GLIBS
13-06-2019
बच्चे को पढ़ाने के लिए लिया था कर्ज, नहीं चुकाने पर पूरे परिवार ने उठाया यह कदम 

 

चेन्नई। तमिलनाडु के नागापट्टनम जिले में एक परिवार ने उधार की रकम न लौटा पाने के कारण फांसी लगाकर जान दे दी। बताया जाता है कि माता-पिता अपने बेटे को पढ़ाना चाहते थे लेकिन उनके पास उतनी रकम नहीं थी कि वह उसे अच्छे स्कूल में पढ़ा सकते। बच्चे को अच्छी परवरिश देने के लिए पिता ने उधार लिया था, लेकिन वह उसे लौटा नहीं पा रहा था। रोज-रोज के तनाव से तंग आकर उसने अपनी पत्नी और बेटे के साथ आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार 35 वर्षीय सेंथिल कुमार पेशे से जूलर थे। सेंथिल के दोस्त ने बताया कि उन्होंने गुरुवार की सुबह सेंथिल को फोन किया लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। कई बार फोन करने के बाद भी जब फोन नहीं उठा तो वह उससे मिलने घर आ गए। घर के अंदर जाने पर पता चला कि सेंथिल ने अपनी पत्नी और लड़के के साथ फांसी लगा ली थी।

घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। सेंथिल के दोस्तों ने बताया कि बच्चे की स्कूल फीस जमा करने के लिए सेंथिल ने कई जगहों से पैसा उधार ले रखा था, जिस कारण वह काफी परेशान रहता था। शुरुआती जांच में पता चला है कि सेंथिल अपने बेटे को अच्छे स्कूल में पढ़ाना चाहता था और इसी कारण उसने काफी उधार ले लिया था। उधार देने वाले अब सेंथिल से अपना पैसा मांग रहे थे लेकिन वह उधार की रकम लौटा नहीं पा रहा था। बताया जाता है कि जिस समय परिवार ने अपनी जान दी, उस वक्त उनके बेटे ने स्कूल की यूनीफॉर्म पहन रखी थी। शुरुआती जांच में पता चला है कि फांसी लगाने से पहले पूरे परिवार ने जहर मिला खाना भी खाया था। हालांकि अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आना बाकी है। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804