GLIBS
11-12-2019
महिला प्रकोष्ठ के नवनिर्मित भवन का पुलिस उपमहानिरीक्षक ने किया उदघाटन

राजनांदगांव। महिला प्रकोष्ठ का स्थान्तरण अजाक परिसर जिला राजनांदगांव में किया जाकर नवनिर्मित भवन में महिला डेक्स सर्वेदना कक्ष, बाल मित्र कक्ष, रक्षा टीम कक्ष का उदघाटन पुलिस उपमहानिरीक्षक रतनलाल डांगी के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में जिला विधिक न्यायालय से प्रवीण मिश्रा,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव, अतिरिक्त  पुलिस अधीक्षक आईयूसीएडब्ल्यू सुरेशा चौबे, महिला प्रकोष्ठ प्रभारी मोनिका पांडे, सुषमा सिंह,सतरूपा ताराम, पुलिस काउंसलर डॉ.रेखा मिश्रा,ताहिरा अली,सरिता भोजवानी,वर्षा अग्रवाल एवं महिला अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

 

11-12-2019
डीएम अवस्थी ने महिला अपराधों पर तत्काल कार्यवाही के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में दिए निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के महिला अपराधों पर रोकथाम के निर्देश पर डीजीपी डीएम अवस्थी ने बुधवार को वीडियो क्रॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने बताया कि महिला संबंधी अपराधों की प्रभारी मॉनिटरिंग के लिए पुलिस मुख्यालय स्तर पर स्पेशल मॉनिटरिंग सेल फॉर क्राईम अगेंस्ट वूमेन का किया गया है। जिसमें महिलाओं के विरूद्ध घटित होने वाले अपराधों जैसे हत्या, बलात्कार, छेड़छाड़, एसिड अटैक और दहेज मृत्यु जैसे प्रकरणों की मॉनिटरिंग की जायेगी। इस सेल का प्रभारी पुलिस मुख्यालय में डीआईजी नेहा चम्पावत को बनाया गया है। अवस्थी ने प्रत्येक जिले में भी इस प्रकार के सेल के गठन के निर्देश दिये हैं, जिसमें राजपत्रित स्तर के पुलिस अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जायेगा। जिले में गठित सेल के द्वारा प्रतिदिन महिलाओं के विरूद्ध घटित अपराधों की विवेचना की प्रगति रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय भेजी जायेगी। अवस्थी ने बताया कि पीड़ित महिला जिले में गठित सेल में प्रभावी कार्यवाही ना होने पर पुलिस मुख्यालय में गठित सेल के हेल्प लाईन नम्बर 9479191667 पर संपर्क कर सकती हैं। मैं स्वयं प्रत्येक 15 दिन में उक्त सेल द्वारा की गई कार्यवाही की मॉनिटरिंग करूंगा। 

डीजीपी अवस्थी ने निर्देश दिये कि प्रत्येक थाना में एक महिला सेल का गठन करें जिसमें महिला पुलिस अधिकारी की ड्यूटी लगायें। जिससे पीड़ित महिला आसानी से अपनी बात रख सकें। उन्होंने निर्देश दिये कि जिले में संवेदनशील स्थानों को चिन्ह्ति कर महिला हेल्प लाईन नम्बर 1091 और डायल 112 का होर्डिंग्स/फ्लैक्स लगाकर व्यापक प्रचार-प्रसार करें। ग्रामीण क्षेत्रों में भी उक्त नम्बरों के संबंध में जागरूकता फैलाई जाये। महिला पेट्रोलिंग टीम संवेदनशील स्थानों में लगातार भ्रमण करें एवं किसी प्रकार शिकायत मिलने पर तत्काल कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि राज्य के 6 जिलों रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर, जांजगीर-चांपा एवं रायगढ़ में महिला विरूद्ध अपराध अनुसंधान इकाई  संचालित है। इन इकाईयों द्वारा महिला अपराधों की शत-प्रतिशत मॉनिटरिंग कर विवेचना की प्रगति से प्रतिदिन पुलिस मुख्यालय को अवगत कराएं। इस अवसर पर एडीजी आर.के. विज, अशोक जुनेजा, हिमांशु गुप्ता, रायपुर आईजी आनंद छाबड़ा, डीआईजी ओपी पाल, एआईजी मयंक श्रीवास्तव समेत सभी जिलों के पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

11-12-2019
महिला उत्पीड़न पर बनाए गए कानूनों पर हुई चर्चा

राजनांदगांव। पुलिस अधीक्षक कार्यालय राजनंदगांव में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव के मार्ग निर्देशन में महिला उत्पीड़न को लेकर एक कार्यशाला का आयोजन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आईयूसीडब्ल्यू सुरेशा चौबे द्वारा किया गया। इस कार्यशाला में जिले राजनंदगांव में पदस्थ सभी महिला अधिकारी कर्मचारी उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम  में उपस्थित महिलाओं को रतनलाल डांगी पुलिस उपमहानिरीक्षक, प्रवीण मिश्रा जिला विधिक न्यायाधीश, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेशा चौबे द्वारा महिला संबंधित अपराधों की जानकारी दी गई। महिला उत्पीड़न में बनाए गए कानूनों की विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही परिवार परामर्श केंद्र उद्देश्य के बारे में बताया गया कि परिवारों को टूटने से बचाना, तलाक जैसी स्थिति उत्पन्न ना होने देना तथा समझाइश दिया जाकर किसी भी स्थिति में परिवारों को बचाना ही एकमात्र उद्देश्य है।

 

11-12-2019
धान कोचियों, बिचौलियों पर कार्यवाही, 100 कट्टा धान जब्त

राजनांदगांव। डोंगरगढ़ विकासखंड में प्रशासन के द्वारा कोचियों और बिचौलियों पर कार्यवाही जारी है। बुधवार दोपहर डोंगरगढ़ एसडीएम अविनाश बोई द्वारा दो गाड़ियों में 100 कट्टा धान जब्त किया गया। वहीं ग्राम कल्याणपुर निवासी धान कोचिया मुकेश फुले के तीन गोदामों से कुल 943 कट्टा धान बरामद किया गया। 

 

10-12-2019
कानून व्यवस्था पर बृजमोहन ने साधा निशाना, कहा-अपराध का गढ़ बन रहा है छत्तीसगढ़

रायपुर। प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं पर विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस सरकार को निशाने पर लिया है। बृजमोहन ने कहा कि जिस प्रदेश को धान का कटोरा कहा जाता है वहाँ नक्सलवाद को छोड़ दे तो अब प्रदेश अपराध का गढ़ बनता जा रहा है। 11 महीने में कानून व्यवस्था की स्थिति लचर हो गई है। आईजी से लेकर थानेदार तक को ताश के पत्तों की तरह फेंका जा रहा है। 1200 में से 20 प्रतिशत घटनाएं राजधानी में हुई। प्रदेश में नशीली दवाओं का व्यवसाय हो रहा है। रेत और कोयला माफिया खुलकर खेल खेल रहे हैं। अब तो धान माफिया भी काम कर रहे हैं। बृजमोहन ने प्रदेश की बड़ी घटनाओं का जिक्र किया। इसमें माना रायपुर में महिला की हत्या से लेकर कोरबा में महिला की हंसिया से हत्या का मामला शामिल है। कहीं महिला तो कही युवती की अधजली लाश मिलती है। राजनांदगांव में युवती का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप हो जाता है। प्रदेश में सरकार का नियंत्रण शासन प्रशासन पर नहीं रहा है। बहुत सारे आरोपियों की जमानत आरोप पत्र दाखिल नही करने पर हो जाती है। बहुत से स्थानों पर हमने भारतीय जनता पार्टी की टीम भेजकर रिपोर्ट सरकार को भेजी है। युवा मोर्चा अध्यक्ष विजय शर्मा, महिला मोर्चा अध्यक्ष पूजा विधानी, अनुराग अग्रवाल और विभा अवस्थी की टीम बनाई है,जो इस पर नजर बनाए हैं। रायपुर में हो रही घटनाएं सरकार के लिए चुनौतियां है। मुख्यमंत्री केवल बोलते हैं काम नही करते। 

 

09-12-2019
किसानों ने अफीम की खेती नहीं की है, बर्ताव सुधारे सरकार : डॉ.रमन सिंह

रायपुर। धान खरीदी पर प्रदेश की राजनीति गरमाई हुई है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने सरकार पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन किसानों से ऐसा व्यवहार कर रहे हैं जैसे उन्होंने अफीम की खेती कर ली हो। मुख्यमंत्री अन्य राज्यों में जाकर केंद्र में जाकर सुझाव दे रहे हैं लेकिन अपने प्रदेश पर उनका नियंत्रण नहीं है। धान खरीदी में अधिकारियों के माध्यम से रुकावट डाली जा रही। किसान संघर्ष कर रहा है। प्रतिदिन धान की सीमा तय करना प्रतिदिन प्रति सोसाइटी तय कर दिया गया है। किसानों का एक एक दाना धान खरीदने का आश्वासन दिया था लेकिन कर नहीं रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान को लग रहा है जैसे उसने धान नहीं अफीम की खेती कर ली। उपार्जन केंद्र में रोजाना एंट्री नहीं हो रही है। वादा खिलाफी पर किसानों ने तहसीलदार को बंधक बना लिया था। प्रदेश में किसानों को काफी पीड़ा और तकलीफ हो रही है। किसानों को बार बार परेशान ना किया जाए। सरकार कानून व्यवस्था को ठीक करने के लिए काम करे। प्रदेश में पुलिस का एक ही काम रह गया है फर्जी एफआईआर दर्ज करना। दो दिन में अनाचार की चार घटनाएं हो गई लेकिन कांग्रेस से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई। उन्नाव पर प्रियंका गांधी और राहुल गांधी का बयान आ जाता है लेकिन छत्तीसगढ़ के कोरबा में हुई घटना पर वो मौन हैं। राजनांदगांव में सरेआम बच्चे का अपहरण हो जा रहा है। मुख्यमंत्री को चाहिए कि अन्य राज्यों की जगह अपने प्रदेश पर ध्यान दें।

 

09-12-2019
प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भाजपा का ट्वीट, कहा-प्रदेश के हालात हुए बदतर

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था पर भाजपा ने प्रदेश सरकार को घेरने की कोशिश की है। भाजपा छत्तीसगढ़ ने अपने ट्वीटर हैंडल से एक ट्वीट किया है। यह ट्वीट कोरबा में महिला की हत्या, राजनांदगांव में व्यापारी के बेटे के अपहरण, राजनांदगांव में युवती से गैंगरेप, अकलतरा में पार्षद टिकट नहीं मिलने पर कांग्रेसी की आत्महत्या के प्रकरण को आधार बनाकर किया गया है। भाजपा का ट्वीट है कि, आज अखबार की सुर्खियां पढ़िए आपको इस निकम्मी सरकार का चरित्र पता चल जाएगा। हत्या, गैंगरेप, अपहरण, चोरी, लूट।  हर दिन अब सिर्फ यही पढ़ने मिलता है, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी सिर्फ दिल्ली में बैठे आलाकमान को खुश करने में लगे हैं, यहाँ प्रदेश के हालात बदतर होते जा रहे हैं।

08-12-2019
युवती से किया सामूहिक दुष्कर्म, मरा समझकर छोड़ गए, फिर...

रायपुर। प्रदेश के राजनांदगांव में युवती को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार अपने मामा के यहां अवकाश पर गई युवती से युवकों ने अपहरण करने के बाद सामूहिक दुष्कर्म किया। युवती का गला घोंटकर मारने की कोशिश की गई। बेहोश युवती को मरा हुआ समझकर युवक भाग खड़े हुए। बताया जा रहा है कि होश आने पर युवती मामा घर पहुंचीं और अपनी आपबीती परिजनों को बताई। हादसे की शिकायत रविवार को युवती और परिजनों ने थाने में दर्ज कराई। दर्ज शिकायत के मुताबिक मामा के यहां युवती भोजनापरांत कचरा फेंकने घर से बाहर आई तभी युवकों ने अगवा कर दुष्कर्म किया। युवती की शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया और युवकों की तलाश में जुटी है। 

 

08-12-2019
राजनांदगांव में बच्चे के अपहरण के बाद राजधानी रायपुर में चेकिंग अभियान तेज

रायपुर। राजनांदगांव में रविवार शाम हुए बच्चे के अपहरण का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। इधर अपहरण के बाद राजधानी रायपुर में भी नाकेबंदी की गई है। राजधानी में दोपहिया वाहन चालकों से पूछताछ की जा रही है। रायपुर की सीमाओं पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। दुर्ग-राजनांदगांव से रायपुर में प्रवेश करने वाले सभी मार्गों पर पुलिस टीम लगाई गई है। सीमा से लगे मार्गो पर वाहनों की चेकिंग की जा रही है। बता दें कि राजनांदगांव के होटल व्यवसायी विनोद लुल्ला के पुत्र नैतिक लुल्ला का आज शाम किडनैप कर लिया गया। अपहरण करने वालों की संख्या दो बताई जा रही है, जो बाइक पर सवार थे। 

 

08-12-2019
Breaking : कॉलोनी से बच्चा अगवा

राजनांदगांव। न्यू खंडेलवाल कॉलोनी से शाम एक बच्चे को अगवा करने की खबर है। बताया जा रहा है कि दो लोग थे और ग्रे कलर की पेंट पहने थे। जानकारी के अनुसार अपहरणकर्ताओं ने चेहरे पर रुमाल बांधा हुआ था और शर्ट फुल आस्तीन की शर्ट पहने हुए दुबले पतले थे। बताया जा रहा है कि आरोपियों के बाइक का साइलेंसर फटा हुआ था।

 

07-12-2019
राजनांदगांव डीआईजी ने की महिला उत्पीड़न संबंधी प्रकरणों की समीक्षा

राजनांदगांव। हैदराबाद तथा उन्नाव गैंगरेप जैसी जघन्य घटनाओं को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस उप महानिरीक्षक राजनांदगांव रेंज आरएल डांगी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बीएस ध्रुव ने जिले के महिला उत्पीड़न संबंधी प्रकरणों की समीक्षा शनिवार को पुलिस कार्यालय के सभागार में की। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यूबीएस चौहान, जीएन बघेल, सुरेशा चौबे, गजेंद्र सिंह, नगर पुलिस अधीक्षक श्याम सुंदर शर्मा, पुलिस उप अधीक्षक अजाक बिभुति नंद, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी डोंगरगढ़ चंद्रेश ठाकुर, रक्षित निरीक्षक भूपेंद्र गुप्ता, प्रभारी महिला प्रकोष्ठ, थाना प्रभारी अजाक, कोतवाली, बसंतपुर, लालबाग, सोमनी, डोंगरगढ़, बोरतलाव, बाघनदी, डोंगरगांव, छुरिया, अंबागढ़ चौकी, गेंदाटोला, चिल्हाटी, खैरागढ़, गातापार, छुईखदान एवं गंडई तथा चौकी प्रभारी सुरगी तुमड़ीबोड चिचोला उपस्थित थे। थानावार महिला उत्पीडऩ संबंधी अपराधों की समीक्षा कर समय सीमा के भीतर निपटाने, सभी थानों में महिला डेस्क प्रारंभ करने और लंबित प्रकरणों का अभियान चलाकर निराकरण करने का निर्देश दिया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804