GLIBS
20-10-2019
नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को  मजबूत करने वाले स्तंभ :  रविन्द्र चौबे

रायपुर। कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी व पशुधन विकास मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण की दिशा में नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने रविवार को राजधानी रायपुर के न्यू-सर्किट हाऊस में आयोजित छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति-जनजाति पशु चिकित्सा अधिकारी संघ के वार्षिक अधिवेशन और छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी विषय पर आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए यह बात कही।  रविन्द्र चौबे ने कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि यदि हम छत्तीसगढ़ का विकास चाहते है तो गांवों का विकास करना जरूरी है। नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी योजना हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने वाले स्तंभ है, इससे न केवल गांवों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा बल्कि ग्रामीण युवाओं को स्थानीय स्तर पर स्व-रोजगार भी मिलेगा। 

उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व आर्गेनिक खेती की ओर अग्रसर है तथा उसके महत्व के प्रति जागरूकता बड़ी तेजी से जनमानस में फैल रही है। कुछ दिनों पूर्व रायपुर में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय क्रेता-विक्रेता सम्मेलन में देश-विदेश से आए हुए प्रतिनिधियांे ने कहा कि छत्तीसगढ़ के कृषि उत्पादों जैसा स्वाद और कही नहीं है। ग्राम सुराजी योजना से आर्गेनिक खेती को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब धुंआ उगलती चिमनियों की जगह गौठान विकास का सशक्त प्रतीक बनेगें। उन्होंने अधिवेशन में उपस्थित पशु चिकित्सा अधिकारियों को प्रेरित करते हुए कहा कि सभी अधिकारी अपने-अपने कार्य क्षेत्र में गंभीरता से कार्य करते हुए गौठान के निर्माण में रूचि रखे। उन्होंने धमतरी जिले के ग्राम कंडेल में ग्रामीणों द्वारा स्व-प्रेरणा से जन सहयोग के माध्यम से निर्मित गौठान का उदाहरण देते हुए कहा कि अन्य स्थानों पर भी जन सहयोग के माध्यम से गौठान निर्माण हेतु पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारी ग्रामीणों को प्रेरित करें। उन्होंने पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को गौठानों का नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश दिए।  चौबे ने कहा कि गौठान हमारी समृद्ध ग्रामीण परम्परा का अंग है। शासकीय प्रयासों के माध्यम से उसको व्यवस्थित स्वरूप दिए जाने का प्रयास किया जा रहा है। वर्तमान सरकार सुनियोजित तरीके से इस कार्य को करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि यह योजना आप सभी के सहयोग व सक्रिय भागीदारी से सफल होगी। पशुधन विकास मंत्री ने योजना की सफलता में जन भागीदारी को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि ग्रामीण स्व-सहायता समूह को इस योजना से जोड़ा जाए। उन्होंने पशुओं के लिए चारा इकट्ठा करने हेतु जन-जागरण अभियान चलाने की बात कही। 


संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृृति में पशुधन का विशेष महत्व है तथा नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना का छत्तीसगढ़ की संस्कृति के संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि समय के साथ बदलते परिवेश में कृषि एवं पशुधन विकास के क्षेत्र में नवीनतम तकनीकों को अपनाना भी जरूरी है। 


 सांसद छाया वर्मा ने कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के माध्यम से सरकार गांव को ताकतवर बनाने, कुटीर उद्योग को बढ़ावा देने व महात्मा गांधी के विचारों को आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। 
कार्यशाला को भरतपुर सोनहत के विधायक गुलाब कमरो, मनेन्द्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल, सिहावा विधायक डॉ.लक्ष्मी धु्रव ने भी सम्बोधित किया। कार्यशाला में पशु चिकित्सा के क्षेत्र में विशिष्ट एवं उल्लेखनीय कार्य करने वाले पशु चिकित्सकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर कामधेनु विश्वविद्यालय के कुलपति नारायण पुरषोत्तम दक्षिणकर व पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

19-10-2019
हजरत फातेहशाह मजार और मस्जिद ट्रस्ट विवाद निराकरण के लिए सात सदस्यीय पर्यवेक्षक दल गठित

रायपुर। राजधानी रायपुर के टिकरापारा स्थित हजरत फातेहशाह मजार और मस्जिद ट्रस्ट कमेटी पुलिसलाईन टिकरापारा रायपुर के स्वामित्व में लगभग 125 दुकानें संचालित हैं। किरायेदारी के कई वर्षों से चले आ रहे न्यायालयीन प्रकरणों के विवाद के चलते वक्फ सम्पत्ति को हर माह लाखों रूपयों का नुकसान हो रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी द्वारा 18 अक्टूबर को विवाद के निराकरण के लिए बोर्ड कार्यालय में बैठक आहूत कर इन संस्थाओं के किरायेदारों, कब्जेधारियों के उत्पन्न विवाद के निराकरण, वक्फ सम्पत्ति की जर्जर स्थिति में सुधार, वक्फ सम्पत्ति की आय में वृद्धि और वक्फ सम्पत्ति से संबंधित समस्त विवाद के निराकरण के संबंध में चर्चा की। चर्चा में बताया गया कि इस वक्फ सम्पत्ति में लगभग सौ से अधिक दुकानें होने के बाद भी आज तक उसकी आय बहुत ही कम है। इसका मुख्य कारण वक्फ सम्पत्ति की दुकानों पर काबिज किरायेदार/कब्जेधारी और प्रबंध कमेटी में आपस में बहुत अधिक विवाद है। इससे शहर के मध्य स्थित वक्फ सम्पत्ति का जो लाभ समाज को प्राप्त होना चाहिए वह नहीं मिल रहा है। इस वक्फ बोर्ड सम्पत्ति की जर्जर हालत होती जा रही है, जिससे सम्पत्ति का विकास नहीं हो पा रहा।
राज्य वक्फ बोर्ड ने इन परिस्थिति को देखते हुए वक्फ सम्पत्ति के विवाद के निराकरण के लिए सात सदस्यीय पर्यवेक्षक दल का गठन करने का निर्णय लिया है। ये पर्यवेक्षक दल वक्फ सम्पत्ति से संबंधित सभी विवादों का निपटारा करेगा। गठित पर्यवेक्षक दल में रिटायर जिला न्यायाधीश सैयद इनामुल्लाह शाह,अब्दुल हमीद हयात, हाजी नईम अख्तर, अधिवक्ताओं में सैयद जाकिर अली, एसके फरहान, सैयद सादिक अली और चार्टर्ड एकाउंटेंट अकरम सिद्दीकी शामिल है।
यह पर्यवेक्षक दल हजरत फातेहशाह मजार और मस्जिद ट्रस्ट कमेटी पुलिसलाईन टिकरापारा रायपुर के अंतर्गत आने वाली समस्त वक्फ सम्पत्ति की सुरक्षा, व्यवस्था, विकास, निर्माण, समस्त दस्तावेजों का अवलोकन, इन वक्फ सम्पत्ति के किरायेदारों/कब्जेधारियों से संबंधित विवाद का निराकरण जिसमें दुकानों में काबिज लोगों से नवीन किराया अनुबंध का निष्पादन कर प्रति माह किराया राशि का निर्धारण, किरायेदार से संबंधित ऐसे प्रकरण जो विभिन्न न्यायालयों में आज तक लंबित है या निराकृत हो चुके हैं। उसके संबंध में उचित कार्रवाई करेगा। साथ ही जो दुकानें आज तक खाली पड़ी हुई है उन्हें नवीन किरायेदारों को आवंटित करने जैसे समस्त कार्यों को तीव्र गति से सम्पादित करेगा। वक्फ सम्पत्ति की आय में वृद्धि और उसकी जर्जर अवस्था को सुधारने के संबंध में कार्य करेगा। समस्त कार्रवाई वक्फ बोर्ड के अनुमोदन से की जाएगी। पर्यवेक्षक दल के सहयोग के लिए वक्फ बोर्ड से मोहम्मद तारिक अशरफी को को-आर्डिनेटर नियुक्त किया गया है।
बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी, रिटायर जिला न्यायाधीश सैयद इनामुल्लाह शाह, सदस्य छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड सैयद फैसल रिजवी, अब्दुल हमीद हयात, अधिवक्ताओं में सैयद जाकिर अली, एसके फरहान, सैयद सादिक अली और चार्टर्ड एकाउंटेंट अकरम सिद्दीकी, सदस्य छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड एवं मुतवल्ली हजरत फातेहशाह मजार एवं मस्जिद ट्रस्ट हाजी मीर कादिर अली, छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. एसए फारूकी, मो. रउफ और वक्फ बोर्ड के कर्मचारी उपस्थित थे।  

 

14-10-2019
बेटियों के विकास के लिए जागरुकता जरूरी : किरण मोईत्रा

बीजापुर। बीजापुर कलेक्टर केडी कुंजाम के निर्देशानुसार जिले के सभी विकासखण्डों भैरमगढ़, बीजापुर, आवापल्ली एवं भोपालपटनम में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ संबंधी जन जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आज ग्राम पंचायत नैमेड़ में हाट-बाजार स्थल पर कठपुतली नृत्य के माध्यम से जागरुकता कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान कठपुतली नाट्य कला मंच की सचिव किरण मोईत्रा ने बताया कि बेटियों की शिक्षा एवं विकास के लिए जागरुकता बहुत जरूरी है। आज बेटियां किसी से कम नहीं हैं, वे हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हंै। हमें बेटियों की शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर  विशेष ध्यान देना होगा।
महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी लूपेन्द्र महिनाग ने बताया कि बीजापुर जिले में बेटियां किसी से कम नहीं हंै। आज गंगालूर जैसे दूरस्थ ग्राम पंचायत से अरुणा पुनेम जैसी प्रतिभावान बालिका निकल रही है जो एक अंतरराष्ट्रीय, 5 राष्ट्रीय एवं 15 राज्यस्तरीय साफ्टबाल खेल में अपनी प्रतिभा दिखा चुकी हैं। अरुणा पुनेम  फिलीपींस में अंतरराष्ट्रीय खेल पर भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुकी हं। हमारी क्षेत्र की बेटियां लगातार प्रवीण्य सूची में स्थान बना रही हंै जो गौरवपूर्ण उपलब्धि है। कलेक्टर केडी कुंजाम के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के समन्वय से 1000 में 1000 बाल लिंगानुपात के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निरंतर समाज में जागरुकता एवं विभाग द्वारा प्रयास किया जा रहा है।

 

05-09-2019
सलाम रिजवी ने संभाला पदभार, कब्जा मुक्त करना बड़ी चुनौती

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के नवनियुक्त अध्यक्ष सलाम रिजवी ने गुरूवार को पदभार ग्रहण किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा समिति की सुरक्षा, व्यवस्था, विकास एवं निर्माण कार्य के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी बोर्ड कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने कहा कि बोर्ड के सामने सबसे बड़ी चुनौती बोर्ड की संपत्तियों पर किए गए कब्जे को खाली करवाना है। आपसी समझौते या न्यायालय की सहारा लेकर कब्जा मुक्त किया जाएगा। इसके बाद उन जमीनों पर स्कूल,कॉलेज,अस्पताल जैसे विकास कार्य करवाए जाएंगे। रिजवी ने कहा कि वक्फ संपत्ति की हिफाजत अहम जिम्मेदारी है, जिसके उद्देश्य के लिए वक्फ संपत्तियां वक्फ की गई है। वह पूरी हो वक्फ अधिनियम 1995 का पूर्णता पालन हो। उन्होंने बताया कि डिजिटलाइजेशन ऑफ वक्फ प्रॉपर्टी एवं जीईएस/ जीपीएस मैपिंग का कार्य युद्ध स्तर पर करना है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा वक्फ सम्पत्तियों के संबंध में डिजिटलाइजेशन आफ वक्फ प्रॉपर्टी, जीईएस/जीपीएस मैपिंग का कार्य मिशन 90 दिनों में पूरा करने 100 प्रतिशत कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। वक्फ सम्पत्तियों पर स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल, स्किल डेवलपमेंट के कार्य करना है ताकि वक्फ समिति का सही इस्तेमाल हो सके। वक्फ समिति का विकास हो सके एवं समिति की आय में वृद्धि हो सके। इसका लाभ आम मुस्लिम जमात को मिल सके समाज की भलाई के लिए वक्फ समितियों का उपयोग होगा। वक्फ समितियों की देखरेख करने वाली कमेटियों को निशुल्क यूपीएससी,पीएससी एवं अन्य प्रायोगिक परीक्षा की कोचिंग बोर्ड के माध्यम से दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में स्थित वक्फ संस्थाओं से वक्फ समितियों के ऋण योजना के अंतर्गत 6 संस्थाओं से प्रस्ताव मंगवाकर सेंट्रल वक्फ काउंसिल नई दिल्ली को प्रेषित किया गया है। बोर्ड ने पांच संस्थाओं के 9 प्रोजेक्ट वक्फ काउंसिल ऑफ भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली को ऋण स्वीकृत किए जाने के लिए प्रेषित किया है। ऑफिस बोर्ड द्वारा छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार वक्फ संपत्ति के रिकॉर्ड कार्ड डिजिटलाइजेशन का कार्य पूर्ण कर लिया गया था। जीआईएस/जीपीएस मैपिंग का कार्य अभी बाकी है। समिति की सुरक्षा के लिए वक्फ समितियों का ऑनलाइन जीआईएस सर्वे एवं जीपीएस मैपिंग किया जाना आज बहुत ही आवश्यक हो चुका है। 1989 के बाद वक्फ समितियों का सर्वे नहीं हुआ था, जिसके कारण नए वक्फ का कोई भी रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है।

 

01-09-2019
प्रदेश के विकास के लिए सरकार उठा रही ऐतिहासिक कदम : मंत्री लखमा 

धमतरी। प्रदेश के वाणिज्य, वाणिज्यिक कर एवं उद्योग मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने आज कुरुद विकासखण्ड के ग्राम दर्रा, सिलौटी और सेमरा सिलौटी का दौरा कर विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण कर सौगातें दीं। इस दौरान उन्होंने ग्राम दर्रा में गौठान तैयार करने की घोषणा की, साथ ही सिलौटी में 24 लाख 50 हजार के चार निर्माण कार्यों का लोकार्पण तथा सेमरा सि. में 34 लाख 31 हजार रुपए के चार निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश में सही मायने में विकास पिछले आठ माह से परिलक्षित हो रहे हैं। किसानों की कर्जमाफी, 2500 रुपए में धान की खरीदी, बिजली बिल हाफ, नए राशन कार्ड बनाने, शिक्षकों की भर्ती जैसे ऐतिहासिक कदम शासन द्वारा उठाए जा रहे हैं। नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी जैसी योजनाएं लाकर सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बनाने लगातार कार्य कर रही है। मंत्री लखमा ने इस अवसर पर सिलौटी में पांच लाख रुपए से निर्मित हाई स्कूल अतिरिक्त कक्ष, मराठा भवन, मानस भवन तथा साहू भवन  का लोकार्पण किया।

इसके अलावा कुरुद के पूर्व विधायक लेखराम साहू की मांग पर उन्होंने शासकीय नवीन महाविद्यालय सिलौटी में फर्नीचर एवं आवश्यक सामग्री क्रय करने के लिए पांच लाख रुपए  की स्वीकृति दी। साथ ही ग्राम सेमरा सि. में पांच लाख रुपए की लागत से निर्मित शासकीय नवीन प्राथमिक भवन के अलावा अतिरिक्त कक्ष भवन, प्राथमिक एवं मिडिल स्कूल खपरी में अहाता निर्माण था खपरी में 19 लाख 31 हजार रुपए की लागत से तैयार किए गए स्टॉप डैम का लोकार्पण किया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि व ग्रामीणजन मौजूद थे। इसके उपरांत मंत्री लखमा ने स्थानीय गांधी चौक पर नारबोद पर्व के आयोजित कुश्ती प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए। साथ ही  ग्राम सेमरा सि. में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित सुपोषण माह का शुभारम्भ किया। इस दौरान उन्होंने 10 महिलाओं तथा पांच किशोरियों को सुपोषण किट भेंट कर उनके स्वस्थ एवं सुपोषित जीवन की कामना की।

 

 

31-08-2019
सीएम बघेल ने दी 80 करोड़ 66 लाख रुपए के विकास और निर्माण कार्यो की सौगात

जांजगीर चाम्पा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को जांजगीर-चांपा के शासकीय टीसीएल कालेज के समीप खोखराभांठा में भव्य रूप से आयोजित अभिनंदन समारोह में जांजगीर-चांपा जिले के नागरिकों को 80 करोड़ 66 लाख से अधिक रूपए की विकास और निर्माण कार्यो की सौगात दी। इनमें इनमें 64 करोड़ 66 लाख रूपये की सड़क, भवन, पुल-पुलिया और 16 करोड़ रूपए की लागत से नवनिर्मित सर्वसुविधायुक्त 144 पुलिस आवास शामिल हैं। मुख्यमंत्री बघेल ने यह सौगात छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में दी।  मुख्यमंत्री बघेल ने कार्यक्रम में 16 करोड़ रूपये की लागत से नवनिर्मित सर्वसुविधायुक्त पुलिस आवास का लोकार्पण किया। पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए 144 आवास बनाए गए हैं। इसी तरह उन्होंने 62 करोड़ 11 लाख रूपए से अधिक की लागत से 14 विकास कार्यो का लोकार्पण किया। इनमें लोक निर्माण सेतु विभाग द्वारा 44 करोड़ 85 लाख रूपए की राशि से कंजीनाला पर तेंदुआ के पास ब्रिज, धौराभांठा-ठूठी-सरवानी मार्ग पर सोननदी पर पुल, बावनगुढ़ी-कपिस्दा मार्ग पर सोननदी में पुल, मोहंदीखुर्द-हरदी मार्ग पर बोराई नदी पर उच्च स्तरीय पुल, कोटमीसोनार के समीप लीलागर नदी पर पुल और शिवरीनारायण-केरा मार्ग में कंजीनाला पर पुल निर्माण कार्य शामिल हैं। इसी तरह उन्होंने लोक निर्माण विभाग द्वारा 7 करोड़ 79 लाख रूपए की लागत से निर्मित बलौदा-हरदीबाजार के मध्य सरईताल-कर्रानाला मार्ग तीन किलोमीटर, कण्ड्रा-बेलटुकरी मार्ग, साढे़ तीन किलोमीटर और जर्वे च में हाईस्कूल भवन का लोकार्पण किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री बघेल ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा 2 करोड़ 53 लाख रूपये की लागत से नवनिर्मित ड्रग वेयर हाउस और आदिवासी विकास विभाग द्वारा एक करोड़ 62 लाख रूपये की लागत से गुचकुलिया-जैजैपुर में अनुसूचित जनजाति आश्रम और 4 करोड़ 42 लाख रूपये की राशि से निर्मित अड़भार, पोरथा-सक्ती, रायपुरा-जैजैपुर और सिंघरा-जैजैपुर सड़क मार्ग का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री बघेल ने कार्यक्रम में अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाओं के अंतर्गत 2 करोड़ 55 लाख रूपये की राशि से निर्मित होने वाले फायर स्टेशन व गैरेज निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री टीएस सिंहदेव, चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव, पूर्व विधायक मोतीलाल देवांगन,चुन्नीलाल साहू, चैनिंसंह सामले, गोरेलाल बर्मन, जिला पंचायत अध्यक्ष नंदकिशोर हरबंश, रश्मि गबेल, मंजू सिंह, शशिकांता राठौर,दिनेश शर्मा, रविशेखर भारद्वाज, रमेश पैगवार,विवेक सिसोदिया, बिलासपुर राजस्व संभाग के कमिश्नर बीएल बंजारे, पुलिस महानिदेशक प्रदीप गुप्ता, कलेक्टर जनकप्रसाद पाठक, पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थराज अग्रवाल उपस्थित थे।

 

26-08-2019
डीएमफ फंड का होगा सही इस्तेमाल, पीछे छूटे इलाकों का होगा विकास : मंत्री कवासी लखमा

धमतरी। जिले में पहली मर्तबा डीएमएफ फंड(खनिज न्यास निधि) की बैठक रखी गई। बैठक में प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि पिछली सरकार ने इस मद में जमकर बंदरबाट किया। इस सरकार में इस मद का सही इस्तेमाल होगा। मद से गरीब, आदिवासी इलाकों सहित विकास की राह में पीछे छूट गए इलाकों का पूरा विकास किया जाएगा। इस मद का उपयोग शिक्षा, सहित मूलभूत सुविधाओं के लिए होगा। जिले के फंड के बारे में उनका कहना था कि पिछली सरकार की गलत नीति के चलते तीन विधानसभा वाले जिले की घोर उपेक्षा हुईं है। इस मद से आने वाली राशि में पिछली सरकार ने बालोद, कांकेर, राजनादगांव को ज्यादा तवज्जो दी। वहीं धमतरी की झोली में महज पांच प्रतिशत राशि ही मिलती थी, जो पिछली सरकार की गलत नीति को साबित करता है।

 

18-08-2019
महापौर रेणु अग्रवाल ने किया 54 लाख के विकास कार्यों का भूमिपूजन व लोकार्पण

कोरबा। नगर पालिक निगम कोरबा के मां सर्वमंगला जोनांतर्गत आने वाले वार्ड क्र. 59 को 54 लाख रुपए के नए विकास कार्यों की सौगात मिली। महापौर रेणु अग्रवाल ने इन सभी विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया तथा नए विकास कार्य जिनका भूमिपूजन किया गया है, उन्हें शीघ्र प्रारंभ करने तथा समयसीमा में कार्यो को पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा मां सर्वमंगला जोनांतर्गत वार्ड क्र. 59 खम्हरिया बस्ती के विभिन्न स्थानों पर 26 लाख 06 हजार रुपए की लागत से सीसी रोड का मरम्मत कार्य, वार्ड क्र. 59 विकास नगर में 10 लाख 48 हजार रुपए की लागत से आदिम जाति शासकीय स्कूल भवन का मरम्मत एवं संधारण कार्य तथा वार्ड क्र. 59 खम्हरिया के ईश्वर घर के पास 11 लाख 64 हजार रुपए की लागत से सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य किया जाना है। महापौर रेणु अग्रवाल ने शनिवार को आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान इन सभी विकास कार्य का भूमिपूजन किया। नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा वार्ड क्र. 59 कुसमुण्डा बाजार में 02 लाख 88 हजार रुपए की लागत से 16 मीटर ऊंची एलईडी हाईमास्ट लाइट की स्थापना कराई गई है। इसी प्रकार वार्ड क्र. 59 विकास नगर चौक कुसमुण्डा में 02 लाख 89 हजार रुपए की लागत से 16 मीटर ऊंची एलईडी हाईमास्ट लाइट स्थापित की गई है। महापौर रेणु अग्रवाल ने इन दोनों नवस्थापित हाईमास्ट लाइटों का लोकार्पण किया। उन्होंने स्वीच आन कर हाईमास्ट को जनता की सेवा में समर्पित किया।  इस अवसर पर महापौर रेणु अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि इस वार्ड की जनता की मांग थी कि कुसमुण्डा बाजार एवं विकास नगर चौक में हाईमास्ट लाइट स्थापित की जाए, उनकी मांग का सम्मान करते हुए हाईमास्ट लाइटों की स्थापना कर आज इनका लोकार्पण किया गया है। इसी प्रकार सामुदायिक भवन निर्माण एवं विद्यालय भवन मरम्मत एवं संधारण कार्य का आग्रह भी यहां के लोगों ने किया था, जिसका कार्य भी आज से प्रारंभ कराया जा रहा है।  निगम सभापति धुरपाल सिंह कंवर ने अपने उद्बोधन में कहा कि कोरबा शहर एवं कोरबा पूर्वी क्षेत्र के साथ-साथ कोरबा पश्चिम क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बांकीमोंगरा, कुसमुण्डा व दर्री क्षेत्र का भी तेजी के साथ विकास किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए मैं प्रदेश के राजस्व मंत्री व कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल तथा महापौर रेणु अग्रवाल के प्रति आभारी हूं। भूमिपूजन, लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान निगम के सभापति धुरपाल सिंह कंवर के साथ ही मेयर इन काउंसिल सदस्य भुवनेश्वरी देवी, संतोष राठौर, अर्चना उपाध्याय, कुसुम द्विवेदी एवं सपना चौहान, अमरजीत सिंह, बसंत चन्द्रा, निगम के कार्यपालन अभियंता भूषण उरांव, सहायक अभियंता विपिन मिश्रा, गीता गभेल, शालिनी गभेल, लक्ष्मी महंत, मीरा अग्रवाल, संतोषी विश्वकर्मा, विमला लहरे, उषा देवी, हराबाई, सुमित्रा देवी, हैप्पी सिंह, दीनू राव, प्रकाश बाघे, उपेन्द्र सिंह, राजा सिंह आदि के साथ काफी संख्या में वार्डवासी उपस्थित थे।     

 

17-08-2019
भूटान के विकास में सहयोग करता रहेगा भारत: मोदी

थिम्पू। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भूटान में विकास कार्यक्रमों में महत्वपूर्ण योगदान की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए आज कहा कि भारत वहां की पंचवर्षीय योजनाओं में निरंतर सहयोग करता रहेगा। भूटान की दो दिन की यात्रा पर आज यहां पहुंचे मोदी ने भूटान के प्रधानमंत्री लोतेय शेरिंग के साथ शिष्टमंडल स्तर की वार्ता की। दोनों पक्षों ने विभिन्न क्षेत्रों में भागीदारी और सहयोग बढ़ाने के विभिन्न करारों पर विस्तार से चर्चा की। इसके बाद दोनों प्रधानमंत्रियों की मौजूदगी में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, गणित और न्यायिक क्षेत्रों में सहयोग के करारों पर हस्ताक्षर किये गये। उन्होंने शेरिंग के साथ मिलकर 7200 मेगावाट की मेंगदेछू पनबिजली परियोजना का भी उद्घाटन किया। दोनों नेताओं ने भारत के नेशनल नोलिज नेटवर्क और भूटान के ड्रक रिसर्च और एज्युकेशन नेटवर्क के बीच संपर्क कार्यक्रम का भी उद्घाटन किया। मोदी ने भारत के रूपे कार्ड को भी लांच किया। सिंगापुर के बाद भूटान दूसरा देश है जहां रूपे कार्ड लांच किया गया है। बाद में शेरिंग के साथ संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों के दिलों में भूटान एक विशेष स्थान रखता है। उन्होंने कहा, यह भारत का सौभाग्य है कि हम भूटान के विकास में प्रमुख भागीदार हैं। भूटान की पंचवर्षीय योजनाओं में भारत का सहयोग आपकी इच्छाओं और प्राथमिकताओं के आधार पर आगे भी जारी रहेगा।

15-08-2019
पिछले दौर का विकास का पैमाना मंजूर नहीं : मुख्यमंत्री

रायपुर। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें पिछले दौर की तरह विकास का पैमाना कतई मंजूर नहीं है, जिसमें प्रति व्यक्ति आय भी बढ़ती दिखाई जाए और गरीबी भी लगातार बढ़ती रहे। हमारा लक्ष्य है कि जीवन स्तर उन्नयन के साथ प्रति व्यक्ति आय बढ़े और गरीबी दर में निर्णायक कमी आए। इसी प्रकार हम प्रदेश की समृद्धि को सबकी खुशहाली का माध्यम बनाएंगे। मुझे विश्वास है कि नवा छत्तीसगढ़ के निर्माण की नई सोच और नए कार्यों से आप सबको अपने पुरखों के सपने पूरे होने और छत्तीसगढ़ राज्य के गठन की सार्थकता का बोध हो रहा होगा। गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का संकल्प हम सब मिलकर पूरा करेंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804