GLIBS
24-09-2020
12वीं पूरक परीक्षा के परिणाम 10 अक्टूबर तक होंगे जारी, सीबीएसई ने उच्चतम न्यायालय को दी जानकारी

नई दिल्ली। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को उच्चतम न्यायालय को बताया कि छात्रों के हितों को देखते हुए 12वीं कक्षा की पूरक परीक्षाओं के नतीजे 10 अक्ट्रबर तक या इससे पहले ही घोषित कर दिए जाएंगे। न्यायमूति एएम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने भी सूचित किया कि स्नातक छात्रों के लिये नया सत्र 31 अक्टूबर से शुरू किया जायेगा और उस समय तक पूरक परीक्षाओं में शामिल होने वाले लगभग सभी दो लाख छात्रों के नतीजे आ चुके होंगे।पीठ की टिप्पणियों के परिप्रेक्ष्य में सीबीएसई और यूजीसी के वक्तव्य काफी महत्वपूर्ण हैं। पीठ ने दोनों संस्थाओं को परस्पर तालमेल से काम करने पर जोर देते यह सुनिश्चित करने के लिये कहा था कि पूरक परीक्षा में शामिल हो रहे छात्रों का साल बर्बाद नहीं हो।

न्यायालय ने कहा था कि सीबीएसई को पूरक परीक्षाओं के नतीजे यथाशीघ्र घोषित करने चाहिए और यूजीसी को यह देखना चाहिए कि कालेजों में छात्रों को प्रवेश मिल जाये।कोविड-19 महामारी का जिक्र करते हुये न्यायालय ने कहा था कि यह असाधारण समय है और ऐसी स्थिति में प्राधिकारियों को छात्रों की मदद करनी चाहिए। पीठ ने इसके साथ ही अनिका संवेदी की याचिका का निस्तारण कर दिया। इस याचिका में प्राधिकारियों को यह निर्देशे देने का अनुरोध किया गया था कि 12वीं की पूरक परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों का साल बर्बाद नहीं हो।

05-09-2020
माह के अंतिम सप्ताह में सीबीएसई की 10वीं-12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं हो सकती है 

रायपुर। सीबीएसई इस माह तक दसवीं और बारहवीं बोर्ड की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आयोजित करा सकती है। इसके लिए तैयारी शुरू हो चुकी है। आज केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने इसकी जानकारी सुप्रीम कोर्ट में भी दे दी है। सूत्रों ने बताया कि कंपार्टमेंट परीक्षा रद्द करने संबंधी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो रही थी। बोर्ड की ओर से बताया गया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए परीक्षा केंद्रों को बढ़ाकर 1,278 कर दिया गया है। याचिका में कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के बीच पूरी सुरक्षा के साथ कंपार्टमेंट परीक्षाएं कराना बोर्ड के लिए असंभव होगा। वहीं परीक्षाओं में हो रही देरी के कारण कई स्टूडेंट्स का भविष्य अधर में आ जाएगा। क्योंकि ज्यादातर कॉलेजों में एडमिशन की प्रक्रिया खत्म होने वाली है।

सीबीएसई 10वीं में इस बार 1,50,198 स्टूडेंट्स और 12वीं के 87,651 स्टूडेंट्स की कंपार्टमेंट आई थी। कुछ दिनों पहले सीबीएसई ने ग्रेस माक्र्स देकर छात्रों को पास करने से साफ इनकार कर दिया था। बोर्ड ने कहा था कि जो छात्र एक और दो विषय में फेल हैं, उन्हें कंपार्टमेंटल परीक्षा देनी ही होगी। कोर्ट में सीबीएसई का पक्ष रख रहे एडवोकेट रूपेश कुमार ने कहा कि कंपार्टमेंट परीक्षाएं सितंबर अंत तक हो सकती हैं और इसके लिए सभी जरूरी सावधानियां बरती जाएंगी। पिछले वर्ष जहां 575 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे वहां इस बार 1278 परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परीक्षा कराने के लिए एक कक्षा में सिर्फ 12 छात्रों को ही बैठाया जाएगा। जस्टिस एएम खानविलकर, दिनेश माहेश्वरी और संजीव खन्ना की बेंच ने इस मामले पर सुनवाई की। कोर्ट ने सीबीएसई को 7 सितंबर तक इस मामले में प्रतिक्रिया दर्ज करने के लिए कहा है। साथ ही इस मामले को 10 सितंबर तक के लिए टाल दिया है। सीबीएसई की प्रतिक्रिया मिलने के बाद कोर्ट 10 सितंबर 2020 को 10वीं, 12वीं कंपार्टमेंट परीक्षा रद्द करने के मामले पर सुनवाई करेगा।

15-07-2020
Breaking : सीबीएसई 10 वीं बोर्ड के नतीजे घोषित, ऑफिशियल वेबसाइट ​सहित दिए गए अन्य साइट पर देखें रिजल्ट

रायपुर। सीबीएसई बोर्ड आज कक्षा दसवीं के परीक्षाओं के नतीजे जारी हो गए है। छात्र बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbseresults.nic.in पर अपना परीक्षा परिणाम देख सकते हैं। cbse.nic.in, cbseresults.nic.in और results.nic.in साइट्स पर भी अपना परीक्षा परिणाम देख सकते हैं। इसके अलावा परीक्षार्थी अपना परीक्षा परिणाम सीबीएसई की वेबसाइट के अलावा उमंग ऐप और डिजरिजल्ट्स ऐप से भी देख सकते हैं। बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए सभी छात्रों को बधाईयां व शुभकामनाएं भी दी हैं। गौरतलब है कि सीबीएसई 10 वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हुई थीं। छात्रों का अंतिम पेपर 18 मार्च को था। लेकिन कोरोना वायरस के कारण अंतिम की कुछ परीक्षाएं पहले स्थगित और फिर बाद में रद्द कर दी गई।

15-07-2020
Breaking : सीबीएसई 10 वीं बोर्ड के नतीजे कुछ ही देर में, इन साइट्स पर चेक करें रिजल्ट

रायपुर। सीबीएसई बोर्ड आज कक्षा दसवीं के परीक्षाओं के नतीजे जारी करने वाला है। छात्र बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbseresults.nic.in पर अपना परीक्षा परिणाम देख सकते हैं। cbse.nic.in, cbseresults.nic.in और results.nic.in साइट्स पर भी अपना परीक्षा परिणाम देख सकते हैं। इसके अलावा परीक्षार्थी अपना परीक्षा परिणाम सीबीएसई की वेबसाइट के अलावा उमंग ऐप और डिजरिजल्ट्स ऐप से भी देख सकते हैं। बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए सभी छात्रों को बधाईयां व शुभकामनाएं भी दी है। गौरतलब है कि सीबीएसई 10 वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हुई थीं। छात्रों का अंतिम पेपर 18 मार्च को था। लेकिन कोरोना वायरस के कारण अंतिम की कुछ परीक्षाएं पहले स्थगित और फिर बाद में रद्द कर दी गई।

14-07-2020
सीबीएसई 10वीं का रिजल्ट 15 जुलाई को होगा घोषित, ऐसे चेक कर सकते हैं स्कोर कार्ड

नई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड 10वीं क्लास 2020 का रिजल्ट नए नियमों के अनुसार 15 जुलाई को जारी किया जाएगा। सीबीएसई बोर्ड रिजल्ट 2020 की घोषणा बोर्ड के आधिकारिक रिजल्ट पोर्टल, cbseresults.nic.in पर की जाएगी। छात्र रिजल्ट के डायरेक्ट लिंक से अपना परिणाम देख सकते हैं। छात्रों को अपना सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं रिजल्ट 2020 देखने के लिए सीबीएसई की वेबसाइट, cbse.nic.in पर विजिट करना होगा।  इसके बाद वहां दो ऑप्शन नजर आएंगे, सीबीएसई वेबसाइट या सीबीएसई रिजल्ट, इसमें से रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करके रिजल्ट पोर्टल पर पहुंच सकते हैं। सीबीएसई के रिजल्ट पोर्टल, cbseresults.nic.in पर डायरेक्ट जाकर भी छात्र अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

साइट पर रिजल्ट देखने के स्टेप्स
स्टेप 1: ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in या cbseresults.nic.in पर जाएं।
स्टेप 2: वेबसाइट के होमपेज पर दिए गए रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें।
स्टेप 3: नया पेज खुलेगा, यहां आप अपना रोल नंबर ल‍िखकर सबम‍िट करें।
स्टेप 4: स्क्रीन पर आपका रिजल्ट आ जाएगा।
स्टेप 5: रिजल्ट डाउनलोड करें और इसका प्रिंट आउट लें।


डिजीलॉकर में रिजल्ट

नतीजों की घोषणा किए जाने के बाद बोर्ड छात्रों को डिजिटल मार्कशीट डिजीलॉकर (Digilocker) के जरिए उपलब्ध करवाएगा। डिजिटल मार्कशीट सरकार के उमंग ऐप (Umang app) के जरिए उपलब्ध करवाई जाएगी। उमंग ऐप पर सीबीएसई रिजल्ट 2020 की मार्कशीट डाउनलोड करने के यूजर इंटरफेस (यूआई) को अपडेट कर दिया गया है। उमंग ऐप में सीबीएसई 12वीं रिजल्ट 2020 के लिए ‘एग्जाम’ और ‘एग्जाम ईयर’ सेलेक्शन को एक्टिवेट कर दिया गया है। इसके बाद छात्रों को बस अपनी परीक्षा (10वीं), रोल नंबर, जन्म-तिथि और एडमिट कार्ड आईडी जैसी जानकारियां सबमिट करनी होंगी। इसके बाद छात्र अपनी डिजिटल मार्कशीट डाउनलोड कर सकेंगे।

ऐसे भी देख सकते हैं रिजल्ट

ऑनलाइन रिजल्ट देखने के अलावा सभी स्कूल छात्रों को उनकी रजिस्टर्ड ईमेल आईडी पर भी उनका रिजल्ट भेजेंगे। उसके अलावा नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर द्वारा कुछ फोन नंबर्स भी उपलब्ध करवाए गए हैं, जिनके माध्यम से रिजल्ट पता किया जा सकता है। सीबीएसई ने कक्षा 12वीं के रिजल्ट को माइक्रोसॉफ्ट एसएमएस ऑर्गेनाइजर ऐप और डिजीरिजल्ट्स ऐप पर भी जारी किया है।

 

13-07-2020
सीबीएसई 12वीं में एक बार फिर छात्राओं ने मारी बाजी, 92.15 प्रतिशत लड़कियां हुईं पास 

नई दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने कक्षा 12वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है। इस बार कुल पास प्रतिशत 88.78 फीसदी है। बता दें कि क्लास 12वीं के लिए 12 लाख स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया था। जिनका रिजल्ट आज घोषित किया गया है। एचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी। इस साल सीबीएसई बोर्ड की 12वीं में कुल 88.78 फीसदी छात्र पास हुए हैं। एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है। वहीं बोर्ड इस साल 12वीं के मेरिट लिस्ट जारी नहीं करेगा।बता दें कि सीबीएसई 12वीं में इस साल 92.15 फीसदी लड़कियां पास हुई हैं, जबकि 86.19 फीसदी लड़के पास हुए हैं। वहीं, ट्रांसजेंडर 66 फीसदी पास हुए हैं। साल 2019 में 88.70 फीसदी छात्राएं पास हुई थीं, जबकि 79.40 छात्र पास हुए थे।

वहीं उसी साल ट्रांसजेंडर 83.33 फीसदी पास हुए थे।गौरतलब है कि कोरोना संकट के कारण कुछ विषय की परीक्षा नहीं हो सकी थी। ऐसे में इन विषयों के नतीजों को इंटरनल एसेस्मेंट के आधार पर जारी किया है।कोरोना संकट के कारण इस बार परीक्षा के नतीजों में भी देरी हुई। आमतौर पर पर सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के नतीजे मई के महीने में आ जाते थे। हालांकि, इस बार बाकी बचे विषयों की परीक्षा होनी चाहिए या नहीं, इसे लेकर भी कंफ्यूजन बना रहा। आखिरकार मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा और फिर इंटरनल एसेस्मेंट के आधार पर रिजल्ट जारी करने का फैसला हुआ। छात्र सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट 'cbseresults.nic.in' पर जाकर नतीजे चेक कर सकते हैं।

13-07-2020
सीबीएसई ने घोषित किए 12वीं के नतीजे, इस तरह करें चेक 

रायपुर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने आज सोमवार को 12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया है। पूर्व में सीबीएसई की ओर से रिजल्ट घोषित करने के संबंध में कोई तारीख नहीं बताई गई थी। सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in पर रिजल्ट देखा जा सकता है। इससे जुड़े अन्य अपडेट और जानकारियां बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर भी उपलब्ध है। वहीं केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री ने ट्वीट करके कहा, 'प्रिय छात्र, माता-पिता और अध्यापक सीबीएसई ने 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। इसे https://t.co/kCxMPkzfEf  वेबसाइट पर चेक किया जा सकता है। हम इसे संभव बनाने के लिए आपको बधाई देते हैं। मैं दोहराता हूं, छात्रों का स्वास्थ्य और शिक्षा की गुणवत्ता हमारी प्राथमिकता है।'

07-07-2020
सीबीएसई : कक्षा 9वीं से 12वीं तक सिलेबस में होगी 30 फीसदी कटौती 

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों के लिए संशोधित पाठ्यक्रम जारी किया है। मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट के जरिए संशोधित पाठ्यक्रम की घोषणा की है। सीबीएसई ने नौवीं से लेकर बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए सिलेबस में 30 फीसदी कमी की घोषणा की है। इसे लेकर अधिसूचना भी जारी कर दी गई है। दरअसल, सीबीएसई ने यह कदम कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुई स्थिति के चलते उठाया है, ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान न हो और कोविड-19 के दौरान पढ़ाई में जो बाधा उत्पन्न हुई है उसकी भरपाई की जा सकें। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल 'निशंक' का कहना है कि शिक्षाविदों की तरफ से विद्यार्थियों के सिलेबस कम करने के सुझाव आ रहे थे। उन्होंने कहा कि इसे लेकर 1.5 हजार सुझाव आये थे। इसके बाद सीबीएसई को संशोधित पाठ्यक्रम भार को कम करने की सलाह दी गई थी। सिलेबस कटौती का यह पैमाना सिर्फ 10वीं और 12वीं क्लास के लिए अपनाया जाएगा। आठवीं क्लास और उससे नीचे की क्लास के लिए सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों को अपने हिसाब से सिलेबस में कटौती करने की छूट दी गई है।

26-06-2020
सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा के नतीजे 15 जुलाई तक करेगा घोषित

नई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड और आईसीएसई बोर्ड परीक्षाओं की सुप्रीम कोर्ट में 10.30 बजे से शुरू हुई सुनवाई समाप्त हो गई। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार को घोषणा की 10वीं और 12वीं कक्षा के बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम 15 जुलाई तक घोषित कर दिए जाएंगे। सीबीएसई और आईसीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे 15 जुलाई तक घोषित किए जा सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट में इस बात की जानकारी परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने दी है। सीबीएसई और आईसीएससी दोनों बोर्ड ने कहा है कि वह 10वीं और 12वीं के नतीजे 15 जुलाई तक जारी कर देंगे। ये नतीजे असेस्मेंट स्कीम के आधार पर जारी किए जाएंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई को 10वीं 12वीं की शेष परीक्षाएं रद करने के लिए नोटिफिकेशन जारी करने की इजाजत दे दी है। परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के मुताबिक, कोविड-19 स्थिति के कारण लंबित पड़ी परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। भारद्वाज ने एक आधिकारिक अधिसूचना में कहा, अब परिणामों को वैकल्पिक मूल्यांकन योजना का पालन करते हुए घोषित किया जाएगा। 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को अपने प्राप्तांक (स्कोर) सुधारने के लिए बाद में परीक्षाओं में शामिल होने का मौका दिया जाएगा। हालांकि, जो विद्यार्थी परीक्षा में बैठने का विकल्प चुनते हैं, उनके परीक्षा में प्राप्त हुए अंकों को ही अंतिम प्राप्तांक माना जाएगा। उन्होंने कहा कि 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों को सुधार परीक्षा में शामिल होने का मौका नहीं मिलेगा। बोर्ड द्वारा घोषित परिणाम ही अंतिम माना जाएगा। 

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई की शेष बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने को मंजूरी दी :

वहीं, उच्चतम न्यायालय ने केंद्र और सीबीएसई को कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण 10वीं और 12वीं की शेष बोर्ड परीक्षाएं रद्द करने और जुलाई में होने वाली परीक्षाओं के लिए छात्रों को अंक देने की उसकी योजना पर आगे बढ़ने की शुक्रवार को मंजूरी दे दी। न्यायमूर्ति ए एम खानविल्कर, न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने सीबीएसई को परीक्षाओं को रद्द करने के लिए एक अधिसूचना जारी करने की अनुमति दी।

केंद्र और सीबीएसई की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि मूल्यांकन योजना बोर्ड परीक्षाओं के पिछले तीन विषयों में छात्रों द्वारा हासिल किए गए अंकों पर आधारित होगी। सीबीएसई और आईसीएसई दोनों ने शीर्ष न्यायालय को बताया कि 10वीं और 12वीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे जुलाई के मध्य तक घोषित किए जा सकते हैं।उच्चतम न्यायालय कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर एक से 15 जुलाई को होने वाली 12वीं कक्षा की शेष परीक्षाओं को रद्द करने समेत अन्य राहत का अनुरोध करने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा था। ऐसी ही छूट आईसीएसई बोर्ड की ओर से भी मांगी गई।

25-06-2020
सीबीएसई 12वीं की परीक्षा पर नहीं लिया जा सका निर्णय,शुक्रवार को होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं की शेष परीक्षाओं को निरस्त करने को लेकर गुरुवार को भी कोई निर्णय नहीं लिया जा सका और उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार सुबह साढ़े 10 बजे तक सुनवाई टालते हुए सरकार को वैकल्पिक परीक्षा एवं परीक्षा परिणाम संबंधी विभिन्न पहलुओं पर स्पष्टता के साथ पेश होने को कहा।न्यायमूर्ति एएम खानविलकर, न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की खंडपीठ ने कहा कि सरकार शुक्रवार को सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर अंतिम सुनवाई से पहले संशोधित मसौदा अधिसूचना पेश करेगी।केंद्र सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायालय को बताया कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा के कारण रद्द हुई 10वीं की परीक्षाएं और कोरोना संक्रमण के कारण रद्द हुए 12वीं की परीक्षाएं एक जुलाई से 15 जुलाई तक होनी थी, लेकिन सरकार ने इसका आयोजन रद्द करने का निर्णय लिया है, क्योंकि परीक्षा के लिए स्कूल खाली नहीं हैं और महामारी की स्थिति भी भयावह है।

मेहता ने कहा कि 10वीं के छात्रों का परीक्षा परिणाम आंतरिक आकलन के आधार पर दिया जायेगा, जबकि 12वीं के छात्रों के लिए वैकल्पिक परीक्षा की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने बताया कि जो छात्र परीक्षा देना चाहेंगे उनके लिए बाद में परीक्षा आयोजित की जायेगी, लेकिन इस बिंदु पर न्यायालय ने सरकार से कई सवाल किये, मसलन-परीक्षा परिणाम की तारीख क्या होगी और नये शैक्षणिक सत्र का निर्धारण कैसे होगा?सरकार का जवाब असंतोषजनक पाकर न्यायालय ने कहा कि वह इस संबंध में शुक्रवार सुबह अंतिम आदेश सुनाएगा, लेकिन उससे पहले सरकार को इन सभी बिंदुओं पर स्पष्टता के साथ संशोधित मसौदा अधिसूचना पेश करनी होगी।

18-05-2020
सीबीएसई ने की 10वीं 12वीं की परीक्षाओं की डेटशीट जारी, बनाए ये नियम..

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 10वीं 12वीं की शेष परीक्षाओं की डेटशीट जारी कर दी है। परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित होंगी। बोर्ड ने 12वीं की डेटशीट ऑल इंडिया और उत्तर पूर्वी दिल्ली दोनों कैटेगरी के छात्रों के लिए जारी की है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में 12वीं के बहुत से छात्र परीक्षा नहीं दे सके थे इसलिए उनके लिए परीक्षा दोबारा आयोजित होगी। जो स्टूडेंट्स परीक्षा दे चुके हैं, उन्हें एग्जाम में फिर से बैठने की जरूरत नहीं है। बोर्ड ने उत्तर पूर्वी दिल्ली के छात्रों के लिए 10वीं की डेटशीट अलग से जारी की है।  सीबीएसई ने पेंडिंग एग्जाम का शेड्यूल जेईई मेन और नीट एग्जाम की तिथियों को ध्यान में रखकर तय किया है। जेईई मेन परीक्षा 18 जुलाई से शुरू होकर 23 जुलाई तक होगी। वहीं, मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट यूजी 2020 का आयोजन 26 जुलाई 2020 को किया जाएगा।
अगर सीबीएसई 12वीं के उन पेपरों की बात करें जो पूरे भारत के छात्रों को देने होंगे तो उनका होम साइंस का पेपर 1 जुलाई को, हिन्दी इलेक्टिव/हिन्दी कोर का पेपर 2 जुलाई, इंफार्मेशन प्रैक्टिस(ओेल्ड)/इंफार्मेशन प्रैक्टिस (न्यू)/इंफार्मेशन टेक्नोलॉजी/कंप्यूटर साइंस न्यू व ओल्ड का पेपर 7 जुलाई को, बिजनेस स्टडीज 9 जुलाई, बायोटेक्नोलॉजी 10 जुलाई, ज्योग्राफी 11 जुलाई, सोशोलॉजी 13 जुलाई को होगा। डेटशीट में जिस पेपर के आगे ऑल इंडिया लिखा है, वह पेपर सीबीेएसई 12वीं के सभी (उत्तर पूर्वी दिल्ली भी) स्टूडेंट्स को देना होगा। जबकि जिस पेपर के आगे नॉर्थ ईस्ट दिल्ली लिखा है, वह पेपर सिर्फ नॉर्थ दिल्ली के क्षेत्र के लिए ही आयोजित होगा। इसमें वो स्टूडेंट्स बैठेंगे जो पहले परीक्षा नहीं दे सके थे।

परीक्षा में बैठने के लिए सीबीएसई ने बनाए ये नियम :

1. सभी छात्रों को एक पारदर्शी बोतल में अपना खुद का हैंड सैनिटाइजर लेकर जाना होगा।
2. सभी छात्रों को मास्क या कपड़े से अपनी नाक व मुंह को ढंकना होगा।
3. सभी छात्रों को फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।
4. पेरेंट्स को अपने बच्चों को बताना होगा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए वे क्या सावधानियां बरतें।
5. पेरेंट्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका बच्चा बीमार नहीं हो।
6. परीक्षा देते समय छात्रों को सभी निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।
7. एडमिट कार्ड में लिखे सभी निर्देशों का छात्रों को पालन करना होगा।
8. परीक्षा की समयावधि डेटशीट और एडमिट कार्ड में लिखी होगी।
9. उत्तरपुस्तिका सुबह 10.00 बजे से 10.15 बजे के बीच बांटी जाएंगी।
10. प्रश्नपत्र सुबह में 10.15 बजे बांटे जाएंगे।
11. 15 मिनट का समय प्रश्नपत्र पढ़ने का होगा । 10.15 बजे से लेकर 10.30 बजे तक छात्रों को प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए होगा।
12. 10.30 बजे से छात्र प्रश्नों का उत्तर लिखना शुरू करेंगे।


29 विषयों की होगी परीक्षा :

बता दें कि लॉक डाउन के चलते 10वीं 12वीं के कुल 83 विषयों की परीक्षाएं बीच में स्थगित करनी पड़ी थीं। इसके बाद सीबीएसई ने फैसला लिया था कि इनमें से अब 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं कराई जाएंगी। ये वो पेपर हैं जो अगली क्लास में प्रमोट होने और स्नातक कोर्स में एडमिशन लेने के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

सीबीएसई 12वीं के ये पेपर होंगे :
 
सीबीएसई बोर्ड 12वीं के छात्रों की बिजनेस स्टडीज, जियोग्राफी, हिंदी इलेक्टिव, हिंदी कोर, होम साइंस, सोशियोलॉजी,कंप्यूटर साइंस (ओेल्ड), कंप्यूटर साइंस (न्यू), इंफार्मेशन प्रैक्टिस(ओेल्ड) इंफार्मेशन प्रैक्टिस (न्यू),इंफार्मेशन टेक्नोलॉजी और बॉयोटेक्नोलॉजी विषयों की परीक्षाएं बाकी हैं।

पूरे देश में नहीं, सिर्फ उत्तर पूर्वी दिल्ली में होगी सीबीएसई 10वीं परीक्षा :

उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगों के कारण 10वीं की परीक्षा कुछ सेंटरों पर नहीं हो पाई थी। ऐसे में सिर्फ उन छात्रों के लिए 10वीं की परीक्षा होगी जो उत्तर पूर्वी दिल्ली हिंसा के कारण परीक्षा नहीं दे पाए थे। उत्तर पूर्वी दिल्ली में 10वीं के छात्रों को अभी इन 6 विषयों हिंदी कोर ए, हिंदी कोर बी, इंग्लिश कॉमन, इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर, साइंस, सोशल साइंस की परीक्षा देनी होगी।

उत्तर पूर्वी दिल्ली में 12वीं के इन विषयों की परीक्षा भी दोबारा होगी :

इंग्लिश इलेक्टिव - न्यू, इंग्लिश इलेक्टिव कोर, इंग्लिश कोर, मैथ्स, इकोनॉमिक्स, बॉयोलॉजी, पॉलिटिकल साइंस, हिस्ट्री, फिजिक्स, अकाउंटेंसी, केमिस्ट्री।

शेष 54 विषयों का क्या होगा?

शेष बचे कुल 83 विषयों में से 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं ली जाएंगी। अब सवाल है कि शेष 54 विषयों का क्या होगा जिनकी परीक्षा नहीं होगी? तो उसका उत्तर यह है कि बचे हुए इन विषयों की परीक्षा में ग्रेडिंग से मूल्यांकन होगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804