GLIBS
07-08-2020
दो सप्ताह बाद लॉक डाउन की पाबंदी से मुक्ति, सुबह से सड़कों पर रही चहल-पहल

रायपुर। दो सप्ताह बाद लॉक डाउन के बाद शुक्रवार सुबह से सड़कों पर चहल-पहल देखी गई। लोगों का कहना है कि लॉक डाउन की मार झेल रहे थे। आज से काम-काज वापस शुरू होने से उन्हें खुशी है। सुबह से ही वॉकिंग के साथ घरेलू सामानों की खरीदारी करने लोग अपने वाहनों से निकले। डेली नीड्स वाले भी कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराते दिखे। इसके साथ ही सुबह से चाय-समोसे के गुमटियां भी खुल गए है।

05-08-2020
शराब दुकान के पास बेतरतीब से खड़े वाहनों पर यातायात विभाग ने की कार्यवाही, 6 वाहन चालकों का काटा चालान

कांकेर। गौरव पथ मार्ग पर स्थित शराब दुकान के पास बेतरतीब खड़े वाहनों पर यातायात पुलिस के जवानों ने बुधवार को कार्यवाही की है। इस दौरान 6 वाहन चालकों पर कार्यवाही करते हुए 1 हजार 2 सौ रूपए का चालान काटा है। इसके साथ ही सड़क के किनारो पर नो पार्किंग का बोर्ड लगाकर लोगों को वाहन नहीं खड़ी करने की हिदायत भी दी। शराब दुकान के पास लोग अपनी वाहनों को बेतरतीब खड़ी कर देते हैं, जिसके चलते वहाँ से गुजरने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इससे यातायात व्यवस्था के बाधित होने और दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वाले कुल 6 वाहन चालकों के विरुद्ध मोटर व्हीकल एक्ट की धाराओं सहित चालानी कायर्वाही कर उनसे सम्मन शुल्क के रूप मे 1 हजार 2 सौ रूपये जुर्माना लिया गया। इसके साथ ही नो पार्किंग का बोर्ड लगाकर समस्त वाहनों को पार्किंग स्थल में खड़ी करने,ग्राहकों,आहता संचालको एवं शराब दुकान के कमर्चारीयों को सूचित किया गया है।

 

01-08-2020
अवैध रूप से रेत परिवहन करने पर वाहनों को किया गया जब्त

गुंडरदेही। शहर में चेकिंग पॉइंट लगाकर पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही है। चेकिंग के दौरान अवैध रूप से रेत का परिवहन तथा वैध कागजात नहीं होने पर कई वाहनों को जब्त कर खनिज विभाग बालोद भेजा गया। एक ट्रक के द्वारा खतरनाक ढंग से वाहन के ऊपर पीछे अगल-बगल बेतरतीब ढंग से भूसा भरकर ले जाने पर उस पर विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की गई और न्यायालय में पेश किया गया l

शब्बीर रिजवी की रिपोर्ट

01-08-2020
Video : मिर्ची व नाबालिग बच्चों की आड़ में तस्करी, 40 लाख के गांजा समेत 6 आरोपी गिरफ्तार

महासमुन्द। बागबाहरा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए तीन वाहनों से 4 क्विंटल गांजा बरामद कर 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गांजे की कीमत 40 लाख बताई जा रही है। पुलिस की आंखों में धूप झोंकने गांजा तस्कर नाबालिग बालकों रुपए का लालच देकर गांजा तस्करी कर रहे थे। गिरफ्तार 6 आरोपियों में दो नाबालिग है। तस्करों का मास्टर माइंड पहले डकैती की मामले में उड़ीसा में गिरफ्तार हो चुका है। शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर, बागबाहरा एसडीओपी लितेश सिंह ने बताया कि बीती रात बागबाहरा पुलिस नेशनल हाईवे 353 और 53 में नाकाबंदी कर वाहनों की तलाशी ले रहे थे। इसी दौरान एक नीले कलर की बोलेरो वाहन ओडी 02 एएम आ रही थी,जिसे पुलिस ने रोक कर तलाशी ली गई। वाहन की डिक्की से 10 पैकेट 50 किलो गांजा पाया गया। वाहन में कैलाश चेटी के साथ एक नाबालिग सवार था। बागबाहरा के कंटेनमेंट जोन के पास एक टाटा टीयागो ओडी 10 एन 7574 से पुलिस जांच में 10 पैकेट में 50 किलो गांजा बरामद किया, साथ ही वाहन में सवार रंजन खोरा पिता लक्ष्मण खोरा 25 साल बारनीपुर कोरापुट उड़ीसा और एक नाबालिग को गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा पुलिस ने एक मिर्ची से भरी पिकअप वाहन की तलाशी ली,जिसमें 3 क्विंटल गांजा मिला और वाहन में सवार संतोष दौरा पिता नकुल दौरा 24 साल बारनीपुट थाना जयपुर जिला कोसपुट ओडिसा, जयसिंग पिता जगबंधु बाघ 25 को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उपरोक्त तीनों वाहन में गांजा भर कर सतना, रीवा भेजने वाला गिरफ्तार आरोपी संतोष दौर है,जो पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए वाहन में मिर्ची के साथ गांजा भर रखा था। साथ ही पुलिस को उस पर शंका ना हो कर उसने अपने वाहन और अन्य वाहनों में नाबालिग बालकों को रुपए का लालच देकर तस्करी करता रहा है। इस मामले में भी उसकी उसकी यही मंशी थी लेकिन जिला पुलिस ने गांजा तस्करी करने वाला संतोष दौरा और उसके अन्य 6 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने पुलिस को जानकारी दी है कि वह यह खेप उड़ीसा से रायपुर लेकर जा रहे थे,जहां उन्हें दूसरी पार्टी सतना की मिलती, जिन्हें यह खेप देकर वापस वह लौट जाते। गिरफ्तार दोनों नाबालिगों ने पुलिस को जानकारी दी है कि एक ट्रिप में आने से उन्हें 4 से 5 हजार रुपए संतोष दौरा द्वारा दिया जाता रहा है। गिरफ्तार आरोपी इस तरह का काम पहले भी कर चुके हैं। बहरहाल पुलिस ने मामले में अन्य और शामिल लोगों की तलाश में लगी हुई है और इसके लिए अन्य राज्यों के पुलिस से आरोपियों के साथियों की जानकारी मांगी गई है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों से 4 क्विंटल गांजा, जिसकी कीमत 40 लाख, 3 वाहन 15 लाख और 3 मोबाइल सहित अन्य सामान आरोपियों से बरामद किया है। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ 20 ख, 29 एनडीपीएस के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा।

31-07-2020
बीएस-4 वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, मामले में अगली सुनवाई 13 अगस्त को

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने अगले आदेश तक बीएस 4 वाहनों के पंजीकरण पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही कोर्ट ने मार्च में लॉक डाउन के दौरान बड़ी संख्या में वाहनों की बिक्री पर नाराजगी जाहिर की है। जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान बीएस 4 वाहनों की एक असामान्य संख्या बेचा गया है। कोर्ट मामले की अगली सुनाई 13 अगस्त को करेगी। पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने 31 मार्च के बाद वाहन पोर्टल पर बीएस-4 वाहनों को अपलोड करने से संबंधित जानकारी देने के लिए केंद्र सरकार को और वक्त दिया था। जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने वाहनों की बिक्री की इजाजत देने संबंधी याचिका पर सख्त रुख अपनाते हुए कहा, हम ऐसे वाहनों को वापस लेने का आदेश क्यों पारित करे? निर्माताओं को इसकी समयसीमा के बारे में पता था, तो उन्हें इसे वापस लेना चाहिए। पीठ ने सरकार को हलफनामा दायर करने के लिए और वक्त दे दिया।

सुप्रीम कोर्ट में पिछली सुनवाई में फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल्स डीलर्स एसोसिएशन की ओर से पेश वरिष्ठ वकील केवी विश्वनाथन ने पीठ से गुहार करते हुए कहा था कि वाहन डीलर्स के पास अब भी बीएस-4 वाहन पड़े हुए हैं, जिनकी बिक्री नहीं हुई। लिहाजा उन वाहनों को निर्माताओं को वापस करने की अनुमति दी जाए, ताकि निर्माता उन वाहनों को दूसरे देश में निर्यात कर सके। उन्होंने बताया कि अफ्रीका के कई देश बीएस-4 वाहनों की इजाजत देते हैं। इस पर पीठ ने कहा, हम इसके लिए आदेश क्यों पारित करें। वाहन निर्माताओं को बीएस-4 वाहनों की बिक्री की डेडलाइन के बारे में मालूम था। इसपर सुप्रीम कोर्ट ने डीलरों को 10 फीसदी BS-IV वाहनों को बेचने की परमिशन दी थी। इसके बाद आठ जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने अपने 27 मार्च के आदेश को वापस ले लिया। कोर्ट के इस फैसले के बाद 31 मार्च 2020 के बाद बिके BS-IV वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लग गई है। अब ताजा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपने इस फैसले को बरकरार रखा है।

 

28-07-2020
Video : वाहन में फलों के बीच रखकर ले जा रहे थे गांजा,पुलिस ने पंजाब के 3 तस्करों को धरदबोचा

महासमुन्द। बागबाहरा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक क्विंटल गांजा के साथ पंजाब के तीन गांजा तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से एक महिन्द्रा पिकअप वाहन पीबी 10 जीडब्लू 5754 बरामद कर तीनों आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 20 बी एनडीपीएस एक्ट की कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है।पुलिस अधिक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने पुलिस कंट्रोल रूम में बताया कि बागबाहरा थाना प्रभारी स्वराज त्रिपाठी को मुखबिर से सूचना मिली कि ओडिसा के रास्ते से महासमुन्द होकर एक पिकअप वाहन में गांजा तस्करों द्वारा गांजा पंजाब ले जाया जा रही है। बागबाहरा थाना प्रभारी ने तत्काल मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर दी। पुलिस अधीक्षक के निर्देशन व अरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर के मार्गदर्श में एनएच 353 से आने जाने वाहनों की नाकेबंदी कर वाहनों की तलाशी शुरू की गई।

पुलिस वाहनों की तलाशी में लगी हुई थी तभी पिकअप वाहन आकर रूकी, जिसे चन्द्रशेखर श्रीवास्तव उम्र 42 साल साकिन न्यू सम्राट कालोनी वार्ड नं. 29 लुधियाना पंजाब, पंकज कुमार चौबे उम्र 25 साल साकिन न्यू सम्राट कालोनी वार्ड नं. 29 लुधियाना पंजाब, संदीप कुमार पाण्डेय उम्र 25 साल साकिन जुगियाना वार्ड नं. 20 थाना सानेवाल लुधियाना पंजाब सवार थे। वाहन को रोककर तलाशी ली गई तो पुलिस को पिकअप के भीतर पायनेप्पल भरा था। पुलिस ने पायनेप्पल को हटा कर देखा तो उसमें गांजे के पैके दिखे,जिसे पुलिस ने बरामद कर तीनों आरोपियों को अपने कब्जे में लिया। पूछताछ में आरोपियों ने ओडिसा से गांजा पंजाब ले जाना बताया है। पुलिस ने गांजा का तौल कराया तो एक क्विंटल था, पुलिस ने आरोपियों से 3 मोबाइल और 4 हजार रुपए नगद भी बरामद किया है। सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जब्त गांजा की कीमत 5 लाख रुपए बताई गई है।

27-07-2020
कोरोना मरीज डिस्चार्ज होने पर अन्य वाहनों से भी जा सकेंगे घर, कलेक्टरों को निर्देश जारी

रायपुर। कोविड-19 के इलाज के बाद डिस्चार्ज होने वाले मरीज अब एम्बुलेंस न होने पर अस्पताल प्रबंधन की ओर से उपलब्ध कराए गए अन्य वाहन से घर जा सकेंगे। यदि मरीज स्वयं के वाहन से घर जाना चाहें, तो उसे इसकी अनुमति दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह ने इस संबंध में आवश्यक व्यवस्था के लिए सभी कलेक्टरों को पत्र लिखा है। स्वास्थ्य सचिव ने कलेक्टरों को लिखे पत्र में कहा है कि प्रदेश में कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही रोज अस्पताल से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। शासन की जानकारी में यह बात आई है कि कुछ जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों और डिस्चार्ज हो रहे मरीजों की संख्या के अनुपात में पर्याप्त एम्बुलेंस नहीं है। स्वास्थ्य विभाग ने कलेक्टरों को निर्देश दिया है कि कोविड-19 मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के लिए एम्बुलेंस नहीं होने पर अलग से दूसरे वाहन की व्यवस्था प्रोटोकॉल का पालन करते हुए की जा सकती है। डिस्चार्ज मरीज अस्पताल से अनुमति लेकर स्वयं के वाहन से घर जाना चाहें तो वे जा सकते हैं।

 

23-07-2020
रेत से भरा वाहन गिरा पुल के नीचे, बाल-बाल बचे चालक व सहयोगी

कांकेर। ग्राम कोरर के जंजालीपारा स्थित पुल से रेत से भरा एक हाइवा अनियंत्रित हो कर नीचे गिर गया। इसमें चालक एवं अन्य बच गए,जिससे एक बड़ा हादसा होते होते टल गया किन्तु पुल क्षतिग्रस्त हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र पासिंग की हाइवा एमएच 34, बिजी 4946 माकड़ी से रेत भर कर गढ़चिरौली की ओर जा रहा था,जो कोरर के जंजालीपारा पुल से नीचे गिर कर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हाईवा को चालक विनोद मारोती तूमड़े चला रहा था,जिसके साथ 2 अन्य सहचालक भी थे। सहचालकों को मामूली चोटें आई है। रेत परिवहनकर्ता चालक के पास पिटपास था,जिसके आधार पर वह रेत महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ले कर जा रहा था। ज्ञात हो कि जंजालीपारा का यह पुल बहुत पुराना एवं संकरा है, जो पूर्व में आए बाढ़ में भी क्षतिग्रस्त हो चुका है। सड़क मार्ग के नवीन निर्माण के बाद भी इस पुल को आज पर्यन्त तक नहीं बनाया है। कई सड़क दुर्घटना यहां पर हो चुकी है,जिसके बाद भी इस ओर विभाग द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा।

 

21-07-2020
लोगों को आवागमन में होगी सुविधा, शहर में किया जा रहा सड़कों को चौड़ीकरण

कांकेर। शहर में सड़क चौड़ीकरण के तहत सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है। इसे गुणवत्तापूर्ण ढंग से समय-सीमा में पूर्ण कराने के लिए वाहनों के आवागमन को डायवर्ट किया  गया है। शहरवासियों को आवागमन एवं दैनिक सामग्रियों की खरीदी के लिए शहर के भीतर आने-जाने में किसी प्रकार की परेशानी ना हो, इस बात को ध्यान में रखते हुए वाहन पार्किंग के लिए स्थल का चयन किया गया है। कांकेर विधायक एवं संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी, कलेक्टर केएल चौहान, पुलिस अधीक्षक  एमआर अहिरे तथा नगर पालिका परिषद कांकेर के पूर्व अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह ठाकुर एवं पार्षदों की उपस्थिति में जिला कार्यालय के सभा कक्ष में बैठक आयोजित की गई। इसमें सड़क चौड़ीकरण एवं शहर के सौंदर्यीकरण पर विचार विमर्श किया गया। सड़क चौड़ीकरण में सीसी रोड का निर्माण किया जा रहा है, जिसे देखते हुए आम लोगों की सुविधा के लिए पुराना कचहरी, एसडीओपी ऑफिस के पास, कृषि उपज मंडी परिसर और पुराना बस स्टेण्ड के पास वाहनों का पार्किंग किया जा सकता है। इस व्यवस्था के प्रचार-प्रसार के लिए कांकेर शहर में मुनादी कराने के लिए मुख्य नगरपालिका अधिकारी डॉ.कल्पना ध्रुव को निर्देशित किया गया है। जिला कार्यालय में बैठक पश्चात सड़क चौड़ीकरण एवं सौंदर्यीकरण कार्य का निरीक्षण भी किया।

 

19-07-2020
डीजल महंगा और पेट्रोल सस्ता, घट सकती है डीजल गाड़ियों की मांग

रायपुर। प्रदेश में पेट्रोल की तुलना में डीजल की कीमत बढ़ गई है। रायपुर में पेट्रोल 79.19 रुपये प्रति लीटर और डीजल 79.26 रुपये प्रति लीटर रहा। जानकारों की माने तो पेट्रोल-डीजल की कीमतों में अभी उछाल आ सकती है। साथ ही डीजल का भाव अगर पेट्रोल से अधिक रहा। इस स्थिति में डीजल वाहनों की मांग कम हो जाएगी। वैसे भी इन दिनों पेट्रोल वाहनों की तुलना में डीजल वाहनों की मांग में कमी देखी जा रही है।

18-07-2020
वाहनों को असेंबल करने निगम ने बचत किए लाखों रुपए, बनाई घायल पशु के लिए गाड़ी

भिलाई। निगम प्रशासन ने अनुपयोगी वाहन को एसेंबल (बाडी के डिजाइन में परिवर्तन कर) करीबन 21 लाख रुपए बचत की है। नगर पालिक निगम भिलाई के दो डंफर प्लेसर अनुपयोगी हो गया था। इसे महापौर व भिलाई नगर विधायक देवेन्द्र यादव और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने वाहन शाखा प्रभारी को दोनों वाहन को उपयोगी बनाने के निर्देश दिए थे। महापौर के निर्देश के मुताबिक वाहन शाखा प्रभारी ने वाहन कंपनियों से संपर्क किया। वाहन बनाने वाले कंपनियों से चलित बायो टायलेट और घायल पशु को रेस्क्यु करने वाले वाहनों के बारे में पता लगाया। उन्हीं गाड़ियों के डिजाइन के मुताबिक अनुपयोगी डंफर प्लेसर का एसेंबल करवाने का निर्णय लिया। भिलाई की एजेंसी से एसेंबल कर नया बना दिया। इस तरह से अनुपयोगी वाहन उपयोगी बन गया।

इन वाहनों को महापौर देवेन्द्र यादव और सभापति  पी.श्यामसुंदर राव ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वाहन शाखा प्रभारी विष्णु चंद्राकर ने बताया कि कंपनी से न्यू वातानुकूलित बायो टायलेट खरीदते तो करीब 18.70 लाख रुपए खर्च करना पड़ता। पुराने डंफर प्लेसर को एसेंबल कराने पर यह वाहन लगभग 8 लाख 70 हजार रुपए में तैयार हो गया। इसी प्रकार डंफर प्लेसर के बाडी में परिवर्तन कर 500 किलोग्राम क्षमता की घायल पशु वाहन बनाया गया है। इस पर लगभग 8 लाख 90 हजार रुपए खर्च हुआ है। यदि इसी तरह के न्यू वाहन कंपनी से खरीदते तो यह करीब 19 लाख रुपए का पड़ता। एसेंबल कराने से करीब 11 लाख रुपए की बचत हो गई। इस तरह से निगम ने पुराने वाहनों को एसेंबल करवाकर लगभग 21 लाख रुपए की बचा लिया। निगम के दो डंफर प्लेसर अनुपयोगी हो गया था। 7-8 महीने से दोनों डंफर प्लेसर वाहन शाखा में खड़ा हुआ था। इसे आयुक्त रघुवंशी ने उपयोगी बनाने के निर्देश दिए थे।

 

17-07-2020
सड़क के लिए सड़क पर आंदोलन, जनसंगठन ने किया चक्काजाम, लगभग 3 घंटे तक थमे रहे वाहनों के पहिए

कोरबा। बद से बदतर हो चुके कटघोरा-कोरबा मार्ग के मरम्मत व सुधार के लिए उपनगरीय क्षेत्र दर्री में बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुए। सड़कों पर लगातार हो रही दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से जन संगठन ने जैलगांव चौक पर चक्काजाम आंदोलन किया। जन संगठन के संयोजक विशाल केलकर की अगुवाई में यह चक्का जाम हुआ।शांतिपूर्ण तरीके से यह चक्का जाम लगभग 3 घंटे तक जारी रहा। वहीं सुरक्षा के दृष्टिकोण से दर्री थाना प्रभारी विजय चेलक, कुसमुंडा प्रभारी एस.आर सोनवानी सहित अन्य थाना प्रभारियों के अलावा बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी की गई। प्रशासन की ओर से नायाब तहसीलदार रवि राठौर और नगर निगम से बतौर प्रतिनिधि दर्री जोन प्रभारी सरकार उपस्थित रहे। जहां समस्त आंदोलनकारियों के समक्ष प्रशासन के प्रतिनिधियों ने 24 घंटे के भीतर ही सड़क सुधार का कार्य आरंभ होने की बात कही।

इस दौरान 2 लेन सड़क की चौड़ाई बराबर इस सड़क की मरम्मत और स्ट्रीट लाइट सुचारू रुप से जलने की मांग रखी गई जिस पर निगम जोन प्रभारी ने जल्द ही एलईडी लाइट लगाने का भरोसा भी जताया।जन संगठन के आंदोलन के फल स्वरुप प्रशासन द्वारा नवीन टू लेन सड़क बनाने की निविदा सितंबर माह तक जारी किये जाने की बात कही, तब तक सड़क की अच्छे से मरम्मत कर सुगम आवागमन के लिए तैयार किया जाएगा। अंत में नायब तहसीलदार कटघोरा रवि राठौर को ज्ञापन सौंपा गया। चक्काजाम में जनसंगठन के संयोजक विशाल केलकर,अमित उपाध्याय, अमिताभ श्रीवास्तव, विकास अग्रवाल, अनिल द्विवेदी,मो.इब्राहिम खान, मनीष राजवाड़े सहित अन्य उपस्थित रहे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804