GLIBS
10-04-2021
वन विभाग ने वर्ष 2020-21 में 5 करोड़ से अधिक मानव दिवस का दिया रोजगार

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मो.अकबर के मार्गदर्शन में राज्य में वनों के विकास सहित वनवासियों के हित में योजनाओं का कुशलतापूर्वक संचालन जारी है। इसके फलस्वरूप छत्तीसगढ़ में वन विभाग की ओर से वर्ष 2020-21 में कोरोना संकट के बावजूद लोगों को लघु वनोपज संग्रहण सहित विभिन्न रोजगारमूलक योजनाओं के तहत 5 करोड़ 23 लाख मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया। प्रधान मुख्य वन संरक्षक व वन बल प्रमुख राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि इस दौरान राज्य में 1 हजार 49 करोड़ रुपए की राशि से वनों के विकास और संरक्षण संबंधी अनेक कार्य कराए गए हैं। वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की ओर से वर्ष 2020-21 में संचालित इन कार्यों से लोगों को 2 करोड़ 23 लाख 19 हजार 563 मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया। इसी तरह राज्य में वर्ष 2020-21 में ही लघु वनोपजों के संग्रहण और प्रसंस्करण आदि कार्यों से लोगों को 3 करोड़ मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध हुआ है। इसमें लघु वनोपज संग्राहकों सहित आदिवासी-वनवासियों को 600 करोड़ रुपए की राशि के पारिश्रमिक का वितरण किया गया है।

राज्य में वनों के विकास व संरक्षण संबंधी कार्यों के अंतर्गत उपलब्ध कराए गए 2.23 करोड़ मानव दिवस के रोजगार में से सर्वाधिक कैम्पा मद के अंतर्गत 1 करोड़ 37 लाख मानव दिवस का रोजगार शामिल है। इसके अलावा बिगड़े वनों का सुधार अंतर्गत 28 लाख 26 हजार और प्राकृतिक पुनरोत्पादन संबंधी कार्यों के अंतर्गत 24 लाख 96 हजार मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इसी तरह पर्यावरण वानिकी में 1 लाख 16 हजार भू एवं जल संरक्षण कार्य में 2 लाख 20 हजार, नदी तट वृक्षारोपण योजना में 1 लाख 55 हजार और तेजी से बढ़ने वाले वृक्षारोपण संबंधी कार्यों में 92 हजार मानव दिवस का रोजगार दिया गया। पथ वृक्षारोपण के अंतर्गत 1 लाख 43 हजार मानव दिवस,अतिक्रमण व्यवस्थापन के बदले वृक्षारोपण संबंधी कार्यों में 19 हजार 790 और सड़कें और मकान निर्माण कार्य के अंतर्गत 77 हजार मानव दिवस और वन मार्गों पर रपटा और पुलिया निर्माण के कार्यों में 60 हजार मानव दिवस का रोजगार प्रदान किया गया। इसी तरह मुख्यमंत्री बांस विकास योजना में 22 हजार, पुनर्गठित राष्ट्रीय बांस मिशन में 17 हजार, अग्नि बचाव कार्य में 2 लाख 83 हजार, वन अग्नि बचाव व प्रबंधन कार्य में 66 हजार मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया। इसके अलावा सड़कों का निर्माण और भवनों का मरम्मत आदि कार्यों के अंतर्गत 9 लाख 40 हजार मानव दिवस, संयुक्त वन प्रबंधन सुदृढ़ीकरण व विकास में 32 हजार मानव दिवस, औषधि रोपण कार्य में 20 हजार मानव दिवस का रोजगार प्रदान किया गया। इसी तरह लोक संरक्षित क्षेत्रों की स्थापना में 18 हजार मानव दिवस, राष्ट्रीय वनीकरण कार्यक्रम में 1 लाख 93 हजार मानव दिवस, ग्रीन इंडिया मिशन में 15 हजार मानव दिवस और पारिस्थितिकी सेवा विकास परियोजना में 71 हजार मानव दिवस का रोजगार उपलब्ध कराया गया।

 

06-04-2021
Video: झुंड से भटकर शहर पहुँचा हिरण, लोगों ने वन विभाग को सौंपा

कवर्धा। झुंड से भटकर मंगलवार सुबह एक हिरण शहर की ओर आ पहुँचा, जिसे लोगों ने वन अमले के हवाले कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार शहर के वार्ड नंबर 8 गोकुलधाम कॉलोनी में आज सुबह एक नर हिरण पहुँच गया। पानी की तलाश में अपने झुंड से भटकर हिरण शहर की ओर आ पहुँचा। हिरण को कुत्तों ने काटने के लिए दौड़ाया, लेकिन वार्डवासियों ने देखा और कुत्तों को भगा दिया। लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी। मौके पर पहुंची वन अमले ने हिरण को अपने कब्जे में ले लिया है।

06-03-2021
एक लाख का अवैध सागौन और बीजा चिरान जब्त, वनमंडल धमतरी ने की कार्रवाई

रायपुर। वनमंडल धमतरी के दुगली परिक्षेत्र के चारगांव में रोमलाल के घर पर वन विभाग ने शनिवार को दबिश दी। वनमंडलाधिकारी धमतरी सतोविशा समाजदार के मार्गदर्शन में गठित टीम ने जांच के दौरान अवैध रूप से संग्रहित 2.150 घनमीटर सागौन, बीजा चिरान को  जब्त किया। इसका अनुमानित मूल्य लगभग एक लाख रुपए आंका गया है। नगरी परिक्षेत्र काविभागीय अमला हाथियों पर निगरानी रखने के लिए क्षेत्र में भ्रमण कर रहा था। इस दौरान 5 मार्च को रात्रि में 2 बजे के आस-पास डोंगरडुला जबरा चौक पर 2 साइकिल वालों से 5 सागौन चिरान सिलपट जब्त किया गया था। इनमें से एक राजू वट्टी रात के अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया था। दूसरे व्यक्ति कविलाल गोड़ ग्राम चारगांव के निशान देही पर रोमलाल के घर पर छापा मारा गया। साथ ही चारगांव से लगभग 4 किलोमीटर अंदर जंगल में कक्ष क्रमांक 330, चारगांव बीट में अतिक्रमण कर झोपड़ी बनाकर रह रहे जेठू राम कमार निवासी खरका को समझा बुझाकर वन भूमि को कब्जामुक्त कराया गया। आरोपियों के खिलाफ वन अपराध के प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

27-02-2021
तेंदुए के शिकार के मामले में पांच गिरफ्तार, भेजे गए जेल

राजनांदगांव। जिले के खैरागढ़ वन मंडल के अंतर्गत गंडई वन परिक्षेत्र के ग्राम मगरकुंड में हुए मादा तेंदुए की शिकार की गुत्थी वन विभाग ने सुलझा ली है। मादा तेंदुए का शिकार करने वाले पांच आरोपियों को वन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बता दें कि 22 व 23 फरवरी की रात मगरकुंड गांव के रहने वाले आरोपियों ने मादा तेंदुए का शिकार करने सुनियोजित तरीके से उसकी आवाजाही की रेकी कर अवैध आखेट के लिए विद्युत प्रवाहित तार का फंदा बनाकर तेंदुए को करेंट से मारा था। मादा तेंदुए को मारकर उसके शरीर के कुछ अंग जिसमें पंजा, खाल और मूंछ निकाल लिए थे, जिसे आरोपियों के कब्जे से बरामद कर लिया गया है।वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर जांच दल का गठन कर आरोपियों की पतासाजी की गई। डॉग स्क्वायड की भी मदद ली गई। पूछताछ के बाद पांचों आरोपियों को पकड़ा गया। आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है, जहां सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

26-02-2021
वन विभाग ने की कार्रवाई, एक लाख रुपए के सागौन चिरान सहित वाहन जब्त

रायपुर। वनमंडलाधिकारी बिलासपुर कुमार निशांत के मार्गदर्शन में वन विभाग ने 25 फरवरी की रात बेलगहना परिक्षेत्र के करहीकछार के पास घेराबंदी की। 27 नग सागौन के चिरान सहित वाहन को जब्त किया गया। जब्त लकड़ी का मूल्य लगभग एक लाख रुपए आंका गया है। टीम ने घेराबंदी के दौरान वाहन सीजी.10 बीसी 3889 को रोका। वाहन मेंसागौन चिरान बरामग हुए। आरोपी ग्राम करहीकछार थाना कोटा के परमेश्वर पटेल के खिलाफ वन अधिनियम के तहत अपराध प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

23-02-2021
अवैध कटाई से जंगल हो रहा साफ, पंडरिया वन विभाग पश्चिम रेंज में हो रही है अवैध कटाई

कवर्धा। विकासखंड पंडरिया पश्चिम रेंज आदिवासी अंचल ग्राम पंचायत कुई बिट,बांगर,कांदावानी,पंडरीपानी,आगरपानी,भेलकी क्षेत्र में सागौन सहित इमारती पेड़ों की अवैध कटाई जोरों पर है। कुई कुकदुर के आगे जंगल में पहाड़ी तक सागौन के पेड़ों की अवैध कटाई की जा रही है। इनके टूट अभी भी मौजूद हैं,जिन पर वन विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की है।
जंगल का अस्तित्व खतरे में पड़ता जा रहा है। दस साल पहले यह इलाका काफी हरा-भरा रहता था लेकिन अवैध कटाई के चलते अब यह जंगल सपाट मैदान में तब्दील होते जा रहा है। वनों की सुरक्षा के लिए नियुक्त विभाग के आधे से अधिक कर्मचारी अपना फील्ड छोड़ मुख्यालय में रहते हैं। कार्य क्षेत्र से नदारद रहने का फायदा लकड़ी तस्कर उठाते हैं।
वर्जन कुई क्षेत्र में वनों की अवैध कटाई हो रही है ऐसी शिकायत नहीं मिली है। हमारे अधिकारी कर्मचारी लगातार दौरा करते हैं। यदि अवैध कटाई हुई है तो दिखवाता हूं।
एनपी देशलहरा, एसडीओ वन विभाग पंडरिया

 

23-02-2021
Video: एसडीओ मिले कोरोना पॉजिटिव, वन विभाग ने लगाया कैंप, मिले 16 संक्रमित

गरियाबंद। कोविड 19 का कहर जिले में बढ़ रहा है। फॉरेस्ट कॉलोनी में मात्र 2 दिनों में 16 मरीज मिले हैं। दरअसल एक एसडीओ को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद वन विभाग परिसर में जब कैंप लगाकर जांच की गई तो यहां 16 कोरोना संक्रमित पाए गए। इसी के साथ कुछ अन्य रिपोर्ट अभी आना बाकी है। विभाग के दोनों गेटों पर चौकीदार बैठाकर हर आने जाने वाले से पूछताछ कर ही प्रवेश दिया जा रहा है। कोरोना महामारी को लेकर टिका ईजाद होने के बाद गरियाबंद में विभिन्न अधिकारी कर्मचारियों को टीकाकरण किया गया।

इसके बाद से लोगों में यह भ्रम फैल गया था कि अब टीका लगने के बाद कोई दिक्कत या परेशानी नहीं होगा। इसके कारण लोग माक्स लगाना, हाथ धोना या कोरोना बीमारी से बचाव के अन्य तरीकों को छोड़ दिया था। फिर से कोरोना महामारी अपना रूप दिखाने लगा है। इसी के चलते आज स्थिति यह हो गई है कि कोरोना महामारी फिर से लौट रही है और मात्र 2 दिनों में ही गरियाबंद वन परिसर में 16 लोगों को कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। इसके बाद से गरियाबंद के साथ ही वन परिसर में दहशत का माहौल है

19-02-2021
बिना लाइसेंस जारी था काम, वन विभाग ने मिनी आरा मशीन को किया जब्त

रायपुर। विकासखंड तिल्दा के ग्राम भैंसा में वन विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई की। बिना लाइसेंस के एक मिनी आरा मशीन को जब्त किया गया। प्रकरण में तेजराम साहू के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जा रही है। मुख्य वन संरक्षक रायपुर जेआर नायक के मार्गदर्शन में वन विभाग का मैदानी अमला लगातार निरीक्षण कर रहा है। अभियान के तहत आज वनमंडलाधिकारी रायपुर विश्वेश कुमार के नेतृत्व में डिप्टी रेंजर दीपक तिवारी, वनरक्षक दीपक वर्मा व रिखी राम साहू,यदु राम साहू के साथ अन्य ने कार्रवाई की।

 

19-02-2021
तेंदुआ का शिकार करने वाले दो ग्रामीणों को जेल, वन विभाग ने दो दिनों में सुलझाया मामला

कवर्धा। तेंदुआ के शिकार प्रकरण में वन विभाग ने शुक्रवार को दो ग्रामीणों को पकड़ा है। जिले के सहसपुर लोहारा वन परिक्षेत्र भठेला टोला के जंगल में तेंदुआ मृत मिला था। इस प्रकरण को दो दिनों में ही  कवर्धा वनमंडल की टीम ने सुलझा लिया है। दोनों ग्राणीणों को  जेल भेज दिया गया है। वनमंडलाधिकारी दिलराज प्रभाकर ने बताया कि मुख्य आरोपी हरिचंद (26)और सह आरोपी भुखलु (23)को वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया। दोनों को न्यायालय में पेश कर जेल भेजा गया है। वन्य प्राणी मादा तेंदुआ के शिकार के संबंध में मुख्य आरोपी के बताए साक्ष्य के आधार पर वन विभाग की टीम ने जांच की। मामले का खुलासा और कार्रवाई में सिदार उपवन मंडल अधिकारी सहसपुर लोहारा, देवेंद्र गौड़ परिक्षेत्र अधिकारी भोरमदेव, वन विभाग का उप वन मंडल सहसपुर लोहारा, कवर्धा व भोरमदेव अभ्यारण का वन अमला और पुलिस अधीक्षक जिला कबीरधाम के मार्गदर्शन में पुलिस बल का महत्वपूर्ण योगदान रहा। साथ ही अचानकमार टाइगर रिजर्व बिलासपुर से आए स्निफर डॉग स्क्वायड की टीम की अपराधियों तक पहुंचने में भूमिका रही।

16-02-2021
वन विभाग के अधिकारियों का तबादला, अवर सचिव ने जारी किया आदेश 

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन ने वन विभाग के अधिकारियों का तबादला किया है। 6 अधिकारियों को नवीन पदस्थापना दी गई है। वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अवर सचिव आर.के. चंचलानी ने आदेश जारी कर दिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804