GLIBS
17-01-2021
पुलिस अधीक्षक पहुंचे धुर नक्सल प्रभावित परदोनी,पीड़ित परिजनों से की मुलाकात

राजनांदगांव। थाना मानपुर क्षेत्रांतर्गत ग्राम परदोनी में 13 जनवरी को पूर्व सरपंच मैनूराम सलामे की हत्या नक्सलियों द्वारा की गई थी। घटना स्थल निरीक्षण एवं पीड़ित परिवार से मुलाकत करने के लिए रविवार को पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव  डी.श्रवण द्वारा ग्राम परदोनी जाकर पीड़ित परिवार के सदस्यों से मुलाकात कर संवेदना व्यक्त की गई। साथ ही उन्हें शासन द्वारा पुनर्वास योजना के तहत मिलने वाले लाभ दिलाये जाने का आश्वासन भी पुलिस अधीक्षक ने दिया। उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश बढ़ाई, नगर पुलिस अधीक्षक मणिशंकर चंद्रा, अनुविभागीय अधिकारी मानपुर रुचि वर्मा एवं अन्य मानपुर थाना प्रभारी उपस्थित रहे। पुलिस अधीक्षक ने डीआरजी के अधिकारियों व कर्मचारियों से भी चर्चा की और समस्याओं की जानकारी ली। अपने भृमण के दौरान पुलिस अधीक्षक ने मदनवाड़ा में निर्मित शहीद स्व.वीके चौबे स्मृति साइबर कैफे का भी निरीक्षण किया।र नक्सली गतिविधियों पर अधिकारियों से चर्चा की।

 

16-01-2021
पुलिस अधीक्षक ने बच्चों को पढ़ाया संघर्ष का पाठ,कहा-सपने को पूरा करने सच्चे मन से परिश्रम जरूरी

रायपुर।  जीवन एक संघर्ष है, इस सत्यता को हमें स्वीकारना और जीतना होगा। गरियाबंद जिले के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने इस आशय के विचार स्कूल शिक्षा विभाग के पढ़ई तुंहर दुआर के साप्ताहिक वेबिनार में स्वयं के जीवन संघर्ष के वृतांत बच्चों को सुनाया। उन्होंने कहा कि हर बच्चा अपने सपनों को पूरा कर सकता है, बशर्तें की इसके लिए हमें पूरे मनोयोग से अपने सपने को पूरा करने के लिए सच्चे मन से परिश्रम करना चाहिए।
एलपी पटेल ने हवाई जहाज का उदाहरण देते हुए बताया कि इसके आविष्कारक ने पक्षियों को उड़ते हुए देखा, तो उनके मन में विचार आया कि जब पक्षी उड़ सकता है तो क्यों न किसी चीज को भी उड़ाया जाए। कल्पना शक्ति को आगे बढ़ाते हुए विज्ञान के प्रयोग के जरिए हवाई जहाज हमारे बीच आया। कल्पना करने से एक दृश्य उभर कर हमारे सामने आता है।

दृश्य और कल्पना को मिलाकर एक सोच बनती है। इसी सोच को जब हकीकत में बदलने के लिए जब व्यक्ति परिश्रम करता है, तब उसे कामयाबी मिलती है। एसपी पटेल ने बच्चों से कहा कि सकारात्मक चीजों को देखकर, विचार, कल्पना शक्ति और परिश्रम से मंजिल पा सकते हैं। यदि कोई आगे बढ़ा है और बहुत कुछ  अपने जीवन में हासिल किया है तो मैं क्यों नहीं कर सकता। यही सोच हम सबके दिलों-दिमाग में होनी चाहिए। सोच को पूरा करने के लिए हमें छोटे-छोटे लक्ष्य बनाने होंगे। जिस तरह छोटे-छोटे कदमों से बच्चे अपने लक्ष्य तक पहुंचते है। उसी तरह हमें भी अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए रणनीति बनानी चाहिए। उन्होंने धनुधार्री अर्जुन के अचूक लक्ष्य का उदाहरण प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि सुभाषितानी श्लोक ने मुझे जीवन में काफी कुछ सिखाया है। प्रत्येक बच्चा दिन के चौबीस घंटे को पढ़ाई, मनोरंजन, परिवार, खेल जैसे गतिविधियों पर विभाजित करें और इन निर्धारित समय पर अपने कार्य पूर्ण करें, जिससे न सिर्फ उसे संतुष्टि मिलेगी बल्कि उसे लक्ष्य भी प्राप्त होगा। गौरतलब है कि गरियाबंद के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल पुलिस अधीक्षक बनने से पहले शिक्षाकर्मी के तौर पर बच्चों को पढ़ाने का कार्य किया। एसपी पटेल अपने कार्य को पूरा करने के बाद शेष समय में वेबिनार के माध्यम से स्कूल बच्चों का मार्गदर्शन व उनका हौसला अफजाई कर रहे है।

15-01-2021
विशेष डीजी आरके विज ने पुलिस अधीक्षकों की लगाई क्लास, यातायात प्रबंधन को मजबूत करने दिया जोर

रायपुर। विशेष डीजी आरके विज ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों और अधिकारियों की यातायात प्रबंधन और सड़क सुरक्षा के संबंध में वर्चुअल समीक्षा बैठक ली। अपर परिवहन आयुक्त दीपांशु काबरा ने ओव्हरलोडिंग पर परिवहन, पुलिस और अन्य विभागों से आपसी समन्वय से प्रभावी प्रवर्तन कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। ड्राइविंग लायसेंस निलंबन की प्रक्रिया को अधिक प्रभावी बनाने के लिए दिशा-निर्देश दिए गए। आरके विज ने सड़क सुरक्षा और यातायात जागरूकता के लिए ‘स्वंय सेवी संस्थान’ के चयन, गंभीर सड़क दुर्घटना का संयुक्त निरीक्षण, सड़क में बेतरतीब खड़े वाहनों से होने वाले दुर्घटनाओं, ब्लैक स्पॉट/ग्रे स्पॉट में सुधारात्मक उपाय के लिए संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर यथाशीघ्र कार्रवाई के निर्देश दिए। ग्रे/ब्लैक स्पॉट के सुधार के लिए संबधित विभाग से सकारात्मक पहल नहीं होने पर राज्य/केन्द्र शासन को पत्र लेख करने निर्देशित किया गया। जिला रायपुर, गरियाबंद, धमतरी, बेमेतरा, मुंगेली, दन्तेवाड़ा, सुकमा, नारायणपुर और बीजापुर में गतवर्ष की तुलना में सड़क दुर्घटना के मृत्युदर में वृद्धि हुई है। गतवर्ष राज्य में 350 दुर्घटना स्थलों का संयुक्त निरीक्षण किया गया, स्पीड राडार गन से 5052 मोटरयान अधिनियम के तहत और एल्कोमीटर से 1337 प्रकरणों में मोटरयान अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। स्पीडराडार गन से कम कार्रवाई किए जाने पर जिला बलौदाबाजार, बेमेतरा, गरियाबंद, कबीरधाम, बलरामपुर से अप्रसन्नता व्यक्त कर कार्रवाई तेज करने निर्देश दिया गया।

वर्ष 2020 में 2803 ड्रायविंग लायसेंस निलंबन की कार्रवाई की गई है। वर्ष 2019 की तुलना में 2020 में यातायात नियमों का उल्लघंन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ मोटरयान अधिनियम के तहत 25 प्रतिशत चालानी कार्रवाई अधिक की गई। ओव्हर लोंडिग, नशे में वाहन चालन, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का उपयोग, नाबालिक वाहन चालक, राष्ट्रीय व राजकीय राजमार्गो में अवैध पार्किग में कार्रवाई कम किए जाने के कारण जिले के पुलिस अधीक्षकों को तेजी के लिए निर्देश दिए गए। आरके विज ने राज्य में तेजगति से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं के आलोक में स्पीड राडार गन, ब्रीथएनालाईजर सहित अन्य सड़क सुरक्षा उपकरणों के प्रभावी उपयोग से सड़क दुर्घटना के नियंत्रण में विशेष प्रयास के लिए निर्देश दिए। जिला बेमेतरा, गरियाबंद, बलरामपुर, बलौदाबाजार सहित अन्य जिलों में ओव्हरस्पीड सहित अन्य प्रवर्तन कार्यवाही न्यून होने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए नियमित प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए। ड्रायविंग लायसेंस निलंबन, यातायात नियमों के उल्लंघन, स्पीड राडारगन एवं एल्कोमीटर के माध्यम से जॉच, गंभीर सड़क दुर्घटनाजन्य क्षेत्र /स्थलों का पुलिस, परिवहन एवं लोक निर्माण विभाग की संयुक्त निरीक्षण, जिला सड़क सुरक्षा समिति की समय पर आयोजित करने और समिति के  निर्णय का क्रियान्वयन करने के लिए निर्देशित किया गया।

12-01-2021
मेडिकल कॉलेज में दाखिला के नाम पर 34 लाख रुपए की ठगी, 3 आरोपी गिरफ्तार

पखांजूर। पुलिस अधीक्षक कांकेर एमआर आहिरे के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मयंक तिवारी के पर्यवेक्षण में विवेचना के दौरान थाना पखांजूर पुलिस द्वारा मेडिकल कालेज दाखिला पर के नाम पर पखांजूर के महिला से 3400000 रुपये की ठगी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई है। प्रार्थियां शिखा दास ने थाना पखांजूर में अपराध दर्ज कराया था कि वर्ष 2018 में प्रार्थियां का  फोन पर संपर्क मेडिकल काउंसलर से हुआ था। उसने अपने को मेडिकल काउंसलर तथा मंत्रालय में पहुंच बता कर पीड़िता के 2 बच्चों को मैनेजमेंट सेन्ट्रल पुल कोटा में बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने के का आश्वासन देकर 3400000 रुपए की ठगी  कर ली है। प्रार्थीया की रिपोर्ट पर थाना पखांजूर में अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 02/20 धारा 419,420 भादवि 66 (D) आईटी एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। विवेचना में घटना में संलिप्त आरोपी दीपक चटर्जी उम्र 50 वर्ष निवासी दिल्ली,प्रभुदीप सिंह उम्र 34 वर्ष निवासी बरेली ,जियाउल हक रहमानी उम्र 32 वर्ष निवासी गाजियाबाद को प्रोडक्शन वारंट पर हाजिर कर 11 जनवरी को गिरफ्तार किया गया। तीनों आरोपियों ने देशभर में कई राज्यों में मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कालेज में एडमिशन कराने का झांसा देकर लाखों रुपये की ठगी करना स्वीकार किया। आरोपियों में से दीपक चटर्जी निवासी दिल्ली अपने को शैक्षणिक सलाहकार बताया तथा पूछताछ के दौरान बताया है कि वह 2008 से इस प्रकार के कृत्य में संलिप्त रहा है।

2013 में  जेल भी जा चुका है। आरोपी जियाउल हक रहमानी एमबीबीएस डॉक्टर है। रूस से एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त किया है। आरोपी प्रभु दीप सिंह इलेक्ट्रिकल इंजीनियर है। सभी आरोपी हाईप्रोफाइल लोगों को मैनेजमेंट कोटा पर मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला के नाम पर धोखाधड़ी कर लाखों रुपए की ठगी की करना स्वीकार किए। आरोपी ने प्रार्थी के दोनों बच्चे नीट की तैयारी कर रहे थे आरोपी द्वारा किसी प्रकार से उनका संपर्क नंबर ज्ञात कर प्रार्थिया से संपर्क किया और दोनों बच्चों को बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने का झांसा दिया। आरोपीगण प्रार्थिया से  वीडियो कॉल पर बात करते थे और अपने को  मिनिस्ट्री के संपर्क में होने का दावा कर सेंट्रल पूल कोटा से प्रार्थीया की दोनों बच्चों का मेडिकल कॉलेज में दाखिला कराने की बात बोल कर जून 2019 से सितंबर 2019 के दौरान विभिन्न माध्यम कुल 34 लाख रुपये की ठगी किये थे। उसके बाद से आरोपियों ने प्रार्थिया से संपर्क तोड़ लिया था। प्रार्थिया अपने बच्चों मेडिकल कॉलेज में दाखिला के लिए आरोपियों से संपर्क करने का बहुत प्रयास किया परंतु आरोपीगणो ने अपने मोबाइल नंबर बंद कर लिए और अंडर ग्राउंड हो गए थे। प्रार्थियां शिखा दास उसके बाद मेडिकल कॉलेज बेंगलुरु जाकर पता किया। तब ज्ञात हुआ कि उक्त नाम के व्यक्तियों से कॉलेज का कोई संबंध नहीं है तथा प्रार्थी के बच्चों का कॉलेज में दाखिला प्रक्रियाधीन नहीं है। शिखा दास ने जनवरी 2020 में थाना पखांजूर में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोपियों को गिरफ्तारी उपरांत न्यायालय  पखांजूर में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल दाखिल कराया गया है। 

 

26-12-2020
मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ में लाया जा रहा था धान, पुलिस ने किया जब्त

कवर्धा। मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ में लाया जा रहा 550 बोरी धान को पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा ने जिला के सरहदी क्षेत्रों में नाकाबंदी पांइट लगाया है। इसके अंतर्गत शुक्रवार को थाना चिल्पी व जिला खाद्य विभाग कबीरधाम की संयुक्त टीम अवैध धान परिवहन की रोकथाम के लिए थाना चिल्फी के सामने नाकाबंदी पांइट में एक ट्रक को जबलपुर-रायपुर नेशनल हाइवे में रोका। ट्रक चालक से पूछताछ करने पर बताया कि वाहन में भरे 550 बोरी 250 क्विंटल धान को बिलासपुर में बेचने के लिए ले जाया जा रहा है। धान परिवहन के संबंध में चालक के पास कोई वैध दस्तावेज अथवा अनुमति होना नहीं पाए जाने से ट्रक में भरे  550 बोरी में 250 क्विटंल धान और ट्रक को जब्त कर लिया गया।  थाना चिल्फी में अवैध धान परिवहन के विरूद्ध लगातार प्रभावी कार्यवाही करते हुए करीबन 1,000 क्विटंल धान कीमती 14 लाख 50 हजार रुपए एवं परिवहन में उपयोग किए गए 4 ट्रक को को जब्त किया है।

 

25-12-2020
नशा मुक्ति और साइबर फ्रॉड के संबंध में ग्रामीणों को पुलिस ने किया जागरूक

 कोरबा।  पुलिस अधीक्षक कोरबा  अभिषेक मीणा द्वारा जिले में  घटित होने वाले अपराधों पर नियंत्रण अपराधियों के धरपकड़,जिले में निवासरत सभी लोगों तक पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की पहुंच सुनिश्चित करने,आम सूचना तंत्र मजबूत करने  एवम आम जनता से मित्रवत सम्बन्ध स्थापित करने के उद्देश्य से थाना क्षेत्र में आने वाले  शहर,गांव को छोटे छोटे बीट में विभक्त कर प्रत्येक बीट में 1 आरक्षक प्रधान आरक्षक को जिम्मेदारी दी जाकर बीट प्रणाली की शुरुआत की गई है । विगत क्राइम मीटिंग में पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा द्वारा सभी थाना,चौकी प्रभारियों  को निर्देशित कर बीट प्रणाली  की शुरुआत करने के निर्देश  दिए गए थे। प्राप्त निर्देश के पालन में पुलिस चौकी सीएसईबी क्षेत्र को 12 बीट में विभक्त कर 18 आरक्षक को बीट की जिम्मेदारी दी गई है एवम 4 बीट प्रभारी बनाए गए हैं। आज  चौकी  प्रभारी  उप निरीक्षक कृष्णा साहू के द्वारा ढोढ़ीपारा  बीट में निवासरत लोगों के बीच जाकर मीटिंग ली गई। मीटिंग में बीट प्रणाली के फायदे के बारे में बताकर अवैध धंधों में लिप्त असामाजिक तत्वों  के बारे में सूचना देने,किसी घटना की जानकारी तत्काल देने के लिए समझाइश देकर  बीट आरक्षक, बीट प्रभारी एवम चौकी प्रभारी का मोबाइल नम्बर साझा किया गया। मीटिंग के दौरान साइबर क्राइम,ऑनलाइन ठगी के बारे में बताकर बचाव के उपाय बताए गए। साथ ही नशाखोरी से होने वाले नुकसान एवम नशा से दूर रहने के सम्बन्ध में समझाइश दी गई। इस अवसर पर चौकी प्रभारी उप निरी कृष्णा साहू,आर. परमानंद दिवाकर, एसरोज साहू,पार्षद धनसाय साहू सहित काफी संख्या में महिला पुरुष  एवं बच्चे उपस्थित थे।

 

24-12-2020
पुलिस अधीक्षक ने ली पुलिस अधिकारियों की बैठक, दिए आवश्यक निर्देश

राजनांदगांव। पुलिस अधीक्षक ने जिले के सभी राजपत्रित अधिकारियों थाना एवं चौकी प्रभारियों की बैठक लेकर लंबित अपराध,मर्ग, चालान, गुम इंसान  प्रकरण तथा संपत्ति संबंधी अपराधों, चोरी,नकबजनी के प्रकरणों पर नियंत्रण लाए जाने एवं जिन प्रकरणों में आरोपियों की गिरफ्तारी शेष है ऐसे प्रकरणों में आरोपियों की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तार करने स्थायी वारंटियों की गिरफ्तारी एवं सामान बरामद किए जाने के लिए मीटिंग में निर्देश दिए। इ चिटफंड एवं दीगर लंबित अपराधों में त्वरित कार्रवाई कर निराकरण किए जाने के निर्देश दिए । पेट्रोलिंग एवं रात्रि गश्त चेक करनेए इसे प्रभावी करने, क्षेत्र के गुंडा बदमाशों, निगरानी बदमाशों की चेकिंग करने,  निरंतर नजर रखने एवं अधिक से अधिक गुंडा फाइल तथा निगरानी हिस्ट्री शीट खोले जाने के लिए पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण कुमार ने निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर कविलाश  टंडन,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जयप्रकाश बढ़ई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेशा चौबे,नगर पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव, अनुविभागीय विभागीय अधिकारी डोंगरगढ़, अनुविभागीय अधिकारी खैरागढ़, अनुविभागीय अधिकारी गंडई, अनुविभागीय अधिकारी मानपुर एवं सभी थाने के थानेदार सम्मिलित रहे।

22-12-2020
रात में राहगीरों का हाल जानने निेकले कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक, गरीबों को दिए शॉल-कम्बल

जगदलपुर। शहर में दो तीन दिनों से बढ़ी ठंड के कारण फुटपाथ में सोने वाले गरीब तबको और राहगीरों का हाल जानने के लिए सोमवार रात कलेक्टर रजत बंसल और पुलिस अधीक्षक दीपक झा निकले। इस दौरान उन्होंने लोगों का हालचाल जाना और उनकी समस्या से रूबरू हुए। साथ ही लोगों को इस ठंड से बचने के लिए स्वेटर, शॉल-कम्बल भी बांटे। कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने रात में जगदलपुर शहर के सिराहासार चौक, संजय बाजार क्षेत्र और बस स्टैंड का दौरा किया। जिला प्रशासन के आला अधिकारियों को अपने पास पाकर और ठंड से बचने के लिए मिले समान के लिए गरीब राहगीरों ने इन अधिकारियों को धन्यवाद दिया। इस दौरान नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार, नगर निगम आयुक्त प्रेम कुमार पटेल सहित अन्य पुलिस अधिकारी और निगम कर्मचारी मौजूद थे।

15-12-2020
दो आरक्षकों में आपसी विवाद, एसपी ने दोनों को किया लाइन अटैच

भिलाई। दुर्ग जिला पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर ने स्मृतिनगर पुलिस चौकी थाना अंतर्गत सुपेला में पदस्थ आरक्षक सहदेव देशमुख 1046 व आरक्षक संजय मिश्रा 1229 को तत्काल प्रभाव से लाइन अटैच कर दिया है। गौरतलब है कि दोनों आरक्षक ने एक दूसरे के साथ मामूली सी बात पर आपस में अश्लील गाली-गलौज व अभद्र व्यवहार का आरोप लगाया है। मिली जानकारी के अनुसार संजय मिश्रा ने सहदेव देशमुख के सर्मथक किसी अपराधिक तत्वों के खिलाफ धरपकड़ की कार्यवाई की थी। इसी बात से नाराज होकर सहदेव देशमुख ने अपराधिक तत्वों को कार में लेकर संजय मिश्रा के घर पर जा धमका और घर के सामने सहदेव ने संजय के साथ अश्लील गाली-गलौज करते हुए धक्का मुक्की की। इस बात की भनक लगते ही पुलिस अधीक्षक ने दोनों आरक्षक को लाइन अटैच कर दिया। 

04-12-2020
पुलिस ने अभियान चलाकर की बदमाशों की सरप्राइज चेकिंग

कोरबा। पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक मीणा के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर एवं नगर पुलिस अधीक्षक  राहुलदेव शर्मा के पर्यवेक्षण में थाना कोतवाली कोरबा, पुलिस चैकी सीएसईबी, रामपुर एवम मानिकपुर के अंतर्गत निवास करने वाले निगरानी बदमाश, गुंडा बदमाश, माफी बदमाश एवं अन्य संदिग्ध व्यक्तियों को अभियान चलाकर सरप्राइज चेक किया गया। चेकिंग के दौरान ज्यादातर बदमाश अपने घरों पर उपस्थित मिले कुछ बदमाश जो घर पर उपस्थित नहीं थे उन्हें घर बुलाकर चेक  किया गया एवं अपराधिक गतिविधियों से दूर रहने तथा समाज के मुख्यधारा में शामिल होकर जीवनयापन करने के लिए समझाइश दी गई। साथ ही बदमाशों के वर्तमान जीवनयापन का जरिया साथीदारान एवं अन्य संदिग्ध गतिविधियों के बारे में तस्दीक किया गया। शहर में शांति व्यवस्था स्थापित करने एवं अपराध मुक्त शहर बनाने के लिए कोरबा पुलिस लगातार कार्यवाही कर रही है।

 

03-12-2020
डीजीपी ने ली आईजी और पुलिस अधीक्षकों की बैठक, अपराधों पर नियंत्रण के दिए निर्देश

रायपुर। डीजीपी डीएम अवस्थी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आईजी और पुलिस अधीक्षकों की बैठक ली। इसमें उन्होंने प्रदेश में घटित हो रहे अपराधों की समीक्षा की। डीजीपी ने अधिकारियों को अपराधों में नियंत्रण करने के निर्देश दिए। पेंडिंग मामलों को निकालकर उनका जल्द निराकरण करने को कहा। उन्होंने विजुअल पुलिसिंग के कॉन्सेप्ट पर काम करने के निर्देश दिए।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804