GLIBS
12-03-2020
मौसम विज्ञानियों ने भावी शिक्षकों को किया जागरुक, मानव जीवन पर प्रभाव और कारण की दी जानकारी

रायपुर। भारतीय मौसम समिति रायपुर चैप्टर ने गुरुवार को कॉलेज ऑफ़ टीचर एजुकेशन शंकर नगर में मौसम की घटनाएं और उसका कृषि, जल प्रबंधन और मानव स्वास्थ्य पर प्रभाव विषय पर एक जागरुकता कार्यक्रम किया। विशेषज्ञों ने जागरुकता कार्यक्रम में बीएड और एमएड कर रहे  350 छात्र-छात्राओं और प्रोफेसर सहित सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं को महत्वपूर्ण जानकारियां दी। एचएके सिंह निर्देशक और सोसायटी के चेयरमैन ने जागरुकता विवरण प्रस्तुत किया। एनएस मेहता मौसम वैज्ञानिक मौसम केंद्र रायपुर ने मौसम का पूर्वानुमान और विभिन्न प्रकार के चेतावनी के बारे में बताया। एचपी चंद्रा मौसम वैज्ञानिक ने चरम मौसम की घटनाओं का मानव जीवन के अलग-अलग क्रियाकलाप पर प्रभाव और उसके कारण पर जानकारी दी। जयंत दास वरिष्ठ अभियंता, डाटा सेंटर सिंचाई विभाग ने पानी की उपयोगिता, उसके महत्व, संरक्षण पर संक्षिप्त किंतु सार पूर्ण उद्बोधन दिया। डॉ.अनिल चंद्रा एसोसिएट प्रोफेसर शासकीय मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव ने चरम मौसम की घटना से होने वाली बीमारियों संक्रमण होने वाली बीमारियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

कार्यक्रम में शिक्षक शिक्षा महाविद्यालय शंकर नगर रायपुर की प्राचार्य जे.एक्का का सहयोग और प्राध्यापक डॉ.चक्रवर्ती का विशेष योगदान रहा। के प्राध्यापक डॉ.नीलम अरोरा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में लगभग 300 प्रशिक्षणार्थी शिक्षक उपस्थित थे। सभी ने विशेषज्ञों से प्रश्न कर अपने-अपने  शंका  का समाधान किया। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा कि सभी प्रशिक्षणार्थी शिक्षक,प्राध्यापक,प्राचार्य ने धैर्य के साथ व्याख्यान सुना और कार्यक्रम को सफल बनाया।

 

27-02-2020
प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को किया गया पुरस्कृत

रायपुर। महंत लक्ष्मीनारायण दास महाविद्यालय रायपुर के रेड रिबन क्लब एवं राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा एड्स जागरुकता कार्यक्रम के तहत हुए विभिन्न  प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्र छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। विगत दिनों हुए एड्स जागरुकता कार्यक्रम के तहत रंगोली, पोस्टर मेकिंग, पेंटिंग, भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहे विद्यार्थियों को समारोह के मुख्य अतिथि डॉ विमल कुमार पटेल (पूर्व राज्य संपर्क अधिकारी N.S.S), डॉ वी.एन. गुप्ता (प्राचार्य, शासकीय महाविद्यालय पथरिया), डॉ देवाशीष मुखर्जी (प्राचार्य,महंत महाविद्यालय), नीतू मंडावी (सहायक संचालक, छत्तीसगढ़ एड्स कंट्रोल सोसायटी) एवं डॉ लक्ष्मीकांत साहू (कार्यक्रम अधिकारी N S S,महंत महाविद्यालय) के द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए।

 

06-02-2020
बच्चों ने जाना तंबाकू के दुष्परिणामों के बारे में

रायपुर। राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत जिला तंबाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ द्वारा आडवाणी शासकीय हाईसेकेंडरी स्कूल, बिरगांव  में तंबाकू के दुष्परिणाम को लेकर जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। साथ ही तंबाकू के दुष्परिणाम प्रति जागरूक करने के लिए सूचना,शिक्षा और संचार की मुद्रित सामग्री का भी वितरण किया गया। कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राओं के अलावा शिक्षकों ने पेंटिग बनाने में भी भाग लिया। इस अवसर पर ज़िला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष मेजरवार, सीपीएम जोत्सना ग्वाल, ज़िला सलाहकार डॉ. सृष्टि यदु, द यूनियन संस्था के प्रकाश श्रीवास्तव,राजूलाल नवरंगे प्रोग्राम एसोसिएट मौजूद रहे। जागरुकता कक्षा के अंत में बच्चों को तंबाकू सेवन ना करने की शपथ भी दिलाई गई।

कार्यक्रम का आयोजन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल के निर्देशन एवं मार्गदर्शन में किया गया। तंबाकू के दुष्परिणाम की जानकारी देते हुए राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम की ज़िला सलाहकार डॉ.सृष्टि यदु ने स्कूली छात्र छात्राओं और टीचरों को भी  स्वस्थ जीवन शैली पर विस्तृत जानकारी दी। ज़िला कार्यक्रम प्रबंधक मनीष मेजरवार ने बताया जिला चिकित्सालय, रायपुर में नशा मुक्ति केंद्र स्पर्श क्लीनिक में नाम से संचालित है। यहाँ पर तंबाकू और शराब की आदत से निकालने का इलाज किया जाता हैं। शासन द्वारा नशा मुक्ति केंद्र पर निशुल्क इलाज की व्यवस्था रहती है। अगर दूर नहीं जा सकते हैं तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर भी जाकर तंबाकू, शराब की लत छोड़ने के लिए परामर्श ले सकते हैं।`लेकिन उसके लिए सबसे पहले अपने अंदर आत्मशक्ति को बढ़ाना होगा तभी  बाहर निकल सकते हैं। किसी भी प्रकार की बुरी आदत जीवन में नुकसान ही पहुंचाती है। इस अवसर पर डॉ.अंजली रॉय (एमओ) उरला डॉ.सरिता करियारी (एएमओ) प्राचार्य मुकेश सिरमौर और अचला मिश्रा के साथ साथ राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के साथी भी उपस्थित थे।

 

05-02-2020
कैंसर दिवस पर हुआ स्कूल में जागरुकता कार्यक्रम

कोरबा। मारवाड़ी युवा मंच दर्री, जमनीपाली, जैलगांव द्रारा कैंसर दिवस के अवसर पर सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय प्रगति नगर में कैंसर से संबंधित जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में डॉ.राजीव गुप्ता उपस्थित रहे। राजीव गुप्ता  ने उपस्थित सभी छात्रों को कैंसर के बचाव के उपाय बताएं तथा संतुलित आहार लेने को कहा। उन्होंने बताया कि अगर हम इस बीमारी का समय रहते पता लगा ले तो इसका उपचार संभव है। मंच के सह सचिव प्रतीक अग्रवाल ने भी कैंसर के विषय में काफी सारी जानकारियां प्रदान की।

उन्होंने बताया कि कैंसर दिवस क्यों मनाया जाता है। इस दिवस में हम किस प्रकार कार्य कर सकते है। मंच के अध्यक्ष मनीष अग्रवाल ने बताया कि मंच द्वारा समय-समय पर विभिन्न विद्यालयों में इस प्रकार के जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। अंत में मंच पर उपस्थित डॉ.राजीव गुप्ता को विद्यालय के प्राचार्य धरमलाल यादव को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मंच के संरक्षक शंकर महेश्वरी,विनय केडिया,अध्यक्ष मनीष अग्रवाल, उपाध्यक्ष विकास अग्रवाल, सहसचिव प्रतीक अग्रवाल,जनसेवा प्रभारी संदीप अग्रवाल का सराहनीय योगदान रहा।

05-12-2019
नृत्य और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से एचआईवी, एड्स के प्रति किया गया जागरूक

रायपुर। छत्तीसगढ़ मितवा संकल्प समिति और राज्य एड्स नियंत्रण समिति के संयुक्त तत्वाधान में रायपुर के विभिन्न स्थानों पर एचआईवी /एड्स के प्रति जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  रायपुर बस स्टैंड, गांधी मैदान, रायपुर रेलवे स्टेशन और तेलीबांधा तालाब परिसर प्रमुख रूप से शामिल थे। तृतीय लिंग समुदाय के कलाकारों ने नृत्य और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को एचआईवी एड्स के प्रति जागरूक किया।  छत्तीसगढ़ी लोक विधा कर्मा , सुआ , ददरिया और पंथी गीतों की प्रस्तुति देखने बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ी।  गीत और संगीत के बीच में तृतीय लिंग कल्याण बोर्ड के सदस्य विद्या राजपूत और रवीना बरिहा ने एचआईवी के कारण,गलत धारणा और बचाव के संबंध में जानकारी दी। 
विद्या राजपूत ने कहा कि एचआईवी फैलने के मुख्य चार कारण पहला एचआईवी संक्रमित व्यक्ति से असुरक्षित यौन संबंध, दूसरा संक्रमित सुई और सिरिंज का प्रयोग, तीसरा संक्रमित खून उत्पाद का प्रयोग करने और चौथा संक्रमित गर्भवती माता से उसके होने वाले  शिशु को। एचआईवी मच्छर के काटने से,  साथ सोने से,  साथ खाने से  और साथ रहने से नहीं  फैलता है। रवीना  बरिहा ने कहा कि एचआईवी की नि:शुल्क जांच प्रत्येक जिला अस्पताल और सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध है। यदि कोई व्यक्ति एचआईवी संक्रमित हो जाता है तो शासन की तरफ से उसे नि:शुल्क  एआरटी की दवाइयां भी प्रदान की जाती है। अंतिम प्रस्तुति शाम को तेलीबांधा तालाब में की गई।  इस दौरान लोगों ने एचआईवी से संबंधित अपने प्रश्नों को पूछा और विशेषज्ञों ने उनके प्रश्नों का उत्तर दिया। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा एचआईवी के संक्रमण को रोकने के लिए राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम चलाया जा रहा है,  जिसके तहत जगह-जगह जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। 
 

28-11-2019
कर्मवीर चक्र से नवाजा गया साइंस ग्रुप अध्यक्ष अचल को

अम्बिकापुर। आरईएक्स कर्मवीर ग्लोबल फैलोशिप एवं कर्मवीर चक्र अवार्ड से सरगुजा साइंस ग्रुप के अध्यक्ष एवं संस्थापक अंचल ओझा को सम्मानित किया गया है। बता दें कि iCONGO & United Nation के पार्टनरशिप में प्रत्येक वर्ष कर्मवीर चक्र अवार्ड सामाजिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को दिया जाता है। अंचल ओझा को 27 नवम्बर को मलेशिया के प्रसिद्ध शिक्षा सलाहकार मार्क पार्किन्सन के हाथों यह अवार्ड नोयडा के रामाज्ञया स्कूल आडोटोरियम में दिया गया। सरगुजा साइंस ग्रुप अम्बिकापुर द्वारा संस्थापक और अध्यक्ष अंचल ओझा के नेतृत्व में प्रोजेक्ट इज्जत के तहत सरगुजा, सूरजपुर एवं बलरामपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे शासकीय एवं प्रायवेट स्कूलों में हर महीने 15,000 स्कूली छात्राओं को नि:शुल्क सैनेटरी पैड का वितरण किया जाता है। जनसहयोग से चलाये जा रहे प्रोजेक्ट इज्जत के तहत 15,000 स्कूली छात्राओं को नि:शुल्क सैनेटरी पैड का वितरण एवं जागरुकता कार्यक्रम, महिलाओं को नि:शुल्क सिलाई-कढ़ाई, ब्यूटी पार्लर, कम्प्यूटर प्रशिक्षण, महिला समूहों के माध्यम से विभिन्न रोजगारोन्मुखी कार्यक्रम से जोड़कर आर्थिक रूप से सशक्त बनाने सहित विभिन्न सामाजिक कार्यों के कारण इस पुरस्कार हेतु नामांकित किया गया है। प्रोजेक्ट इज्जत के माध्यम से संस्था द्वारा सरगुजा, बलरामपुर, सुरजपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं एवं किशोरी बालिकाओं को लगातार एकत्रित कर जागरुकता कार्यक्रम गांव-गांव में चलाया जा रहा है। प्रोजेक्ट इज्जत के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में कम दर पर उपयोगी सैनेटरी पैड घर-घर उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें 15 समूहों की महिलाएं कार्य कर रही हैं। शुरुआती मॉडल के रूप में इस कार्य को लुण्ड्रा और बतौली ब्लॉक में चलाया जा रहा है।

10-10-2019
स्कूली बच्चों ने नाटक के माध्यम से दिया मानसिक स्वास्थ्य का संदेश

रायपुर। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर 10 अक्टूबर को  थीम 'आत्महत्या की रोकथाम पर ध्यान' विषय पर केंद्रित करते हुए प्रदेश सहित राजधानी में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ प्रियंका शुक्ल द्वारा बनाए गए स्लोगन  'आसा अउ बिस्वास जगाबो, आत्महत्या के बिचार ला दूर भगाबो' 'तोर जगह कोई नइ ले सके' पर आधारित जागरुकता कार्यक्रम 9 से 12 अक्टूबर तक सभी जिलों में विभिन्न कार्यक्रम किए जा रहे हैं। कार्यक्रम में नाटक के माध्यम से संदेश देते हुए मनोरोगियों की पहचान एवं इलाज, सेल्फी कंपटीशन और तनाव प्रबंधन पर आधारित कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। आज रायपुर नगर निगम के आमानाका स्थित सामुदायिक भवन कुकुरबेड़ा मुहल्ले में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर और  नाटक का मंचन और जनचौपाल के तहत नशा मुक्ति पर चर्चा की गई।  कार्यक्रम का मूल उद्देश्य मानसिक स्वास्थ्य के प्रति लोगों में जनजागरुकता को बढ़ाना देना है। साथ ही क्षणिक आवेश में लिए जाने वाले आत्महत्या जैसे फैसलों को रोकने के लिए बच्चों द्वारा प्रस्तुत नुक्कड़ नाटक के माध्यम से  संदेश जन-जन तक पहुंचाना है। अध्ययन ऐकडमी स्कूल एकता नगर गुढिय़ारी के स्कूली बच्चों ने किसानों की आर्थिक तंगी और साहूकार के कर्ज से लदे किसान जो मौसम की मार से फसल चौपट होने पर परेशानियों से जूझता है और कर्ज के बोझ में आत्महत्या जैसे कदम उठाने को विवश होता है। इसी तरह एक अन्य नाटक में आधुनिक जीवनशैली में माता-पिता बच्चों को कम समय देते हैं। बच्चा घर में खुद को अकेला महसूस करने लगता है और घर परिवार को छोड़कर किशोर मन विचलित होकर चला जाता है। ऐसे समय में परिवार में माता पिता को बच्चों को एक दोस्त की तरह व्यवहार करना चाहिए। इस तरह नाटक जरिये शराब के नशे में परिवार में कलह से होने वाले प्रभाव को भी मंच में प्रस्तुति दी गई। वहीं बच्चों में मोबाइल गेम और बुरी संगत की वजह से नशे की लत लगने से पढ़ाई लिखाई पर होने वाले असर को भी बारिकी से अभिनय के माध्यम से पेश किया गया। बच्चों द्वारा प्रस्तुत संदेशप्रद अभिनय को लोगों ने खूब सराहा। कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सहायक चिकित्सा अधिकारी डॉ डीएस परिहार ने बताया कि मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से साथी उनके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए हेल्थ चेकअप का आयोजन भी किया गया। हेल्थ चेकअप के माध्यम से लोगों को लोगों में बीपी, शुगर, हाइपरटेंशन,  कैंसर एवं ब्रेस्ट कैंसर की जांच भी महिला चिकित्सकों द्वारा की गई। स्वास्थ्य शिविर में लगभग 200 से अधिक लोगों ने  जांच कराई। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के उपसंचालक डॉ. महेंद्र सिंह ने बताया कि समाज व परिवार के बीच संवादहीनता की वजह से बढ़ते तनाव कई तरह की सामाजिक बुराइयों को जन्म देता है। इसलिए हमारे आसपास जब भी कोई तनाव से ग्रसित हो तो हमें उसकी सहायता करनी चाहिए। मनोवैज्ञानिक  ममता गिरी गोस्वामी ने समुदाय में जागरुकता लाने के लिए जनचौपाल आयोजित कर नशापान से होने वाले दुष्प्रभावों पर चर्चा की। इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी व जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के नोडल अधिकरी डॉ एसके सिन्हा, डीपीएम रंजना पैकरा, मनोरोग प्रभारी चिकित्सा अधिकरी स्पर्श क्लीनिक जिला अस्पताल डॉ संजीव मेश्राम, सहायक चिकित्सा अधिकारी डॉ. संध्या सिंह, स्टाफ नर्स हेमलता साहू, किरण शर्मा, अध्ययन एकेडमी की प्रिंसिपल  ऊषा सिंह, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्कूली छात्र, स्थानीय जनप्रतिनिधि और नागरिक भी उपस्थित हुए।

 

06-07-2019
रेलवे स्टेशन परिसर में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर बांटी पर्ची, किया जागरुक

महासमुंद। यात्री हेल्पलाइन 182 की जानकारी के लिए जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बरगढ़ ओडिशा रेलवे स्टेशन परिसर पर महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए शुक्रवार सुबह 6.45 बजे ट्रेन नंबर 12872 इस्पात एक्सप्रेस के समय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सब इंस्पेक्टर एससी पंडा और उनकी टीम ने यात्रियों को सुरक्षा संबधित कई तरह के जानकारी देकर पर्चियां वितरण कर लोगों को जागरूक किया। इस अवसर पर सब इंस्पेक्टर एससी पंडा के नेतृत्व में एएसआई एसके गर्दिया, हेड कांस्टेबल एससी पांडिया, आरके बाग, डीसी पटेल और के. प्रधान आरपीएफ बरगढ़ उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804