पूछा- आर यू सटिस्फाइड तो प्रकृति ने कहा- यस।

15-06-2021
इस राज्य के एडिशनल कलेक्टर गांवों का दौरा करेंगे एसयूवी से, सीएम ने तोहफे मेें दी 32 कारें

नई दिल्ली। तेलंगाना सरकार ने किआ मोटर्स की लग्जरी एमपीवी कार किआ कार्निवल राज्य के 32 एडिशनल कलेक्टरों को तोहफे में दी है। मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कलेक्टरों को गिफ्ट में यह कार अपनी ड्यूटी का पालन करने और विकास कार्यों को पूरा करने में मदद करने के उद्देश्य से दी है। इस कार में कलेक्टर जिले का दौरा करेंगे और क्षेत्र की विकास योजनाओं का जायजा लेंगे। इसके लिए मुख्यमंत्री ने लगभग 9.6 करोड़ रुपये में 32 किआ कार्निवल कारें खरीदी। हालांकि मुख्यमंत्री के इस फैसले पर विपक्ष कड़ा विरोध जता रहा है।  मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने हैदराबाद के प्रगति भवन में अपने कैंप कार्यालय में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों की समीक्षा के बाद वाहनों को अतिरिक्त कलेक्टरों को सौंप दिया। परिवहन विभाग के एक अधिकारी ने बताया,"राज्य सरकार को हर वाहन के लिए लगभग 30 लाख रुपये की लागत आई है। इन वाहनों को मुख्यमंत्री के निर्देश पर तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन प्राधिकरण ने खरीदा था। वाहन अतिरिक्त कलेक्टरों को अपनी ड्यूटी निभाने के दौरान गांवों के व्यापक दौरों में मदद करेंगे।" सीएम राव ने गाड़ियों का निरीक्षण किया और फिर परिवहन मंत्री पुवडा अजय कुमार ने वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उनके साथ मुख्य सचिव सोमेश कुमार और उप परिवहन आयुक्त पापा राव भी मौजूद थे। तेलंगाना सरकार को इन गाड़ियों के लिए करीब 10 करोड़ रुपये खर्च करने पड़े हैं। इसके कारण राज्य सरकार को विपक्षी पार्टियों के भारी विरोध को झेलना पड़ रहा है। भाजपा नेताओं ने इस निर्णय पर कड़ा विरोध जताया और कहा कि तेलंगाना सरकार पर 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। देश कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है और महामारी के बीच मुख्यमंत्री का यह कदम जनता के पैसे की बर्बादी है।  

08-06-2021
बीएड-डीएड प्रशिक्षित संघ का आंदोलन स्थगित

रायपुर। बीएड-डीएड प्रशिक्षित संघ का मंगलवार को होने वाला आंदोलन स्थगित हो गया है। संघ नियुक्ति को लेकर सीएम हाउस का घेराव करने वाले थे। प्रशासन के भारी दवाब के चलते आंदोलन रद्द कर दिया है। बता दें कि छत्तीसगढ़ प्रशिक्षित बीएड-डीएड संघ नियुक्ति को लेकर आज सीएम हाउस का घेराव करने वाले थे। संघ ने ऐलान किया था कि यदि मांगे नहीं मानी गई तो 9 जून से भूख हड़ताल करेंगे। बीएड- डीएड के हजारों कैंडिडेट चयन के बाद भी नियुक्ति नहीं मिलने से सरकार से नाराज हैं।

05-06-2021
Breaking:  टीएमसी प्रमुख और सीएम ममता ने भतीजे अभिषेक को सौंपी महासचिव की जिम्मेदारी

रायपुर/कोलकाता। टीएमसी प्रमुख और सीएम ममता बनर्जी ने अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी को पार्टी का महासचिव नियुक्त किया है। साथ ही अभिनेत्री सायोनी घोष को तृणमूल युवा कांग्रेस के अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी है।

04-06-2021
मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा, पूरे 5 साल सीएम भूपेश बघेल के नेतृत्व में चलेगी सरकार

रायपुर। पिछले कुछ समय से छत्तीसगढ़ में सीएम के ढाई-ढाई साल का मुद्दा गरमाया हुआ है। फिलहाल कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे ने इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण देकर मामले को शांत किया है। प्रदेश में मुख्यमंत्री के ढाई-ढाई साल के मुद्दे पर मंत्री रविंद्र चौबे ने बयान दिया है। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ में ऐसा कोई फॉर्मूला नहीं है। सरकार पूरे 5 साल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में चलेगी। मंत्री ने दावा किया है कि आने वाले कई साल भी भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार चलेगी।

 

28-05-2021
विकास उपाध्याय ने अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में सीट बढ़ाने मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन,सीएम ने दी मौखिक सहमति

रायपुर। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में कक्षा-1 से 12वीं तक की सीटों की संख्या बढ़ाने की मांग रखी है। शुक्रवार को विधायक उपाध्याय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ज्ञापन सौंपा है। मुख्यमंत्री बघेल ने भी इस विषय को गंभीरता से लेते हुए सीटों की संख्या बढ़ाने की मौखिक सहमति दी है। संसदीय सचिव एवं विधायक  उपाध्याय ने आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर इस विषय पर ध्यान आकृष्ट  कराया है। उपाध्याय ने अपने ज्ञापन में बताया है कि स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करते हुए छत्तीसगढ़ शासन की ओर से प्रारंभ किए गए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का संचालन पूरे प्रदेश में हो रहा है। इसमें अनेक छात्र-छात्राएं लाभांवित हो रहे हंै। वर्तमान में विगत वर्ष से संचालित विद्यालयों में प्रारंभिक पहली के अतिरिक्त दूसरी से बारहवीं कक्षाओं में सीटें रिक्त नहीं हैं, इसके कारण अनेक प्रतिभावान छात्र-छात्राएं प्रवेश से वंचित हो रहे है।  वर्तमान में कोरोनाकाल के कारण भी अनेक परिवार रोजगार से वंचित हैं। कई परिवारों के पालकों का कोरोना के कारण आकस्मिक निधन भी हो चुका है। ऐसे में ऐसे परिवारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। इन पहलुओं को ध्यान में रखते हुए और प्रदेश के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य को ध्यान में रखते हुए राज्य में संचालित स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के समस्त कक्षाओं में प्रवेश के लिए सीटें बढ़ाने की जरूरत है।  विकास उपाध्याय के इस अनुरोध को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सहर्ष स्वीकार करते हुए राज्य में संचालित स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम शालाओं में प्रवेश के लिए सीटें बढ़ाने की मौखिक सहमति प्रदान कर दी है।

14-05-2021
Breaking : शिवराज सिंह ने कहा, पत्रकारों और उनके परिजनों की कोरोना से इलाज की चिंता अब सरकार की

भोपाल/रायपुर। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि कोरोना संक्रमित पत्रकार व उनके परिवार का पूरा इलाज सरकार कराएगी। प्रिंट, इलेक्ट्रानिक और डिजिटल मीडिया के सभी अधिमान्य और गैर अधिमान्य पत्रकारों व उनके परिवार की कोरोना से इलाज की चिंता अब सरकार करेगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804