GLIBS
14-05-2020
डाडेसरा में मिला नवजात शिशु का शव

धमतरी। जिले के कुरूद थाना अनतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत डाडेसरा नाला में एक नवजात शिशु का शव मिला। धमतरी तरफ से नाला में तैरते हुए डांडेसरा नाला पहुंचा,जिसे कुछ लोगों ने देखा और तत्काल पुलिस को सूचना दी। वहीं नवजात शिशु कहां से आया, किसका है अभी तक पता नहीं चल पाया। फिलहाल कुरूद पुलिस टीम मौके पर पहुंच जांच में जुट गई हैं।

18-03-2020
प्रसव के दौरान नवजात की मौत, परिजनों ने लगाया डाक्टरों और स्टाफ पर लापरवाही का आरोप

महासमुंद। अपने लापरवाहियों को लेकर सुर्खियों में रहने वाला महासमुंद का जिला अस्पताल एक बार फिर आरोपों के घेरे में है। अस्पताल में मंगलवार को प्रसव के दौरान एक नवजात की दुनिया में आने से पहले ही मौत हो गई। नवजात शिशु के मौत को लेकर परिजनों ने डाक्टरों और स्टॉफ पर डिलवरी में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए दोषियों पर कार्यवाही की मांग की है। प्रभारी सीएमएचओ से इसकी लिखित में शिकायत भी की है। बता दें कि महासमुंद के वार्ड नम्बर 9 छिपियापारा की रितु तांडी पति कृष्णा तांडी को सोमवार शाम 6 बजे प्रसव पीड़ा आया। इस पर उसे जिला चिकित्सालय में प्रसव के लिए भर्ती कराया गया।

परिजनों ने बताया की रात से ही महिला को प्रसव के लिए वार्ड में लेकर गए थे और नार्मल डिलीवरी होने की जानकारी दी जा रही थी, रात तकरीबन 2 से 3 बजे के बीच प्रसव के दौरान बच्चा आधा बाहर आ चुका था। इसकी जानकारी लगने पर परिजनों ने छोटा ऑपरेशन कर बच्चे को बाहर निकालने स्टॉप को कहा बावजूद इसके स्टॉप सब कुछ सही होने की बात करते रहे और मंगलवार सुबह 8 बजे तक जच्चा और बच्चा को स्वास्थ्य होने की जानकारी स्टॉप के द्वारा दी गई। करीब आधे घंटे के बाद नर्स द्वारा परिजनों को अचानक बताया गया कि बच्चा मृत पैदा हुआ है, जिसे सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। परिजनों का यह भी आरोप है कि डॉक्टरों ने इसका सही कारण नहीं बताया और उन्हें लगातार गुमराह करते रहे। परिजनों ने नर्स और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रभारी सीएमएचओ को इसकी लिखित शिकायत की है और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

वर्जन

प्रभारी सीएमएचओ डॉ.आरके परदल ने बताया कि मामले की जानकारी उन्हें शिकायत के रूप में मिली है। मामले की जांच की जाएगी और यदि उसमें लापरवाही पाई जाती है तो कार्रवाई की जाएगी। 

 

16-03-2020
नाली में मिला नवजात शिशु का शव, इलाके में फैली सनसनी

कोरबा। मानिकपुर चौकी क्षेत्र के अंतर्गत एसईसीएल की मानिकपुर विभागीय काॅलोनी में सोमवार की सुबह उस वक्त सनसनी फैल गई जब नाली में एक नवजात बच्चो का शव देखा गया। जैसे ही यह बात क्षेत्र में फैली वैसे ही लोगों की भीड़ मौके पर उमड़ पड़ी। नवजात शिशु की उम्र करीब 8 माह का होना बताया जा रहा है और वह पूरी तरह से विकसित है। नाली में नवजात का शव मिलने की खबर जैसे ही पुलिस को लगी वैसे ही मौके पर पहुंच गई और मामले की जांच में जुट गई। नवजात शिशु किसका है इस बात का पता लगाने में पुलिस जुटी हुई है। फिलहाल मर्ग पंचनामा की कार्रवाई पूरी कर नवजात के शव को पीएम के लिए भिजवाया गया है।

19-01-2020
11वीं की छात्रा ने दिया मृत शिशु को जन्म, अधीक्षक निलंबित 

दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा में अचंभित करने वाला मामला सामने आया है। 11वीं की छात्रा ने स्कूल के हॉस्टल में नवजात शिशु को जन्म दिया है। हैरानी की बात यह है कि नवजात मरा हुआ पैदा हुआ है। प्रदेश के नक्सल प्रभावित क्षेत्र दंतेवाड़ा जिले के पतारस की घटना है। डिप्टी कलेक्टर ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि नवजात मृत पैदा हुआ है। छात्रा ने बताया कि वह दो साल से गांव के एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में है। वहीं मामले के बाद हॉस्टल के अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया है। 11वीं की छात्रा द्वारा स्कूल के हॉस्टल में ही बच्चे को जन्म देने की जानकारी मिलने के बाद आनन-फानन में युवती को अस्पताल में भर्ती कराया गया। डिप्टी कलेक्टर ने बताया कि हॉस्टल अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। इस बाबत अस्पताल के कर्मचारियों और अधिकारियों से भी पूछताछ की जाएगी। उन्होंने बताया कि स्कूल प्रशासन ने मृत नवजात को छात्रा के परिजनों के हवाले कर दिया।

17-01-2020
जिला अस्पताल में सीएमएचओ ने किया औचक निरीक्षण, पढ़िए क्या कहा...

छिंदवाड़ा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने जिला चिकित्सालय में संचालित एसएनसीयू (स्पेशल न्यूबोर्न केयर यूनिट) का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एसएनसीयू के प्रभारी शिशु रोग चिकित्सक डॉ. सुशील राठी से एसएनसीयू के संबंध में जानकारी ली। डॉ. सुशील राठी ने बताया कि एसएनसीयू में आउटबॉर्न और इनबॉर्न बराबर है, चार फॉलोअप निरंतर किए जाते हैं। एसएनसीयू में रेफरल बहुत कम है, एसएनसीयू में पदस्थ शिशु रोग विशेषज्ञ की ओर से सतत नवजात शिशु के माता-पिता को परामर्श दिया जाता है। साथ ही एसएनसीयू में शीघ्र ही आरओपी मशीन स्थापित की जाएगी। सीएमएचओ डॉ मोजेश ने एसएनसीयू में पदस्थ समस्त शिशु रोग चिकित्सकों को बेहतर सेवाएं देने के लिए निर्देशित किया है। एसएनसीयू के जो प्रोटोकॉल निर्धारित है उसके अनुरूप एसएनसीयू को संचालित करने के निर्देश दिए हैं और एसएनसीयू में स्थापित सभी फॉर्मर मशीन को प्रोटोकॉल के अनुरूप क्रियाशील रखने के लिए कहा है। एसएनसीयू वार्ड में शासन के निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुरूप चिकित्सकों को सेवाएं देने और यूनिट को संचालित करने के लिए निर्देशित किया है। इस दौरान हुई बैठक में सिविल सर्जन डॉ. सुशील राठी, सुशील दुबे, डॉक्टर एलएनएस उईके,डीएचओ डॉ. प्रमोद वासनिक जिला मीडिया अधिकारी उपस्थित थे।

समीर सोनी की रिपोर्ट

14-01-2020
नवजात को फेंकने वाले आरोपियों की पैरवी नहीं करेंगे अधिवक्ता, संघ का निर्णय

राजनांदगांव। नवजात को ठंड और बारिश के दौरान नाली में फेंकने वाली ह्रदयविदारक घटना सामने आई थी। इस अपराध में आरोपियों के कृत्य को जिला अधिवक्ता संघ ने जघन्य माना है। अधिवक्ता संघ ने इसमें किसी भी आरोपी की पैरवी नहीं करने का निर्णय लिया है। जिला अधिवक्ता संघ की सदस्य कुसुम दुबे ने बताया कि आरोपी ने नाबालिक बालिका के साथ दुष्कर्म एवं बालिका के गर्भवती होने पर डिलवरी कराकर नवजात शिशु को नाली में छोड़ दिया था। जिसकी उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। नवजात शिशु नाली में मिलने से स्टेशन पारा क्षेत्र में दहशत और आक्रोश का माहौल बन गया था। वार्ड वासियों ने थाने में गुहार लगाई। पुलिस की तत्परता से संलिप्त आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस की ओर से लगातार हो रहे खुलासे से घटना में अमानवीय कृत्यों का भी खुलासा हो रहा है। यह साफ सुथरे समाज के लिए पीड़ा दायक है। ऐसी घटना करने वालों को अपराध प्रमाणित होने पर कठोर दंड मिलना चाहिए।

12-01-2020
नवजात को तालाब में फेंककर मां ने रची दर्दनाक कहानी, फिर हुआ ये

रायगढ़। जिलें के लैलूंगा थाना क्षेत्र में एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। एक निर्मोही माँ ने अपने नवजात बच्चे को तालाब में फेंक कर रची कहानी। आपको बता दे कल देर शाम को ग्राम रामपुर निवासी खेमराज की पत्नी मोनिका भगत ने अपने नवजात बच्चे को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा छीनकर ले जाने की कहानी रच कर गांव में अफरा तफरी का मौहाल बना कर पूरे गांव व पुलिस सहित खोज बिन में लग गये थे। सुबह बच्चे का शव तालाब में पड़ा हुआ मिला। जिसकी सूचना ग्रामीणों ने लैलूंगा पुलिस को दी। वहीं मौके पर एसडीओपी सहित पुलिस दल मौके पर पहुंचकर जांच में जुटी थी। पुलिस ने शक के अनुसार मृतक नवजात शिशु की मां से कड़ी पूछताछ करने पर नवजात शिशु की निर्मोही माँ ने बताया कि बच्चे को उसी के द्वारा तालाब में फेक कर हत्या की है। बहरहाल पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर नवजात बच्चे के शव हो कब्जे में लेकर महिला से पूछताछ का रही है कि प्ले को अंजाम देने के लिए और कितने लोग शामिल थे।

 

 

05-01-2020
कोटा जैसे हालत बने गुजरात में, यहां इन दो शहरों में हुई अब तक हुई इतने बच्चों की मौत...

राजकोट। गुजरात के राजकोट और अहमदाबाद से दिल दहलाने वाली खबर आ रही है। यहां अब तक 196 बच्चों की मौत हो चुकी है। दिसंबर महीने में राजकोट के सिविल अस्पताल में 111 और अहमदाबाद में 85 मासूम दम तोड़ चुके हैं। इस पर सवाल पूछने पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने चुप्पी साध ली। राजकोट के एक सरकारी अस्पताल में पिछले महीने दिसंबर में 111 मासूम जिंदगी की जंग हार गए। यहां बच्चों की मौत की वजह कुपोषण, जन्म से ही बीमार, वक्त से पहले जन्म, मां का खुद कुपोषित होना बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि राजकोट के सिविल अस्पताल में मरने वाले सभी बच्चे नवजात थे।

अस्पताल के एनआईसीयू में ढाई किलो से कम वजन वाले बच्चों को बचाने की व्यवस्थाएं और क्षमता ही नहीं है। राजकोट सिविल अस्पताल के डीन मनीष मेहता ने कहा कि राजकोट सिविल अस्पताल में दिसंबर के महीने में 111 बच्चों की मौत हो गई। वहीं मुख्यमंत्री से जब बच्चों की मौत को लेकर सवाल किया गया तो वह बिना जवाब दिए वहां से चले गए। अहमदाबाद सिविल अस्पताल के अधीक्षक जीएस राठौड़ ने बच्चों की मौत पर कहा कि दिसंबर में 455 नवजात शिशुओं को नवजात गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती कराया गया था। जिनमें से 85 की मृत्यु हो गई।

08-12-2019
शर्मसार हुई मानवता, ठिठुरती ठंड में नवजात को फेंका नाली में

राजनांदगांव। संस्कारधानी में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली खबर आई है। जब ठंड के मौसम में रविवार सुबह स्टेशन पारा वार्ड नं. 12 गली नं. 4 में एक नवजात शिशु मिला है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक महिला ने बच्चे की रोने की आवाज सुबह 5 बजे सुनी जो उसी मोहल्ले की रहने वाली है। महिला ने बताया, कि सुबह 5 बजे करीब जब वह उठी तो नाले से बच्चे के रोने की आवाज आ रही है। जब वहां जा कर देखा गया तो एक नवजात शिशु रो रहा था। मोहल्लेवासीयों को जब यह पता चला तो वहां भीड़ इकट्ठी हो गई। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा बच्चों को नाले से निकाल कर मोहल्लेवासीयों की मदद से राजनांदगांव मेडिकल कालेज अस्पताल लाया गया। जहां नवजात शिशु को एसएनसीवी वार्ड में भर्ती किया गया है। नवजात शिशु की हालत गंभीर बतायी जा रही है।

 

30-11-2019
नाले में बहकर आया नवजात का शव, इलाके में फैली सनसनी

राजनांदगांव। नवजात अज्ञात शिशु का शव नाले में मिलने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई। मिली जानकारी के अनुसार, नवजात शिशु का शव नाले में बहकर आया था। इसे देखकर आस-पास के इलाके में हडकंप मच गया। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को कब्जे में लिया। वहीं शिशु के सिर पर चोंट के निशान भी पाए गए है। पुलिस मामले की जाँच में जुटी है। यह पूरा मामला बसंतपुर थाना क्षेत्र के राजीवनगर का है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804