GLIBS
13-09-2020
कोरोना वैक्सीन का ट्रायल अंतिम चरण में, लोगों के संदेह को दूर करने डॉ.हर्षवर्धन ने कहा-सबसे पहले मैं खुद लगवाऊंगा

 नई दिल्ली। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कई बड़े देश वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। भारत में भी कोरोना वैक्सीन का ट्रायल अंतिम चरण में हैं। इस बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर भी लोगों में डर बैठा है। लोगों का सोचना है कि कहीं इसे लगवाने से कोई साइड इफेक्ट न हो जाए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन ने लोगों के इस डर को निकालने के लिए रविवार को कहा कि अगर लोगों के मन में वैक्सीन को लेकर संदेह है तो यह वैक्सीन सबसे पहले मैं लगवाऊंगा। उन्होंने कहा कि अगर लोगों में कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर विश्वास की कमी है तो वह सबसे पहले खुद इसे लगवाएंगे।

हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड वैक्सीन को लेकर आपातकालीन प्राधिकरण की जल्द ही सहमति बन सकती है। प्राथमिकता के आधार पर किसे पहले मिलेगा, यह भी तय है।स्वास्थ्य मंत्री ने जानकारी दी कि प्राथमिकता के आधार पर कोरोना वायरस की वैक्सीन पहले फ्रंट लाइन वरियर्स को दी जायेगी। इस वायरस से लड़ाई के मोर्चे पर काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मी, वरिष्ठ नागरिकों, अन्य बीमारी से पीड़ित लोगों को यह टीका पहले लगाया जायेगा। बता दें कि देश में तीन वैक्सीन क्लिनिकल ट्रायल के विभिन्न चरणों में हैं। इसमें से दो भारत के हैं जबकि तीसरा टीका ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का है।

 

12-09-2020
बीएसएफ ने सीमा पर किया हथियारों का जखीरा बरामद, पाकिस्तान के मंसूबों को किया नाकाम

चंडीगढ़। बीएसएफ ने पाकिस्तान द्वारा लगातार भारत में अशांति फैलाने की साजिश को बेनकाब करते हुए शनिवार को भारत-पाक सीमा से सटे अबोहर क्षेत्र में बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किया हैं। बीएसएफ के प्रवक्ता के अनुसार फिरोजपुर जिला अंतर्गत अबोहर इलाके में गश्त के दौरान थोड़ी-थोड़ी दूरी पर बड़ी मात्रा में हथियार मिले हैं। इनमें तीन एके 47, छह मैगजीन, 91 रोडस, दो एम-16 राइफल व चार मैगजीन, 57 रोडस, दो पिस्टल व चार मैगजीन और 20 रोडस शामिल हैं। बीएसएफ का कहना है कि पाकिस्तान भारतीय क्षेत्र में अशांति फैलाने की साजिश रच रहा है, इस बात को बीएसएफ के जवानों ने आज फिर बेनकाब किया है। बरामद हथियारों के आधार पर पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि पाकिस्तान द्वारा भेजे गए इन हथियारों का आशय क्या था।

 

 

10-09-2020
आज एयरफोर्स का हिस्सा बनेंगे फाइटर जेट राफेल विमान

नई​ दिल्ली। भारत लाए जाने के 43 दिन बाद फाइटर जेट राफेल भारतीय वायु सेना का हिस्सा बनेंगे। अंबाला में अब से कुछ देर में शुरू होने वाले समारोह में सबसे पहले सर्वधर्म पूजा होगी। इस दौरान भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा फ्रांस की रक्षा मंत्री मौजूद रहेंगी।

06-09-2020
यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट: पुरुष युगल के क्वार्टरफाइनल में बोपन्ना ने किया प्रवेश

न्यूयॉर्क। रोहन बोपन्ना और उनके जोड़ीदार कनाडा के डेनिस शापोवालोव ने शनिवार को पहला सेट हारने के बाद शानदार वापसी करते हुए अगले दोनों सेट जीतकर यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट के पुरुष युगल के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। भारत के शीर्ष एकल खिलाड़ी सुमित नागल और युगल खिलाड़ी दिविज शरण की हार के बाद रोहन बोपन्ना ने भारतीय उम्मीदों को कायम रखते हुए अंतिम आठ में स्थान बना लिया है। बोपन्ना और शापोवालोव ने दूसरे दौर के मुकाबले में छठी सीड जोड़ी जर्मनी के केविन क्राविट्ज और अन्द्रियस माइस को तीन सेटों के संघर्ष में 4-6, 6-4,6-3 से पराजित किया।

विजेता जोड़ी ने यह मुकाबला एक घंटे 47 मिनट में जीता। बोपन्ना और शापोवालोव ने पहले राउंड में शुक्रवार को अमेरिकी जोड़ी अर्नेस्ट एस्कोबेडो और नोह रुबिन को एक घंटे 22 मिनट में 6-2, 6-4 से हराया था।बोपन्ना और शापोवालोव ने दूसरे दौर के मैच में पहला सेट हारने के झटके से उबरते हुए अगले दो सेट में बेहतर खेल दिखाया और विपक्षी जोड़ी के मुकाबले कम गलतियां कीं। बोपन्ना और शापोवालोव का सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए हॉलैंड के जीन जूलियन रोजर और रोमानिया के होरिया टेकाउ की जोड़ी से मुकाबला होगा। 

03-09-2020
दिविज शरण यूएस ओपन में पहले राउंड में हार कर बाहर

न्यूयार्क। भारत के युगल खिलाड़ी दिविज शरण वर्ष के आखिरी ग्रैंड स्लेम यूएस ओपन में पहले ही राउंड में हारकर बाहर हो गए। दिविज और उनके जोड़ीदार सर्बिया के निकोला सेबिच को आठवीं सीड जोड़ी हॉलैंड के वेस्ली कूलहोफ और क्रोएशिया के निकोला मेक्टिच ने एक घंटे 46 मिनट तक चले तीन सेटों के मुकाबले में 6-4, 3-6, 6-3 से हराकर दूसरे दौर में स्थान बना लिया।युगल मुकाबलों में भारत के रोहन बोपन्ना कनाडा के अपने जोड़ीदार डेनिस शापोवालोव के साथ पहले राउंड में उतरेंगे और उनका मुकाबला अमेरिकी जोड़ी अर्नेस्ट एस्कोबेडो और नोह रुबिन से होगा।

 

31-08-2020
देश में एल्यूमिनियम की प्रति व्यक्ति खपत बढ़ाने के अवसर: अभिजीत पति

कोरबा। पारस्परिक सद्भाव, विश्वास और एकजुटता की भावना को मजबूती देने के उद्देश्य से भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने व्यवसाय के साझेदारों के साथ वर्चुअल मीटिंग आयोजित की। बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने अपने संदेश में व्यवसाय के साझेदारों का आह्वान करते हुए कहा कि हम सब मिलकर एल्यूमिनियम उत्पादन और औद्योगिक श्रेष्ठता के क्षेत्र में देश को उत्तरोत्तर बुलंदियों की ओर अग्रसर करें। हम सब मिलकर देश की प्रति व्यक्ति एल्यूमिनियम खपत को बढ़ाने की दिशा में काम करें। अभिजीत पति ने अपने संदेश में यह बताया कि देश में एल्यूमिनियम की खपत प्रति व्यक्ति प्रतिवर्ष लगभग ढाई किलोग्राम है। हमारे समक्ष यह अवसर है कि हम इसे प्रति व्यक्ति 25 किलोग्राम की खपत के स्तर पर ले जाएं। एल्यूमिनियम की अधिक खपत विकास की तेज गति का प्रमुख सूचक है। विश्व में एल्यूमिनियम की औसत खपत प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष लगभग 11.8 किलोग्राम है। विकसित देशों में एल्यूमिनियम का प्रयोग बड़े पैमाने पर किया जाता है। अमेरिका की वार्षिक खपत प्रति व्यक्ति लगभग 30.5 किलोग्राम है जबकि चीन में यह 26 किलोग्राम के स्तर पर है। एल्यूमिनियम धातु वजन के लिहाज से अधिक मजबूत और टिकाऊ होता है। यही वजह है कि इसका प्रयोग अंतरिक्ष उद्योग, वाहनों आदि में किया जाता है। विभिन्न अनुप्रयोगों में एल्यूमिनियम के इस्तेमाल से ऊर्जा की खपत भी कम होती है।

सस्टेनिबिलिटी और बार-बार रिसाइकिल कर प्रयोग किए जाने के गुणों से इसकी पहचान ग्रीन मेटल के तौर पर स्थापित है। अभिजीत पति ने कहा कि श्रेष्ठ प्रबंधन और गवर्नेंस हमें अपने लक्ष्यों की ओर अग्रसर करेंगे। बालको की प्रगति में व्यवसाय के साझेदारों की महत्वपूर्ण भूमिका है। बालको देश की दूसरी ऐसी कंपनी थी,जिसे एल्यूमिनियम के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लिए स्थापित किया गया था। इस कंपनी का विस्तार हुआ और वेदांता समूह के निवेश से आज बालको की उत्पादन क्षमता 5.70 लाख टन प्रति वर्ष पहुंच गई है। बालको देश में सार्वजनिक उपक्रम की पहली ऐसी कंपनी थी जिसका सरकार ने विनिवेश किया था। विनिवेश के दो दशकों में बालको ने तेज प्रगति दर्ज की। वर्ष 2005 तक बालको की उत्पादन क्षमता साढ़े तीन गुना अधिक होकर 3.45 लाख टन प्रति वर्ष तक पहुंची वहीं अब तक बालको की कुल उत्पादन क्षमता में लगभग छह गुना की बढ़ोत्तरी हो चुकी है। विश्वस्तरीय प्रचालन क्षमताओं को अपनाकर बालको ने यह साबित किया कि बेहतरीन प्रबंधन से उद्योगों का कायाकल्प करना संभव है। बालको की सफलता की कहानी आज देश के लिए मिसाल है।

अभिजीत पति ने विश्वास जताया कि बेहतरीन मानव संसाधन, व्यवसाय के अनुकूल वातावरण, सकारात्मक सोच और व्यवसाय के साझेदारों की मदद से बालको सतत प्रगति पथ पर अग्रसर होगा। सत्यनिष्ठा और नैतिक मूल्य बालको की कार्य संस्कृति के अभिन्न अंग हैं। उन्होंने प्रतिभागियों को उत्तम स्वास्थ्य और उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोविड-19 से हम सब अवश्य जीतेंगे। वर्चुअल मीटिंग के दौरान प्रतिभागियों को वेदांता के केंद्रीय मूल्यों और व्यवसाय के सात स्तंभों से परिचित कराया गया। बालको अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ आयोजित एक अन्य वर्चुअल टाउनहॉल में अभिजीत पति ने कहा कि हम सब कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हुए देश को आत्मनिर्भर बनाने में योगदान दें। कारपोरेट गवर्नेंस के उच्च मानदंडों के पालन के प्रति कर्मचारियों की जागरूकता के लिए अभियान निरंतर संचालित हैं। ऐसी तकनीकों और नए विचारों पर काम करें जिससे उत्पादन लागत को कम करते हुए विश्वस्तरीय मांग के अनुरूप उच्च गुणवत्ता के एल्यूमिनियम उत्पाद तैयार किए जा सकें। डिजिटलाइजेशन, नवाचार, औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण आदि क्षेत्रों में प्रक्रियाओं की निरंतर मजबूती की दिशा में काम किया जा रहा है। टाउनहॉल के दौरान आगामी तिमाहियों के लिए तय लक्ष्यों से प्रतिभागियों को परिचित कराया गया। विभिन्न विभागों ने अपने कार्य प्रदर्शनों और लक्ष्य प्राप्ति संबंधी आंकड़ो की जानकारी दी।

 

31-08-2020
डॉ.चरणदास महंत ने कहा-प्रणब मुखर्जी का जाना हम सबके लिए राष्ट्रीय क्षति

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने भारत के पूर्व राष्ट्रपति व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। डॉ.महंत ने कहा है कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता, पूर्व राष्ट्रपति,भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन का समाचार दुखद है। उनके निधन से मन बेहद दुखी है,उनका जाना हम सबके लिए राष्ट्रीय क्षति है। वे पश्चिम बंगाल के प्रतिष्ठित राजनीतिक व्यक्तित्व थे। राजनीति में समाज सेवा के रास्ते उन्होंने अपनी राष्ट्रीय स्तर पर अलग पहचान बनाई। केंद्रीय मंत्री से लेकर राष्ट्रपति होने तक गौरव उन्हें प्राप्त था। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें। दुख की इस घड़ी में हम सब उनके परिजनों के साथ हैं।

 

31-08-2020
लद्दाख के पैंगोंग झील के पास भारत-चीन सैनिकों में हुई झड़प, चीन ने फिर की घुसपैठ की कोशिश

नई दिल्ली। भारत-चीन के बीच बॉर्डर पर जारी तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। भारत सरकार द्वारा चीन के खिलाफ किये गए एक्शन के बाद चीन पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। इसी कड़ी में के एक बार फिर चीन ने बॉर्डर पर घुसपैठ की कोशिश की है। लद्दाख के पैंगोंग झील इलाके के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हुई है। बता दें कि ईस्टर्न लद्दाख में पैंगोंग झील इलाके के पास भारत-चीन के सैनिक 29-30 अगस्त की रात को आमने-सामने आ गए थे। हालांकि इस दौरान कितना नुकसान हुआ है इसे लेकर और कोई जानकारी सामने नहीं आई है। सेना ने एक बयान के जरिए चीन द्वारा घुसपैठ की कोशिश करने की पुष्टि की है। बता दे कि इससे पहले भारत-चीनी सैनिकों के बीच लद्दाख के गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी। इस घटना में सेना के 20 जवान शहीद हुए थे। साथ ही चीन को भी काफी नुकसान झेलना पड़ा था।

 

 

29-08-2020
जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर मिली सुरंग,एग्जिट प्वाइंट भारत की तरफ

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र के नजदीक एक सुंरग मिली है। ये सुरंग भारतीय सुरक्षाबलों को शुक्रवार को मिली थी। सुरंग को लेकर जम्मू में बीएसएफ के आईजी एनएस जम्वाल ने बताया कि शुक्रवार को टीम ने इस सुरंग को ढूंढ निकाली है। उन्होंने कहा कि यह 150 गज जीरो लैंड से भारत की तरफ खुदी हुई है। उन्होंने कहा कि इसका एग्जिट प्वाइंट भी भारत की तरफ है और वहां पर रेत से भरी बोरी मिली हैं जिन पर पाकिस्तान की मार्किंग है। जम्वाल ने बताया है कि रेत से भरी बोरी की हालत देखने से लगता है कि ये टन्नल नई है। बॉर्डर एरिया में इतनी बड़ी सुरंग पाकिस्तान रेंजर्स और दूसरी एजेंसियों के अप्रूवल के बिना नहीं बन सकती। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी सुंरग खोदने में जरूर पाकिस्तान एस्टाब्लिशमेंट का हाथ है। बताया जा रहा है कि यह सुरंग 20 फीट लंबी है और 3-4 फीट चौड़ी है। सुरंग के पास जो रेत की बोरी मिली है उस पर कराची और शकरगढ़ लिखा हुआ है। इसके अलावा रेत की बोरी पर टेलीफोन नंबर भी छपे हुए हैं। जैसा कि आमतौर पर सीमेंट की बोरियों पर छपा रहता है। यहां सुरंग मिली है वहां से पाकिस्तान की चौकी महज 400 मीटर की दूरी पर है। बता दें कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों को भेजने के लिए सुरंग खोदने का काम, पाकिस्तान की पुरानी रणनीति है।

राज्य पुलिस के आतंकवाद विरोधी विंग के एक सूत्र ने कहा कि ऐसा लगता है कि पाकिस्तान ने इजरायल में प्रवेश करने के लिए भूमिगत सुरंग खोदने वाले हमास के लड़ाकों की नकल करनी शुरू कर दी है। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब बीएसएफ ने बॉर्डर पर ऐसी सुरंगों का पता लगाया है। इससे पहले भी सुरंगे मिल चुकी है। पिछले साल सितंबर महीने में बीएसएफ ने पाकिस्तान के मंसूबों पर पानी फेरने के लिए बॉर्डर इलाके में सुरंगों का पता लगाने के लिए सर्च अभियान चलाया था। अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ महानिदेशक राकेश अस्थाना ने सीमा पर तैनात कमांडरों को निर्देश दिया है कि वे सुनिश्चित करें कि सीमा पर घुसपैठ रोधी प्रणाली प्रभावी रहे और इस सीमा पर कोई खामी नहीं रहे। जम्मू के सांबा सेक्टर में बृहस्पतिवार को बीएसएफ जवानों को गश्त के दौरान भारतीय क्षेत्र में सीमा पर बाड़बंदी के पास स्थित इस सुरंग का पता चला। उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगते पंजाब में पांच हथियारबंद घुसपैठियों के हाल में मारे जाने के बाद बीएसएफ ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बड़ा सुरंग खोज अभियान चलाया है। पाकिस्तान से लगती करीब 3,300 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी बीएसएफ के हाथों में है और पहले भी सीमा से लगते जम्मू के इलाकों में सुरंगों का पता चला है।    

 

29-08-2020
भारत में तीसरे दिन कोरोना वायरस के 75 हजार से ज्यादा मरीज मिले

नई ​दिल्ली। देश में लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस के 75 हजार से ज्यादा मामले प्रकाश में आएं है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना के 76 हजार 472 मामले सामने आए और 1,021 लोगों की मौत हुई। इस दौरान 65,050 मरीज ठीक हुए और नौ लाख 28 हजार 761 सैंपल जांच हुए।  देश में अब तक कुल 34 लाख 63 हजार 973 मामले सामने आ गए हैं और 62 हजार 550 लोगों की मौत हो गई है। देश में सात लाख 52 हजार 424 एक्टिव केस है। 26 लाख 48 हजार 999 मरीज ठीक हो चुके हैं। रिकवरी रेट 76.47 फीसद और डेथ रेट 1.81 फीसद है। अब तक चार करोड़ चार लाख छह हजार 609 सैंपल टेस्ट हो गए हैं। सात अगस्त को कुल मामलों की संख्या 10 लाख के पार हो गई थी। 23 अगस्त को यह आंकड़ा 30 लाख के पार हो गया।

25-08-2020
भारत-चीन सीमा विवाद: सेना ने ऊंची चोटियों पर मिसाइलों से लैस जवानों को किया तैनात

नई दिल्ली। भारत अब चीन की किसी भी हरकत को नजरअंदाज नहीं करना चाहता और ना ही वह उसके लिए किसी तरह की तैयारी को बाकी रहने देना चाहता। इसी सोच को ध्यान में रखते हुए अब वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास ऊंची चोटियों पर कंधे से दागी जाने वाली एयर डिफेंस सिस्टम से लैस जवानों को तैनात कर दिया गया है। ताकि अगर दुश्मन किसी भी फाइटर जेट या हेलीकॉप्टर ने भारतीय वायु क्षेत्र के उल्लंघन की कोशिश की तो उसे मौके पर ही मार गिराया जा सके। ये जवान 'इग्ला एयर डिफेंस सिस्टम' से लैस हैं, जिसका इस्तेमाल आर्मी और एयरफोर्स भी करते रहे हैं। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण के करीब चाइनीज हेलीकॉप्टरों की बढ़ती गतिविधियों के मद्देनजर भारतीय सेना ने अब कंधे पर रखकर हवा में दागी जाने वाली मिसाइलों से लैस जवानों को तैनात कर दिया है। ये मिसाइलें ऊंचाई वाले स्थानों से एयर डिफेंस सिस्टम को मजबूत करने के लिए बहुत ही कारगर मानी जाती है। सूत्रों के मुताबिक, 'रूसी मूल के इग्ला एयर डिफेंस सिस्टम से लैस भारतीय जवानों को सीमा के पास महत्वपूर्ण चोटियों पर तैनात किया गया है, ताकि भारतीय एयर स्पेस के उल्लंघन की कोशिश करने वाले दुश्मन के किसी भी एयरक्राफ्ट पर ध्यान रखा जा सके।'

 

 

22-08-2020
प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने देशवासियों को गणेश चतुर्थी ​की दी बधाई

नई दिल्ली। गणेश चतुर्थी के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों को बधाई देते हुए चंहुओर उल्लास और खुशहाली की कामना की है। पीएम मोदी ने गणेश चतुर्थी की बधाई देते हुए कहा, “ आप सभी को गणेश चतुर्थी की बहुत-बहुत बधाई। भगवान श्री गणेश का आशीर्वाद हम सब पर हमेशा बना रहे। सब तरफ उल्लास और खुशहाली रहे। गणपति बप्पा मोरया!” वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को ट्वीट करके कहा, “गणपति बाप्पा मोरया! ‘गणेश चतुर्थी’ के शुभ अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। यह पर्व भारत के लोगों के अदम्य उत्साह, उमंग और उल्लास का प्रतीक है।” उन्होंने आगे लिखा, “मेरी कामना है कि विघ्नहर्ता श्री गणेशजी की कृपा से कोविड-19 की महामारी समाप्त हो तथा सभी देशवासी सुखी और निरोगी जीवन जिएं।”

Advertise, Call Now - +91 76111 07804