GLIBS
17-08-2021
ताम्रध्वज साहू ने डायबिटीज रोग निवारक ‘योग‘ वीडियो ब्लॉग का किया शुभारंभ

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि योग हमारी प्राचीन संस्कृति का हिस्सा है। प्राचीन काल में सहज रूप से योग हमारे जीवन में शामिल था। उन्होंने कहा कि वर्तमान में आधुनिक जीवन शैली ने कई रोगों को जन्म दिया है, जिनमें डायबिटीज प्रमुख है। योग के प्रति जागरुकता से जनमानस को लाभ मिलेगा। ताम्रध्वज साहू ने मंगलवार को अपने निवास कार्यालय डायबिटीज रोग निवारक ‘योग‘ के सोशल वीडियो ब्राडकास्ट प्रसारण के लिए वीडियो ब्लॉग का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में उपस्थित डायबिटीज विशेषज्ञ डॉ. सत्यजीत साहू ने योग के चिकित्सकीय लाभ के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। इस वीडियो प्रसारण में योग प्रशिक्षिका अन्नपूर्णा टिकरिहा ने योगासनों को सरलता पूर्वक करने के तौर-तरीके बताया गया। कार्यक्रम में माता कर्मा समिति के संस्थापक संतराम साहू, छत्तीसगढ़ प्रदेश के साहू संघ की प्रदेश उपाध्यक्ष सरिता साहू, आचार्य अनिमेशा नंद, आचार्य अर्पिता नंद सहित दुर्गा प्रसाद टिकरिहा, सूरज दुबे, गुरू वस्वराज, नारायण प्रसाद परगनिहा, छत्तीसगढ़ योग आयोग के महासचिव खोमेश साहू, योग शिक्षिका वर्षा साहू, डॉ. योगिता टिकरिहा और देवेन्द्र पटेल विशेष रूप से उपस्थित थे।

01-07-2021
ताम्रध्वज साहू ने क्राइम पर लगाम लगाने की समीक्षा, कहा-पुलिस स्कूल की तरह पुलिस हॉस्पिटल भी होना चाहिए

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गुरुवार को सिविल लाइन स्थित अपने निवास में गृह विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति का जायजा लिया। गृह मंत्री ने प्रदेश में फोरेंसिक लैब की स्थापना के लिए पहल करने और सायबर अपराधों पर नियंत्रण के लिए सायबर थानों को मजबूत बनाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने गृह विभाग के आधिपत्य वाली शासकीय अनुपयोगी खाली भूमि पर आवासीय सह कमर्शियल कॉपलेक्स बनाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस स्कूल की तरह पुलिस हॉस्पिटल भी बनना चाहिए, ताकि पुलिस परिवारों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सके। गृह मंत्री ने विभागीय जांच प्रकरणों और सीआईडी के प्रकरणों का त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। 
मंत्री साहू ने कहा कि गांवों में कोटवारों की भूमिका काफी उपयोगी होती है। इसे ध्यान में रखते हुए कोटवारों की ड्यूटी पहले की तरह थानों में लगनी चाहिए, ताकि कोटवारों के जरिए गांव की ताजा जानकारी थानों को मिलती रहें। उन्होंने पुलिस जवानों को जंगलवार प्रशिक्षण देने, नगर सेना के जवानों की सेवाओं को ध्यान में रखते हुए उनका मानदेय बढ़ाने, आपदा प्रबंधन के तहत बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यक सुरक्षा उपकरणों की खरीदी करने और नक्सल पुनर्वास योजना को और अधिक कारगार बनाने के लिए आवश्यक सुझाव देने के निर्देश दिए।

गृह मंत्री साहू ने चिटफंड प्रकरणों के निराकरण और जेलों में निरुद्ध आदिवासियों की रिहाई के प्रकरणों में तेजी लाने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि प्रदेश में 187 अनियमित चिटफंड कंपनियों के विरुद्ध 427 प्रकरण पंजीबद्ध है,इनमें से 265 प्रकरण न्यायालयों में विचाराधीन है। अब तक चिटफंड कंपनियों की संपत्ति कुर्क कर 9 करोड़ 32 लाख रुपए की वसूली की गई है। 17 हजार 322 निवेशकों को 7 करोड़ 86 लाख रुपए वापस किए गए हैं।
बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी, विशेष पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा और आरके विज, सचिव उमेश अग्रवाल, पुलिस महानिदेशक जेल संजय पिल्ले, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक होमगार्ड अरूण देव गौतम सहित गृह विभाग के विभिन्न शाखाओं के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

17-06-2021
गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बाढ़ संभावित जिलों में बचाव के लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के दिए निर्देश 

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने नगर सेना के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर जिलों में बाढ़ आपदा प्रबंधन में उनकी ओर से की गई तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने बाढ़ संभावित जिलों में बचाव एवं राहत के लिए सभी आवश्यक तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। मंत्री साहू ने कहा कि पिछले अनुभवों के आधार पर व्यवस्था में आवश्यक सुधार करें। कलेक्टर की ओर से ली जाने वाली बैठक में आपदा प्रबंधन के लिए जरूरी बाते रखें। उन्होंने जिला सेनानियों को जलाशयों के भरने तथा ओवर फ्लो की स्थिति में पानी छोड़ने के पूर्व जानकारी के लिए कलेक्टर और जल संसाधन विभाग के अधिकारियों से सतत सम्पर्क में रहने के निर्देश दिए। मंत्री साहू ने आवश्यकतानुसार बोट खरीदी के लिए प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने रेस्क्यू के दौरान बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालने तथा आपदा के दौरान जान-माल की सुरक्षा के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाले नगर सेना के जवानों को पुरस्कृत करने के भी निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त महानिदेशक नगर सेना अरूण देव गौतम ने जिलों में बाढ़ आपदा प्रबंधन के लिए नगर सेना की भूमिका और रेस्क्यू अभियान की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि बाढ़ बचाव के लिए इस समय 94 मोटरबोट उपलब्ध है। इनमें 46 रबर मोटर-फायबर बोट ओबीएम सहित, 31 फाईवर बोट और 17 एल्युमीनियम मोटरबोट ओबीएम सहित शामिल है। उन्होंने बताया कि बाढ़ में घिरे व्यक्तियों को बचाने के लिए पिछले एक वर्ष में 142 नगर सैनिकों को प्रशिक्षित किया गया है। इसके साथ ही बिलासपुर जिले के खूंटाघाट बांध, कोरिया जिले के गौरघाट में राज्यभर के राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) ईकाइयों के जवानों की ओर से वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अण्डर वाटर सर्च एण्ड रेस्क्यू ऑपरेशन का मॉकड्रील आयोजित कराया गया। इसी तरह सीटीआई रायपुर में भी एसडीआरएफ एवं नगर सेना के जवानों को रोप रेस्क्यू का डेमों दिया गया। संचालक नगर सेना मयंक श्रीवास्तव ने बैठक में बताया कि प्रदेश के बाढ़ संभावित जिलों बस्तर, कोंटा, बीजापुर के भेरमगढ़, भोपालपट्टनम, राजनांदगांव, दुर्ग, बेमेतरा, बलौदाबाजार, जांजगीर, रायगढ़ में बाढ़ से बचाव के लिए तैयारियां कर ली गई हैं। राज्य स्तर पर नगर सेना एवं नागरिक सुरक्षा का बाढ़ बचाव कन्ट्रोल रूम, मुख्यालय नवा रायपुर में स्थापित किया गया है। प्रत्येक जिले में बाढ़ दल तैनात किया गया है जो 24 घंटे जिले में उपलब्ध रहेगा। राज्य में विभिन्न आपदाओं से निपटने के लिए एसडीआरएफ की 7 टीमों का गठन किया गया है, जिन्हें संभागीय मुख्यालयों में तैनात किया गया है। सभी जिलों में बाढ़ से बचाव के लिए कन्ट्रोल रूम स्थापित करने के साथ ही आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराए गए हैं।

14-06-2021
नैना सिंह धाकड़ ने भूपेश बघेल से की मुलाकात, मुख्यमंत्री ने कहा-छत्तीसगढ़ में जल्द शुरू होगी पर्वतारोहण अकादमी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रदेश में एडवेंचर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ में जल्द ही पर्वतारोहण अकादमी प्रारंभ की जाएगी। यह अकादमी बस्तर में शुरू होगी। मुख्यमंत्री बघेल ने सोमवार को यहां निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ की युवा पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ से मुलाकात के दौरान यह घोषणा की। नैना सिंह ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्हें एक जून को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माऊंट एवरेस्ट फतह करने में सफलता मिली है। मुख्यमंत्री ने इस शानदार उपलब्धि के लिए नैना सिंह को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस उपलब्धि से छत्तीसगढ़ का गौरव बढ़ा है। मुख्यमंत्री बघेल ने नैना सिंह को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। 
मुख्यमंत्री बघेल से मुलाकात के दौरान पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ ने बताया कि वे जगदलपुर जिला मुख्यालय से 17 किलोमीटर दूर टाकरागुड़ा गांव की रहने वाली हैं। वे वर्ष 2010 से पर्वतारोहण से जुड़ी हैं। एनएसएस के जरिए इसकी शुरुआत हुई। उन्होंने बताया कि एक जून को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माऊंट एवरेस्ट की फतह करने के पहले 23 मई को 8 हजार 516 मीटर ऊंची माऊंट लोहत्से में भी उन्होंने सफलता पूर्वक चढ़ाई की। इन दोनों ही चोटियों की फतह करने वाली वे देश की दूसरी महिला पर्वतारोही हैं। उन्होंने बताया कि एवरेस्ट पर फतह करने वाली राज्य की दूसरी महिला है। इससे पहले 1993 में भिलाई की सविता धपवाल ने बछेंद्री पाल के साथ एवरेस्ट पर पहुंची थी। 
इस दौरान गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार,खाद्य मंत्री अमरजीत भगत,नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, बस्तर के अपर कलेक्टर अरविन्द एक्का, खेल अधिकारी राजेन्द्र डेकाटे उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में आदिवासी अंचल सरगुजा संभाग के अंबिकापुर शहर के निवासी व अंतरराष्ट्रीय पर्वरारोही माउंटेन मैन राहुल गुप्ता ने माउंट एवरेस्ट को फतह कर राज्य का प्रथम पर्वतारोही होने का गौरव प्राप्त किया था।

14-06-2021
Video: ताम्रध्वज साहू ने कहा-योगासन और प्राणायाम जीवन के लिए आवश्यक

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि योगासन और प्राणायाम मनुष्य के जीवन के लिए बहुत उपयोगी है। योगासन और प्राणायाम करने से शरीर में आॅक्सीजन का स्तर बढ़ता है। कोरोना संक्रमण काल में उन्होंने स्वयं इसका अनुभव प्राप्त किया है। मंत्री साहू ने सभी लोगों से आग्रह किया है कि वे योगासन और प्राणायाम करें। स्वस्थ रहें और स्वयं बीमारियों से दूर रहें।  दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

14-06-2021
कोरोना महामारी से दिवंगतों को गृह मंत्री ने अपने स्टाफ के साथ मौन रखकर दी श्रद्धांजलि 

रायपुर। कोरोना महामारी से दिवंगत लोगों को गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने सोमवार को श्रद्धांजलि दी। गृह मंत्री ने रायपुर सिविल लाइन स्थित अपने निवास कार्यालय परिसर में कार्यालयीन स्टाफ के साथ 2 मिनट का मौन रखा।

28-04-2021
Breaking : राज्यपाल और मुख्यमंत्री ले रहे अहम बैठक, ताम्रध्वज साहू भी मौजूद

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार शाम महत्वपूर्ण बैठक ले रहे हैं। वे छत्तीसगढ़ राज्य में कार्यरत विभिन्न सुरक्षा बलों के प्रमुखों, राज्य सैनिक कल्याण, एनसीसीके प्रमुखों से  जवानों के टीकाकरण,कोरोना संक्रमण की स्थिति की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से समीक्षा कर रहे हैं। वीडियो कांफ्रेंस में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, डीजीपी डीएम अवस्थी मौजूद हैं।

22-04-2021
Video: कोरोना मरीजों को मिलेगी सुविधा, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने भिलाई के कोविड आइसोलेशन सेंटर का किया शुभारंभ

दुर्ग। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गुरुवार को छत्तीसगढ़ लाइवलीहुड कॉलेज सोसायटी भिलाई में 150 बेड के कोविड आइसोलेशन सेंटर का शुभारंभ किया। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों और डॉक्टरों के साथ सेंटर के सुविधाओं और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। गृह मंत्री ने कहा कि यहां कोरोना संक्रमित लोगों को निःशुल्क बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी। 24 घंटे डाक्टर और नर्सिंग देखभाल के साथ ही भोजन, पानी और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा गया है। इस सेंटर का संचालन कलेक्टर की निगरानी में होगा। यहां 40 बिस्तरों में ऑक्सीजन सुविधा भी उपलब्ध है। मंत्री ने कहा कि पिछले साल इस भवन को तैयार किया गया था। इसका उपयोग नहीं हो रहा था।

वर्तमान परिदृश्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन को बधाई दी। गृह मंत्री ने लोगों से अपील की कि वे लॉकडाउन का पालन करें, करोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाएं, दो गज की दूरी बनाकर रखें और हाथों को सैनिटाइज करते रहें। उन्होंने कहा कि वैक्सीन जरूर लगवाएं। वैक्सीन लगवाने में कोई डर नहीं होनी चाहिए। इससे किसी तरह की परेशानी नहीं होती। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कोरोना वैक्सीन लगवाया है। मैंने भी लगवाया है, सभी अधिकारियों ने भी लगवाया है। उन्होंने कहा सभी पात्र लोग कोरोना का टीका अवश्य लगवाएं।

21-04-2021
ताम्रध्वज साहू ने भिलाई में 150 बेड के आइसोलेशन सेंटर का किया शुभारंभ, लोगों से की अपील

रायपुर। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बुधवार को छत्तीसगढ़ लाइवलीहुड कॉलेज सोसायटी भिलाई में 150 बेड के कोविड आइसोलेशन सेंटर का शुभारंभ किया। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों और डॉक्टरों के साथ कमरों में जाकर सुविधाओं और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। गृह मंत्री ने कहा कि यहां कोरोना संक्रमित लोगों को निशुल्क बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी। 24 घंटे डॉक्टर और नर्सिंग देखभाल के साथ ही भोजन, पानी और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा गया है। इस सेंटर का संचालन कलेक्टर की निगरानी में होगा। यहां 40 बिस्तरों में ऑक्सीजन सुविधा भी उपलब्ध है। मंत्री साहू ने कहा कि पिछले साल इस भवन को तैयार किया गया था। इसका उपयोग नहीं हो रहा था। वर्तमान परिदृश्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन को बधाई दी। गृह मंत्री ने लोगों से अपील की कि वे लॉकडाउन का पालन करें, करोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाएं, दो गज की दूरी बनाकर रखें और हाथों को सैनिटाइज करते रहें। उन्होंने कहा कि वैक्सीन जरूर लगवाएं। वैक्सीन लगवाने में कोई डर नहीं होनी चाहिए, इससे किसी तरह की परेशानी नहीं होती। मुख्यमंत्री भूपेशबघेल ने भी कोरोना वैक्सीन लगवाई है।  मैंने भी लगवाई है, सभी अधिकारियों ने भी लगवाई है। उन्होंने कहा कि सभी पात्र लोग कोरोना का टीका अवश्य लगवाएं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804