GLIBS
16-08-2021
कलेक्टर ने दो दिव्यांगों को प्रदान की बैटरी चलित ट्राइसिकल

धमतरी। कलेक्टर जनचौपाल में पहुंचे कुरूद के हंचलपुर के दिव्यांग अशोक कुमार साहू और जोरातराई के होरीलाल निषाद को समाज कल्याण विभाग की ओर से बैटरी चलित ट्राइसिकल प्रदान की। उप संचालक समाज कल्याण एमएल पॉल ने बताया कि जिला पंचायत उपाध्यक्ष नीशू चन्द्राकर, जिला पंचायत सदस्य सुमन साहू, दमयंती साहू और खूबलाल ध्रुव के हाथों हितग्राहियों को बैटरी चलित ट्राइसिकल प्रदान की ।

 

29-06-2021
दिव्यांगों का जीवन व आर्थिक स्तर सुधारने ,समाज कल्याण विभाग निशुल्क वाहन प्रदान करेगा

रायपुर/बिलासपुर। दिव्यांगों के जीवन स्तर में वृद्धि और आर्थिक स्तर में समृद्धि लाने के लिए समाज कल्याण विभाग ने  उच्च शिक्षा, कौशल विकास, प्रशिक्षण, स्वरोजगार तथा रोजगार आदि में संलग्न दिव्यांगों को निःशुल्क पेट्रोल चलित टू व्हीलर, स्कूर, स्कूटी (दो अतिरिक्त पहियों के साथ) प्रदान करेगा।

रोजगार, स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण या अध्ययनरत दिव्यांग छात्रों के लिये उम्र 18 वर्ष से कम एवं 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए तथा रोजगार या स्वरोजगार कर रहे दिव्यांगों के लिए आयु वर्ग 40 वर्ष से 60 वर्ष निर्धारित किया गया है। अभ्यार्थी को इसके लिये वाहन चलाने हेतु परिवहन विभाग के अद्यतन दिशा-निर्देश अनुसार ड्राइविंग लाईसेंस की स्वप्रमाणित प्रति प्रस्तुत करना होगा, साथ ही 60 प्रतिशत या उससे अधिक का प्रमाणित दिव्यांगता प्रमाण-पत्र, यू, डीआईडी प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना होगा। स्कूटी प्राप्त करने वाले दिव्यांगजनों एवं आश्रितों का मासिक आय 20000 रू. मासिक से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इस योजना से लाभ प्राप्त करने वाले दिव्यांगों को 15 वर्ष तक पुनः लाभ नहीं दिया जायेगा। साथ ही ऐेसे दिव्यांग जिसके पास पूर्व परंपरागत ट्राई सायकल अथवा बैटरी चलित मोटराइज्ट ट्राई सायकल उपलब्ध हो एवं यदि वह इस योजना का लाभ लेने के इच्छुक है तो संबंधित विभागीय जिला कार्यालय में आवेदन प्रस्तुत कर उक्त पेट्रोल चलित टू व्हीलर स्कूर, स्कूटर (दो अतिरिक्त पहियों के साथ) का लाभ प्राप्त कर सकते हैं परन्तु एक साथ दोनों योजनाओं का लाभ नहीं ले सकते। कम से कम 3 वर्ष का समयान्तराल आवश्यक होगा। दिव्यांगजन पात्रता के आवश्यक शर्तों की प्रतिपूर्ति नहीं कर पाते है तो उन्हें आपात्र की श्रेणी में माना जायेगा।

उक्त योजना के लाभ प्राप्त करने वाले दिव्यांगों को निर्धारित प्रारूप में आवेदन जिला स्तर पर गठित समिति के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। उक्त समिति में संयुक्त संचालक समाज कल्याण बिलासपुर अध्यक्ष, जिला परिवहन अधिकारी द्वारा नामित प्रतिनिधि-सदस्य, अस्थि बाधित के क्षेत्र में विषय विशेषज्ञ-अशासकीय सदस्य एवं परिवीक्षा अधिकारी अथवा समाज शिक्षा संगठक-सदस्य सचिव होंगे।

19-06-2021
Video: राहुल गांधी के 50वें जन्मदिन पर विकास उपाध्याय ने दो दिव्यांगों को दी बैटरी चलित ट्रायसिकल

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी के 50वें जन्मदिन पर शनिवार को संसदीय सचिव व रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने अपने विधानसभा के दो दिव्यांगों को ट्रायसिकल दी। उन्होंने पवन साहू खमतराई और मीना रात्रे गुढ़ियारी को बैटरी चलित ट्रायसिकल प्रदान की। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव विकास उपाध्याय ने बताया कि जिस प्रकार हमारे नेता राहुल गांधी ने त्याग और सेवाभाव से अपने जीवन को इस देश की जनता को समर्पित किया है, उसी का अनुसरण करते हुए हम आज उनके जन्मदिवस को सादगी से साथ मना रहे हैं। विधायक उपाध्याय ने कहा कि कोरोनाकाल में राहुल गांधी के ओर से किए गए सेवाभाव की तरह आज उनके जन्मदिन पर अपने विधानसभा की जनता को सूखा राशन किट,मास्क सैनिटाइजर का भी वितरण किया गया। जन-जन के नेता,भारत देश के भविष्य राहुल गांधी के सुखमय एवं दीघार्यु जीवन की कामना की गई।

 

28-05-2021
कलेक्टर के निर्देश पर घरौंदा आश्रय गृह के दिव्यांगों को लगाया गया कोरोना का टीका

रायपुर। घरौंदा आश्रय गृह में निवासरत ऑटिज्म, सेरेब्रल पाल्सी ,मानसिक मंदता एवं बहुनिशक्तता से ग्रस्त दिव्यांगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीका लगाया गया। इसमें 24 महिलाएं, 15 पुरुष और संस्था में कार्यरत 3 कर्मचारियों सहित कुल 42 लोगों को टीका लगाया गया है। कलेक्टर डॉ. एस.भारतीदासन ने आश्रय गृह में रहने वाले सभी दिव्यांगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीका लगाने समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया था। कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीकाकरण का कार्य सरकार व प्रशासन की ओर से तेजी से किया जा रहा है। इसी कड़ी में दिव्यांगों को भी टीका लगाने का विशेष इंतजाम किया जा रहा है। समाज कल्याण विभाग के संयुक्त संचालक भूपेंद्र पांडे ने बताया कि घरौंदा आश्रय गृह एनजीओ की ओर से डीडी नगर रायपुर में संचालित है। इसे समाज कल्याण विभाग से अनुदान प्राप्त है। उन्होंने बताया कि इस आश्रय गृह में 18 वर्ष से अधिक उम्र के दिव्यांग निवासरत है।

 

 

27-04-2021
कोरोना संक्रमण काल में दिव्यांगों को मिलेगी डिजिटल माध्यम से उपचार की सुविधा

रायपुर। कोरोना संक्रमण काल में अब कांकेर जिले के दिव्यांगजनों को डिजिटल माध्यम से उपचार के लिए ऑनलाइन सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही है। दिव्यांगजन कौशल विकास पुनर्वास व सशक्तिकरण समेकित क्षेत्रीय केंद्र सीआरसी राजनांदगांव द्वारा कोरोना महामारी के तहत दिव्यांगजनों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए उपचार के क्रम को विभिन्न डिजिटल माध्यमों द्वारा जारी रखने का निर्णय लिया गया है, जिसके तहत सभी प्रोफेशनलों द्वारा विभिन्न माध्ममों जैसे फोन, लाइव वीडियो, चेट, ऑनलाइन फोटो तथा लिखित दिशा-निर्देशों द्वारा दिव्यांगजन व उनके माता-पिता को जरुरी चिकित्सकीय मार्गदर्शन प्रदान किया जा रहा है। इसके तहत दिव्यांगजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर एवं ईमेल (crcr.rjn2016@gmail.com) भी जारी किया गया है। इस पर फोन एवं इमेल के माध्यम से संपर्क कर आवश्यक जानकारी एवं सलाह ली जा सकती है, इसके अलावा सीआरसी राजनांदगांव के कार्यालयीन वेबसाइट www.crcrajnandgaon.nic.in के तहत कोरोना अपडेट पेज के माध्यम से भी जानकारी एवं सहायता प्रदान की जा रही हैं।

विभिन्न दिव्यांगताओं जैसे मानसिक मंदता, प्रमस्तिष्कीय पक्षाघात, मानसिक रूग्णता, श्रवण एवं वाणी बाधिता, अस्थि बाधिता, उपचारित कुष्ठ, तेजाब हमला पीड़ित, मांसपेशी दुर्विकार, विशिष्ट अधिगम दिव्यांगता, बहु स्कलेरोसिस, सिकलसेल एवं बहु दिव्यांगता के लिए भौतिक चिकित्सा, व्यवसायिक चिकित्सा, वाक् एवं श्रवण चिकित्सा, नैदानिक मनोविज्ञान, विशेष  शिक्षा, कृत्रिम अंग निर्माण एवं वोकेशनल प्रशिक्षण सम्बंधित ऑनलाइन परामर्श, दिशा-निर्देश, तकनीकी सलाह एवं गृह आधारित चिकित्सा अनुसरण के लिए हेल्पलाइन नम्बर द्वारा कार्यालयीन समय में (सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 बजे से शाम 5.30 बजे तक शासकीय अवकाश दिवस को छोड़कर) प्राप्त की जा सकती है। सीआरसी द्वारा डीएड स्पेशल एजुकेशन (आईडी) कोर्स संचालन के साथ-साथ देश भर में कार्यरत पुनर्वास सम्बंधित प्रोफेशनलों के लिए प्रत्येक माह कई ऑनलाइन सीआरई कार्यक्रम भी आयोजित किये जा रहे हैं। इसकी जानकारी विशेष शिक्षा विभाग में कार्यरत सहायक प्राध्यापक राजेन्द्र कुमार प्रवीण के दूरभाष नंबर द्वारा प्राप्त की जा सकती है एवं 0-05 वर्ष तक के विशेष बच्चों के लिए शीघ्र पहचान एवं शीघ्र हस्तक्षेप विभाग प्रभारी देबाशीष राऊत के मोबाइल नंबर 09163003990 से संपर्क कर सकते हैं।


विशेष चिकित्सा एवं परामर्श के लिए नैदानिक मनोविज्ञान विभाग की श्रीदेवी गोड़ीशाला मोबाइल नंबर 99493-15610, विशेष शिक्षा विभाग से राजेन्द्र कुमार प्रवीण मोबाइल नंबर 73892-93245, दृष्टि बाधित विशेष शिक्षा से प्रसादी कुमार महतो मोबाइल नंबर 87707-39894, पुनर्वास सेवा के लिए गौतम चौरे मोबाइल नंबर 79878-00579, व्यावसायिक चिकित्सा विभाग से देबाशीश राऊत मोबाइल नंबर 91630-03990, फिजियोथेरापी विभाग से आशीष पराशर मोबाइल नंबर 97532-02681, श्रवण एवं वाक विभाग से गजेन्द्र कुमार साहू मोबाइल नंबर 91653-14300, पूनम मोबाइल नंबर 78798-75900, कृत्रिम अंग निर्माण विभाग से अभिनंदन नायक के मोबाइल नंबर 79786-73519 एवं वोकेशनल प्रशिक्षण के लिए सौम्य रंजन मोहंती मोबाइल नंबर 94377-66161 पर संपर्क कर सकते हैं।

16-03-2021
यूडीआईडी कार्ड पंजीयन शिविर नवागढ़, 158 दिव्यांगों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण, 59 फार्म हुए जमा

 जांजगीर-चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गनिर्देशन में दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम-2016 के तहत निःशक्त व्यक्तियों की पहचान, शत-प्रतिशत प्रमाणीकरण तथा यूडीआईडी कार्ड बनाने के लिए विकासखण्ड वार शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस क्रम में नगर पंचायत नवागढ़ के नवीन महाविद्यालय भवन में सोमवार 15 मार्च को शिविर का आयोजन किया गया।
उप संचालक समाज कल्याण टीपी भावे ने बताया कि शिविर में 158 दिव्यांगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इसमें 17 दृष्टि बाधित, 31 बौद्धिक मंद शिशु, 12 श्रवण बाधित, 83 अस्थि बाधित दिव्यांग शामिल है। इसी प्रकार 59 दिव्यांगों ने यूडीआईडी कार्ड के लिए फार्म जमा किया। इसके अलवा 33 दिव्यांगों ने प्रमाण पत्र का नवीनीकरण करवाया। शिविर में त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधि कालेज के प्राचार्य बीआर पटेल, प्राध्यापक स्नेहा थवाईत उपस्थित थीं। कालेज एनएसएस यूनिट के विद्यार्थियों ने स्वास्थ्य परीक्षण, पंजीयन  एवं नवीनीकरण आदि में दिव्यांगों का सहयोग किया।

 

25-11-2020
संसदीय सचिव रेखचंद जैन से व्हील चेयर पाकर खुशी से झूम उठा युवराज,अब खुद पहुंचेगा अपनी मंजिल तक

रायपुर। विधायक जगदलपुर एवं संसदीय सचिव रेखचंद जैन की संवेदनशील पहल से दिव्यांगों के चेहरों पर मुस्कान लौट रही है। संसदीय सचिव जैन न केवल उन तक आने वालों को सहारा प्रदान कर रहे हैं,बल्कि पता चलते ही घर तक पहुंचकर व्हील चेयर भेंट कर रहे हैं। ऐसा ही नजारा देखने को मिला, जब संसदीय सचिव तक पहुंचे दिव्यांग को न केवल उन्होंने व्हील चेयर भेंट की, बल्कि उसके साथ चलकर उसका हौसला बढ़ाया। खुद के प्रयास से पूरी दूरी तय कर दिव्यांग युवक का मनोबल बढ़ा। हम बात कर रहे हैं दिव्यांग युवराज बघेल की। संसदीय सचिव के हाथों नई व्हील चेयर पाकर युवराज खुशी से झूम उठा। युवराज बघेल की पुरानी व्हील चेयर खराब हो गई थी। उसे दूसरों का सहारा लेना पड़ता था। अब उसे नई व्हील चेयर मिल गई है। बता दें कि युवराज की माता भी  दिव्यांग है। युवराज हुनरमंद भी है। संसदीय सचिव, युवराज के हुनर को देखकर बहुत खुश हुए। उन्होंने काष्ठकला के लिए भी मदद देने की बात कही। इस दौरान पार्षद पंचराज सिंह और सुखराम सहित समाजसेवी अनिल बवेजा भी मौजूद थे।

 

 


नई व्हील चेयर पर बैठकर युवराज ने खुद चलाकर देखा। उसे किसी के सहारे की जरूरत महसूस नहीं हुई। खुद संसदीय सचिव रेखचंद उसके साथ चले और युवराज का हौसला बढ़ाया। चढ़ाई में भी बड़ी आसानी से युवराज ने व्हील चेयर को चलाया। युवराज ने संसदीय सचिव व विधायक रेखचंद जैन से मिली व्हील चेयर के लिए उनका आभार माना है। युवराज ने कहा कि नई व्हील चेयर मिलने से उसे बहुत अच्छा लग रहा है। पुरानी व्हील चेयर से ये काफी बेहतर है। यह उसके लिए बहुत बड़ी खुशी की बात है। उसने कहा कि पुरानी व्हील चेयर में कुछ कदम जाने में दूसरे के सहारे की आवश्यकता महसूस होती थी। अब वह खुद आगे जा सकता है। युवराज ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और संसदीय सचिव को नई व्हील चेयर के लिए धन्यवाद  दिया।


बता दें कि जगदलपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के हाटपदमूर के दिव्यांग युवक की भी परेशानी का पता चलते ही एक घंटे में  संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने मदद की। अब उसे स्कूल आने-जाने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी। आठवीं कक्षा में अध्ययनरत छात्र भोला दिव्यांग है। उसे पढ़ाई-लिखाई करने जाने में असुविधा होती थी। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से मिली सूचना पर संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने मदद दी थी। दिव्यांग भोलाराम के चेहरे पर व्हील चेयर मिलने की खुशी साफ झलक रही थी। दिव्यांग नीरा बाई की भी खुशियों का ठिकाना नहीं रहा जब संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने उसे व्हील चेयर भेंट की। ग्राम पंचायत टोंडापाल के नवागुड़ा में संसदीय सचिव रेखचंद जैन के सामने एक दिव्यांग बच्ची की जानकारी सामने आई थी। संसदीय सचिव रेखचंद जैन उस दिन नीरा के घर पहुंचे और उसकी व्यथा को देखते हुए व्हील चेयर देने की बात कही थी। एक हफ्ते के भीतर व्हील चेयर भेंट कर उन्होंने अपना वादा पूरा किया। 18 नवंबर को संसदीय सचिव रेखचंद जैन स्वयं व्हील चेयर लेकर टोंडापाल के नवागुड़ा पहुंचे और दिव्यांग नीरा को अपने हाथों से व्हील चेयर में बिठाया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804