GLIBS
24-01-2021
तुमगांव पुलिस ने वाहन चालकों को किया गुलाब भेंट

महासमुन्द।  हमर संग हमर पुलिस के बैनर तले थाना तुमगांव क्षेत्र में आज यातायात सुरक्षा माह के अवसर पर थाना तुमगांव स्टाफ द्वारा हेलमेट लगाकर यातायात जागरूकता रैली निकाली। भोरिंग चौक में थाना तुमगांव एवं यातायात पुलिस महासमुंद के द्वारा संयुक्त रूप से आने-जाने वाले राहगीरों को यातायात नियमों का पालन करने के संबंध में पंपलेट देकर हेलमेट पहनकर वाहन चलाने, शराब पीकर वाहन नहीं चलाने, गाड़ी का समय से बीमा कराने, दो पहिया वाहन में तीन सवारी नहीं चलने, मोड पर गाड़ी को ओवरटेक ना करने, वह अत्यधिक तेज गति से वाहन नहीं चलाने के संबंध में समझाइश दी गई। इसके साथ ही तुमगांव पुलिस ने वाहन चालकों को प्रोत्साहित करने, हेलमेट पहनकर चलने वाले नागरिकों को गुलाब का फूल देखकर उनका सम्मान किया। यातायात नियमों का पालन करने कारण आभार व्यक्त किया गया।

19-01-2021
दोपहिया वाहन पर जरूरी है रियर-व्यू मिरर लगाना, वरना कटेगा चालान

रायपुर। हाल ही में चारपहिया वाहन में सीट बेल्ट नहीं पहनने पर चालान काटा जा रहा है। पुलिस ने हाल ही में अपने अभियान की घोषणा की लोगों को सीट बेल्ट के रूप में अच्छी तरह से सुरक्षित किया जा सके। ट्रैफिक पुलिस ने एक और नियम लागू करते हुए दोपहिया वाहनों के लिए रियर-व्यू मिरर का उपयोग अनिवार्य किया है। रियर-व्यू मिरर नहीं लगाना सुरक्षा के साथ-साथ अन्य सड़क उपयोगकर्ताओं के लिए गंभीर खतरा पैदा करता है, क्योंकि मिरर के बिना वे अपने पीछे के यातायात से अनजान रहते हैं, जो गंभीर रूप से खतरा होता है। बता दें की इस नियम का पालन न करने के लिए 1,000 तक का ट्रैफिक चालान काटा जा सकता हैं।

 

 

15-01-2021
एसपी भोजराम पटेल ने किया सड़क,बाजार,चौक चौराहों का किया निरीक्षण, अव्यवस्थित ठेला वाहनों को हटवाया

गरियाबंद। लगातार यातायात की अव्यवस्थाओं की शिकायतों के बाद शुक्रवार को स्वयं गरियाबंद के पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल सड़कों पर पैदल  निकले। लगभग 4 घंटा गरियाबंद के विभिन्न चौक चौराहों सड़कों और बाजार में पहुंच यातायात की व्यवस्थाओं को देखते हुए उन्होंने यातायात व्यवस्था को तत्काल दुरुस्त कराया। उन्होंने कहा कि वे मुख्य रूप से यातायात से होने वाली दिक्कतों को देख रहे हैं किन किन बिंदुओं के चलते यातायात अव्यवस्थित हो रहा है इस तरह की अव्यवस्थाओं को देखने के बाद उनका प्रयास होगा कि वे यहां के नागरिक व्यवसायियों के साथ बैठकर ऐसा हल निकालें,जिससे कि यातायात हमेशा के लिये व्यवस्था दूर हो सके। राजिम फिंगेश्वर छुरा को की भी यातायात व्यवस्था इसी तरह की बनी हुई है इसे भी इसी तरह ठीक करना है।

पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल अपने विभिन्न अधिकारियों के साथ गरियाबंद के चैक चैराहे बाजार और सड़कों पर पैदल निकल कर उन्होंने यातायात की व्यवस्थां का अध्ययन किया है। साथ ही जो मौके पर पाया गया उसे तत्काल ठीक कराया गया है। एक बात यह भी देखने को मिली कि गरियाबंद का बस स्टैंड काफी अव्यवस्थित नजर आ रहा था हालांकि पुलिस अधीक्षक से चर्चा करने पर उन्होंने इस बात को खुलकर कहा कि मुख्य रूप से जो सड़कों में परेशानी आ रही है वह लोगों के सडको पर अव्यवस्थीत खड़े होना,गुमटी ठेलो के अव्यवस्थित बसाहट के साथ ही विभिन्न वाहनों को अव्यवस्थित बेतरतीब खड़े होना हैं। मुख्य रूप से यातायात के व्यवस्था को बाधित कर रहे हैं इनकी व्यवस्था देख रहे है।ं कुछ दिनों के बाद वे नागरिकों एवं व्यापारियों की बैठक लेकर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने का पूरा प्रयास करेंगे।

 

13-01-2021
आधी अधूरी सड़क निर्माण से रोज हो रहे हादसे, वाहन भी हो रहे क्षतिग्रस्त लोगों में रोष

कांकेर। शहर के बीचों बीच गुजरने वाली नेशनल हाईवे सड़क पर वाहनों का दुर्घटनाग्रस्त होना अब आम बात हो गई है। इसका मुख्यकारण धीमी गति से चल रही सड़क निर्माण कार्य को ही माना जा रहा है,जिसको लेकर राहगीरों को रोज परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। शहर के बीच में से गुजरने वाले नेशनल हाईवे सड़क की निर्माण कार्य बहुत ही धीमी गति से कुछ महीनों से चल रहा है कही कही आधा अधूरा बने सड़क अपर डिपर होने के कारण भी लोग सड़क हादसे का शिकार हो रहे है। बुधवार को भी एक स्विफ्ट कार थाने के पास सड़क के किनारे उतर गई,जिससे वाहन पलटते पलटते बची व उसमें सवार लोग भी घायल होने से बाल.बाल बचे। इसको लेकर लोगों में रोष व्याप्त है। वहीं लोगो का यह भी कहना है कि सड़क आधी अधूरी बनने से जहाँ तक सड़क बनी है वहाँ दोनों तरफ वाहनों की आवाजाही होने से सड़क सकरी हो गई है दूसरे वाहन को साइड देने के चक्कर मे वाहन के चक्के सीधा सड़क के नीचे आ जाते है,जिससे वाहनों को भी नुकसान पहुंचता है।

 

03-01-2021
ओड़िसा से चार पहिया वाहन में भर कर ला रहे थे सिगरेट, नाकाबंदी में पकड़ाए 2 आरोपी

महासमुन्द। धूम्रपान पर जिला पुलिस ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए 72 लाख रुपए की अवैध सिगरेट के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि जिले के समस्त थाना, चौकी प्रभारियों को अवैध गांजा परिवहन, अवैध शराब तस्करी तथा मादक पदार्थों की जिले के बाॅर्डर पर संघन चेकिंग की कार्यवाही के लिए निर्देशित किया था। इसके तहत ओडिसा राज्य से होने वाली अवैध गांजा, अवैध शराब, अवैध धूम्रपान सामग्री आदि की परिवहन को रोकने के लिए सरहदी थाना प्रभारियों ने मुखबिर लगाकर संदिग्ध वाहनों और व्यक्तिओं पर नजर रखी जा रही थी। इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि ओड़िसा से अवैध धूम्रपान सामग्री का परिवहन होने वाला है। थाना कोमखान की टीम क्षेत्र के संभावित जगहों पर बैरिकेट लगाकर वाहन चेकिंग कर रहे थे तभी ओड़िसा की ओर से एक वाहन आ रही थी, जिसे ग्राम टेमरी फारेस्ट नाका के पास रोका गया। वाहन में दो व्यक्ति सवारे थे। दोनों से पूछताछ करने पर अपना नाम आलोक प्रधान उम्र 28 वर्ष और जयदेव शिवचंदन बताया। वाहन तलाशी ली गई तो प्लास्टिक बोरियों में कुछ समान दिखा, जिसके बारे में पूछताछ करने पर दोनों ने संतोषप्रद जवाब न देकर गोल-मोल बाते करने लगे और उससे संबंधित कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए। बोरियों को जांच करने पर 48 पैकेट सिगरेट का डिब्बा होना पाया गया, जिसकी किमत 72 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने सिगरेट से भरी बोरियों को जब्त कर लिया है और दोनों को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

24-12-2020
केंद्रीय परिवहन मंत्री ने की घोषणा, 1 जनवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य

नई दिल्‍ली। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को ऐलान किया है कि 1 जनवरी 2021 से देश में सभी वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य होगा। उनका कहना है कि यह यात्रियों के लिए उपयोगी है क्योंकि उन्हें नकद भुगतान,समय की बचत और ईंधन के लिए टोल प्लाजा पर रुकने की आवश्यकता नहीं होगी। गडकरी ने बताया कि टोल नाका पर अब तक जो छूट गाड़ियों को दी जा रही थी वो बंद की जा रही है। साल 2021 के पहले दिन यानि कि एक जनवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग जरूरी कर दिया गया है। बता दें कि केंद्र सरकार ने इस साल नवंबर में एक जनवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग प्रणाली अनिवार्य करने संबंधी अधिसूचना जारी कर दी थी। फास्टैग प्रणाली 2011 में लागू की गई थी और 2018 तक 34 लाख से ज्यादा वाहन फास्टैग का इस्तेमाल कर रहे थे। वर्ष 2017 के बाद खरीदे जाने वाले सभी वाहनों के लिए फास्टैग को जरूरी कर दिया था। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था से सभी वाहनों को टोल प्लाजा पर टोल के नकद भुगतान के लिए नहीं रुकना पड़ेगा और यात्रा में समय की बचत होगी

 

 

22-12-2020
सालों से कमर दर्द झेल रहे वाहन चालक राकेश को राहत मिली मोबाइल मेडिकल यूनिट से,ये कहने वाली नहीं करने वाली सरकार

रायपुर। वाहन से समय पर मुसाफिरों को उनकी मंजिल तक पहुंचने का पेशा राकेश यादव करते हैं। समय के पाबंद वाहन चालक राकेश के पास फुर्सत ही कहा था कि वह अपने निजी काम के लिए वक्त निकाल सकें। समय के साथ सड़कों पर दौड़ने और मुसाफिरों को मंजिल तक पहुंचाने वाला राकेश की अपनी पीड़ा थी। दिनभर वाहन चलाने की वजह से ठण्डी में उनका कमर दर्द बढ़ गया था, इसके बावजूद वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे थे। वह अपना इलाज तो कराना चाहते थे लेकिन कई अस्पतालों में पहले अपाइंटमेंट, फिर इलाज के लिए लंबी कतार उसे अस्पताल तक जाने से मानों रोक दिया करती थीं। ऐसे कई दिन गुजर गए, राकेश के लिए वह समय आया ही नहीं कि वह अधिक समय निकालकर अपना इलाज करा सकें। एक दिन जब वह अपने काम पर निकल रहा था।

घर के पास अपने वार्ड में मुख्यमंत्री शहरी स्लम योजना के अंतर्गत मोबाइल मेडिकल यूनिट की बस उसे दिखी। उसके पास बहुत अधिक समय तो था नहीं, इसलिए यह सोचकर बस के पास गया कि, यहां क्या हो रहा है? देख लेता हूं। पास जाकर देखा तो मालूम हुआ कि डाक्टर है। लोग इलाज करा रहे हैं। तब भीड़ कम थी। राकेश ने घड़ी देखी और सोचा,क्यों न कम भीड़ में मौके का फायदा उठाया जाए। वह तुरंत मोबाइल मेडिकल यूनिट के पास पहुंचा और अपना पंजीयन कराया। उसने अपनी तकलीफ बताई। मौके पर मौजूद डाक्टरों ने राकेश की समस्या सुनी और तत्काल ही कमर दर्द की दवा और मलहम उसे दिया। मोबाइल मेडिकल यूनिट से चंद मिनटों में ही जांच और दवा मिल जाने और इलाज में उसका कीमती समय बर्बाद नहीं होने पर राकेश का जैसे खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उसने मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की जमकर प्रशंसा की और कहा कि वास्तव में मुझ जैसे जरूरतमंदों के लिए यह बहुत ही लाभकारी हैं।


प्रोफेसर कालोनी रायपुर में रहने वाले राकेश यादव ने बताया कि उनके वार्ड में जब मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम पहुंची तो उसने भी अपने कमर दर्द का उपचार कराया। यहां डाक्टरों ने उसकी समस्या को सुनकर दवाइयां दी और मलहम लगाने को कहा। मोबाइल मेडिकल यूनिट टीम के माध्यम से राकेश को बहुत राहत मिली। उसने बताया कि वह बहुत व्यस्त रहता है। ऐसे में बिना किसी डॉक्टर से अपॉइंटमेंट लिए, बिना कतार में लगे और बिना परामर्श शुल्क दिए आसानी से उपचार करा पा रहा है, वह उसके लिए बहुत बड़ी राहत की बात है।


इसी तरह पेशे से इलेक्ट्रीशियन नेरन्द्र कुमार सोनी को बीपी और शुगर की समस्या थी। वह निजी अस्पताल के क्लीनिक में अपनी जांच के लिए हमेशा पैसे खर्च करता था। आज जब अपने घर के पास वार्ड में मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम को देखा तो तत्काल वहां पहुंचकर अपना जांच कराया। नरेन्द्र से बिना कोई शुल्क लिए डाक्टरों ने उसके बीपी ,शुगर की जांच की और दवाइयां दी। अपना इलाज बिना पैसे के आसान तरीके से घर के पास ही हो जाने पर नरेन्द्र ने मुख्यमंत्री शहरी स्लम योजना की जमकर तारीफ की और कहा कि गरीब व्यक्तियों का मुफ्त में उनके ही घर के पास उपचार करने का यह तरीका बहुत ही सराहनीय है।

 

17-12-2020
हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट कंपनी की वेबसाइट हुई हैक, करीब पांच घंटे ठप रही बुकिंग 

नई दिल्ली। विगत दिनों दिल्ली में सुरक्षा के मद्देनजर वाहनों पर हाई-सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसआरपी ) और कलर-कोडेड फ्यूल प्लेट को अनिवार्य कर दिया गया है। इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी गई है। एचएसआरपी आपूर्तिकर्ता ‘रोसमेर्टा सेफ्टी सिस्टम्स’ की वेबसाइट हैक हो गई। इसके बाद करीब पांच घंटे के लिए नंबर प्लेट और रंगीन कोड स्टीकर की बुकिंग का काम ठप हो गया। कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि वेबसाइट बुधवार सुबह करीब 10.50 बजे हैक हुई और शाम को जा कर समस्या समाप्त हुई। इस मामले को लेकर साइबर क्राइम ब्रांच में रिपोर्ट दर्ज करवाया गया है। वेबसाइट को इस्तेमाल करने वालों का डेटा खतरे में होने की आशंका के कारण मामले में कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।

10-12-2020
दो वाहन आपस में भिड़े, 4 मजदूरों की मौत

नई दिल्ली। दो वाहनों की टक्कर में गुरुवार को 4 लोगों की मौत हो गई, जबकि 5 अन्य घायल हो गए। घटना झारखंड में धनबाद जिले के राजगंज थाना क्षेत्र का है। बताया जा रहा है कि वाहन पर सवार नौ लोग उत्तर प्रदेश के बनारस में भवन निर्माण काम करते थे। काम करने के बाद वे अपने-अपने घर चार पहिया वाहन से जा रहे थे तभी जीटी रोड पर चाली बंगला के समीप उनके वाहन और ट्रेलर में टक्कर हो गई। इस दुर्घटना में वाहन पर सवार चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पांच अन्य घायल हो गए। मृतकों की पहचान उत्तर प्रदेश के बनारस के रहने वाले चालक राहुल पांडेय, पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिला निवासी सलीम शेख और पाकुड़ के महेशपुर निवासी अतिकुल शेख और अंजारुल शेख के रूप में की गई है। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां तीन लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804