GLIBS
03-08-2019
शासकीय परिसर, गौठान और चारागाह में करें पौधरोपण: कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने शनिवार जिला पंचायत के सभाकक्ष में जिला पंचायत कीे विभागीय गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत शासकीय परिसरों, मुक्तिधाम, तालाब किनारें, गौठान, चारागाह और अन्य स्थानों पर स्वीकृत वृक्षारोपण का कार्य आगामी 7 दिनों में पूर्ण कर लिया जाये। व्यक्ति मूलक कार्यों जैसे सामुदायिक तालाब, निजी डबरी, कुंआ के लंबित कार्यो को यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश उन्होंने अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने शासन द्वारा स्वीकृत कार्यों में लगे मानव श्रम के लंबित भुगतानों कों पूरा करने कहा है। जिला खनिज न्यांस निधि से जो कार्य पूरे हो चुके है उनका कार्य पूर्णतः प्रमाण पत्र 3 दिवस के भीतर प्रस्तुत किया जाएं।

 

16-07-2019
 जैव विविधता प्रबंधन समिति का होगा गठन: कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने मंगलवार को जिले के सभी ग्राम में जैव विविधता प्रबंधन समिति का गठन करने के लिए कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि जैव विविधता प्रबंधन समितियों में स्थानीय निकायों द्वारा नाम निर्देशित सचिव सहित सात सदस्य होंगे। इसमें जड़ी बूटी विशेषज्ञ, कृषक, नान टिम्बर वनोपज संग्राहक-व्यापार, मछली पालक, शिक्षाविद और सामुदायिक कार्यकर्ता या किसी संगठन का कोई व्यक्ति प्रतिनिधि जिनके बारे में स्थानीय निकाय का यह विश्वास हो कि वह जैव विविधता प्राक्कलन समिति के कार्यो में महत्वपूर्ण योगदान कर सकता है। जैव प्रबंधन समिति मे सदस्य के रूप में कम से कम 2 महिलायें एव 1 सदस्य अनुसूचित जाति का होना अनिवार्य है। उपरोक्त नामित व्यक्ति स्थानीय निकाय के सीमाओं के भीतर निवासी होने चाहिए एवं उनका मतदाता सूची में नाम होना आवश्यक है। जैव प्रबंधन समिति का सांतवा सदस्य जो जैव प्रबंधन समिति का सचिव होगा व शासकीय अमले यदि वनक्षेत्र हो तो वनरक्षक जैव प्रबंधन समिति का सचिव हो सकता है एवं राजस्व क्षेत्र हो तो पंचायत सचिव जैव प्रबंधन समिति का सचिव हो सकता है अथवा स्थानीय निकाय का सचिव हो सकता है।

28-06-2019
रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री चौबे आज लेंगे जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी, जल संसाधन मंत्री और रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री रविन्द्र चौबे 29 जून को जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेंगे। समीक्षा बैठक शनिवार सुबह 11 बजे कलेक्टोरेट परिसर स्थित रेडक्रास भवन के सभाकक्ष में होगी। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने सभी विभागीय अधिकारियों को आवश्यक जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए है। बैठक में छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना के तहत नरवा, गरवा, घुरवा, बाडी के संरक्षण और संवर्धन के कार्यो की प्रगति, बाढ़ आपदा से निपटने की तैयारी, मौसमी बीमारियों की रोकथाम, खरीफ के लिए किसानों को खाद बीज और ऋण का वितरण एवं ऋण माफी की प्रगति, धान संग्रहण एवं धान उठाव की स्थिति, नये शिक्षण सत्र में स्कूली छात्रों को छात्रवृत्ति, गणवेश, पुस्तक वितरण सहित अन्य विषयों की समीक्षा की जायेगी।

23-06-2019
औद्योगिक इकाइयों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग की जांच के लिए 20 टीम गठित

रायपुर। बारिश के जल के संचयन के लिए जिले के सभी औद्योगिक इकाइयों को अपने यहां रेन वाटर हार्वेस्टिंग लगाने के निर्देश दिए गए थे। जिले की औद्योगिक इकाईयों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग की जांच के लिए कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने 20 टीमों का गठन किया है। इन सभी टीमों को उरला, गोंदवारा, सिलतरा, नेऊरड़ी, कारा, भनपुरी, कपसदा, बहेसर, गुमा और गोगांव में स्थित विभिन्न औद्योगिक इकाईयों का निरीक्षण कर शीघ्र रिपोर्ट देने का कहा गया है। इन दलों द्वारा औद्योगिक इकाईयों के निरीक्षण की समीक्षा समय-सीमा की बैठक में की जाएगी। 

13-06-2019
डॉ. एस. भारतीदासन ने चार्ज संभालते ही कलेक्टोरेट का किया निरीक्षण 

रायपुर। राजधानी के नए कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने चार्ज संभालते ही गुरुवार को कलेक्टोरेट का निरीक्षण किया और अधिकारियों से मिलकर काम करने के फार्मूले को लेकर चर्चा की। साथ ही अधिकारियों को कहा कि प्रदेश की जनता को शासन की योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ देने को लेकर काम किया जाना है। वहीं जनता को लेकर किसी भी प्रकार की कोई शिकायत मिले तो तत्काल अफसर निदान करें। 

पदभार संभालने के बाद डॉ. भारतीदासन ने उपस्थित अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया तथा जिला कलेक्टोरेट की विभिन्न शाखाओं का निरीक्षण कर वहां संचालित कार्यो का जायजा लिया। डॉ. भारतीदास ने जिला दण्डाधिकारी न्यायालय सहित कलेक्टोरेट के रिकार्ड रूम, नाजिर शाखा, नजूल शाखा, भू-अभिलेख शाखा, जनसामान्य शिकायत शाखा, खनिज, आबकारी, आदिवासी विकास सहित विभिन्न शाखाओं का निरीक्षण कर वहां उपस्थित अधिकारी कर्मचारियों से संपादित किए जा रहे कार्यो की जानकारी ली।

डॉ. भारतीदासन ने जिला कलेक्टोरेट परिसर में स्थापित लोक सेवा केन्द्र का भी जायजा लिया और वहां प्राप्त आवेदनों और उनके समय-सीमा में निराकरण की जानकारी भी ली। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डिाधिकारी दीपक अग्रवाल, अपर कलेक्टर आशुतोष पाण्डेय, अपर कलेक्टर क्यूए खान, एसडीएम संदीप अग्रवाल, प्रोटोकॉल अधिकारी प्रणव सिंह सहित जिला कलेक्टोरेट के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। बता दें कि भारतीय प्रशासनिक सेवा के वर्ष 2006 बैच के अधिकारी डॉ. भारतीदासन इससे पूर्व सूरजपुर, जांजगीर-चांपा में कलेक्टर रह चुके है। डॉ. भारतीदासन डायरेक्टर फूड व एमडी मार्कफेड तथा अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ जैसे महत्वपूर्ण पदों रहते हुए अपने दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन कर चुके हैं। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804