GLIBS
15-01-2021
ऑलटाइम रेडी एवरीवंस फेवरेट राजमा राइस क्रोकेट्स, सुबह या शाम सर्व कीजिए और वाहवाही लूटिए

रायपुर। सुबह हो या शाम को राजमा राइस क्रोकेट्स नाश्ता बनाए। ये स्वादिष्ट होते हैं और बनाने में आसान होते हैं। बड़ों से लेकर बच्चों को भी पसंद आएगा। 

सामग्री
1 कप उबला चावल
1/2 कप राजमा उबला हुआ
1 आलू उबला हुआ
जरूरत के अनुसार चीज
1 प्याज बारीक कटा
1 हरी मिर्च बारीक कटी
1 चम्मच हरा धनिया बारीक कटा
1/4 चम्मच अदरक लहसुन पेस्ट
1/2 चम्मच चिली फ्लेक्स
1/2 चम्मच जीरा पाउडर
1/2 चम्मच धनिया पाउडर
1/2 छोटी चम्मच चाट मसाला
स्वादानुसार नमक
3-4 चम्मच कॉर्न फ्लोर
आवश्यकता अनुसार ब्रेड क्रम्स
आवश्यकता अनुसार तेल तलने के लिए

विधि :
-राजमा, चावल और आलू को अच्छे से मेश कर लें। प्याज, हरी मिर्च और धनियां डालें। अब सारे मसाले ओर चीज डाल कर मिला लें। इस मिश्रण की छोटी छोटी बॉल बना कर अलग रखें।
-एक कटोरी मे कॉर्न फ्लार मे पानी डाल कर घोल बना लें। एक प्लेट में ब्रेड क्रम्स लें। अब तैयार बॉल को कॉर्न फ्लार के घोल में डाले फिर ब्रेड क्रम्स लगा कर डीप फ्राय करें।
-राजमा राइस क्रोकेट्स तैयार है।

19-12-2020
सुबह की कड़कती ठंड में दौड़े महापौर और पुलिस अफसर, देवेन्द यादव ने कहा-स्वस्थ तन और मन के लिए दौड़ जरूरी

भिलाई। भिलाई नगर विधायक व महापौर देवेंद्र यादव शनिवार की सुबह करीब 6 बजे टाउनशिप में दौड़ लगाने पहुंचे । उनके साथ शहर के एडिशनल एसपी रोहित झा के साथ यातायात डीएसपी गुरजीत सिंह और दुर्ग सीएसपी भी मौजूद रहे। सभी ने मिलकर टाउनशिप की सड़कों पर करीब 10 किमी की दौड़ लगाई। व्यायाम किए और जम कर पसीना बहाया। और शहर के आम नागरिकों और युवाओं को रोज सुबह उठ कर दौड़ने और व्ययाम करने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान महापौर श्री यादव ने कहा  कि स्वस्थ मन और स्वस्थ तन के लिए रोज व्ययाम करना बहुत जरूरी है। सभी व्ययाम में दौड़ एक ऐसा व्यायाम है, जिससे शरीर के सभी अंग का एक्सरसाइज हो जताया।  दौड़ के कई फायदे है। महापौर ने बताया कि दौड़ते समय शरीर में एंड्रोफिन जैसे रसायन उत्पन्न होते हैं,जिनसे खुशी का अहसास होता है और हम खुद के बारे में अच्छा महसूस करते हैं। तनाव में कमी आती है। दौड़ने समय धमनियां फैलती व संकुचित होती हैं। इससे धमनियों का व्यायाम होता है, साथ ही रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

मजबूत प्रतिरोधक क्षमता
यदि आप नियमित दौड़ते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और आप छोटे मोटे रोगों की गिरफ्त में आसानी से नहीं आते। हर रोज एक घंटा दौड़ने पर 705 से 865 कैलोरी बर्न होती है। शरीर से चर्बी भी कम होती है।दौड़ने से शरीर का निचला हिस्सा मजबूत होता है। लिगामेंट्स और स्नायुतंत्र में मजबूती आती है।

हड्डियों का घनत्व बढ़ता है।
दबाव के दौरान हमारा शरीर हड्डियों तक कुछ अतिरिक्त खनिजों की आपूर्ति करता है, जिनसे हड्डियां मजबूत होती हैं। दौड़ते समय भी यह प्रक्रिया लागू होती है, जिससे समय के साथ हड्डियों का घनत्व बढ़ता है। इस लिए सभी को दौड़ना चाहिए जो किसी कारण से दौड़ नहीं सकते वे सुबह थोड़ी देर पैदल चले। इससे स्वास्थ्य ठीक रहेगा और स्वास्थ्य ठीक रहेगा तो कई लाभ होंगे।  इस दौरान एडिशनल एसपी रोहित झा ने भी लोगों को प्रेरित करते हुए व्यायाम के लाभ गिनाए और बताया कि वे खुद रोज सुबह दौड़ लगते है और अपनी पूरी पुलिस टीम को रोज दौड़ने के लिए प्रेरित करते है।

 

08-12-2020
जिले में बंद को नहीं मिला पूरा समर्थन, कुछ दुकाने बंद, कुछ दुकाने रही खुली

महासमुन्द। जिले में बंद का कुछ खास असर नहीं दिखा। कांग्रेसी विधायक विनोद चन्द्राकर के साथ पूरे शहर को बंद कराने ट्रैक्टर में निकले थे। कुछ व्यापारियों का कहना है कि किसान के समर्थन में है, लेकीन व्यापार बंद के समर्थन नहीं करते। वही शहर के सब्जी मंडी वाले व्यवसायियों का बंद को समर्थन नहीं दिया है। बता दें कि मंगलवार सुबह से शहर बंद कराने कांग्रेसी मोटर साइकिल और ट्रैक्टर में निकले थे। कुछ व्यापारी सुबह से दुकान बंद कर रखे। वही कुछ व्यापारी अपने नियत समय में दुकाने खोल लिए थे। सब्जी मंडी सुबह से ही रोज की तरह खुल गई थी। स्थानीय कांग्रेस भवन में सभी कांग्रेसी उपस्थित हो कर नारे लगाते हुए शहर बंद करने निकले थे। वही किसान समर्थक संगठन भी शहर के अलावा आसपास के गांव में घूम घूम कर दुकाने बंद कराने सुबह से घूमते रहे, लेकिन कुछ स्थानों पर उन्हें समर्थन नहीं मिला।

23-11-2020
चीज गार्लिक ब्रेड टोस्ट टेस्टी नाश्ता बनाने में आसान, सुबह हो या शाम या बच्चों का टिफिन हर किसी के लिए परफेक्ट


रायपुर। सुबह या शाम को चाय के साथ चीज गार्लिक ब्रेड टोस्ट एक बहुत ही अच्छा चयन है। ये आसान नाश्ता जो की झटपट बनकर तैयार हो जाता है। इसे आप सुबह के नाश्ते के लिए, बच्चों के टिफिन के लिए या शाम की चाय या नाश्ते के लिए भी बनाकर तैयार कर सकते हैं।

सामग्री -
4 स्लाइस सफेद ब्रेड
4 बड़े चम्मच नरम मक्खन
1/2 कप मोजेजारेला चीज
10-12 लहसुन की कालिया छिली हुए
2 बड़े चम्मच धनिया पत्ती कटी हुई
1 बड़ा चम्मच चिली फ्लेक्स

विधि-
सभी आवश्यक सामग्री ले लीजिए।
एक कटोरे में मक्खन को डालिए।
फिर लहसुन की कलियो को कद्दूकस करे।
इस मिश्रण को मिलाए ताकि मक्खन और लहसुन अच्छी तरह से मिल जाए।
ब्रेड का स्लाइस लें और एक तरफ 1 बड़ा चम्मच लहसुन वाला मक्खन को फैला दीजिए।
अब ब्रेड के उपर अपने इच्छानुसार चीज को कद्दूकस करें।
फिर चीज पर कुछ धनिया के पत्ते और चिली फ्लेक्स छिड़के।
एक पैन गरम करे और उसमे 1/4 छोटा चम्मच मक्खन डालें।
तैयार ब्रेड को पेन में रखें।
पेन को ढक दे और 3 मिनट के लिए ब्रेड को धीमी आच ब्राउन होने तक सिकने दे या जब तक कि चीज पूरी तरह से पिघल नहीं जाता।
चीज पिघल चुका है और कुरकुरी, चीज लहसुन ब्रेड टोस्ट सर्व करने के लिए तैयार है।

19-11-2020
नाश्ता सुबह का हो या शाम का उसे टेस्टी और हेल्दी बना देता है हर किसी की पसन्द पनीर पकोड़ा

रायपुर। सुबह का नाश्ता शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है। सुबह हो या शाम का नाश्ता पनीर के पकोड़े हैं सपके पसंद। पनीर के व्‍यजनों में पनीर के पकोड़े बेहद मशहूर हैं। ये टेस्‍टी तो होते ही हैं साथ ही बनाने में भी आसान हैं। इसे कभी भी ट्राई कर सकते हैं। पनीर पकोड़ा एक सरल और आसान स्नैक है

सामग्री :
500 ग्राम पनीर (बड़े-बड़े टुकड़ों में कटा हुआ)
आधा कप बेसन
1 टेबलस्पून अदरक-लहसुन का पेस्ट
1-1 टीस्पून हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, चाट मसाला व अमचूर पाउडर
आधा कप कॉर्नफ्लोर
तलने के लिए तेल
नमक स्वादानुसार
आवश्यकतानुसार पानी

विधि :
पनीर और चाट मसाला छोड़कर बाकी सारी सामग्री को मिलाकर गाढ़ा घोल बना लें। 
पनीर के टुकड़े बेसन के घोल में डुबोकर गरम तेल में डीप फ्राई कर लें। 
चाट मसाला छिड़ककर गरम-गरम सर्व करें।

29-10-2020
शरीर को एक्टिव और हेल्दी बनाए रखना है तो सुबह उठते ही भरपूर पानी पीजिए, शरीर की गंदगी और खून साफ होता है

रायपुर। सुबह उठकर खाली पेट पानी पीने से सबसे ज्‍यादा फायदा होता है। शरीर को एक्टिव और हेल्‍दी बनाए रखने के लिए दिन भर पानी पीना चाहिए लेकिन सुबह उठकर खाली पेट पानी पीने से सबसे ज्‍यादा फायदा होता है। खाली पेट पानी पीने से शरीर की सारी गंदगी साफ हो जाती है और खून साफ होता है। 

 सुबह उठकर पानी पीने के फायदे :
-सुबह उठकर पानी पीने से शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ निकल जाते हैं, जिससे खून साफ हो जाता है। खून साफ हो जाने से त्वचा पर भी चमक आती है। 

-सुबह उठकर पानी पीने से नई कोशिकाओं का निर्माण होता है। इसके अलावा मांसपेशियां भी मजबूत होती है। 

-सुबह उठकर पानी पीने से मेटाबॉलिज्म सक्रिय हो जाता है। अगर आप वजन घटाना चाह रहे हैं तो जितना जल्दी हो सके सुबह उठकर खाली पेट पानी पीना शुरू कर दीजिए। 

-जो लोग सुबह उठकर खाली पेट पानी पीते हैं उन्हें कब्ज की शिकायत नहीं होती। सुबह पेट साफ होने की वजह से ऐसे लोग जो कुछ भी खाते हैं। उसका उनके शरीर को पूरा फायदा मिलता है। कब्ज की वजह से होने वाले अन्य रोग भी नहीं होते। 

-सुबह उठकर पानी पीने से गले, मासिक धर्म, आंखों, पेशाब और किडनी संबंधी कई समस्याएं शरीर से दूर रहती है।

28-08-2020
याददाश्त तेज करने के लिए सुबह करें मेडिटेशन : ब्रह्माकुमारी गंगा दीदी

रायपुर। राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी गंगा दीदी ने कहा कि याददाश्त को बढ़ाने के लिए मेडिटेशन सीखें। सुबह उठकर परमात्मा के साथ मन के तार जोड़कर एकाग्रता को बढ़ाना होगा। किसी चीज को याद करने के लिए बुद्धि में उसका चित्र बनाएं। मन और बुद्धि के एक साथ मिलकर काम करने से एकाग्रता आती है। ब्रह्माकुमारी गंगा दीदी आज प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के रायपुर सेवाकेन्द्र द्वारा सोशल मीडिया यू-ट्यूब पर प्रतिदिन शाम को साढ़े 5 से 6 बजे तक प्रसारित होने वाले आनलाईन वेबसीरिज एक नई सोच की ओर में अपने विचार व्यक्त कर रही थीं। विषय था- स्मरण शक्ति का विकास। इस वेबसीरिज का प्रसारण शान्ति सरोवर रायपुर के चैनल पर किया जाता है। उन्होंने आगे कहा कि सारे दिन की दिनचर्या में अनेक छोटी-छोटी बातों को हम भूल जाते हैं।

जो हमको याद रहनी चाहिए वह भी भूल जाते हैं। भूलने का प्रमुख कारण है एकाग्रता की कमी और तनाव। एक बच्चा सारे दिन में तीन सौ से अधिक बार मुस्कुराता है। लेकिन जैसे जैसे उसकी उम्र बढ़ती जाती है। वह मुस्कुराना भूलने लगता है। उसकी खुशी गुम हो जाती है और उसकी याददाश्त भी कम होने लगती है। ब्रह्माकुमारी गंगा दीदी ने कहा कि कार्य व्यवहार में तनाव होने से खुशी कम हो जाती है। प्राय: देखा गया है कि घर में माता-पिता में सबसे ज्यादा तनाव बच्चों की परीक्षा के समय मार्च और अप्रैल माह के दौरान होता है। तनाव का हमारी याददाश्त पर बुरा असर पड़ता है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हम व्यायाम करते हैं। खान-पान का ध्यान रखते हैं किन्तु मन को स्वस्थ रखने के लिए हम कुछ नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि जैसे मोबाईल अथवा कम्प्यूटर में डाटा स्टोर करते जाते हैं। किन्तु धीरे-धीरे जब हार्डडिस्क भर जाता है तो कम्प्यूटर धीमा चलने लगता है। तब हमें डाटा को डिलीट करना पड़ता है।

उसी तरह बचपन से ही हम बहुत सारी सूचनाएं दिमाग में भरते जाते हैं। किन्तु हमें उसे डिलीट करना नहीं आता है। हमें अपनी याददाश्त को बढ़ाने के लिए दिमाग से नकारात्मक बातों और विचारों को डिलीट करना सीखना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कोई भी घटना को हम देखते सुनते या पढ़ते हैं वह मन और बुद्धि में सुरक्षित स्टोर हो जाता है। मन किसी भी चीज को सोचने का कार्य करता है। बुद्धि उसका चित्र बनाता है। मन और बुद्धि जब मिलकर काम करते हैं तो उसको एकाग्रता कहते हैं। यह एकाग्रता किसी भी कार्य में सफलता का आधार है। जब हम मन और बुद्धि को एक ही काम पर केन्द्रित करते हैं तो वह एकाग्रता कहलाता है। किसी चीज को याद रखने के लिए बुद्धि में उसका चित्र बनाएं। चित्र संगीत और रंग इन तीनों की सहायता से याद रखना सहज हो जाता है।

14-08-2020
रमन ने पूछा : प्रदेश सरकार बताए, सुबह धान बेचे बिना किसानों को पैसा देने की घोषणा से शाम तक वह क्यों पलट गई?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने किसानों को बिना धान बेचने 10 हजार रुपए देने की सरकार द्वारा सुबह की गई घोषणा को शाम को पलट देने पर प्रदेश सरकार की मंशा पर सवाल उठाया है। डॉ.सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के साध छल-कपट की राजनीति कर लगातार अन्याय करने पर उतारू है। प्रदेश सरकार बताए कि आखिर सुबह किसानों को पैसा देने की घोषणा को शाम तक क्यों बदलना पड़ा? ऐसा करके सरकार किसानों के साथ एक बार फिर वादाखिलाफी की भूमिका तैयार कर रही है।
रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार की नेतृत्वहीनता की इससे बड़ी मिसाल और क्या होगी कि प्रदेश सरकार के मंत्री सुबह जो घोषणा करते हैं, शाम को उससे मुकरने के लिए विवश हो जाते हैं। दरअसल कांग्रेस और प्रदेश सरकार में चल रहे गुटीय सत्ता संघर्ष के चलते प्रदेश सरकार दुविधाओं से घिरी हुई है और उसे यह सूझ ही नहीं रहा है कि वह सरकार चलाए कैसे? सुबह बिना धान बेचे किसानों को 10 हजार रुपए देने की घोषणा और शाम को उससे पलटना कांग्रेस के इसी अंतर्विरोध का परिणाम है। डॉ.सिंह ने कहा कि राजनीतिक व प्रशासनिक सूझबूझ और समझ के अभाव में चल रही यह सरकार प्रदेश का कोई भला कर ही नहीं सकती। जो सरकार किसानों का पैसा किश्तों में देने के लिए भी कर्ज पे कर्ज लेकर प्रदेश के अर्थतंत्र को ध्वस्त करने पर आमादा है, वह सरकार बस जुबानी जमाखर्च करके झूठी वाहवाही बटोरने की फिराक में ही लगी हुई है।

 

30-07-2020
सुबह से बाजारों में भारी भीड़, साढ़े 11 बजे तक खुले रहें कुछ दुकान...

रायपुर। लॉक डाउन के बीच जिला प्रशासन द्वारा दो दिन सुबह 6 बजे से 10 बजे तक त्यौहारों के लिए किराना सामनों की खरीददारी के लिए ढ़ील ​दी गई थी। लेकिन उपभोक्ताओं की संख्या में वृद्धि को देखते हुए कुछ दुकानदार साढ़े 11 बजे तक दुकान खोलकर सामान देते रहे। बता दें कि सुबह से ही लोगों की भीड़ बाजारों में देखने को मिली वहीं दुकानदार भी खरीददारी के ​दौरान लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क पहनकर आने की अपील करते नजर आएं। ​लेकिन कुछ दुकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क के बगेर ही लोगों को सामान देते नजर आए। सूत्रों की माने तो इस दौरान कुछ लोगों के बीच कहा सुनी की नौबत भी आ गई। सामान 10 बजे से पहले घर लेकर जाने को लेकर उपभोक्ता आपस में लड़ते दिखाई दिए। वहीं कई गली-मोहल्लों में दुकानों में कालाबाजारी भी देखने को मिली।

तेल, आटा, चांवल, पोहा, मूंगफल्ली, सूजी या अन्य सामान की बात करे तो सभी 10 से 15 रुपए बढ़ाकर दुकानदार बेचते रहे हैं। ग्राहकों के विरोध करने पर स्पष्ट कह रहे हैं कि जहां शिकायत करना है कर दीजिए। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शहर के पचपेड़ी नाका, टिकरापारा, मोती नगर, मठपुरैना, पुरानी बस्ती, लाखेनगर, खमतराई, फाफाडीह, भनपुरी, श्रीनगर, गुढ़ियारी, शिवानंद नगर और गंगा नगर सहित अन्य कई इलाकों में खुलेआम सामनों की कालाबाजारी की जा रही है। वहीं गुटखा और गुड़ाखु की खुलेआम बिक्री जारी है।

17-06-2020
दहशत में ग्रामीण, पागल कुत्ते ने 6 को दौड़ा-दौड़ा कर काटा

रायपुर/जगदलपुर। जिले के बकावंड ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम पंचायत छिंदगांव के ग्रामीण इन दिनों पागल कुत्ते से ज्यादा दहशत हैं। आज सुबह कुत्ते ने गांव के 6 लोगों बुजुर्ग, बच्चे, महिला को दौड़ा-दौड़ा कर काटने की जानकारी पीड़ितों ने बताया है। क्षेत्र के पूर्व जनपद सदस्य घनश्याम नाग ने बताया कि पागल कुत्ते ने छिंदगांव के मानसाय 50, बैशाखू 38, मुक्ता 44, विष्णु 48, राजू 4 तथा कमलोचन 2 समेत दो बैल को भी पागल कुत्ते ने अपना शिकार बनाया है। पागल कुत्ते के शिकार लोग आर्थिक रूप से गरीब होने तथा अंधविश्वास के कारण ये सभी अस्पताल न जाकर देशी जड़ी बूटियों से उपचार करा रहे हैं। जिन्हे अस्पताल तक पंहुचाने की आवश्यकता है। बीएमओ डॉ. भंवर ने इस सूचना के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि वे तत्काल छिंदगांव मेडिकल टीम भेज रहे हैं, ब्लॉक में एंटी रैबीज डोज प्रयाप्त मात्रा में उपलब्ध है। घायलों को चिन्हांकित कर इन्हे एंटी रैबीज डोज उपलब्ध कराया जायेगा।

30-05-2020
नौतपा की तपन से लोगों को मिली राहत, तापमान का ग्राफ 45 से गिरकर पहुंचा 34 डिग्री

रायपुर। प्रदेश में मध्यरात्रि राजधानी समेत कई जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश हुई। सुबह तक हुई रिमझिम बारिश के कारण मौसम तरबतर हो गया। वहीं आज नौतपा की तपन भी तपन से भी राहत मिली है। 45 डिग्री की झुलसाने वाली तपन की जगह सीधे 34 डि​ग्री पहुंच गई है। मौसम वै​ज्ञानिक से मिली जानकारी के अनुसार एक द्रोणिका पंजाब से उत्तर छत्तीसगढ़ और दूसरी द्रोणिका विदर्भ से तमिलनाडु के मध्य बनी हुई है। इसके कारण गरज-चमक के साथ बारिश हो रही है। अगले 24 घंटे में कुछ स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने और गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी होने की संभावना है।

11-05-2020
अजीत जोगी की स्थिति  सुबह जैसी ही, मेडिकल बुलेटिन जारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी की स्थिति 11 मई को सुबह 10:30 बजे जारी की गई मेडिकल बुलेटिन के अनुसार ही अभी भी बनी हुई है। डॉ.सुनील खेमका,मैनेजिंग डायरेक्टर नारायणा हॉस्पिटल रायपुर ने शाम 7 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी कर कहा कि अजीत जोगी का ह्रदय, ब्लड प्रेशर और यूरीन आउटपुट नियंत्रित है लेकिन वर्तमान में जोगी की न्यूरोलॉजिकल (मस्तिष्क) की गतिविधियां लगभग नहीं के बराबर है। उन्हें वेंटिलेटर के माध्यम से सांस दी जा रही है। मेडिकल प्रोटोकॉल के तहत उपचार जारी है और अगले 24 से 48 घंटे बाद इस बात का असेसमेंट किया जा पाएगा कि उनके मस्तिष्क में कितनी गतिविधियां हैं। नारायणा हॉस्पिटल के डॉक्टरों की टीम अजीत जोगी की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हैं, उनकी स्थिति काफी चिंताजनक बनी हुई है।

 

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804