GLIBS
26-11-2020
डीएम अवस्थी ने कहा- आदतन अपराधी और गुण्डे-बदमाशों की लिस्ट बनाकर सख्ती से करें कार्यवाही

रायपुर। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने गुरूवार को रायपुर जिले में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा बैठक ली। बैठक में अवस्थी ने कहा कि राजधानी रायपुर की पुलिस का जोर बेसिक, इम्पेक्टफुल और विजिबल पुलिसिंग पर होना चाहिए। प्रदेश भर में रायपुर पुलिस की कार्यशैली और अपराधियों पर कार्यवाही अनुकरणीय होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आदतन अपराधी और गुण्डे-बदमाशों की लिस्ट बनाकर सख्ती से कार्यवाही करें। गुण्डे-बदमाशों में पुलिस का भय और आमजन में पुलिस के प्रति विश्वास होना चाहिए।

बैठक में डीजीपी ने पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश दिये और कहा कि सट्टा, जुआ, अवैध शराब पर छापामार कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि महिला विरूद्ध अपराधों पर प्राथमिकता से कार्यवाही करें। अपराधों को रोकने और अपराधियों पर सख्त कार्यवाही के लिये एक्शन प्लान बनाकर कार्य करें। अपराधियों पर सख्त और त्वरित कार्यवाही करें, जिससे आमजन को पुलिसिंग होती हुई दिखायी दे। डीएम अवस्थी ने कहा कि रायपुर पुलिस ने पिछले 11 माह में कई बड़े मामले सफलतापूर्वक सुलझाये हैं एवं लगभग सभी अपराधी पकड़े गये हैं।

उन्होंने यातायात पुलिस को निर्देश दिये कि वाहन चेकिंग के दौरान गुण्डे-बदमाश प्रवृत्ति के लोगों पर भी नजर रखें एवं कार्यवाही करें। डीजीपी ने कम्युनिटी पुलिसिंग पर जोर देते हुए कहा कि आमजन एवं पुलिस के बीच लगातार संवाद स्थापित होते रहना चाहिए। इसके लिये फ्रेण्ड्स ऑफ पुलिस बनाकर अच्छे लोगों को पुलिस से जोड़कर अपराधों की रोकथाम में मदद मिल सकती है। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक डॉ. आनंद छाबड़ा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव, उप पुलिस महानिरीक्षक सीआईडी हिमानी खन्ना, सहायक पुलिस महानिरीक्षक राजेश अग्रवाल एवं रायपुर जिले के सभी पुलिस अधिकारी उपस्थिति रहे।

 

22-11-2020
अपराधों की रोकथाम के लिए चलाया गया अभियान, अलग-अलग स्थानों पर चेकिंग पॉइंट लगाकर की गई कार्यवाही

 

धमतरी। प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू द्वारा रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक ली गई। इसमें समय-समय पर मिलने वाले दिशा निर्देश के साथ-साथ प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराधों की रोकथाम एवं कानून व सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए। निर्देश के परिपालन में पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु द्वारा जिले में हो रही घटनाओं के मद्देनजर सभी थाना प्रभारियों को निगरानी बदमाश, गुंडा बदमाश पर सतत निगाह रखने एवं चाकूबाजों पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। थाना क्षेत्र में पुलिस की उपस्थिति बनाए रखने के लिए थाना प्रभारी की उपस्थिति में पैदल पेट्रोलिंग व वाहन पेट्रोलिंग किए जाने तथा किसी भी प्रकार की घटना की सूचना मिलने पर त्वरित कार्यवाही करने निर्देशित किया गया।

साथ ही अलग-अलग स्थानों में संदिग्ध व्यक्तियों एवं वाहनों की चेकिंग के लिए पॉइंट निर्धारित कर समय-समय पर चेकिंग अभियान चलाकर अपराधों पर अंकुश लगाने हिदायत दी गई।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के नेतृत्व में सभी थाना प्रभारी अपने थाना क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर चेकिंग पॉइंट बनाकर संदिग्ध व्यक्तियों एवं संदिग्ध वाहनों की चेकिंग की गई। इस दौरान यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों और बिना मास्क लगा कर घूम रहे लोगों के विरुद्ध कार्यवाही भी की गई। साथ ही सुनसान क्षेत्रों में एकत्रित लोगों एवं संदिग्ध व्यक्तियों की फिजिकल चेकिंग भी की गई।

 

18-11-2020
राशन चोरी की मिल रही थी शिकायत,जिला प्रशासन ने की कार्यवाही,चावल और गाड़ी को किया जब्त

बीजापुर। जिला मुख्यालय के वार्ड क्रमांक 3 बीजा हलबापरा में संचालित राशन दुकान से राशन बाहर बेचे जाने की कई दिनों से स्थानीय लोगों के द्वारा मीडिया को सूचना दी जा रही थी। खबर यह थी कि हर महीने गाड़ी में भरकर चावल कहीं जाता है। मीडिया की टीम ने बीजा हलबापारा स्थित राशन दुकान पर अपनी नजर बनाए रखी थी,लगभग दो महीने के मशक्कत के बाद बुधवार को पकड़ में आया। इस बार राशन दुकान से चावल गाड़ी में भर कर बाहर लेकर जाने तैयारी थी। राशन दुकान में जब मीडिया की टीम पहुंची उस वक्त पिकअप वाहन में राशन दुकान से चावल लादा जा रहा था। कई बोरे चावल लादा जा चुका था। जब मीडिया टीम ने उचित मूल्य की दुकान संचालिका से जानकारी मांगी तो उल्टे सीधे जवाब दे रही थी। जवाब सही नहीं मिला तब मीडियाकर्मियों ने जिला खाद्य अधिकारी बीएल पदमाकर को फोन से जानकारी दी।

परंतु खाद्य विभाग की सुस्ती के चलते कार्यवाही लेट होता देख मीडिया ने जिला प्रशासन को दूरभाष से जानकारी दी। तत्काल जिला प्रशासन ने मामले को संज्ञान में लेते हुए बीजापुर एसडीएम हेमेंद्र भुआर्य,खाद्य अधिकारी बीएल पद्माकर एवं अन्य अधिकारियों को उचित मूल्य की दुकान पर कार्यवाही के लिए भेजा । बीजापुरी एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर गाड़ी और चावल को जब्त किया और आगे की कार्यवाही की जा रही है।बाइट-बीजापुर एसडीएम हेमन्त भुआरे ने बताया कि मीडिया से जानकारी मिलने पर तत्काल जिला  प्रशासन के आदेश पर हमारी टीम राशन दुकान पहुंची।वहां मौके पर गाड़ी और चावल जब्त किया गया है।दुकान संचालिका से राशन संबंधी पंजी के संबंध में पूछने पर कोई संतोषप्रद जवाब नही मिला।जिस पर आगे की कार्रवाई चावल और गाड़ी को जब्त कर लिया गया है।जिला प्रशासन के द्वारा आगे की कार्यवाही की जा रही है।

10-11-2020
मास्क नहीं पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए कलेक्टर ने

रायपुर/नारायणपुर। जिला स्तरीय कोरोना टास्क फोर्स समिति कलेक्टर अभिजीत सिंह ने बैठक ली। कलेक्टर सिंह ने कहा कि त्यौहारी सीजन में दुकानों, बैंक एवं एटीएम में भीड़ देखने को मिल रहा है। ऐसी जगहों पर मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिग का पालन नही करने, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। राजस्व, नगर पालिका एवं पुलिस विभाग को मिलाकर उड़नदस्ता दल गठित किया गया है। दलों द्वारा किये गए चालानी कार्यवाही से अवगत करवाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। सिंह ने कहा कि कोरोना टेस्टिंग टीम नियमित रूप से ऐसे सार्वजनिक स्थानो में टेस्टिंग के लिए तैनात रहे। जिला अस्पताल परिसर में बने कोविड केयर सेंटर के मरम्मत की जानकरी ली। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में ठंड बढ़ी है, इसे देखते हुए मरीजो को गर्म पानी उपलब्ध कराई जाये। जिले में जांच के लिए उपलब्ध किट की जानकारी ली। कलेक्टर  सिंह ने ब्लड बैंक में ब्लड स्टॉक की जानकारी  लेते हुए ब्लड डोनेशन कैम्प लगवाने की बात कही। ब्लड डोनर का डाटा बेस तैयार करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर अभिजीत सिंह ने आम नागरिकों से ब्लड डोनेट करने की भी अपील की है। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयंत वैष्णव, एसडीएम दिनेश कुमार नाग, डिप्टी कलेक्टर गौरीशंकर नाग, वैभव क्षेत्रज्ञ के अलावा अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.आनंदराम गोटा ने बताया कि वर्तमान में लैब टेक्नीशियनों द्वारा जिले के स्वास्थ्य केंद्रों एवं विभिन्न जगहों पर जाकर जांच किया जा रहा है। जिले में कोविड 19 संक्रमण के संक्रमित मरीजों, स्वस्थ मरीजों, आईसोलेशन के लिये गये सैम्पलों की संख्या, होम क्वांरटीन, प्राप्त रिपोर्ट एवं कोरोना संक्रमण से बचाव तथा जिला चिकित्सालय में उपलब्ध सुविधाओं एवं व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

05-11-2020
अवैध उत्खनन करते जंगल से लगी जमीन पर ही खोद दिया 20 फीट का गड्डा

कोंडागांव। जिले से महज 9 किलोमीटर की दूरी पर बसे ग्राम बम्हनी में जंगल से लगी जमीन पर अवैध मुरुम मिट्टी उत्खनन कर 20 फीट की खाई में तब्दील कर दिया। इस प्रकार के लापरवाही पूर्वक खोदे गए बड़े गड्डों में पहले भी मवेशी व बच्चे गिर कर दुर्घटना का शिकार हो चुके हैं। जब भी किसी जागरूक नागरिक के द्वारा खनिज अधिकारी को मामले की जानकारी दी जाती है तो उनका एक ही जवाब रहता है कि स्टाफ अभी नहीं है और वह बाहर है। जिले में वन विभाग जरूर मुस्तैद नजर आ रहा है। अवैध उत्खनन पर वन अमला कार्यवाही भी कर रहा है।

वर्जन

जिले में अवैध उत्खनन व परिवहन पर खनिज विभाग कार्यवाही कर रहा है। ठेकेदार द्वारा अवैध मुरुम उत्खनन की जानकारी आई है,जिस पर तत्काल विभागीय अधिकारी को ग्राम बम्हनी भेज कर मामले की जांच करवाई जाएगी।
पुष्पेन्द्र मीणा, कलेक्टर कोंडागाँव

 

03-11-2020
कलेक्टर ने अधिकारियों को चेताया, निर्माण कार्यों को तेजी के साथ करे पूरा, नहीं तो होगी कार्यवाही

बीजापुर। जिले के ग्रामीणों तथा युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए शासन की विभिन्न स्वरोजगार योजनाओं से ऋण-अनुदान की सुलभता सुनिश्चित करने के लिए हर ब्लाक में ऋण शिविरों का आयोजन किया जायेगा। इसमें कृषि एवं कृषि के आनुशांगिक गतिविधियों कुक्कुटपालन,बकरीपालन, सूकरपालन, मत्स्यपालन, साग-सब्जी उत्पादन आदि के लिए ग्रामीणों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान किया जाये।वहीं युुवाओं को विभिन्न व्यवसाय के लिए मुद्रा ऋण उपलब्ध कराया जाये। इस दिशा में सभी विभागीय अधिकारियों के द्वारा व्यवसाय करने के इच्छुक युवाओं से संपर्क कर आगामी एक महीने के भीतर अधिकाधिक प्रकरण तैयार किया जाये।

वहीं मनरेगा के तहत् वनाधिकार पट्टेधारी हितग्राहियों को 200 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने सहित कुक्कुटपालन, मत्स्यपालन,साग-सब्जी उत्पादन, फलोद्यान इत्यादि आजीविका के साधनों के लिए कार्ययोजना तैयार किया जाये। उक्त निर्देश कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने कलेक्टोरेट में आयोजित समय-सीमा की बैठक के दौरान अधिकारियों को दिये। बैठक में सीईओ जिला पंचायत पोषणलाल चन्द्राकर,अपर कलेक्टर ओपी सिंह सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी और जिले में पदस्थ एसडीएम,तहसीलदार,सीईओ जनपद पंचायत तथा नगरीय निकायों के सीएमओ मौजूद थे।

कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने बैठक में नीति आयोग द्वारा आकांक्षी जिलों के लिए निर्धारित सूचकांक सम्बन्धी कार्यों की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को योजनाओं के क्रियान्वयन में अद्यतन प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने इस दिशा में किये जा रहे कार्यों तथा योजनाओं के कार्यान्वयन की नियमित मानिटरिंग सुनिश्चित करने कहा।कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने बैठक के दौरान राज्य शासन की फ्लेगशिप योजनाओं नरवा-गरवा, घुरवा एवं बाड़ी,गोधन न्याय योजना,मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान ईत्यादि के कारगर कार्यान्वयन पर बल देते हुए इन योजनाओं से आम जनता को लाभान्वित करने के लिए सकारात्मक पहल किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होने समर्थन मूल्य पर धान एवं मक्का उपार्जन के लिए नवीन किसानों का पंजीयन 10 नवम्बर तक सुनिश्चित किये जाने कहा। वहीं इस दिशा में वनाधिकार पट्टेधारी किसानों का पंजीयन करने के लिए प्राथमिकता के साथ पहल किये जाने के निर्देश दिये।कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने जिले में विभिन्न मदों के तहत् संचालित निर्माण कार्यों को तेजी के साथ संचालित करने सहित नियत समयावधि में पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये।

उन्होने इस हेतु निर्माण कार्यों का नियमित रूप से निरीक्षण कर अद्यतन प्रगति लाये जाने के निर्देश निर्माण एजेंसीज के अधिकारियों को दिये। कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने जिले में नवीन पेयजल परियोजनाओं तथा नल-जल योजनाओं के कार्यों को शीघ्र पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने सीएसआर,डीएमएफ और विशेष केन्द्रीय सहायता योजना के अंतर्गत पूर्ण कार्यों की उपयोगिता प्रमाण पत्र एवं पूर्णता प्रमाण पत्र शीघ्र प्रस्तुत किये जाने के निर्देश दिये।बैठक के दौरान आंगनबाड़ी केन्द्र भवन निर्माण, धान खरीदी केन्द्रों पर चबूतरा निर्माण, जाति प्रमाण प्रदाय,समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के लिए बारदाना की व्यवस्था आदि की विस्तृत समीक्षा की गई।

 

24-10-2020
नकली आदिवासी और भाजपा की सांठगांठ जगजाहिर : दीपक बैज

रायपुर/जगदलपुर। अमित जोगी, ऋचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद उनके बचाव में उतरी भाजपा पर तीखा प्रहार करते हुए बस्तर लोकसभा सांसद दीपक बैज ने कहा है कि रमन सिंह और भाजपा अपनी सत्ता बचाने के लिए 15 साल तक नकली आदिवासी को कानूनी कार्यवाही से बचाते रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, धरमलाल कौशिक ने अमित जोगी, रिचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र निरस्तीकरण की कार्यवाही को गलत ठहरा कर प्रदेश के आदिवासी समाज का अपमान किया है। जबकि भाजपा के ही वरिष्ठ नेता नंदकुमार साय पूर्व गृह मंत्री ननकीराम कंवर सहित भाजपा से जुड़े आदिवासी नेता भी नकली आदिवासी के जाति प्रमाण पत्र निरस्तीकरण को जायज ठहरा रहे हैं और छत्तीसगढ़ के आदिवासी समाज को 15 साल बाद न्याय मिलना बता रहे हैं। सांसद दीपक बैज ने कहा है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय आदिवासी समाज के सामने अपनी राय स्पष्ट करें। क्या वो भी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक की तरह ही अमित जोगी रिचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र  निरस्तीकरण के खिलाफ़ हैं।2003 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अजीत जोगी को नकली आदिवासी घोषित कर प्रदेश में चुनाव लड़ा था और उस दौरान नेता प्रतिपक्ष नंद कुमार साय ने उनके जाति प्रमाण पत्र को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी क्या ये भाजपा की भूल थी। क्या 2003 में भाजपा ने राजनीतिक स्वार्थ के चलते आदिवासी समाज को गुमराह किया था? जोगी परिवार पर नकली आदिवासी होने का आरोप लगाकर चुनाव लड़ने वाली भाजपा ने 15 साल तक अजीत जोगी, अमित जोगी के जाति प्रमाण पत्र पर उचित कार्यवाही क्यों नहीं की? भाजपा और रमन सिंह के आदिवासी विरोधी कृत्य से प्रदेश के आदिवासी समाज के हक, अधिकार का हनन हुआ उसके लिए प्रदेश की ढाई करोड़ जनता और आदिवासी समाज से उन्हें माफी मांगना चाहिए।
सांसद दीपक बैज ने कहा कि नकली जाति प्रमाण पत्र के आधार पर मरवाही की जनता के हक और अधिकार का हनन करने वालों को मरवाही के घर घर में जाकर प्रायश्चित करना चाहिए और माफी मांगना चाहिए।

22-10-2020
न्यायालय के आदेश पर हुई कार्यवाही, अवैध रूप से रेत निकालने बने रैम्प को जिला प्रशासन ने ढहाया  

कांकेर। ग्राम पंचायत नारा में अवैध रूप से रेत निकालने बने रैम्प को न्यायालय के आदेश पर जिला प्रशासन ने कार्यवाही करते हुए ढहा दिया। प्राप्त जानकारी अनुसार ग्राम पंचायत नारा महानदी पुल से लगाकर एक व्यक्ति ने ट्रैक्टर के माध्यम से हाइवा वाहनों में रेत डालने के लिए सीमेंट से रैम्प बनाया था। इसकी शिकायत मिलने पर गुरुवार को तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं पुलिस टीम ने रैम्प को तोड़ने की कार्यवाही की जा रही थी। तभी गांव के ही कुछ लोगों नेप्रशासन की कार्यवाही का विरोध किया। पुलिस को ने सख्ती बरतते हुए रैंप को तोड़ा। इस सबंध में कांकेर नायब तहसीलदार जीएल साहू ने बताया कि ग्राम पंचायत नारा में अवैध कब्जा कर रैम्प बनाया गया था। इसकी शिकायत हल्का पटवारी के किये जाने एवं हमारी जानकारी में आने के बाद न्यायालय में प्रकरण दर्ज होने के बाद विधिवत रूप से अवैध कब्जा को तोड़ा गया है। कार्यवाही में तहसीलदार मनोज मरकाम, एएसआई मनोज सेवता, पुलिस बल एवं पटवारी मौजूद रहे।

 

21-10-2020
Video: मिष्ठान प्रतिष्ठान में साफ सफाई का अभाव, निगम टीम ने लगाया 5 हजार रुपए का जुर्माना

दुर्ग। इंदिरा मार्केट स्थित एक मिष्ठान भंडार पर आयुक्त इंद्रजीत बर्मन के निर्देशानुसार 5000  जुर्माना लगाया गया। उन्हें चेतावनी दी गई की वे पानी टंकी की सफाई कराएं, बरामदे को खाली रखें,आस-पास गंदगी न फैलायें अन्यथा कड़ी कार्यवाही की जाएगी। कार्यवाही की जानकारी देते हुए निगम स्वास्थ्य अधिकारी दुर्गेश गुप्ता ने बताया शहर में स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 लागू है । इसके तहत् नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा व्यापक स्तर पर साफ-सफाई करायी जा रही है । नगर निगम द्वारा शहर के नागरिकों से अपील किया गया है कि आपके आस-पास किसी के भी द्वारा गंदगी करने कचरा फैलाने पर तत्काल मोबाइल से फोटो खींच कर भेजे ऐसे लोगों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। इसी तारतम्य में शहर के एक जागरुक नागरिक ने जिला कलेक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे के मोबाइल पर शिकायत कर बताया कि अग्रवाल मिष्ठान भंडार की पानी टंकी कई महिनों से सफाई नहीं हुई है। बरामदा में कब्जा किया हुआ है। शिकायत, निगम आयुक्त बर्मन के संज्ञान में आते ही स्वास्थ्य अधिकारी दुर्गेश गुप्ता को जांच कर कार्यवाही करने निर्देश दिये। आयुक्त के निर्देश पर स्वच्छता निरीक्षक जसवीर सिंह भुपाल व स्वास्थ्य अधिकारी ने शिकायत को सही पाया। आयुक्त के निर्देश पर मिष्ठान भंडार के ऊपर 5000 रुपए का जुर्माना लगाया गया। अव्यवस्था और गंदगी तथा अतिक्रमण नहीं करने की चेतावनी दी गई। आयुक्त ने शहर के आम नागरिकों से अपील कर कह है कि वे भी अपने आस-पास किसी भी प्रकार की गंदगी, अतिक्रमण आदि की फोटो खींच कर स्वा. अधिकारी के मोबाइल 7879065153 में वाट्सएप कर सूचित करें तत्काल कार्यवाही की जाएगी।

20-10-2020
तीन शासकीय उचित मूल्य दुकानों के विरूद्ध कार्यवाही के आदेश खाद्य आयोग अध्यक्ष ने दिए

दुर्ग। भिलाई नगर निगम के वार्ड क्रं. 24 में स्थित आशादीप समिति में निवासरत कुछ परिवारों को माह सितंबर 2020 के राशन की प्राप्ति में समस्या के साथ-साथ कुछ शासकीय उचित मूल्य दुकानों में अनियमितता की समस्या का उल्लेख किया गया था। राज्य खाद्य आयोग द्वारा संज्ञान लेते हुए अध्यक्ष  गुरप्रीत सिंह बाबरा, पार्वती ढीढी, सदस्य एवं राजीव जायसवाल, सदस्य सचिव द्वारा आशादीप समिति के अध्यक्ष एवं निवासियों से मुलाकात कर उनकी समस्या सुनी तथा कालोनी के माह सितंबर के उठाव के लिए शेष परिवारों के लिए राशन वितरण की व्यवस्था तत्काल कराई गई। आशादीप कालोनी के अध्यक्ष  मोहन द्वारा खाद्य आयोग की ओर से की गई इस त्वरित कार्यवाही पर आयोग एवं शासन को धन्यवाद दिया गया। आयोग द्वारा वार्ड क्रं. 23, 24 एवं 25 की 03 शासकीय उचित मूल्य दुकानों का निरीक्षण किया गया। मौके पर निरीक्षण के दौरान पाई गई अनियमितता पर जिले के खाद्य विभाग के उपस्थित अधिकारियों को इन 3 उचित मूल्य दुकानों के विरूद्ध तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये गये। आयोग के अध्यक्ष  गुरप्रीत बाबरा द्वारा निरीक्षण के दौरान जिला प्रशासन के दल को कहा गया है कि सभी पात्र राशनकार्डधारियों को हर महीने पात्रता अनुसार राशन का वितरण कराया जावे तथा खाद्य आयोग द्वारा इसकी नियमित निगरानी की जा रही है।

 

13-10-2020
Video: कोरोना के इलाज में निर्धारित दरों से अधिक बिल लिए जाने पर की जाएगी कार्यवाही: कलेक्टर

दुर्ग। कोरोना के मरीजों के इलाज को लेकर सरकारी निर्धारित दरों के ऊपर मनमाने ढंग से निजी अस्पतालों द्वारा बिल लिए जाने के मामले में कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर भूरे ने कार्यवाही किए जाने की बात कही है। उन्होेंने कहा कि कोरोना के इलाज के लिए सरकार ने समय-समय पर कई गाइडलाइन जारी की है। इसके लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। किंतु अस्पतालों द्वारा शिकायत प्राप्त हो रही है। जिन पर जुर्माना व अन्य कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि जिला प्रशासन द्वारा अस्पतालों का निरीक्षण की जुर्माना राशि के द्वारा अंकुश लगाने की कोशिश की जा रही है और भविष्य में ऐसी गलतियां ना हो उसके लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त है। पूरे मामले में कलेक्टर जिला कलेक्टर से जब भी यह जानने की कोशिश की गई कि प्राइवेट अस्पतालों द्वारा मनमाने ढंग से 5 से लेकर के 12 लाख तक का बिल दिया जा रहा है। वह किन बातों का दिया जा रहा है। उस मामले में कलेक्टर ने कहा कि इन सब बातों के लिए अगर शिकायत प्राप्त होती है तो उस पर उचित कार्यवाही की जाएगी। वहीं कोरोना से हुई मौत में मामलों की शिकायत पर उन्होंने कहा कि कार्यालय में शिकायत आने के बाद उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी और मामले का निपटारा भी किया जा सकेगा।  

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804