GLIBS
16-11-2019
अभिनेत्री माया साहू पर हुआ हमला, घायल अवस्था में किया गया दुर्ग रेफर

भिलाई। छत्तीसगढ़ी फिल्मों की अभिनेत्री माया साहू पर अज्ञात युवकों ने एसिड फेका है। लेकिन यह अफवाह थी। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार माया साहू पर हमला तो हुआ लेकिन एसिड नहीं बल्कि डंडे से दो युवकों ने उसके सर पर वार किया। सुपेला थाने के टीआई के अनुसार माया साहू को ज्यादा गंभीर चोट नहीं आयी है, और अभी माया की हालत ठीक है। गौरतलब है कि घायल माया को पहले भिलाई के अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिर बाद में दुर्ग रेफर किया गया है। पुलिस का अनुमान है कि हमलावरों और माया का किसी पुराने झगडे की वज़ह से युवकों ने उस पर हमला किया है। बहरहाल पुलिस भी आरोपियों और घटना की वजह के बारे जानकारी जुटाने में लगी है। जैसे ही फिल्म इंडस्ट्री में इस घटना की खबर फैली है, सभी कलाकार वहां जुटने लगे हैं।

11-10-2019
77 साल के हुए महानायक अमिताभ बच्चन, 5 दशकों से कर रहे लोगों के दिलो पर राज

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का आज 77वां जन्मदिन मना रहे है। महानायक का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को प्रयागराज ( उत्तर प्रदेश ) में हुआ था। अमिताभ बच्चन कई दशकों से पर्दे पर अपने दमदार अभिनय से अमिताभ करोड़ों लोगों के दिल में बसे हुए हैं। पर्दे पर अलग-अलग किरदार को जीवंत बना देने वाले अमिताभ के असल जीवन की कहानी भी किसी सुपरहिट फिल्म की स्क्रिप्ट से कम नहीं है। बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन बीते 5 दशकों से फिल्म इंडस्ट्री में अपना दबदबा बनाए हुआ हैं। साल 1969 में फिल्म 'सात हिन्दुस्तानी' से अपने करियर की शुरुआत की। हालांकि ऐसा नहीं है कि अमिताभ बच्चन ने अपनी पहली ही फिल्म से कोई ऐसा कमाल कर दिया हो। अपने शुरुआती दौर में उन्हें एक या दो नहीं बल्कि 12 फ्लॉप फिल्मों का सामना करना पड़ा था। लेकिन इसके बाद जब अमिताभ की हिट फिल्मों का सिलसिला शुरू हुआ तो उन्होंने एक अलग ही रिकॉर्ड बना दिया। अमिताभ बच्चन के बाद इस इंडस्ट्री में कई सुपरस्टार आए और गए। बॉक्स ऑफिस पर एक के बाद के न जाने कितने ही रिकॉर्ड बने और टूटे लेकिन अमिताभ बच्चन की फिल्मों ने जो रिकॉर्ड बनाए वो कोई भी स्टार नहीं तोड़ पाया।

शुरुआती करियर में कई फ्लॉप फिल्में देने के बाद 1973 में ‘जंजीर’ फिल्म की सफलता ने अमिताभ बच्चन की ही नहीं हिंदी सिनेमा की भी तस्वीर बदल दी। उसके बाद तो करीब अगले 4 सालों में ही 1977 तक अमिताभ बच्चन ने ‘अभिमान’, ‘नमक हराम’, ‘कसौटी’, ‘मजबूर’, ‘दीवार’, ‘शोले’, ‘चुपके-चुपके’, ‘मिली’, ‘कभी-कभी’, ‘दो अनजाने’, ‘हेरा-फेरी’, ‘अदालत’, ‘खून पसीना’, ‘परवरिश’ और ‘अमर अकबर एंथनी’ जैसी 15 शानदार फ़िल्में देकर सफलता और लोकप्रियता का नया इतिहास लिख दिया।

इसके बाद 1978 में एक वह दौर आया जब अमिताभ बच्चन ने एक महीने में ही लगातार चार सुपरहिट फिल्में दीं। अमिताभ ने इस वक्त एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया जो अभी तक कोई भी दूसरा हीरो नहीं बना पाया है। ये 4 हफ्ते थे 21 अप्रैल से 12 मई 1978 तक के इस दौरान मुंबई में पहले 21 अप्रैल को अमिताभ बच्चन की ‘कसमे वादे’ रिलीज हुई. उसके अगले हफ्ते 28 अप्रैल को ‘बेशर्म’ रिलीज हुई। फिर 5 मई को ‘त्रिशूल’ लगी तो उसके बाद 12 मई को ‘डॉन’ रिलीज़ हुई. सबसे बड़ी बात ये है कि ये चारों फिल्में हिट रहीं।

 

10-09-2019
कैंसर का इलाज कराकर 11 माह बाद देश लौटे अभिनेता ऋषि कपूर

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर कैंसर का करीब एक वर्ष तक विदेश में इलाज कराने के बाद स्वदेश लौट आए हैं। ऋषि कपूर पिछले लगभग एक साल से न्यूयार्क में उपचार करा रहे थे। वह बीती देर रात पत्नी नीतू कपूर के साथ स्वदेश लौटे। नीतू कपूर इलाज के दौरान उनके साथ देश में ही रहीं।
उन्होंने स्वदेश लौटने की जानकारी स्वयं ट्विटर पर दी। उन्होंने लिखा, “11 माह 11 दिन बाद घर वापसी। सभी को धन्यवाद।” वह न्यूयार्क में इलाज के दौरान भी ट्विटर पर सक्रिय रहे और अपने प्रशंसकों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देते रहते थे।
विदेश में रहने के दौरान उन्होंने अपने काम को मिस किया, लेकिन उनके परिवार और करीबियों ने उन्हें कभी अकेला महसूस नहीं होने दिया। उनके बेटे रणबीर और बेटी रिद्धिमा अक्सर ही उनसे मिलने न्यूयॉर्क पहुंच जाया करते थे। इंडस्ट्री में उनके जानने वाले और करीबियों ने भी समय-समय पर वहां जाकर उनसे मुलाकात की। अब जब ऋषि सबके बीच वापस अपने देश में हैं तो ये सभी के लिए खुशी का पल होगा।



 

14-08-2019
अजय-काजोल की जोड़ी फिर मचायेगी धूम

मुंबई। बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन और काजोल की सुपरहिट जोड़ी फिर सिल्वर स्क्रीन पर साथ नजर आ सकती है। अजय देवगन और काजोल फिल्म इंडस्ट्री की ऐसी जोड़ियों में गिने जाते हैं जो पर्सनल लाइफ में जितने पॉपुलर हैं उतने ही सक्सेसफुल प्रोफेशनल फ्रंट पर भी हैं। दोनों काफी समय से फिल्मों में सक्रिय हैं और कई बार साथ सिल्वर स्क्रीन शेयर करते नजर आ चुके हैं। दोनों कलाकार एक साथ फिल्म तानाजी में काम करते नजर आएंगे। अब चर्चा है कि दोनों एक कॉमेडी फिल्म में भी साथ काम करते नजर आ सकते हैं।

बताया जा रहा है कि अजय और काजोल फाइनल स्क्रिप्ट के इंतजार में हैं। माना जा रहा है कि फिल्म की कहानी एक मैच्योर कपल और उनकी आपसी समझ पर निर्भर होगी। फिल्म के टाइटल को लेकर भी विचार-विमर्श जारी है। फिल्म के लिए रोमांस और क्या, धोखा अराउंड द कॉर्नर और धोखा जैसे नामों पर चर्चा चल रही है। फिल्म की शूटिंग साल 2020 में शुरू होने की संभावना है। अजय और काजोल साथ में राजू चाचा, इश्क, गुंडाराज, प्यार तो होना ही था और दिल क्या करे जैसी कई फिल्मों में साथ नजर आ चुके हैं।

05-08-2019
मल्टीस्टारर फिल्म में काम नहीं करना चाहते हैं एक्टर्स : अक्षय

मुंबई। बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार का कहना है कि अब एक्टर्स मल्टीस्टारर फिल्म में काम करना पसंद नहीं करते हैं। बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक समय ऐसा था जब फिल्ममेकर्स ज्यादा से ज्यादा मल्टी स्टारर फिल्में बनाना चाहते थे लेकिन गुजरते समय के साथ सिल्वर स्क्रीन पर सिंगल हीरो की फिल्मों को क्रेज बढ़ने लगा। इन दिनों फिल्म इंडस्ट्री में कम ही ऐसे एक्टर्स हैं, जो दूसरे स्टार्स के साथ सिल्वर स्क्रीन शेयर करना चाहते हैं। लेकिन अक्षय कुमार बॉलीवुड के उन अभिनेताओं में से एक हैं, जिन्हें फिल्म में एक से ज्यादा एक्टर होने से फर्क नहीं पड़ता है।

अक्षय ने बताया, ‘मैं ऐसी फिल्म में काम करना चाहता हूं, जिसकी स्टोरी अच्छी होती है। यदि फिल्म अच्छी है तो मुझे उसमें छोटा किरदार निभाने से भी कोई आपत्ति नहीं है। इतनी ही नहीं यदि फिल्म में किसी दूसरे एक्टर का मुझसे बड़ा रोल होगा तब भी मुझे कोई शिकायत नहीं होगी। बस स्क्रिप्ट बेहतरीन होनी चाहिए। अक्षय कुमार ने बिना किसी का नाम लिए बताया कि कई स्टार्स ऐसे भी हैं, जिन्हें मल्टी स्टारर फिल्म में काम करना पसंद नहीं है, क्योंकि उन्हें ऐसी फिल्में करने में शर्म महसूस होती है। अक्षय ने कहा, ह्यमैं किसी का नाम नहीं लूंगा। लेकिन ये एक ऐसे एक्टर हैं जो फिल्म में दो हीरो के सब्जेक्ट पर बेस्ड फिल्म में काम कर रहे हैं। उन्होंने फिल्म के प्रोड्यूसर को बहुत शानदार तरीके से बोला कि पहले पोस्टर में मेरा एक अकेले फोटो आएगा। इसके बाद अगले हफ्ते दोनों का साथ में आएगा.। ह्यअकेले क्यों? क्योंकि वो ये दिखाना चाहते हैं कि फिल्म में वही एक लीड हीरो हैं, जबकि फिल्म दो हीरो पर बेस्ड है. लेकिन सोलो पोस्टर के बारे में सुनकर मैं काफी शॉक्ड हुआ था।

30-07-2019
भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में मील का पत्थर बनेगी ‘विवाह’ : प्रदीप सिंह

मुंबई। भोजपुरी फिल्मकार प्रदीप सिंह ने कहा उनकी आने वाली फिल्म ‘विवाह’ भोजपुरी फिल्म जगत के लिए मील का पत्थर साबित होगी। प्रदीप सिंह इन दिनों प्रदीप पांडे चिंटू, संचिता बनर्जी और आकांक्षा अवस्थी को लेकर फिल्म ‘विवाह’ बना रहे हैं। फिल्म का फर्स्ट लुक हाल ही में रिलीज हुआ है जिसे प्रदीप पांडे चिंटू दूल्हा और संचिता बनर्जी दुल्हन बनी नजर आ रही है। मंजुल ठाकुर के निर्देशन में बन रही विवाह में काजल राघवनी, ऋतु सिंह, किरण यादव, अवधेश मिश्रा और संजय महानंद की भी अहम भूमिका है। फिल्म ‘विवाह’ के जरिये बड़े समय बाद पाखी हेगड़े की भी इंट्री हो रही है।  उन्होंने फिल्म की चर्चा करते हुये कहा कि यह फिल्म भोजपुरी फिल्म जगत के लिए मील का पत्थर साबित होगी, क्योंकि इसमें भोजपुरिया समाज और उसके संस्कार के मर्म को पर्दे पर उतारा गया है। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी इस फिल्म को लोगों का भरपूर प्यार मिलेगा। यह फिल्म खासकर महिला दर्शकों की पहली पसंद बनने वाली है। यह फिल्म फैमिली ड्रामा है। इस फिल्म में दो परिवार है, जहां अहंकार और स्वार्थ के कारण कोई नाराज है तो कोई आहत है। उनके बीच कुछ गलतफहमियां हैं। विवाह नोंक-झोंक और तकरार के साथ प्यारी सी लव स्टोरी और फैमली बाउंडिंग की शानदार प्रस्तुति है। निर्देशक मंजूल ठाकुर ने कहा कि सिनेमा की सार्थकता हमारी फिल्म ‘विवाह’ में दर्शकों को देखने को मिलेगी, जिसमें मनोरंजन के साथ-साथ बहुत कुछ दर्शकों को मिलने वाला है, जिसके लिए फिल्म की पूरी कास्ट ने जमकर मेहनत की है।

27-07-2019
राजनीति में नहीं जाना चाहती हैं सोनाक्षी सिन्हा

मुंबई। बॉलीवुड की दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा राजनीति में नहीं जाना चाहती हैं। बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता और राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा की बेटी सोनाक्षी सिन्हा को फिल्म इंडस्ट्री में आये हुये एक दशक हो गया है। कई बार शत्रुघ्न सिन्हा के पॉलिटिकल बयानों के बाद, सोनाक्षी मीडिया के सवालों में घिर जाती हैं और ऐसे में अपने जवाब से वह खबरों में होती हैं। सोनाक्षी सिन्हा ने कहा, मुझे लगता है, जब भी परिवार का कोई भी सदस्य पॉलिटिक्स के फील्ड में होता है तो जाहिर है, मुझसे लोग पापा के बयानों और उनके काम को लेकर कई बार सवाल पूछते हैं, ऐसा ही पापा को भी मेरे बारे में पूछा जाता है। शायद इसी वजह से मैं पॉलिटिकल खबरों में आ जाती हूं।

सोनाक्षी से पूछा गया कि क्या पॉलिटिक्स में उनका कोई रुझान है। सोनाक्षी ने सवाल के जवाब में कहा, बिल्कुल भी नहीं, कभी भी नहीं। मैं कभी भी पॉलिटिक्स ज्वॉइन करने के बारे में नहीं सोचती, न ही मेरा कोई रुझान है पॉलिटिक्स में। सोनाक्षी इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म 'खानदानी शफाखाना' के प्रमोशन में बिजी हैं। 'खानदानी शफाखाना' में सोनाक्षी के अलावा वरुण शर्मा, अन्नू कपूर, बादशाह, कुलभूषण खरबंदा जैसे कलाकार हैं। यह फिल्म 02 अगस्त को रिलीज होगी।

26-07-2019
खलनायकी के बेताज बादशाह थे अमजद खान

मुंबई। बॉलीवुड की ब्लॉक बस्टर फिल्म ..शोले.. के किरदार गब्बर सिंह ने अमजद खान को फिल्म इंडस्ट्री में सशक्त पहचान दिलायी लेकिन फिल्म के निर्माण के समय गब्बर सिंह की भूमिका के लिये पहले डैनी का नाम प्रस्तावित था। फिल्म ..शोले ..के निर्माण के समय गब्बर सिंह वाली भूमिका डैनी को दी गयी थी लेकिन उन्होंने उस समय धर्मात्मा में काम करने की वजह से शोले में काम करने से लिये इंकार कर दिया। शोले के कहानीकार सलीम खान की सिफारिश पर रमेश सिप्पी ने अमजद खान को गब्बर सिंह का किरदार निभाने का अवसर दिया। जब सलीम खान ने अमजद खान से फिल्म ..शोले ..में गब्बर सिंह का किरदार निभाने को कहा तो पहले तो अमजद खान घबरा से गये लेकिन बाद में उन्होंने इसे एक चैलेंज के रूप में लिया और चंबल के डाकुओं पर बनी किताब .अभिशप्त चंबल.. का बारीकी से अध्य्यन करना शुरू किया। बाद में जब फिल्म ..शोले ..प्रदर्शित हुयी तो अमजद खान का निभाया किरदार ..गब्बर सिंह ..दर्शको में इस कदर लोकप्रिय हुआ कि लोग गाहे बगाहे उनकी आवाज और चाल ढ़ाल की नकल करने लगे ।

12 नवंबर 1940 को जन्मे अमजद खान को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनके पिता जयंत फिल्म इंडस्ट्री में खलनायक की भूमिका निभा चुके थे। अमजद खान ने बतौर कलाकार अपने अभिनय जीवन की शुरूआत वर्ष 1957 में प्रदर्शित फिल्म ..अब दिल्ली दूर नही ..से की । इस फिल्म में अमजद खान ने बाल कलाकार की भूमिका निभायी। वर्ष 1965 में अपनी होम प्रोडक्शन मे बनने वाली फिल्म ..पत्थर के सनम ..के जरिये अमजद खान बतौर अभिनेता अपने करियर की शुरूआत करने वाले थे लेकिन किसी कारण से फिल्म का निर्माण नही हो सका ।

सत्तर के दशक मे अमजद खान ने मुंबई से अपनी कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद बतौर अभिनेता काम करने के लिये फिल्म इंडस्ट्री का रूख किया । वर्ष 1973 में बतौर अभिनेता उन्होंने फिल्म ..हिंदुस्तान की कसम ..से अपने करियर की शुरूआत की लेकिन इस फिल्म से दर्शको के बीच वह अपनी पहचान नहीं बना सके। इसी दौरान अमजद खान को थियेटर में अभिनय करते देखकर पटकथा लेखक सलीम खान ने अमजद खान से शोले में गब्बर सिंह के किरदार को निभाने की पेशकश की जिसे अमजद खान ने स्वीकार कर लिया।  

 फिल्म ..शोले की सफलता से अमजद खान के सिने कैरियर में जबरदस्त बदलाव आया और वह खलनायकी की दुनिया के बेताज बादशाह बन गये। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नही देखा और अपने दमदार अभिनय से दर्शको की वाहवाही लूटने लगे। वर्ष 1977 मे प्रदर्शित फिल्म ..शतरंज के खिलाडी ..मे उन्हें महान निर्देशक सत्यजीत रे के साथ काम करने का मौका मिला। इस फिल्म के जरिये भी उन्होंने दर्शको का मन मोह लिया। अपने अभिनय मे आई एकरूपता को बदलने और स्वंय को चरित्र अभिनेता के रूप मे भी स्थापित करने के लिये अमजद खान ने अपनी भूमिकाओं में परिवर्तन भी किया । इसी क्रम में वर्ष 1980 मे प्रदर्शित फिरोज खान की सुपरहिट फिल्म .कुबार्नी. में अमजद खान ने हास्य अभिनय कर दर्शको का भरपूर मनोरंजन किया ।

वर्ष 1981 मे अमजद खान के अभिनय का नया रूप दर्शको के सामने आया। प्रकाश मेहरा की सुपरहिट फिल्म .लावारिस .में वह अमिताभ बच्चन के पिता की भूमिका निभाने से भी नही हिचके। हांलाकि अमजद खान ने फिल्म लावारिस से पहले अमिताभ बच्चन के साथ कई फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभायी थी पर इस फिल्म के जरिये भी अमजद खान दर्शको की वाहवाही लूटने में सफल रहे। वर्ष 1981 में प्रदर्शित फिल्म ..याराना .. में उन्होंने सुपर स्टार अमिताभ बच्चन के दोस्त की भूमिका निभायी। इस फिल्म में उन पर फिल्माया यह गाना ..बिशन चाचा कुछ गाओ ..बच्चों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ। इसी फिल्म मे अपने दमदार अभिनय के लिये अमजद खान अपने सिने करियर में दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ सह कलाकार के फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये ।

इसके पहले भी वर्ष 1979 में उन्हें फिल्म दादा के लिये सर्वश्रेष्ठ सह कलाकार के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा वर्ष 1985 में फिल्म ..मां कसम .. के लिये अमजद खान सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता के फिल्म फेयर पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये। वर्ष 1983 में अमजद खान ने फिल्म ..चोर पुलिस.. के जरिये निर्देशन के क्षेत्र में भी कदम रखा लेकिन यह फिल्म बॉक्स आॅफिस पर बुरी तरह से नकार दी गयी। इसके बाद वर्ष 1985 में भी अमजद खान ने फिल्म ..अमीर आदमी गरीब आदमी .. का निर्देशन किया लेकिन यहां पर भी उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा ।

वर्ष 1986 में एक दुर्घटना के बाद अमजद खान लगभग मौत के मुंह से बाहर निकले थे और इलाज के दौरान दवाइयों के लगातार सेवन से उनके स्वास्थ्य में लगातार गिरावट आती रही। उनका शरीर लगातार भारी होता गया । नब्बे के दशक में स्वास्थ्य खराब रहने के कारण अमजद खान ने फिल्मों मे काम करना कुछ कम कर दिया। अपने फिल्मी जीवन के आखिरी दौर में वह अपने मित्र अमिताभ बच्चन को लेकर ..लंबाई चैड़ाई .. नाम की फिल्म बनाना चाहते थे लेकिन उनका यह ख्वाब अधूरा ही रह गया। अपनी अदाकारी से लगभग तीन दशक तक दर्शको का भरपूर मनोरंजन करने वाले लोकप्रिय अभिनेता अमजद खान 27 जुलाई 1992 को इस दुनिया से रूखसत हो गये।

24-07-2019
अब तक किसी लड़की ने शादी के लिए प्रपोज नहीं किया : सलमान खान

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान का कहना है कि उन्हें अभी तक किसी लड़की ने शादी के लिये प्रपोज नहीं किया है। सलमान खान को बॉलीवुड का मोस्ट एलिजिबल बैचलर माना जाता है। सलमान करीब तीन दशक से अधिक समय से फिल्म इंडस्ट्री में हैं। सलमान का अफेयर कई अभिनेत्रियों के साथ रहा, लेकिन सलमान को आज भी इस बात का दुख है कि किसी लड़की ने भी उन्हें शादी के लिए प्रपोज नहीं किया।

सलमान से जब पूछा गया कि फिल्म, 'भारत' में कैटरीना आपको शादी के लिए प्रपोज करती दिखायी दीं। तो क्या असल जिंदगी में कभी किसी लड़की ने प्रपोज किया है? इस पर सलमान ने मुस्कुराते हुए कहा,  नहीं, अभी तक तो ऐसा कभी नहीं हुआ। ऐसा इसलिए क्योंकि मैं कैंडललाइट डिनर नहीं करता। कैंडललाइट में मैं यह नहीं देख पाता कि मैं खा क्या रहा हूं। लेकिन मुझे इस बात का बहुत दुख होता है कि अभी तक मुझे किसी ने शादी के लिए प्रपोज नहीं किया। सलमान इन दिनों फिल्म 'दबंग 3' की शूटिंग कर रहे हैं। इसके बाद वह संजय लीला भंसाली की फिल्म 'इंशाअल्लाह' के शूट में व्यस्त हो जाएंगे। इस फिल्म में उनके अपोजिट आलिया भट्ट नजर आएंगी।

19-07-2019
राइटर के किरदार से कमबैक करेंगी शिल्पा शेट्टी

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी राइटर के किरदार से कमबैक करने जा रही हैं। शिल्पा काफी समय से फिल्म इंडस्ट्री से दूर हैं। बॉलीवुड निर्देशक अजीज मिर्जा के बेटे हारून निर्देशन में अपना डेब्यू करने जा रहे हैं। कुछ दिनों पहले चर्चा हो रही थी कि दिलजीत दोसांझ ने यामी गौतम के साथ एक कॉमेडी फिल्म साइन की है। उस वक्त निमार्ता रमेश तौरानी बताया था कि फिल्म में एक और ऐक्ट्रेस अहम किरदार में दिखेगी। अब कहा जा रहा है कि इस अनाम फिल्म के लिए मेकर्स ने शिल्पा को चुना है। कहा जा रहा है कि शिल्पा इस फिल्म में राइटर का रोल अदा कर रही हैं। लंदन और ग्रीस में एक महीने की छुट्टी मनाने के बाद वह अगस्त के पहले हफ्ते में मुंबई लौट आएंगी और फिर तुरंत फिल्म की शूटिंग शुरू करेंगी। शिल्पा इसे लेकर काफी एक्साइटेड हैं।'

11-07-2019
बॉलीवुड के आन-बान और शान थे प्राण

मुंबई। बॉलीवुड में प्राण एक ऐसे खलनायक थे जिन्होंने पचास और सत्तर के दशक के बीच फिल्म इंडस्ट्री पर खलनायकी के क्षेत्र में एकछत्र राज किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया। दर्शक उस फिल्म को देखने जरूरत जाते, जिसमें प्राण होते। इस दौरान उन्होंने जितनी भी फिल्मों में अभिनय किया उसे देखकर ऐसा लगा कि उनके द्वारा अभिनीत पात्रों का किरदार केवल वह ही निभा सकते थे। तिरछे होंठों से शब्दों को चबा-चबा कर बोलना, सिगरेट के धुंओं का छल्ले बनाना और चेहरे के भाव को पल-पल बदलने में निपुण प्राण ने उस दौर में खलनायक को भी एक अहम पात्र के रूप में सिने जगत में स्थापित कर दिया। खलनायकी को एक नया आयाम देने वाले प्राण के पर्दे पर आते ही दर्शकों के अंदर एक अजीब सी सिहरन होने लगती थी।

प्राण अभिनीत भूमिकाओं की यह विशेषता रही है कि उन्होंने जितनी भी फिल्मों में अभिनय किया, उनमें हर पात्र को एक अलग अंदाज में दर्शकों के सामने पेश किया। रूपहले पर्दे पर प्राण ने जितनी भी भूमिकांए निभायी उनमें वह हर बार नये तरीके से संवाद बोलते नजर आये। खलनायक का अभिनय करते समय प्राण उस भूमिका में पूरी तरह डूब जाते थे । उनका गेटअप अलग तरीके का होता था। दुष्ट और बुरे आदमी का किरदार निभाने वाले प्राण ने अपने सशक्त अभिनय से अपनी एक ऐसी छवि बना ली थी कि लोग फिल्म में उसे देखते ही धिक्कारने लगते थे। इतना ही नही उनके नाम प्राण को बुरी नजर से देखा जाता था और शायद ही ऐसा कोई घर होगा जिसमें बच्चे का नाम प्राण रखा गया हो ।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804