GLIBS
02-05-2020
प्रवीण जैन ने भूपेश बघेल को लिखा पत्र, कहा- लंबे ब्रेक से खिलाड़ियों की फिटनेस हो रही प्रभावित, विशेष छूट की मांग

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी स्पोर्ट्स सेल के प्रदेश अध्यक्ष अधिवक्ता प्रवीण जैन ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर प्रदेश के खिलाड़ियों के प्रति चिंता व्यक्त की है। प्रवीण जैन ने कहा कि लंबे ब्रेक के कारण प्रदेश के खिलाड़ियों की फिटनेस प्रभावित हो रही है। लॉक डाउन के कारण खिलाड़ियों को अभ्यास का अवसर नहीं मिल रहा है। ऐसे में खिलाड़ी योग और घरेलू व्यायाम से अपने को फिट बनाए रखने का प्रयास कर रहे हैं, किन्तु क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, बैडमिंटन, टेनिस, एथलेटिक्स इत्यादि दौड़-भाग वाले खेलों के साथ बॉडीबिल्डर-वेटलिफ्टर जैसे खेलों के लिये ये पर्याप्त नहीं है। कोविड-19 महामारी के कारण अभी दुनिया भर में सभी खेल गतिविधियां बंद हैं, इस कारण शीर्ष खिलाड़ियों को घर पर ही रहना पड़ रहा है, ऐसे में वे अपने को फिट रखने के कई प्रयास कर रहे हैं जो पर्याप्त नहीं है, अगर लॉकडाउन 17 मई को खत्म हो भी जाता है तब भी सामाजिक जीवन के सामान्य होने में काफी समय लगेगा। ऐसे में खिलाड़ियों को फिट रहना बहुत बड़ी चुनौती साबित हो रही है। प्रवीण जैन ने कहा कि खिलाड़ियों को किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी गई है, जिससे फिटनेस बड़ी समस्या बन गई है। कई टूनार्मेंट रद्द होने से खिलाड़ियों को आर्थिक रूप से भी बहुत बड़ा नुकसान हुआ है, रोजी रोटी के भी लाले पड़ गए हैं और इतने बड़े अन्तराल के बाद दुबारा अपने आपको पहले जैसा लाने में काफी वक्त और पैसा खर्च करना होगा, जिसकी कमी से कई खिलाड़ियों का भविष्य दाँव पर लग गया है। प्रवीण जैन ने भूपेश बघेल सरकार से मांग की है कि प्रदेश के प्रतिभाशाली बड़े राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को विशेष छूट दी जानी चाहिए और इनके लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा कर इन्हें मदद पहुंचाना न्यायोचित होगा।

27-03-2020
कोरोना से लड़ने के लिए सचिन तेंदुलकर ने दान किए 50 लाख रुपए,जानें किस-किस खिलाड़ियों ने दी अपनी भागीदारी

नई दिल्ली। दुनिया भर में कोरोना वायरस थमने का नाम नहीं ले रहा है। देश में कोरोना वायरस से 600 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। इस संकट की घड़ी में कई बड़े सितारों ने इस महामारी से लड़ने के लिए दान किया है। भारतीय टीम के महान बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे भारत के साथ खड़े हो गए हैं। सचिन तेंदुलकर ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए 50 लाख रुपए दान दिए हैं। भारत के प्रमुख खिलाड़ियों में से यह अब तक सबसे बड़ी दान राशि है। कइयों ने अपनी तनख्वाह देने का एलान किया है जबकि कइयों ने चिकित्सा उपकरण दिए हैं।
बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने 50 लाख रुपए के चावल गरीबों में बांटने का एलान किया था। मिली जानकारी के अनुसार सचिन तेंदुलकर ने 25 लाख प्रधानमंत्री राहत कोष और 25 लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला किया है। वह दोनों में अपना योगदान देना चाहते थे।
शटलर पीवी सिंधु ने भी गुरुवार को 10 लाख रुपए की मदद की। इस ओलंपिक मेडलिस्ट ने तेलंगाना और आंध्रप्रदेश सरकार को पांच-पांच लाख रुपए दान में दिए हैं। युसूफ और इरफान पठान ने बड़ौदा पुलिस और स्वास्थ्य विभाग को 4000 फेसमास्क दिए हैं, जबकि महेंद्र सिंह धोनी ने पुणे में एक चैरिटी के जरिए एक लाख रुपए दिए हैं। पहलवान बजरंग पूनिया और फर्राटा धाविका हिमा दास ने अपना वेतन देने का एलान किया है।

08-02-2020
खिलाड़ियों को समय पर मिलेगी आर्थिक मदद : उमेश पटेल

रायपुर। मिलिए मंत्री से कार्यक्रम में आज शनिवार को उच्च शिक्षा,खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल राजीव भवन पहुंचे। उन्होंने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं,पदाधिकारियों और जनसामान्य से मुलाकात कर अपने विभाग से संबंधित समस्याओं,शिकायत और सुझाव पर आवश्यक कार्यवाही की। मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि राज्य में खेल को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम उठाया गया है। खेल विकास प्राधिकरण का गठन किया गया है। पहली बैठक हो चुकी है और निर्णय लिया गया है कि एकेडमी बनाई जाएगी। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में पीपीपी मॉडल में भी एक प्रस्ताव तैयार कर सरकार के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। इस पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसे आगे बढ़ाने के लिए थोड़े समय की आवश्यकता है। बहुत जल्द ही खेल में भी अच्छी एक्टिविटी देखने को मिलेगी।
उन्होंने कहा कि हमारा फोकस खिलाड़ियों को सुविधा देने के पर है। छत्तीसगढ़ इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में काफी अच्छी पोजीशन पर है। अब हमें खिलाड़ियों की सुविधाओं पर ध्यान रखना है। उन्हें अच्छा प्लेटफार्म मिल सके,जिससे खिलाड़ी नेशनल और इंटरनेशनल स्तर पर अच्छा प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने कहा कि आने वाले बजट में विभाग के लिए प्रस्ताव रखा गया है कि एक योजना बने। योजना से खिलाड़ियों को आर्थिक मदद दी जाएगी और समय पर दी जा जाएगी। अभी जो प्रावधान है, उसमें काफी समय लगता है। इसमें सुधार करने के लिए योजना बनाई जा रही है।

 

16-01-2020
खेलो इंडिया में छत्तीसगढ़ को चार पदक, मुख्यमंत्री और खेल मंत्री ने दी बधाई  

रायपुर। असम में आयोजित खेलो इंडिया प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने अपने बेहतर खेल प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुये चार पदक अपने नाम करने में कामयाब रहे हैं। खिलाड़ियों के इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और खेल मंत्री उमेश पटेल ने बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।  खेलो इंडिया प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ से 13 खेलों में 102 खिलाड़ियों के दल ने भाग लिया है। 17 व 21 वर्ष आयु वर्ग के बालिका कबड्डी खेल प्रतियोगिता में कांस्य पदक प्राप्त हुआ है, वहीं जूडो में अनमोल को 80 किलो ग्राम वजन वर्ग में कांस्य पदक व भारोत्तोलन में ज्ञानेश्वरी यादव को 45 किलोग्राम वजन वर्ग में रजत पदक प्राप्त हुआ है। ज्ञानेश्वरी ने 61 किलो स्नेच व 76 किलो जर्क कुल 137 किलोग्राम वजन उठाकर राज्य के लिए ये उपलब्धि अर्जित की। खेलो इंडिया के पदक विजेता को मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप व्यक्तिगत खेलो में रजत पदक विजेता को 1.75 लाख रुपए, कास्य पदक विजेता को 1.50 लाख रुपए एवं दलीय खेल कबड्डी के प्रत्येक सदस्य को 50-50 हजार रूपए का नगद पुरस्कार, खेल दिवस पर आयोजित सम्मान समारोह में दिया जाएगा

13-01-2020
राजधानी की महिला टीम ने खोखो-कब्बडी में बाजी मारी

रायपुर। युवा महोत्सव में महिला वर्ग में खोखो और कबड्डी का शानदार मैच हुआ। राजधानी रायपुर की महिला टीम ने खोखो और कब्बडी दोनों प्रतियोगिता में बाजी मारी। जीत के बाद महिला टीम ने कहा कि टीम में सभी 40 वर्ष से अधिक की महिलाओं ने हिस्सा लिया। लेकिन उत्साह पर उम्र भारी नहीं पड़ी। वही टीम की अन्य खिलाड़ियों का कहना था कि आज भी बहुत से लोग यही समझते हैं कि महिलाएं रसोई के बाहर कुछ नहीं कर सकती, लेकिन जो ये सोचते हैं वे गलत हैं। महिलाओं के लिए आयोजन में इतनी अच्छी व्यवस्था सरकार की ओर से की गई, जिससे ज्यादा उत्साह मिला। कब्बडी में राजधानी की महिला टीम ने कबीरधाम को 2-1 से हराया था वहीं खोखो में कांकेर पर जीत दर्ज की है।

31-12-2019
खेल की बेहतर अधोसंरचना उपलब्ध कराने सरकार संकल्पित : भूपेश बघेल

रायपुर। फ्लड लाइट स्टेडियम में बड़ी संख्या में मौजूद युवाओं और खिलाड़ियों को देखकर मुझे बहुत खुशी हो रही है। क्रिकेट में रूचि रखने वाले युवाओं को सर्व सुविधायुक्त स्टेडियम मिल जाए तो इससे बेहतर क्या होगा। यह बात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भिलाई के वार्ड नंबर 26 हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में फ्लड लाइट स्टेडियम के लोकार्पण अवसर पर कही। उन्होंने इस अवसर पर हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में साढ़े सात करोड़ रूपए के विकास कार्यों की स्वीकृति भी दी। यह स्टेडियम 1.37 करोड़ की लागत से बनाया गया है। इस स्टेडियम में 10 हजार लोग बैठकर खेलों का आनंद ले सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं, खेल प्रतिभा को बढ़ाने सभी तरह के संसाधन उपलब्ध कराएंगे। महापौर निधि से निर्मित यह स्टेडियम यहां के नागरिकों के लिए काफी उपयोगी होगा। उन्होंने कहा कि अच्छा कोच, अच्छी डाइट तथा अधोसंरचना की सुविधा मिल जाए तो खिलाड़ी आश्वस्त हो जाते हैं। इन जरूरतों को पूरा करने प्राधिकरण का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि स्टेडियम वासुदेव चंद्राकर के नाम पर होगा। उन्होंने इस सुंदर स्टेडियम के निर्माण के लिए महापौर देवेंद्र यादव और नगर निगम टीम को बधाई दी। खेलों की अधोसंरचना बढ़ाने के लिए उनकी रुचि और समर्पण प्रशंसनीय है।
इस मौके पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि अब क्रिकेट खिलाड़ी स्टेडियम में अभ्यास कर अपनी प्रतिभा निखार सकेंगे। खेल प्रेमियों के लिए भी यह बड़ी सौगात है।  इस मौके पर महापौर एवं विधायक भिलाई देवेंद्र यादव ने कहा कि इस ग्राउंड से राजेश चौहान जैसे क्रिकेटर निकले हैं यह हमारे लिए गौरव की बात है। इस मौके पर दुर्ग विधायक अरुण वोरा, पूर्व विधायक प्रदीप चौबे, बदरुद्दीन कुरैशी, भजन सिंह निरंकारी, प्रतिमा चंद्राकर, पूर्व महापौर आरएन वर्मा, नीता लोधी, पूर्व क्रिकेटर राजेश चौहान एवं अन्य अतिथि उपस्थित थे।

19-11-2019
खिलाडिय़ों को लूटने वाले हुए गिरफ्तार, पुलिस शाम को करेगी बड़ा खुलासा

रायपुर। विशाखापट्टनम कोरबा लिंक एक्सप्रेस से वापस आ रहे खिलाडिय़ों को पिस्टल और चाकू दिखाकर सिग्नल का इंतजार कर रहे आरोपियों को खमतराई ब्रिज के पास पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ज्ञातव्य हो कि खिलाडिय़ों से हथियार के दम पर मोबाइल, घड़ी, पैसे आदि की लूट की गई थी। उक्त वारदात के संबंध में शाम को रेलवे पुलिस के अधिकारियों द्वारा बड़ा खुलासा किया जाएगा।

18-11-2019
एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों को मिलेगा सातवां वेतनमान 

रायपुर। आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रालय महानदी भवन में आयोजित राज्य स्तरीय आदिम जाति कल्याण, आवासीय एवं आश्रम शैक्षणिक संस्थान समिति ’संचालक मंडल’ की बैठक में राज्य में संचालित एकलव्य आदर्श विद्यालयों में कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों को सातवां वेतनमान प्रदान करने का अनुमोदन किया गया। सातवां वेतनमान प्रदान करने के अनुमोदन से यहां कार्यरत अधिकारियों-कर्मचारियों की लंबित मांग पूरी होगी। सातवें वेतन का लाभ वर्तमान में कार्यरत 209 कर्मचारियों को मिलेगा। संचालक मंडल की बैठक में निर्णय लिया गया कि एकलव्य विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं में इंजिनियरिंग, मेेडिकल और अन्य की तैयारियों के लिए कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा के बाद विशेष कोचिंग (क्रेस कोर्स) प्रदान किया जाएगा। 

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के संचालन के लिए केन्द्र सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा सोसायटी का गठन किया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य को भी राष्ट्रीय समिति से जोड़ने के लिए अनुबंध (एमओयू) का अनुमोदन किया गया। इसके माध्यम से प्रदेश में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय संचालन करने वाली संस्थाएं भी राष्ट्रीय शिक्षा समिति से संलग्न हो जाएगी। बैठक में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में आयोजित होने वाला राज्य स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन आगामी दिसम्बर माह में तीन दिवस 2 से 4 दिसम्बर तक राजधानी रायपुर में आयोजित करने का निर्णय लिया गया। विभागीय मंत्री डॉ.प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भोपाल में 9 से 14 दिसम्बर तक आयोजित होने वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होने राज्य के खिलाड़ियों का चयन कर लिया जाए। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के बाद चयनित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को विशेष प्रशिक्षण भी दिया जाए। बैठक में वित्तीय वर्ष 2019-20 में एक अप्रैल 2019 से 30 सितम्बर 2019 तक में प्राप्त राशि के आय-व्यय का अनुमोदन किया गया। डॉ.टेकाम ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि संचालक मंडल की त्रैमासिक बैठक नियमित रूप से आयोजित की जाए। बैठक में आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के सचिव डीडी़ सिंह, संचालक मुकेश बंसल सहित संचालक मंडल में शामिल संबंधित विभागों और संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

11-11-2019
अनिला भेंड़िया ने किया राज्य स्तरीय सब जूनियर  बालक-बालिका कबड्डी खेल का शुभारंभ

रायपुर। महिला एवं बाल विकास समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंड़िया दल्लीराजहरा में राज्यस्तरीय जूनियर, सब जूनियर बालक बालिका कबड्डी खेल उदघाटन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुईं। उन्होंने ध्वजारोहण कर व रिबन काटकर कब्बड्डी खेल का शुभारंभ किया। वह खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों से मिलीं और टॉस कर मैच प्रारंभ किया। कार्यक्रम के विशेष अतिथि रविन्द्र भेंड़िया थे। इस अवसर पर बड़ी संख्या में खिलाड़ी, खेल प्रेमी सहित गणमान्य नागरिक अतिथि उपस्थित थे।

04-11-2019
खेल प्रतिभाओं को मिला राज्योत्सव में सम्मान
   

रायपुर। प्रदेश में खेल प्रतिभाओं की बहुतायत है। प्रतिभावान खिलाड़ियों को मौका मिलने से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन करते हैं। खिलाड़ियों को प्रोत्साहन के रूप में ईनाम या पुरस्कार मिले तो खिलाड़ी और बेहतर प्रदर्शन करने को प्रेरित होते हैं। राज्य सरकार द्वारा राज्योत्सव 2019 में प्रदेश के प्रतिभावान खिलाड़ी दिपेश कुमार सिन्हा को गुण्डाधूर खेल रत्न और गिरिवर सिंह को महाराजा प्रवीणचन्द भंजदेव पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस प्रकार के सम्मान से अन्य खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिलता है। छत्तीसगढ़ पुलिस में कार्यरत दिपेश कुमार सिन्हा प्रतिभावान वॉलीवाल खिलाड़ी है। वे वर्ष 2010 से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी खेल की प्रतिभा दिखा रहे हैं। वर्ष 2012 में ईरान में आयोजित स्पर्धा में सर्वश्रेष्ठ एशियन वॉलीवाल खिलाड़ी का खिताब भी प्राप्त किया था।

 तीरंदाजी खेल के लिए राज्यस्तरीय पुरस्कार महाराजा प्रवीरचंद भंजदेव सम्मान इस वर्ष बिलासपुर जिले के शिवतराई निवासी गिरिवर सिंह को दिया गया। राज्य के पैरा तीरंदाजी खेल के खिलाड़ी गिरिवर ने रोहतक हरियाणा में आयोजित राष्ट्रीय पैरा तीरंदाजी प्रतियोगिता में इंडियन राउण्ड ओपन कैटेगरी में प्रथम स्थान किया था। अब तक गिरिवर तीन नेशनल और तीन स्टेट लेवल टूर्नामेंट में पदक जीत चुके हैैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804