GLIBS
10-01-2021
आखिर कहां ले जा रहे थे मवेशी छत्तीसगढ़ से माजदा ट्रक में भरकर,22 मवेशियों की मौत क्या कह रही है?

रायपुर/राजनांदगांव। राजनांदगांव के पास गेंदाटोला के करीब एक स्वराज माजदा ट्रक आज दुर्घटनाग्रस्त हुआ। इस दुर्घटना में 22 मवेशियों की मौत हो गई। और 6 मवेशी बुरी तरह घायल हुए। सारे मवेशी ट्रक मे लादे गए थे। अगर स्वराज माजदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ होता तो शायद मवेशियों की मौत की खबर कहीं भी पता नहीं चलती। अब सवाल यह उठता है कि अगर छत्तीसगढ़ राज्य में गोधन योजना बहुत सफलतापूर्वक चल रही है तो फिर छत्तीसगढ़ का गोधन स्वराज माजदा में लाद कर कहां ले जाया जा रहा था। और अगर कोई गोधन की तस्करी कर रहा है तो इसका मतलब यह है कि छत्तीसगढ़ में गोधन की कीमत आज भी वह नहीं है जो अड़ोस पड़ोस के राज्यों में है। बेहद दुर्भाग्यजनक दुर्घटना हुई है गेंदा डोला के पास, जिसमें 22 मवेशियों की मौत हो गई और 6 मवेशी घायल है। अब पुलिस को चाहिए कि फरार माज़दा ट्रक के ड्राइवर के साथ-साथ उसके मालिक को भी ग्रिल करें और यह पता लगाएं कि छत्तीसगढ़ से गोधन की तस्करी होकर कहां जाती है। अगर छत्तीसगढ़ से गोधन की तस्करी नहीं रुकी तो फिर छत्तीसगढ़ में गोधन योजना की सफलता पर सवाल खड़े होते ही रहेंगे।

 

 

05-01-2021
भूपेश सरकार की किसान समृद्धि योजना लघु व सीमांत किसानों के जीवन में ला रही है खुशियां

रायपुर/राजनांदगांव। शासन की किसान समृद्धि योजना लघु व सीमांत किसानों के जीवन में खुशहाली ला रही है। राजनांदगांव के ग्राम धरमपुर के किसान सविता तिवारी ने बताया कि वे 12वीं पास है और उनके खेती-किसानी में विशेष रूचि है।  किसान सविता तिवारी ने कहा कि किसान समृद्वि योजना लघु व सीमांत किसानों के लिए छत्तीसगढ़ शासन की ओर से किया गया सराहनीय कार्य है। खेत में नलकूप खनन कराने एवं पंप लगाने के लिए लागत राशि को वहन कर पाना छोटे किसानों के लिए कठिन है। किसान सविता तिवारी के परिवार में 5 सदस्य हैं और खेती के लिए 1.288 हेक्टेयर भूमि है, जिससे प्राप्त होने वाले फसल उत्पादन का विक्रय कर ही अपनी आर्थिक आवश्यकताएं पूरा करते रहे, परन्तु खेत में सिंचाई का निश्चित साधन न होने कारण एक बार ही फसल लेते थे। वर्ष 2019 में कृषि विभाग के माध्यम से किसान समृद्धि योजना की जानकारी मिली और तिवारी ने अपने खेत में नलकूप के लिए आवेदन किया और खनन और पंप स्थापना के लिए 25 हजार रुपए का शासकीय अनुदान राशि प्राप्त हुआ। वर्तमान में महिला किसान तिवारी के खेत में सिंचाई जल की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है व इनके द्वारा धान के बाद रबी में चना फसल भी लिया जा रहा है, जिससे उन्हें अतिरिक्त आमदनी के साथ ही कृषि के क्षेत्र में आगेे बढ़ने का एक नया अवसर प्राप्त हुआ है।

05-01-2021
नंदग्राम के नाम से जाना जाता था राजनांदगांव, पढ़े राजनांदगांव का इतिहास

रायपुर। राजनांदगांव के प्राचीन इतिहास के मुताबिक यह शहर राजनांदगांव जिला का हिस्सा वह है जो भारत के ऐतिहासिक रूप से समृद्ध स्थानों में से एक है। गौरवशाली अतीत, सुंदर प्रकृति और संसाधनों की बहुतायत ने राजनंदगांव को भारत के उभरते शहरों में से एक के रूप में बनाया है। केंद्रीय बड़े मैदान में स्थित शहर का एक अच्छा इतिहास है। प्राचीन, समकालीन और शहर का हालिया इतिहास दिलचस्प और रोमांचक लगता है। राजनांदगांव प्राचीन भारत के उन क्षेत्रों में से एक थे जो पहले के दिनों में प्रकाश में नहीं आए थे। शहर पर प्रसिद्ध राजवंशों जैसे सोमवंशी, कलचुरी बाद में मराठा पर शासन किया गया था। हालांकि, शहर का इतिहास हटाना नहीं है। भारत के अन्य हिस्सों की तरह, राजनंदगांव भी एक संस्कृति केंद्रित शहर था। शुरुआती दिनों में शहर को नंदग्राम कहा जाता था। तब एक छोटे से राज्य का इतिहास घटनापूर्ण नहीं हो सकता है, लेकिन शहर इतिहास के पृष्ठों पर एक निशान बनाने के लिए पर्याप्त था।
राजनांदगांव राज्य वास्तव में 1830 में अस्तित्व में आया था। बैरागी वैष्णव महंत ने आज राजधानी राजनंदगांव में अपनी राजधानी स्थानांतरित कर दी। शहर का नाम भगवान कृष्ण, नंद, नंदग्राम के वंशजों के नाम पर रखा गया था। हालांकि, नाम जल्द ही राजनांदगांव में बदल दिया गया था। राज्य के आकार के कारण, नंदग्राम आम तौर पर हिंदू देखभाल करने वालों द्वारा शासित था। राजनंदगांव के इतिहास में, उन्हें वैष्णव के नाम से जाना जाता है। राज्य ज्यादातर हिंदू राजाओं और राजवंशों के अधीन था। महल, सड़कों, राजनांदगांव के पुराने और ऐतिहासिक अवशेष पिछले युग की संस्कृति और महिमा दर्शाते हैं।

ब्रिटिशकालीन राजनांदगांव : राजनांदगांव अंग्रेजों के आने तक जीने के लिए एक सक्रिय स्थान था। 1865 में, अंग्रेजों ने तत्कालीन शासक महंत घासी दास को राजनांदगांव के शासक के रूप में मान्यता दी। उन्हें राजनांदगांव के फ्यूडल चीफ का खिताब दिया गया और उन्हें बाद में समय पर गोद लेने का अधिकार सानद दिया गया। ब्रिटिश शासन के तहत उत्तराधिकार वंशानुगत द्वारा पारित किया गया था। बाद में नंदग्राम के सामंती प्रमुख को ब्रिटिश बहादुर द्वारा राजा बहादुर के उपाधि से सम्मानित किया गया। उत्तराधिकार राजा महंत बलराम दास बहादुर, महांत राजेंद्र दास वैष्णव, महांत सर्वेश्वर दास वैष्णव, महांत दिग्विजय दास वैष्णव जैसे शासकों को पारित किया गया। राजनांदगांव के रियासत राज्य का राजधानी शहर था और शासकों का निवास भी था। हालांकि, समय बीतने के साथ राजनांदगांव के महंत शासकों ने ब्रिटिश साम्राज्य की कठपुतली बन गई। कहानी भारत के अन्य हिस्सों से अलग नहीं थी। एक बार भारत में समृद्ध और समृद्ध राज्य भारत में ब्रिटिश राज का एक रियासत बन गया,और फिर एक वर्चुअल ब्रिटिश शासित राज्य बन गया। राजनांदगांव का स्वतंत्रता के बाद : राजनांदगांव संयुक्त राष्ट्र गणराज्य नामक नए स्वतंत्र देश में एक रियासत बना रहा। 1948 में, रियासत राज्य और राजधानी शहर राजनांदगांव मध्य भारत के बाद में मध्य प्रदेश के दुर्ग जिले में विलय कर दिया गया था। 1973 में, राजनांदगांव को दुर्ग जिले से बाहर निकाला गया और नया राजनांदगांव जिला बनाया गया था। राजनांदगांव जिले का प्रशासनिक मुख्यालय बन गया। हालांकि, 1998 में, बिलासपुर जिले के एक हिस्से के साथ राजनांदगांव जिले के हिस्से को मध्य प्रदेश में एक नया जिला बनाने के लिए विलय कर दिया गया था। जिला का नाम कबीरधाम जिला रखा गया था। राजनांदगांव के इतिहास ने फिर से 2000 में पाठ्यक्रम बदल दिया। लंबी मांग के बाद, मध्य प्रदेश से एक नया राज्य तैयार किया गया और इसे छत्तीसगढ़ के रूप में नामित किया गया। राजनांदगांव एक महत्वपूर्ण शहर बन गया और एक अलग जिला बना रहा।

 

03-01-2021
राजनांदगांव में उत्तर ब्लॉक के आसिफ व दक्षिण के सूर्यकांत बने अध्यक्ष,महापौर हेमा देशमुख ने दी शुभकामनाएं

राजनांदगांव। प्रदेश कांग्रेस ने पूरे प्रदेश के ब्लॉक अध्यक्षों की घोषणा कर ही दी। राजनांदगांव में उत्तर ब्लॉक के अध्यक्ष रहे आसिफ अली पर पुनः प्रदेश संगठन ने विश्वास व्यक्त किया। सूर्यकांत जैन को दक्षिण ब्लॉक का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। दोनों ने ही अपनी नियुक्ति के लिये वरिष्ठ नेताओँ का आभार व्यक्त किया व संगठन को और सुदृढ़ का संकल्प लिया। महापौर हेमा देशमुख ने दोनों अध्यक्षों को बधाई और शुभकामनाएं दी। दोनों ने ही महापौर के प्रति विशेष आभार व्यक्त किया। स्थानीय मानव मंदिर चौक में भारी आतिशबाजी,फूलमाला और नारेबाजी की गई।

25-12-2020
ब्रिटेन से आए चार लोगों को ट्रेस कर स्वास्थ्य विभाग ने किया क्वारेंटाइन, लिया सैंपल

राजनांदगांव। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी के निर्देश पर ब्रिटेन से आए चार लोगों को ट्रेस कर क्वारंटाइन किया है। बताया गया कि चारों हाल ही में शहर पहुंचे हैं। चूंकि विदेश में खास तौर पर ब्रिटेन में नए तरह के कोरोना संक्रमण का तेजी से  फैलाव हुआ है इसलिए सावधानी बरतते हुए लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। डॉ.विकास राठौर और अखिलेश नारायण सिंह की टीम ने पूरी कार्रवाई की। बताया गया कि लोगों को ट्रेस करने के बाद सैँपल भी लिए गए है, जिसे जांच के लिए भेज दिया गया है। विदेश से आए लोग शहर के अलग.अलग इलाकों से हैं। 3 पुरूष एवं 1 महिला शामिल है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने पूरे मामले की पुष्टि की हैं। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट आने के बाद शासन की गाइडलाइन के अनुसार आगे की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

 

25-12-2020
बाबा गुरु घासीबाबा जयंती समारोह में शामिल हुए भुनेश्वर बघेल, दी विकास की सौगात

राजनांदगांव। तिलई में बाबा गुरु घासीदास की 264 जयंती धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम में मुख्य रुप से विधायक अनुसूचित जाति प्राधिकरण अध्यक्ष भुनेश्वर बघेल,जनपद अध्यक्ष प्रतीक्षा भंडारी, क्षेत्रीय जनपद सदस्य सभापति ओमप्रकाश साहू,ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गेश दृवेदी विशेष रूप से उपस्थित रहे। विधायक बघेल ने अपने उदबोधन में बाबाजी के उपदेशों पर चलने का आवाहन किया व बाबाजी की राह पर चलकर विकास की बात कही विधायक बघेल ने व्यावसायिक परिसर के लिए 8 लाख की घोषणा की। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से ब्लॉक युवा कांग्रेस अध्यक्ष सौरभ वैष्णव,राजेश्वरी साहू,कमलेश बघेल,सफिल खान,बिदेशीराम साहू,संतोष देवांगन,जगतराम देवांगन, हेमंत नेताम,सूर्यकांत भंडारी,राकेश जांगडे,पुनीत जांगडे,उधोराम जांगडे,जितेंद्र गेन्द्ररे,हेमंत जांगडे,शंकरलाल महिलांग सहित ग्रामवासी व सामाजिक जन उपस्थित रहे।

 

 

24-12-2020
पुलिस अधीक्षक ने ली पुलिस अधिकारियों की बैठक, दिए आवश्यक निर्देश

राजनांदगांव। पुलिस अधीक्षक ने जिले के सभी राजपत्रित अधिकारियों थाना एवं चौकी प्रभारियों की बैठक लेकर लंबित अपराध,मर्ग, चालान, गुम इंसान  प्रकरण तथा संपत्ति संबंधी अपराधों, चोरी,नकबजनी के प्रकरणों पर नियंत्रण लाए जाने एवं जिन प्रकरणों में आरोपियों की गिरफ्तारी शेष है ऐसे प्रकरणों में आरोपियों की शीघ्र पतासाजी कर गिरफ्तार करने स्थायी वारंटियों की गिरफ्तारी एवं सामान बरामद किए जाने के लिए मीटिंग में निर्देश दिए। इ चिटफंड एवं दीगर लंबित अपराधों में त्वरित कार्रवाई कर निराकरण किए जाने के निर्देश दिए । पेट्रोलिंग एवं रात्रि गश्त चेक करनेए इसे प्रभावी करने, क्षेत्र के गुंडा बदमाशों, निगरानी बदमाशों की चेकिंग करने,  निरंतर नजर रखने एवं अधिक से अधिक गुंडा फाइल तथा निगरानी हिस्ट्री शीट खोले जाने के लिए पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण कुमार ने निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर कविलाश  टंडन,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जयप्रकाश बढ़ई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेशा चौबे,नगर पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव, अनुविभागीय विभागीय अधिकारी डोंगरगढ़, अनुविभागीय अधिकारी खैरागढ़, अनुविभागीय अधिकारी गंडई, अनुविभागीय अधिकारी मानपुर एवं सभी थाने के थानेदार सम्मिलित रहे।

24-12-2020
महापौर ने किया आयुष स्वास्थ्य मेला का शुभारंभ,कहा- जरूर जीतेंगे कोरोना से जंग

राजनांदगांव। महापौर हेमा देशमुख नें  कौरिन भाठा वार्ड नं. 45 में जिला आयुर्वेद कार्यालय की ओर से आयोजित निशुल्क आयुष स्वास्थ्य मेला का शुभारंभ किया। महापौर हेमा देशमुख ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि कोरोना काल में निःशुल्क आयुष स्वास्थ्य मेला कौरिनभाठा में लगा है। इस मेले में सभी बीमारियों का निशुल्क इलाज प्रातः 10 से 4 बजे तक किया जायेगा। साथ ही आयुर्वेदिक, होमियोपैथी एवं यूनानी पद्धति से इलाज एवं दवाइयां भी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना के इलाज में भी उपरोक्त तीनों पद्धति कारगर साबित हो रही है। कोरोना के लिये जागरूक होने की आवश्यकता है। लोगों में वहम हो गया है कि टेस्ट कराने से कोरोना पॉजिटिव आयेगा और वे सर्दी, खासी होने पर जांच नहीं कराते है। घर में रहकर ही इलाज कर लेते हैं और यही सोच गंभीर स्थिति को पैदा करती है। उन्होंने स्वास्थ्य मेला के माध्यम से नागरिकों से कोरोना के प्रारंभिक लक्षण दिखने पर जांच कराने, मास्क का उपयोग करने,सामाजिक दूरी का पालन करने समय समय पर हाथ धोने की अपील की है। साथ ही इस स्वास्थ्य मेला का लाभ उठाने की भी अपील की है। इस अवसर पर जिला आयुर्वेद अधिकारी, स्टाफ सहित वार्डवासी उपस्थित थे।

 

23-12-2020
किसान दिवस पर महापौर हेमा देशमुख ने किया किसानों का सम्मान

राजनांदगांव। चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन को किसान दिवस के रूप में पूरे देश में मनाया जा रहा है। सोमनी धान खरीदी केंद्र में शाल, कंबल, श्रीफल किसानों को भेंट कर किसान दिवस मनाया। बुधवार का महापौर हेमा देशमुख सोमनी स्थित सोसाइटी पहुंची। उन्होंने किसानों का शाल,श्रीफल, पुष्प माला से अभिनन्दन किया। उनके साथ राजनांदगांव ग्रामीण ब्लॉक अध्यक्ष अजय मार्कण्डेय,उत्तर ब्लॉक अध्यक्ष आसिफ अली, वरिष्ठ कांग्रेसी भागवत साहू, युवा कांग्रेसी ललित कुम्बरे, बबलू सेन, सोसाइटी अध्यक्ष एवं प्रबंधक उपस्थित थे ।  

 

23-12-2020
पौनी पसारी योजनाः सिविल लाइन में महापौर ने किया चबूतरा निर्माण का भूमिपूजन

राजनांदगांव। शासन की पौनी पसारी योजनांतर्गत छोटे व्यवसायियों को व्यवसाय उपलब्ध कराने निगम सीमा क्षेत्र में चबूतरा का निर्माण किया जाना है। इसी कडी में नगर निगम द्वारा राज्य शासन से प्रदत राशि 26.88 लाख की लागत से निगम सीमा क्षेत्र के 4 स्थानों पर सर्वसुविधायुक्त चबूतरा का निर्माण किया जाना है। इसके तहत पूर्व में 3 स्थानों स्टेशन पारा, कौरिनभाठा एवं हल्दी में चबूतरा निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया है और बुधवार को सिविल लाइन में चबूतरा निर्माण के लिए महापौर हेमा  देशमुख ने निगम द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भूमिपूजन किया। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष  किशुन यदु, महापौर परिषद के प्रभारी सदस्यगण विशेष रूप से उपस्थित थे। भूमिपूजन के पूर्व वार्डवासियों द्वारा अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया। तत्पश्चात सिविल लाईन में चबूतरा निर्माण कार्य का भूमिपूजन पूजा अर्चना कर, श्रीफल फोड कर, गैती चलाकर अतिथियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में महापौर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल  द्वारा छोटे व्यवसायियों जैसे सेलून, मोची, धोबी, मूर्तिकार, बढ़ई, पेंटर, चाय दुकान, मनिहारी दुकान, दूध विक्रेता के अलावा स्व सहायता समूह के द्वारा निर्मित उत्पाद के व्यवसाय करने वाले व्यवसायियों को एक सर्वसुविधायुक्त स्थान उपलब्ध कराने पौनी पसारी योजना प्रारंभ की गयी। इसमें निगम सीमा क्षेत्र में उनके व्यवसाय के लिए सर्वसुविधायुक्त चबूतरा का निर्माण किया जाना है। उन्होंने कहा कि उक्त चबूतरा में शेड भी लगाया जायेगा, इसके अलावा शौचालय, पार्किंग निर्माण के साथ साथ पानी व विद्युत की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने कहा कि पूर्व में स्टेशन पारा, कौरिनभाठा एवं हल्दी में चबूतरा निर्माण किये जाने भूमिपूजन किया गया था और आज सिविल लाईन में राशि 26.88 लाख रूपये की लागत से 15 चबूतरा का निर्माण किये जाने भूमिपूजन किया जा रहा है। मैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का धन्यवाद ज्ञापित करती हूँ उन्होंने छोटे व्यवसायियों की चिंता की वे अपना व्यवसाय एक सर्वसुविधायुक्त  निर्धारित स्थल पर कर सके। इस अवसर पर निगम के सहायक अभियंता संजय ठाकुर, उप अभियंता प्रणय मेश्राम सहित वार्डवासी उपस्थित थे।

 

22-12-2020
सेवानिवृत्त होने पर नबी खान और मोतीराम को निगम कार्यालय में दी गई विदाई

राजनांदगांव। नगर निगम के आयुक्त कक्ष में आयोजित एक संक्षिप्त कार्यक्रम में रैनबसेरा में कार्यरत नबी खान व जल विभाग में कार्यरत मोतीराम को सेवानिवृत्त होने पर आयुक्त चंद्रकांत कौशिक की उपस्थिति में विदाई दी गई। कार्यक्रम में आयुक्त कौशिक द्वारा सेवानिवृत्त कर्मचारी नबी खान एवं मोतीराम को माला पहनाकर, शाल, श्रीफल व स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया। नबी खान को 1,83,859.00 रूपये व मोतीराम को 79,296.00 रूपये  का अवकाश नगदीकरण का चेक दिया गया। आयुक्त कौशिक ने इस अवसर पर कहा कि खान एवं मोतीराम लम्बे समय तक नगर निगम मेें सेवाएं देकर आज सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनके द्वारा कुशलता पूर्वक अपने दायित्वों का निर्वहन किया गया, इससे हमें सीख लेकर कार्य करना है और इनके अनुभव का लाभ लेना है। मैं इनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूॅ। उन्होंने इनके पेंशन सहित अन्य प्रकरणों पर अतिशीघ्र कार्यवाही करने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किये ताकि समय पर इनको इसका लाभ मिल सके। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन उपायुक्त  सुदेश सिंह ने एवं संचालन विधि लिपिक प्रकाश साहू ने किया। इस अवसर पर कार्यपालन अभियंता  यूके रामटेके, समाज कल्याण अधिकारी भूपेश वाडेकर, स्थापना प्रभारी  आरबी तिवारी, कार्यालय अधीक्षक अशोक चौबे सहित जल व लोककर्म विभाग के प्रमुख उपस्थित थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804