GLIBS
25-11-2020
जिला योजना समिति के सदस्यों का चुनाव 26 नवम्बर को, प्रशिक्षण में मिली चुनाव प्रक्रिया की जानकारी

कोरबा। जिला योजना समिति के कुल 12 सदस्यों का चुनाव 26 नवम्बर को किया जाएगा। निर्वाचन प्रक्रिया का समय सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक निर्धारित है। बुधवार को इस संबंध में राजीव गांधी आडिटोरियम में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिले के सभी नगरीय निकायों के पार्षदों सहित नगर निगम कोरबा के महापौर, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों के अध्यक्षों को निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी दी गई। नगरीय क्षेत्रों में निर्वाचन के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारी भरोसा राम ठाकुर, सहायक पीठासीन अधिकारी पवन वर्मा और ग्रामीण क्षेत्रों के निर्वाचन के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारी आशीष देवांगन एवं सहायक पीठासीन अधिकारी एमएस कंवर मौजूद रहे। मास्टर ट्रेनर डाॅ.एमएम जोशी ने योजना समिति के सदस्यों के निर्वाचन के संबंध में नियमों और प्रक्रियाओं की पूरी जानकारी दी। इस दौरान नाम-निर्देशन भरने, नाम वापसी, मतदान पद्धति, लाॅट नियम एवं निर्वाचन के दूसरे पहलूओं के बारे में भी विस्तार से बताया गया।

उल्लेखनीय है कि जिला पंचायत एवं नगरीय निकाय के निर्वाचित सदस्यों द्वारा जिला योजना समिति के सदस्यों का चुनाव किया जाएगा। जिला योजना समिति कोरबा के लिये जिला पंचायतों के सदस्यों के बीच से आठ सदस्य एवं नगरीय क्षेत्रों के निर्वाचित पार्षदों के बीच से नगर निगम से तीन एवं नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों से एक सदस्य का निर्वाचन किया जाएगा। समिति के सदस्यों के चुनाव के लिये जिला पंचायत के निर्वाचित सदस्यों एवं नगरीय निकाय के निर्वाचित सदस्यों का सम्मेलन सुबह 11 बजे आयोजित किया जाएगा। जिला पंचायत सदस्यों का सम्मेलन समिति के आठ सदस्यों के निर्वाचन के लिये जिला पंचायत कोरबा के सभा कक्ष में आयोजित किया जाएगा। नगरीय क्षेत्रों के निर्वाचित सदस्यों में से चार सदस्यों के चुनाव के लिये पार्षदों का सम्मेलन टीपी नगर स्थित राजीव आडिटोरियम में आयोजित किया जाएगा। समिति के सदस्यों का नाम निर्देशन के लिये दोपहर 12 से 1 बजे तक का समय तय किया गया है। नाम निर्देशन की संवीक्षा करने का समय दोपहर 1 बजे से डेढ़ बजे तक तय किया गया है। नाम निर्देशन वापस लेने का समय डेढ़ बजे से दो बजे तक का तय किया गया है। आवश्यक होने पर मतदान करने का समय दोपहर दो बजे से तीन बजे निर्धारित किया गया है। मतों की गणना के लिये दोपहर तीन बजे से चार बजे तक का समय निर्धारित किया गया है। जिला योजना समिति में सदस्यों के निर्वाचन के लिये पीठासीन अधिकारी की नियुक्ति कर दी गई है। जिला पंचायत के सदस्यों में से आठ सदस्यों के निर्वाचन के लिये डिप्टी कलेक्टर कोरबा आशीष देवांगन को पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया गया है। उप संचालक जिला योजना एवं सांख्यिकी एमएस कंवर सहायक पीठासीन अधिकारी होंगे। नगरीय निकाय के निर्वाचित सदस्यों में से चार सदस्यों के निर्वाचन के लिये डिप्टी कलेक्टर कोरबा  भरोसा राम ठाकुर पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया गया है।

 

23-11-2020
मशीनरी मर्चेंट एसोसिएशन से मिला व्यापारी एकता पैनल,जग्गी ने बताया अनुभव तो अग्रवाल ने अपनी योजना

रायपुर। व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी योगेश अग्रवाल की पूरी टीम ने मशीनरी मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेन्द्र जग्गी से मुलाकात की। इस दौरान एसोसिएशन के महामंत्री अनिल दुग्गड़ के साथ उपस्थित व्यापारियों से सौजन्य मुलाकात हुई। सुरजा देवी कांप्लेक्स स्टेशन रोड में व्यापारी एकता पैनल के साथ राजेन्द्र जग्गी ने अपने चैम्बर के 30 साल के अनुभवों को साझा किया। उन्होंने मशीनरी मर्चेंट एसोसिएशन के सामाजिक दायित्वों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में संघ की ओर से 4 ऑक्सीजन मशीन खरीदी गई,जो कि आज बहुत काम आ रही है। संघ ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में भी आर्थिक मदद  दी है। महामंत्री अनिल दुग्गड़ ने अपने व्यापारी साथियों के साथ समर्थन देने की बात कही। व्यापारी एकता पैनल के अध्यक्ष पद प्रत्याशी योगेश अग्रवाल ने भी अपनी यादें साझा की। उन्होंने कहा कि हमारा बचपन यहीं बीता है। हम रामसागर पारा, गंज डबरी और स्टेशन रोड़ में खेले और बड़े हुए। सभी व्यापारी हमारे भाई और परिवार है। योगेश अग्रवाल ने अपनी  योजना के बारे में बताया कि हम बाहरी कंपनियों की ऑन लाइन का विरोध करते हैं। हम अपनी वेबसाइट पोर्टल बनाकर " चैंबर बाजार" अपने व्यापारियों के लिए बनाएंगे। इससे हमारा सामान हमारे बाजारों में बिके और हमारे व्यापारी आर्थिक रूप से मजबूत हो। मुलाकात के दौरान मशीनरी मर्चेंट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के अलावा राधाकिशन सुंदरानी, विनय बजाज, प्रमोद जैन 'निकेश बरडिया, मनीष गुप्ता, संजय कानूगा, अमरदास खट्टर,के साथ - साथ बड़ी संख्या में व्यापारी उपस्थित थे।

 

20-11-2020
बैकुण्ठपुर में शुरू हुआ स्वास्थ्य जागरुकता अभियान, घर-घर पहुंचने की बनाई योजना 

कोरिया। बैकुण्ठपुर में स्वास्थ्य जागरुकता अभियान शुक्रवार से शुरू किया गया। इस अभियान की संचालन समिति में पूर्व जिला पंचायत सदस्य देवेन्द्र तिवारी, तीरथ राजवाड़े, सतेन्द्र राजवाड़े, सतीष मिश्रा, कमल राजवाड़े, रोशन राजवाड़े, तनवीर अहमद, बबलू राजवाड़े, इस्माइल, अनिकेत गुप्ता, रवि राजवाड़े, ठाकुर प्रसाद और मिथुन राजवाड़े, अवधेश कुमार और जितेन्द्र कुमार शामिल है। संचालकों ने आज एक संदेश का प्रकाशन किया है। इसमें सामान्य दिनचर्या में अपनी आदतों में बदलाव के साथ कुछ जरूरी उपायों को अपनाने की अपील की है। इससे लोगों को खुद को फिट रखते हुए समाज और परिवार के लिए मजबूत भूमिका निभाने की बात कही। संचालकों ने बताया है कि यह मंच पूरी तरह से गैर राजनीतिक होगा और विभिन्न समाजोपयोगी कार्यों में आम जन के साथ जुड़कर लोगों को जागरूक करेगा। स्वास्थ्य जागरुकता अभियान को लेकर घर—घर पहुंचने की योजना बनाई गई है।

16-11-2020
17 नवंबर को  राज्य योजना आयोग की उच्चस्तरीय बैठक,विकास लक्ष्यों की समीक्षा और रणनीति पर होगी चर्चा

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग की उच्चस्तरीय बैठक मंगलवार 17 नवंबर को होगी। राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह की अध्यक्षता और नीति आयोग नई दिल्ली की एडवाइजर कमेटी की उपस्थिति में सुबह 10:30 बजे बैठक होगी। बैठक नवा रायपुर स्थित आयोग कार्यालय सभाकक्ष में होगी। बैठक में छत्तीसगढ़ में सतत विकास लक्ष्यों के क्रियान्वयन की समीक्षा और लक्ष्य प्राप्ति के लिए रणनिति पर चर्चा की जाएगी। बैठक के द्वितीय सत्र में राज्य के सभी जिले के कलेक्टरों और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए चर्चा की जाएगी। बैठक में मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, आयोग के सदस्य व सदस्य सचिव, छत्तीसगढ़ शासन के मुख्य सचिव आरपी मंडल और सभी विभागों के भारसाधक सचिव शामिल होंगे।

 

12-11-2020
विभिन्न जिलों के 9 विकासखण्डों में की जाएगी लेबर रिसोर्स सेंटर की स्थापना 

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक मेें कोविड-19 और लॉक डाउन के कारण छत्तीसगढ़ के प्रवासी कामगारों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने वाली योजनाओं का अध्ययन करने के संबंध में चर्चा की गई। राज्य योजना आयोग में यूनाइटेड नेशंस डेवलपमेंट प्रोग्राम के सहयोग से कोविड-19 और लॉक डाउन के कारण प्रवासी मजदूरों के बीच समस्याओं के समाधान के लिए एक विशेष प्रकोष्ठ की स्थापना की गई है। यह प्रकोष्ठ कामगारों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने वाली योजनाओं का अध्ययन करेगा एवं उन्हें अधिक सुदृढ़ बनाने के लिए अपनी अनुशंसा प्रदान करेगा। यूएनडीपी के वित्तीय एवं तकनीकी सहयोग इस प्रकोष्ठ में छह विषय विशेषज्ञों की नियुक्ति भी की गई है।

इस योजना के तहत पायलट के रूप में राज्य के बलरामपुर, जशपुर, कोरबा, बिलासपुर, जांजगीर चाम्पा, मुंगेली, राजनंदगांव, कांकेर एवं बस्तर जिले के नौ विकासखण्डों में लेबर रिसोर्स सेंटर की स्थापना की जाउगी। शुरुआती तौर पर इन केन्द्रों को स्थापित एवं संचालित करने के लिए यूएनडीपी ने समर्थन संस्था के नेतृत्व में एनजीओ के एक समूह का चयन किया है। इस सेंटर के माध्यम से श्रमिकों को विभिन्न विभागों की सामाजिक सुरक्षा से सम्बंधित कार्यक्रमों की जानकारी दी जाएगी। यह सेंटर कामगारों का पंजीयन के साथ कौशल विकास में भी सहायता प्रदान करेगा। इस परियोजना के क्रियान्वयन के लिए योजना आयोग द्वारा आयोजित बैठक में योजना आयोग के अधिकारियों, सभी संबंधित विभागों एवं चयनित एनजीओ के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

07-11-2020
पीड़ित पुनर्वास योजना के तहत प्रभावित लोगों को तत्काल रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिया कलेक्टर महादेव कावरे ने

रायपुर/जशपुरनगर। कलेक्टर महादेव कावरे ने कल पीड़ित पुर्नवास योजना के संबंध में अफसरों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। कलेक्टर ने पीड़ित पुर्नवास योजना के तहत् प्रभावित लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए प्रशिक्षण देने के लिए भी कहा। उन्हें कम्प्यूटर, ड्राईविंग और कौशल योजना से जोड़कर हुनरमंद बनाने के निर्देश दिए है। साथ ही जिन्होंने अपनी अधूरी पढ़ाई करके छोड़ दी है। उन्हें शिक्षा से जोड़कर उनकी रूचि के अनुसार विषय में शिक्षा देने के लिए भी कहा है। बैठक में पीड़ित पुर्नवास योजना के तहत् एक प्रभावित व्यक्ति को भृत्य के नौकरी देने का निर्णय लिया गया है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक बालाजी राव, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  के.एस.मण्डावी, अपर कलेक्टर आईएल ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर आकांक्षा त्रिपाठी, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, वन विभाग और शिक्षा विभाग के अधिकार उपस्थित थे।

07-11-2020
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ‘‘दी प्रोग्रेस ग्लोबल अवार्ड‘‘ कार्यक्रम में हुए शामिल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को राजधानी के सायाजी होटल में आयोजित ‘‘दी प्रोग्रेस ग्लोबल अवार्ड‘‘ कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राज्य शासन की महत्वाकांक्षी ‘‘नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी‘‘ योजना सहित शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम का आयोजन अरविंदो योगा एन्ड नॉलेज फाउंडेशन ने किया। कार्यक्रम में पद्मश्री सम्मान से सम्मानित वैज्ञानिक डॉ. अनिल के गुप्ता, गंगाजली एजुकेशन सोसाइटी के सचिव निशांत त्रिपाठी, अरविन्दो फाउंडेशन की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाली संस्था प्रोग्रेस के प्रबंध संचालक डॉ. एसएम घोष और चेयरमेन डॉ. बीके स्थापक भी उपस्थित थे।

06-11-2020
मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना: वार्डो में पहुँची मोबाइल यूनिट वेन, महापौर ने किया निरीक्षण

राजनांदगांव। शहरी क्षेत्र के पिछड़ी बस्तियों में  निशुल्क इलाज की सुविधा मुहैया कराने राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना प्रारंभ की गई। इसमें मोबाइल यूनिट वेन द्वारा श्रमिक बहुल्य क्षेत्रों में जाकर निशुल्क जांच की जाती है। इसी कडी में राजनांदगांव निगम सीमाक्षेत्र के लिये 4 मोबाइल यूनिट वेन सरकार द्वारा उपलब्ध करायी गयी है। मोबाइल  वेन श्रमिक बाहुल्य क्षेत्रों एवं वार्डो में जाकर निशुल्क जांच कर रही हैं । इसका महापौर हेमा देशमुख एवं निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक द्वारा निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के संबंध में महपौर हेमा देशमुख ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा श्रमिक बाहुल्य क्षेत्र के निवासियों को बीमारियों की निशुल्क जॉच एवं चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना लागू की गयी। इसके तहत मोबाइल यूनिट वेन के माध्यम से बीपी शुगर, खून पेशाब जॉच के अलावा कोरोना जॉच मौके पर ही की जायेगी तथा सर्दी, बुखार, बीपी शुगर आदि की दवाइयां भी मुफ्त में दी जायेगी।

उन्होंने बताया कि उक्त योजना का शुभारंभ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर 1 नवम्बर को किया गया। निगम आयुक्त चद्रकांत कौशिक ने बताया कि शासन की मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत नागरिकों एवं श्रमिकों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने 4 मोबाइल वैन उपलब्ध कराई गई हैं। मोबाइल यूनिट में डॉक्टर, नर्स, लेब टेकनीशियन, फार्मसिस्ट सहित 20 कर्मचारी रहते हैं। इनके द्वारा जांच कर दवाईयो का वितरण किया जाता हैै। निगम द्वारा प्रतिदिन शिविर में स्वास्थ्य जांच के अलावा श्रमिक पंजीयन भी किया जाता है। श्रमिक पंजीयन होने से शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ भी श्रमिकों को मिलता है। महापौर एवं आयुक्त द्वारा शिविर का निरीक्षण कर जॉच के संबंध में जानकारी ली गयी एवं नागरिकों से भी जॉच कराकर निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा का लाभ लेने की अपील की गयी। इस अवसर पर महापौर परिषद के प्रभारी सदस्य व योजना के प्रभारी अधिकारी व श्रम अधिकारी उपस्थित थे।

 

04-11-2020
मनरेगा योजना से प्रत्येक हितग्राहियों को जोड़कर आय बढ़ाने का लक्ष्य

बीजापुर। जिला बीजापुर में वन अधिकार पट्टाधारियों के आय के साधन बढ़ाने के लिए कार्ययोजना तैयार की जा रही है। यह बात डिप्टी कलेक्टर व मुख्यकार्यपालन अधिकारी अमित योगी ने बुधवार को जनपद पंचायत बीजापुर में आयोजित सचिवों की समीक्षा बैठक में कहीं। जानकारी देते उन्होने ने कहा कि कलेक्टर रितेश अग्रवाल के मार्गदर्शन में वनाधिकार पट्टाधिकारियों की आय में वृद्धि की जानी है। इस केे लिए जनपद पंचायत क्षेत्र के सभी हितग्राहियों को महात्मा गांधी नरेगा योजना से जोड़कर उनके आय के साधन बढ़ाने है।
सहायक परियोजना अधिकारी मनरेगा मनीष सोनवानी ने बताया कि केंद्र व राज्य सरकार एफआरए हितग्राहियों के आजीविका संवर्धन के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में हम प्रत्येक हितग्राहि परिवार को महात्मा गांधी नरेगा योजना से जोड़कर  200 दिवस का रोजगार उपलब्ध कर सकते है। महात्मा गांधी नरेगा योजनांतर्गत एफआरए हितग्राहियो की भूमि में आजीविका संवर्धन के कार्य जैसे भूमि सुधार, डबरी निर्माण, कुआँ, गाय शेड, बकरी शेड, मुर्गी शेड के अलावा फलदार वृक्षारोपण आदि कार्य किये जा सकते हैं।

 

03-11-2020
मुख्यमुंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना: चलित अस्पताल में 24 प्रकार की दवा से किया जा रहा इलाज

रिसाली। मुख्यमुंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना का अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सके इसके लिए अपर कलेक्टर व रिसाली निगम आयुक्त प्रकाश कुमार सर्वे के निर्देश पर माह वार कैलेण्डर तैयार किया है। कैलेण्डर के हिसाब से श्रमिक बाहूल्य क्षेत्र में चलित चिकित्सालय लगाकर सेवाएं दी जा रही है। शिविर के दूसरे दिन 107 लोगों ने जांच कराने स्थल तक पहुंचे।
मंगलवार को शिविर रूआबांधा पूर्व व स्टेशन मरोदा में लगाया गया। जहां स्वास्थ्य परीक्षण कर बीमार लोगों का उपचार किया गया। उल्लेखनीय है कि मोबाइल यूनिट में पैथोलाॅजी से लेकर ईसीजी की सुविधा व छोटा सा फार्मासिस्ट काऊंटर की सुविधा है। इस काऊंटर में ब्लड प्रेसर, सुगर से लेकर अलग-अलग बीमारी के लिए कुल 24 प्रकार की दवा रखी गई है। गंभीर बीमारी के मरीज मिलने पर उन्हे रेफर किया जाता है।

19 लोगों ने दिया आवेदन
शिविर स्थल पर ऐसे लोग भी पहुंच रहे हैं जिनका श्रम विभाग में पंजीयन नहीं है। श्रम कार्ड बनाने ऐसे लोगों से आवेदन भी लिया जा रहा है। मंगलवार को कुल 19 लोगों ने कार्ड बनाने आवेदन प्रस्तुत किया है।
कुल मरीज आए - 107
पैथोलाॅजी जांच कराया - 30
दवा वितरण किया गया - 95
रेफर मरीजो की संख्या - 0

जाने कब कहा शिविर

4 नवम्बर को एचएससीएल काॅलोनी रूआबांधा, शंकर पारा स्टेशन मरोदा स्थित साहू मित्र मंच के पास शिविर लगाया जाएगा। इसी तरह 5 नवम्बर को दुर्गा मंच टंकी मरोदा, 6 को मंडी चौक सूर्य नगर स्टेशन मरोदा, 7 को मोहन किराना के पास इस्पात नगर, सांस्कृतिक भवन मौहारी भाठा, 8 को आदिवासी काॅपरेटिव के पास बीआरपी काॅलोनी, दुर्गामंच के पास नेवई भाठा, 9 को शासकीय स्कूल नेवई भाठा, 10 को दुर्गा मंदिर के पास एचएससील काॅलोनी स्टेशन मरोदा, दशहरा मैदान नेवई बस्ती, 11 को पुराना बाजार चैक डुंडेरा पश्चिम, विजय चैक स्टेशन मरोदा, 12 को साहू मित्र मंच शंकर पारा स्टेशन मरोदा और 13 नवम्बर को मंगल भवन के पास डुंडेरा पूर्व में शिविर लगाया जाएगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804