GLIBS
14-05-2021
12वीं बोर्ड की परीक्षा के बारे में अभी कोई फैसला नहीं हुआ : सीबीएसई

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को कहा कि 12वीं बोर्ड की लंबित परीक्षा को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।। कोविड-19 महामारी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए छात्रों एवं अभिभावकों का एक वर्ग इस परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहा है। सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर ऐसा (रद्द करने संबंधी) कोई फैसला नहीं लिया गया है,जिसके बारे में अटकलें लगाई जा रही हैं।’ उन्होंने कहा,‘इस मामले में कोई फैसला लिये जाने पर इसकी अधिकारिक रूप से जानकारी दी जायेगी।’ अधिकारी इस संबंध में उन सवालों पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे,जिसमें 12वीं बोर्ड परीक्षा लिये जाने या रद्द किये जाने की संभावना के बारे में पूछा गया था। हालांकि कोविड-19 महामारी के कारण छात्रों एवं अभिभावकों का एक वर्ग इस परीक्षा को रद्द करने की मांग कर रहा है। उल्लेखनीय है कि बोर्ड ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर 14 अप्रैल को 10वीं बोर्ड परीक्षा रद्द करने और 12वीं बोर्ड परीक्षा स्थगित करने की घोषणा की थी। इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई्र एक उच्च स्तरीय बैठक में फैसला किया गया था। बोर्ड परीक्षा आमतौर पर हर साल फरवरी-मार्च महीने में आयोजित की जाती है जबकि इस साल इसका कार्यक्रम 4 मई से शुरू हो रहा था। बोर्ड ने कहा था कि 12वीं बोर्ड परीक्षा स्थगित की जाती है और इसकी समीक्षा 1 जून के बाद की जायेगी तथा छात्रों को कम से कम 15 दिन पहले परीक्षा के बारे में नोटिस दिया जायेगा।

 

02-05-2021
सीबीएसई ने जारी की अधिसूचना, 20 जून को 10वीं बोर्ड के आएंगे नतीजे 

नई दिल्ली/रायपुर। दसवीं बोर्ड परीक्षा के नतीजों को लेकर सीबीएसई ने अधिसूचना जारी कर दी है। 20 जून को दसवीं कक्षा के परिणाम जारी किए जाएंगे। इस बार दसवीं बोर्ड परीक्षा के नतीजे इंटरनल असेसमेंट के आधार पर तैयार किए जाएंगे। कोविड-19 महामारी चलते बोर्ड ने दसवीं बोर्ड परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के अनुसार, बोर्ड ने इससे पहले शनिवार को रद्द परीक्षाओं के लिए अंक निर्धारण नीति घोषित की थी। भारद्वाज ने कहा, ”स्कूल आठ सदस्यीय परिणाम समितियों का गठन 5 मई तक करेंगे। प्रत्येक स्कूल की ओर से अंक वितरण के प्रावधान के साथ ही दस्तावेजों को 10 मई तक तैयार किया जाएगा। 1 मई के परिपत्र में 20 में से आंतरिक मूल्यांकन अंक जैसा कि पहले से ही स्कूलों की ओर से प्रदान किया जाता है वह वैसा ही रहेगा। शेष 80 अंकों के लिए स्कूल छात्रों को एक औसत देंगे जहां 10 अंक उनके आवधिक परीक्षणों से होंगे 30 छमाही से और 40 पूर्व-परीक्षाओं से। भारद्वाज ने कहा, ”जो उम्मीदवार वर्ष में होने वाले टेस्ट में उपस्थित नहीं हुए हैं। उनके लिए स्कूल अलग से 15 मई तक ऑनलाइन या टेलीफोन पर टेस्ट के जरिए आंकलन करेंगे और उनके 25 मई तक परिणाम तैयार करेंगे। नियंत्रक ने कहा कि सीबीएसई को स्कूलों द्वारा परिणाम 11 जून तक अंक सौंपे जाने हैं और 20 जून तक परिणाम बोर्ड द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर घोषित कर दिए जाएंगे।

27-04-2021
सीबीएसई कक्षा बारहवीं के एग्जाम की तारीखें 1 जून के बाद होगी घोषित

नई दिल्ली/रायपुर। सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से निर्धारित की गई थी, जिसे स्थगित कर दिया गया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि 1 जून को देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर बोर्ड परीक्षा की अगली तिथि निर्धारित होगी। इस बार परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया जाएगा। इस बार परीक्षा में लॉजिकल प्रश्न पूछे जाएंगे।

14-04-2021
Breaking: नहीं होगी सीबीएसई 10वीं की बोर्ड परीक्षा, 12वीं की परीक्षाएं स्थगित

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। इसके अलावा 10वीं की परीक्षाएं कैंसिल कर दी गई हैं। बुधवार को सीबीएसई परीक्षाओं के संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक में यह फैसला लिया है। 12वीं की मई और जून में होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया, अब इनकी तारीख एक जून के बाद तय की जाएगी। बता दें कि दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परीक्षाओं को रद्द किए जाने की मांग की थी। अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार से परीक्षा रद्द करने की अपील करते हुए कहा कि परीक्षा केंद्र वायरस के संक्रमण को फैलने में सहायक साबित हो सकते हैं। इसी बीच पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र को पत्र लिखकर 10वीं, 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित किए जाने की अपील की थी।

14-04-2021
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सीबीएसई बोर्ड एग्जाम के संबंध में बुलाई उच्च स्तरीय बैठक, ले सकते हैं बड़ा फैसला 

नई दिल्ली/रायपुर। देशभर में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए ऑफलाइन मोड में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) एग्जाम किए जाने का विरोध किया जा रहा है। सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को स्थगित करने और ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा समेत अन्य विकल्पों पर विचार करने की मांग उठ रही है। इसके मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बुधवार को एक उच्च स्तरीय बैठक करेंगे। बताया जा रहा है कि यह बैठक बुधवार की दोपहर को होगी। बैठक में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय शिक्षा सचिव और अन्य शीर्ष पदाधिकारी शामिल होंगे। ज्ञातव्य है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित कई नेताओं ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरों के मद्देनजर सीबीएसई परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की है। सीबीएसई बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि परीक्षाएं रद्द नहीं की जा सकतीं क्योंकि इनकी प्रकृति महत्वपूर्ण हैं और इन्हें ऑनलाइन आयोजित नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि बोर्ड कोविड संबंधी दिशानिर्देशों के अनुसार सभी आवश्यक उपाय कर रहा है तथा परीक्षा केंद्रों की संख्या में भी वृद्धि की गई है।

10-04-2021
सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं नहीं होगी रद्द, सीआईएससीई ने कहा-छात्रों की सुरक्षा के लिए सावधानियों का पालन किया जाएगा

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने पुष्टि की है कि बोर्ड परीक्षाएं रद्द नहीं की जाएंगी। कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन 4 मई से किया जाएगा। दरअसल, अचानक से देश में कोरोना की बेकाबू होती रफ्तार के बीच देशभर के छात्रों ने सरकार से बोर्ड परीक्षा 2021 को रद्द करने का आग्रह किया है। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 को रद्द करने की मांग करने वाली एक ऑनलाइन याचिका 1,00,000 हस्ताक्षर को पार कर गई। सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की मांग के बीच सीबीएसई और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने एक संयुक्त बयान जारी किया और आश्वासन दिया कि परीक्षा के दौरान छात्रों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी सावधानियों का पालन किया जाएगा। सीबीएसई के एक अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के दिशानिर्देशों के अनुसार, देशभर में परीक्षा के दौरान छात्रों में सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए परीक्षा केंद्रों में 40-50 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है। बोर्ड कोविड-19 महामारी के बीच बोर्ड एग्जाम 2021 आयोजित करने के लिए पर्याप्त उपाय कर रहा है। गौरतलब है कि सीबीएसई 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा की डेटशीट पहले ही जारी कर चुका है। डेटशीट के मुताबिक, कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से 7 जून 2021 तक आयोजित की जाएंगी। कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं भी 4 मई से शुरू होंगी और 11 जून को खत्म होंगी। परीक्षाओं का आयोजन दो शिफ्ट में किया जाएगा। पहली शिफ्ट सुबह 10:30 से दोपहर 1:30 बजे तक, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 2:30 से शाम 5:30 तक होगी और परीक्षाओं के रिजल्ट 15 जुलाई तक जारी किए जाएंगे।

05-03-2021
शिक्षा मंत्री से एनएसयूआई ने की मुलाकात, छात्रों की समस्याओं से कराया अवगत

रायपुर। शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से एनएसयूआई ने छात्रों को हो रही समस्याओं को लेकर शुक्रवार को मुलाकात की। उन्हें छात्रों की समस्या से अवगत कराया गया। एनएसयूआई का कहना है कि 9वीं और 11वीं का ऑनलाइन, ऑफलाइन एग्जाम लेने का विकल्प नहीं है। सरकार की तरफ से स्पष्ट आदेश भी जारी नहीं किया गया है। एनएसयूआई प्रदेश सचिव हेमंत पाल ने बताया कि ऑनलाइन एग्जाम को लेकर आदेश में स्पष्ट नहीं हुआ है कि एग्जाम ऑनलाइन ली जाएगी या ऑफलाइन। हमारी मांग है कि विद्यार्थियों के पास दोनों विकल्प उपलब्ध हो। बहुत सारे जगह पर नेटवर्क प्रॉब्लम है। यदि ऐसा हुआ तो छात्र एग्जाम दिलाने से वंचित रह जाएंगे, इसलिए हमारी मांग है कि छात्रों को ऑनलाइन के साथ ही ऑफलाइन विकल्प भी उपलब्ध हो। सीबीएसई में दोनों ऑप्शन दिया गया है। यह भी कहा गया है कि प्रदेश सरकार की गाइडलाइन का पालन किया जाए। लेकिन सीजी बोर्ड में ऐसा कुछ भी नहीं कहा गया है। इसलिए हम शिक्षा मंत्री से मुलाकात करने आए हैं। इससे छात्रों की समस्या कुछ कम हो सके। अब तक यह भी नहीं बताया गया है कि एग्जाम कैसे लिया जाएगा।

12-02-2021
सीबीएसई ने किया 10वीं और 12वीं के लिए प्रैक्टिकल परीक्षा की तारीखों का ऐलान, 1 मार्च से शुरू होगी प्रायोगिक परीक्षा 

नई दिल्ली। सीबीएसई बोर्ड प्रैक्टिकल परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है। सीबीएसई बोर्ड प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट, इंटरनल असेस्मेंट 10वीं और 12वीं क्लास के लिए 1 मार्च से शुरू होंगे और 11 जून तक आयोजित की जाएंगी। बोर्ड परीक्षाएं और प्रैक्टिकल कोविड-सेफ्टी प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर किए जाएंगे। इसके लिए बोर्ड ने सभी स्कूलों के प्रिंसिपल्स को पत्र लिख दिया है। प्रैक्टिकल के अंक असेस्मेंट पूरा होने के बाद बोर्ड की वेबसाइट पर जारी कर दिए जाएंगे। सीबीएसई ने प्रैक्टिकल परीक्षाओं के लिए प्रयोगशालाओं को तैयार करने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं। सीबीएसई प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए लैब्स को हर बैच के प्रैक्टिकल के बाद सैनिटाइज किया जाएगा। लैब में स्टूडेंट्स को हैंड सेनिटाइजर दिया जाएगा। स्टूडेंट्स वॉटर बोलत और मास्क लेकर आएंगे। सीबीएसई ने कहा है कि प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए 25 छात्रों के एक बैच को दो सब-ग्रुप्स में बांटा जा सकता है, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो।
इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी खास खयाल रखा जाएगा। सीबीएसई  ने कहा कि यदि बोर्ड द्वारा नियुक्त शिक्षक के अलावा किसी अन्य द्वारा प्रैक्टिकल परीक्षा आयोजित की जाती है, तो परीक्षा रद्द कर दी जाएगी और छात्रों को थ्योरी परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर आनुपातिक अंक दिए जाएंगे।

28-01-2021
2 फरवरी को आएगा सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइमटेबलः रमेश पोखरियाल

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि सीबीएसई 10वीं और 12वीं की परीक्षा का पूरा कार्यक्रम 2 फरवरी को जारी किया जाएगा। ऐसे में सभी छात्रों को 2 फरवरी को पता चल जाएगा कि किस दिन कौन से पेपर की परीक्षा होगी। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने यह जानकारी सीबीएसई स्कूल अध्यक्षों व सचिवों के साथ वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से जारी बातचीत के दौरान दी है। सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के छात्रों का जो इंतजार परीक्षा को लेकर विषय के हिसाब से तारीखों का है वह 2 फरवरी को खत्म हो जाएगा। ज्ञात हो कि सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की तारीख सभी जानकारी छात्र ऑफिशियल वेबसाइट  पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। इसमें डेटशीट, टाइम टेबल का समावेश है।

 

31-12-2020
 4 मई से शुरू होंगी सीबीएसई 10वीं और 12वीं की परीक्षा, नतीजे 15 जुलाई तक

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सीबीएसई 10वीं 12वीं परीक्षा 2021 की तारीखों का ऐलान कर दिया है। सीबीएसई 10वीं 12वीं की परीक्षा 4 मई से शुरू होंगी और 10 जून तक चलेंगी। प्रैक्टिकल एग्जाम 1 मार्च से होंगे। परीक्षाओं के परिणाम 15 जुलाई तक जारी हो जाएंगे। दोनों कक्षाओं की विस्तृत डेटशीट जल्द ही जारी कर दी जाएगी। निशंक ने कहा, मैं विद्यार्थियों को शुभकामनाएं देता हूं कि वह पूरी ताकत और आत्मबल के साथ परीक्षा की तैयारी करें। उनके पास काफी समय है। सीबीएसई ने भी 30 फीसदी सिलेबस कम कर दिया है। आप सभी बिना किसी संकोच के एग्जाम दें। पूरा तंत्र विद्यार्थियों के साथ जुटा हुआ है। घोषणा के दौरान उन्होंने कहा कि हम आगामी सत्र की तैयारी में जुटे हुए हैं। ऑनलाइन क्लास और टीवी चैनलों से सभी बच्चों तक शिक्षा पहुंचा रहे हैं। कोरोना के समय छात्रों ने पूरे मनोबल के साथ परीक्षाएं दीं और हम सबने मिलकर साल बर्बाद होने से बचाया।

चुनौती के समय विद्यार्थी और शिक्षक डटे हुए हैं।बता दें कि निशंक यह पहले ही साफ कर चुके थे कि बोर्ड परीक्षाएं फरवरी माह तक नहीं होंगी। सीबीएसई डेटशीट के ऐलान के साथ स्टूडेंट्स की कंफ्यूजन दूर हो गई है और अब वह तैयारी की रणनीति बना सकेंगे। सीबीएसई ने कहा है कि सभी स्कूलों को प्रैक्टिकल परीक्षाएं,प्रोजेक्ट,आंतरिक मूल्यांकन जैसे कार्य उस डेट से पहले.पहले पूरे कर लेने हैं जब उस कक्षा की परीक्षाएं खत्म हो रही हैं। सीबीएसई ने कहा है कि समय.समय पर आधिकारिक वेबसाइट पर परीक्षा से संबंधित जानकारी दी जाती रहेगी। सोशल मीडिया समेत किसी अन्य प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध जानकारी को तब तक सही नहीं माना जाना चाहिए जब तक कि वह जानकारी बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध न हो। 

 

22-12-2020
फरवरी तक नहीं होंगी सीबीएसई 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं : रमेश पोखरियाल निशंक

नई दिल्ली। आगामी 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा की तारीखों पर संशय के बीच शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने मंगलवार को देशभर के शिक्षकों और छात्रों के साथ सीधा संवाद स्थापित किया। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने इस दौरान बताया कि सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा जनवरी,फरवरी में आयोजित नहीं करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जो वर्तमान परिस्थितियां है जनवरी-फरवरी में परीक्षा संभव नहीं हो पाएंगी, लेकिन फरवरी के बाद परीक्षा कब होगी इस पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल फरवरी तक बोर्ड की परीक्षा नहीं होगी। लेकिन इसके बाद परीक्षाओं को लेकर हम विचार-विमर्श करेंगे और बाद में इसकी जानकारी देंगे।निशंक ने कहा कि कोरोना काल में शिक्षकों ने योद्धाओं की तरह बच्चों को पढ़ाया है।

उन्होंने कहा कि महामारी के दौर में भी ऑनलाइन मोड से शिक्षकों ने बच्चों को उन्होंने पढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत स्कूली शिक्षा में ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का पहला देश बनेगा जहां, स्कूली स्तर पर ही एआई की पढ़ाई शुरू होगी।सीबीएसई के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि बोर्ड परीक्षाओं को ऑनलाइन करवाने का कोई प्रस्ताव ही नहीं है। ये परीक्षाएं बीते वर्षों की तरह सामान्य लिखित रूप में ली जाएंगी। हालांकि इसकी डेट अभी तय नहीं हुई है।

 

 

10-12-2020
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा,सीबीएसई ने किया 30 प्रतिशत तक सिलेबस कम, समय पर होगी नीट 2021

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक बोर्ड परीक्षाओं और एंट्रेंस परीक्षाओं के मुद्दे पर छात्रों को संबोधित किया। लाइव सेशन में शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं की तारीख और सिलेबस पर फैसला बाद में लिया जाएगा। निशंक ने बताया कि छात्रों पर भार कम करने के लिए सीबीएसई ने 30 फीसदी तक सिलेबस को कम कर दिया है। उन्होंने ये भी बताया कि सीबीएसई ने इवैलुएशन, मूल्यांकन और सिस्टम से फेल शब्द को हटा दिया है। निशंक ने कहा कि सीबीएसई 2021 बोर्ड परीक्षाओं की तारीख का ऐलान, परीक्षाओं से काफी पहले किया जाएगा ताकि छात्रों को तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिले। निशंक ने कहा कि अभी तक 17 राज्यों में स्कूलों को खोला जा चुका है और बाकी स्कूलों के भी जल्द खुलने की उम्मीदें हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि नीट 2021 परीक्षाओं को कैंसल करने का कोई प्लान नहीं है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने जेईई मेन 2021 और नीट 2021 परीक्षाओं को लेकर कहा कि इन दोनों प्रतियोगी परीक्षाओं का सिलेबस कम करने पर गहन विचार विमर्श चल रहा है। निशंक ने कहा जेईई मेन परीक्षा अभी साल में दो बार होती है। इसे तीन से चार बार कराने के सुझाव पर सरकार विचार कर रही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804