GLIBS
13-07-2021
प्राकृतिक आपदा से मृतकों के परिजनों को 40 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मंजूर

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से विभिन्न प्राकृतिक आपदा पीड़ितों को जिला कलेक्टर के माध्यम से आर्थिक अनुदान सहायता स्वीकृत की जाती है। जशपुर में 7 और बलौदाबाजार जिले में 3 प्रकरणों में कुल 40 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्राकृतिक आपदा पीड़ितों को स्वीकृत की गई है।जशपुर जिले की कुनकुरी विकासखंड के अंतर्गत ग्राम डूमर टोली के देवेन्द्र यादव और ग्राम मटासी के विनोद भगत की मृत्यु पानी में डूबने से हुई थी।

राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत मृतकों के परीजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। दुलदुला तहसील के ग्राम बरपानी के जयबीर राम और ग्राम जामपानी की जगमुनी बाई, ग्राम जुड़वाईन की हीरामुनी और ग्राम बन गांव कोदोडांड के पनेश्वर राम की मृत्यु पानी में डूबने से और ग्राम गट्टीबुड़ा के असीमराम की मृत्यु आकाशीय बिजली के गिरने से हुई थी। मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई हैै। इसी तरह से बलौदा बाजार जिले की सिमगा तहसील के ग्राम बनसांकरा की राधाबाई की मृत्यु सांप के काटने से, ग्राम औरठी के आजूराम पात्रे की पानी में डूबने से और ग्राम तेंदूभाठा के जीवनलाल निषाद की मृत्यु आकाशीय बिजली के गिरने से हो जाने के कारण मृतकों के पीड़ित परिजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक अनुदान सहायता स्वीकृत की गई है।

06-07-2021
रेखचंद जैन ने प्राकृतिक आपदा में मृतकों के परिजनों को सौंपा चेक, आर्थिक सहायता मिलने पर परिजनों ने जताया आभार

जगदलपुर। जनपद पंचायत क्षेत्र के पंडरीपानी क्रं 2 के मावलीगुड़ा व पंडरीपानी क्रं 1 के करेकोट में अलग-अलग घटनाओं में एक लड़के व लड़की की विगत दिनों पानी में डुबकर मौत हो गई थी। संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन के प्रयास से परिजनों को 4-4 लाख रुपए की सहायता राशि का चेक प्रदान की। संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने विधायक कार्यालय में मोहन पिता लक्ष्मण मावलीगुड़ा पंडरीपानी क्रं 2 के पुत्र नितेश कश्यप तथा अमित सोनी करेकोट पंडरीपानी क्रं 1 की पुत्री शिवानी की पानी में डूबने की वजह से हो गई थी। यह राशि प्राकृतिक आपदा मद RBC6-4 (जनहानि) मद से प्रदान की गई।

इस अवसर पर विधायक रेखचंद जैन ने कहा की पहले,जहां प्राकृतिक आपदा में मृत व्यक्तियों के परिजनों को सहायता राशि प्रदान करने में प्रक्रिया में ही वर्षों लग जाते थे वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता से तीन से चार महीने में ही सारी प्रक्रिया पूरी कर हितग्राहियों को आर्थिक सहायता राशि का चेक प्रदान कर दिया जा रहा है। संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने इस संवेदनशीलता के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल का आभार व्यक्त किया। संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने इस राशि का सदुपयोग करने की सलाह दी। इस अवसर पर दोनों हितग्राहियों के परिवार ने संसदीय सचिव रेखचंद जैन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे परिजनों की प्राकृतिक आपदा में मृत होने पर संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने जिस तत्परता से कार्रवाई करवा कर हमें सहायता राशि प्रदान की है, हम उनका आभार व्यक्त करते हैं। इस दौरान आईटी सेल व सोशल मीडिया प्रदेश महासचिव योगेश पानीग्राही भी मौजूद थे।

 

07-06-2021
सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए विश्व बैंक देगा 50 करोड़ डॉलर की आर्थिक सहायता

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के चलते देश के सभी उद्योग प्रभावित हुए हैं। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (MSME) क्षेत्र को भी काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में अब एमएसएमई क्षेत्र को हुए नुकसान से उबारने के लिए विश्व बैंक ने मदद का हाथ बढ़ाया है। एमएसएमई क्षेत्र को मजबूती देने के लिए विश्व बैंक ने भारत सरकार द्वारा की जा रही पहलों को समर्थन उपलब्ध कराने के लिए 50 करोड़ डॉलर (500 मिलियन डॉलर) की मदद का ऐलान किया है। इस कार्यक्रम के तहत 5,55,000 एमएसएमई के प्रदर्शन में सुधार की उम्मीद है। साथ ही सरकार के 3.4 अरब डॉलर के 'एमएसएमई प्रतिस्पर्धात्मकता- पोस्ट कोविड रेजिलेंस एंड रिकवरी प्रोग्राम' (MCRRP) के हिस्से के रूप में 15.5 अरब डॉलर की फंडिंग जुटाने की भी उम्मीद है। MSME क्षेत्र भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इस क्षेत्र का भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 30 फीसदी और निर्यात में चार फीसदी का योगदान है। भारत में लगभग 580 लाख एमएसएमई में से 40 फीसदी से अधिक के पास वित्त के स्रोतों तक पहुंच नहीं है। मालूम हो कि मौद्रिक नीति समिति की बैठक में लिए गए फैसलों की घोषणा करते समय गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि एमएसएमई को सहयोग देने के लिए रिजर्व बैंक सिडबी को 16000 करोड़ रुपये की एक खास और अतिरिक्त नकदी सुविधा देगा। इससे पहले भी ऐसी सुविधा दी गई थी। पहले इसके तहत 25 करोड़ रुपये की उधार लेने की सुविधा थी, जिसे बढ़ाकर 50 करोड़ रुपये कर दिया है। चार फीसदी ब्याज पर जारी इस सुविधा का लाभ योजना शुरू होने से एक साल तक उठा सकेंगे। आरबीआई ने कहा भविष्य में अर्थव्यवस्था और उद्योगों की जरूरत को देखते हुए योजना की अवधि बढ़ाई जा सकती है।

30-05-2021
भूपेश बघेल ने तीन श्रमिकों की मौत पर जताया शोक, तत्काल आर्थिक सहायता देने कलेक्टर को दिए निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 29 मई को सूरजपुर जिले के ओड़गी विकासखंड अंतर्गत ग्राम धरसेड़ी आमापारा में कुंए की मिट्टी धसकने के कारण कार्यरत तीन श्रमिकों की मृत्यु पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री बघेल ने मृत श्रमिकों के परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने तीनों श्रमिकों के परिजनों को 5.25-5.25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि तत्काल प्रदान करने के निर्देश सूरजपुर कलेक्टर को दिए। इसके पालन में सूरजपुर कलेक्टर की ओर से तीनों मृतकों के परिजनों को 5.25 लाख-5.25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत कर प्रदान की जा रही है।

20-05-2021
कोरोना प्रभावित पीड़ित परिवारों की मदद जनसेवा संस्था ने की आर्थिक सहायता,मुख्यमंत्री के नाम सौपेंगे ज्ञापन

रायपुर। समाजिक संस्था "मदद जनसेवा संस्था" के अध्यक्ष बंटी निहाल ने कहा है कि कोरोना महामारी ने हर वर्ग को  प्रभावित किया है।पिछले दो माह से लॉकडाउन और कोरोना से घर के कमाउ सदस्यों को खोने के बाद गरीबों की स्थिति और भी अत्यंत दयनीय हो गई है। इनके दर्द को कम करने और यथासंभव उनकी आर्थिक मदद करने आज सामाजिक संस्था "मदद जनसेवा संस्था" आगे आई। समाजिक नेता अधिवक्ता भगवानू नायक के अगुवाई में "मिशन एक मदद अभियान" की शुरुआत की गई। गुरुवार को अमलीडीह, संतोषी नगर टिकरापारा, सुभाष नहर मौदहापारा, गुढ़ियारी, सड्डू आदि झुग्गी बस्ती में जाकर कोरोना से मृतकों के पीड़ित परिवारोें और लॉकडाउन के कारण आर्थिक रूप कमजोर लोगों से मिलकर यथासंभव मदद की गई। प्रत्येक व्यक्ति को वैक्सीन लगाने, कोरोना गाइडलाइन के पालन  लिए भी जागरूक किया गया।


मदद जनसेवा संस्था के संरक्षक भगवानू नायक ने कहा कि सदी की सबसे बड़ी त्रासदी और राष्ट्रीय आपदा में समाज के साधन, संपन्न धनाढ्य वर्ग को सामने आकर गरीबों का मुक्तहस्त से सहयोग करते हुए पुण्य कार्य का भागीदार बनना चाहिए। ऐसे विपरीत परिस्थितियों में कोरोना प्रभावित पीड़ित परिवारों के दर्द को कम करने के और उनके आंसुओं को पोछने लिए समाज को उनके साथ खड़ा होना चाहिए। मिशन एक मदद अभियान के माध्यम से हम हर पीड़ित परिवार के यहां पहुंचकर उनके साथ खड़े होने का प्रयास करेंगे। उनके दुख को बांटने का काम करेंगे। भगवानू नायक ने कहा छत्तीसगढ़ सरकार को दिल्ली सरकार के तर्ज पर कोरोना मृत परिवार को मुआवजा, पेंशन और अनाथ बच्चों की 25 वर्ष की आयु तक मुफ्त शिक्षा दीक्षा दी जानी चाहिए। इसके लिए संस्था जल्द ही मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपेंगी। मदद जनसेवा संस्था के महामंत्री आशीष तांडी ने कहा कि मौजूदा समय मे हमें राजकपूर अभिनीत गाना "किसी की मुस्कुराहटों में हो निसार, किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार, किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार, जीना का इसी का नाम है"  से प्रेरणा लेना चाहिए। अपने लिए तो सब जीते हैं थोड़ा दूसरों के लिए भी जीना चाहिए। अभियान में प्रमुख रूप से संस्था के संरक्षक भगवानू नायक, अध्यक्ष बंटी निहाल, महामंत्री आशीष तांडी, युवा नेता सनी बाघ, भास्कर नायक, सागर बाघ आदि उपस्थित थे।

 

15-05-2021
गुलाब कमरो ने दी जरूरतमदों को 85 हजार रुपए की आर्थिक सहायता

कोरिया। विधायक गुलाब कमरो ने सोनहत विकासखण्ड का दौरा किया। इस दौरान विधायक ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनहत का निरीक्षण कर टीका कारण कोरोना जांच व अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। गुलाब कमरो ने सोनहत के बाद रामगढ़ का भी दौरा किया रामगढ़ में पंचायत सचिव से क्षेत्र की जानकारी लेकर लोगों की समस्याओं की जानकारी ली। विधायक ने रामगढ़ स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। इस दौरान उपस्थित कर्मचारियों से स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी ली। एक दिवस पूर्व तेज आंधी से कुम्हार परिवार का घर गिर जाने व घायल परिजनों से विधायक गुलाब कमरो ने मुलाकात किया उनका हाल तबियत पूछ तत्काल क्षति पूर्ति प्रकरण तैयार कर राशि देने विभाग को निर्देशित किया। विकासखण्ड के दौरे में विधायक गुलाब कमरो ने 13 जरूरतमन्द हितग्राहियों को 85 हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की। इसमें रामगढ़ सिंघोर सलगवां खुर्द और अन्य वनांचल क्षेत्र को लोगो को आर्थिक सहायता प्रदान की। 

 

27-04-2021
भूपेश बोले-प्रेस और मीडिया लोकतंत्र के फ्रंटलाइन वर्कर, भ्रम और भय को दूर करने, मरीजों का मनोबल बढ़ाने की अपील

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से राजधानी के मीडिया प्रमुखों से चर्चा की।  उनसे महत्वपूर्ण सुझाव लिए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोरोना को हराने में किसी भी तरह से फंड्स की कमी नहीं होने दी जाएगी। राज्य में सबके सहयोग से कोरोना को जल्द से जल्द हराना है। इसमें समाज के सभी वर्गों के साथ-साथ प्रेस और मीडिया के योगदान को भी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के दौर में प्रेस और मीडिया की भूमिका बहुत अहम है। 

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि प्रेस और मीडिया लोकतंत्र के फ्रंट लाइन वर्कर हैं। आज कोविड आपदा के बीच भी वे ईमानदारी से अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के संबंध में मृत्यु, अंतिम संस्कार, दवाओं, आॅक्सीजन आदि के बारे में कई भ्रॉमक खबरें काफी वायरल होती है। इसका नकारात्मक प्रभाव जनता पर पड़ता है। ऐसे हालात में उन्होंने मीडिया से लोगों के भ्रम और भय को दूर करने तथा मरीजों के मनोबल बढ़ाने वाले खबर के लिए अपील की। उन्होंने यह भी कहा कि सभी पत्रकारों की सूची स्थानीय जनसंपर्क कार्यालय में अपडेट करवा दें, ताकि यदि कोई पत्रकार कोविड पीड़ित हुआ तो उसे आर्थिक सहायता और मदद प्रदान की जा सके। इस दौरान सचिव जनसंपर्क डीडी सिंह और मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी और रूचिर गर्ग उपस्थित थे।

12-04-2021
पार्षद ने लाई कुम्हारोें के चेहरे पर खुशी, लॉक डाउन में दीए खरीद कर दी आर्थिक सहायता

धमतरी। जिले में लागू लॉकडाउन के कारण कुम्हारों की कई महिनों की मेहनत से तैयार की गई वस्तुओं की बिक्री शून्य हो गई। इससे कुम्हारों के अनेक परिवारों के समक्ष रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है। इन सारी समस्याओं की जानकारी पार्षद विजय मोटवानी को प्राप्त होने पर वह सीधे विधायक रंजना साहू के साथ कुम्हार समाज के बीच पहुंचे। उनसे जानकारी प्राप्त की। उनके पास कितनी वस्तुएं बेचने के लिए तैयार है। उन्होंने सारे सामानों लगभग 80 हजार रूपये की खरीदते हुए मिट्टी के व्यवसाय करने वाले लोगों को आर्थिक रूप से काफी राहत प्रदान की। विजय मोटवानी ने दीपक जलाकर परिवारों में रोशनी बिखेरी। उनके इस कार्य में सहयोग के लिए निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा तथा वार्ड के पार्षद एवं मेयर-इन-कौंसिल के प्रभारी सदस्य राजेश पाण्डेय भी आगे आए। इस निर्णय की विधायक रंजना साहू ने प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि आर्थिक संकट के इस दौर में पार्षद और उनके साथियों ने सेवाभाव की मिसाल समाज के समक्ष प्रस्तुत की। विजय मोटवानी ने बताया कि वह लॉकडाउन के इस विपरीत काल में कुम्हार भाईयों एवं बहनों को अपने परिवारजनों के बीच जीवन यापन करने के लिए आर्थिक कठिनाई से निजात दिलाने के लिए उन्होंने यह कार्य किया है। जिन लोगों को धार्मिक अनुष्ठान करने के लिए दीपक की आवश्यकता होगी वह उन्हें निशुल्क उपलब्ध कराएंगे। इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष शशि पवार पूर्व जिला अध्यक्ष रामू रोहरा प्रीतेश गांधी महामंत्री ,महेंद्र पंडित,कोषाध्यक्ष चेतन हिंदूजा, निर्मल बरडिया , विजय साहू ,राजीव सिन्हा,जय हिंदूजा,श्वेता गजपाल,अविनाश दुबे, निलेश लूनिया , अखिलेश सोनकर ,कैलाश सोनकर ,देवेश अग्रवाल, पुष्कर यादव ,अभिषेक शर्मा ,दौलत वाधवानी, गोपाल साहू ,सूरज शर्मा आदि मौजूद थे।

18-03-2021
वित्तीय वर्ष 2020-21 में आपदा प्रभावितों को 143 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता, देखिए जिलेवार आंकड़े 

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्राकृतिक आपदा प्रकरणों में आर्थिक सहायता राशि जारी की है। पीड़ितों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में 142 करोड़ 97 लाख 77 हजार रुपए की राशि जारी की गई। रायपुर जिले के लिए 5 करोड़ 1 लाख 26 हजार रुपए, महासमुंद के लिए 3 करोड़ 99 लाख 15 हजार रुपए, धमतरी के लिए 3 करोड़ 99 लाख 94 हजार रुपए, बलौदाबाजार 5 करोड़ 31 लाख 40 हजार रुपए और गरियाबंद जिले के लिए 3 करोड़ 43 लाख 60 हजार रुपए की राशि जारी की गई। 

इसी प्रकार से दुर्ग जिले के लिए 3 करोड़ 19 लाख 15 हजार रुपए, राजनांदगांव के लिए 4 करोड़ 88 लाख 95 हजार रुपए, कबीरधाम के लिए 3 करोड़ 39 लाख 19 हजार रुपए, बालोद के लिए 4 करोड़ 86 लाख 40 हजार रुपए और बेमेतरा के लिए 3 करोड़ 46 लाख 70 हजार रूपए की राशि जारी गई। बिलासपुर जिले में 4 करोड़ 91 लाख 11 हजार रुपए, मुंगेली जिले में 4 करोड़ 32 लाख रुपए, जांजगीर-चांपा में 17 करोड़ 11 लाख 27 हजार रुपए, कोरबा में 3 करोड़ 27 लाख 40 हजार रुपए, रायगढ़ में 13 करोड़ 19 लाख 15 हजार रुपए व गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में 3 करोड़ 2 लाख 40 हजार रुपए की राशि जारी की गई।

बस्तर जिले के लिए 9 करोड़ 52 लाख 20 हजार रुपए, दंतेवाड़ा के लिए 6 करोड़ 99 लाख 90 हजार रुपए, बीजापुर के लिए 5 करोड़ 8 लाख 84 हजार रुपए, सुकमा के लिए 4 करोड़ 28 लाख 40 हजार रुपए, कोंडागांव के लिए 4 करोड़ 10 लाख 40 हजार रुपए, कांकेर जिले के लिए 4 करोड़ 15 लाख 20 हजार रुपए व नारायणपुर जिले में 2 करोड़ 84 लाख 96 हजार रुपए की राशि वर्ष 2020-21 के लिए जारी की गई। इसी तरह से सरगुजा जिले के लिए 4 करोड़ 2 लाख 20 हजार रुपए आपदा पीड़ितों को सहायता के लिए जारी किए गए हैं। सूरजपुर जिले में 3 करोड़ 94 लाख 80 हजार रुपए, बलरामपुर में 3 करोड़ 94 लाख 80 हजार रुपए, जशपुर में 3 करोड़ 99 लाख 60 हजार रुपए व कोरिया जिले में 3 करोड़ 27 लाख 40 हजार रुपए की राशि वित्तीय वर्ष 2020-21 में जारी की गई।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804