GLIBS
29-06-2020
सीएम भूपेश के खिलाफ अर्नब ने की आपत्तिजनक टिप्पणी, कांग्रेसियों ने दर्ज कराई रिपोर्ट

रायपुर। सीएम भूपेश बघेल के खिलाफ पत्रकार अर्नब गोस्वामी की आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद कांग्रेस भड़क गई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों और सदस्यों ने राजधानी के सिविल लाइन थाने में अर्नब के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सन्नाी अग्रवाल, शमीम अख्तर, नरेश गड़पाल, अभिषेक बोरकर, शानू रजा, मो. जीशान हाशमी, अनीश मनिहार, सन्नाी दास, राजा अली, नौशाद अंसारी, अनुराग सिंह, वैभव पवार, पिंटू, सौरभ, लोकेश, चिराग, शुभम अन्य लोगों ने बड़ी संख्या में पहुंचकर एफआईआर दर्ज कराया। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अर्नब गोस्वामी ने राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी अभद्र टिप्पणी के खिलाफ कांग्रेसियों ने कई थानों में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। अब प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ आपत्तिजनक से कांग्रेस पार्टी फिर से भड़क गई है।

13-06-2020
दिवंगत कर्मियों के परिजनों को मिली अनुकंपा नियुक्ति, सीएम ने दिया अपॉइंटमेंट लेटर

रायपुर। छत्तीसगढ़ स्टेट पाॅवर ट्रांसमिशन कंपनीज में सेवारत रहते हुए दिवगंत कर्मियों के परिजनों को अनुकम्पा नियुक्ति मिली है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को अपने निवास कार्यालय में अनुकम्पा नियुक्ति पत्र प्रदान किया। राज्य शासन की इस पहल से इन परिवारों को काफी राहत मिलेगी। मुख्यमंत्री बघेल ने नवनियुक्त कर्मियों के सुखद जीवन की कामना की। उन्हें परिवार के अन्य आश्रितों की समुचित देखभाल के लिए प्रेरित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में हो रहे तेज विकास की धुरी बिजली है। हर्ष की बात है कि बिजली के मामले में छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्य में शामिल है। यहां कृषि-उद्योग जगत सहित घरेलू उपभोक्ताओं के लिए सहज और सस्ते दर पर बिजली उपलब्ध हो रही है। प्रदेश के इतिहास में पहली बार बिजली उपभोक्ताओं को विभिन्न रियायतें दी गई हैं। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार पावर कंपनी जनहितैषी कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता से पूरी कर रही है। इसके अनुपालन में आज वितरित किए गए 27 अनुकम्पा नियुक्ति में 25 नियुक्तियां महिलाओं को दी गई। सभी ने मुख्यमंत्री बघेल के प्रति आभार व्यक्त किया है। कहा है कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान मुख्यमंत्री से मिले इस नियुक्ति पत्र से पूरे परिवार को संबल मिला है।

 

अनुकम्पा नियुक्ति पाने वाले में मंजू साहू महासमुंद, शीतल कोशले गुढ़ियारी, अंजु धीवर राजेंद्रनगर, रूकमणी सिन्हा सड्डू, संध्या देवांगन तेलीबांधा, मंजू साहू सेलूद पाटन, नलिनी विश्वकर्मा भिलाई और रोहणी साहू खम्हारडीह को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव व छत्तीसगढ़ स्टेट पावर कंपनीज के चेयरमेन सुब्रत साहू, प्रबंध निदेशक (ट्रांसमिशन) अशोक कुमार व मुख्य अभियंता (मानव संसाधन) पीसी पारधी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। शेष आश्रितों को उनके नियुक्ति पत्र कंपनी प्रबंधन की ओर से वितरित किए जाएंगे। इनमें  मंजू देवांगन तखतपुर, ममता साहू बिलासपुर, फिरतीन देवी टंडन जैजपुर, ओमिन करभाल बालोद, बबीता बिंझेलकर राजनांदगांव, पूनम महला कवर्धा, गीता निषाद जांजगीर-चांपा, कांति ठाकुर महासमुंद, नीलम वैष्णव डोंगरगढ़, केश्वरी दास कुनकुरी, देवकी निषाद जगदलपुर, श्यामबाई साहू बिरकोना, विजयलक्ष्मी रावटे नारायणपुर, रेश्मा कश्यप बिलासपुर, दीपिका प्रजापति धमतरी, उर्मिला कुंजाम कांकेर, सुमन सिंह सरगुजा, धनीराम रजक जांजगीर-चांपा और रामनारायण राठौर बिलासपुर शामिल है।

 

 

11-06-2020
भूपेश बघेल से मिले प्रशिक्षु आईएफएस, सीएम ने कहा- वनांचल में जाकर करें सामाजिक आर्थिक समस्याओं का अध्ययन

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अखिल भारतीय वन सेवा-2018 बैच के प्रशिक्षु अधिकारियों ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ का लगभग 44 प्रतिशत भू-भाग वनों से आच्छादित है। साथ ही प्रदेश में लगभग एक तिहाई आदिवासी लोग निवासरत हैं। इन आदिवासी परिवारों सहित अन्य ग्रामीण वनवासी परिवारों की आजीविका मुख्य रूप से वनों पर आधारित है। मुख्यमंत्री ने प्रशिक्षु अधिकारियों से कहा राज्य में ग्रामीण वनवासी परिवारों के जीवन को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने में अपना अहम् योगदान निभाएं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में आदिवासी और वनवासी तेंदूपत्ता और वनोपजों का संग्रहण करते हैं। छत्तीसगढ़ पूरे देश में तेंदूपत्ता उत्पादन में प्रमुख स्थान रखता है। तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य से लगभग 13 लाख परिवारों को रोजगार मिलता है। इसके अलावा अनेक औषधि और लघु वनोपज का संग्रहण कार्य के माध्यम से बड़ी तादात में आदिवासी और वनवासी परिवारों को रोजगार के साथ-साथ आय का अतिरिक्त लाभ मिलता है। राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष 25 लघु वनोपजों की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा रही है। इससे वनवासियों को वनोपजों के संग्रहण में उनके मेहनत का वाजिब दाम मिलता है।मुख्यमंत्री ने प्रशिक्षु आईएफएस अधिकारियों से कहा कि सभी अधिकारी वनांचल क्षेत्रों में जाकर सामाजिक आर्थिक समस्याओं का अध्ययन करें। उनकी समस्याओं को नजदीक से देखें। वनांचल में रहने वाले ग्रामीण आदिवासी परिवारों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए नवाचारी पहल करें। मुख्यमंत्री बघेल ने भारतीय वन सेवा में चयन उपरांत उन्हें वनांचल और आदिवासी बाहुल्य छत्तीसगढ़ राज्य में सेवा का अवसर मिलने पर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी उपस्थित थे।

 

29-05-2020
वेतन वृद्धि रोकने के आदेश को निरस्त करने की मांग, सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कांकेर। जिला राजपत्रित अधिकारी संघ के पदाधिकारियों ने वार्षिक वेतन वृद्धि रोके जाने के निर्णय पर पुनः विचार किये जाने के सम्बंध में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन कांकेर कलेक्टर को सौंपा है। ज्ञापन में उल्लेख करते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ शासन के अधीन कार्यरत शासकीय सेवक नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) जैसे वैश्विक महामारी से लड़ रहे है।इसमें स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, पशु पालन विभाग, राजस्व विभाग, गृह विभाग सहित अन्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी जान जोखिम में डाल कर सेवायें दे रहे है ऐसे में वार्षिक वेतनवृद्धि को रोकने का निर्णय सही नहीं है।

साथ ही यह भी उल्लेख किया गया है कि छग शासन अन्य राज्यों की भाँति जोखिम भत्ता, कर्मचारियों की असामयिक मृत्यु होने पर अनुग्रह राशि देने की भी मांग की है। कोरोनकाल को देखते हुए प्रदेश के कर्मचारियों द्वारा स्वयं ही अपने 1 दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में दे चुके हैं। शासन के इस निर्णय का जिला राजपत्रित अधिकारी संघ जिला कांकेर विरोध करते हुए वेतन वृद्धि रोके जाने के आदेश को तत्काल निरस्त करने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने वालों में राजपत्रित अधिकारी संघ के अध्य्क्ष विमल कुमार गौतम, सचिव चन्द्रशेखर मिश्रा, कोषाध्यक्ष श्रद्धा सुमन एक्का, संरक्षक एमआर चेलक अतरिक्त जिला दंडाधिकारी, विवेक दलेला सहायक आयुक्त आदिवासी विकास कांकेर रहे।

09-05-2020
मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृत श्रमिक दंपत्ति के परिजनों को 5 लाख की सहायता, सीएम ने दी स्वीकृति

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से छत्तीसगढ़ के बेमेतरा लौट रहे श्रमिक दंपत्ति की शुक्रवार को सड़क हादसे में मृत्यु पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने श्रमिक दम्पत्ति के परिवारजनों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से तत्काल 5 लाख रुपए की सहायता की स्वीकृति प्रदान की है। उल्लेखनीय है कि बेमतरा जिले के नवागढ़ इलाके के गांव रनबोर में रहने वाले कृष्णा साहू मजदूरी करने लखनऊ गए थे। लॉक डाउन के कारण काम बंद हो जाने की स्थिति में लखनऊ से साइकिल से परिवार सहित वापस बेमेतरा लौट रहे थे। वापसी के दौरान रास्ते में अज्ञात वाहन से एक्सीडेंट होने के कारण  कृष्णा साहू और उनकी पत्नी की मृत्यु हो गई।

08-05-2020
सोशल मीडिया में सीएम के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करने वाले युवकों के खिलाफ मामला दर्ज

धमतरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ सोशल मीडिया पर दो युवकों ने अपशब्दों का प्रयोग किया है। शुक्रवार को कांग्रेस पार्षद दीपक सोनकर और सोमेश मेश्राम ने सिटी कोतवाली पहुंचकर अज्ञात के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में बताया गया है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को फेसबुक में आपत्ति जनक शब्दों का प्रयोग किया है,जिससे कांग्रेसियों में आक्रोश है। इसके चलते कांग्रेसियों ने थाने में शिकायत की है। वहीं कांग्रेसियों का कहना है अगर इसमें जल्द कार्यवाही नहीं होती तो कांग्रेस उच्च स्तर पर इसमें कार्रवाई की मांग करेंगे। आरोपी ने टिक-टॉक पर वीडियो अपलोड किया, और फेसबुक के एक पोस्ट पर कमेंट कर अपशब्दों का प्रयोग किया है। बहरहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

 

 

 

02-05-2020
मंत्री को राईस मिलर्स एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन, सीएम से करेंगे चर्चा 

रायपुर। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत से मुलाकात कर छत्तीसगढ़ प्रदेश राईस मिलर्स एसोसिएशन ने शुक्रवार को कस्टम मिलिंग की समस्या का निराकरण करने ज्ञापन सौंपा। एसोसिएशन ने कस्टम मिलिंग कार्य में मिलरों को हो रही समस्याओं से अवगत कराते हुए समाधान करने का आग्रह किया है। खाद्य मंत्री भगत ने एसोसिएशन के पदाधिकारियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इस संबंध में चर्चा कर आवश्यक कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है।

01-05-2020
Breaking: छत्तीसगढ़ के आईएएस इस माह भी देंगे एक दिन का वेतन,सीके खेतान ने सीएम को लिखा पत्र

रायपुर। छत्तीसगढ़ आईएएस एसोसिएशन ने पिछले माह की तरह इस माह भी एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया गया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष सीके  खेतान ने इस आशय का पत्र मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को भेजकर निर्णय से अवगत कराया है। खेतान ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव और रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री की अगुवाई में लॉक डाउन की अवधि में जरुरतमंदों की सहायता के लिए कार्य किए जा रहे हैं। इन कार्यों में सभी आईएएस अधिकारी भी टीम भावना से काम कर रहे हैं। राज्य के आईएएस अधिकारियों के साथ ही चतुर्थ श्रेणी तक के कर्मचारी कोरोना संकट से निपटने में अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन 17 मई तक के लिए केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ाया गया है, लेकिन छत्तीसगढ़ पहले ही इस संक्रमण को सीमित रखने में सफल हुआ है। खेतान ने मुख्यमंत्री को कोरोना संक्रमण सीमित रखने में उनकी रणनिति और अथक प्रयासों की सराहना की है।

 

24-04-2020
सीएम रि​लीफ फंड में मरार समाज ने 1 लाख और पीएम केयर फंड में दिए 51 हजार रुपए

रायपुर। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव और नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए देश एवं प्रदेश में धारा-144(1) लागू की गई है। साथ ही लॉक डाउन भी किया गया है। ऐसे आपात स्थिति में जरूरतमंद लोगों के लिए मदद करने वैश्विक संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री द्वारा सहयोग के आह्वान पर छत्तीसगढ़ प्रदेश (को.) मरार पटेल समाज द्वारा भी मानवता की सहायता के लिए अपने मानवीय जिम्मेदारी को समझते हुए सहर्ष आर्थिक सहयोग के लिए आगे आए। छत्तीसगढ़ प्रदेश (को.) मरार पटेल समाज की ओर से करोना पीड़ितों के सहायतार्थ मुख्यमंत्री सहायता कोष एवं पीएम केयर फंड के लिए कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन को मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 लाख 1 हजार रुपए और पीएम केयर फंड में 51 हजार रुपए की राशि प्रदान की गई।

प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र नायक, कर्मचारी प्रकोष्ठ अध्यक्ष लीलार सिंह पटेल, बिन्दु राम पटेल और नंदकुमार पटेल ने समस्त समाज के दानदाताओं के प्रति आभार व्यक्त किए है। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र नायक पटेल, सलाहकार नंदकुमार पटेल, डिप्टी कलेक्टर जागेश्वर कौशल, संरक्षक टीआर पटेल, तहसील अध्यक्ष ईश्वर पटेल और आईटी प्रकोष्ठ कुमार पटेल उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804